*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | January, 2011

माननीया मुख्यमन्त्री जी आज डॉ0 भीमराव अम्बेडकर सभागार, लखनऊ में चुनाव सुधारों पर आयोजित क्षेत्रीय संगोश्ठी को सम्बोधित कर रही थीं

Posted on 31 January 2011 by admin

उत्तर प्रदेश की माननीया मुख्यमन्त्री सुश्री मायावती जी ने कहा कि यद्यपि भारत की आजादी के बाद हुए आम चुनाव काफी निश्पक्ष एवं स्वतन्त्र रूप से सम्पादित हुए, परन्तु इस दिशा में अभी सुधार एवं बदलाव की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि शैक्षिक, सामाजिक एवं आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लोग आज भी अपने मताधिकार का प्रयोग निडरता एवं आजादी से नहीं कर पाते हैं। उन्होंने कहा कि देश के विभिन्न इलाकों में अभी भी बहुत से कमजोर वर्गों के लोगों को मताधिकार का प्रयोग करने ही नहीं दिया जाता। उन्होंने इस स्थिति को अत्यन्त गम्भीर बताते हुए कहा कि इस पर विचार करके ऐसे सख्त कदम उठाये जाने चाहिए, ताकि सभी वर्गों, विशेशरूप से कमजोर वर्ग के लोग भी अपना वोट निडर होकर डाल सकें। उन्होंने कहा कि इस दिशा में भारत के चुनाव आयोग को विशेश प्रयास करके उपयुक्त कानून बनाना चाहिए।

माननीया मुख्यमन्त्री जी आज यहां डॉ0 भीमराव अम्बेडकर सभागार, लखनऊ में भारत सरकार के विधि मन्त्रालय तथा निर्वाचन आयोग के संयुक्त तत्वावधान में चुनाव सुधारों पर आयोजित क्षेत्रीय संगोश्ठी को सम्बोधित कर रही थीं।

इस अवसर पर माननीया मुख्यमन्त्री जी ने कहा कि दलित एवं अन्य कमजोर वर्गों के लोगों को अपने मताधिकार की महत्ता तथा इन्हें जागरूक बनाने के मामले में भारतीय संविधान के निर्माता एवं समाज में दलितों व उपेक्षित वर्गों के मसीहा बाबा साहेब डॉ0 भीमराव अम्बेडकर एवं बी0एस0पी0 के जन्मदाता एवं संस्थापक मान्यवर श्री कांशीराम जी का काफी महत्वपूर्ण और इतिहास में कभी भी न भुलाने वाला सराहनीय योगदान रहा है। उन्होंने कहा कि यह प्रयास किसी न किसी रूप में अभी भी उनके नेतृत्व में (माननीया मुख्यमन्त्री जी के) पूरे देश में जारी है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि दलितों एवं उपेक्षित वर्गों को मताधिकार के प्रति जागरूक बनाने के लिए भारत का निर्वाचन आयोग जरूर ध्यान देगा। उन्होंने कहा कि निर्वाचन आयोग को सुधारों की दिशा में ऐसे कदम उठाने चाहिए, जिससे कि अधिक से अधिक लोग अपने मताधिकार का प्रयोग करें।

राजनीति के अपराधीकरण पर अपने विचार व्यक्त करते हुए माननीया मुख्यमन्त्री जी ने कहा कि अपराधियों को राजनीति से दूर रखने की बात की जा रही है। उन्होंने इसके लिये ऐसे कानून बनाने पर बल दिया, जिससे राजनीति में अपराधीकरण पर रोक लग सके। उन्होंने आगाह किया कि ऐसा करते समय यह भी व्यवस्था की जानी चाहिए कि इस कानून का दुरूपयोग न हो सके। उन्होंने कहा कि इस सम्बन्ध में सिफारिश की गई है कि यदि किसी व्यक्ति के विरूद्ध ऐसा कोई मुकदमा न्यायालय में लिम्बत है, जिसमें कि 05 वर्ष अथवा उससे अधिक के दण्ड का प्राविधान है तथा न्यायालय द्वारा उसके विरूद्ध आरोप तय किए जा चुके हैं, तो ऐसे व्यक्ति को चुनाव लड़ने के लिये अयोग्य घोषित किया जाय, परन्तु इस विषय में यह ध्यान रखना जरूरी है कि किसी व्यक्ति के विरूद्ध, उसे चुनाव से रोकने के लिये झूठे एवं फर्जी मुकदमें दायर किये जा सकते हैं।

माननीया मुख्यमन्त्री जी ने कहा कि इसलिए जब तक किसी अपराधिक मुकदमे में किसी व्यक्ति के दोषी सिद्ध हो जाने के बाद उसके विरूद्ध सजा का फैसला नहीं हो जाता, तब तक उसको चुनाव के लिये अयोग्य घोषित किया जाना उपयुक्त नहीं होगा। उन्होंने कहा कि अपराधिक मुकदमे के न्यायालय में लिम्बत होने मात्र को चुनाव के लिये अयोग्यता का आधार बनाये जाने की व्यवस्था का दुरूपयोग होने की पूरी सम्भावना बनी रहेगी। उन्होंने कहा कि दुरूपयोग की सम्भावना इसलिए भी और अधिक हो जाती है, क्योंकि न्यायालय में मुकदमों के निस्तारण में भी काफी विलम्ब होता है। उन्होंने कहा कि राजनीति में अपराधिकरण रोकने के लिए सभी राजनैतिक पार्टियों को आत्म अनुशासन एवं अंकुश रखना चाहिये तथा उन्हें जिम्मेदारी का परिचय देना चाहिए।

माननीया मुख्यमन्त्री जी ने निर्वाचन में होने वाले व्यय की चर्चा करते हुए कहा कि इस सम्बन्ध में गम्भीरता से विचार किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि चुनाव बहुत खर्चीले होंगे, तो इससे बहुत सी अन्य बुराइयां भी पैदा होंगी। उन्होंने कहा कि उनका स्पश्ट मत है कि चुनाव के सभी खर्चे भारत सरकार को ही उठाने चाहिए। इससे बहुत सी विसंगतियों एवं कुरीतियों पर अंकुश लगेगा तथा चुनाव भी निष्पक्ष एवं स्वतन्त्र होंगे। साथ ही सरकार द्वारा चुनाव व्यय वहन करने से राजनीति में अपराधीकरण को भी लगाम लगेगी।

