*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | चंदौली

मुगलसराय रेलवे स्टेशन का नाम स्व0 लाल बहादुर शास्त्री के नाम पर रखने की मांग

Posted on 22 July 2017 by admin

मुगलसराय रेलवे स्टेशन का नाम पूर्व प्रधानमंत्री स्व0 लाल बहादुर शास्त्री जी के नाम रखने को लेकर काफी दिनों से स्थानीय कंाग्रेसजनों एवं सामाजिक संगठनों द्वारा की जा रही मांग के बावजूद मुगलसराय स्टेशन का नाम पं0 दीन दयाल उपाध्याय रखने का प्रस्ताव प्रदेश सरकार द्वारा केन्द्र सरकार के रेल मंत्रालय को भेजने के विरोध में जिला एवं शहर कांग्रेस कमेटी चंदौली, स्थानीय कंाग्रेसजनों एवं सामाजिक संगठनों द्वारा विरोध प्रदर्शन किया गया। आज प्रदेश कंाग्रेस मुख्यालय में प्रदेश कंाग्रेस अध्यक्ष को सम्बोधित ज्ञापन उ0प्र0 कंाग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष श्री दिग्विजय सिंह के नेतृत्व में चंदौली के कंाग्रेसजनों द्वारा सौंपकर मुगलसराय रेलवे स्टेशन का नाम स्व0 लाल बहादुर शास्त्री के नाम पर रखने की मांग की गयी।

प्रदेश कंाग्रेस के प्रवक्ता कृष्णकान्त पाण्डेय ने आज जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि ज्ञापन में कहा गया है कि स्व0 लाल बहादुर शास्त्री का ननिहाल मुगलसराय में रहा है तथा उनका सारा बचपन वहां बीता है इसलिए मुगलसराय स्टेशन का नाम उनके नाम पर ही रखा जाना चाहिए।
श्री पाण्डेय ने बताया कि प्रतिनिधिमंडल में प्रमुख रूप से प्रदेश कंाग्रेस के उपाध्यक्ष श्री दिग्विजय सिंह, चंदौली के जिलाध्यक्ष श्री देवेन्द्र प्रताप सिंह, शहर अध्यक्ष श्री रामजी गुप्ता, डा0 डी0के0 पाण्डेय आदि प्रमुख रहे।

Comments (0)

