*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | August, 2017

राज्यपाल ने बाढ़ राहत सामग्री को झण्डी दिखाकर रवाना किया

Posted on 31 August 2017 by admin

  • 013उत्तर प्रदेश के राज्यपाल श्री राम नाईक ने आज उम्मीद संस्था द्वारा बाढ़ पीड़ितों के लिए भेजी जा रही राहत सामग्री के दो वाहनों को झण्डी दिखाकर राजभवन से रवाना किया। राहत सामग्री में पेयजल, कच्चा राशन, दवाएं, कपड़े व अन्य जरूरी सामान बहराइच के कैसरगंज क्षेत्र में बाढ़ पीड़ितों के लिए भेजा गया हैं। इस अवसर पर उम्मीद संस्था के संस्थापक श्री बलवीर सिंह मान, संयोजक श्री उमेश पाटिल, मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली सहित अन्य गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

राज्यपाल ने कहा कि ‘जब कोई कठिनाई में होता है तब दूसरे लोगों ने उनकी सहायता के लिए बिना मांगे स्वयं कुछ भेज दिया यह एक सुखद अनुभूति प्राप्त करने वालों के लिए भी होती है। वैसे देखा जाये तो प्राकृतिक रूप से बाढ़ आपदा उत्तर प्रदेश में है लेकिन प्रकृति कोई देश या स्थान नहीं देखती है। अमेरिका में 40 से अधिक लोगों का बाढ़ के कारण निधन हो गया है। प्राकृतिक आपदा जब आती है तो मन में दूसरों को मदद करने की भावना आती है। मैं इस अवसर पर सभी सहयोग करने वालों को धन्यवाद देता हूँ।’kcp_4720
श्री नाईक ने कहा कि सरकार बाढ़ पीड़ितों की मदद कर अपना कर्तव्य कर रही है, लेकिन यह बात महत्वपूर्ण है कि स्वयंसेवी संस्थायें ऐसे अवसर पर अपनी ओर से भी सहयोग प्रदान कर रही हैं। राज्यपाल ने विश्वास जताया कि बाढ़ पीड़ितों के लिए राहत सामग्री सीधे उन तक पहुंचेगी। बाढ़ के बाद अनेक प्रकार की बाढ़जनित बीमारियाँ बढ़ जाती है जिनके प्रति भी संवेदनशीलता से काम करने की आवश्यकता है। उन्होंने इस बात पर संतोष व्यक्त किया कि उम्मीद संस्था ने पूर्व में नेपाल में भूकम्प पीड़ितों के लिए भी ऐसी ही सहायता भेजी थी।
बाढ़ पीड़ितों के लिए राहत सामग्री भेजने में उत्तर प्रदेश मराठी समाज, भूतनाथ व्यापार मण्डल, गड़बड़झाला व्यापार मण्डल, ड्रीम्ज इंफ्रावेंचर्स, सेंट जोसफ इंटर कालेज, सेंट मीराज इंटर कालेज, यूनिवर्सल बुक्स सेलर्स, जे0जे0 बेकर्स, निर्मल मार्ट्स स्कूल ड्रेसेस, इन0एच0इस0 फाउण्डेशन, ब्राइनोब्रेन, गुरूद्वारा सिंह सभा आलमबाग, जय जगत एजुकेशनल एण्ड वेलफेयर सोसाइटी, शराब बंदी संघर्ष समिति, डाॅक्टर विशाल सक्सेना काॅमर्स क्लासेज, नमस्ते जिन्दगी, आदर्श व्यापार मण्डल, मोहन मार्किट व्यापार मण्डल, अमीनाबाद सर्राफा बाजार, अमीनाबाद संघर्ष समिति, हुमाना पीपुल टू पीपुल इण्डिया, सरनम संस्थान आदि लखनऊ की संस्थाओं ने सहयोग किया है।

Comments (0)

डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय को पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष बनाये जाने पर बधाई

