*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | December 8th, 2017

मध्य प्रदेष की बिजली व्यवस्था के अध्ययन के लिये उ0प्र0 के अधिकारी पहॅुचे भोपाल

Posted on 08 December 2017 by admin

मध्य प्रदेष की अनेक अच्छी विद्युत योजनाओं को प्रदेष में भी लागू करने पर विचार किया जायेगा
-प्रमुख सचिव ऊर्जा आलोक कुमार

frz_6776भोपाल, 8 दिसम्बर 2017। उत्तर प्रदेष में विद्युत व्यवस्था और बेहतर बनें, प्रदेष की जनता एवं कृशि क्षेत्र को अधिकतम विद्युत आपूर्ति हो तथा मध्यप्रदेष की तरह सभी को 24 घण्टे विद्युत आपूर्ति हो। इसके अध्ययन के लिये आज उत्तर प्रदेष के प्रमुख सचिव ऊर्जा आलोक कुमार के नेतृत्व में उ0प्र0 पावर कारपोरेषन के एक प्रतिनिधि मण्डल ने मध्य प्रदेष के विद्युत अधिकारियों के साथ बैठक की और दोनों प्रदेषों के अधिकारियों की बैठक हुयी। बैठक में उत्तर प्रदेश के प्रमुख सचिव ऊर्जा श्री आलोक कुमारए उत्तर प्रदेश पॉवर कार्पोरेशन की प्रबंध संचालक श्रीमती अपर्णा यूए निदेशक ;पर्सनल एंड एडमिनद्ध मध्यांचल विद्युत वितरण निगम श्री एसण्सीण्झाए निदेशक ;वाणिज्यद्ध श्री संजय सिंहए कंसल्टेंट श्री अरूण कंचन उपस्थित थे। मध्यप्रदेश की ओर से एमण्पीण्पॉवर मैनेजमेंट कंपनी के प्रबंध संचालक श्री संजय कुमार शुक्लए मण्प्रण्मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक डॉण् संजय गोयलए विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी श्री मुकुल धारीवालए निदेशक ;तकनीकीद्ध श्री आरण्एसण्श्रीवास्तवए मुख्य महाप्रबंधक ;मानव संसाधन एवं प्रशासनद्ध सुश्री रूही खानए मुख्य महाप्रबंधक ;वाणिज्यद्ध श्रीमती स्वाति सिंहए मुख्य वित्तीय अधिकारी डॉण् राजीव सक्सेना सहित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
उत्तर प्रदेश के प्रमुख सचिव श्री आलोक कुमार ने बैठक में बताया कि उत्तर प्रदेश में विद्युत के क्षेत्र में अभूतपूर्व कार्य हो रहे है। बनारस सहित करीब आधा दर्जन शहरों में अंडर ग्राउंड केबलिंग का कार्य प्रगति पर है और आने वाले समय में इसे पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश में 40 लाख स्मार्ट मीटर बिजली उपभोक्ताओं के परिसर में कॉलबेल लोकेशन पर लगाए जाएंगे इससे जहॉं एक ओर राजस्व नुकसान में कमी आएगी वहीं दूसरी ओर उपभोक्ताओं की मीटर रीडिंग संबंधी शिकायतें दूर हो सकेंगी। उन्होंने प्री.पेड मीटर को ग्रामीण क्षेत्र की आवश्यकता बताया और कहा कि इस पर उत्तर प्रदेश के बिजली वितरण निगम काम कर रहे हैं और जल्दी ही ग्रामीण क्षेत्रों में प्री.पेड मीटर लगाये जाएंगे। श्री आलोक कुमार ने बताया कि बिजली चोरी की रोकथाम के लिए 88 फ्लाइंग स्क्वाड बनाई गई हैं जिनकी संख्या पहले 37 थी। प्रमुख सचिवए ऊर्जा श्री आलोक कुमार ने बताया कि उत्तर प्रदेश में बिलिंग दक्षता और संग्रहण दक्षता को बढ़ाने के लिए हर संभव प्रयास किये जा रहे हैं। श्री आलोक कुमार ने बताया कि उत्तर प्रदेश में 24 घंटे बिजली देने की दिशा में कारगर कदम उठाये जा रहे हैं। इसी दिशा में यह दल मध्यप्रदेश अध्ययन करने आया है।
उ0प्र0 में हो रहे अनेक महत्वपूर्ण कार्यो जैसे स्मार्ट मीटरिंग आदि के प्रति मध्य प्रदेष के अधिकारियों ने सराहना की और इसे खुद भी मध्य प्रदेष में अपनाने की उत्सुकता दिखाई।
मध्यप्रदेश में अटल ज्योति योजना के अंतर्गत आबादी को 24 घंटे और कृषि क्षेत्र में 10 घंटे विद्युत प्रदाय सुनिश्चित किया जा रहा है। इसके लिए जहॉं एक ओर विद्युत उपलब्धता को 2003 से ही राज्य में सिलसिलेवार ढंग से बढ़ाने के प्रयास किए गए। उसी प्रकार 400 केण्वीए 220 केण्वीण् एवं 132 केण्वीण् उपकेन्द्रों की संख्या बढ़ाई गई और ट्रांसमिशन लाईनों की क्षमता में वृद्धि की गई। प्रदेश में उप.पारेषण एवं वितरण प्रणाली को मजबूती प्रदान करने के लिए पिछले एक दशक में 33ध्11 केण्वीण् उपकेन्द्रों की संख्या दोगुने से अधिक हो गई है। इसी प्रकार वितरण ट्रांसफार्मरों की संख्या ढाई गुना से भी अधिक हो गई है। इसी सब का परिणाम है कि आज मध्यप्रदेश सभी श्रेणियों के उपभोक्ताओं को 24 घंटे बिजली उपलब्ध करा पा रहा है और कृषि क्षेत्र को 10 घंटे बिजली मिल रही है। यह बात आज मध्यप्रदेश के प्रमुख सचिव ऊर्जा श्री आईण्सीण्पीण् केशरी ने उत्तर प्रदेश से आये ऊर्जा विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक मंे बताई।
प्रमुख सचिवए ऊर्जा श्री केशरी ने बताया कि मध्यप्रदेश में जहॉं वर्ष 2003 में कृषि क्षेत्र में खपत 33 प्रतिशत थी जो अब बढ़कर 40 प्रतिशत हो गई है और कृषि पम्पों की संख्या बढ़कर 28 लाख से भी अधिक हो गई है। उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश स्टेट लोड डिस्पेच सेन्टर को आधुनिक बनाया गया है और रियल टाईम डाटा प्राप्त करने के लिए आधुनिकतम आईटी बेस्ड प्रणाली लाई गई है। प्रमुख सचिव ने बताया कि मुख्यमंत्री स्थाई कृषि पम्प योजना में अस्थाई कृषि पम्प उपभोक्ताओं को स्थाई कृषि पम्प कनेक्शन में बदला जा रहा है। रेवेन्यु मैनेजमेंट के लिए राज्य के कुछ संभागोंध्वितरण केन्द्रों में मैनेजमेंट आपरेटर नियुक्त किए गए हैं।
इस अवसर पर एमण्पीण्पॉवर मैनेजमेंट कंपनी के प्रबंध संचालक श्री संजय कुमार शुक्ल ने मैनेजमेंट आपरेटर के संबंध में विस्तार से जानकारी दी एवं मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक डॉण् संजय गोयल ने कंपनी द्वारा अपनाई जा रही सूचना प्रौद्योगिकी आधारित उपभोक्ता उन्मुखी कार्योजना की जानकारी दी।

Comments (0)