धान जिलाधिकारी कार्यालय में ठूँस देगंे-डाॅ0 लक्ष्मीकान्त बाजपेयी

Posted on 20 December 2012 by admin

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डा0 लक्ष्मीकांत बाजपेयी के नेतृत्व में सर पर धान की बोरी लेकर जुलूस की शक्ल में आलू मील सेे कचेहरी होते हुए जिलाधिकारी कार्यालय के सामने धरना एवं सभा की गयी। राज्यपाल को सम्बोधित चार सूत्रीय मांग पत्र जिलाधिकारी को सौंपा गया तथा अविलम्ब धान खरीदने के लिए कहा गया।
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकान्त बाजपेयी ने कहा कि दुर्भाग्य है कि प्रदेश का किसान खुशहाल नहीं है। यह देश की नीति किसानों के बजाय उद्योगपती कर रहे हैं। प्रदेश की सपा सरकार ने अपने घोषणा पत्र में गन्ना, धान और गेहूँ के समर्थन मूल्य के लिए किसानों की प्रमुखता की बात कही थी, लेकिन यह सरकार सिर्फ धोखा दे रही है। उन्होंने कहा कि सरकार ने चंदौली के किसानों का धान क्रय नहीं किया तो ’’धान जिलाधिकारी कार्यालय में ठूँस दिया जायेगा।’’ किसानों की लड़ाई को विजयी मोड़ तक पहुँचाने का अश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि गन्ना का समर्थन मूल्य तय करने में किसानों का पक्ष ले अखिलेश सरकार में ऐसी हिम्मत नहीं है। वह केन्द्र सरकार से सत्ता सुख चाहती है।
प्रदेश अध्यक्ष ने कहा अभी प्रमोशन में आरक्षण का मुद्दा चल रहा है उसमें सपा विरोध नहीं दिखावे की राजनीति कर रही है। भाजपा तो किसानों की लड़ाई चंदौली से गाजियाबाद तक लड़ेगी और किसानों का धान खरिदवा कर मानेगी। अभी तो यह झाँकी है आगे और लड़ाई बाकी है। कार्यकर्ता अपना संघर्ष का तेवर बनाये रखें यह सरकार हर मुद्दे पर विफल हो चुकी है। इसको उखाड़ फेंकने का संकल्प लेकर जाना है। कार्यक्रम में प्रमुख रूप प्रदेश उपााध्यक्ष केदार नाथ सिंह, सहकारिता प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय संयोजक धनंजय सिंह, काशी क्षेत्र के संगठन मंत्री ओम प्रकाश श्रीवास्तव, क्षेत्रीय मीडिया प्रभारी राकेश त्रिवेदी, प्रदेश कार्य समिति सदस्य एवं पूर्व जिलाध्यक्ष सुरेन्द्र सिंह, अनिल सिंह, राणा प्रताप सिंह, उपेन्द्र तिवारी विधायक बलिया, हरिद्वार दुबे, राजेश बहेलिया, शिव तपस्या पासपान, हरिवंश उपाध्याय, ओम प्रकाश सिंह, उमाशंकर सिंह, गोपाल शरण सिंह, शिव शंकर पटेल, साधना सिंह, दर्शना सिंह, धर्मवीर तिवारी, आशुतोष दुबे, डा0 हरेन्द्र राय, नरेन्द्र सिंह, रमेश जायसवाल, हरिद्वार मिश्रा, संजय तिवारी, प्रमोद सिंह, काशीनाथ सिंह, गोपाल गुप्ता, डा0 आनन्द गुप्ता, रामजी तिवारी, अनिल तिवारी, सरजू सिंह, श्रवण सिंह, मोती मौर्या, प्रेमनाथ सिंह आदि भाग लियेे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

किसान बचाओं-धान की खरीद कराओ

Posted on 18 December 2012 by admin

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष     डा0 लक्ष्मीकांत बाजपेयी 19 दिसम्बर को चन्दौली में पार्टी द्वारा आयोजित  ”किसान बचाओं-धान की खरीद कराओ”ं  प्रदर्शन का नेतृत्व तथा अरविन्द वाटिका, चन्दौली में कार्यकर्ताओं से भेंट करेंगे। डा0 बाजपेयी 20 दिसम्बर को मेरठ में पश्चिम क्षेत्र की बैठक को सम्बोधित करेंगे।
यह जानकारी प्रदेश मीडिया प्रभारी नरेन्द्र सिंह राणा ने दी।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

