*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | October, 2015

केन्द्रीय राज्य मंत्री संसदीय कार्य व अल्पसंख्यक कल्याण श्री मुख्तार अब्बास नकवी कल प्रातः 8.40 बजे दिल्ली से लखनऊ चै0 चरण सिंह अन्र्तराष्ट्रीय हवाई अड्डा अमौसी पहुंचेगे।

Posted on 31 October 2015 by admin

केन्द्रीय राज्य मंत्री संसदीय कार्य व अल्पसंख्यक कल्याण श्री मुख्तार अब्बास नकवी कल प्रातः 8.40 बजे दिल्ली से लखनऊ चै0 चरण सिंह अन्र्तराष्ट्रीय हवाई अड्डा अमौसी पहुंचेगे। श्री नकवी हवाई अड्डे से वी.वी.आई.पी. गेस्ट हाउस लखनऊ आयेंगे तथा 9.30 बजे कानपुर के लिए प्रस्थान करेंगे। श्री नकवी कानपुर में लौहपुरूष सरदार बल्लभ भाई पटेल के जन्मदिन पर आयोजित एकता दिवस कार्यक्रम में भाग लेने के उपरान्त लखनऊ हवाई अड्डे के लिए प्रस्थान करेंगे और वहां से 3.10 बजे अपरान्ह वापस नई दिल्ली के लिए प्रस्थान करेंगे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

भारतीय जनता पार्टी ने विकास के एजेण्डे पर राय मांगते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से कहा कि

Posted on 31 October 2015 by admin

भारतीय जनता पार्टी ने विकास के एजेण्डे पर राय मांगते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से कहा कि जो मशवरे उन्हें पहले मिले थे उस पर थोड़ा अमल करके तो दिखाये। प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने कहा कि सत्ता पर आने पर जनता दर्शन से लगाये सोशल मीडिया पर राय-मशवरे की बात करते अखिलेश यादव उन सुझावांे-विचारों पर तो अमल कर नहीं पाये, एक बार फिर विज्ञापन के जरिये प्रदेशवासियों के सुझाव और विचार के इंतजार की बात कर रहे है। उन्होंने कहा स्वीकृति बजट खर्च ना कर पाने की आरोपी अखिलेश सरकार में जब बजट ही नहीं खर्च हो पा रहा है तो विकास का एजेण्डा कैसे जमीन पर उतारेंगा।
पार्टी मुख्यालय पर शुक्रवार को छपे सरकारी विज्ञापन पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने कहा कि अपनी पहली पत्रकार वात्र्ता में बिजली और कानून-व्यवस्था को सर्वोच्च प्राथमिकता देने की बात करने वाले मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने दोनों को अपने एजेण्डे में शामिल तो किया, लेकिन उसे अंजाम तक नहीं पहंुचा पाये। युवाओं की सरकार का दंभ भरने वाली अखिलेश सरकार से युवाओं को पिछले चार सालों में निराशा ही हाथ लगी, न रोजगार मिला, न ही रोजगार का भत्ता।  मुख्यमंत्री अपने पहले साल में ही इंटर-हाईस्कूल पास छात्रों को लैपटाप नहीं दे सके तब वे नया सुझााव कैसे मांग रहे है। घोषणा पत्र में किसानों से किसान आयोग बनाकर उनकी समस्याओं का निदान करने और फसलों का लाभकारी मूल्य दिलाने वाली समाजवादी पार्टी की सरकार गांव और गरीब के मुद्दे पर भी फेल साबित हुई। मना रहे है किसान वर्ष पर अब तक राज्य सूखे का आकलंन तक नहीं कर पाये। प्रशासनिक अराजकता का आलम ये है कि सरकार जिलाधिकारियों से सूखे की रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।
उन्होंने कहा अब जब कार्यकाल के महज कुछ दिन बचे हुए है तो सरकार सरकारी विज्ञापनों और जुमलों के सहारे अपनी असफलता को छिपाने की कोशिशों में जुटी है करोड़ो रूपये के सरकारी खर्च पर विज्ञापन लगाये जा रहे है और सरकार के मेकओवर का दावा किया जा रहा है, पर वो दावा तब खोखला नजर आता है जब राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति दयनीय हो, प्रदेश के दो दर्जन से ज्यादा जनपदों में साम्प्रदायिक तनाव की स्थितियां हो। अखिलेश सरकार लखनऊ में चंद मंत्रियों के खिलाफ कार्यवाही कर अपनी पीठ भले थपथपा रही हो किन्तु सच्चाई ये है कि आरोपों से घिरे इन मंत्रियों पर सार्वजनिक रूप से कहने में भी संकोच कर रही है। संवादहीनता का आलम ये है कि मंत्री समाचार चैनलो से जानकारी पाये कि उन्हें हटाया गया है।
श्री पाठक ने कहा कि एक तरफ मुख्यमंत्री अखिलेश यादव आमजन से सुझाव और विचार की बात करते है दूसरी तरफ अपने मंत्री परिषद के सदस्यों तक से संवाद नहीं बना पाते है। मंत्रियों को बर्खास्तगी और विभाग हटाये जाने की सूचना समाचार चैनलो से मिलती है। उन्होंने कहा कि भ्रमित अखिलेश सरकार का ये दोहरा रवैया है। ये विज्ञापन और सुझाव मांगने की प्रतिक्रिया राजनैतिक स्टंटबाजी है।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डा0 लक्ष्मीकांत बाजपेयी कल एक दिवसीय प्रवास पर वाराणसी रहेंगे।