माननीया मुख्यमन्त्री जी ने एिक्जट एवं ओपीनियन पोल को चुनाव की प्रक्रिया के दौरान प्रकाशन एवं प्रसारण पर सख्ती से रोक लगाने का आग्रह करते हुए कहा कि इसके लिये कड़े कानून बनाये जाने चाहिए। उन्होंने कहा कि चुनाव प्रक्रिया के दौरान एिक्जट एवं ओपीनियन पोल के प्रकाशन एवं प्रसारण से चुनाव की निष्पक्षता प्रभावित होती है तथा बहुत से राजनैतिक दल इसको बढ़ावा देकर अपना हित साधते हैं। उन्होंने इस प्रथा पर तत्काल पूर्ण प्रतिबन्ध लगाने की मांग की। उन्होंने कहा कि अधिकांश एिक्जट एवं ओपीनियन पोल गलत साबित होते हैं तथा चुनाव परिणाम उसके विपरीत होते हैं। उन्होंने कहा कि यह तर्क भी गलत है कि एिक्जट एवं ओपीनियन पोल पर प्रतिबन्ध लगाने से विचारों के अभिव्यक्ति की स्वतन्त्रता का मूलभूत अधिकार प्रभावित होता है, जो सही नहीं है।

संगोश्ठी में भारतीय लोकतन्त्र की सबसे बड़ी समस्या दल-बदल पर विचार व्यक्त करते हुए माननीया मुख्यमन्त्री जी ने कहा कि इस सम्बन्ध में कई बार कानून बनाये एवं संशोधित किये गये हैं, परन्तु अभी तक इसका पूर्णरूप से निदान नहीं हो पाया है और अभी भी विलय (मर्जर) के आधार पर दल-बदल होता रहता है। उन्होंने इसे आम जनता के साथ सबसे बड़ा धोखा बताते हुए कहा कि जिस राजनैतिक दल के चुनाव चिन्ह पर और उद्देश्यों के तहत कोई व्यक्ति चुनाव लड़ता है, तो उसी पार्टी के सिद्धान्तों के तहत जनता उसको चुनती है। परन्तु यदि निर्वाचित होने के बाद ऐसा व्यक्ति अपने मतदाताओं को धोखा देते हुये किसी दूसरी पार्टी में जाता है, तो इसे अपराध की संज्ञा दी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि ऐसे दल-बदलू व्यक्ति की न केवल सदस्यता समाप्त की जानी चाहिए, बल्कि उसे अगले 5 साल के लिये चुनाव लड़ने से प्रतिबन्धित भी किया जाना चाहिए। उन्होंने दल-बदल को पूरी तरह से समाप्त करने के लिये सम्बन्धित कानून में उपयुक्त संशोधन किये जाने की तात्कालिक आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि अभी तक ज्यादातर मामलों में सदन के अध्यक्षों द्वारा दल-बदल के विवादों का निपटारा सन्तोषजनक नहीं रहा है।

माननीया मुख्यमन्त्री जी ने कहा कि दल-बदल के मामले में उनका मानना है कि यदि किसी पार्टी का एम0पी0 या एम0एल0ए0 दूसरी पार्टी में जाना चाहता है, तो उसको इस्तीफा देकर ही दूसरी पार्टी के चुनाव चिन्ह से चुनकर उस पार्टी में जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि किसी पार्टी का एम0पी0 या एम0एल0ए0 अपनी पार्टी के साथ विश्वासघात करके अपने व्यक्तिगत स्वार्थ के लिए दूसरी पार्टी में शामिल हो जाता है, तो उसकी सदस्यता स्वत: (खुद ही) समाप्त मानी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष को यह अधिकार दिया जाना चाहिए कि वह ऐसे सदस्य की सदस्यता समाप्त होने की सूचना मुख्य चुनाव आयुक्त को प्रेषित करे। मुख्य चुनाव आयुक्त पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष की इस सूचना को तुरन्त स्वीकार करते हुये एम0पी0/एम0एल0ए0 के निर्वाचन को निरस्त होने की घोषणा करें और रिक्त हुए सीट पर चुनाव कराये।

माननीया मुख्यमन्त्री जी ने कहा कि भारतीय लोकतन्त्र को मजबूत करने तथा निर्वाचन की पवित्रता बनाये रखने हेतु भारत के चुनाव आयोग का योगदान महत्पूर्ण एवं रचनात्मक रहा है। उन्होंने कहा कि आगे भी निर्वाचन प्रक्रिया को दोश रहित बनाने में चुनाव आयोग से आम लोगों को बहुत अपेक्षायें हैं। उन्होंने कहा कि निर्वाचन में सुधार लाने के उद्देश्य से राष्ट्रीय स्तर पर संवाद किये जाने का प्रयास अत्यन्त महत्वपूर्ण एवं सराहनीय है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि लखनऊ में आयोजित संगोश्ठी निर्वाचन में सुधार लाने की दिशा में अति महत्वपूर्ण सिद्ध होगा।

इस अवसर पर केन्द्रीय कानून मन्त्री डा0 एम0 वीरप्पा मोईली व भारत के मुख्य चुनाव आयुक्त श्री एस0 वाई0 कुरैशी ने भी अपने विचार व्यक्त किए। संगोश्ठी में आए सभी अतिथियों का स्वागत उ0प्र0 राज्य सलाहकार परिशद के अध्यक्ष श्री सतीश चन्द्र मिश्र ने किया। धन्यवाद ज्ञापन मुख्य सचिव श्री अतुल कुमार गुप्ता ने किया। संगोश्ठी में मन्त्रीगण, सांसद, विधायक, विधिवेत्ता, वरिश्ठ अधिकारी, मीडिया के लोग एवं अन्य उपस्थित थे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

अम्बेडकर गांवों की कमियां जल्द दूर करें : जिलाधिकारी समीक्षा बैठक में अधिकारियों को दिये दिशा-निर्देश

Posted on 31 January 2011 by admin

सभी अधिकारी, कर्मचारी अपने कार्य पद्धति में बदलाव लाये। शासन की मंशा के अनुरूप जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ पात्र लाभार्थियों को समय से मुहैया करायें। डा0 अम्बेडकर ग्रामसभा में जो भी कमियां हैं, उसे हर हालत में तीन दिन के अन्दर पूरा करायें।

उक्त निर्देश जिलाधिकारी गौरव दयाल ने 96 अम्बेडकर गांवों के ग्राम विकास अधिकारी, ग्राम पंचायत अधिकारियों, सभी जिला स्तरीय अधिकारी/नोडल अधिकारियों, सभी उप जिलाधिकारियों एवं खण्ड विकास अधिकारियों की बैठक कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में दिये। उन्होंने अम्बेडकर गांव, इन्दिरा आवास, सुलभ शौचालय, स्वच्छ पेयजल, छात्रवृत्ति, सभी प्रकार की पेंशन, कार्यदायी संस्थाओं द्वारा कराये जा रहे निर्माण कार्य, सामुदायिक भवन, विद्युतीकरण, राशन कार्ड, नये पेंशन पात्र लाभार्थियों का चयन आदि के बारे में एक-एक करके अम्बेडकर गांव की गहन समीक्षा की तथा भौतिक स्थिति की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने सभी अपूर्ण कार्यो को पूर्ण करने के लिए 5 फरवरी तक का समय दिया। सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि समय से सभी कार्य पूर्ण कर लिये जाये। इसमें किसी प्रकार की शिथिलता या उदासीनता बरतने पर अधिकारी व कर्मचारी के प्रति दण्डात्मक कार्रवाई की जायेगी।