ग्रामीण प्रौद्योगिकी के विकास से ही प्रदेश का समग्र विकास सम्भव: हेमन्त राव

Posted on 08 December 2017 by admin

उत्तर प्रदेश में ग्रामीण प्रौद्योगिकी की निरन्तर बढ़ती आवश्यकता और सुदूर गाॅवों तक आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के उद्देश्य से विज्ञान प्रौद्योगिकी परिषद, उ0प्र0 द्वारा विज्ञान भवन के सर सी.वी.रमन प्रेक्षागृह में आयोजित एक दिवसीय सेमिनार के मुख्य अतिथि विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग, उत्तर प्रदेश के प्रमुख सचिव हेमन्त राव ने उद्घाटन अवसर पर अपने सम्बोधन में कहा कि प्रदेश का समग्र विकास ग्रामीण प्रौद्योगिकी के विकास से ही सम्भव है।123
श्री राव ने सेमिनार में उपस्थिति विभिन्न उद्योगों, स्वैच्छिक संस्थाओं, तकनीकी संस्थाओं, सीएसआईआर, आईसीएआर, अंतरिक्ष विभाग सहित तमाम केन्द्रीय व राज्य सरकार के प्रतिनिधियों तथा नवअन्वेषी युवाओं का आवाह्न करते हुए कहा कि सुदूर गाॅवों में निवास करने वाले ग्रामीणों के बीच तमाम सिद्ध व उपयोगी प्रौद्योगिकियाॅ आज भी स्थानीय स्तर पर उपलब्ध हैं अतः उनका बेहतर विकास, उच्चीकरण, व्यवसाय औद्योगिकीकरण और समाज के प्रत्येक वर्ग के बीच उपयोग की निरन्तर जरूरत है। इस दिशा में ग्रामीणों द्वारा विकसित प्रौद्योगिकियों का उपयोग वर्तमान परिदृश्य में बढ़ रहे प्रदूषण व अन्य हानिकारक प्रभावों को रोकने में निश्चित रूप से सार्थक है। श्री राव ने बल दिया कि ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षा तथा स्वास्थ्य की गुणवत्ता में सुधार के लिये भी कम कीमत की ग्रामीण प्रौद्योगिकियों को बढ़ावा देने के लिए सभी क्षेत्रों के वैज्ञानिकों, तकनीकीविदों, उद्यमियों और शहरी युवाओं को आगे आकर ग्रामीणों के साथ मिलकर काम करने की सम्भावनायें असीमित हैं। इस कार्य के लिए परिषद की ओर से जो भी सहयोग और सहायता की आवश्यकता होगी, उसे प्राथमिकता के साथ कार्य करने के लिए प्रोत्साहित किया जायेगा।
सेमिनार के दौरान तकनीकी सत्र में विशेष रूप से बायोगैसी फायर, कृषि अपशिष्टों के उपयोग से अक्षय ऊर्जा, गाय व भैस के मल-मूत्र से ग्रेन्यूल्स, बर्मी कम्पोस्ट, बायोगैस चूल्हा, पशु शक्ति से बिजली का उत्पादन, फ्लोरीकल्चर, पेपर, बैगमेकिंग, मेडिसनल प्लान्ट कल्टीवेशन, घोड़े के घुर में पहनाने के लिए नाल, स्वच्छ पेय-जल संरक्षण, खाद्य प्रसंस्करण, आॅवला तोड़ने की तकनीक तथा जीरो एनर्जी सोलर ड्रायर आदि पर आईआईटी कानपुर, इलाहाबाद विश्वविद्यालय, बायोमाॅस गैसीय फायर गोरखपुर, कानपुर गौशाला तथा यूपी नेड़ा के वैज्ञानिकों, तकनीकी विशेषज्ञों व उद्यमियों ने अपने-अपने पाॅवर प्रजेन्टेशन के माध्यम से प्रस्तुतीकरण करके प्रतिभागी विद्यार्थियों, युवाओं तथा उद्यमियों को उत्प्रेरित किया। एक दिवसीय सेमिनार में विशेष रूप से चर्चा की गयी कि ग्रामीण प्रौद्योगिकी के विभिन्न क्षेत्रों में आवश्यक शोध, विकास, हस्तानांतरण और लोकप्रियकरण आदि को कई नये आयामों के साथ आगे बढ़ने के लिए आगे भी परिषद द्वारा बृह्द स्तर पर नयी परियोजनाओं को चलाने जाने का निर्णय लिया गया।
अतिथियों का स्वागत सम्बोधन परिषद के निदेशक डाॅ. एम.के.जे.सिद्धीकी, धन्यवाद ज्ञापन संयुक्त निदेशक, श्री आई.डी.राम तथा कार्यक्रम का संचालन डाॅ. हुमा मुस्तफा ने किया।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री,,लखनऊ