पांच साल तक सिर्फ जमीनों पर कब्जा कर अपनी मूर्तियां लगवाई है

Posted on 13 February 2012 by admin

समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव  ने आज अपनी जनसभाओं में बसपा सरकार और मुख्यमंत्री के कामकाज की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि इसने पांच साल तक सिर्फ जमीनों पर कब्जा कर अपनी मूर्तियां लगवाई है, बेकारी, गरीबी और भ्रष्टाचार बढ़ाया है और अपनी लूट छुपाने के लिए हत्याओं की साजिशें कर रही है। जनता इनको कड़ी सजा देगी। हाथी कमजोर हो गया है। जनता समाजवादी पार्टी की सरकार बनाना चाहती है।
श्री यादव ने आज जनपद जौनपुर में 3, मिर्जापुर में 2, चन्दौली में 2 और वाराणसी में एक जनसभा को सम्बोधित किया। उन्होने कहा कि बसपाराज में बहुत जुल्म ढाए गए हैं। एक लाख समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं पर झूठे केस लगा दिए गए। चारों तरफ लूट मची है। भ्रष्टाचार बढ़ा है। विकास ठप्प हुआ है। लूट छुपाने के लिए ग्रामीण स्वास्थ्य मिषन से संबद्ध दो सीएमओ की हत्या हो गई, एक डिप्टी सीएमओ की जेल के अन्दर हत्या हो गई। दवा,सड़क, रोजगार, पानी मुहैया कराने के लिए जो पैसा खर्च होना था वह पत्थर की मूर्तियों, पार्को, स्मारकों पर खर्च हो गया। बसपा पत्थर वाली पार्टी हो गई है।
श्री यादव ने कहा कि लखनऊ से नोएडा तक पत्थरों पर 50 हजार करोड़ रूपए फूंक दिए गए। अपने जिन्दा रहते ही मुख्यमंत्री ने अपनी चार मुंहवाली मूर्तियां लगवा दीं। चुनाव आयेाग को धन्यवाद कि उसने हाथी पीले कपड़े से ढंकवा दिए। पीलापन कमजोरी की निशानी है। यानी हाथी बीमार हो गया है। मुख्यमंत्री की मूर्तियों को लकड़ी के डिब्बों से बंद कर दिया गया है।
समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि किसान, बिजली, पानी, खाद, बीज के बिना बर्बाद हुआ है। इस सरकार के समय में नौजवानों को रोजगार नहीं मिला। खुशहाली मिट गई है। मुख्यमंत्री महिला है फिर भी महिलाओं पर अत्याचार कम नहीं हुए। समाजवादी पार्टी सरकार ने  17  पिछड़ी जातियों को दलित सूची में रखने का षासनादेष जारी किया था, बसपा सरकार ने आते ही उसे रद्द कर दिया।
श्री यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी का घोषणा पत्र सबसे शानदार है। इसकी नकल पंजाब में की गई। मध्य प्रदेश में इसकी योजनाएं ली गई। घोषणा पत्र में नौजवानों के लिए तमाम वायदे है। कन्या विद्याधन, बेकारी भत्ता की व्यवस्था है। समाज के सभी वर्गो के हितों का इसमें ध्यान रखा गया है। उन्होने मतदाताओं से बड़ी संख्या में समाजवादी पार्टी प्रत्याशियों को जिताने का अनुरोध किया।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

जनता बसपा सरकार के कुशासन से त्रस्त है

Posted on 11 February 2012 by admin

r-2भारतीय जनता पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने आज अपनी चुनावी सभाओं में बसपा सरकार पर प्रदेश की जनता से वादा खिलाफी के आरोप लगाए। श्री सिंह मुगलसरांय में चुनावी सभाओं को संबोतिधत करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता बसपा सरकार के कुशासन से त्रस्त है। चुनाव के समय सत्ता प्राप्ति के लिए बसपा ने जनता से अनेक वादे किए थे पर सत्ता मिलने के बाद वे सारे वायदे भुला दिए गए।
श्री सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश की बसपा सरकार ने चुनाव के समय जनता से बेहतर कानून व्यवस्था, कम से कम 18 घंटे बिजली और ऐसे ही विकास के ना जाने कितने लोक लुभावन वादे किए थे। स्थिति यह है कि पिछले साढ़े चार वर्षों में एक भी पावर प्रोजेक्ट यहां नहीं लग सका है। प्रदेश के आधे से भी अधिक सरकारी बैंक दिवालिया हो चुके है और उत्तर प्रदेश दो लाख करोड़ के कर्ज में डूब चुका है। इससे प्रदेश में एक गंभीर आर्थिक संकट की स्थिति पैदा हुई है। पिछले विधानसभा चुनावों में मुख्यमंत्री सुश्री मायावती जी ने दावा किया था कि उनकी सरकार बनी तो सपा सरकार के भ्रष्टाचार की जांच होगी और सपा नेताओं समेत सारे भ्रष्टाचारी जेल में होंगे।
श्री सिंह ने कहा कि जनता ने पूर्ण बहुमत देकर बसपा को सत्ता सौंपी मगर सत्ता पाते ही मायावती जी अपना वायदा भूल गई। बसपा सरकार की कथनी और करनी में काफी अन्तर है। बसपा की भांति सपा और कांग्रेस भी जनता को गुमराह कर रहे है। प्रदेश की जनता इस बार भाजपा को बहुमत देगी। भाजपा की सरकार बनी तो किसानों का एक लाख रूपए तक का कर्ज माफ होगा। बेरोगारों को 5 वर्ष में एक करोड़ रोजगार के अवसर मिलेंगे। छात्रों को लैपटाॅप एवं कम्प्युटर मिलेगा। वृद्धा पेंशन बढ़ाकर डेढ़ हजार रूपए कर दी जाएगी।
श्री सिंह ने जनता से सुशासन व विकास के लिए भाजपा को भारी बहुमत से विजयी बनाने की अपील की और कहा कि पूर्वांचल का सम्यक विकास तभी संभव है जब प्रदेश में भाजपा की सरकार बनेगी।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