डीएम ने सभी उप जिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि अपने क्षेत्र के अम्बेडकर गांव का निरीक्षण कर यह देख लें कि कहीं भी चकरोड पर अवैध कब्जा तो नहीं है। किसी भी कार्यदायी संस्था द्वारा कराये जा रहे कार्य में कोई व्यवधान कर रहा है तो उसके प्रति प्राथमिकी दर्ज करायें तथा समय से निर्माण कार्य पूर्ण करायें। पूर्व प्रधानों द्वारा इन्दिरा आवास, सुलभ शौचालय का पैसा बैंक खाते से निकाल लेने के बावजूद अभी तक निर्माण कार्य पूर्ण न कराये जाने की जानकारी ग्राम विकास अधिकारी द्वारा दिये जाने पर सम्बन्धित उप जिलाधिकारी को निर्देश दिया कि उनके विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज कराकर धन वसूली करायें तथा कार्य पूर्ण करायें। अम्बेडकर गांव के निरीक्षण के लिए नोडल अधिकारी के अतिरिक्त 4 डिप्टी कलेक्टर अलग से लगाये हैं ताकि भौतिक जानकारी प्राप्त कर सम्बन्धित कार्य कराया जा सके।

अधिशासी अभियन्ता समाज कल्याण निर्माण निगम द्वारा अभी तक किसी भी सामुदायिक भवन पर छत न डाले जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि एक सप्ताह के अन्दर कार्य पूर्ण कराये अन्यथा निलंबन की कार्रवाई की जायेगी। सबसे ज्यादा रामपुर विकास खण्ड में अम्बेडकर गांव होने के कारण ज्वाइंट मजिस्ट्रेट/खण्ड विकास अधिकारी प्रकाश बिन्दु, उप जिलाधिकारी ओपी त्रिपाठी को विशेष रूप से निर्देशित किया कि सभी अम्बेडकर गांवों में एक सप्ताह में कार्य पूर्ण करायें। जिला समाज कल्याण अधिकारी आरके सिंह को निर्देशित किया कि आज तक नये पेंशन लाभार्थियों को मिलने वाली सूची पर तथा पूर्व लंबित पेंशनधारियों की पेंशन तत्काल स्वीकत कराकर उनके खाते में धन भेजना सुनिश्चित करें। अधिशासी अभियन्ता विद्युत मड़ियाहूं को निर्देशित किया कि अपने तीनों तहसीलों के अधूरे कार्य 5 फरवरी तक हर हालत में पूरा करायें। अधिशासी अभियन्ता विद्युत एससी त्रिपाठी एवं शुभचन्द झा को निर्देशित किया कि अपने सम्बंधित उप जिलाधिकारी के साथ विद्युत के अपूर्ण कार्य हर हालत में पूरा करायें। अधिशासी अभियन्त्रा ग्रामीण अभियन्त्रण एसएन पाण्डेय को निर्देशित किया कि सीसी रोड तथा नाली का कार्य पूर्ण करायें। महामाया आर्थिक मदद योजना, महामाया गरीब बालिका आशीर्वाद योजना, सावित्री बाई फूले बालिका शिक्षा मदद योजना की गहन समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने सम्बंधित अधिकारियों को निर्देश दिया कि सम्बंधित के खाते में समय से धनराशि पहुंच जाना चाहिए। जिला पंचायत राज अधिकारी, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी तथा जिला विकास अधिकारी को निर्देशित किया कि अधिशासी अभियन्ता विद्युत को सूची भेजे ताकि अपूर्ण कार्य पूर्ण कराया जा सके। मुख्य विकास अधिकारी महेन्द्र कुमार ने सम्बंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया।

जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि बिना मेरे पूर्व अनुमति के कोई भी अधिकारी मुख्यालय नहीं छोड़ेगा। उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी को निर्देशित किया कि अपने से सम्बंधित किसी भी अधिकारी को अवकाश स्वीकृत न करें। इस अवसर पर मुख्य राजस्व अधिकारी विजय बहादुर सिंह, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी डा0 राम नरायन यादव, कार्यक्रम अधिकारी जया त्रिपाठी सहित सम्बंधित विभाग के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

इस्पात मंत्री ने जगदीशपुर सेल इकाई (जेएसयू) की प्रगति की समीक्षा की

Posted on 30 January 2011 by admin

नई दिल्ली : श्री बेनी प्रसाद वर्मा, इस्पात मंत्री, भारत सरकार ने इस्पात मंत्रालय और सेल के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ लखनऊ में एक बैठक की और जगदीशपुर सेल इकाई  (उत्तर प्रदेश के जगदीशपुर में स्थित पूर्व मालविका स्टील) के जारी नवीनीकरण के कार्य की समीक्षा की। उन्होंने इस इकाई की स्थिति और प्रगति पर संतोष व्यक्त किया और जल्द पूरा होने जा रहे माल गोदाम तथा गल्वनाइज्ड शीट कारूगेशन यूनिट के लिए सेल टीम की सराहना की। इस बैठक के दौरान संयुक्त सचिव (इस्पात मंत्रालय) श्री यू पी सिंह, सेल अध्यक्ष श्री चन्द्र शेखर वर्मा, राऊरकेला इस्पात संयंत्र के प्रबंध निदेशक श्री एस एन सिंह और कोबे स्टील के प्रतिनिधि भी मौजूद थे।

review-meeting(दायें से बाएँ), माननीय इस्पात मंत्री श्री बेनी प्रसाद वर्मा लखनऊ में समीक्षा बैठक के बाद मीडिया से रूबरू होते हुये। तस्वीर में सेल अध्यक्ष श्री चन्द्र शेखर वर्मा और राऊरकेला इस्पात संयंत्र के प्रबंध निदेशक श्री एसएन सिंह दिखायी पड़ रहे हैं।

सेल अध्यक्ष श्री चन्द्र शेखर वर्मा जेएसयू के लिए प्रस्तावित रणनीति को रेखांकित किया और कहा कि नवीनीकरण का कार्य अपने निर्धारित कार्यक्रम के अनुरूप चल रहा है तथा यह इकाई जल्द ही सफलतापूर्वक काम करना शुरू कर देगा।

