*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | September, 2010

मा0 उच्च न्यायालय द्वारा आज अयोध्या मुद्दे पर मालिकाना हक को लेकर दिये गये निर्णय का उ0प्र0 कंाग्रेस कमेटी सम्मान करती है।

Posted on 30 September 2010 by admin

मा0 उच्च न्यायालय द्वारा आज अयोध्या मुद्दे पर मालिकाना हक को लेकर दिये गये निर्णय का उ0प्र0 कंाग्रेस कमेटी सम्मान करती है।
उत्तर प्रदेश कंाग्रेस कमेटी की अध्यक्ष डॉ0 रीता बहुगुणा जोशी ने आज यहां कहा कि यदि कोई पक्ष इस निर्णय से सन्तुष्ट नहीं है तो मा0 उच्चतम न्यायालय में जाने का विकल्प खुला हुआ है। उन्होने कहा कि उ0प्र0 की गंगा-जमुनी तहजीब, आपसी भाईचारा और मेल-मिलाप के लिए सभी प्रदेशवासियों के प्रतिबद्ध रहने और मा0 उच्च न्यायालय के निर्णय के आने के बाद शान्ति, सौहार्द बनाये रखने के लिए प्रदेश की जनता बधाई की पात्र है।

प्रदेश कंाग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि मा0 उच्च न्यायालय के निर्णय आने के पहले ही सभी पक्ष निर्णय को स्वीकार करने का आश्वासन दे चुके थे। इसलिए किसी भी तरह का राजनीतिक फायदा उठाने का प्रयास नहीं किया जाना चाहिए।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

देश में तेजी से बढ़ रहे हृदय रोग को अर्जुन की मदद से रोका जा सकता है।

Posted on 30 September 2010 by admin

देश में तेजी से बढ़ रहे हृदय रोग को अर्जुन की मदद से रोका जा सकता है। भारत में बहुतायत में मिलने वाले अर्जुन के पेड़ में विद्यमान तत्व हृदय को रोग से बचाने के लिए कारगर हैं। आयुर्वेद में इस पेड़ की छाल के साथ अन्य औषधियां को मिलाकर तैयार किए गए एक योग पर शोध के दौरान उत्साहजनक परिणाम सामने आए हैं। राजकीय आयुर्वेद महाविद्यालय हण्डिया में चल रहे इस शोध से जुडे़ आयुर्वेदाचार्योकी मानें तो औषधियों का यह योग हृदय के लिए हानिकारक वसा को नियन्त्रित करने में सक्षम है। शोध से जुडे़ आयुर्वेदाचार्य ड‚. जीएस तोमर इस योग के बारे में बताते हैं, हृदय रोग से बचाव के लिए अर्जुन की छाल को आयुर्वेद में काफी उपयोगी बताया गया है। इस छाल के चूर्ण के साथ कुछ औषधियां पुष्कर मूल, शंखपुष्पी, बिडंग,ब्राह्मी, वचा, गुगलू, ज्योित्षमती, पुनर्नवा, सर्पगंधा मिला देने के बाद तैयार औषधीय योग हृदय रोग के लिए जिम्मेदार हानिकारक वसा को कम करने में कारगर है। हृदय रोगियों पर इसके इस्तेमाल के दौरान 75 प्रतिशत रोगियों में सफल परिणाम देखने को मिले हैं। रोगियों पर अध्ययन के दौरान देखने को मिला कि इस औषधीय योग से उनके कोलेस्ट्राल, एलडीएल और टीजी काफी कम हुआ व हृदय के लिए लाभकारी वसा एचडीएल बढ़ा पाया गया। शोध के दौरान यह भी पता चला कि यह औषधि एचडीएल और एलडीएल (हाई डेंसिटी लाइपोप्रोटीन व लो डेंसिटी लाइपोप्रोटीन फैट) के अनुपात को सही रखने का काम करती है। ड‚. तोमर के मुताबिक अधिकांश हृदय रोगियों में कोलेस्ट्राल व अन्य हानिकारक वसा की बढ़ी हुई मात्रा रक्तचाप की वृद्धि करके हृदय रोग उत्पन्न करने में उत्तरदायी होती है। यह औषधि उच्च रक्तचाप व मोटापे की अवस्था में और लिवर में जमा वसा को दूर करने का भी कार्य भी करती है। हृदय रोग होने की अवस्था में भी यह औषधि का प्रयोग अन्य दवाओं के साथ करने में महत्वपूर्ण लाभ होता है।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