Posted on 31 October 2015 by admin

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डा0 लक्ष्मीकांत बाजपेयी कल एक दिवसीय प्रवास पर वाराणसी रहेंगे। डा0 बाजपेयी 30 अक्टूबर की सायं सड़क मार्ग से वाराणसी प्रस्थान करेंगे एवं रात्रि विश्राम वाराणसी में करेंगे। कल 31 अक्टूबर को प्रदेश अध्यक्ष मा0 प्रधानमंत्री के संसदीय कार्यालय वाराणसी में प्रातः 10 बजे से अपरान्ह 1.30 बजे तक लोगों से मिलेंगे तथा अपरान्ह 2 बजे से केन्द्रीय विज्ञान व टेक्नालाॅजी मंत्री डा0 हर्षवर्धन सिंह के साथ लौहपुरूष सरदार बल्लभ भाई पटेल के जन्म दिवस कार्यक्रम में भाग लेंगे।
प्रदेश अध्यक्ष स्व0 सूबेदार पाण्डेय तथा स्व0 महेन्द्र सिंह के परिजनों से मिलने उनके आवास भी जायेगे। इसके अतिरिक्त रामनगर इण्डस्ट्रियल एरिया भी जायेंगे एवं सायं लखनऊ के लिए प्रस्थान करेंगे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

समस्त मण्डलायुक्तों एवं जिलाधिकारियों को किसानों से सीधा संवाद स्थापित कर उनकी समस्याओं का समाधान प्राथमिकता से कराना होगा: मुख्य सचिव

Posted on 31 October 2015 by admin

उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव श्री आलोक रंजन ने समस्त मण्डलायुक्तों एवं जिलाधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि किसानों से सीधा संवाद स्थापित कर उनकी समस्याओं का समाधान प्राथमिकता से करायें। उन्होंने कहा कि फसल रवी हेतु गेहूं, चना, मटर, मसूर, सरसों इत्यादि के प्रमाणित बीजों का वितरण पंजीकृत किसानों को प्राथमिकता से पारदर्शिता के साथ कराना सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने कहा कि अभी तक 30 लाख से अधिक किसानों का पंजीकरण हो जाने के फलस्वरूप अवशेष किसानों का पंजीकरण कराने हेतु आगामी 15 नवम्बर तक पंजीकरण तिथि को बढ़ा दिया गया है। उन्होंने कहा कि गेहूं के लगभग 12.50 लाख कुन्टल बीजों का वितरण कृषि, सहकारिता, यू0पी0एग्रो, इफ्कों, उ0प्र0 बीज विकास निगम एवं कृभकों के रिटेल आउटलेट से कराये जाने हेतु जनपदवार सभी एजेन्सियों के माध्यम से बीज वितरण हेतु लक्ष्य निर्धारित करा दिया गया है। उन्होंने कहा कि किसानों को बीजों उपलब्ध कराने हेतु बीजों के वितरण हेतु 05 हजार से अधिक बिक्री केन्द्र निर्धारित किये गये हैं। उन्होंने कहा कि किसानों को बीज उपलब्ध कराने के आगामी 10 दिन के अन्दर देय अनुदान डी0बी0टी0 के माध्यम से सीधे उनके खाते में अवश्य स्थानान्तरित कराया जाये।
मुख्य सचिव आज योजना भवन में वीडियो कान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से मण्डलायुक्तों एवं जिलाधिकारियों को आवश्यक निर्देश दे रहे थे। उन्होंने निर्देश दिये कि 60 प्रतिशत से कम वर्षा वाले जनपदों के जिलाधिकारियों को आगामी 01 सप्ताह के अन्दर संभावित सूखे के सम्बन्ध में बैठक कर विस्तृत आख्या उपलब्ध करानी होगी। उन्होंने कहा कि देश का उत्तर प्रदेश पहला प्रदेश है, जहां पंजीकृत किसानों को पारदर्शिता के साथ बीज उपलब्ध कराने के साथ देय अनुदान उनके बैंक खाते में सीधे स्थानान्तरित कराया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इस कार्य हेतु भारत सरकार द्वारा भी प्रदेश सरकार के कार्यों की प्रशंसा की गयी है। उन्होंने जिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि वह स्वयं प्रत्येक सप्ताह माॅनीटरिंग कर यह सुनिश्चित करायें कि विभिन्न एजेन्सियों को दिये गये लक्ष्य का शत-प्रतिशत वितरण किसानों को पारदर्शिता के साथ किया जाये, ताकि इस योजना से अधिक से अधिक लाभ किसानों को प्राप्त हो सके।
श्री रंजन ने यह भी निर्देश दिये कि छोटे और सीमान्त किसानों को लाभान्वित कराने हेतु योजनाओं के तहत उपलब्ध कराये जाने वाले कृषि यंत्रों का वितरण ब्लाक, गांव एवं तहसील स्तर पर मेले का आयोजन कर पारदर्शिता के साथ कराया जाये। उन्होंने कहा कि निर्धारित लक्ष्य के अनुसार वितरण का कार्य आगामी दिसम्बर माह तक प्रत्येक दशा में पूर्ण कराना होगा। उन्होंने कहा कि खरीफ फसल में कम वर्षा से प्रभावित किसानों को खाद्यान्न आदि की सुविधायें प्राथमिकता से उपलब्ध करायी जायें। उन्होंने कहा कि ऐसे जनपदों में जानवरों को चारा एवं पानी की कमी कतई नहीं होनी चाहिये और ऐसे जनपद में वृद्धावस्था पेंशन योजना के अन्तर्गत निर्धारित लक्ष्य से अधिक पात्र बुजुर्गों को चयनित कर वृद्धावस्था पेंशन योजना से लाभान्वित कराया जाये एवं कृषक दुर्घटना बीमा योजना तथा आम आदमी बीमा योजना का व्यापक प्रचार-प्रसार कर पात्र परिवारों को योजना से लाभान्वित किया जाये।
मुख्य सचिव ने यह भी निर्देश दिये कि पंजीकृत लगभग 30 लाख से अधिक किसानों को प्रदेश के मा0 मुख्यमंत्री जी की ओर से उनको उपलब्ध करायी जा रही, सुविधाओं की जानकारी पत्र के माध्यम से भेजने हेतु आवश्यक कार्यवाही प्राथमिकता से सुनिश्चित की जाये। उन्होंने सिंचाई विभाग के अधिकारियों को यह भी निर्देश दिये कि प्रदेश में कम वर्षा के कारण जल की उपलब्धता को दृष्टिगत रखते हुये रोस्टर के अनुसार पानी की आपूर्ति तिथिवार किये जाने का प्रचार-प्रसार सम्बन्धित जनपदों के क्षेत्रों में व्यापक रूप से कराया जाये, ताकि सम्बन्धित किसान जल की उपलब्धता के अनुसार अपनी फसल की बुवाई की योजना बना सके। उन्होंने कहा कि प्रदेश में गत वर्षों की अपेक्षा किसानों का क्राप इंश्योरेंस इस बार अधिक कराया गया है, फसल बीमित लगभग 15 लाख से अधिक किसानों को नियमानुसार देय बीमा धनराशि का भुगतान प्राथमिकता से कराया जाना सुनिश्चित किया जाये।
वीडियो कान्फ्रेन्सिंग में कृषि उत्पादन आयुक्त श्री प्रवीर कुमार, प्रमुख सचिव कृषि श्री अमित मोहन प्रसाद, राहत आयुक्त श्रीमती लीना जौहरी सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