Comments (0)

सस्ती और टिकाऊ सड़कों के निर्माण की तकनीक खोजें विशेषज्ञ- नितिन गडकरी

Posted on 08 December 2017 by admin

अगले साल तक पूरी होगी वाराणसी-हल्दिया जलमार्ग परियोजना।

केंद्रीय परिवहन और राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि सड़कों का विकास देश के विकास से जुड़ा है। उन्होने कहा कि सड़कों के विकास से लोगों को रोजगार मिलता है और गरीबी समाप्त होती है।

union-minister-shri-nitin-gadkari-with-up-cm-at-inauguration-of-lucknow-conferenceon-new-technology-for-road-construction-here-on-fridayआज लखनऊ में आयोजित सम्मेलन में आए विशेषज्ञों से आहवाहन करते हुए श्री गडकरी ने कहा कि एक ऐसी नई तकनीक विकसित करना समय की आवश्यकता है जिससे निर्धारित समय में मानक के अनुरूप गुणवत्ता युक्त सड़कें बनाई जाएं। लोक परिवहन पर बल देते हुए उन्होने कहा कि इस दिशा में विशेष रूप से काम करने की आवश्यकता है।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सड़क निर्माण में काम आने वाले डामर में आठ प्रतिशत प्लास्टिक डाली जा सकती है। उन्होने कहा कि ऐसी तकनीक पर विचार करना होगा जिसमें कूड़ा कचरे के इस्तेमाल से बेहतर और मजबूत सड़कें बनाई जा सकेंगी। उन्होने वैज्ञानिकों से पूर्व कीमत तकनीक पर भी विचार करने को कहा।union-minister-shri-nitin-gadkari-and-other-emminent-guests-released-a-book-on-this-occassion

सड़कों के निर्माण में नई तकनीक को लेकर आयोजित लखनऊ सम्मेलन में श्री गडकरी ने कहा कि सड़क, पानी, बिजली और संचार से उद्योग धंधों को बढ़ावा मिलता है। उन्होने कहा कि विकास के आधारभूत ढांचे को मजबूत बनाने में संसाधनों की अपेक्षा दृष्टिकोण, कार्य में पारदर्शिता और भ्रष्टाचार मुक्त पद्धति ज्यादा कारगर होती है।

उन्होने कहा कि जब मौजूदा सरकार सत्ता में आई थी तब सड़क निर्माण का काम धीमा था। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में उनका मंत्रालय 5 साल में पच्चीस लाख करोड़ रुपये का काम करेगा।union-minister-shri-nitin-gadkari-felicitating-the-expertat-lucknow-conference-on-new-technology-fort-rioad-construction-here-in-city-on-friday

श्री गडकरी ने कहा कि सस्ती और टिकाऊ सड़कों के निर्माण में भारतीय तकनीकी संस्थान महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। उन्होने उत्तर प्रदेश में सड़क विकास के लिए दो लाख करोड़ रुपये देने की घोषणा की।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में आयोजित अपने किस्म के इस पहले सम्मेलन में देश विदेश से आए विशेषज्ञों को अपने अनुभव साझा करने में मदद मिलेगी। उन्होने कहा कि उनकी सरकार को एक लाख 21 हजार किलोमीटर लंबी गड्ढायुक्त सड़कें विरासत में मिलीं थीं। उनकी सरकार ने एक सौ दिन में पचासी हजार किलोमीटर सड़कों को गड्ढामुक्त करने में सफलता प्राप्त कर ली है। इससे पहले उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने अतिथियों का औपचारिक स्वागत किया और विषय की स्थापना की।

