*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | Latest news

इण्डिया-यू0एस0 सम्बन्धों को मजबूत करने में उत्तर प्रदेश की सुदृढ़ अर्थव्यवस्था बैकबोन का काम करेगी: मुख्यमंत्री

Posted on 24 October 2017 by admin

प्रधानमंत्री जी के प्रयास से इण्डिया-यू0एस0
सम्बन्धों के नए युग की शुरुआत हुई है

प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में भारत दुनिया की उभरती
हुई अर्थव्यवस्था के रूप में आगे बढ़ रहा है

प्रदेश में सभी क्षेत्रों में निवेश व कारोबार की अपार सम्भावनाएं

राज्य में निवेश फ्रैण्डली माहौल बनाने के लिए प्रदेश सरकार प्रतिबद्ध

निवेशकों की सुविधा के लिए मुख्यमंत्री कार्यालय की
निगरानी में एक सिंगल विण्डो सिस्टम स्थापित किया गया है

मुख्यमंत्री से यू0एस0-इण्डिया स्टेªटजिक
पार्टनरशिप फोरम के प्रतिनिधियों ने मुलाकात की

बोइंग इण्डिया के प्रेसिडेण्ट श्री प्रत्यूष कुमार के नेतृत्व में
प्रतिनिधिमण्डल ने प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के आर्थिक
विकास हेतु उठाए गए कदमों की प्रशंसा की

