*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | March, 2012

नेटवर्क के स्थापित होने से हाई स्पीड ब्राडबैण्ड कनेक्टीविटी की उपलब्धता बढ़ेगी

Posted on 29 March 2012 by admin

उत्तर प्रदेश के चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री अहमद हसन ने नेशनल आॅप्टीकल फाइबर नेटवर्क की उपयोगिता पर प्रकाश डालते हुये कहा कि इस नेटवर्क के स्थापित होने से हाई स्पीड ब्राडबैण्ड कनेक्टीविटी की उपलब्धता बढ़ेगी, जिससे शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में सभी वर्ग के लोगों को ई-शिक्षा, ई-स्वास्थ्य, ई-कामर्स, ई-मनोरंजन, ई-गवर्नेन्स सम्बन्धी सेवाओं का लाभ उपलब्ध हो सकेगा। उन्होंने राज्य में नेटवर्क स्थापना के क्षेत्र में की गई उपलब्धियों की चर्चा करते हुए कहा कि नेशनल आप्टीकल फाइबर नेटवर्क की स्थापना हो जाने से राज्य में स्थापित नेटवर्क और गतिशील हो जायेगा तथा शासकीय सेवायें और त्वरित गति से दी जा सकेंगीं।
चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री अहमद हसन आज विज्ञान भवन, नई दिल्ली में ‘इम्प्लीमेन्टेशन स्ट्रेटेजीज़ आफ नेशनल आप्टीकल फाइबर नेटवर्क’ विषय पर आयोजित स्टेट मिनिस्टर्स कान्फ्रेन्स में उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से प्रतिभाग करते हुये नेशनल आप्टीकल फाइबर नेटवर्क विषय पर विचार प्रस्तुत कर रहे थे।
श्री हसन ने आई.टी. के सर्वांगीण विकास हेतु राज्य सरकार की प्राथमिकतायें बताते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश देश का पहला ऐसा राज्य है जहाॅं समस्त बोर्ड्स के इन्टरमीडियेट पास कर रहे छात्रों-छात्राओं को लैपटाॅप एवं दसवीं कक्षा पास कर रहे छात्रों को टैबलेट वितरित करने का निर्णय लिया गया है। इसके अतिरिक्त प्रदेश में आई.टी. शिक्षा एवं आई.टी. उद्योगों को बढ़ावा देने के लिये भी राज्य सरकार द्वारा आवश्यक कदम उठाये जा रहे हैं।
भारत सरकार द्वारा राज्य से मांगी गयी सहायता के सम्बन्ध में श्री हसन द्वारा बताया गया कि राज्य सरकार द्वारा इस पर विचार किया जायेगा तथा इस सम्बन्ध में प्रमुख सचिव/सचिव, आई.टी. एवं इलेक्ट्रानिक्स विभाग, उ.प्र.शासन की अध्यक्षता में एक समन्वय समिति का गठन कर आवश्यक कार्यवाहियाॅं पूर्ण कराने की दिशा में कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने राज्य का मत प्रकट करते हुये यह भी कहा कि प्रत्येक ग्राम पंचायत स्तर पर राज्य द्वारा उपलब्ध कराये जाने वाले स्थल पर भारत सरकार के संसाधनों से आवश्यक सिविल वर्क का कार्य पूर्ण कराते हुये आवश्यक आडियो/वीडियो संयंत्र भी उपलब्ध कराये जायें, ताकि त्वरित गति से सूचनाओं का आदान-प्रदान सम्भव होने के साथ ई-प्रशासन के माध्यम से शासकीय कार्यवाही में तेज़ी लायी जा सके। इसके अतिरिक्त ग्राम पंचायत स्तर पर रोज़गार को बढ़ावा देने के उद्देश्य से प्रत्येक ग्राम के कम से कम तीन परिवारों के गृहों तक लास्ट माइल कनेक्टीविटी की सुविधा भारत सरकार के संसाधनों से उपलब्ध करायी जाये जिससे इस योजना का लाभ समाज की अन्तिम कड़ी तक पहॅुच सके।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

