*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | February, 2015

रेलवे में अधिक सार्वजनिक निवेश से भारतीय उत्पादन की कुल वृद्धि को बढ़ावा देगा

Posted on 28 February 2015 by admin

संसद में आज पेश की गई आर्थिक समीक्षा 2014.15 में इस बात की सिफारिश की गई है कि रेलवे में अधिक सार्वजनिक निवेश से भारतीय उत्पादन की कुल वृद्धि और प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा मिलेगा। सक्षम रेल नेटवर्क में सार्वजनिक निवेश से उत्पादन को भी बढ़ावा मिलेगा और इसका प्रभाव स्थायी होगा। समीक्षा में कहा गया है कि जिस तरह पिछली एनडीए सरकार ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की पहल के माध्यम से भारतीय सड़कमार्ग क्षेत्र का कायापलट किया थाए उसी तरह फिलहाल रेलमार्ग के समर्पित माल भाड़ा यातायात गलियारों ;डीएफसीद्ध में निवेश के मजबूत त्वरित कार्यक्रम की आवश्यकता है। जिन्हें संबद्ध औद्योगिक गलियारों के साथ स्वर्णिम चतुर्भुत के समानांतर बनाया जा सके। इस तरह की पहल से श्मेक इन इंडियाश् को वास्तविक रूप देने के साथ.साथ भारतीय विनिर्माण उद्योग की कायापलट हो जाएगी। माल भाड़ा यातायात को अलग करने के बाद यात्री रेलगाड़ियों को थोड़े से निवेश से ही काफी तीव्र बनाया जा सकता है।

मौजूदा सरकार उपेक्षित रेल क्षेत्र के लिए वह काम कर रही है जो पिछली एनडीए सरकार ने प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में ग्रामीण सड़कों के लिए किया था।

आर्थिक समीक्षा में कहा गया है कि रेलवे ष्राष्ट्र की जीवनरेखाष् है जो 19000 से अधिक रेलों का प्रचालन करती है। प्रतिदिन 23 मिलियन यात्रियों और 3 मिलियन टन से ज्यादा माल ढुलाई करती है। इससे 13 लाख लोगों को रोजगार मिला हुआ है।

समीक्षा में इस बात के संकेत दिए गए हैं कि पिछली योजना में रेलवे को कम संसाधन दिए गए। कुल योजना परिव्यय में रेल का हिस्सा वर्तमान में अन्य परिवहन क्षेत्रों के लगभग 11 प्रतिशत के मुकाबले केवल 5ण्5 प्रतिशत है और समग्र विकास में इसका हिस्सा विगत दशक में 2 प्रतिशत से कम रहा है। चीन में इसी अवधि के दौरान इससे 11 गुना अधिक निवेश हुआ। भारतीय रेल में कम निवेश से भीड़.भाड़ए सीमित क्षमताए खराब सेवाओं तथा कमजोर वित्तिय हालत का पता चलता है।

लंबे समय की जरूरत के मुताबिक रेलवे को व्यापारिक रूप से व्यवहारिक होने की जरूरत है। लंबे समय में रेलवे के लिए सार्वजनिक सहायता इन तक सीमित होनी चाहिए। ;1द्ध निगमीकृत रेलवे द्वारा निवेश के लिए इक्विटी सहायता और ;2द्ध सार्वभौमिक सेवा दायित्व का वित्त पोषण। अंतरिम रूप से रेलवे की सरकारी सहायता की गुंजाइश हैए आम बजट के द्वारा सहायता को मिलाकर।

हालांकिए अर्थिक समीक्षा 2014.15 में कहा गया है कि लोक समर्थन को स्पष्ट रूप से महत्वपूर्ण सुधारों जैसे की रेलवे की संरचनाए उनके द्वारा व्यापारिक कार्यों को अपनाया जानाए ट्रैफिक नीतियों को युक्तिसंगत बनाया जाना और तकनीकी का पुनरोद्धार करनाए के साथ जो़ड़ा जाना चाहिए।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