लखनऊ: 23 अक्टूबर, 2017press-2

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के प्रयास से इण्डिया-यू0एस0 सम्बन्धों के नए युग की शुरुआत हुई है। प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में भारत दुनिया की उभरती हुई अर्थव्यवस्था के रूप में आगे बढ़ रहा है। प्रधानमंत्री जी की इच्छा है कि उत्तर प्रदेश तेजी से आर्थिक विकास के पथ पर आगे बढ़े। इण्डिया-यू0एस0 सम्बन्धों को और मजबूत करने में उत्तर प्रदेश की सुदृढ़ अर्थव्यवस्था बैकबोन का काम करेगी। प्रदेश सरकार राज्य में निवेश फ्रैण्डली माहौल बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। इस हेतु निवेशकों को बिजली आपूर्ति, बेहतर रोड कनेक्टिविटी जैसी सभी जरूरी बुनियादी सुविधाओं के साथ-साथ सुदृढ़ कानून व्यवस्था का वातावरण भी उपलब्ध कराया जाएगा।
मुख्यमंत्री जी से आज यहां शास्त्री भवन में यू0एस0-इण्डिया स्टेªटजिक पार्टनरशिप फोरम के प्रतिनिधियों ने मुलाकात की। इस अवसर पर चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री श्री सिद्धार्थनाथ सिंह भी मौजूद थे।
बोइंग इण्डिया के प्रेसिडेण्ट श्री प्रत्यूष कुमार के नेतृत्व में प्रतिनिधिमण्डल के सदस्यों ने प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के आर्थिक विकास हेतु उठाए गए कदमों की प्रशंसा की। प्रतिनिधिमण्डल के सदस्यों ने राज्य में स्वास्थ्य एवं चिकित्सा, फार्मास्युटिकल, जल संचयन, स्वच्छता, ग्राम्य विकास, अपशिष्ट प्रबन्धन, कृषि, दुग्ध विकास, पशुधन विकास, स्मार्ट सिटी, शिक्षा, महिला सशक्तिकरण, कौशल विकास, साॅफ्टवेयर टेक्नोलाॅजी, यातायात, नवीकरणीय ऊर्जा, खाद्य प्रसंस्करण आदि क्षेत्रांे में निवेश करने में अपनी रुचि प्रदर्शित करते हुए प्रदेश सरकार से सहयोग किए जाने का अनुरोध किया।
योगी जी ने कहा कि उत्तर प्रदेश एक बहुत बड़ा राज्य है। यहां की जनसंख्या 22 करोड़ है, जो प्रदेश को देश का सबसे बड़ा बाजार भी बनाती है। मध्यम वर्ग में हो रही वृद्धि के फलस्वरूप प्रदेश में सभी क्षेत्रों में निवेश व कारोबार की अपार सम्भावनाएं हैं। राज्य में ऊर्जा, बुनियादी ढांचे का विकास, स्मार्ट सिटी का विकास, इलेक्ट्राॅनिक्स, आई0टी0, नवीकरणीय ऊर्जा आदि क्षेत्रों में वृहद अवसर मौजूद हैं। यू0एस0 की कम्पनियों द्वारा प्रदेश में निवेश किए जाने से औद्योगिक विकास को गति मिलेगी और रोजगार के नए अवसर सृजित होंगे। इस दृष्टि से राज्य सरकार द्वारा लागू की गई नई उद्योग नीति अत्यन्त उपयोगी सिद्ध होगी।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश सरकार ने निवेशकों एवं उद्यमियों की सुविधा के लिए मुख्यमंत्री कार्यालय की निगरानी में एक सिंगल विण्डो सिस्टम स्थापित किया है। इससे निवेशकों को कई कार्यालयों के स्थान पर एक ही कार्यालय में समयबद्ध ढंग से निवेश सम्बन्धी सुविधाएं एवं अनुमतियां उपलब्ध कराई जा रही हैं। राज्य सरकार निवेशकों को प्रदेश में निवेश का अवसर देने के लिए तत्पर है। उन्होंने प्रतिनिधिमण्डल को आश्वस्त किया कि निवेश के दौरान निवेशकों को शासन-प्रशासन सभी स्तरों पर सकारात्मक और रचनात्मक वातावरण मिलेगा।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि राज्य में पूर्वांचल एवं बुन्देलखण्ड 02 नए एक्सप्रेस-वे बनाए जा रहे हैं। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे लखनऊ से गाजीपुर तक जाएगा। साथ ही, वाराणसी, अयोध्या एवं गोरखपुर को जोड़ेगा। इसी प्रकार बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे आगरा, झांसी, चित्रकूट होते हुए बुन्देलखण्ड तक जाएगा। दोनों ही एक्सप्रेस-वे के साथ औद्योगिक गलियारा भी बनाया जाएगा। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर इस वर्ष के अन्त तक तथा बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे पर अगले वर्ष माह मार्च-अप्रैल तक कार्य शुरू हो जाएगा।
योगी जी ने कहा कि राज्य के 03 नगरों-लखनऊ, गाजियाबाद एवं नोएडा में मेट्रो रेल के विस्तार का कार्य संचालित है। जल्द ही 03 अन्य शहरों में भी मेट्रो रेल का कार्य शुरू हो जाएगा। साथ ही, राज्य सरकार पब्लिक ट्रान्सपोर्ट सिस्टम के अन्य सस्ते, अच्छे और टिकाऊ विकल्प पर भी विचार कर रही है। उन्होंने कहा कि राज्य के विकास के लिए रीजनल एयर कनेक्टिविटी आवश्यक है। इस पर भी राज्य सरकार तेजी से कार्य कर रही है।
प्रतिनिधिमण्डल को सम्बोधित करते हुए मुख्य सचिव श्री राजीव कुमार ने कहा कि प्रदेश सरकार निवेशकों को सुरक्षित, पारदर्शी और अनुकूल वातावरण उपलब्ध कराने के लिए कृतसंकल्प है।
इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव आई0टी0 एवं इलेक्ट्राॅनिक्स श्री संजीव सरन, अपर मुख्य सचिव श्रम श्री आर0के0 तिवारी, प्रमुख सचिव अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास श्री आलोक सिन्हा, प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा श्री रजनीश दूबे, प्रमुख सचिव नगरीय विकास श्री मनोज कुमार सिंह, प्रमुख सचिव खाद्य प्रसंस्करण श्री सुधीर गर्ग ने निवेशकों को राज्य में निवेश के अवसरों और निवेश प्रोत्साहन के लिए प्रदेश सरकार द्वारा उठाए जा रहे कदमों से अवगत कराया।press-3
प्रतिनिधिमण्डल में यू0एस0 दूतावास के हेड आॅफ नाॅर्थ इण्डिया आॅफिस श्री एरियल पोलाॅक, यू0एस0टी0डी0ए0 के कन्ट्री मैनेजर-साउथ एशिया एण्ड मिडिल ईस्ट श्री हेथर लैनिंगन, यू0एस0टी0डी0ए0 के इण्डिया रिप्रिजेण्टेटिव सुश्री मेनहाज़ अंसारी सहित अज़्योर पावर के सी0ई0ओ0 श्री इन्द्रप्रीत वाधवा, कारगिल इण्डिया के चेयरमैन श्री सिराज चैधरी, मर्क के एम0डी0 श्री विवेक कामथ, प्रैट एण्ड व्हिटनी के एम0डी0 श्री पलाश राॅय चैधरी, मेडट्राॅनिक के डाॅयरेक्टर श्री अमित कुमार सिंह, शायर के हेड-इक्सटर्नल अफेयर्स श्री भास्कर ज्योति सोनोवाल, दुआ कन्सल्टेंसी के पार्टनर श्री बालिन्दर सिंह, मास्टर कार्ड के वाइस प्रेसिडेण्ट-पब्लिक पाॅलिसी श्री रोहन मिश्रा, वाटर हेल्थ के बिजनेस डेवलपमेण्ट मैनेजर श्री देवेश शर्मा, कोका कोला इण्डिया के डायरेक्टर-पब्लिक पाॅलिसी श्री चन्द्रमोहन गुप्ता, हनीवेल के डायरेक्टर-गवर्नमेण्ट अफेयर्स श्री अश्विनी चन्नन, हनीवेल के सीनियर मैनेजर-गवर्नमेण्ट अफेयर्स श्री दिव्यज्योति भुयन सम्मिलित थे।
इसके अलावा, प्रतिनिधिमण्डल में एडोबी के डायरेक्टर-गवर्नमेण्ट अफेयर्स श्री रोहन मित्रा, उबर के पब्लिक पाॅलिसी-साउथ एशिया श्री समीर बोरे, महिन्द्रा के हेड-होमलैण्ड सिक्योरिटी एण्ड स्मार्ट सिटीज़ श्री जसबीर सिंह, फेसबुक के हेड-इकोनाॅमिक इनीशियेटिव्स श्री रजत अरोड़ा, यस बैंक की सीनियर प्रेसिडेण्ट सुश्री प्रीति सिन्हा, यस बैंक के वाइस प्रेसिडेण्ट-यस इंस्टीट्यूट सुश्री शाशवती घोष, मोनसैण्टो के डायरेक्टर-गवर्नमेण्ट अफेयर्स श्री राकेश दुबे, पी0 एण्ड जी0 की डायरेक्टर-गवर्नमेण्ट अफेयर्स सुश्री सुप्रिया शर्मा, ओरेकल की डायरेक्टर-गवर्नमेण्ट अफेयर्स सुश्री अस्लेशा खण्डेपार्कर, जी0ई0 हेल्थ के चीफ काॅमर्शियल आॅफिसर श्री मन्दीप सिंह शामिल थे।
बैठक में अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त डाॅ0 अनूप चन्द्र पाण्डेय, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री एस0पी0 गोयल सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