सरकार आखिर दलित चेतना के नाम पर प्रदेश के लूटतंत्र को कब तक बनाये रखेगी

Posted on 15 October 2011 by admin

dsc_0132भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष कलराज मिश्र ने कहा कि बसपा सरकार पत्थरों के कारोबार में जुटी है मूर्तियों और पार्कों के नाम पर 8000 करोड़ के ऊपर खर्च कर डाले है 685 करोड़ रूपये लागत से बने पार्क का जो मुख्यमंत्री लोकापर्ण कर रही है बेहतर होता कि इन पैसों से दलित कल्याण की योजनाओं पर काम होता तो प्रदेश के हालात कुछ और होते। जनस्वाभिमान यात्रा के दूसरे दिन चकिया, शिकारगंज, बबुरी आदि स्थानों पर आयोजित जनसभाओं को संबोधित करते हुए श्री मिश्र ने कहा कि गम्भीर बात यह है कि यह सब दलित चेतना के नाम पर हो रहा है। प्रदेश की जनता के स्वाभिमान के साथ खिलवाड़ करने वाली ये सरकार आखिर दलित चेतना के नाम पर प्रदेश के लूटतंत्र को कब तक बनाये रखेगी।
उन्होंने कहा कि चन्दौली में लोगों की फसले बर्बाद हो गई किसानों को कोई राहत नहीं मिली किसान दुखी है और परेशान है। कटेशर (चन्दौली) की घटना का जिक्र करते हुए सरकार के भूमि अधिग्रहण नीति की जमकर आलोचना की और कहा कि केवल कटेसर ही नहीं प्रदेश भर में अवैध तरीकों से भूमि अधिग्रहण किये गये। भारतीय जनता पार्टी ने कुबेरपुर (आगरा) से लेकर भट्टा परसौल तक इन अवैध अधिग्रहण के खिलाफ आर-पार की लड़ाई लड़ रहे हैं। अवैध खनन का करोबार प्रदेश भर में जारी है। बुन्देलखण्ड में इस मुद्दे पर जनता सड़कों पर है।
श्री मिश्र ने उ0प्र0 सरकार के लूटपत्र पर चर्चा करते हुए कहा कि इस चन्दौली के नौबतपुर में अवैध वसूली के चक्कर में ड्राइवर को लोगों ने मार डाला। इस प्रदेश में भ्रष्टाचार का आलम यह है कि अधिकारी आत्महत्या तक कर रहे है। पीसीएस अधिकारी हरमिन्दर राज की आत्महत्या पर सन्देह की पर्त पड़ी हुई है। सरकार को जनस्वास्थ्य के मुद्दे पर पूरी तौर से फेल बताते हुए इंसेफ्लाइिटस का मुद्दा भी उठाते हुए एनआरएचएम घोटाले की चर्चा की। कल बसपा द्वारा भाजपा द्वारा लगाये गये आरोपों पर जो सफाई दी है उस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि भाजपा सत्ता की लोकप्रियता से कतई नहीं घबऱा रही है बल्कि उसके तानाशाही रवैये और जनता के प्रति की जा रही साजिश का पर्दाफाश करने में लगी हुई है। अपनी जनस्वाभिमान यात्राओं के माध्यम सपा, बसपा कांग्रेस के भ्रष्टाचार की मण्डली के खिलाफ संघर्ष का शंखनाद कर रहे हैं।
dsc_0031भाजपा अध्यक्ष सूर्यप्रताप शाही ने कहा कि हम आये हैं और हम चाहते कि जनता कुशासन के खिलाफ खड़ी हो और जागरूक हो । हम पहले से कहते रहे कि सपा शासन के अपराधी और माफिया तत्व बसपा में आ गये हैं। आज आलम यह कि उत्तर प्रदेश सरकार के 15 मंत्री किसी न किसी कारण से हटाये गये पूरी की पूरी बसपा सरकार अत्याचारी, भ्रष्टाचारी है। उन्होंने कहा कि इस सरकार में बच्चों की पढ़ाई पर जजियाकर वसूला जाता है। प्रदेश के विकास की चर्चा करते हुए सरकारी धन की लूट पर सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि कलराज जी ने प्रदेश में जो सड़कें बनवाई थी आज सरकार में बैठे लोग उस पर तारकोल तक नहीं चढ़वा पा रहे हैं।
साध्वी उमा भारती जी ने सम्बोधन करते हुए कहा कि केन्द्र और प्रदेश से जो पैसा गरीबों के कल्याण के लिए आता है वो यदि पूरा का पूरा पहंुच जाता जो हालात दूसरे होते पर भ्रष्टचार का आलम यह है कि गरीब और गरीब हो रहा है। हम ये नहीं कहते कि सत्ता में आने पर जादू की छड़ी का प्रयोग करेंगे। पर ये जरूर कह रहे हैं कि यह पूरा का पूरा पैसा पहुंचे इसकी सुनिश्चित व्यवस्था करेंगे। उन्होंने कहा कि कानून में सबको अधिकार बराबर है ऊपर वाला जब ठीक होगा तब नीचे वाले अपने आप ठीक हो जायेंगे। भ्रष्टाचार को समाप्त करने के लिए भाजपा ने जो जन अभियान चलाया है उसमें पहली आहूति आप डालो। सत्ता बदलने की जिम्मेदारी आपकी व्यवस्था बदलने की जिम्मेदारी हम लेते हैं। कलराज जी की जब-जब अगुवाई होती है हमें सत्ता मिलती है।
कार्यक्रम में यात्रा प्रभारी शिवप्रताप शुक्ला, रामनाथ कोविन्द, सिद्धार्थनाथ सिंह, सहयात्रा प्रभारी स्वतंत्रदेव सिंह, महेन्द्रनाथ पाण्डेय, रमापति शास्त्री, प्रभुनाथ चैहान, प्रदेश प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक, क्षेत्रीय अध्यक्ष देवेन्द्र सिंह चैहान, क्षेत्रीय मंत्री संजय राय, करूणेश शर्मा, महापौर कौशलेन्द्र, जि0अ0 राणा प्रताप सिंह सहित हजारों की संख्या में लोग उपस्थित रहे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