श्री नितिन गडकरी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सम्मेलन में आए विशेषज्ञों का स्वागत किया और एक पुस्तिका का विमोचन किया। इस मौके पर सड़क विकास को लेकर एक प्रदर्शनी का भी आयोजन किया गया।

बाद में पत्रकारों से बातचीत में केंद्रीय मंत्री श्री नितिन गडकरी ने कहा कि सरकार गंगा को प्रदूषण मुक्त करने की दिशा में भी महत्वपूर्ण कार्य कर रही है। उन्होने कहा कि वाराणसी से हल्दिया तक 1 हजार 680 किलोमीटर लंबे जलमार्ग को विकसित किया जा रहा है।union-minister-shri-nitin-gadkari-with-other-distingushed-guests-inaugurating-the-conference-by-lighting-the-lamp

ढाई सौ करोड़ रुपये की लागत से पटना-हल्दिया के बीच इस काम को पूरा कर लिया गया है। अगले साल के अंत तक वाराणसी तक के काम को पूरा कर लिया जाएगा। श्री गडकरी ने कहा कि गंगा किनारे बसे साढ़े चार हजार गांव को गंगा ग्राम के रूप में विकसित किया जा रहा है।

उन्होने कहा कि गंगा के किनारे दस करोड़ वृक्ष लगाए जाएंगे और मोक्ष धाम तथा धर्मशालाएँ बनाई जाएंगी। उन्होने कहा कि इस काम को जन सहयोग से पूरा किया जाएगा। श्री गडकरी ने कहा कि लखनऊ-कानपुर के बीच एक्सप्रेस वे बनाने का काम भी जल्द ही पूरा कर लिया जाएगा।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री, लखनऊ , 08.12.2017

Comments (0)

शैक्षणिक और शोध हेतु समझौता प्रपत्र पर हस्ताक्षर

Posted on 08 December 2017 by admin

लखनऊ। भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान, लखनऊ और डॉ. राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय, फ़ैज़ाबाद के बीच शैक्षणिक और शोध में सहयोग और विस्तार हेतु आज एक समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किए गए। इस समझौते के माध्यम से दोनों संस्थाओं को ढेर सारे साझा क्षेत्रों जैसे विज्ञान और प्रौद्योगिकी, कृषि, कौशल विकास , मूल्य-परक शिक्षा में शैक्षणिक और अनुसंधान में सहयोग के साथ काम करने में सहायता प्राप्त होगी । इस समझौते के द्वारा दोनों संस्थानो में कार्यरत वैज्ञानिकों, शोधार्थियों और छात्रों को एक दूसरे के यहाँ काम करने और ज्ञान के आदान-प्रदान का अवसर प्राप्त होगा । इस समझौते पर भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान, लखनऊ के निदेशक, डॉ अश्विनी दत्त पाठक और डॉ. राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय, फ़ैज़ाबाद के कुलपति, प्रो मनोज दीक्षित द्वारा हस्ताक्षर किए गए।

photographसमझौते का स्वागत करते हुए भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान के निदेशक, डॉ पाठक ने कहा “ दोनों संस्थाओं के बीच सहयोग की अनंत संभावनाए हैं । गन्ना संस्थान अत्याधुनिक शोध का सम्पादन करने में अग्रणी रहा है और राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर के संस्थानो के साथ सहयोग करके उत्कृष्ट अनुसंधान करता रहा है और डॉ. राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय, फ़ैज़ाबाद के साथ सहयोग करके उत्कृष्ट अनुसंधान की इस परंपरा का विस्तार करने में भारी मदद मिलेगी और नवाचार की नयी संभावनाओं का सृजन होगा।

Comments (0)

नदियों के पुर्नजीवन एवं भूगर्भ जल के रिचार्ज की कार्य योजना बनाई जाए -धर्मपाल सिंह