महिला साक्षरता में सुधार व शैक्षिक चुनौतियां

Posted on 28 February 2015 by admin

जनगणना 2011 के आंकड़ों के अनुसार देश में केवल 73 प्रतिशत साक्षरता ही प्राप्तक की जा सकी हैए परन्तुड महिला साक्षरता में उल्लेमखनीय प्रगति हुई है। 80ण्9 प्रतिशत की पुरूष साक्षरता की तुलना में 64ण्6 प्रतिशत पर महिला साक्षरता अभी भी कमतर बनी हुई हैए पर पुरूष साक्षरता की 5ण्6 प्रतिशत की वृद्धि दर की तुलना में महिला साक्षरता में 10ण्9 प्रतिशत वृद्धि हुई।

आर्थिक समीक्षा 2014.15 में कहा गया है कि बालिकाओं की रक्षा व शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए नयी योजना ष्बेटी बचाओए बेटी पढ़ाओष् का उद्देश्य  समाज की मानसिकता बदलना व जागरूकता फैलाना हैए जो एक जन अभियान के रूप में चलाया जा रहा है। इससे बालिका शिक्षा व अन्य संबंधित समस्याअओं का समाधान संभव होगा।

भारत में गुणवत्ताइपरक तथा प्राथमिक शिक्षा तक पहुंच बनाये रखने के लिए बच्चों  की निरूशुल्कइ और अनिवार्य शिक्षा का अधिकार ;आरटीईद्ध अधिनियमए 2009 केन्द्र  सरकार द्वारा अप्रैल 2010 में अधिनि‍यमित किया गया था। आरटीई अधिनियम के क्रियान्वायन के लिए नामोद्धिष्टं स्कीिम सर्वशिक्षा अभियान ;एसएसएद्ध है।

आर्थिक समीक्षा में इंगित किया गया है कि भारत में शिक्षा प्रणाली के समग्र मानक ग्लोिबल मानकों से काफी नीचे ही बने हुये हैं। पीसा ;अंतर्राष्ट्री य छात्र आकलन कार्यक्रम.2009द्ध ने तमिलनाडु व हिमाचल प्रदेश को 74 भागीदारों में 72वें व 73वें स्थायन पर रखा हैए जो सिर्फ किग्रीजस्ताकन से ऊपर है। यह हमारी शिक्षा में व्यारप्तं अंतर को दर्शाता है। पीसा के तहत 15 वर्ष के आयु वर्ग के ज्ञान व कौशल को उनकी समस्याो सुलझाने के लिए तैयार किये गये प्रश्नोंक के आधार पर मापा जाता है। स्कूालों से निकलने वाले युवाओं की कार्यदक्षता में सुधार लाने के लिए माध्यआमिक शिक्षा के बाद और प्रशिक्षण प्रणालियों एवं कार्यस्थमलों पर भी दखल कार्रवाई करने की पर्याप्तक गुंजाइश है। बदलती हुई जनसांख्यिकीय स्थितियों और बच्चों  की घटती आबादी के चलतेए पिरामिड की बुनियाद पर मानव पूंजी की अपर्याप्तचता के कारण मूलभूत कौशलों की राह में मौजूद बड़ा अंतर भारत के विकास में बड़ी अड़चन बन सकता है। पढ़ने.सिखने और गणितीय दक्षता का एक माहौल बनाने के लिए ष्पढ़े भारत.बढ़े भारतष् नामक पहल एक उत्ततम कदम है। तथापिए इस प्रयास की सफलता के लिए यह आवश्यष्क होगा कि इस संबंध में स्थाहनीय प्रशासन को इस प्रक्रिया में ज्यालदा शामिल किया जाए और संवेदनशील बनाया जाए।

भारत में 15.18 वर्ष के आयु वर्ग के युवाओं की संख्याप 100 मिलियन है। चूंकि अधिकतर व्याजवसायिक कौशल कार्यक्रमों में दाखिले के लिए शैक्षिक और आयु संबंधी अर्हताएं होती है और 18 वर्ष की आयु से पहले इनमें प्रवेश नहीं किया जा सकताए अतरू इस आबादी के अधिकांश के असंगठित क्षेत्र में जाने की संभावना हो जाती है। अवसरों के बीच व्या प्तध अंतरों का सम्य्क.समाधान करने और असंगठित क्षेत्र में उत्पांदकता क्षमता में सुधार लाने के लिए ज्ञान अथवा कौशल की किस्मोंन पर शोध किये जाने की जरूरत है।