उल्लेखनीय है कि सेल ने उत्तर प्रदेश के जगदीशपुर में स्थित पूर्व मालविका स्टील की सम्पत्तियों का वर्ष 2009 में अधिग्रहण किया, जो जून 2010 में सेल के नाम के साथ पंजीकृत हुआ। इस ढांचे के नवीनीकरण तथा इस क्षेत्र के लोगों की तैयार वैल्यू एडेड प्रोडक्ट की मांग को पूरा करने के लिए पहले फेज में मुख्य रूप से चार यूनिट प्रस्तावित किये गए थे। इनमें से दो इकाइयां, पहला 12000 टन प्रति वर्ष की क्षमता का एक माल गोदाम और दूसरा 13000 टन प्रति वर्ष की क्षमता का गल्वनाइज्ड शीट कारूगेशन यूनिट अंतिम चरण में हैं और शीघ्र ही चालू हो जाएगें। मौजूदा चरण के दो अन्य यूनिट, जिसमें पहला 150000 टन प्रति वर्ष का क्षमता का टीएमटी बार मिल और 10000 टन प्रति वर्ष की क्षमता का क्रैश बैरियर मैनुफैक्चरिंग यूनिट अपने निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार प्रगति पर हैं तथा नवंबर 2011 तक पूरे कर लिये  जाएगें। जीपी शीट्स, बिलेट्स और एचआर शीट्स के लिए इनपुट सेल के कार्य कर रहे सन्यत्रों से प्राप्त किया जाएगें । तैयार उत्पाद की सड़क मार्ग के जरिये आपूर्ति की जाएगी। फेस-2 के लिए जापान के मेसर्स कोबे स्टील के साथ विचार विमर्श चल रहा है। इस बातचीत के लिए एक संयुक्त टास्क फोर्स टीम का गठन किया गया है, जो मार्च 2011 तक अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगा। 1000 मेगावाट गैस आधारित पॉवर संयंत्र और डायरेक्ट रिड्यूस्ड आयरन मेकिंग (गैस आधारित) तथा इलेक्ट्रिक आर्क फर्नेस जैसी तकनीकों पर आधारित इस्पात उत्पादन और वैल्यू एडेड प्रोडक्ट के निष्पादन की योजना पर विचार किया जा रहा है। सेल जगदीशपुर में और उसके आसपास अनेकों निगमित सामाजिक दायित्व कार्यक्रमों को कार्यान्वित कर रहा है। परिसर के अंदर स्थित स्कूल में खेल के मैदान के साथ साथ  मूलभूत सुविधाओं का भी विकास किया जा रहा है। स्कूल में 210 विद्यार्थियों के नाम दर्ज कराये गए हैं और वे शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं। पास के स्कूल और गांवों में नियमित रूप से स्वास्थ्य शिवरों का आयोजन किया जाता है और जरूरी दवाइयाँ बांटी जाती हैं। एक डॉक्टर और दो फार्मासिस्ट के साथ चिकित्सा एवं स्वास्थ्य  केंद्र चलाया जा रहा है। इसके साथ ही एक एंबुलेंस भी संचालित की जा रही है। स्वास्थ्य केंद्र में प्रतिदिन अनेक मरीजों का निरीक्षण और निशुल्क: उपचार किया जाता है।

उत्तर प्रदेश में औद्योगिक विकास के लिए सेल बाराबंकी/गोंडा में एक स्टील प्रोसेसिंग यूनिट की संभावना की जांच कर रहा है।


Vikas Sharma
Editor
www.upnewslive.com , www.bundelkhandlive.com ,
E-mail : vikasupnews@gmail.com  , editor@bundelkhandlive.com
Ph-09415060119

Comments (0)

राष्ट्रीय एकता यात्रा

Posted on 30 January 2011 by admin

श्रीनगर के लाल चौक पर 26 जनवरी को उ0प्र0 के तीन कार्यकर्ताओं ने अपने हाथ में तिरंगा लेकर राष्ट्रगान गाते हुये झण्डा लहराया। जिन्हें जम्मू सरकार पूलिस ने बर्बरतापूर्वक पीटा तथा उनके उत्पीड़न में थर्ड डिग्रZी का उपयोग किया। जैसा अंग्रेजों के ‘ाासन काल में होता था।

श्री द्विवेदी ने बताया कि `राष्ट्रीय एकता यात्रा´ ने 15 जनवरी को उत्तर प्रदेश की सीमा में प्रवेश किया जहां प्रदेश के नौजवानों ने ऐतिहासिक स्वागत किया। यात्रा उ0प्र0 में 4 दिनों तक रही। यात्रा का सैकड़ों स्थानों पर भव्य स्वाागत हुआ तथा गाजीपुर, बनारस, बदलापुर, अमेठी, लखनऊ, उन्नाव, कानपुर, उरई, झांसी, आगरा, मथुरा में संकल्प सभा आयोजित की गई। सभा में मुख्य रूप से मा0 अनुराग ठाकुर, मा0 कलराज मिश्र, मा0 राजनाथ सिंह, मा0 अरूण जेटली, मा0 सूर्य प्रताप शाही, मा0 अनन्त कुमार, मा0 नरेन्द्र सिंह तोमर, मा0 नवजोत सिंह सिद्धू सहित देश के प्रमुख नेताओं ने संबोधित किया। यात्रा के दौरान प्रदेश के लाखों कार्यकर्ताओं ने यात्रा का स्वागत किया।

श्री द्विवेदी ने बताया कि जम्मू कश्मीर में उ0प्र0 के लगभग 6 हजार कार्यकर्ता पहुंचे जिसमें से सैकड़ो कार्यकर्ता श्रीनगर पहुंचे उसमें से तीन कार्यकर्ता लाल चौक पर पहुंचे जिनके नाम श्री राजेश चौधरी राष्ट्रीय मन्त्री, भाजयुमो, मथुरा के के0के0 उपाध्याय एवं जेनेन्द्रधर द्विवेदी, मुगलसराय चन्दौली है।
श्री द्विवेदी ने प्रदेश के सभी कार्यकर्ताओं, नौजवानो, युवा मोर्चा के पदाधिकारियों तथा मीडिया के सभी मित्रों का `राष्ट्रीय एकता यात्रा´ में सहयोग करने के लिये हादिZक आभार एवं धन्यवाद व्यक्त किया।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

कानून और व्यवस्था की स्थिति निकृष्ट

Posted on 30 January 2011 by admin

बेहतर कानून व्यवस्था का नारा देकर प्रदेश में सत्ता में आयीं मुख्यमन्त्री सुश्री मायावती के शासन के अन्तिम वर्ष में कानून और व्यवस्था की स्थिति इतनी निकृष्ट हो गई है कि महिलाओं पर होने वाले अत्याचार, बलात्कार के मामलों में उ0प्र0 में रिकार्ड टूट गया है। रोजाना प्रदेश की राजधानी लखनऊ सहित प्रदेश के किसी न किसी जिले में दलित लड़कियों, महिलाओं के साथ होने वाले बलात्कार, हत्या की खबरें मुख्य सुर्खियां बन रही हैं।