Posted on 08 December 2017 by admin

dharam-pal-singh-e1495185096177उ0प्र0 के सिंचाई एवं यांत्रिक मंत्री श्री धर्मपाल सिंह ने विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि नहरों की सिल्ट एवं टेलों तक पानी पहंुचाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि अवैध कुलावों को अविलम्ब उखाड़ा जाए तथा अतिशीघ्र जल उपभोक्ता समिति का गठित किया जाए।
श्री धर्मपाल सिंह आज जनपद अलीगढ़ में सिंचाई विभाग के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि कराये जा रहे कार्यों में पारदर्शिता एवं गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखें। श्री सिंह ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि कराये जा रहे कार्योंं में किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं होनी चाहिए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि कराये जा रहे कार्यों की सूचना भी स्थानीय जनप्रतिनिधियों को अवश्य दें। श्री सिंह ने कहा कि जो भी कार्य किया जाए उसका निरीक्षण भी स्थानीय जनप्रतिनिधि से कराना सुनिश्चित करें।
सिंचाई मंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि सिल्ट सफाई के अवशेष कार्यों को तत्काल पूर्ण किया जाएं। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि सिल्ट सफाई के कार्यों का सत्यापन मौके पर जाकर करें तथा यदि मानक के अनुरुप कार्य नहीं कराया गया है तो उसका भुगतान तत्काल रोक दें। श्री सिंह ने कहा कि नदियों को पुर्नजीवित करने पर विशेष ध्यान दें तथा भूगर्भ जल को रिचार्ज करने की कार्य योजना बनाकर अतिशीघ्र प्रस्तुत करें।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री,लखनऊः 08 दिसम्बर, 2017

Comments (0)