इसके साथ हीए प्राथमिक स्कूालों में दाखिला.वृद्धि के समनुरूपए सैकेंडरी स्कू्लों की क्षमता के निर्माण करने के लिए मध्याकहृन भोजन ;एमडीएमद्ध योजनाए राष्ट्री य माध्यामिक शिक्षा अभियान ;आरएमएसएद्धए मॉडल स्कू ल स्कीएम ;एमएसएसद्ध और साक्षर.भारत ;एसबीद्ध प्रौढ़ शिक्षा जैसे कार्यक्रम भी क्रियान्वित किये गये हैं। एसबी महिला साक्षरता पर केन्द्रित स्की्म है। इसके अलावाए इस क्षेत्र में प्रशिक्षित अध्या पकों का अभाव समस्याय को घनीभूत करता है।

भावी अध्याषपकों को समय रहते कैरियर का विकल्पा मुहैया कराने के लिए शिक्षक अध्याअपकों के संवर्ग को सुदृढ़ बनाने और शिक्षक.शिक्षण संस्थाेओं में अध्याअपकों के सभी रिक्ता पदों को भरे जाने के लिए चार वर्षीय एक नया समेकित कार्यक्रमए नामतरू बीण्एध्बीण्एड और बीण्एससीध्बीण्एड शुरू किया गया है।

भारतीय उच्चरतर शिक्षा प्रणाली विश्वण् में सबसे बड़ी शिक्षा प्रणालियों में से एक है। वर्ष 2013.14 में विश्वशविद्यालयोंए महाविद्यालयों व डिप्लोकमा स्त2र के संस्थाऔओं की संख्या  बढ़कर क्रमशरू 713ए 36ए739 और 11ए343 हो गयी है। आज मांग को आपूर्ति के साथ सुमेलित किये जाने और रोजगार के अवसरों के अनुरूप शिक्षा नीति में सम्याक परिवर्तन लाए जाने की जरूरत है।
आर्थिक समीक्षा में यह सुझाव दिया गया है कि उच्च तर शिक्षा को भविष्य्दृष्टाह होना होगा और ऐसे क्षेत्रों की परिकल्प ना करनी होगीए जो भविष्यष में ज्याादा रोजगार जुटा सकें।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

भारतीय जनता पार्टी ने उत्तर प्रदेश की बिगड़ती कानून-व्यवस्था पर प्रदेश सरकार पर बड़ा हमला बोला है।

Posted on 28 February 2015 by admin

भारतीय जनता पार्टी ने उत्तर प्रदेश की बिगड़ती कानून-व्यवस्था पर प्रदेश सरकार पर बड़ा हमला बोला है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डा0 लक्ष्मीकांत बाजपेयी ने आज राजधानी लखनऊ में दिनदाड़े तीन हत्या और ए.टी.एम. की लूट को प्रदेश सरकार की विफलता बताया। डा0 बाजपेयी ने कहा कि राजधानी लखनऊ से लगाये पूरे प्रदेश में अपराधाी बेखौफ होकर वारदात को अंजाम दे रहे है। लखनऊ का व्यस्ततम बजार हो या मथुरा की जेल, मुरादाबाद का न्यायालय हो या मुजफ्फरनगर का न्यायालय, थाना हो या चैकी कही कोई भी स्थान या नागरिक अपने को सुरक्षित महसूस नहीं कर रहा है।
डा0 बाजपेयी ने बताया कि केवल आज की प्रदेश भर की घटनाओं पर नजर डाले तो आगरा में पुलिस की मौजदूगी में पथराव, गजियाबाद में पुलिस की दबंगई, कानपुर में रिश्वत लेती पुलिस और चार साल की मासूम की हत्या ने प्रदेश को झकझोर दिया।
डा0 बाजपेयी ने कहा कि राजधानी लखनऊ जहां मुख्यमंत्री से लेकर सारे महकमों के प्रमुख बैठते है वहा कानून व्यवस्था का यह आलम हैं तो प्रदेश के दूर-दराज क्षेत्रों की स्थिति का अंदाज सहजता से लगाया जा सकता है।
डा0 बाजपेयी ने कहा कि अभी कल ही पुलिस के प्रमुख ने प्रदेश के सारे आई.पी.एस. की जुटान के ‘‘पुलिस की साख लौटाने के प्रयास’’ का बयान दिया और आज ही अपराधियों ने उनको चुनौती दे दी है।
डा0 बाजपेयी ने अपराधियों का सी.सी.टी.वी. फूटेज होने पर भी उनकी गिरफ्तारी के लिए मुख्यमंत्री द्वारा 15 दिन का समय देने को हास्यासपद बताते हुए कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री जनता से संवेदना रखने के बजाय अपने करीबी लखनऊ के एस.एस.पी. को बचाना चाहते है। उन्होंने मांग की तत्काल अपराधियों को पकड़ा जाये और घटना के जिम्मेदार अधिकारियों पर कार्यवाही हो।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