मोहल्ला सरदारपुरा में जिला सरस साहित्य संगम की बैठक में संस्था का रजत जयन्ती समारोह माह नवम्बर में मनाये जाने का निर्णय लिया गया।

Posted on 30 September 2010 by admin

मोहल्ला सरदारपुरा में जिला सरस साहित्य संगम की बैठक में संस्था का रजत जयन्ती समारोह माह नवम्बर में मनाये जाने का निर्णय लिया गया। इस मौके पर बुन्देली काव्य कलस के सम्बन्ध में रचनाओं का सम्पादन एवं प्रकाशन आदि विषय पर भी चर्चा हुई। वरिष्ठ साहित्यकारों ने नई पीढ़ी को समाज के लिए अग्रसर करने वाले तथा व्यवस्था को लताड़ने वाले शब्दों का इस्तेमाल कर श्रेष्ठ साहित्य का सृजन करने की अपील की।

कार्यक्रम में वरिष्ठ कवियों ने अपनी रचनाओं के माध्यम से नव साहित्यकारों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि वह अपने आपको कम न समझें। कवि के मुंह से निकलने वाला एक-एक शब्द सुधार की चिंगारी बन कर निकलता है। युगों-युगों से काव्य प्रतिभाएं समाज का मार्ग निर्देशन करतीं चली आ रहीं हैं और आगे भी इस परम्परा को बनाये रखने की जरूरत है। कार्यक्रम में हिन्दी प्रवक्ता लाल चन्द्र सलज ने श्पूरब नहीं अब पूरब और पश्चिम भी नहीं रहा पश्चिम, दोनों को ही किसी बिन्दू पर करना एकाकार हमेंश् के माध्यम से विचारों की एकता का सन्देश दिया। वहीं वरिष्ठ कवि विजय नारायण रावत ने भी सच्चाई को बया करते हुए कहा कि श्सच कहना अगर गुनाह है मैं गुनाहगार हूं, कवि हूं शायर हूं सच कहने वाला खाकसार हूं ।श् इस दौरान बुन्देली कवि एम.एल.भटनागर ने अनेक रचनाएं प्रस्तुत कर श्रोताओं को रसरक्त किया। उनके द्वारा प्रस्तुत श्गेंवरे कोयल कूक लगावे, मोए मन नेक न भावेश् रचना विशेष रूप से सराही गई। इसके पश्चात वरिष्ठ कवि शिखर चन्द्र मुफलिस द्वारा प्रस्तुत चौके-छक्के कार्यक्रम की गरिमा बढ़ाते रहे। उन्होंने समसामयिक चौके में कहा श्कांग्रेस वट वृक्ष है या पीपल का पेड़, बूढे़ नर नारी जहां लटके कई अधेड़, लटके कई अधेड़ हमारा जिला ललितपुर खैरा और बुन्देला खुलकर बोले बेसुर।श् कार्यक्रम का संचालन कर रहे डा. गुलाब चन्द्र साहू सारग ने अपनी रचना के द्वारा नेता व जनता के सम्बन्ध में बेबाक टिप्पणी करते हुए कहा श्रक्षक भक्षक हो गए कर चोरों से प्रेम, बेबस जनता लुट रही नेता खेलें गेमश्।