Posted on 31 August 2017 by admin

dr-mahendra-nath-pandeyभारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित भाई शाह ने आज केन्द्रीय मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय को उ0प्र0 भारतीय जनता पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया है। डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय जी को प्रदेश अध्यक्ष के पद पर राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित भाई शाह द्वारा नियुक्ति की जानकारी राष्ट्रीय महासचिव श्री अरूण सिंह जी ने अपने पत्र के माध्यम से दिया है।
डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय को पार्टी का नया प्रदेश अध्यक्ष बनाये जाने के निर्णय का प्रदेश भर के कार्यकर्ताओं ने स्वागत किया है तथा बधाईयां प्रेषित की है। डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय जी बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय में छात्र संघ के महामंत्री के रूप में अपना राजनीतिक जीवन प्रारम्भ किया था। श्री पाण्डेय छात्र जीवन से ही विद्यार्थी परिषद में संगठन मंत्री तथा पार्टी के क्षेत्रीय अध्यक्ष के रूप में भी काम किया।
डा0 महेन्द्र पाण्डेय मूलरूप से गाजीपुर जनपद के पखरपुर के निवासी है तथा पत्रकारिता में स्नाकोत्तर की उपाधि बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय से प्राप्त किया है। श्री पाण्डेय 1991-1992 तथा 1996-2002 में विधानसभा सदस्य रहे तथा राज्यमंत्री आवास व नगर विकास तथा वर्ष 2000 में पंचायती राज्यमंत्री का स्वतंत्र प्रभार के रूप में कार्य किया। डा0 पाण्डेय प्रदेश भाजपा के महामंत्री के रूप में भी दायित्व का र्निवाहन किया है तथा 2014 लोकसभा चुनाव में चन्दौली लोकसभा से सांसद के रूप में र्निवाचित हुए ग्रामीण विकास की स्टैन्डिग कमेटी के सदस्य तथा स्टील व माइन्स मंत्रालय की सलाहकार समिति सदस्य के रूप में भी कार्य किया है।
डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय को प्रदेश अध्यक्ष के रूप में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश अध्यक्ष व उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व प्रदेश प्रभारी ओम प्रकाश माथुर, उपमुख्यमंत्री डा0 दिनेश शर्मा, प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल ने हार्दिक बधाई दी है तथा कहा कि प्रदेश अध्यक्ष के रूप में डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय जी के दीर्घ राजनीति व सांगठनिक अनुभव का लाभ पार्टी को मिलेगा तथा संगठन और अधिक ऊर्जावान बनेगा।
राष्ट्रीय मंत्री महेन्द्र सिंह, प्रदेश उपाध्यक्ष शिव प्रताप शुक्ला, राजवीर सिंह, श्री प्रकाश शर्मा, आशुतोष टण्डन, सतपाल ंिसह, अश्वनी त्यागी, कान्ता कर्दम, जसवन्त सैनी, जेपीएस राठौर, रामनरेश रावत, सुरेश राणा, रामबाबू निषाद, राकेश त्रिवेदी, प्रदेश महामंत्री स्वतंत्र देव सिंह, अशोक कटारिया, अनुपमा जायसवाल, विजय बहादुर पाठक, सलिल विश्नोई, विद्यासागर सोनकर, प्रदेश मंत्री संतोष सिंह, अनूप गुप्ता, सुभाष यदुवंश, गीता शाक्य, कौशलेन्द्र सिंह पटेल, गोविन्द नारायण शुक्ला, रंजना उपाध्याय, अमर पाल मौर्य, कामेश्वर सिंह, महेश चन्द्र श्रीवास्तव, सुरेश अवस्थी, देवेन्द्र सिंह, चैधरी, धर्मवीर प्रजापति, मंजू दिलेर, शंकर गिरि, महिला मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष स्वाती सिंह, प्रदेश कोषाध्यक्ष राजेश अग्रवाल, सह कोषाध्यक्ष नवीन जैन, प्रदेश मीडिया प्रभारी हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव, प्रदेश प्रवक्ता डा0 मनोज मिश्र, डा0 चन्द्रमोहन, मनीष शुक्ला, राकेश त्रिपाठी, शलभ मणि त्रिपाठी, अनीला सिंह, प्रदेश मीडिया संपर्क प्रमुख मनीष दीक्षित, प्रदेश सह मीडिया प्रभारी आलोक अवस्थी, हिमांशु दुबे, समीर सिंह, सह संपर्क प्रमुख डा0 तरूणकांत त्रिपाठी, नवीन श्रीवास्तव, अशोक तिवारी, मुख्यालय प्रभारी भारत दीक्षित, सह मुख्यालय प्रभारी चैधरी लक्ष्मण सिंह, अतुल अवस्थी, क्षेत्रीय अध्यक्ष लक्ष्मण आचार्य, मुकुट बिहारी वर्मा, उपेन्द्र शुक्ला, बीएल वर्मा, चै0 भूपेन्द्र सिंह आादि अनेक नेताओं ने बधाई दी है।

Comments (0)

अखिलेश का मोदी व योगी सरकार पर करारा हमला

Posted on 30 August 2017 by admin

भाजपा की नहीं बनेगी केन्द्र में अगली सरकार: अखिलेश

योगी सरकार पर भी निशाना साधा
बोले- गोरखपुर के मृत बच्चों के परिजनों की क्यों नहीं करते मदद

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मोदी सरकार पर करारा प्रहार करते हुए कहा है कि अगले लोकसभा चुनाव में केन्द्र में भाजपा की सरकार नहीं बनेगी। श्री यादव ने कहा कि यह सरकार किसानों और नौजवानों की नहीं है। तीन साल से ज्यादा समय हो गया लेकिन सरकार ने अभी तक कोई वादा पूरा नहीं किया।

आजमगढ़ के जीयनपुर में बुधवार को अायोजित शहीद मेले के अवसर पर शहीद फौजी राम समुझ यादव की प्रतिमा अनावरण अौर कई शहीदों के परिजनों को सम्मानित करने के बाद विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए श्री यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी अादित्यनाथ कह रहे हैं कि पुलिस नहीं सुधरी तो डॉयल 100 नंबर की सेवा बंद कर देंगे। सरकार किसकी है? मुख्यमंत्री भ्रष्टाचार क्यों नहीं रोक पा रहे हैं? हमारे समय में यही पुलिस अच्छी थी। भाजपा सरकार आते ही खराब कैसे हो गयी। लेकिन वे जान लें कि उनकी सरकार में भ्रष्टाचार ऐसे ही जारी रहा तो 2019 में जनता उनकी पार्टी को ठीक कर देगी।

पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का जिक्र करते हुए सपा रे राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि योगी सरकार ने इस एक्सप्रेस वे के नाम से समाजवादी शब्द हटा दिया। सच्चाई यह है कि यह सरकार एक्सप्रेस वे बना ही नहीं सकेगी। सपा की सरकार फिर से बनती तो यह एक्सप्रेस वे जरूर बनता। उन्होंने कहा कि यूपी सरकार ने इस एक्सप्रेस वे के लिए बजट में कोई पैसा ही अावंटित नहीं किया। वह केन्द्र सरकार के भरोसे है। केन्द्र सरकार भी अब कार्यकाल पूरा करने से पहले एक ही बजट ला पाएगी।