एस0डी0एस0एन0 ग्रुप आफ कालेजेज के दसवें स्थापना दिवस के अवसर पर छोटा भरवारा, गोमती नगर स्थित एस0डी0एस0एन0 महाविद्यालय में प्रख्यात कवि एवं शायर डा0 गोपाल दास ‘‘नीरज’’, अध्यक्ष- भाषा संस्थान की अध्यक्षता में ‘कवि-सम्मेलन’ सम्पन्न हुआ।

Posted on 28 February 2015 by admin

एस0डी0एस0एन0 ग्रुप आफ कालेजेज के दसवें स्थापना दिवस के अवसर पर छोटा भरवारा, गोमती नगर स्थित एस0डी0एस0एन0 महाविद्यालय में प्रख्यात कवि एवं शायर  डा0 गोपाल दास ‘‘नीरज’’, अध्यक्ष- भाषा संस्थान की अध्यक्षता में ‘कवि-सम्मेलन’ सम्पन्न हुआ।

सम्मेलन में आये कवियों में श्री शशांक प्रभाकर-आगरा, यश भारती से सम्मानित श्री विष्णु सक्सेना, श्री गुलशन बरेलवी, श्री मुकुल महान, श्री राम सिंह, श्रीमती शबाना साजिद कानपुर, श्री निर्मल लखनवी, श्री समीर शुक्ला फतेहपुर, श्री रमेश रंजन मिश्र, लखनऊ  श्री एस0के0 त्रिपाठी, श्री युवराज यादव उन्नाव, श्री दीपक मिश्रा एवं श्री अच्छे लाल सोनी आदि प्रमुख थे। इस कवि सम्मेलन में महाविद्यालय, इण्टर कालेज के छात्र-छात्राओं द्वारा अपने-अपने कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए जिसमे मुख्य रूप से सरस्वती वन्दना एवं होली गीत की प्रस्तुति रही।

कवि सम्मेलन शुरू करने से पहले कालेज के संस्थापक श्री जगजीवन प्रसाद एवं प्रबन्धक श्री कृष्ण मुरारी व श्रीमती तान्या के मुरारी द्वारा माला पहना कर एवं मोमेन्टो देकर सभी कवियों को सम्मानित किया गया। यूनिवर्सिटी सहित अन्य कालेजों में आयोजित प्रतियोगिताओं में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले छात्रों, जिनमें श्रद्धा पाण्डेय, कंचन मौर्या, कुमारी प्रिन्सी, ज्योति राना, अभिषेक कुमार को श्री गोपाल दास जी नीरज द्वारा स्मृति चिन्ह के रूप में सरस्वती जी की मूर्ति देकर सम्मानित किया गया।

इस कवि सम्मेलन को सफल बनाने में श्री दिनेश कुमार सिंह, श्री एस0सी0 पाण्डेय, श्री अनूप अग्रवाल, एवं कालेज के प्राचार्य, प्रिंसिपल तथा सभी प्रोफेसरों की सराहनीय भूमिका रही है।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