हमेशा गरीबों और आम आदमियों की तकलीफों को कम करने का काम किया है

Posted on 29 March 2012 by admin

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने समाजवादी क्रांतिरथ यात्रा के समय जो वायदे किए थे, उन्हें पूरा करने के लिए वे शपथ ग्रहण के दिन से ही सचेष्ट हो गए है। गरीबों, किसानों, अल्पसंख्यकों और नौजवानों से किए गए वायदों की पूर्ति के लिए वे छात्रसंघ बहाली, कब्रिस्तानों पर चहारदीवारी बनाने, बेकारी भत्ता देने और किसानों को फसल का उचित मूल्य तथा खरीद सुनिश्चित करने जैसे निर्णय ले चुके हैं।
मुख्यमंत्री ने अब उत्तर प्रदेश में गरीबों को मुफ्त इलाज के अपने वायदे को पूरा करने के लिए भी कदम उठा लिए हैं। विश्व गुर्दा दिवस (28 मार्च) पर लखनऊ में आयोजित जागरूकता रैली में श्री अखिलेश यादव ने घोषणा की कि राज्य सरकार गम्भीर बीमारियों का मुफ्त इलाज कराएगी। वह इसमें गरीबी को बाधा नहीं बनने देगी। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव के निर्देश पर चार गम्भीर बीमारियों कैंसर, किडनी, हार्ट, लीवर के इलाज की मुफ्त व्यवस्था की बात समाजवादी पार्टी के चुनाव घोषणा पत्र 2012 में लिखी गई थी। वे इससे पूर्व अपने कार्यकाल में अस्पताल के पर्चे का मूल्य एक रूपए करने और ग्रामीण इलाकों में मेडिकल कालेज खोलने का निर्णय कार्यान्वित कर चुके  थे।
समाजवादी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता राजेन्द्र चैधरी ने कहा है कि समाजवादी पार्टी का शुरू से ही इस बात पर जोर रहा है कि अस्पतालों में आम आदमी को ठीक से उपचार मिलना चाहिए। सम्पन्न व्यक्ति तो अपना इलाज प्राइवेट संस्थाओं से भी करा लेता है किन्तु जनसामान्य साधनों के अभाव में बिना इलाज के ही मर जाता है। समाजवादी पार्टी हमेशा गरीबों, किसानों को केन्द्र में रखकर योजनाएं बनाने की हिमायती रही है। इसलिए पिछड़ों, अल्पसंख्यकों  को उसने आगे बढ़ाने का काम किया है। मुलायम सिंह यादव ने उस व्यक्ति की चिन्ता की जो कच्ची झोपड़ी में रहता है और जिसकी सांप काटने से मौत हो जाती है। इसलिए उन्होने हमेशा गरीबों और आम आदमियों की तकलीफों को कम करने का काम किया है। इस परम्परा को ही श्री अखिलेश यादव आगे बढ़ा रहे हैं।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

उबर्रक खादो में मूल्य बृद्धि से किसानों में निराशा

Posted on 29 March 2012 by admin

सघन सहकारी समितियों में डी.ए.पी., एन.पी. के. व यूरिया आदि की कीमतो में हुई बेताहाशा वृृद्धि से क्षेत्र के छोटे बडे किसानो में निराशा है। क्षेत्र का किसान उर्वरको की कमी के चलते पहले से ही दोगुने रेट पर खाद खरीदने को मजबूर है अब सरकारी समितियो पर मिलने वाली खाद सस्ती उर्वरक के दामो में बढोत्त्तरी कर सरकार ने आग में घी डालने का काम करते हुए कमजोर किसानो की रीढ तोडने का कार्य किया है ।
उर्वरक के दामो में बेतहाशा वृद्धि हुई है कमरतोड मंहगाई व दिन प्रतिदिन बढाए जा रहे डीजल व पेट्रोल के दामो के मूल्यों से किसान बेहाल है छोटे व बडे किसानो के लिए इस वक्त खेती करना किसी चुनौती से कम नजर नही आ रहा है बाजारो में उपलब्ध शंकर बीजो के भाव बाजारो मे आसमान छू रहे है किसानो द्वारा अपने खेतो का उत्पादन बढाने की वजह से इन मंहगे शंकर बीजो के साथ रासायनिक कीटनाशक व खरपतवार नाशक दवाएं भी आज के युग में खेती का एक हिस्सा बन गई है जो कि किसानो द्वारा ज्यादा दामो पर बाजार में खरीदना पड रहा है वही खेती से उत्पादन किये जाने वाले अनाजो की कीमतो में सरकार द्वारा कोई वृद्धि नही की जा रही है ।
लागत के अनुपात मे गेंहू, धान, सरसो जैसे अनाजो में कीमते न बढने की वजह से किसानो को खेती करना आज के समय में एक घाटे का सौदा नजर आ रहा है जिसके कारण क्षेत्र के छोटे किसान गांव में रहकर खेती करने के बजाय अपनी अजीविका चलाने के लिए शहरो की तरफ पलायन करने पर मजबूर हो रहे है वही बडे बडे किसानो के फायदे भी अब काफी सीमित हो गये है उर्वरको के दामो में वृद्धि महंगी मजदूरी, महंगा डीजल आदि समस्याओं की वजह से इन बडे काश्तकारो की परेशानी का मूल कारण साफ दिखाई पड रहा है ।
क्षेत्रीय किसान विवेक वर्मा, राम उदय वर्मा, सन्तराम यादव ने बताया कि खेती से अब रोजमर्रा के खर्च बीमारी शादी विवाह व हर साल आने वाले तीज त्योहारो आदि करते समय यह चिन्ता भी सताती रहती है कि आखिर जो पूंजी हम खेतो में लगा रहे है वह पूंजी निकलेगी भी या नही इस बात की फिकर हमेशा लगी रहती है ।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