उन्होंने कहा कि अगर योगी सरकार को वाकई यह एक्सप्रेस वे बनानी है तो केन्द्र की भाजपा सरकार के अगले साल अाने वाले अाखिरी बजट में ही पूरे पैसे का बंदोबस्त करवा ले क्योंकि उसके बाद तो इनकी सरकार बननी नहीं है। अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा के लोग बेहद होशियार हैं। ऐसे झूठ बोलते हैं कि जनता भरोसा कर लेती है। उन्होंने समाजवादियों से अपील की कि वे यह सोचें कि क्या कह कर भाजपा के झूठे वादों पर जनता के भरोसा कर लेने को रोकें अौर अपने सच्चे वादों पर यकीन दिलाएं। उन्होंने कहा कि देश और प्रदेश के विकास का रास्ता वही है, जिसे समाजवादियों ने शुरु किया था। हमने आगरा से लखनऊ तक एक्सप्रेस वे का निर्माण कराया। उस पर लड़ाकू विमान उतार कर उद्घाटन कराया। यह एक्सप्रेस वे आने वाले समय में सेना की भी मदद करेगा। उन्होंने

उन्होंने कहा कि अच्छे दिन लाने के नाम पर केन्द्र में सरकार बनाने वाले अब न्यू इंडिया की बात करने लगे हैं। लोग जानना चाहते हैं कि क्या हैं अच्छे दिन और क्या है न्यू इंडिया। न्यू इंडिया तब बनेगा जब किसान और जवान खुशहाल होंगे लेकिन केन्द्र और राज्य की सरकारें लोगों के लिए कोई काम नहीं कर रही हैं। केन्द्र सरकार ने तो लोगों का सारा पुराना नोट जमा करा लिया। अब तो उसके पास बहुत पैसा है लेकिन फिर भी सरकार लोगों की मदद नहीं कर रही है। अखिलेश ने कहा कि किसान अनाज पैदा कर लोगोंं का पेट भरता है और किसानों के बेटे सीमा की निगरानी कर लोगों की सुरक्षा कर रहे हैं। फौज में ज्यादातर जवान गांव के किसानों के बेटे है। हमें अपने जवानों और सेना पर गर्व है, जो विषम परिस्थितियों में सीमा की सुरक्षा कर रही है।

प्रदेश की भाजपा सरकार पर हमला बोलते हुए अखिलेश ने कहा कि कहावत है कि पूत के पांव पालने में ही नजर आते हैं। प्रदेश की सरकार हर क्षेत्र में विफल होती जा रही है। भाजपा सरकार की सच्चाई जनता के सामने आने लगी है। गोरखपुर में मासूम बच्चों की मौत हो गयी लेकिन सरकार ने किसी बच्चे के परिजन की कोई मदद नहीं की। सपा की सरकार में जब लोगों को मदद दी जाती थी तो भाजपा के लोग अारोप लगाते थे कि मुसलमानों की मदद ज्यादा की जा रही है। श्री यादव ने कहा कि अब तो उनकी सरकार है तो वे क्यों नहीं मदद कर रहे है। श्री यादव ने कहा कि गोरखपुर में अक्सीजन की कमी से मरने वाले मासूम बच्चों में ज्यादातर हिन्दुओं और गरीब पिछड़े, दलितों के बच्चे थे। सरकार ने क्यों मदद नहीं की? उन्होंने कहा कि ऐसे मामलों में मदद की परंपरा नेताजी (मुलायम सिंह यादव) ने अपनी सरकार में शुरू की थी।

यश भारती सम्माान को लेकर अखिलेश ने प्रदेश की योगी सरकार पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि नेताजी ने यह सम्मान शुरू किया था। अमिताभ बच्चन को भी यह सम्मान मिला है। हमार सरकार ने भारतीय फौज के कई अफसरों के अलावा अन्य कई क्षेत्रों में उपल्बधियां हासिल करने वाले लोगों को यश भारती सम्मान दिया। हाकी के जादूगर ध्यानचंद के बेटे को भी यश भारती दिया। भाजपा की सरकार ध्यानचंद के बेटे को यश भारत के तहत मिल रही पेनशन छीनने का काम कर रही है। पर भाजपा के लोग आरोप लगाते हैं कि कि हमने अपने लोगों को दे दिया, हम तो कह रहे हैं कि आप भी अपने लोगों को पुरस्कार दे दो। हमने तो पुरस्कार में 11 लाख रुपए दिया। केन्द्र में भी भाजपा की सरकार है, धनराशि ज्यादा बढ़कर दे दीजिए। पेंशन राशि भी 50 हजार से एक लाख दे दीजिए, आपको किसने रोका है।

जनसभा में विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी, सपा के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम, विधानपरिषद में नेता विपक्ष अहमद हसन समेत पार्टी के वरिष्ठ नेता मौजूद थे।

Comments (0)

मुख्यमंत्री ने बाढ़ आपदा राहत सामग्री के वाहनों को झण्डी दिखाकर रवाना किया

Posted on 29 August 2017 by admin

राज्य सरकार प्रदेश की बाढ़ प्रभावित जनता को राहत सामग्री उपलब्ध कराने के लिए गम्भीरता से कार्य कर रही है

बाढ़ से प्रभावित लोगों को मदद पहुंचाने में सरकार के प्रयासों में विभिन्न संगठनों व समाज सेवियों की भागीदारी से राहत कार्य को गति मिलती है