इस अवसर पर यह भी जानकारी दी गई कि बुन्देली काव्य कलस प्रकाशित होने वाली —ति में जिले की बुन्देली व खड़ी बोली के कवियों की रचनाओं का चयन किया जाएगा। रचनाएं प्रकाशन के लिए समिति के पास 15 अक्टूबर तक प्राप्त हो जाना चाहिए। इस मौके पर सम्पादक मण्डल का गठन भी किया गया। इसमें कन्हैयालाल शास्त्री, लाल चन्द्र सलज, ड‚. हुकुम चन्द्र पवैया आदि के अलावा अन्य लोगों को सम्मिलित किया गया। प्रारम्भ में सरस्वती वन्दना तथा ईश वन्दना, बाल कवि अर्पित जैन व पूनम जैन द्वारा प्रस्तुत की गई। इस मौके पर शील चन्द्र मोदी, रूप सिंह ठाकुर, सुदेश सोनी, महेश नामदेव, गोकुल चन्द्र सरोज, अशोक क्रान्तिकारी, रमेश पाठक, राम—ष्ण कुशवाहा, वीरेन्द्र विद्रोही, अम्ब्रीस जैन आदि उपस्थित थे।किन्नरों को महिला आरक्षण का लाभ नहीं

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

सुलतानपुर में अयोध्या मसले पर आने वाले फैसले के मद्देनज़र जिला सुरक्षा संगठन की बैठक को संबोधित करते हुए महासचिव सरदार बलदेव सिंह।

Posted on 29 September 2010 by admin

113

Comments (0)

अयोध्या फैसला आने से पूर्व जिला सुरक्षा संगठन ने रणनीति बनाई

Posted on 29 September 2010 by admin


*  सभी वार्ड अध्यक्षों को सौंपी गई जिम्मे
दारियां
सर्वोच्च न्यायालय द्वारा अयोध्या प्रकरण के फैसले के मामले में 30 सितम्बर को निर्णय सुनाये जाने का आदेश दिये जाने के बाद जिले में उस दिन अमन-चैन कायम रखने के लिए जिला सुरक्षा संगठन की एक विशेष बैठक उसी दिन रात में बुलाई गई जिसमें यह रणनीति बनाई गई कि निर्णय आने के दिन संगठन के लोग अपनी-अपनी जिमेदारी किस तरह निभायेंगे।

इस मौके पर संगठन के संयोजक सुन्दरलाल टण्डन ने कहा कि निर्णय आने के एक दिन पूर्व ही हम सभी लोगों को अपनी गतिविधि ऐसी बना लेनी चाहिए कि 30 सितम्बर को आने वाले निर्णय के दिन पूरी तरह शान्ति से बीत जाये। उन्होंने आगे कहा कि अपने-अपने क्षेत्रों के संभ्रान्त लोगों से मिलकर अफवाहों से बचने के लिए अफवाहों को प्रभावहीन बनाने में जुटें।

संगठन के उपाध्यक्ष कमलनयन पाण्डेय ने कहा कि हमें विशेष रूप से दो बातों पर ध्यान देना होगा। पहला- अफवाहें न फैलने पाये। ऐसे मौके पर धार्मिक स्थलों को अवांछनीय तत्व अपमानित करने की कोशिश करेंगे। इन पर हम लोगों की नज़र होनी चाहिए। अपने-अपने वाडोZ में यह देख लें कि शरारती तत्व कौन हैं उन पर नज़र रखें। दूसरा- सन्देश व संवाद पर हम काम करेंगे। यदि निर्णय आने के बाद कोई वर्ग विरोध में कुछ करता है तो उसे समझाने की कोशिश करें। भीड़ के भड़कने पर संयम नहीं खोना चाहिए। आप स्वयं उनसे उलझें बल्कि इसकी जानकारी पुलिस को दें ताकि वह उनसे निपट
सके।
इस मौके पर संगठन के प्रवक्ता जाहिल सुलतानपुरी, डॉ. जैदी, राधेश्याम गुप्त, भुलईराम गुप्त, मो. अहमद, हाजी अशफाक ने भी अपने विचार व्यक्त किये। कार्यक्रम का संचालन करते हुए संगठन के महासचिव सरदार बलदेव सिंह ने मौजूद लोगों को फैसला आने के पूर्व से ही अपनी जिम्मेदारियांनिभाने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि संगठन के सभी लोग संगठन के अपना परिचयपत्र साथ अवश्य रखेंगे।
इस बैठक में मुख्य रूप से कोषाध्यक्ष नरेश माहेEरी, अरूण जायसवाल, अशोक अग्रवाल, मो. इलियास, रामचन्द्र गुप्ता, राम सागर गुप्ता, अब्दुल मन्नान, सत्य प्रकाश गुप्त, अशोक जायसवाल, डॉ. मकसूद सरदार, मो. जाहिद आदि मौजूद थे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