कमीशनखोरी की भेंट चढ़ी प्रधानमंत्री सड़क योजना

Posted on 29 March 2012 by admin

प्रधानमंत्री सडक योजना व पी डब्लू डी योजना के तहत जिले व तहसील क्षेत्र मे बनाई गई दर्जनो सडके कमीशनबाजी के चलते गड़ढो में तब्दील होती नजर आ रही है कोई भी ऐसी सडक नही बची है जो टूटी न हो लोगो ने सडक निर्माण की जांच कराए जाने की मांग भी कई बार उच्चधिकारियों से भी की परन्तु कोई कार्यवाही नही हुई ।
पी एम जी एस वाई के तहत जिले मे युद्ध स्तर पर सडको का निमार्ण कराया गया है अधिकांश सडके ऐसी है जो निमार्ण के कुछ महीने बाद ही गढढो में तब्दील होने लगी मोतिगरपुर  ब्लाक के अठैसी गांव में बनाई गई सडक की हालत दयनीय है कुछ तो बरसात के जल भराव के चलते तबाह हो गई तो कुछ निर्माण में की गई धाधली का शिकार हो गई ।
इस योजना के अन्तर्गत बनाई गई पेमापुर, पलिया मार्ग भी गढढो तब्दील हो गई है वही इटकौली मार्ग का तो बहुत बुरा हाल हो गया है सडको के बीच व बगल में भारी भारी गढढो के चलते पैदल भी चलना मुश्किल हो गया है आये दिन कुछ न कुछ घटनायें होती रहती है कई राहगीरो की जान भी जा चुकी है विभाग इस सडक पर पैबंद लगाकर अपनी कमियों को छिपाने में लगा हुआ है लेकिन बात कुछ ऐसी है कि एक तरफ पैबन्द लगते है तो दूसरी तरफ फिर वाहनो के चलते गढढे हो जाते है । वहीं सिकरा मार्ग का निर्माण भी अभी कुछ महीने पहले ही कराया गया था लेकिन वह भी अव्यवस्था का शिकार होता जा रहा है ।
ग्रामीणो का कहना है कि इस मामले में अधिकारियों से कई बार शिकायत की गई कि गढढो की सही करा दिया जाये जिससे लोगो को आवागमन में दिक्कत न हो लेकिन अधिकारियों द्वारा अब तक कोई कार्यवाई नही की गई ग्रामीणो ने मामले की जांच कराकर कार्यवाही किये जाने की मांग की है ।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