राहत सामग्री प्रदेश के वित्त मंत्री के सौजन्य से उपलब्ध करायी गयी

press-8उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज अपने सरकारी आवास पर बाढ़ आपदा राहत सामग्री के वाहनों को झण्डी दिखाकर रवाना किया। जनपद गोरखपुर के बाढ़ प्रभावितों के लिए विभिन्न संगठनों द्वारा यह राहत सामग्री प्रदेश के वित्त मंत्री श्री राजेश अग्रवाल के सौजन्य से उपलब्ध करायी गयी। मुख्यमंत्री जी ने इसे बाढ़ राहत अभियान में एक महत्वपूर्ण सहयोग बताया। ज्ञातव्य है कि राहत सामग्री के प्रत्येक पैकेट में 5 किलो आटा, 5 किलो चावल, 5 किलो आलू के साथ-साथ दाल, नमक, बिस्किट, मोमबत्ती, माचिस आदि शामिल हैं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश की बाढ़ प्रभावित जनता को राहत सामग्री उपलब्ध कराने के लिए गम्भीरता से कार्य कर रही है। बाढ़ जैसी प्राकृतिक आपदा से प्रभावित लोगों को मदद पहुंचाने में सरकार के प्रयासों में विभिन्न संगठनों व समाज सेवियों की भागीदारी से राहत कार्य को गति मिलती है। उन्होंने इस बात पर संतोष जताया कि बाढ़ से प्रभावित लोगों की मदद के लिए विभिन्न संगठन और सामाजिक कार्यों से जुड़े लोग आगे आए हैं।
इस अवसर पर प्रमुख सचिव सूचना श्री अवनीश कुमार अवस्थी सहित अन्य अधिकारी तथा जनपद शाहजहांपुर के श्री रामचन्द्र अग्रवाल एवं श्री रमाकान्त मोदी भी उपस्थित थे।

Comments (0)

मुस्लिम राष्ट्रीय मंच ने बकरीद में जानवरो की कुर्बानी का कड़ विरोध जताया

Posted on 29 August 2017 by admin

मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के कई वरिष्ठ पदाधिकारियों ने बकरीद के मौके पर जानवरों की कुर्बानी का कड़ा विरोध करते हुए, ‘‘विश्व संवाद केन्द’’्र में प्रेसवार्ता की। वैसे मंच से इससे पहले भी‘‘तीन-तलाक’’ के विरोध में पूरे देश में जागरूकता फैलाने के लिये कई प्रदेशों में गोष्ठियाॅ की गई थी और प्रेसवार्ताओं में ‘‘तीन-तलाक’’ का विरोध करता रहा है। लखनऊ में ‘‘समान नागरिक संहिता’’ का समर्थन भी गोष्ठियाँ कराकर कर चुका है और भविष्य में अब समान नागरिक संहिता के बारे में विस्तृत जागरूकता फैलाने के लिये प्रदेश स्तर पर कार्यक्रम की शुरूआत करने वाला है।

img-20170829-wa0074विश्व संवाद केन्द्र में प्रेसवार्ता में आये मंच के सह-संयोजक, उत्तर प्रदेश के एड0 खुर्शीद आगा ने कहा-‘‘बकरीद में कुर्बानी को लेकर समाज में अंधविश्वास फैला है, मुसलमान अपने आपको ईमान वाला तो कहता है लेकिन वास्तव में अल्लाह की राह पर चलने से भ्रमित हो गया है। उन्होंने कुर्बानी का विरोध करते हुए प्रश्न उठाया कि कुर्बानी जायज नही है तो फिर जानवरों की कुर्बानी क्यो दी जा रही है? इसी प्रकार आज आयोध्या के विवादित ढॅाचे पर नजर दौड़ाये तो कुरान के अनुसार जहाॅ फसाद हो वहाॅ नमाज अदा नही की जा सकती है तो फिर विवादित ढाॅचे की जगह मस्जिद कैसे बनायी जा सकती है।’’

संयोजक उत्तर प्रदेश (पूर्वी) के ठाकुर राजा रईस ने कहा-‘‘इस्लाम में साफ-साफ बताया गया है कि हजरत इब्राहिम को ख्वाब आया कि उनसे अल्लाह कह रहा है कुर्बानी दो-3, उन्होने ऊॅट आदि की कुर्बानी दी, लेकिन वह कुर्बानी कबूल नही हुई। तब उन्हें फिर से ख्वाब आया कि इब्राहिम तुम अपने सबसे प्रिय चीज की कुर्बानी करो। हजरत इब्राहिम को दुनियाॅ में सबसे अधिक प्रिय उसका पुत्र था, फिर वह अपने पुत्र की कुर्बानी देने को तैयार हो गये। कुरान में कहा गया कि वह अपने बेटे की कुर्बानी करने के पहले अपनी आॅखों पर पट्टी बाॅध लेते है। उसके बाद अपने पुत्र पर छुरी चलाते है। जब कुर्बानी पूरी हो जाती है तो उन्हें एक आवाज सुनाई देती है-‘‘इब्राहिम तुम्हारी कुर्बानी कबूल हुई।’’ हजरत इब्राहिम ने अपने आॅखों से पट्टी हटायी देखा तो देखा , उनके सामने एक दुम्बा कटा पड़ा है और उनका पुत्र पहले की भाॅति जीवित है। उसके बाद हजरत इब्राहिम ने कोई कुर्बानी नही दी।ं रईश ने प्रश्न उठाया कि जब हजरत इब्राहिम द्वारा किसी जानवर की कुर्बानी नही दी गयी तो फिर मुस्लिम समाज में बकरीद के मौके पर जानवरो की कुर्बानी क्यो दी जा रही है। अतः बकरीद में जानवरो की कुर्बानी के नाम पर जानवरो का कत्ल है कुर्बानी नही। रसूल ने फरमाया है-‘‘पेड़-पौधे, पशु-पक्षी अल्लाह की रहमत है, उन पर तुम रहम करोंगे। अल्लाह की तुम पर रहमत बरसेगी।