प्रदेश कंाग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुबोध श्रीवास्तव ने आज यहां जारी बयान में कहा कि कहा कि सबसे दु:खद तो यह है कि कानून और व्यवस्था की बिगड़ती स्थिति को सुधारने के बजाय जघन्य अपराधों में लिप्त बसपा के विधायकों एवं नेताओं को क्लीन चिट दे दी जाती है जिसके परिणामस्वरूप अपराध में बेतहाशा वृद्धि हो रही है। इन अपराधों में कहीं न कहीं बसपा के शीर्ष नेताओं का हाथ भी शामिल रहता है जिसके कारण सबसे पहले तो घटना को दबाने का प्रयास किया जाता है यदि मामला नहीं दब पाता तो मुख्य आरोपी को क्लीन चिट दे दी जाती है। प्रदेश की बसपा सरकार के दबाव में शासन द्वारा अभी हाल ही में हुई घटना में मन्त्री श्री राकेशधर त्रिपाठी एवं उनके भतीजे को बिना किसी विवेचना के क्लीनचिट दे दी गई। गौरतलब है कि मन्त्री राकेशधर त्रिपाठी को लोकायुक्त द्वारा भी भ्रष्टाचार के लिए जांच के दायरे में लिया गया है। इटावा के विधायक श्री शिव प्रसाद यादव को भी जेल भेजने के बजाय पीड़िता को ही जेल में बन्द रखा गया है। बान्दा में विधायक पुरूषोत्तम नरेश द्विवेदी को भी शीलू बलात्कार काण्ड में सबसे पहले क्लीनचिट दी गई, किन्तु कांग्रेस पार्टी द्वारा आन्देालन करने के बाद अन्तत: बसपा विधायक को जेल जाना पड़ा। इसी प्रकार कानूनगो राम कुमार यादव की हत्या में तो नामजद इसौली के बसपा विधायक चन्द्रभद्र सिंह उर्फ सोनू सिंह क्लीनचिट दे गई। लखनऊ में दलित बालिका आरती एवं फिरोजाबाद में दलित बालिका के साथ हुए बलात्कार एवं हत्या की घटनाएं प्रदेश की बहुजन समाज पार्टी की सरकार में हो रहीं दलित महिलाओं की हत्या एवं बलात्कार का ताजा उदाहरण है।

श्री श्रीवास्तव ने कहा कि बसपा सरकार में हत्या एवं बलात्कार जैसे जघन्य मामलों में प्रदेश सरकार द्वारा सबसे पहले इसे दबाने का प्रयास किया गया। बसपा सरकार के दौरान फैजाबाद जिले की मिल्कीपुर के विधायक और तत्कालीन मन्त्री आनन्द सेन यादव पर शशि की हत्या का अरोप लगा, जिसमें श्री यादव को जेल जाना पड़ा। बुलन्दशहर जिले की डिबाई सीट के बसपा विधायक भगवान शर्मा उर्फ गुड्डू पण्डित पर शोध छात्रा शीतल बिड़ला के यौन उत्पीड़न के आरोप में जेल की हवा खानी पड़ी। बदायूं जिले के बिल्सी क्षेत्र के बसपा विधायक योगेन्द्र सागर पर बीए की छात्रा ज्योति शर्मा के साथ दुष्कर्म का आरोप लगा। राज्यमन्त्री दर्जा प्राप्त मत्स्य विकास निगम के चेयरमैन राम मोहन गर्ग ने सीमा चौधरी की अश्लील सीडी बनाकर लगातार उसके साथ पांच साल तक दुष्कर्म किया। एससी, एसटी आयोग के चेयरमैन श्रीनाथ को भी एक महिला के आरोपों के चलते ही पद छोड़ना पड़ा था। उपरोक्त मामलों में उल्लेखनीय यह रहा कि अधिकतर मामलों में राजनीतिक दलों केा आन्दोलन करना पड़ा।

श्री श्रीवास्तव ने कहा कि प्रदेश सरकार के रवैये से यह साबित हो गया है कि उसने अपने विधायकों/नेताओं को अपराध, बलात्कार, दुष्कर्म करने की खुली छूट दे रखी है। प्रदेश की कानून व्यवस्था पूरी तरह से अपराधियों के रहमोकरम पर छोड़ दी गई है। अपराधियों को अपने दल से बाहर का रास्ता दिखाने का दावा करने वाली प्रदेश की मुख्यमन्त्री स्वयं घृणित अपराधों में लिप्त अपनी पार्टी के नेताओं को खुला संरक्षण दे रही हैं। आम आदमी की जिन्दगी पूरी तरह असुरक्षित हो गई है और प्रदेश की जनता त्राहि-त्राहि कर रही है।

मुख्य प्रवक्ता ने कहा कि प्रदेश की बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर प्रदेश सरकार को घेरने हेतु रणनीति तय करने के लिए कंाग्रेस के जिला-शहर अध्यक्षों की बैठक आगामी 08फरवरी को लखनऊ में बुलाई गई है।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

मन्त्री विधायकों व अधिकारियों के काले कारनामे अब जनता के सामने उजागर होने लगे हैं

Posted on 30 January 2011 by admin

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सूर्य प्रताप शाही ने बसपा सरकार पर लोकतन्त्र की हत्या करने का आरोप लगाया है।  श्री शाही ने कहा कि प्रदेश में बिगड़ी कानून-व्यवस्था व भ्रष्टाचार को लेकर आवाज उठाने वाले लोगों के विरूद्ध सरकार दमनात्मक कार्रवाई कर रही है।  प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कल आगरा में शान्तिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे भाजपा कार्यकर्ताओं के विरूद्ध आपराधिक धाराओं में मुकदमा दर्ज कर उनकी गिरफ्तारी किये जाने की निन्दा करते हुये कहा कि बसपा सरकार अपने काले कारनामों का उजागर करने वाले भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ अपराधियों जैसा व्यवहार कर रही है।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सूर्य प्रताप शाही ने पार्टी मुख्यालय में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि पूरे प्रदेश में हत्या, लूट व बलात्कार की घटनाएं बेतहाशा बढ़ रही हैं सरकार में बैठे मन्त्रियों को भ्रष्टाचार के मामले में लोकायुक्त ने दोषी पाया है। ´सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय´ का नारा देने वाली बसपा सरकार मन्त्री विधायकों व अधिकारियों के काले कारनामे अब जनता के सामने उजागर होने लगे हैं। श्री शाही ने कहा कि कल आगरा में बिगड़ी कानून व्यवस्था व भ्रष्टाचार को लेकर भाजपा कार्यकर्ता शान्तिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे थे। हजारों की तादाद में मौजूद भाजपा कार्यकर्ताओं को मिले जन समर्थन से बौखलाई राज्य सरकार के निर्देश पर स्थानीय पुलिस ने भाजपा सांसद प्रो0 रामशंकर कठेरिया सहित कई अन्य कार्यकर्ताओं के विरूद्ध विभिन्न आपराधिक धाराओं में मुकदमा दर्ज कर उनकी गिरफ्तारी शुरू कर दी।

श्री शाही ने कहा कि बसपा सरकार के तमाम मन्त्री, विधायकों व नेताओं के नाम बलात्कार, हत्या व अपहरण जैसी संगीन मामलों में आते रहे हैं लेकिन उनके विरूद्ध कार्यवाही करने में सदैव कोताही बरती गई। लेकिन लोकतान्त्रिक तरीके से सरकार की जनविरोधी नीतियों का विरोध कर रहे भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ पुलिस अपराधियों जैसा बर्ताव कर रही है। श्री शाही ने राज्य सरकार को चेतावनी देते हुये कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं पर दर्ज फर्जी मुकदमें तत्काल वापस लेते हुये इस पूरे मामले के दोषी पुलिस अधिकारियों के विरूद्ध कठोरतम कार्रवाई करे।