नव संवत्सर का प्रथम दिवस ही वर्ष का राजा: डाॅ0 पाण्डेय

Posted on 29 March 2012 by admin

लखनऊ विश्वविवद्यालय के ज्योतिष विभाग के प्रोफेसर डा० बिपिन पाण्डेय ने एक छोटी सी भेट में नवरात्रि एवं नव संवत्सर के विषय मे कई आवश्यक जानकारियां दी । उन्होने बताया कि जब सूर्य, चन्द्रमा व लग्न मेष राशि में प्रवेश करते है तब नवंसवत्सर का प्रारंभ होता है ।
नवसंवत्सर के प्रथम दिन जो भी दिन रहता है उस वर्ष का राजा वही होता है । शुक्रवार को प्रतिपदा तिथि से इस संवत्सर का प्रारंभ हुआ है इसलिये इस वर्ष का राजा भी शुव्रहृ है । शुव्रहृाचार्य दैत्यों के गुरु थे और बीते युगों में शुव्रहृाचार्य के संरक्षण में ही दैत्य जाति देवताओं और ऋषियों पर अत्याचार करती थी । शुव्रहृ जल एवं विलासिता का प्रतीक है । इसे मुस्लिम एवं स्स्त्रत शक्ति का समर्थक भी माना जाता है।
शुव्रहृ के प्रभाव के कारण पूरे वर्ष कही अतिवृष्टि एवं कही कही अल्प वृष्टि की संभावना बनी रहेगी । भौतिकवाद का विकास होगा । श्री पाण्डेय ने नवरात्रि के विषय में बताते हुए कहा कि नौ दिनों के नवरात्र मे नौ शक्तियां समाहित होती है । नवरात्र नौ ग्रहो का आधार है इसमे मात्र शक्तियां मौजूद रहती है ।
नवरात्र के पहले दिन शैलपुत्री की पूजा होती है । शैलपुत्री नवजात कन्या को कहा जाता है । दूसरे दिन की आराधना ब्र्रहमचारिणी के रुप की होती है । ब्र्रहमचारिणी का मतलब लगभग ६-७ वर्ष की कन्या से होता है । तीसरे दिन की पूजा चंद्रघंटा देवी की पूजा की जाती है । चंद्रघंटा देवी को १२-१३ वर्ष की कन्या के रुप मे माना जाता है । नवरात्रि के चैथे कूष्मांडा देवी की आराधना की जाती है । यह देवी का वह रुप है जब उनकी आयु लगभग १६-१७ वर्ष की होती है । पांचवें दिन स्कंदमाता की आराधना भक्त करते है यह वह रुप है जब स्स्त्रत शक्ति मां बनने के लायक होती है ।
षष्टम दिन मां कात्यायनी की आराधना की जाती है । यह देवी जी का वह रुप है जब वह मां बनकर संर्पूण जगत का पालन करती है । नवरात्रि के सातवें दिन कालरात्रि देवी की आराधना की जाती है । कालरात्रि देवी इस संसार को मोह के अंधकार से प्रकाश की ओर ले जाने का कार्य करती है । आठवां रुप मां गौरी का है जो सबका हमेशा कल्याण करती है । नवरात्रि के नवें दिन मां सिद्धदात्री की आराधना की जाती है जो संपूर्ण जगत को सब प्र्रकार से तृप्ति दिलाने में समर्थ है ।
नव संवत्सर का प्रारंभ नवरात्रि से होता है जिसमें संपूर्ण जगत ९ दिन तक पूजा पाठ व आराधना कर उर्जा व शक्ति का संचय करता है । ज्योतिषी श्री पाण्डेय ने कहा कि कलश स्थापना में बोये हुए जौ के अर्क का यदि पान किया जाय तो वह कई प्रकार की बीमारियों से छुटकारा दिलाता है । उन्होने बताया कि पंचमी तिथि दो दिन की होने के कारण इस बार का नवरात्रि दस दिन का माना गया है जिसमे आगामी १ अपै्रल को नवमी तिथि है जिसमें हवन का मुहूर्त सुबह ९ बजकर २१ मिनट तक एवं सूर्यास्त के समय ज्यादा उपयुक्त है ।
दशमी तिथि सोमवार को पारायण हल्का भोजन के साथ करें । ज्योतिषी श्री पाण्डेय ने हवन एवं पूजन के बाद की राख एवं अन्य पदार्थो को उद्यान या किसी पेड़ के नीचे गाड़ देने की सलाह दी है ।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