संयोजक, अवध प्रान्त, यू0पी0 के सै0 हसन कौसर ने गाय की कुर्बानी को हराम बताते हुए कहा-‘‘रसूल ने फरमाया है कि गाय का दूध शिफा है और माॅस बीमारी है, कुर्बानी के नाम पर गाय के माॅस को खाना रसूल के आदेशो की ना फरमानी है, कौसर ने कहा-‘‘तीन-तलाक’’ की भाॅति ही बकरीद के मौके पर जानवरो की कुर्बानी एक कुरीति है। हम सब 21 वीं शदी में प्रवेश करने जा रहे है। अतः समाज को बुरी कुरीतियो से निकालना होगा। तालीम को हासिल करना खुदा और रसूल दोनो ने इस दुनियाॅ में इंसान का पहला कर्तव्य कहा है। जो अच्छी तालीम लेगा, वही कुराॅन की बातों को समझेगा और कुरीतियों से खुद-ब-खुद निकलकर बाहर आ जायेगा। जो लोग बकरीद के मौके पर जानवरो की कुर्बानी को जायज बताते है और समाज में बकरीद के मौके पर जानवरों की कुर्बानी देने की प्रेरणा दे रहे है वह सब रसूल की बताये गये रास्तो के खिलाफ है और सुन्दर इस्लाम को खराब बनाने के लिये प्रयासरत है। लोगो को इनका बहिष्कार करना चाहिए। कुरान में जब हजरत इब्राहिम ने किसी जानवर की कुर्बानी दी नही तो फिर जानवरो की कुर्बानी कैसे जायज है, जो दुम्बा कटा मिला था वह तो खुदा का मौजिजा (चमत्कार) था, लेकिन किसी दुम्बे को हजरत इब्राहिम ने नही काटा। अतः बकरीद में जानवर की कुर्बानी देना हराम है। कौसर ने बकरीद में जानवरो की कुर्बानी के बाद उनकी निकली खाल पर प्रश्न उठाते हुए कहा-‘‘जिन जानवरो की खाल कुर्बानी में निकलती है उसे फैक्ट्रियो में कौन बेचता है, क्योकि इसके लेदर से जूते, चप्पल और अन्य सामान बनते है जिस कुर्बानी को जायज बताया जा रहा है तो उन्हें यह सोचना चाहिए कि गैर धर्म के लोग उस लेदर को जूते, चप्पल और न जाने किन-किन रूप में प्रयोग करते हो। जो किसी भी सूरत से इस्लाम में जायज नही है।

तौकीर अहमद नदवी ने बताया कि हिन्दुस्तान के इतिहास को मिटाना किसी इंसान के लिए ठीक नही है, इसलिए अयोध्या में राम मन्दिर भारतीय इतिहास की एक कड़ी है, जिसे बनाये रखना हम सबका कर्तव्य है। रसूल बताते है कि जिस जगह फसाद हो वहाँ न तो नमाज हो सकती और न वह मस्जिद हो सकती है । तो फिर अयोध्या में राम मन्दिर का होना बेहतर होगा। उन्होने बकरीद में जानवरो की कुर्बानी पर बताया कि वास्तव में हजरत इब्राहीम ने जिस जानवर की कुर्बानी दी वह कबूल नही हुई थी फिर जानवरो की कुर्बानी कैसे जायज हुई।

अंत में मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय सह-संयोजक रजा रिजवी ने बताया कि इस्लाम में रसूल ने फरमाया है ‘‘पेड़-पौधे, पशु-पक्षी अल्लाह की रहमत है, उन पर तुम रहम करोंगे। अल्लाह की तुम पर रहमत बरसेगी। गाय के दूध को शिफा कहा गया और माॅस को बीमारी, उसके गोश्त को इस्लाम के मानने वाले यदि खाते है तो रसूल की बात पर नही चल रहे है । आयोध्या में राम मन्दिर बनाये जाने की पैरवी करते हुए कहा कि अब वह दिन दूर नही जब आयोध्या में मन्दिर का निर्माण न हो। मा0 सुपी्रम कोर्ट ने मुसलमानों को एक सुन्दर मौका दिया और इस मौके का फायदा मुसलमानो का उठाना चाहिए, खुदा के बताये रास्ते पर हिन्दुओ की आस्थाओ का सम्मान करते हुए मन्दिर बनाने का वह सहयोग करे,।

Comments (0)

यूपीनेडा द्वारा सौर ऊर्जा नीति-2017 के आलेख्य पर स्टेकहोल्डर्स कन्सल्टेण्ट मीट का आयोजन किया गया