सम्बन्धित विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि राष्ट्रीय कृषि विकास योजना (आर0के0वी0वाई0) के कार्यों का निष्पादन समयबद्ध एवं तीव्र गति से सुनिश्चित करायें: मुख्य सचिव

Posted on 31 October 2015 by admin

उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव श्री आलोक रंजन ने सम्बन्धित विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि राष्ट्रीय कृषि विकास योजना (आर0के0वी0वाई0) के कार्यों का निष्पादन समयबद्ध एवं तीव्र गति से सुनिश्चित करायें। वर्तमान वित्तीय वर्ष 2015-16 में भारत सरकार द्वारा इस योजना को 50ः50 प्रतिशत के फण्डिंग पैटर्न पर चलाने के लिये निर्देश दिये गये हैं। उन्होंने कहा कि भारत सरकार के निर्देशों के अनुपालन में राज्य स्तर से राज्यांश की 50 प्रतिशत धनराशि की व्यवस्था अतिशीघ्र करायी जाये, जिससे योजना का लाभ कृषकों को प्राप्त हो। उन्होंने प्रमुख सचिव वित्त को निर्देश दिये कि आगामी 02 नवम्बर को बैठक कर प्रदेश के किसानों के हित में राज्यांश की धनराशि तत्काल निर्गत कराने हेतु आवश्यक कार्यवाही करायें। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि भारत सरकार स्तर से योजनान्तर्गत प्राप्त मात्राकरण 347.94 करोड़ रुपये के सापेक्ष शत-प्रतिशत परियोजनायें माह दिसम्बर, 2015 तक अनुमोदित करा ली जायें।
मुख्य सचिव आज शास्त्री भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष के सभागार में राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के अन्तर्गत 19वीं राज्य स्तरीय स्वीकृति समिति (एस0एल0एस0सी0) बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने सहकारिता विभाग द्वारा 476 निर्मित गोदामों के हस्तानान्तरण में बाधक शर्तों को हटाते हुये निर्देशित किया कि भण्डारण हेतु तत्काल किसानों के उपयोगार्थ लाया जाये, ताकि इन निर्मित गोदामों में प्रत्येक गोदाम की भण्डारण क्षमता 100 मीट्रिक टन का उपयोग किसानों के लिये किया जा सके। उन्होंने कहा कि आगामी नवम्बर के प्रथम सप्ताह में समस्त लम्बित वित्तीय स्वीकृतियां निर्गत कराकर परियोजना के कार्यों में गति लायी जाये। उन्होंने परियोजनान्तर्गत लगभग 86 करोड़ रुपये लागत की कृषि एवं संवर्गीय विभागों की 07 परियोजनायें स्वीकृत करते हुये निर्देश दिये कि किसानों के हित में परियोजनाओं के कार्यों में और अधिक गति लाकर कार्यों को निर्धारित मानक एवं गुणवत्ता के साथ पूरा कराया जाये।
श्री रंजन ने दुग्ध विकास के क्षेत्र में प्रदेश के 15 जनपदों-मिर्जापुर, इलाहाबाद, अलीगढ़, नोएडा, झांसी, फैजाबाद, बरेली, आजमगढ़, फर्रुखाबाद, शाहजहांपुर, बुलन्दशहर, जौनपुर, गाजीपुर, बस्ती एवं बहराइच में चिलिंग/डेयरी प्लाण्ट तथा दुग्ध विपणन व्यवस्था को सुदृढ़ करने हेतु 72 मिल्क पार्लर भी स्वीकृत किये। उन्होंने पूर्वी उत्तर प्रदेश में हरित क्रान्ति के विस्तार की योजनान्तर्गत 01 हजार मीट्रिक टन के वेयर हाउस मण्डी परिसर में निर्मित करने के लिये अतिशीघ्र प्रस्ताव प्रस्तुत करने के निर्देश दिये, ताकि किसान बन्धु अपना उत्पाद स्वतंत्र रूप से भण्डारित कर सकें। उन्होंने दलहन बीजों की कमी की समस्या के दृष्टिगत बीजों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिये उपयुक्त प्रस्ताव आगामी बैठक में अवश्य प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। उन्होंने पुराने जर्जर लगभग 100 बीज गोदाम को ध्वस्त कराकर नवीन बीज गोदामों का निर्माण कराने की स्वीकृति प्रदान करते हुये निर्देश दिये नवीन गोदामों का यथाशीघ्र निर्माण कराने हेतु आवश्यक कार्यवाही प्राथमिकता से सुनिश्चित की जाये। उन्होंने कहा कि किसानों के खातों में सीधे हस्तांतरण (डी0बी0टी0) के माध्यम से उनके खाते में गेहूं बीज अनुदान के लिये 80 करोड़ की व्यवस्था सुनिश्चित करायी जाये।
बैठक में कृषि उत्पादन आयुक्त श्री प्रवीर कुमार, भारत सरकार के संयुक्त सचिव श्री आशीष कुमार भूटानी, प्रमुख सचिव कृषि श्री अमित मोहन प्रसाद, प्रमुख सचिव दुग्ध विकास श्रीमती अर्चना अग्रवाल, प्रमुख सचिव उद्यान सुश्री निवेदिता शुक्ला वर्मा, प्रमुख सचिव पशुपालन श्री रजनीश गुप्ता, कृषि निदेशक श्री ए0के0विश्नोई, नोडल अधिकारी आर0के0वी0वाई0 श्री मुकेश कुमार श्रीवास्तव सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