पिहानी हरदोई भण्डार अधीक्षक खाद्यान्न घोटाले में फंसे

Posted on 29 March 2012 by admin

हरदोई जनपद के पिहानी एफ0सी0आई0राज्य भण्डार गृह गोदाम में भारतीय खाद्य निगम का गेहूँ चावल में गड़बड़ी पर प्रबन्धक वरिष्ठ भण्डार अधीक्षक के खिलाफ एफ0आई0आर0 दर्ज करवायी गयी गोदाम भण्डारण में गड़बड़ी की शिकायत पर जब जांच पड़ताल हुयी तो 6289बोरियां कम पायी गयी जिसमें 929बोरियां गेहूँ की 5360बोरियां चावल की शामिल हैं। जांच रिपोर्ट की पुष्टि के बाद मंगलवार को क्षेत्रीय प्रबन्धक राजकुमार ने वरिष्ठ भण्डार अधीक्षक दिनेश चन्द्र मिश्रा पर 77.35लाख रूपये का खाद्यान्न में गड़बड़ी की रिपोर्ट दर्ज करवायी चार्ज सौंपने के बाद वरिष्ठ प्रबन्धक अधीक्षक को अवकाश पर चलता किया गया। ज्ञातव्य हो पिहानी के इटारा स्थित गोदाम पर राज्य भण्डार गृह में भारतीय खाद्य निगम का गेहूँ और चावल का स्टाक भण्डारित किया जाता है। इसी प्रकार एक वर्ष पूर्व भी 10हजार बोरियां कम पायी गयी थीं। शिकायत में अधिकारियों की गिनती पर 6289बेारियां फिर कम मिली जिससे हड़कम्प मचा और दिनेश चन्द्र मिश्रा से चार्ज लेकर सहायक गोदाम प्रभारी जगपाल को पूरा चार्ज दिया गया गेहूँ और चावल की कीमत 77,लाख 35हजार 453बतायी गई बीते दिनों एस0डी0एम0 शाहाबाद और सी0ओ0 ने भी जांच की थी जिसमें दो ट्रकों को सील कर दिया गया वह ट्रक अब भी थाने में खड़े हैं।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

प्रधानमन्त्री कार्यालय के निर्देश पर ऊर्जा मन्त्रालय ने उपभोक्ता परिषद के प्रस्ताव को योजना आयोग को भेजा

Posted on 29 March 2012 by admin

केन्द्र द्वारा बिजली दरों में बढोत्तरी हेतु राज्यों पर दबाव बनाना गलत
उच्च स्तरीय शुगलु समिति की रिपोर्ट जन-विरोधी, हो खारिज
शुगलु समिति ने उपभोक्ताओं की बिजली दरों में 50 से 60 पैसे बढोत्तरी का दिया था प्रस्ताव

प्रधानमन्त्री कार्यालय के निर्देश के बाद भारत सरकार की उच्च स्तरीय शुगलु समिति द्वारा योजना अयोग को सौपी गयी रिपोर्ट पर कार्यवाही के पहले उपभोक्ता परिषद के प्रस्ताव पर भी विचार हेतु पूरे प्रकरण को ऊर्जा मन्त्रालय द्वारा योजना आयोग को 22 मार्च को भेजा गया है।
उ0प्र0राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष एवं विश्व ऊर्जा कौसिल के स्थायी सदस्य अवधेश कुमार वर्मा ने कहा कि विगत दिनों उपभोक्ता परिषद की ओर से एक पत्र मा0 प्रधान मन्त्री जी को भेजा गया था। जिसमें उच्च स्तरीय शुगलु समिति की रिपोर्ट को न लागू करने एवं ऊर्जा मन्त्रालय भारत सरकार के खिलाफ कठोर कार्यवाही की मांग की गयी थी।  क्योंकि उच्च स्तरीय शुगलु समिति ने 2006 से 2010 तक के बीच देश के बिजली निगमो का कुल घाटा लगभग रू0 179000 करोड़ बिना सब्सिडी के और सब्सिडी के साथ रू0 82,000 करोड दिखाया गया था तथा वर्ष-2009-10 के सब्सिडी सहित रू0 27000 करोड़ घाटे को पूरा करने हेतु देश के सभी विद्युत उपभोक्ताओं की विद्युत दरों में 50 से 60 पैसा प्रतियूनिट बढ़ाने हेतु रिपोर्ट दी थी तथा किसानों की बिजली दरों में बढोत्तरी को प्रमुख रूप से रिपोर्ट में अंकित किया गया था।  उ0प्र0राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद ने इस पर कड़ा विरोध करते हुए मा0 प्रधानमन्त्री जी को एक पत्र भेजा था और उसमें मांग की गयी थी कि बिजली दरों को बढ़ाने या घटाने का कार्य केन्द्रीय व राज्य के नियामक आयोगों का है।  इसलिए शुगलू समिति की रिपोर्ट को न माना जाये।
प्रधानमन्त्री कार्यालय के निर्देश पर उपभोक्ता परिषद को भारत सरकार के विद्युत मन्त्रालय के अवर सचिव, श्री जी0स्वान जा लियान, द्वारा पत्र लिखकर सूचित किया गया है कि चँूकि शुगलु समिति द्वारा विद्युत वितरण संस्थाओं की वित्तीय स्थिति की समीक्षा हेतु उच्च स्तरीय रिपोर्ट योजना आयोग में प्रस्तुत की जा चुकी है इसलिए उपभोक्ता परिषद के प्रस्ताव को उच्च स्तरीय पैनल से सम्बन्धित मुद्दो/सुझावों को योजना आयोग को कार्यवाही हेतु भेजा जा रहा है तथा यह भी कहा गया है कि पूर्व में उपभोक्ता परिषद को पी0एम0ओ0 कार्यालय के निर्देश पर जो जवाब/टिप्पणी भेजी गयी थी वह पी0एफ0सी0 के जवाब के आधार पर था।
उपभोक्ता परिषद ने पुनः यह बात दुहरायी है कि अब योजना आयोग को उच्च स्तरीय शुगलु समिति व उपभोक्ता परिषद के प्रस्ताव को देखने के बाद ही कोई अन्तिम निर्णय लेना चाहिए और उपभोक्ता परिषद को भेजे गये गलत जवाब के लिए दोषियों को दण्डित किया जाना चाहिए एवं शुगलु समिति की रिपोर्ट जो जन-विरोधी है उसे खारिज किया जाना चाहिए।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