स्वाइन फ्लू से बचाव हेतु सी.एम.एस. छात्रों को जागरूक किया जिलाधिकारी श्री राजशेखर ने

Posted on 28 February 2015 by admin

विद्यालय के लगभग 3000 छात्रों को स्वाइन फ्लू के घातक प्रभाव से बचाव हेतु जागरूक करते हुए कहा कि थोड़ी सी सावधानी व सतर्कता से इस बीमारी से बचा जा सकता है। उन्होंने छात्रों से अपील की कि वे स्वयं स्वाइन फ्लू के प्रति सतर्क रहें एवं अपने दोस्तों, घर, पड़ोस व समाज के अधिकाधिक लोगों को इस बारे में जागरूक करें व सुरक्षा सम्बन्धी उपायों को अपनाने हेतु प्रोत्साहित करें। इस अवसर पर लखनऊ के सी.एम.ओ. श्री एस.एन.एस. यादव व उनकी टीम के अन्य सदस्यों समेत सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी, सी.एम.एस. गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) की प्रधानाचार्या श्रीमती आभा अनन्त एवं अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे। इससे पहले, आज प्रातः सी.एम.एस. गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) की प्रार्थना सभा में पधारे लखनऊ के जिलाधिकारी श्री राजशेखर का विद्यालय के छात्रों व शिक्षकों ने हार्दिक स्वागत व अभिनन्दन किया। इस अवसर पर सी.एम.एस. छात्रों ने स्वाइन फ्लू के दुष्प्रभावों से जनमानस को जागरूक करने का संकल्प लिया।
श्री एस.एन.एस. यादव, सी.एम.ओ., लखनऊ ने इस अवसर पर कहा कि स्वाइन फ्लू के प्रभावों से जनता को जागरूक करने का सी.एम.एस. छात्रों का प्रयास अत्यन्त प्रशंसनीय है। इस बीमारी से निपटने में जागरूकता, बचाव के उपायो को जन-जन तक पहुंचाने हेतु छात्रों व युवा पीढ़ी की आगे आने की जरूरत है। श्री यादव ने स्वाइन फ्लू के वायरस एच1एन1 के बारे में विस्तार से बताते हुए इस बीमारी के प्रारम्भिक लक्षणों जैसे बलगम बनना, थकान, सिरदर्द आदि की जानकारी दी एवं इससे बचाव के उपाय सुझाये। सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने इस अवसर पर छात्रों का उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि सी.एम.एस. छात्र सामाजिक सरोकार के विषयों पर हमेशा ही सबसे आगे रहे हैं एवं इस महामारी से बचाव हेतु जन-जागरण का काम भी बखूबी कर रहे हैं। डा. गाँधी ने कहा कि स्वाइन फ्लू के दुष्प्रभावों से छात्रों, शिक्षकों व अभिभावकों को जागरूक करने हेतु सी.एम.एस. के विभिन्न कैम्पसों में विशेषज्ञों की परिचर्चा का आयोजन नियमित रूप से किया जा रहा है।
सी.एम.एस. गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) की प्रधानाचार्या श्रीमती आभा अनन्त ने जिलाधिकारी
श्री राजशेखर एवं सी.एम.ओ. श्री एस.एन.एस. यादव के प्रति हार्दिक आभार व्यक्त करते हुए कहा कि इस प्रकार की बीमारियों से बचाव में सामूहिक प्रयास अत्यन्त उपयोगी साबित होते हैं। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि यह परिचर्चा न सिर्फ सी.एम.एस. के छात्रों, शिक्षकों व अभिभावकों को लाभान्वित करेगी अपितु समस्त लखनऊवासियों इस बीमारी से बचाव हेतु प्रेरित करेगी।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