Posted on 29 August 2017 by admin

वैकल्पिक ऊर्जा के प्रदूषण मुक्त होने के कारण अब इसे मुख्य ऊर्जा विभाग की
तरह कार्य करना होगा-ब्रजेश पाठक
25 वर्षीय विद्युत क्रय अनुबंध तथा एकल खिड़की व्यवस्था पाॅलिसी में रहेगी-श्री
आलोक कुमार, प्रमुख सचिव

bp-2उत्तर प्रदेश नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विकास अभिकरण (यूपीनेडा) द्वारा सौर
ऊर्जा नीति-2017 के आलेख्य पर स्टेकहोल्डर्स कन्सल्टेण्ट मीट का आयोजन किया
गया है। इस मीट की अध्यक्षता प्रदेश के अति0 उर्जा óोत मंत्री, श्री बृजेश
पाठक द्वारा की गयी।
मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुए श्री पाठक ने कहा कि वैकल्पिक ऊर्जा के
प्रदूषण मुक्त होने के कारण अब इसे मुख्य ऊर्जा विभाग की तरह कार्य करना होगा
क्योंकि पारंपरिक ऊर्जा से उत्पन्न प्रदूषण के कारण सामाजिक व्यवस्था पर
प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। उन्हांेने उपस्थित सभी निवेशकर्ताओं का आवाह्न करते
हुए कहा कि हम सभी का उद्देश्य एक है, बस दायित्व अलग-अलग हैं। उन्होंने
निवेशकर्ताओं की मुख्य चिंता को संज्ञानित करते हुए यह कहा कि निवेशकर्ताओं
द्वारा लिए गए लोन का समय से पुर्नभुगतान करने के लिए यह आवश्यक है कि हर स्तर
पर सभी अड़चनों को दूर करते हुए निर्धारित समय से पूर्व ही कार्यों को पूर्ण
किया जाए।
श्री पाठक ने कहा कि सौर ऊर्जा से उत्पादित विद्युत की दरें सभी के लिए
व्यवहारिक होना चाहिए। उन्होने प्रदेश के आम जनमानस तक सौर ऊर्जा आधारित
संयंत्रों की पहॅुच कम लागत में सुनिश्चित करने के लिए निवेशकर्ताओं से आग्रह
किया कि वे प्रदेश में सोलर पैनल के निर्माण हेतु आवश्यक कच्चे माल को तैयार
करने वाली उत्पादन इकाईयों की स्थापना करें।
इस मीट में विभिन्न प्रांतो से आये हुए परियोजना विकासकर्ता जोकि उत्तर प्रदेश
में सौर पावर के क्षेत्र में निवेश करने के इच्छुक हैं, के द्वारा चर्चा में
भाग लेते हुए सौर ऊर्जा नीति-2017 के ड्राफ्ट में संशोधन हेतु विभिन्न
सुझाव/टिप्पणियां दी गयी । कन्सल्टेण्ट मीट में प्रमुख सचिव, ऊर्जा एवं
अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत विभाग, उत्तर प्रदेश शासन श्री आलोक कुमार द्वारा भी
ड्राफ्ट सौर ऊर्जा नीति-2017 के महत्वपूर्ण आवश्यक बिन्दुओं पर प्रकाश डालते
हुए इस बात पर बल दिया गया है कि पारदर्शिता एवं सुविधाएं इस सोलर पावर
पाॅलिसी-2017 का मूल आधार है। सोलर पावर पाॅलिसी इस प्रकार से तैयार की जा रही
है जिससे प्रदेश में अच्छा एवं उचित निवेश हो सके। साथ ही उन्होने हितधारकों
को यह भी बताया कि 25 वर्षीय विद्युत क्रय अनुबंध तथा एकल खिड़की व्यवस्था
पाॅलिसी में रहेगी। उन्होने निवेशकर्ताओं को यह भी बताया कि बुन्देलखण्ड
क्षेत्र मे स्थापित सोलर पावर परियोजनाओं की सुगम विद्युत निकासी हेतु ग्रीन
काॅरीडोर बनाने के प्रस्ताव पर भी विचार किया जा रहा है।
कार्यक्रम के प्रारंभ में निदेशक, यूपीनेडा श्रीमती संगीता सिंह ने अपने
स्वागत संबोधन में यह बताया कि भारत विश्व में 5वाॅ सबसे बड़ा विद्युत उत्पादन
करने वाला देश है। उन्होने उपस्थित हितधारकों केे हवाले से यह भी बताया कि
उत्तर प्रदेश की प्रस्तावित सोलर पाॅलिसी अन्य राज्यों की पाॅलिसी से बेहतर है।

Comments (0)

राज्यपाल ने प्रधानमंत्री को श्रीमद्भागवत गीता रहस्य भेंट की

Posted on 29 August 2017 by admin

29-08-2017राज्यपाल श्री कल्याण सिंह ने मंगलवार को उदयपुर के डबोक हवाई अड्डे पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अगवानी की।
राज्यपाल श्री सिंह ने प्रधानमंत्री श्री मोदी को श्री बाल गंगाधर तिलक की कृति श्रीमद्भागवत गीता रहस्य, खादी का रूमाल और गुलाब का पुष्प भंेट कर भाव भीना स्वागत किया।

Comments (0)

पीएम (ग्रामीण) आवासों के स्वीकृति में प्रधान तथा सचिव की भूमिका खत्म- डा. महेन्द्र सिंह