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सूर्य प्रताप शाही ने महोबा के किसान रामविलाश उर्फ बब्बू द्वारा मिट्टी का तेल छिड़ककर आत्महत्या करने की घटना को सरकार द्वारा किसानों के उत्पीड़न और अपमान का परिणाम बताया है। श्री शाही ने कहा कि प्रदेश की भ्रष्टतम सरकार के कार्यकाल में किसानों को निरंकुश सरकारी अधिकारियों द्वारा उत्पीड़ित एवं अपमानित किया जा रहा है। अन्नदाता की जायज मांगोंे तक को इस भ्रष्ट सरकार में अनसुना कर दिया जाता है। प्रदेश का प्रशासन बेकाबू तथा संवेदनहीन है। परिणामस्वरूप महोबा में किसान बब्बू द्वारा पूर्व में आत्मदाह की सूचना के बाद भी अनसुना कर उसे उकसाया गया।

श्री शाही ने सार्वजनिक स्थल पर मिट्टी का तेल डालकर आग लगाने को किसानों की हताशा की पराकाष्ठा बताया। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि किसान बब्बू की मौत बसपा सरकार के ताबूत में आखिरी कील साबित होगी। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि मंहगाई, भ्रष्टाचार तथा प्रशासनिक निरंकुशता के चलते प्रदेश का किसान हताश एवं निराश है। इसी निराशा के कारण बरेली के किसान श्यामलाल ने आत्महत्या कर ली तथा महोबा के बब्बू ने मिट्टी का तेल डालकर आग लगाई जिसके परिणामस्वरूप उसकी दर्दनाक मौत हो गई। श्री शाही ने पीड़ित किसान के परिजनों को 5 लाख रू0 मुआवजा एवं उसके परिवार के एक सदस्य को नौकरी तथा मामले में दोषी अधिकारियों को निलिम्बत कर उनके विरूद्ध कठोर कार्रवाई किये जाने की मांग की है।

प्रदेश प्रवक्ता डा0 मनोज मिश्र ने बताया कि प्रदेश अध्यक्ष सूर्य प्रताप शाही के निर्देश पर प्रदेश उपाध्यक्ष स्वतन्त्रदेव सिंंह तथा किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष सुशील शाक्य, पुष्पेन्द्र चन्देल तथा जिलाध्यक्ष चक्रपाणि घटनास्थल पर गये हुये हैं।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

खादी उत्सव-2011 - प्रदशZनी में अब तक लगभग 20 लाख रुपये की बिक्री

Posted on 30 January 2011 by admin

`बाप रे बाप´ हास्य नाटक का मंचन कल

स्थानीय कािल्वन ताल्लुकेदार्स कालेज ग्राउण्ड में चल रही “खादी उत्सव-2011´´ प्रदशZनी में अब तक लगभग 20 लाख रुपये की बिक्री हुई है। यह जानकारी उ0प्र0 उपमुख्य कार्यपालक अधिकारी उ0प्र0 खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड श्री ए0के0द्विवेदी ने आज यहां दी। उन्होंने बताया कि कल रविवार को खादी उत्सव में हास्य नाटक `बाप रे बाप´ का भी मंचन किया जायेगा।

आगामी 5 फरवरी तक चलने वाली इस प्रदशZनी में लोगों की तादात दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। मुजफ्फरनगर की संस्था के श्री अब्बास अली अंसारी द्वारा बताया गया कि कॉटन कपड़े पर हाथ से काम किये हुए चादरों की पहली बार किसी प्रदशZनी में प्रदशZन किया जा रहा है जिसकी जमकर बिक्री हो रही है और इसकी मांग बढ़ती जा रही है। इसी प्रकार सीतापुर के खैराबाद में निर्मित सूती दरी की काफी मांग आ रही है। प्रदशZनी में खादी तथा खादी निर्मित परिधानों, आयुर्वेदिक औशधियांं, शुगर फ्री कैण्डी, हेल्थ प्रोडक्ट रेंज, कॉस्मेटिक रेंज, ऑवला उत्पाद, प्रशोधित फल उत्पाद, चमड़े के उत्पाद तथा रेशमी तथा ऊनी परिधानों की भरभूर बिक्री हो रही है। बच्चे भी प्रदशZनी का पूरा लुत्फ उठा रहे हैं।

प्रदशZनी में त्रिफला आयुर्वेदिक संस्थान के वैद्य जयशंकर शुक्ला द्वारा नि:शुल्क नाड़ी निदान से कुछ असाध्य रोगों के इलाज के सम्बंध में लोगों को जागरूक भी किया जा रहा है।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

बी0एस0पी0 ने हरियाणा की कांग्रेस सरकार से मिर्चपुर गांव के दलितों को पूरी सुरक्षा प्रदान करने की पुरजोर मांग की

Posted on 30 January 2011 by admin

मिर्चपुर में दलितों पर पिछले वशZ हुए गम्भीर उत्पीड़न के बावजूद हरियाणा सरकार ने इनकी सुरक्षा का कोई पुख्ता इन्तजाम नहीं किया
मिर्चपुर के दलित भय और आतंक के माहौल के कारण पलायन को मजबूर
अनुसूचित जाति के हितों के नाम पर बड़े-बड़े बयान देने वाले लोग दिल्ली से महज 150 किमी0 दूर रह रहे इन दलितों को न्याय दिलायें

बहुजन समाज पार्टी के प्रवक्ता ने हरियाणा राज्य की कांग्रेस सरकार से हिसार जिले के मिर्चपुर गांव के दलितों को पूरी सुरक्षा प्रदान करने की पुरजोर मांग की है। उन्होंने कहा है कि पिछले वशZ अप्रैल माह में इस गांव में दलितों के खिलाफ हुई उत्पीड़न की गम्भीर घटना के बावजूद हरियाणा सरकार ने वहां के दलितों की सुरक्षा के लिए कोई पुख्ता इन्तजाम नहीं किया, जिसके चलते यह लोग आज भी भय और आतंक के माहौल में रहने के लिए मजबूर हैं। उन्होंने कहा कि पूरे देश में अनुसूचित जाति के हितों के नाम पर आए-दिन मीडिया में बड़े-बड़े बयान देने वाले लोगों को चाहिए कि वे राश्ट्रीय राजधानी दिल्ली से महज 150 किलोमीटर की दूरी पर रह रहे इन दलितों को न्याय दिलायें।