फेसबुक और यू ट्यूब से भी आनंद लिया ताज महोत्सव का

Posted on 29 March 2012 by admin

देश-विदेश के लगभग तीन लाख लोग देख चुके हैं कार्यक्रमों के वीडियो

मण्डलायुक्त अमृत अभिजात की पहल पर ताज महोत्सव -2012 का हाईटेक प्रचार किये जाने की श्रंृखला में इस वर्ष फेसबुक तथा यू ट्यूब पर महोत्सव के प्रस्तावित कार्यक्रमों, प्रस्तुतियों तथा अन्य जानकारियों का व्यापक प्रचार कराया गया जिसके आशानुकूल परिणाम सामने आये है।
यद्यपि इस वर्ष विधानसभा सामान्य चुनाव की तिथियों के कारण महोत्सव कराने का निर्णय काफी विलम्ब से लिया गया था जिसके कारण प्रचार-प्रसार में भी विलम्ब हो रहा था। विगत 12 मार्च को मण्डलायुक्त ने निर्णय लिया कि प्रचार को युवा वर्ग तक इन्टरनेट के माध्यम से कराने के लिए स्थानीय सूचना प्रौद्योगिकी के चर्चित व्यक्तित्व रक्षित टंडन की सेवाएं ली जायें।
रक्षित टंडन की दो सदस्यीय टीम ने रातोंरात सारी तैयारियां कर facebook/tajmahotsavagra  एवं youtube.com/tajmahotsavagra पर संबंधित सूचनाएं 13 मार्च, 2012 से अपलोड करनी आरंभ कर दी। आज की तिथि तक उपलब्ध आंकडों के अनुसार अबतक 88,787 लोगों ने फेसबुक के माध्यम से ताज महोत्सव के कार्यक्रमों, प्रतियोगिताओं तथा अन्य विषयों की जानकारी प्राप्त की तथा कार्यक्रमों के फोटोग्राफस एवं वीडियों का आनंद उठाया। फेसबुक तथा यूट्यूब इन कार्यक्रमों को फेसबुक के आगरा जिला प्रशासन लिंग से सम्बद्ध किए जाने के कारण लगभग दो लाख से अधिक लोगों ने उपलब्ध जानकारी तथा कार्यक्रमों के वीडियों को अवलोकित किया है।
महोत्सव को इन्टरनेट से जोडने में कार्यरत टीम के सुधीर भारव्दाज विगत एक दशक से स्थानीय आई0टी0 क्षेत्र से जुडे है जबकि सागर गुजराती एक ई-मैग्जीन “ अपना शहर “ भी संचालित करते हैं।
इस संबंध में विस्तृत आंकडे उपलब्ध कराते हुए उन्होंने बताया कि फेसबुक पर लगभग 75 प्रतिशत पुरूषों ने ताजमहोत्सव के पेज पर विजिट किया है। इनमें 18-24 वर्ष के युवाओं की संख्या 41 प्रतिशत, 25-43 वर्ष के लोगों की संख्या 22 प्रतिशत तथा 35-44 वर्ष के लोगों का प्रतिशत 05 है। इसी प्रकार महिलाओं के सर्वाधिक 18-34 आयु वर्ग के सदस्यों ने इस माध्यम से कार्यक्रमों में अभिरूचि प्रदर्शित की है।
चूूकि इन्टरनेट की पहुंच विश्व भर में है, इसलिए भारत वर्ष के अतिरिक्त भी विश्व के अन्य देशों के लोगों ने इन कार्यक्रमों का लाभ उठाया। विदेशों में सर्वाधिक रूचि क्रमशः संयुक्त राज्य अमेरिका, पाकिस्तान, यूनाइटेड किंग्डम, यूनाइटेड अरब एमिरात, कनाडा, सऊदी अरब, जर्मनी, फ्रांस व नेपाल के लोगों ने दिखायी।