Posted on 29 August 2017 by admin

प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण में पारदर्शिता सुनिश्चित करने ग्राम पंचायतों के सार्वजनिक स्थलों पर स्थायी प्रतिक्षा सूची अंकित कराकर वाॅल राइटिंग में अंकित किया जायगो ।स्थायी प्रतीक्षा सूची में कोई अपात्र व्यक्ति शामिल हो तो इसके सम्बन्ध में खण्ड विकास अधिकारी अथवा जनपद स्तर पर मुख्य विकास अधिकारी को अवगत कराया जाये।    प्रमुख सचिव ग्राम्य विकास की ओर से समस्त मुख्य विकास अधिकारियों को जारी शासनादेश में कहा गया है कि प्रत्येक लाभार्थी को निर्धारित प्रारूप पर स्वीकृति पत्र 31 अगस्त, 2017 तक उपलब्ध करा दिया जाये। शासनादेश में यह भी कहा गया है कि आवासों के आवंटन में यदि कोई भ्रष्टाचार की शिकायत हो तो इस सम्बन्ध में मुख्य विकास अधिकारी एवं जिलाधिकारी को अवगत कराया जाये। इस हेतु प्रत्येक जनपद में मुख्य विकास अधिकारी एक दूरभाष नम्बर निर्धारित करेंगे और उस जनपद की प्रत्येक वाॅल राइटिंग में उस नम्बर को अंकित कराया जायेगा।
मुख्य विकास अधिकारी द्वारा यह सुनिश्चित कराया जाये कि प्रत्येक ग्राम पंचायत में की गयी वाॅल राइटिंग की फोटोग्राफी कराकर उसकी स्पष्ट इमेज निर्धारित आईडी मेल पर उपलब्ध करायी जाये।
आवासों की स्वीकृति में ग्राम प्रधान तथा सचिव, ग्राम पंचायत को कोई विशेष अधिकार नहीं है और न ही उनकी कोई महत्वपूर्ण भूमिका है। लाभार्थी की पात्रता के अनुसार तथा प्राथमिकता क्रम के अनुसार ही आवासों का आवंटन किया जा रहा है।    चिन्हित लाभार्थियों को सचिव, ग्राम पंचायत अधिकारी, ग्राम विकास अधिकारी द्वारा योजना की जानकारी  एवं निर्देश पढ़कर सुनाया जायेगा। इसके पश्चात लाभार्थी का हस्ताक्षर कराया जायेगा, जिससे यह प्रमाणित हो कि यह कार्यवाही उसकी मौजूदगी में की गयी है। हस्ताक्षरित कार्यवाही की प्रति विकास खण्ड में 31 अगस्त, 2017 के पूर्व जमा करानी होगी। इसके साथ ही इन निर्देशों की होर्डिंग प्रत्येक विकास खण्ड तथा विकास भवन पर लगायी जायेगी।
उल्लेखनीय है कि प्रदेश के ग्राम्य विकास राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) एवं राज्यमंत्री चिकित्सा एवं स्वास्थ्य डा. महेन्द्र सिंह को जनपद सीतापुर तथा उन्नाव के भ्रमण के दौरान प्रधानमंत्री आवास योजना के आवंटन में अवैध धन उगाही की शिकायतें प्राप्त हुई थी और उन्होंने सक्षम अधिकारी द्वारा जांच कराकर दोषियों के खिलाफ एफ.आई.आर. दर्ज कराने के आदेश दिये थे।
प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के लाभार्थियों को आवासों के स्वीकृति पत्र डा. महेन्द्र सिंह ग्राम्य विकास मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) तथा सम्बन्धित जिले के जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी की ओर से दिये जायेंगे।

Comments (0)

बी.एस.पी. द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति-दिनांक 28.08.2017

Posted on 28 August 2017 by admin

(1) प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा ’मन की बात’ में यह कहना कि ’आस्था के नाम पर हिंसा बर्दाश्त नहीं की जायेगी’, परन्तु बीजेपी की कथनी व करनी में अन्तर क्यों?
(2) अगर ऐसा नहीं है तो मा. हाईकोर्ट की सख़्त टिप्पणियों के बाद हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहरलाल खट्टर को इसके लिये अब तक क्यों नहीं बर्खास्त किया गया है?
(3) परमपूज्य बाबा साहेब डा. भीमराव अम्बेडकर की पुण्यतिथि के दिन दिनांक 6 दिसम्बर (सन् 1992) को अयोध्या में कोर्ट, कानून व संविधान का उल्लंघन करते हुये सरकारी संरक्षण में हिंसा व विध्वंस को क्या कहा जायेगा और क्या उसके लिये श्री नरेन्द्र मोदी देश से माफी माँग कर अपनी नेक नीयति का सबूत देंगे?
(4) बीजेपी नेतृत्व के अहंकारी रवैये से देश का काफी अहित हो चुका है, उसमें सुधार की ज़रूरत: बी.एस.पी. की राष्ट्रीय अध्यक्ष, पूर्व सांसद व पूर्व मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश सुश्री मायावती जी।