यू पी एच जे एस मुख्य परीक्षा 2014

Posted on 28 February 2015 by admin

मनमाना मूल्यांकन तथा सीटें न भरे जाने के बिरोध में राज्यपाल को ज्ञापन
- दीवानी कचहरी बार एसोसिएसन के अघ्यक्ष ने एस डी एम के जरिए भेजा ज्ञापन
-एस सी, एस टी व अ¨ बी सी अभ्यर्थिय¨ंे की नियुक्ति क¢ मार्ग में अवर¨धक है म©खिक परीक्षा में न्यूनतम मार्क की बाध्यता , शम्भू यादव
-यू पी एच जे एस परीक्षा 2014 का विज्ञापन निरस्त करने की मांग
फरेन्दा , महराजगंज।
सिविलक¨र्ट बार एस¨सिएसन फरेन्दा क¢ रामसहाय गुप्ता व मंत्री रवीन्द्रनाथ उपाध्याय ने दर्जनों अधिवक्ताओं के साथ उच्चतर न्यायिक सेवा मूख्य परीक्षा 2014 में मनमाने मूल्यांकन तथा सभी सीटों के भरे जाने के बिरोध मे प्रदेश के राज्यपाल को उप जिलजाधिकारी फरेन्दा के माध्यम से ज्ञापन भेज कर अभ्यर्थियों मको न्याय दिलाने की मांग किया है।
ज्ञापन के माध्यम से महामहिम राज्यपाल का ध्यान आकृष्ट करते हुए कि   प्रारम्भिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा तथा साक्षात्कार में न्यूनतम कट आफ मार्क रखा जाना उचित नहीं है। इस व्यवस्था के कारण भारी संख्या में अनुसूचित जाति , अनुसूचित जन जाति तथा पिछड़े बर्ग के अभ्यर्थी पूरी मेहनत करने के बाद भी उच्च न्यायिक सेवा में सफलता हासिल नहीं कर पा रहे हैं। 2014 की उच्चतर न्यायिक रेवा परीक्षा 2014 में अभ्यर्थी रह चुके श्रीपति प्रसाद , संग्राम , शम्भू यादव , सुनील आदि का कहना है कि इस वर्ष 82 पदों के लिए परीक्षा आयोजित की गई थी लेकिन केवल 41 पद ही भरे गए। इसके अलावा यह केवल संयोग नहीं हो सकता कि सामान्य वर्ग में 41 पदों के सापेक्ष केवल 41 , अन्य पिछड़ा वर्ग में 22 पदों के सापेक्ष केवल 5 तथा अनुसूचित वर्ग से कोई भी अभ्यर्थी सफल न हो।
ं उल्लेखनीय है कि दीवानी कचहरी बार एसोसिएसन के सदस्य रह चुक¢ अ©र वर्तमान में उच्च न्यायालय इलाहाबाद में व्यवसायरत अधिवक्ता राजेश यादव व अधिवक्ता श्रीपति प्रसाद ने भी इससके पूर्व यू पी एच जे एस सीधी भर्ती परीक्षा 2014 क¢ विज्ञापन में लिखित परीक्षा क¢ लिए 45 प्रतिशत तथा म©खिक परीक्षा 40 प्रतिशत अंक प्राप्त करने की बाध्यता क¨ एस सी , एस टी व अ¨ बी सी अभ्यर्थिय¨ं की नियुक्ति क¢ मार्ग में अवर¨धक तथा असम्वैधानिक  बताते हुए महामहिम राज्यपाल उत्तर प्रदेश क¨ प्रतिवेदन देकर उक्त विज्ञापन क¨ निरस्त करने तथा उच्चतर न्यायिक सेवा में एस सी , एस टी व अ¨ बी सी अभ्यर्थिय¨ं की नियुक्ति की सम्भाव्यता क¨ सुनिश्चित करने क¢ लिए समुचित व्यवस्था करने की मांग किया था।
उनका का कहना था कि यू पी एच जे एस रूल 1975 की रूल 18 क¢वल लिखित परीक्षा में न्यूनतम अंक प्राप्त करने की बाध्यता का उल्लेख करता है अ©र म©खिक परीक्षा में न्यूनतम 40 प्रतिशत अंक प्राप्त करनें की बाध्यता न क¢वल यू पी एच जे एस रूल क¢ खिलाफ है वल्कि असम्वैधानिक भी है। ज्ञापन
दाताओं का कहना है कि न्यूनतम अंक प्राप्त करने की बाध्यता एस सी , एस टी व ओ बी सी अभ्यर्थिय¨ं क¢ लिए उत्तर प्रदेश उच्चतर न्यायिक सेवा में नियुक्ति पाने क¢ मार्ग में एक अवर¨धक साबित ह¨ रहा है अ©र उन्ह¨ंने महामहिम राज्यपाल से यू पी एच जे एस परीक्षा 2014 के अभ्यकिर्थयों को न्याय दिलाने के लिए सम्यक कार्यवाही करने की कृपा करें।
अध्यक्ष श्री गुप्ता ने बताया कि अपनी मांगों को लेकर अधिवक्ता आगामी 28 फरवरील से अनिश्चित कालीन बहिसकार करेंगे। इस अवसर पर अध्यक्ष रामसहाय गुप्ता , मंत्री रवीन्द्रनाथ उपाध्याय , ओ पी पाण्डेय , डी एन चतुर्वेदी , राजेश यादव , उमाकान्त यादव , शम्भू प्रसाद , विनय श्रीवास्तव , अनिल कुमार  आदि लोग मौजूद रहे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