यदि अपने देश के विषय में चर्चा की जाये तो आंकडों के अनुसार आगरा के सर्वाधिक लोगों ने फेसबुक व यूट्यूब पर ताज महोत्सव-2012 के कार्यक्रमों का लाभ उठाया जबकि अन्य नगरों में क्रमशः नयी दिल्ली, लखनऊ, मुंबई, नोयडा, पूने, गे्रटर नोयडा, इलाहाबाद, कानपुर, बेंगलूर, जयपुर, वाराणसी व मथुरा के नाम आते हैं।
ताज महोत्सव-2012 से संबंधित सभी सामग्री कार्यक्रमों व प्रस्तुतियों के वीडियों, फोटोग्राफ्स, इंटरव्यू आदि अभी भी दोनों माध्यमों पर उपलब्ध है। अद्यतन रूप से कार्यक्रमों के कुल 64 वीडियों य ूट्यूब पर देखे जा सकते है। अब तक 2386 लोग इन्हें देख चुके है। सर्वाधिक लोकप्रिय वीडियो ताज चैेंलेज मोटर कार रैली, हास्य कलाकार कृष्णा व सुदेश की प्रस्तुति व जावेद अली का कार्यक्रम रहा है।
मण्डलायुक्त अमृत अभिजात ने बताया कि आगामी वर्षो में ताज महोत्सव को इन्टरनेट के माध्यम से प्रचारित-प्रसारित करने के लिए आरंभिक समय मे ही प्रयास किये जायेंगे ताकि और भी बेहतर परिणाम मिलंे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