आगामी 08 नवम्बर को आयोजित की जाने वाली चकबन्दी लेखपाल परीक्षा निष्पक्ष, निर्विघ्न,पारदर्शी एवं शुचितापूर्ण ढंग से सम्पन्न करायी जायः मुख्य सचिव

Posted on 31 October 2015 by admin

उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव श्री आलोक रंजन ने निर्देश दिये हैं कि प्रत्येक मण्डल एवं जनपद के समस्त संबंधित अधिकारीगणों को अपने-अपने कार्य क्षेत्रों की भौगोलिक स्थिति, कानून व्यवस्था एवं परीक्षा केन्द्रों पर अभ्यर्थियों की संख्या के दृष्टिगत रखते हुये प्रभावी कार्य योजना के तहत उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग द्वारा आयोजित आगामी 08 नवम्बर, 2015 को चकबन्दी लेखपाल (सामान्य चयन) परीक्षा को सकुशल, पारदर्शी, निष्पक्ष, निर्विघ्न एवं शुचितापूर्ण ढंग से सम्पन्न करानी होगी। उन्होंने कहा कि परीक्षा को सकुशल सम्पन्न कराने में किसी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जायेगी।
मुख्य सचिव ने यह निर्देश प्रदेश के समस्त मण्डलायुक्तों, पुलिस महानिरीक्षकों, उप महानिरीक्षकों तथा समस्त जिलाधिकारियों एवं पुलिस अधीक्षकों को परिपत्र निर्गत कर दिये है। उन्होंने कहा है कि परीक्षा में जनपद स्तर से स्टैटिक मजिस्ट्रेट नियुक्त करते हुए परीक्षा सामग्री को परीक्षा केन्द्रों तक पहुंचाने एवं वितरित किये जाने हेतु पर्याप्त अधिकारियों/कर्मचारियों की तैनाती भी सुनिश्चत करायी जाय।
श्री रंजन ने निर्देश दिये है कि परीक्षा के दिन परीक्षा केन्द्रों पर पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था, आवागमन, विद्युत आपूर्ति एवं आधारभूत संसाधन पूर्ण गुणवत्ता के साथ उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया जाय ताकि किसी प्रकार की अप्रिय स्थिति उत्पन्न न होने पाये। उन्होंने कहा कि यदि ऐसी कोई स्थिति उत्पन्न होती है तो प्रभावी कार्यवाही करते हुए समस्या का तत्काल निराकरण प्राथमिकता के आधार पर किया जाये। उन्होंने कहा है कि संवेदनशील क्षेत्रों में पर्याप्त सजगता बरतने के साथ-साथ परीक्षा केन्द्रों पर निरन्तर निरीक्षण की व्यवस्था सुनिश्चित करायी जाय ताकि किसी भी प्रकार की अनियमितता न होने पाये। उन्होंने कहा है कि परीक्षा आयोजन में किसी भी स्तर पर बरती गई शिथिलता को गम्भीरता से लेते हुये लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों को चिन्हित कर दण्डित किया जायेगा।
मुख्य सचिव ने बताया कि चकबंदी लेखपाल परीक्षा प्रदेश के 71 जनपदों -आगरा, फिरोजाबाद, मैनपुरी, मथुरा, इलाहाबाद, कौशाम्बी, फतेहपुर, आजमगढ़, बलिया, मऊ, बरेली, पीलीभीत, कानपुर नगर, कानपुर देहात, इटावा, औरैया, फर्रूखाबाद, कन्नौज, फैजाबाद, अम्बेडकरनगर, बाराबंकी, सुल्तानपुर, अमेठी, गोरखपुर, देवरिया, महाराजगंज, कुशीनगर, बस्ती, संतकबीरनगर, सिद्धार्थनगर, मेरठ, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर (नोएडा), बागपत, हापुड़, बुलन्दशहर, वाराणसी, गाजीपुर, चन्दौली, जौनपुर, झांसी, जालौन, ललितपुर, लखनऊ, हरदोई, रायबरेली, सीतापुर, उन्नाव, मुरादाबाद, अमरोहा, रामपुर, बिजनौर, सम्भल, चित्रकूट, बांदा, हमीरपुर, महोबा, गोण्डा, बहराइच, बलरामपुर, श्रावस्ती, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, शामली, मिर्जापुर, भदोही, सोनभद्र, अलीगढ़, हाथरस, कासगंज एवं एटा में आगामी 08 नवम्बर 2015 को एक सत्र (पूर्वान्ह 11ः00 बजे से अपरान्ह 01ः00 बजे तक) एक सत्र में तथा उक्त जनपदों में से ही 20 जनपदों- लखनऊ, कानपुर नगर, इलाहाबाद, बाराबंकी, रायबरेली, फैजाबाद, गोरखपुर, गाजियाबाद, इटावा, आजमगढ़, आगरा, अलीगढ़, बरेली, झांसी, सीतापुर, मेरठ, मुरादाबाद, गोण्डा, वाराणसी एवं सहारनपुर में प्रथम सत्र के साथ-साथ द्वितीय सत्र (अपरान्ह 03ः00 बजे से 05ः00 बजे तक) में भी आयोजित करायी जा रही है। उन्होंने बताया कि चकबन्दी लेखपाल (सामान्य चयन) परीक्षा में लगभग 28,29,920 अभ्यर्थियों के सम्मिलित हो रहे हैं।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