उपन्यास “जय हिन्द! की सेना´´ का लोकार्पण

Posted on 29 September 2010 by admin

29भारत-पाकिस्तान के मध्य सन् 1971 को हुए युद्ध की पृश्ठभूमि एवं बांग्लादेश के प्रादुर्भाव पर लिखा गया कथाकार श्री महेन्द्र भीश्म का सद्य: प्रकािशत उपान्यास “जय हिन्द! की सेना´´ का लोकार्पण गांधी जयन्ती के दिन सांय तीन बजे मोती महल लॉन, लखनऊ में पुस्तक मेला के दौरान होने जा रहा है।

मा0 उच्च न्यायालय इलाहाबाद की लखनऊ पीठ में बेंच सेक्रेटरी महेन्द्र भीश्म के अब तक तीन कहानी संग्रह क्रमश: `तेरह करवटे´ (1986), `एक अग्रेशित-पत्र´ (2004) एवं `क्या कहेर्षोर्षो´ (2008) प्रकािशत व पुरस्कृत हो चुके हैं। आपकी कहानी `लालच´ में टेली फिल्म भी बन चुकी है। युद्ध की पृश्ठभूमि पर बहुत कम उपन्यास लिखे गए है, विशेशकर हिन्दी साहित्य में तो इनकी संख्या नगण्य है। ऐसी स्थिति में जहां श्री महेन्द्र भीश्म का यह उपन्यास महत्वपूर्ण बन जाता है, वही पाठकों के बीच विशेशकर हिन्दी साहित्य में इस उपन्यास का जोरदार स्वागत होना चाहिए।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

माननीया मुख्यमन्त्री जी ने प्रधानमन्त्री जी को पत्र लिखकर बाढ़ प्रभावित जनपदों के लिए 2175 करोड़ रूपये की प्रारिम्भक सहायता धनराशि उपलब्ध कराने का पुन: अनुरोध किया

Posted on 29 September 2010 by admin

प्रारिम्भक अनुमान के आधार पर 2175 करोड़ रूपये की सहायता
धनराशि हेतु मेमोरेण्डम दिनांक 27.09.2010 को भारत सरकार को
प्रेषित किया जा चुका है, जो उन्हें प्राप्त भी हो गया है

भारत सरकार बाढ़ की विभीषिका के
आंकलन के लिए तत्काल केन्द्रीय दल भेजे

उत्तर प्रदेश की माननीया मुख्यमन्त्री सुश्री मायावती जी ने प्रधानमन्त्री जी को पत्र लिखकर बाढ़ प्रभावित जनपदों के लिए प्रारिम्भक अनुमान के आधार पर 2175 करोड़ रूपये की सहायता धनराशि तत्काल उपलब्ध कराने का पुन: अनुरोध किया है। उन्होंने अपने पत्र में कहा है कि बाढ़ का प्रभाव कम होने के उपरान्त वास्तविक क्षति का आंकलन करके केन्द्र को अपेक्षित धनराशि हेतु विस्तृत मेमोरेण्डम भेजा जायेगा। उन्होंने केन्द्र सरकार से प्रदेश में बाढ़ से हुई व्यापक क्षति के आंकलन के लिए तत्काल केन्द्रीय दल भेजने एवं सहायता धनराशि उपलब्ध कराने की भी मांग की है।
गौरतलब है कि माननीया मुख्यमन्त्री जी ने प्रदेश में बाढ़ से हुई व्यापक क्षति के आंकलन के लिए स्वयं गत 22 सितम्बर, 2010 को विस्तृत हवाई सर्वेक्षण एवं समीक्षा की थीं। उत्तराखण्ड के बांधों से पानी छोड़े जाने के कारण पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जनपदों में हुई व्यापक तबाही को देखते हुए उन्होंने पश्चिमी उत्तर प्रदेश को आपदाग्रस्त क्षेत्र घोषित कर केन्द्र सरकार से पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लिए प्रथम चरण में तत्काल 1000 करोड़ रूपये तथा राज्य के अन्य जनपदों के लिए 1000 करोड़ रूपये अर्थात् कुल 2000 करोड़ रूपये की सहायता राशि उपलब्ध कराने का अनुरोध प्रधानमन्त्री जी को पत्र लिखकर किया था। आज लिखे पत्र में उन्होंने कहा है कि बाढ़ से हुई क्षति के प्रारिम्भक अनुमान के आधार पर 2175 करोड़ रूपये की सहायता धनराशि हेतु मेमोरेण्डम प्रमुख सचिव, राजस्व एवं राहत आयुक्त, उत्तर प्रदेश के पत्र दिनांक 27.09.2010 द्वारा संयुक्त सचिव, आपदा प्रबन्धन, गृह मन्त्रालय, भारत सरकार को प्रेषित किया जा चुका है, जो उन्हें प्राप्त भी हो गया है।
इसी क्रम में माननीया मुख्यमन्त्री जी ने प्रधानमन्त्री को पुन: पत्र लिखकर 2175 करोड़ रूपये तत्काल अवमुक्त करने का अनुरोध किया है। उन्होंने प्रदेश में बाढ़ से हुई व्यापक क्षति का हवाला देते हुए लिखा है कि माह जून से अब तक प्रदेश के 33 जनपदों के 5969 गांव बाढ़ से प्रभावित हुए हैं, जिसमें 2022 गांव तो पूरी तरह से पानी से घिर गये हैं। बाढ़ से हुई