बी0एस0पी0 प्रवक्ता ने कहा कि यह अत्यन्त दुर्भाग्यपूर्ण है कि दबंगों और बाहुबलियों के जुल्म और अत्याचार का िशकार हुए मिर्चपुर गांव के दलितों को आज तक न्याय नहीं मिला है। वहां की स्थिति आज भी इतनी बद्तर है कि मिर्चपुर और आस-पास के इलाकों के अनुसूचित जाति के लोग अपनी जान-माल की हिफाजत को लेकर सशंकित हैं, जिसके चलते वे अपने घरों में रहने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे और वहां से पलायन कर हिसार में विस्थापितो की तरह रह रहे हैं।

पार्टी प्रवक्ता ने कहा कि विभिन्न राजनीतिक दलों के नेता, दलितों के हितों को लेकर अपनी आवाज उठाने वाली संस्थाओं, विभिन्न आयोगों तथा कानून के रखवालों को चाहिए कि वे तत्काल कांग्रेस पार्टी के शासन वाले हरियाणा राज्य के दलितों को न्याय दिलाने के लिए अपनी आवाज बुलन्द करें क्योकि हरियाणा सरकार दोशियों के खिलाफ सख्त कार्यवाई करने की हिम्मत नही जुटा पा रही है। इसके साथ ही दलितों के हितों को संरक्षण देने के लिए हमेशा तत्पर रहने वाले कानून के इन रखवालों को चाहिए कि वे हरियाणा की कांग्रेस सरकार को दलितों की पूरी सुरक्षा सुनििश्चत करने के लिए बाध्य करें।

बी0एस0पी0 प्रवक्ता ने कहा कि कांग्रेस शासित हरियाणा राज्य में दलित उत्पीड़न का लम्बा इतिहास रहा है। उन्होंने कहा कि मौजूदा हरियाणा सरकार के शासन में दलितों के खिलाफ अत्याचार की घटनाओं में भारी इजाफा हुआ है। उन्होंने कहा कि आजादी के छ: दशकों के बाद भी हरियाणा में दलितों सहित समाज के अन्य कमजोर वर्गों की सुरक्षा की कोई कारगर व्यवस्था नहीं है। हरियाणा में स्थिति इतनी खराब है कि दलितों की सुरक्षा के मामले में माननीय न्यायालय को हस्तक्षेप करना पड़ा है।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

महामहिम राज्यपाल एवं माननीया मुख्यमन्त्री जी की उपस्थिति में बीटिंग द रिट्रीट समारोह सम्पन्न

Posted on 30 January 2011 by admin

untitled-13सेना और पी0ए0सी0 के बैण्डों ने प्रस्तुत की देशभक्ति से ओत-प्रोत मधुर धुने

उत्तर प्रदेश के महामहिम राज्यपाल श्री बी0एल0 जोशी तथा माननीया मुख्यमन्त्री सुश्री मायावती जी की उपस्थिति में आज यहां रिजर्व पुलिस लाइन में परिसमाप्ति समारोह (बीटिंग द रिट्रीट) आयोजित किया गया।

इस अवसर पर ए0एम0सी0 मिलीट्री बैण्ड, गढ़वाल रायफल, 39जी0टी0सी0, ए0एम0सी0 सेन्टर, 19गढ़वाल, राजपूत रेजीमेन्ट ब्रास एवं पाइप बैण्ड, जम्मू एण्ड काश्मीर रायफल, डोगरा रेजीमेन्ट, गढ़वाल मिलीट्री बैण्ड, एस0एस0बी0 तथा 35वीं वाहिनी पी0ए0सी0 की बैण्ड  टोलियों द्वारा देशभक्ति से ओत-प्रोत मधुर धुनों का आकर्षक प्रस्तुतीकरण किया गया।

इस अवसर पर मन्त्रिमण्डलीय सचिव श्री शशांक शेखर सिंह, मुख्य सचिव श्री अतुल कुमार गुप्ता, पुलिस महानिदेशक श्री करमवीर सिंह, सहित शासन और प्रशासन के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

वशZ 2009-10 के विज्ञान पुरस्कारों का वितरण, इस वशZ अधिक संख्या में वैज्ञानिक सम्मानित किये गये

Posted on 30 January 2011 by admin

वैज्ञानिक खोजों को गांव-गांव तक पहुंचाया जायेगा -अब्दुल मन्नान

प्रदेश के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मन्त्री श्री अब्दुल मन्नान द्वारा आज सर सी.वी.रमन प्रेक्षागृह, विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी परिशद नबीउल्लाह रोड, लखनऊ में  आयोजित एक भव्य समारोह में प्रदेश में जन्मे या प्रदेश में 10 वशZ कार्य किये हुये वैज्ञानिकों, युवा वैज्ञानिकों, बाल वैज्ञानिकों, विज्ञान िशक्षकों, नव अन्वेशकों एवं हाई स्कूल एवं इण्टर की बोर्ड परीक्षाओं में विज्ञान विशय में  सर्वोच्च अंक प्राप्त करने वाले छात्र/छात्राओं को सम्मानित किया गया।

वशZ 2009-10 का विज्ञान गौरव पुुरस्कार इस वशZ 02 वैज्ञानिकों इंटरनेशनल सेन्टर फार जेनेटिक इंजीनियरिंग एण्ड बायोटेक्नालॉजी नई दिल्ली के वरिश्ठ वैज्ञानिक डा0 नरेन्द्र टुटेजा एवं प्रोफेसर एण्ड हेड, डिपार्टमेंट यूरोलाजी एण्ड रीनल ट्रान्सप्लाण्टेशनल, संजय गांधी प्रोस्ट ग्रेजुऐट, इंस्टीटृटूयट आफ मेडिकल साइंसेज लखनऊ के डा0 राकेश कपूर को प्रदान किया गया। विज्ञान गौरव सम्मान इस वशZ 01 वैज्ञानिक के स्थान पर 02 वैज्ञानिकों को दिया गया। इस सम्मान के अन्तर्गत प्रत्येक वैज्ञानिक को एक लाख रुपये की धनरािश, सम्मान पत्र, स्मृति चिन्ह एवं शाल देकर सम्मानित किया गया।

श्री मन्नान ने विज्ञान रत्न सम्मान से डा0 आदित्य भूशण पन्त साइंटिस्ट, इंण्डियन इंस्टीटृयूट आफ टाक्सीकालोजी रिसर्च लखनऊ, डा0 अजय कुमार सिंह रावत, हेड, फार्माकोग्नोसी एवं ईथनोफ्रार्माकालोजी डिवीजन, नेशनल बाटनीकल रिसर्च इंस्ट्यूट लखनऊ, डा0 मोहम्मद अनीस, प्रोफेसर एण्ड प्रोग्राम कोआर्डिनेटर, प्लान्ट बायोटेक्नालॉजी लेबोरट्री, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय, अलीगढ़, डा0 मधु दीक्षित, हेड, डिवीजन आफ फार्माकालोजी, सेन्ट्रल ड्रग रिसर्च इंस्टीट्यूट लखनऊ, डा0 मनोज कुमार, असिस्टेन्ट प्रोफेसर, डिपार्टमेंट आफ रेडियोडायग्नोसिस, छत्रपति साहू जी महाराज मेडिकल यूनिवर्सिटी, लखनऊ, डा0 आर0डी0त्रिपाठी, ग्रुप लीडर, इकोटाक्सीकालोजी एण्ड बायोरेमिडिएशन ग्रुप, नेशनल बोटनीकल रिसर्च इंस्टीट्यूट, लखनऊ, डा0 ऋशि शंकर, साइंटिस्ट-एफ, इण्डियन इंस्टीट्यूट आफ टाक्सीकालोजी रिसर्च, लखनऊ को दिया गया। इस वशZ 05 वैज्ञानिकों के स्थान पर 07 वैज्ञानिकों को इस पुरस्कार से नवाजा गया। पुरस्कार स्वरूप प्रत्येक वैज्ञानिक को 50,000 रुपये की धनरािश, सम्मान पत्र, स्मृति चिन्ह एवं शाल दिया गया।