भाजपा जाति और धर्म में जनता को उलझा कर चुनाव प्रभावित करना चाहती है

Posted on 08 December 2017 by admin

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने गुजरात के मतदाताओं विशेषकर किसानों और नौजवानों से अपील की है कि वे अपनी नाराजगी को वोट में बदल दें ताकि उससे बदलाव आ सके। उन्होंने कहा कि देश को नोटबंदी और जीएसटी ने तबाह किया हैं। बड़े पैमाने पर नौकरियां छिन गई हैं। जिस विकास की बात गुजरात में भाजपा कह रही है वह कहीं दिखाई नहीं दे रहा हैं। गुजरात में होने वाले चुनाव के परिणामों का हमें भी इंतजार रहेगा। उन्होंने मतदाताओं से कहा कि वे सावधान रहें क्योंकि भाजपा कोई भी साजिश कर सकती हैं।
08-12-a अहमदाबाद में आयोजित प्रेसवार्ता में उन्होंने गुजरात के साथ अपने गहरे रिश्तों का जिक्र करते हुए कहा कि भगवान श्री कृष्ण यहां आए और यहीं के हो गए। इस रिश्ते को दुबारा जोड़ना है। जिस दिन मैं गुजरात आया सबसे पहले द्वारिकाधीश मन्दिर गया और आशीर्वाद लेने के बाद प्रचार शुरू किया। समाजवादी पार्टी के रूप में हम यहां एक छोटा पौधा लगा रहे हैं जो बड़ा होगा। उन्होंने कहा गुजरात महात्मा गांधी की और सरदार पटेल की भी भूमि है। हम उन्हें नहीं भूल सकते हैं। किसानों, महिलाओं और आम लोगों को एकता के सूत्र में जोड़ने का संदेश गुजरात से ही जाता है।
श्री यादव ने कहा कि गुजरात में भाजपा ने विकास का कोई ठोस माॅडल नहीं प्रस्तुत किया हैं। गुजरात माॅडल धोखेवाला माॅडल हैं। मैं गुजरात के गांवों में टहला और लोगों से मिला। लेकिन कहीं भी बुनियादी विकास का स्वस्थ रूप नहीं दिखा। जहां तक विकास की बात है भाजपा के नेताओं का कहना है कि हम विकास के नाम पर लड़ रहे हैं। जबकि स्थिति इसके ठीक उलट है। भाजपा जाति और धर्म में जनता को उलझा कर चुनाव प्रभावित करना चाहती है।
पूर्व मुख्यमंत्री जी ने कहा कि यूपी में हम लोगों ने नारा दिया कि काम बोलता है और पूरा चुनाव विकास पर लड़े। हमने बेहतरीन एक्सप्रेस-वे बनाया जिस पर चीन के साथ दिक्कत होने पर लड़ाकू विमान भी उतर सकते हैं। यहां आज तक ऐसी सड़क नहीं बन पायी जिस पर एमरजेन्सी में भी कोई विमान उतर सके। जबकि पाकिस्तान बगल में है। यूपी की समाजवादी सरकार ने यूपी 100 डायल सबसे अच्छी व्यवस्था बनायी। जिससे कानून व्यवस्था बेहतर हुई थी।
श्री यादव ने कहा कि भाजपा झूठे प्रचार में और जनता को धोखा देने में आगे हैं। यूपी में दो साल में समाजवादी सरकार में मेट्रो चल गयी। सभी जिला मुख्यालयों को जोड़ने वाली 6लेन की की सड़क एलीवटेड सड़क, 55 लाख गरीब महिलाओं को समाजवादी पेंशन, 18 लाख लैपटाॅप वितरण के बाद जब हम समाजवादी विकास की बात कर रहे थे तब भाजपा जाति-धर्म की बात कर रही थी। पूरा चुनाव भाजपा ने कब्रिस्तान और श्मशान पर केन्द्रित कर दिया। गोबर इनके चुनाव का मुख्य विषय था। भाजपा के लोग चुनाव के पहले स्लाटर हाउस का कारोबार बंद करने की बात करते थे जबकि स्लाटर हाउस बंद नहीं हुए। उनकी अपनी नीति स्लाटर हाउस के सम्बंध में स्पष्ट नही हैं। निर्यात बंद क्यों नहीं किया?