जान-माल की हानि का उल्लेख करते हुए उन्होंने यह भी लिखा है कि अब तक 96 लोगों की बाढ़ से तथा 330 व्यक्तियों की मकान आदि गिरने से मौत हुई है। इसके अलावा बड़ी संख्या में पशुओं की भी जनहानि हुई है। उन्होंने अपने पत्र में कहा है कि बाढ़ के कारण 8.08 लाख हेक्टेअर बोई गई फसल नष्ट होने का अनुमान है और  बड़ी संख्या में अवस्थापना सुविधाओं को भी क्षति पहुंची है। बाढ़ के कारण सड़कें, तटबन्ध, बिजली के खम्भे, तार आदि के अतिरिक्त बड़ी संख्या में आवास भी क्षतिग्रस्त हुए हैं। उन्होंने कहा है कि इनके पुननिZर्माण एवं मरम्मत की तत्काल आवश्यकता है।
माननीया मुख्यमन्त्री जी ने भारत सरकार से अनुरोध किया है कि वे राज्य में बाढ़ की विभीषिका के आंकलन के लिए

तत्काल केन्द्रीय दल भेजे। उन्होंने केन्द्र सरकार से तत्काल अपेक्षित धनराशि अवमुक्त करने का अनुरोध किया है, ताकि राहत एवं बचाव कार्यों को सुचारू रूप से चलाया जा सके।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

ग्लोबल क्रिएशन्स परिवार ने कन्हैय्या लाल नन्दन जी को दी श्रद्धांजलि

Posted on 28 September 2010 by admin

ग्लोबल क्रिएशन्स(सामाजिक एवं सांस्कृति संस्था) के तत्वावधान में हिन्दी जगत के जाने-माने लेखक साहित्यकार व पत्रकार कन्हैय्या लाल नन्दन जी के निधन पर डायमन्ड डेरी कालोनी, कैन्ट रोड,लखनऊ में एक शोक सभा का आयोजन किया गया। संस्था की अध्यक्ष सुश्री अनीता सहगल ने पद्मश्री, भारतेन्दु, अज्ञेय आदि पुरस्कारों से सम्मानित कन्हैय्या लाल नन्दन जी को साहित्य सेवा का वह प्रकाश पुंज बतलाया जिसकी रोशनी से साहित्य जगत हमेशा जगमगाता रहेगा और उसे एक दिशा मिलती रहेगी। अपने श्रृद्धा सुमन अर्पित करते हुए उन्होंने कहा कि नन्दन जी ने बच्चों से लेकर बुजर्गों तक के दिल की बातों को किस तरह से अपनी कलम की रोशनाई से उन्होंने शब्दों में पिरोया है कि पढ़ने वाला उसी में गोते लगाने लगता है।