युवा वैज्ञानिक सम्मान अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के रिसर्च एसोसिएट डा0 ईरम सिद्दीकी, साइंटिस्ट सी, डिफेन्स इंस्टीटृयूट आफ फिजियोलाजी एण्ड एलाईड साइंसेज दिल्ली के डा0 कमला प्रसाद मिश्रा, इको टोक्सीकालोजी एण्ड बायोरेमिडिएशन ग्रुप नेशनल बोटनीकल रिसर्च इंंस्टीट्यूट, लखनऊ के  श्री मृदुल कुमार शुक्ला, यंग साइंटिस्ट, डिपार्टमेंट आफ बोटनी अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय, अलीगढ़ के डा0 नसीम अहमद, साइंटिस्ट-ई-1, फार्माकाग्नोसी एवं ईथनोफ्र्रार्माकालोजी डिवीजन नेशनल बोटनीकल रिसर्च इंस्टीट्यूट लखनऊ के डा0 शरद कुमार श्रीवास्तव, रिसर्च साइंटिस्ट डिपार्टमेंट आफ फार्माकाग्नोसी, फैकल्टी आफ फार्मेसी जामिया हमदर्द नई दिल्ली की युवा वैज्ञानिक डा0 तमन्ना जहांगीर, अिस्स्टेन्ट प्रोफेसर, आर्गनिक केमिस्ट्री, डिपार्टमेंट आफ कमेस्ट्रिी  बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के डा0 विनोद कुमार तिवारी  को प्रदान किया गया। इस वशZ 05 वैज्ञानिकों के स्थान पर 07 युवा वैज्ञानिकों को सम्मानित किया गया। इनको रु0 25,000/- धनरािश, सम्मान पत्र, स्मृति चिन्ह एवं शाल से सम्मानित किया गया।

बाल वैज्ञानिक सम्मान सचिन शर्मा एम.डी.जैन इण्टर कालेज आगरा   श्री कु0 वसुन्धरा सिंह, क्रासवेट गल्र्स इण्टर कालेज, श्री शुभम गुप्ता, राजा ज्वाला प्रसाद आर्य इण्टर कालेज बिजनौर, कु0 मानसी शर्मा डा0 सुदामा प्रसाद कन्या इण्टर कालेज शाहजहांपुर,  श्री अभिशेक यादय, आचार्य मेमोरियल स.ग्यान मन्दिर इण्टर कालेज इटावा को प्रदान किया गया। इन बाल वैज्ञानिकों को रु0 10,000/- धनरािश, सम्मान पत्र एवं स्मृति चिन्ह से सम्मानित किया गया।

विज्ञान िशक्षक सम्मान श्री राजेश्वर प्रसाद लेक्चरर, चित्रकूट इण्टर कालेज, चित्रकूट, डा0 राथीन्द्र कृश्णा मित्रा, लेक्चरर इन फिजिक्स, माउण्ट फोर्ड इण्टर कालेज, लखनऊ, श्रीमती उमा शर्मा, लेक्चरर इन बायलाजी, गवर्नमेंट इण्टर कालेज, एटा, श्रीमती योगिता मेहरोत्रा, कम्प्यूटर सांइस टीचर, स्प्रींग डेल कालेज, एलडीए कालोेनी, लखनऊ को प्रदान किया गया। इन विज्ञान िशक्षकों को रु0 25,000/- धनरािश, सम्मान पत्र, स्मृति चिन्ह एवं शाल से सम्मानित किया गया।

नव अन्वेशक सम्मान श्री रामसरन वर्मा ग्राम दौलतपुर, पोस्ट जैदपुर जि0 बाराबंकी को दिया गया। इस सम्मान के अन्तर्गत उन्हें रु0 25,000/-धनरािश, सम्मान पत्र, स्मृति चिन्ह एवं शाल से सम्मानित किया गया।

इनके अतिरिक्त हाई स्कूल के विभिन्न बोडोZं में विज्ञान विशयों में सर्वोच्च अंक प्राप्त करने वाले 1020 विद्यार्थियों के मध्य रु0 2.50 लाख की धनरािश तथा इण्टरमीडिएट स्तर में विज्ञान विशयों में सर्वोच्च अंक प्राप्त करने वाले 268 विद्यार्थियों के मध्य रु0 5.00 लाख की धनरािश बराबर वितरित की गई।

समारोह की अध्यक्षता करते हुए विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी मन्त्री श्री अब्दुल मन्नान ने अपने सम्बोधन में कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा वैज्ञानिक अनुसंधानोंं तथा वैज्ञानिक गतिविधियों को गांव-गांव तक पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है इसी उद्देश्य से प्रदेश में 03 नक्षत्रशालायें स्थापित की गई हैं तथा 02 मोबाइल नक्षत्रशालाओं द्वारा साइंZस फिल्में आदि दिखाकर दूर-दराज के क्षेत्रों में भी लोगों में वैज्ञानिक जागरूकता लाई जा रही है तथा तमाम अन्धविश्वासों को दूर किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा वरिश्ठ वैज्ञानिकों को सम्मानित करने के साथ ही उन लोगों को भी सम्मानित किया गया है जिनके द्वारा विज्ञान विशय की विधिवत िशक्षा न लिये जाने के बावजूद कृशि आदि क्षेत्रों में वैज्ञानिक अनुसंधान किये गये हैं इससे निश्चय ही विज्ञान के प्रति लोगों में रूचि बढ़ेगी तथा उन्हें नये-नये वैज्ञानिक प्रयोगों की प्ररेणा मिलेगी।

समारोह में प्रमुख सचिव श्री बी.एम.मीना, निदेशक विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी परिशद डा0 एम.के.जे.सिद्दीकी, संयुक्त निदेशक श्री आई.डी.राम, परिशद के समस्त वैज्ञानिक अधिकारियों के साथ ही पुरस्कृत वैज्ञानिक, विभिन्न संस्थानों में कार्यरत वैज्ञानिक, िशक्षक, अभिभावक तथा स्कूली छात्र/छात्रायें उपस्थित थे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

January 2011
M T W T F S S
« Dec   Feb »
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31  
-->









 Type in