Comments (0)

मुख्यमंत्री ने हमीरपुर जनपद की कानून-व्यवस्था व विकास कार्यों की समीक्षा की

Posted on 23 October 2017 by admin

मुख्यमंत्री ने थानाध्यक्ष कुरारा व ललपुरा के अवैध खनन में लिप्त होने की शिकायत प्राप्त होने पर दोनांे थानाध्यक्षों के विरुद्ध जांच करके उन्हें निलम्बित करने के निर्देश दिये

मुख्यमंत्री ने मुख्य स्थानांे पर पुलिस गश्त सायं से चालू कराने के निर्देश दिये

यू0पी0-100 के वाहनांे के माध्यम से भी प्रभावी गश्त कराने के निर्देश

जनपद के सभी थानों में पांच-पांच बड़े और सक्रिय़
अपराधियांे की सूची तैयार कर उनपर कड़ी कार्यवाही की जाए

विकास कार्यों में सकारात्मक परिवर्तन दिखना चाहिए: मुख्यमंत्री

भूमि/खनन माफिया से सख्ती से निपटने के निर्देश दिये

मुख्यमंत्री ने विकास कार्याें से जुड़े अधिकारियों को अपनी कार्य-संस्कृति में सुधार लाने के लिए सचेत किया

लखनऊ: 22 अक्टूबर, 2017

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज जनपद हमीरपुर में स्थित डाॅ0 ए0पी0जे0 अब्दुल कलाम सभाकक्ष में कानून-व्यवस्था व विकास कार्यों की समीक्षा की। कानून व्यवस्था की समीक्षा करते हुए उन्होंने थानाध्यक्ष कुरारा व ललपुरा के अवैध खनन में लिप्त होने की शिकायत प्राप्त होने पर दोनांे थानाध्यक्षों के विरुद्ध जांच करके उन्हें निलम्बित करने के निर्देश पुलिस अधीक्षक को दिए।