शिक्षण संस्थानों के विकास के बिना देश एवं समाज तरक्की नहीं कर सकता: मुख्यमंत्री

Posted on 30 October 2015 by admin

untitled-1

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने शिक्षण संस्थानों को आधुनिक मन्दिर बताते हुए कहा कि इनके विकास के बिना देश एवं समाज तरक्की नहीं कर सकता। अनावश्यक बहस से बचने का आग्रह करते हुए उन्होंने कहा कि गलत को गलत कहने के लिए जागरूक लोगों को आगे आना पड़ेगा। शिक्षण संस्थाओं को राजनीति से बचाने की अपील करते हुए उन्होंने कहा कि महापुरूषों एवं समाज का बटवारा करने वाले लोग गलत रास्ते पर हैं। उन्होंने बाबासाहेब भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय, (बी0बी0ए0यू0) के शैक्षिक वातावरण एवं आधारभूत सुविधाआंे के विकास की सराहना करते हुए कहा कि यह शिक्षण संस्थान लखनऊ और प्रदेश की प्रतिष्ठा बढ़ाने का काम करेगा।
मुख्यमंत्री आज यहां बी0बी0ए0यू0 के सभागार में आॅल इण्डिया कांग्रेस आॅफ जुलाॅजी (ए0आई0सी0जेड0) के तत्वावधान में आयोजित 26वें सिम्पोजियम के उद्घाटन के बाद अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। तीन दिवसीय सिम्पोजियम के लिए ‘इनोवेशन इन एनिमल साइंसेज फाॅर फूड सिक्योरिटी, हेल्थ सिक्योरिटी एण्ड लिवलीहुड-2015’ विषय निर्धारित किया गया है। विश्वविद्यालय परिसर में पाॅलीथीन, गुटखा आदि पर पूर्ण प्रतिबन्ध की सराहना करते हुए श्री यादव ने कहा कि वर्तमान कुलपति के सतत प्रयासों के फलस्वरूप कैम्पस में पहले से काफी बदलाव आया है।
मुख्यमंत्री ने विश्वविद्यालय द्वारा स्थापित किए जा रहे वनस्पति उद्यान एवं गोमती नदी गैलरी के विकास में हर सम्भव मदद देने का आश्वासन देते हुए कहा कि रमाबाई अम्बेडकर पार्क, विश्वविद्यालय को सुपुर्द करने पर विचार किया जाएगा, जिससे यहां के छात्र-छात्राओं को क्रीड़ा इत्यादि के लिए मैदान मिल सके। ज्ञातव्य है कि कुलपति ने मुख्यमंत्री से इस पार्क को विश्वविद्यालय के अधिकार क्षेत्र मंे देने का अनुरोध किया था, ताकि इस पार्क के समुचित रख-रखाव के साथ-साथ छात्र-छात्राओं को खेल इत्यादि के लिए पर्याप्त स्थान उपलब्ध हो सके।
श्री यादव ने कहा कि आज पूरा विश्व एक गांव के रूप में परिवर्तित हो गया है। सभी क्षेत्रों में प्रतिस्पर्धा लगातार बढ़ रही है। तेजी से हो रहे परिवर्तन के इस दौर में विशाल आबादी वाला देश भारत, जो न केवल एक बड़ा बाजार है, अपितु दुनिया का सबसे बड़ा प्रजातांत्रिक देश भी है, अपने को अलग नहीं रख सकता। उन्होंने कहा कि दुनिया से स्पर्धा करने में देश के संस्थान महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकते हैं, क्योंकि आधुनिक खोज एवं तकनीक का विकास इन्हीं के माध्यम से किया जा सकता है। इसलिए रिसर्च वर्क में बदलाव के लिए इन शिक्षण संस्थाओं को हर हालत में मजबूत बनाया जाना चाहिए, जिससे यहां की प्रतिभाओं का लाभ देश एवं समाज को मिल सके।
मुख्यमंत्री ने देश एवं दुनिया के विभिन्न क्षेत्रों से आए डेलीगेट्स का स्वागत करते हुए कहा कि उन्हें लखनऊ की तहजीब और नवाबी परम्परा की जानकारी के लिए नगर का भ्रमण करना चाहिए। इन सदस्यों में से जो लोग पहले यहां आए हैं उन्हें निश्चित रूप से आभास होगा कि लखनऊ एवं प्रदेश बदल रहा है। उत्तर प्रदेश को देश का सबसे बड़ा राज्य बताते हुए उन्होंने कहा कि इसकी चुनौतियां भी बड़ी हैं, लेकिन राज्य सरकार प्रदेश के विकास के लिए काफी काम कर रही है। पर्यावरण को बेहतर बनाने की दिशा में राज्य सरकार द्वारा बड़े पैमाने पर काम किया जा रहा है।