माननीया मुख्यमंत्री जी ने पूर्वांचल के अतिवृष्टि प्रभावित जिलों का हवाई सर्वेक्षण किया

Posted on 01 October 2011 by admin

  • अतिवृष्टि के कारण क्षतिग्रस्त सार्वजनिक सम्पत्तियों कीे  मरम्मत का कार्य युद्धस्तर पर तत्काल शुरू करने के निर्देश
  • क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मत हेतु केन्द्र सरकार से  सी0आर0एफ0 के अन्तर्गत धनराशि की मांग की जाए
  • बचाव एवं राहत कार्यों के लिए धन की कोई कमी नहीं-माननीया मुख्यमंत्री जी
  • प्रभावित परिवारों को समुचित सहायता राशि शीघ्र वितरित की जाए

cm-flood-review-30sep2011उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री माननीया सुश्री मायावती जी ने आज पूर्वांचल के भ्रमण के दौरान पिछले दिनों अतिवृष्टि से प्रभावित सोनभद्र, वाराणसी, चंदौली तथा मिर्जापुर जनपदों का हवाई सर्वेक्षण किया। हवाई सर्वेक्षण के दौरान उन्होंने पाया कि कई स्थानों पर अभी भी जल भराव की स्थिति बनी हुयी है तथा सड़कों की स्थिति भी खराब है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मत हेतु केन्द्र सरकार से सी0आर0एफ0 के अन्तर्गत धनराशि की मांग की जाये।
इसके पश्चात माननीया मुख्यमंत्री जी ने वाराणसी के बाबतपुर हवाई अडडे पर वाराणसी तथा मिर्जापुर के मण्डलायुक्तों, आई0जी0 तथा जिलाधिकारियों के साथ बैठक करके अतिवृष्टि से उत्पन्न स्थिति की जानकारी प्राप्त की तथा संचालित किये जा रहे राहत एवं पुनर्वास कार्यों की समीक्षा भी की। उन्होंने अतिवृष्टि से प्रभावितों को समुचित सहायता तथा क्षतिग्रस्त मकानों का आकलन करके युद्धस्तर पर मुआवजा वितरित करने के निर्देश दिये। माननीया मुख्यमंत्री जी ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि जिन लोगों के मकान ध्वस्त हो गये हैं, उन्हें पात्रता के आधार पर इंदिरा आवास आवंटित किये जायें। उन्हांेने कहा कि बचाव एवं राहत कार्य के लिए धन की कोई कमी नहीं है। उन्होंने लोक निर्माण विभाग, सिंचाई आदि विभागों की क्षतिग्रस्त सार्वजनिक सम्पत्तियों के मरम्मत का कार्य युद्धस्तर पर तत्काल शुरू करने के निर्देश दिए।
माननीया मुख्यमंत्री जी ने सोनभद्र, वाराणसी, चंदौली तथा मिर्जापुर के जिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों में बचाव व राहत कार्यों में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये। उन्होंने कहा कि मूसलाधार बरसात से क्षतिग्रस्त मार्गों, पुलों, बन्धों आदि की शीघ्र मरम्मत कराकर आवागमन को सुचारू बनाया जाये। उन्होंने अतिवृष्टि से हुई फसलों की क्षति का आकलन करके यथाशीघ्र मुआवजा वितरित करने के भी निर्देश दिये। उन्होंने प्रभावित जनपदों के जिलाधिकारियों एवं मण्डलायुक्तों को पूर्व में ही साफ तौर पर बताया जा चुका है कि बाढ़ पीड़ितों को हर सम्भव सहायता उपलब्ध करायी जाये।