लखनऊ में लूट और हत्या की वारदात पर मुख्यमंत्री का कड़ा रूख

Posted on 28 February 2015 by admin

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने राजधानी लखनऊ में बदमाशों द्वारा अंजाम दी गई लूट और हत्या की वारदात पर कड़ा रूख अपनाया है। श्री यादव ने पुलिस महानिदेशक को निर्देशित किया कि वे पुलिस कार्यवाही की स्वयं माॅनीटरिंग करते हुए मामले का खुलासा 15 दिन के अन्दर करवाकर लूट के रुपये भी बरामद करवाएं।
मुख्यमंत्री ने इस वारदात में मारे गए लोगों के परिजनों को 05-05 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा करते हुए कहा कि इस घटना के दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही की जाए। उन्होंने कहा कि सरकार कानून व्यवस्था को लेकर अत्यन्त संवेदनशील है और इस प्रकार की घटना को किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
श्री यादव ने इस घटना के परिपे्रक्ष्य में लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कठोर कार्यवाही करने के भी निर्देश दिए हैं।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

मध्य वायु कमान के कमाण्डरों का सम्मेलन सम्पन्न हुआ

Posted on 28 February 2015 by admin

26 फरवरी 2015 से प्रारम्भ मध्य वायु कमान के स्टेषन कमांडरों का दो दिवसीय सम्मेलन लाभदायक परिचर्चा के उपरान्त आज सम्पन्न हो गया।
सभी स्टेषनों की संक्रियात्मक सक्षमता एवं तैयारी पर संतोश व्यक्त करते हुए एयर मार्षल के एस गिल एवीएसएम वाईएसएम वीएम (षौर्य) वायु अफसर कमांडिंग-इन-चीफ मध्य वायु कमान ने कमाण्डरों का आवाह्न किया कि भारतीय वायु सेना की संक्रियात्मक तैयारी सतत बनाये रखंे तथा मध्य वायु कमान की अधिकतम क्षमता के सदुपयोग में प्रोएक्टिव अप्रोच अपनायें। वायु अफसर कमांडिंग-इन-चीफ ने जीवन में गुणात्मक सुधार लाने हेतु स्वास्थ्य तथा चुस्त कार्य वातावरण, स्वच्छ एवं हरित परिवेष तथा परिसर में बेहतर जीवन स्तर की आवष्यकता पर बल दिया।
सम्मेलन के समानान्तर श्रीमती रंजीत गिल ने वायु सेना महिला कल्याण संघ (अफ्वा) (क्षेत्रीय) के अधिषाशी समिति के सदस्याओं की बैठक तथा मध्य वायु कमान के तहत् स्टेषनों के अफवा (स्थानीय) के अध्यक्षाओं की बैठक की अध्यक्षता की। श्रीमती गिल ने संगिनियों के लाभार्थ अफवा (स्थानीय) द्वारा संचालित विभिन्न गतिविधियों की समीक्षा की तथा उनका मार्गदर्षन किया।