लखनऊ नगर में डाॅ0 राम मनोहर लोहिया एवं जनेश्वर मिश्र पार्क का जिक्र करते हुए श्री यादव ने कहा कि डेलीगेट्स इन पार्काें में भ्रमण कर इनका आनन्द उठा सकते हैं। लखनऊ एवं इसके आस-पास लगभग 100 किलोमीटर रेडियस में स्थापित एवं निर्मित किए जा रहे विश्वस्तरीय संस्थानों की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि इतने संस्थान शायद देश के किसी अन्य भाग में मौजूद नहीं हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश की जनता की भलाई के लिए हर अच्छे कार्य एवं परियोजनाओं को सहयोग देने का काम करती है, चाहे संस्था केन्द्रीय हो अथवा राज्य सरकार की। जनपद रायबरेली में स्थापित हो रहे एम्स का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार से पूर्व यह परियोजना तत्कालीन राज्य सरकार द्वारा भूमि उपलब्ध न कराने के कारण आगे नहीं बढ़ रही थी, जबकि वर्तमान सरकार ने तत्परता से इसके लिए भूमि उपलब्ध करायी है। उन्होंने कहा कि लखनऊ को चिकित्सा का हब बनाने का प्रयास किया जा रहा है।
श्री यादव ने कहा कि प्रदेश सरकार ने जनता से किए गए सभी वायदों को जमीन पर उतारने का काम किया है। विकास में जनसहभागिता प्राप्त करने के लिए राज्य सरकार की प्रतिबद्धता जताते हुए उन्होंने कहा कि आगामी बजट को तैयार करने से पूर्व, जनता एवं प्रबुद्ध लोगों के सुझाव आमंत्रित किये जा रहे हैं, जिससे यह पता चल सके की प्रदेश की जनता वास्तव में अपने लिए कैसा विकास एवं सुविधाएं चाहती है। इसके अनुरूप ही बजट में धनराशि की व्यवस्था की जाएगी।
इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने विश्वविद्यालय के वनस्पति उद्यान में रूद्राक्ष का पौधा रोपा। उन्होंने कुलपति के आग्रह पर उद्यान का नामकरण आचार्य नरेन्द्र देव वनस्पति उद्यान करने की घोषणा की। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने बाॅयोसाइंसेज के नये ब्लाॅक की आधारशिला तथा ए0आई0सी0जेड0 के सोवेनियर एवं वेबसाइट का लोकार्पण भी किया। उन्होंने बी0बी0ए0यू0 के कुलपति द्वारा सम्पादित दो पुस्तकों का विमोचन किया एवं ए0आई0सी0जेड0 द्वारा घोषित पुरस्कारों का वितरण किया। इस मौके पर प्रख्यात वैज्ञानिक एवं पूर्व राष्ट्रपति डाॅ0 ए0पी0जे0 अब्दुल कलाम को श्रद्धांजलि भी दी गई।
बी0बी0ए0यू0 के कुलपति प्रो0 रणवीर चन्द्र सोबती ने मुख्यमंत्री सहित सभी डेलीगेट्स एवं अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि लखनऊ का यह एक मात्र विश्वविद्यालय है, जिसे नैक द्वारा ‘ए’ ग्रेड दिया गया है। विश्वविद्यालय के विकास के लिए कई नये विभागों को स्थापित किया जा रहा है।
काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 जी0सी0 त्रिपाठी ने राज्य सरकार द्वारा किए जा रहे विकास कार्यांे की सराहना करते हुए कहा कि वर्तमान मुख्यमंत्री ने प्रदेश के सभी शिक्षण संस्थाओं के विकास में सहयोग देने का काम कर रहे हैं।
इस मौके कई जनप्रतिनिधि, ए0आई0सी0जेड0 के अध्यक्ष प्रो0 बी0एन0 पाण्डेय, संस्था की संयोजक सुश्री सुमन मिश्रा सहित देश-विदेश से आए डेलीगेट्स, शिक्षक, छात्र-छात्राएं एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