लखनऊ, 28 अगस्त 2017: बी.एस.पी. की राष्ट्रीय अध्यक्ष, पूर्व सांसद व पूर्व मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश सुश्री मायावती जी ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा कल ’मन की बात’ में यह कहने पर कि ’आस्था के नाम पर हिंसा बर्दाश्त नहीं की जायेगी’, पर प्रश्नचिन्ह लगाते हुये जानना चाहा कि बीजेपी की कथनी व करनी में अन्तर क्यों तथा परमपूज्य बाबा साहेब डा. भीमराव अम्बेडकर की पुण्यतिथि के दिन 6 दिसम्बर (सन् 1992) को अयोध्या में कोर्ट, कानून व संविधान का उल्लंघन करते हुये सरकारी संरक्षण में हिंसा व विध्वंस को क्या कहा जायेगा और क्या उसके लिये बीजेपी का शीर्ष नेतृत्व देश से माफी माँग कर अपनी नेक नीयती का सबूत देगा?
डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को साध्वियों के साथ बलात्कार के मामले में सी.बी.आई. कोर्ट द्वारा दोषी करार दिये जाने के बाद सरकारी संलिप्तता व संरक्षण के कारण बीजेपी-शासित राज्य हरियाणा में, गुजरात में सन् 2002 की तरह ही, हिंसा की आग में जल उठने के संदर्भ में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा यह कहना कि ’आस्था के नाम पर हिंसा बर्दाश्त नहीं की जायेगी,’ जिसे आज अखबारों में काफी प्रमुखता के साथ प्रदर्शित किया है, वास्तव में बीजेपी के कथनी और करनी में व्यापक अन्तर के स्वभाव को साबित करता है।
रेडियो पर श्री मोदी द्वारा कही गई ’मन की बात’ में अगर थोड़ी भी सच्चाई व ईमानदारी होती तो पंजाब व हरियाणा हाईकोर्ट की इस सम्बंध में सख्त कानूनी व संवैधानिक रूख को देखते हुये हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहरलाल खट्टर को अब तक जरूर बर्खास्त कर देना चाहिये था। लेकिन ऐसा नहीं किया गया है, जो यह साबित करता है कि बीजेपी का शीर्ष नेतृत्व केवल उपदेश देने व बड़ी-बड़ी बातें करने में ही रूचि रखता है परन्तु ज़मीनी कार्रवाई नदारद। यही कारण है कि पुराने अनुभवों को देखते हुये प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के ताजा बयान पर भी अनेकों सवालिया निशान लग गये हैं।
सुश्री मायावती जी ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में लोगों को याद दिलाया कि 15 अगस्त को लाल किले से भी वे कह चुके हैं कि भारत जैसे लोकतांत्रिक देश में आस्था के नाम पर हिंसा की कोई जगह नहीं है, परन्तु हरियाणा की ताजा घटना यह साबित करती है कि उनकी पार्टी की सरकार पहली ही परीक्षा में बुरी तरह से फेल साबित हुई है फिर भी बीजेपी नेतृत्व पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ा है और वे इसका संज्ञान लेने को तैयार नहीं है। वास्तव में बीजेपी के शीर्ष नेतृत्व को अपना यह अहंकारी स्वभाव बदलना होगा कि वे लोग देश, कानून व संविधान से ऊपर है तथा वे जो सोचते है वही देशभक्ति है। इस संकीर्ण सोच व मानसिकता से देश का अब तक काफी नुकसान हो चुका है और यह हानि लगातार बढ़ती ही जा रही है।

जारीकर्ता:
बी.एस.पी. उ.प्र. राज्य कार्यालय
12, माल एवेन्यू, लखनऊ

Comments (0)

जनता से जुड़े सभी मामलों के निस्तारण के लिए सरकार कटिबद्ध - उपेन्द्र तिवारी

Posted on 28 August 2017 by admin

02-429 अगस्त को जन सहयोग केन्द्र पर राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डा0 महेन्द्र सिंह रहेंगे उपस्थित

भारतीय जनता पार्टी प्रदेश मुख्यालय पर जनसमस्याओं का निराकरण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) उपेन्द्र तिवारी ने किया। जन सुनवाई में मा0 मंत्री जी के साथ प्रदेश मंत्री कौशलेन्द्र सिंह जनसमस्याओं के निराकरण में मौजूद रहे।

श्री उपेन्द्र तिवारी ने पत्रकारों के सवालों का जबाब देते हुए कहा कि आज जन सहयोग केन्द्र पर लगभग 138 समस्याओं के शिकायती पत्र आये जिसमें लगभग 96 समस्याओं का निस्तारण टेलीफोन एवं पत्र के माध्यम से किया गया। जिससे 63 भूमि से संबन्धित मामले है, जमीन पर कब्जा, ग्राम समाज की जमीन पर कब्जा, भीटा, पोखरा तालाब की जमीन पर कब्जा कर लिया गया, इस प्रकार से तमाम मामले आ रहे है। सभी मामलों के निस्तारण के लिए सरकार कटिबद्ध है एवं इसके लिए एंटीभूमाफिया टाक्सफोर्स का गठन किया गया है, इस पर सार्थक दिशा में कार्य चल रहा है। हर तहसील मुख्यालय, जिलाधिकारी मुख्यालय को एक पोर्टल भी जारी कर दिया गया है, जिससे इस तरीके से परेशान लोग अपनी शिकायत कर सके और यहां पर इस मामले की कम से कम शिकायते आये और आने वाले मामले का निस्तारण कराया जा सके।
इस समय प्रदेश में एक ऐसी संवेदनशील सरकार है जिसके मुखिया मा0 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी है। हम आजादी के 70 साल के इतिहास में ये पहले मुख्यमंत्री है जो कि उ0प्र0 की बाढ़ की विभिषिका से आयी दैवीय आपदा है, उन दैवीय आपदाओं में लोगों के यहां तक स्वयं जा कर राहत सामग्री पहुंची की नहीं, पशुओं का चारा पहुंचा की नहीं, चिन्ता एवं व्यवस्था कर रहे है।
भाजपा प्रदेश मुख्यालय पर दिनांक 29 अगस्त को सुबह 10 बजे से दोपहर 12 बजे राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डा0 महेन्द्र सिंह जनता की समस्याओं के निराकरण के लिए उपस्थित रहेंगे। साथ ही प्रदेश उपाध्यक्ष जसवंत सैनी एवं प्रदेश मंत्री कौशलेन्द्र सिंह एवं कार्यालय सहायक आनंद पाण्डेय भी उपस्थित रहेंगे।

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

August 2017
M T W T F S S
« Jul   Sep »
 123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
28293031  
-->









 Type in