माननीया मुख्यमंत्री जी ने प्रभावित क्षेत्रों में बाढ़ का पानी उतरने के बाद वहां टीमें बनाकर पेयजल के क्लोरीनेशन के साथ फाॅगिंग व ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव करने के निर्देश दिये। इसके अलावा उन्होंने जलमग्न क्षेत्रों में दैनिक जरूरतों की सभी चीजों को उपलब्ध कराने तथा संक्रामक रोगों से बचाव के लिए सभी आवश्यक प्रबन्ध करने की हिदायत भी दी। उन्होंने कहा कि बाढ़ग्र्रस्त क्षेत्रों में साफ पेयजल की व्यवस्था तत्काल बहाल की जाये।
उल्लेखनीय है कि माननीया मुख्यमंत्री जी ने इन क्षेत्रों में अतिवृष्टि की जानकारी प्राप्त होते ही पिछले सप्ताह मुख्य सचिव को प्रभावित इलाकों में भेजकर स्थिति का मौके पर जायजा लेने और लौटकर तत्काल रिपोर्ट देने के निर्देश दिए थे। मुख्य सचिव द्वारा उपलब्ध कराए गये फीडबैक के आधार पर माननीया मुख्यमंत्री जी ने प्रभावित जिलों में राहत एवं बचाव कार्य हेतु सोनभद्र व वाराणसी को 50-50 लाख, जौनपुर व गाजीपुर को 25-25 लाख तथा चन्दौली को 30 लाख रूपये की अतिरिक्त धनराशि तत्काल जारी करने के निर्देश दिए। उन्होंने अतिवृष्टि से हुई मौतों की स्थिति में मृतकों के परिवार को 01-01 लाख रूपये की अनुग्रह राशि तत्काल जारी करने के भी निर्देश दिये। इसी के साथ उन्होंने घायलों के समुचित इलाज की व्यवस्था करने के भी निर्देश दिये। उन्होंने मवेशियों को चारे आदि की व्यवस्था तथा बीमारी से बचाव हेतु टीकाकरण करने की व्यवस्था करने के निर्देश दिये।
बैठक में बताया गया कि माननीया मुख्यमंत्री जी के निर्देश पर जनपद मिर्जापुर में मृतकों के परिजनों को 10 लाख रूपये की आर्थिक सहायता वितरित की गयी तथा 25 सितम्बर से अब तक 10 हजार खाने के पैकेट, 38400 पैकेट लाई चना, 06 हजार लीटर मिट्टी का तेल, 03 हजार माचिस के पैकेट एवं 68 हजार गृह अनुदान व 10 लाख रूपये की अनुग्रह सहायता वितरित की गयी। बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों में 37 बाढ़ चैकियाँ स्थापित की गयी हैं तथा 10 पी0ए0सी0 बोट लगायी गयी हैं। चिकित्सा सुविधा के लिए चिकित्सकों की टीम गठित कर आवश्यक दवाओं का वितरण करने के साथ ही 03 एम्बुलेंस भी लगायी गयी हैं।