pres2

press-3

press5x10

22

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments Off

मुख्यमंत्री की मौजूदगी में अवधी आभूषणों का स्टूडियो लाॅन्च

Posted on 30 October 2015 by admin

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव की उपस्थिति में आज यहां एक निजी प्रतिष्ठान के अवधी आभूषणों के एक स्टूडियो को लाॅन्च किया गया। इन आभूषणों में अवधी संस्कृति तथा नवाबी युग की झलक मौजूद है, जिससे लोगों को उस समय की ज्वैलरी के डिजाइन इत्यादि की जानकारी मिलती है।
इस अवसर पर सांसद श्रीमती डिम्पल यादव भी मौजूद थीं।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

राज्यपाल ने मुख्यमंत्री के प्रस्ताव पर 5 कैबिनेट तथा 3 राज्य मंत्रियों को पदमुक्त किया

Posted on 30 October 2015 by admin

उत्तर प्रदेश के राज्यपाल श्री राम नाईक ने आज मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव के प्रस्ताव पर (1) श्री राजा महेन्द्र अरिदमन सिंह मंत्री स्टाम्प तथा न्यायशुल्क पंजीयन व नागरिक सुरक्षा, (2) श्री अम्बिका चैधरी मंत्री पिछड़ा वर्ग कल्याण एवं विकलांग कल्याण,   (3) श्री शिव कुमार बेरिया मंत्री वस्त्र उद्योग एवं रेशम उद्योग, (4) श्री नारद राय मंत्री खादी एवं ग्रामोद्योग, (5) श्री शिवाकान्त ओझा मंत्री प्राविधिक शिक्षा, (6) श्री आलोक कुमार शाक्य राज्यमंत्री प्राविधिक शिक्षा, (7) श्री योगेश प्रताप सिंह ‘योगेश भइया’ राज्यमंत्री बेसिक शिक्षा, (8) श्री भगवत शरण गंगवार राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम एवं निर्यात प्रोत्साहन विभाग को मंत्री पद से पदमुक्त कर दिया है। राज्यपाल ने पदमुक्त किये गये मंत्रियों के विभागों का कार्य अतिरिक्त कार्य प्रभार के रूप में मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव को आवंटित कर दिया है।
इसके अतिरिक्त श्री नाईक ने मुख्यमंत्री के दूसरे प्रस्ताव पर (1) श्री अहमद हसन मंत्री चिकित्सा एवं स्वास्थ्य परिवार कल्याण मातृ एवं शिशु कल्याण, (2) श्री अवधेश प्रसाद मंत्री समाज कल्याण अनुसूचित जाति एवं जनजाति कल्याण सैनिक कल्याण, (3) श्री पारस नाथ यादव मंत्री उद्यान खाद्य प्रसंस्करण, (4) श्री राम गोविन्द चैधरी मंत्री बेसिक शिक्षा,   (5) श्री दुर्गा प्रसाद यादव मंत्री परिवहन, (6) श्री ब्रह्मा शंकर त्रिपाठी मंत्री होमगार्डस् प्रांतीय रक्षक दल, (7) श्री रघुराज प्रताप सिंह राजा भइया मंत्री, खाद्य एवं रसद, (8) श्री इकलाब महमूद मंत्री मत्स्य सार्वजनिक उद्यम, (9) श्री महबूब अली मंत्री माध्यमिक शिक्षा को आवंटित विभाग हटाकर उनके विभागों का कार्य मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव को अतिरिक्त प्रभाग के रूप में आवंटित कर दिया है। जबकि उक्त मंत्री बिना विभाग के अपने पद पर बने रहेंगे।
राज्यपाल श्री राम नाईक नए मंत्रियों को 31 अक्टूबर, 2015 शनिवार सुबह 10.30 पर राजभवन में आयोजित एक समारोह में पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलायेंगे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