श्री अखिलेश यादव ने कहा कि निकाय चुनाव में जीते 14 महापौरों को भाजपा ने गुजरात में प्रचार में लगा दिया जबकि नगर पालिका और नगर पंचायत में बड़ी संख्या में भाजपाइयों की जमानते जब्त हो गई। यह झूठ की राजनीति है। यूपी में चुनाव के समय ये लोग हर जाति का मुख्यमंत्री बना रहे थे। आरक्षण को लेकर भी भाजपा भ्रम फैलाने का काम करती हैं। समाजवादी आबादी के हिसाब से आरक्षण के पक्षधर हैं। हम सबको सम्मान और अवसर देने की बात करते हैं किसी से कुछ छीनने की नहीं। उन्होंने कहा कि पूरे देश में सबसे सुन्दर रिवरफ्रंट लखनऊ के गोमती नदी के तट पर हैं। अहमदाबाद और राजकोट में साइकिल ट्रैक हैं जबकि लखनऊ में भाजपा सरकार तोड़ने का निर्णय ले रही हैं। भाजपा ने प्रदूषण खत्म करने की बात की थी लेकिन ये समाज में प्रदूषण फैला रहे हैं।
पूर्व मुख्यमंत्री जी ने कहा कि ईवीएम पर सवाल समाजवादी पार्टी ने ही नहीं, अन्य दलों ने भी उठाए हैं। चुनाव आयोग मानता है कि इसमें खराबी ठीक की जा सकती है तो ठीक मशीन खराब भी की जा सकती है। ये क्या है कि बटन कहीं दबाओं वोट कमल पर जाता है। उत्तर प्रदेश में तो यही भावना है। उन्होंने कहा कि जब हम बड़े देशों की नकल करते हैं तो अमेरिका आदि में प्रचलित बैलेट प्रणाली को क्यों नहीं अपनाते हैं?
श्री यादव ने कहा कि बैंको की नोटबंदी से लाईन में लगे कई लोगों का निधन हो गया। उन परिवारों की मदद का काम समाजवादी सरकार ने किया। नोटबंदी के दौरान पैदा हुए खजांची की भाजपा ने कोई मदद नहीं की। खजांची का परिवार भी खुशहाल नहीं हो पाया। ऐसे में उसकी मदद समाजवादी पार्टी ने की।
श्री यादव ने कहा भाजपा खूब झूठ फैलाती हैं। यूपी में कहते हैं कि गुजरात में मूंगफली की फसल के लिए काम किया। गुजरात में कहते है कि यूपी में आलू किसान खुश हैं जबकि आलू, मूंगफली और कपास दोनों राज्यों के किसान परेशान है। किसानों का कर्ज माफ नहीं हुआ हैं। गरीब लोगों में नाराजगी बहुत है, इसलिए बदलाव गुजरात से होगा।
श्री अखिलेश यादव ने कहा देश की गति से प्रगति आती है। जहां सबसे अधिक गरीब आबादी है वहां बुलेट टेªन चलनी चाहिए। बनारस पटना होते हुए कलकत्ता तक, बुलेट टेªन चलने से आम जनता का जीवन स्तर बेहतर हो। देश की सबसे अधिक गरीब आबादी लाभान्वित होगी। सुगम आवागमन से उसको रोजगार का अवसर मिलेगा। साथ ही आम जनता का जीवन स्तर बेहतर होगा। केन्द्र सरकार को सबसे पहले बुलेट टेªन की व्यवस्था इस क्षेत्र में करनी चाहिए।
उन्होंने गुजरात के मतदाताओं को भाजपा के बहकावे में न आने और अपने मताधिकार का ईमानदारी से प्रयोग करने को कहा क्योंकि उनके मत से ही उनका और गुजरात का भविष्य तय होगा।