फतेहपुर निवासी, पत्रकार श्री योगेश त्रिपाठी ने बताया कि नन्दन जी फतेहपुर के थे, उन्होंने वहां के उत्थान के लिए अनेकों कार्य किये , जिसके लिए फतेहपुर की जनता उन्हें हमेशा-हमेशा याद करती रहेगी। इस शोक सभा में उपस्थित होने वाले ग्लोबल क्रिएशन्स संस्था के समस्त पदाधिकारीगण, साहित्यकारों, कला प्रेमियों और तमाम अन्य गणमान्य व्यक्तियों ने नन्दन जी के निधन पर 2 मिनट का मौन धारण कर उन्हें श्रृद्धांजलि अर्पित की।
सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

निर्वाचन हेतु अधिगृहीत वाहन उपलब्ध न कराने पर होगी एफ0आई0आर0 दर्ज

Posted on 28 September 2010 by admin

त्रिस्तरीय पंचायत सामान्य निर्वाचन-2010 को सम्पन्न कराने हेतु जनपद आगरा स्थित केन्द्र/राज्य सरकार के शासकीय वाहनों को अधिग्रहीत करते हुए वाहनों को उपलब्ध कराने की अपेक्षा गई थी परन्तु सूचना के उपरान्त भी चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, विस्फोटक विभाग, वाणिज्य कर, एस0ई0 आ0वि0 प्राधिकरण, एस0ई0 सिंचाई, सी0एम0ओ0, जालमा एवं लेडी लायल हािस्पटल, आर0बी0एस0 कालेज, केन्द्रीय हिन्दी संस्थान, आगरा विश्वविद्यालय, उद्यान विभाग, दुग्ध विकास, वन, जल संस्थान, बीज प्रमाणीकरण, उप निदेशक अर्थ संख्या, भूमि जल शोध संस्थान छलेसर एवं एस0एन0 मेडिकल कालेज आदि विभागों/कार्यालयों व्दारा अधिग्रहीत वाहनों को उपलब्ध नहीं कराया गया है जिसके कारण निर्वाचन कार्य में व्यवधान उत्पन्न हो रहा है।

अपर जिलाधिकारी ना0आ0/प्रभारी अधिकारी परिवहन सुशील कुमार मौर्य ने इन विभागाध्यक्षों/कार्यालयाध्यक्षों एवं अन्य कार्यालयाध्यक्षों को सूचित किया है कि वे अपने विभागीय अधिगृहीत वाहनो को तत्काल डाइट परिसर, पंचकुइयॉ पर अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराना सुनििश्चत करें। नियत समय पर वाहन उपलब्ध न कराने की दशा में एफ0आई0आर0 दर्ज कराने की कार्यवाही की जायेगी।
सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

गांधी जयन्ती पर मदिरा की दुकानें बन्द रहेंगी-जिलाधिकारी

Posted on 28 September 2010 by admin

जिला मजिस्ट्रेट अमृत अभिजात ने निर्देश दिये हैं कि गांधी जयन्ती 02 अक्टूबर पर जनपद में सभी मदिरा की दुकानें एवं बिक्री स्थान बन्द रहेंगे। उन्होंने कहा है कि इस आदेश का अनुपालन कडाई से सुनििश्चत किया जाये। इस बन्दी के लिए अनुज्ञापियों को कोई प्रतिफल देय नही होगा।

जिला आबकारी अधिकारी एस0पी0 सिंह ने बताया है कि वशZ 2010-11 के अन्तर्गत आबकारी अनुज्ञापनों हेतु आबकारी नीलामी व अनुज्ञापन की शर्तों के अनुसार जनपद की सभी देशी शराब, विदेशी मदिरा, बीयर एवं भांग की फुटकर दुकानें प्रत्येक प्रकार के बार एफ0एल-2, सी0एल-2, एफ0एल0-2 बी, एफ0एल0 2 ए, बी0डब्लू0एफ0एल0-2 सी, एफ0एल0-2 डी, एफ0एल0-9/1 ए, एल-1 की दुकानें एवं बिक्री स्थान गांधी जयन्ती के अवसर पर बन्द रखने का प्राविधान है।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

September 2010
M T W T F S S
« Aug   Oct »
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930  
-->




 Type in