अधिक उत्पादन लेने वाले कृृषकों को सम्मानित किया जायेगा

Posted on 29 March 2012 by admin

dsc_4834उ0प्र0 भूमि सुधार निगम द्वारा कार्यान्वित ऊसर सुधार परियोजना के अंतर्गत अधिक पैदावार लेने वाले कृृषकों को सम्मानित किया जायेगा। यह कहना था माननीय परती भूमि विकास मंत्री श्री ओमप्रकाश सिंह का। माननीय मंत्री श्री ओमप्रकाश सिंह और राज्य मंत्री परती भूमि विकास, श्री जगदीश सोनकर आज उ0प्र0 भूमि सुधार निगम के अधिकारियों के साथ एक समीक्षा बैठक में भाग ले रहे थे। समीक्षा बैठक में माननीय मंत्री जी को अवगत कराया गया कि ऊसर भूमि में जहाँ कुछ भी नही होता था वहाँ सुधार के बाद प्रति हेक्टेयर 78 कुन्टल धान की पैदावार हुयी है।  यह जानकर उन्होनें प्रसन्नता व्यक्त की और कहा कि ऐसे कृषकों का सम्मान होना चाहिए। श्री सिंह ने ऊसर भूमि चयन के मानक का दायरा बढ़ाकर अधिक से अधिक कृृषकों को लाभ देने के निर्देश दिये।  उ0प्र0 भूमि सुधार निगम द्वारा किये गये कार्यों की समीक्षा के दौरान उन्होंने यह भी कहा कि लेजर लेवलर जैसी नई तकनीक का प्रयोग परियोजना के अंतर्गत चयनित सभी जिलों में किया जाय तथा निगम द्वारा बनाये जाने वाले सोडिक हाट में सोलर लाइट भी लगवायी जाय, ताकि कृषकों को सुविधा हो सके। माननीय राज्य मंत्री श्री जगदीश सोनकर ने निगम के कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि नयी सरकार की मंशा को देखते पूरी निष्ठा और ईमानदारी से कार्य किये जाय जिससे परिवर्तन की लहर जन-जन तक पहुँचे। इससे जहाँ सरकार की प्रतिष्ठा बढ़ेगी, वहीं विभाग का भी सम्मान होगा।
समीक्षा बैठक में उ0प्र0 भूमि सुधार निगम के अधिकारियों के साथ-साथ आर0एस0ए0सी0, कृृषि विभाग, सिंचाई विभाग, पंचायत राज और पशुपालन विभाग के अधिकारियों ने भी भाग लिया। विदित हो कि ये सभी विभाग ऊसर भूमि सुधार के साथ मिलकर कार्य करते हैं। समीक्षा बैठक में प्रमुख सचिव श्री योगेश कुमार का कहना था कि किसी भी परियोजना का लाभ देश के अंतिम व्यक्ति तक पहुँचे, तभी सफलता है और प्रमाण भी कि हम अच्छा कार्य कर रहे हैं। उ0प्र0 भूमि सुधार निगम की प्रबन्ध निदेशक श्रीमती आराधना शुक्ला ने निगम की उपलब्धियों और सीमाओं के बारे में माननीय मंत्री जी को विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि निगम की यह सोडिक-तृतीय परियोजना प्रदेश के 29 जिलों में चलायी जा रही है। परियोजना में कुल 1,30,000 हे0 भूमि का सुधार किया जायेगा।  इससे पूर्व निगम की प्रथम एवं द्वितीय चरण की परियोजना में लगभग 3,00,000 हे0 भूमि को सुधार कर उपजाऊ बनाया गया है।   इस परियोजना में ऊसर भूमि को उपजाऊ बनाने के साथ ही कृषिविविधीकरण, पशुपालन, महिला समूहों का सशक्तिकरण कर आयजनित गतिविधियों का सृजन तथा कृषि उपज के विपणन के लिए ढाँचागत् सुविधाओं का विकास किया जायेगा। प्रबन्ध निदेशक महोदया ने आश्वासन दिया कि माननीय मंत्री जी द्वारा दिये गये सकारात्मक सुझावों से भविष्य में और भी अच्छा कार्य करने का प्रयास किया जायेगा। निगम की उपलब्धियों की चर्चा करते हुए प्रबन्ध निदेशक महोदया ने अवगत कराया कि ऊसर सुधार परियोजना को विश्व बैंक ने एक बेहतरीन और सर्वश्रेष्ठ परियोजना की मान्यता दी है। विश्व बैंक द्वारा समय-समय पर इसकी सराहना की गयी है।  यहाँ के सभी अधिकारी और कर्मचारी बड़ी ही निष्ठा और लगन के साथ कार्य करते हैं और आगे भी करते रहेंगे। निगम की इस तृतीय परियोजना को एग्रीकल्चर टुडे द्वारा लीडरशिप एवार्ड भी दिया गया है।  माननीय मंत्री श्री सिंह ने कहा कि ऊसर सुधार की तकनीक और निगम के अधिकारियों और कर्मचारियों की मेहनत से हमें भविष्य में ऐसी सफलता मिलेगी जिसका लाभ गरीबी रेखा के सबसे नीचे जीवन-यापन करने वाले व्यक्तियों तक पहुँंचेगा और यह ऊसर सुधार परियोजना उत्तर प्रदेश में ही नहीं बल्कि देश और विश्व में एक मील का पत्थर साबित होगी। समीक्षा बैठक के अंत में प्रबन्ध निदेशक महोदया ने माननीय मंत्री जी के मार्गदर्शन में वर्तमान सरकार की अपेक्षाओं को पूरा करने तथा कृषकों के जीवन स्तर में गुणात्मक सुधार लाने का विश्वास दिलाया।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

उ0प्र0 के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 28 मार्च, 2012 को विश्व गुर्दा दिवस पर आयोजित जागरूकता रैली को झण्डी दिखाकर के0डी0 सिंह बाबू स्टेडियम, लखनऊ से रवाना करते हुए।

Posted on 29 March 2012 by admin

photo-28-march-2012

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

March 2012
M T W T F S S
« Feb   Apr »
 1234
567891011
12131415161718
19202122232425
262728293031  
-->







 Type in