Comments (0)

गीता पढाए जाने का विरोध शर्मनाक - राकेश त्रिपाठी

Posted on 08 December 2017 by admin

लखनऊ 08 दिसम्बर 2017, भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने विद्यालयों में श्रीमद्भागवत गीता पढाए जाने के निर्णय का विरोध करने वाले विपक्षी दलों पर जमकर हमला बोला। श्री त्रिपाठी ने कहा भारतीय सांस्कृतिक विरासतों को पूरा विश्व स्वीकार कर रहा है। भारत के योग को इस्लामिक देशों सहित विश्व के 150 से अधिक देशों ने स्वीकार किया और अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पर योग किया। विश्व धरोहर समिति ने कुम्भ मेला को यूनेस्कों की विरासत सूची में शामिल कर भारतीय अध्यामिक पंरपरा को सम्मान दिया है। वन्दे मातरम् विश्व का दूसरा सर्वाधिक लोकप्रिय गीत है लेकिन यह दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है कि भारत में ही कुछ लोग भारतीय संस्कृति, परम्परा, रीति रिवाजों पर गर्व करने की बजाय उसे कटघरे में खड़ा करते है।
श्री त्रिपाठी ने कहा कि गीता का संदेश कर्मयोग की वृहद व्याख्या करता है। गीता संासारिक कर्तव्यों के पालन की प्रेरणा देता है जिनमें सम्पूर्ण मानवता का कल्याण निहित है। उत्तर प्रदेश के विद्यालयों में स्वतत्रता संग्राम सेनानी लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक द्वारा लिखित ‘‘गीता रहस्य‘‘ पुस्तक पर आधारित प्रतियोगिता बच्चों के मन में कर्म प्रधानता का भाव भरेगी। लेकिन इसको मजहबी भाव से देखना और इसका विरोध करना विपक्ष की मानसिक न्यूनता को दिखता है। भाजपा सरकार के हर निर्णय और विचार का विरोध करने की आदत ने विपक्ष को मानसिक तौर पर कमजोर कर दिया है। वन्दे मातरम्, भगवा रंग, सूर्य नमस्कार और योग के विरोध के बाद अब गीता पढाए जाने का विरोध शर्मनाक व निन्दनीय है।

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here
-->









 Type in