जनाब आज़म खाँ साहब, आदाब,

Posted on 30 October 2015 by admin

काफी दिनों से आपके दिये हुए भाषणों का आंकलन करने के बाद यह तथ्य निकल कर आया है कि विवादित भाषण देने में आपको महारत हासिल है, आप समाजवादी पार्टी के मुस्लिम चेहरा माने जाते हैं, इसी नाते समाजवादी पार्टी के मुखिया श्री मुलायम सिंह यादव जी सहित उनका पूरा कुनबा आपकी बातें सुनने को तैयार रहता है। पिछला संसद सत्र जब चल रहा था तो कांग्रेस पार्टी, समाजवादी पार्टी तथा अन्य सभी दलों ने संसद में भारतीय जनता पार्टी सरकार द्वारा लाये गये विवादित अध्यादेषों के खिलाफ एक साथ खड़े थे, लग रहा था कि लोकतंत्र का साफ सुथरा स्वरूप अभी भी जिन्दा है। परन्तु जैसे ही यादव सिंह के 20हजार करोड़ के घोटाले की सी.बी.आई. जाँच पर सर्वोच्च न्यायालय ने मोहर लगाई अपने परिवार को इस संकट की घड़ी से बचाने के लिए सपा मुखिया श्री मुलायम सिंह यादव ने यू-टर्न लिया और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के दबाव में आ गये और कहा कि संसद चलनी चाहिए क्या सपा मुखिया के इस निर्णय से आप सहमत हैं। हर मुद्दे पर बेबाक बोलने वाले आज़म खाँ साहब आपकी यह खामोषी जनता को अखर रही है।
देष में भारतीय जनता पार्टी के तमाम ग़लत फैसलों के खि़लाफ़ सपा के मुखिया ने मेहनत करके एक महा गठबंधन बनाया तब लगा कि भाजपा को उसका जवाब देने के लिए और देष को इस संकट की घड़ी से बचाने के लिए यह गठबंधन निर्णायक होगा, परन्तु जैसे ही बिहार के चुनाव का आगाज हुआ, सपा मुखिया ने अपने ही बनाये महा गठबंधन को अपने ही हाथों से तार-तार कर दिया और धर्मनिरपेक्षता मे भरोसा करने वालों को तगड़ा झटका दे दिया। आष्चर्य तो तब हुआ जब श्री यादव जी ने कहा कि बिहार में मोदी की लहर है और मोदी को जिताना चाहिए, उनके इस विवादित बयान से राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी जो नये गठबंधन की भागीदार थी, उसके नेता श्री तारिक अनवर जी ने भी इस नये गठजोड़ से अपने को अलग कर लिया। उन्हें लगा कि समाजवादी पार्टी किसी न किसी बहाने भाजपा को मजबूत करना चाहती है। अपनी पार्टी के मुखिया के इस बयान पर आपकी प्रतिक्रिया न आना इस बात की दलील है कि आप पार्टी के खौफ़ में हैं या भाजपा के दबाव में हैं या मौके की नज़ाकत का फायदा उठाना चाहते हैं।
आपने बिसाहड़ा गाँव (दादरी) के मामले पर यह कहा था कि इस मामले को हम यू0एन0 तक ले जायेंगे, परन्तु दूसरे ही दिन प्रदेष के नौजवान मुख्यमंत्री ने सिरे से खारिज कर दिया फिर दूसरे ही दिन उनके चाचा षिवपाल यादव जी ने कहा कि यह आज़म खाँ का निजी बयान हो सकता है, यह पार्टी की राय नहीं है, यह दो लोगों का अहम बयान यह दर्षाता है कि सपा में आपकी नींव कमजोर हो रही है, क्या यह सच है।
समूची समाजवादी पार्टी बिहार में भारतीय जनता पार्टी को फ़ायदा पहुँचाने के लिए चुनाव लड़ रही है। यह जग जाहिर है, सपा मुखिया सहित मुख्यमंत्री और पूरा मंत्रिमंडल चुनाव प्रचार में लगाया गया है, परन्तु आप जैसा बड़ा चेहरा बिहार चुनाव से दूर रहा, इसकी क्या वजह हो सकती है, क्या आपके भाषणों पर अब सपा के नेतृत्व को भरोसा नहीं रहा है या भाजपा का दबाव है, इसका भी खुलासा होना चाहिए।
एक और बात दिमाग में बार-बार आती है कि जब चाहे बी0जे0पी0 की सरकार में श्री लालजी टण्डन नगर विकास मंत्री व आवास मंत्री रहे हों या बी0एस0पी0 की सरकार मंे श्री नसीमउद्दीन सिद्दीकी साहब नगर विकास मंत्री एवं आवास मंत्री रहे हों। कांग्रेस को सत्ता से बाहर हुए 26साल हो गये, उस समय की बात याद भी नहीं होगी, सम्पूर्ण विभाग एक साथ ही रहता था, परन्तु अफसोस के साथ कहना पड़ रहा है कि समाजवादी पार्टी की सरकार में आपको महज़ नगर विकास मंत्री बनाया गया, आवास विकास जो अहम विभाग है- उसे आपको नहीं दिया गया, जो संभवतः माननीय मुख्यमंत्री के पास है, यह सौतेला व्यवहार आपके साथ क्यों किया गया और आपको मात्र शहर की सफाई दी गई।
आज़म खाँ साहब! आपको सोचना पड़ेगा कि मुसलमान खौफ़ज़दा नहीं हैं, यह मेहनतकष क़ौम हैं, उ0प्र0 की हर वो चीज़ जो विष्व में जाती है उसको बनाने वाले ज़्यादातर मुस्लिम भाई हैं। उन्हें आप और आपकी समाजवादी पार्टी उनके हाल पर छोड़ दें, मुसलमान सिर्फ सुरक्षा चाहता है, तालीम चाहता है, इज़्ज़त की जि़न्दगी जीना चाहता है, आपकी पार्टी ने दीगर साढ़े तीन सालों में क्या किया- इसका जवाब प्रदेष की जनता आपसे 2017 में ज़रूर माँगेगी, इसके लिए आपको और आपकी पार्टी को तैयार रहना होगा। दिल में कुछ बातें थीं, जिसका खुलासा कर रहा हूँ। खुदा हाफि़ज़

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)


Advertise Here

Advertise Here

 

October 2015
M T W T F S S
« Sep   Nov »
 1234
567891011
12131415161718
19202122232425
262728293031  
-->




 Type in