जिलाधिकारी, चन्दौली ने बताया कि अतिवृष्टि से जनपद में कुल 74 ग्राम, करीब 28 हजार जनसंख्या एवं 1600 हेक्टेअर क्षेत्रफल प्रभावित हुआ है। 03 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। लगभग 1400 मकान गिरे हैं और 02 करोड़ की सरकारी सम्पत्ति का नुकसान हुआ है। 25.50 लाख रूपये की सहायता राशि वितरित की जा चुकी है। प्रभावित क्षेत्रों में 12 मोटर नाव और 35 सामान्य नावें राहत कार्य में लगी हैं। डाॅक्टरों की 41 टीमें गठित कर प्रभावित क्षेत्रों का भ्रमण किया जा रहा है। लगभग 5900 परिवारों को पिछले एक सप्ताह से दोनों समय पका हुआ खाना दिया जा रहा है और 6400 परिवारों को एक सप्ताह का राशन वितरित किया गया है।
जिलाधिकारी मिर्जापुर ने बताया कि अतिवृष्टि से प्रभावित गांवों की संख्या 247 है। प्रभावित जनसंख्या 14,800 तथा मृतकों की संख्या 10 है। करीब 17,956 हेक्टेयर क्षेत्र में 50 प्रतिशत से अधिक फसलें क्षतिग्रस्त हुई हैं। बाढ़ से अलग पड़े गांवों में आवश्यक सुविधायें, राहत सामग्री एवं दवाओं का वितरण किया जा रहा है। विस्थापित परिवारों को पका भोजन दिया जा रहा है। इसी प्रकार सोनभद्र जनपद में बाढ़ से प्रभावित राबर्ट्सगंज और धोरावल तहसीलों में बचाव एवं राहत कार्य युद्धस्तर पर किया जा रहा है। क्षतिग्रस्त भवनों के अतिरिक्त प्रभावित कृषि क्षेत्र का भी सत्यापन कराया जा रहा है। अतिवृष्टि से प्रभावित गांवों की संख्या 150 है। करीब 8,147 हेक्टेयर कृषि क्षेत्रफल प्रभावित हुआ है।
जनपद वाराणसी में अतिवृष्टि के कारण 06 लोगों की मृत्यु हुई है। जल प्लावन वाले क्षेत्रों में बचाव एवं राहत कार्य निरन्तर किया जा रहा है। जल भराव वाले क्षेत्रों से पानी निकालने की व्यवस्था की गयी है। इसके साथ ही मृतकों के परिजनों को सहायता राशि उपलब्ध करायी जा रही है। अब तक 43.57 लाख रूपये की धनराशि वितरित की जा चुकी है। इस जनपद के चकिया, सदर, सकलडीहा तहसीलें ज्यादा प्रभावित हुई हैं। जिन क्षेत्रों में पानी उतर गया है वहां फाॅगिंग, दवा छिड़काव तथा मेडिकल टीम भेजने के निर्देश दिये गये हैं तथा जनपद को कुल 40 लाख रूपये की अतिरिक्त धनराशि आवंटित की गयी है। वर्तमान में गिरे हुए मकानों के संबंध में तहसील सदर में 35 लाख तथा पिण्डरा में 2,57,500 रूपये  की धनराशि वितरित की जा चुकी है। चन्दौली के प्रभावित गांवों में भी बचाव एवं राहत कार्य बड़े पैमाने पर किया जा रहा है। जनपद जौनपुर में अतिवृष्टि से प्रभावित तहसीलों की संख्या 06 है और 18 लोगों की मृत्यु हुई है। राहत एवं बचाव कार्य किया जा रहा है तथा मृतकों के परिजनों को सहायता राशि उपलब्ध करायी जा रही है।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

October 2017
M T W T F S S
« Sep    
 1
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
3031  
-->









 Type in