सम्मेलन के दौरान कई औपचारिक एवं सामाजिक समारोह आयोजित किये गये जिसमें कमाण्डरों को कमान मुख्यालय की सभी षाखाओं में कार्यरत पदाधिकारियों से विचार-विमर्ष करने का अवसर प्राप्त हुआ ।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

सैफई (इटावा) सांसद तेजप्रताप यादव राजलक्ष्मी को लेकर सैफई पहुॅच गये है। सैफई पहुॅचने पर सांसद डिम्पल यादव, माॅ मृदुला यादव, जिला पंचायत अध्यक्ष प्रेमलता यादव, वहिन शालू यादव, ने आरती उतार कर बर बधू का स्वागत किया।

Posted on 28 February 2015 by admin

सैफई (इटावा) सांसद तेजप्रताप यादव राजलक्ष्मी को लेकर सैफई पहुॅच गये है। सैफई पहुॅचने पर सांसद डिम्पल यादव, माॅ मृदुला यादव, जिला पंचायत अध्यक्ष प्रेमलता यादव, वहिन शालू यादव, ने आरती उतार कर बर बधू का स्वागत किया।
बैड वाजो की ध्वनि के बीच वर बधू सैफई की हवाई पट्टी से कार द्वारा सैफई आवास पर पहुॅचे। वहाॅ माॅ मृदुला यादव, व जिला पंचायत अध्यक्ष प्रेमलता यादव व परिवार की अन्य महिलाओ ने आरती उतारी। सांसद डिम्पल यादव ने पारिवारिक रीति रिवाज के साथ दरवाजे का पूजन कराया उसके वाद वह बर बधू को लेकर घर में प्रवेश किया। उसके वाद घर में बधाई गीत व रस्मो का कार्यक्रम चलता रहा। पूरे दिन आवास पर बैण्ड बाजो की धूम रही गीत संगीत व डीजे पर लोग झूमते रहे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

समाजवादी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता श्री राजेन्द्र चैधरी ने कहा है कि

Posted on 28 February 2015 by admin

समाजवादी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता श्री राजेन्द्र चैधरी ने कहा है कि संसद मंें आज रेलमंत्री द्वारा प्रस्तुत बजट पूर्णतया निराशाजनक है। रेल यात्री किराया न बढ़ाने के बदले में उन्होनंे नई रेल परियोजनाओं पर भी ताला लगा दिया। उत्तर प्रदेश के लिए तो इस रेल बजट में कुछ भी नहीं है। यहाॅ तक कि प्रधानमंत्री के निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी और केन्द्रीय गृहमंत्री के निर्वाचन क्षेत्र लखनऊ तक की घोर उपेक्षा हुई है। बिडम्बना है कि हर रेलमंत्री यात्रियों की सुविधा और नई परियोजनाओं की बातें तो बड़ी-बड़ी करता है लेकिन क्रियान्वयन के स्तर पर नतीजा ढाक के तीन पात वाला ही रहता है। रेलवे की हालत इतनी खस्ता हो गई है कि अब रेलमंत्री केवल सब्जबाग दिखाकर ही वाहवाही लूट रहे हैं। केन्द्र की भाजपा सरकार को अब निजी क्षेत्र में ही अपना संरक्षण दिखाई देता है क्येांकि कारपोरेट घराने के बल पर ही वह सत्ता में आई हैं। रेलमंत्री मानते हैं कि रेलवे में निवेश घटता जा रहा है।
भाजपा के रेलमंत्री की तमाम घोषणाओं का अंत बहुत सुखद नजर नहीं आता है। आम रेल यात्री आज भी परेशान हाल है और कल भी उसकी हालत सुधरने वाली नहीं है। स्वच्छता अभियान और मौजूदा ढाॅचे में बदलाव जैसी बातें सुनने में अच्छी लगी पर यात्री जानते हैं कि उन्हें जल्दी बदलाव का एहसास होने वाला नहीं है। रेल मंत्री बदलाव चाहते होते तो साहसिक निर्णय भी लेने की इच्छाशक्ति दिखाते।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

February 2015
M T W T F S S
« Jan   Mar »
 1
2345678
9101112131415
16171819202122
232425262728  
-->









 Type in