मुख्यमंत्री जी ने समीक्षा के दौरान बलात्कार, वाहन चोरी के अपराध अधिक पाये जाने पर अंकुश लगाये जाने के निर्देश देते हुए कहा कि पुलिस गश्त (पेट्रोलिंग) सायं से मुख्य स्थानांे पर चालू करायी जाए। साथ ही, यू0पी0-100 के वाहनांे के माध्यम से भी प्रभावी गश्त कराई जाए। उन्हांेने निर्देश दिए कि जनपद के सभी थानों में पांच-पांच बड़े और सक्रिय़ अपराधियांे की सूची तैयार की जाए और उनपर कड़ी कार्यवाही की जाए। उन्होंने कहा कि जिन थानाध्यक्षों व पुलिसकर्मियों के अपराधियांे से सम्बन्ध होने की शिकायत मिलें तो उनकी तत्काल जांच की जाए और सम्बन्ध साबित होने पर उन्हें निलम्बित करके जेल भेजा जाए।

योगी जी ने भूमि/खनन माफिया से सख्ती से निपटने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि दलितों, गरीबों, भूमिहीनों के मकान कतई न गिराये जाएं और उनका उत्पीड़न न किया जाए। उन्होंने कहा कि पुलिस का काम जनपद को अपराधमुक्त करते हुए जनता का विश्वास जीतना है। पुलिस जनता से सीधे संवाद स्थापित करे और उनकी शिकायतों की सुनवाई करे। शिकायत सही होने की दशा में तत्काल कार्यवाही की जाए। उन्होंने एण्टी रोमियो अभियान में तेजी लाने के भी निर्देश दिये।

मुख्यमंत्री जी ने विकास कार्यों की समीक्षा करते हुए कहा कि अब विकास कार्यों में सकारात्मक परिवर्तन दिखना चाहिए। सभी कार्य गुणवत्ता के साथ मानकों के आधार पर हों और वे धरातल पर दिखाई भी दें। उन्हांेने कहा कि थाना दिवस/सम्पूर्ण समाधान दिवस के दौरान मिलने वाली शिकायतों का मौके पर जाकर निस्तारण सुनिश्चित किया जाए, ताकि शिकायतकर्ता शासन स्तर पर जाने के लिए मजबूर न हों।

योगी जी ने जनपद के समीक्षा बैठक के दौरान जनपद के कतिपय अधिकारियों कार्यक्रम अधिकारी श्री पी0डी0 विश्वकर्मा, एन0आर0एल0एम0 श्री ज्ञानेश्वर तिवारी, अधिशासी अभियन्ता जल निगम श्री आर0एस0 मौर्या, खनिज सर्वेयर श्री विजय कुमार की शिकायत मिलने पर उन्हें कड़ी हिदायत देते हुए कहा कि वे अपने आचरण में सुधार लाएं और अपनी कार्य संस्कृति ठीक करें अन्यथा उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी।

हमीरपुर जनपद के तहत चकबन्दी विभाग के कार्य-कलापों की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री जी ने सुमेरपुर विकास खण्ड के कुछ ग्रामांे की चकबन्दी प्रक्रिया लम्बित होने के सम्बन्ध में एस0ओ0सी0 से जानकारी ली, जिसपर उन्हें बताया गया कि उच्च न्यायालय इलाहाबाद के आदेश पर चकबन्दी प्रक्रिया बाधित है। उन्होंने चकबन्दी विभाग की कार्य-संस्कृति पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए इसमें तत्काल सुधार लाने के निर्देश अधिकारियों को दिये। उन्होंने एस0ओ0सी0 को निर्देश दिए कि किसानांे का पुराना मूल चक वापस कराना सुनिश्चित करें।

मुख्यमंत्री जी द्वारा जनपद की सड़कों की समीक्षा के दौरान उन्हें हमीरपुर राठ विधायक श्रीमती मनीषा अनुरागी ने बताया कि हमीरपुर राठ मार्ग पर बहुत से गड्ढे हैं, जिससे यात्रियों को आवागमन में काफी दिक्कत होती है। इसके सम्बन्ध में बैठक में मौजूद मुख्य अभियन्ता चित्रकूट धाम मण्डल ने बताया कि मार्ग को गड्ढामुक्त करने के लिए धनराशि प्राप्त हो चुकी है और कार्य चल रहा है। मुख्यमंत्री जी ने मण्डलायुक्त को मामले की जांच करके आख्या शीघ्र उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

आंगनबाड़ी केन्द्रांे की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री जी ने कार्यक्रम अधिकारी को निर्देश दिए कि आंगनबाड़ी केन्द्र के सभी बच्चों को आधार से जोड़कर पुष्टाहार दें। उन्हांेने जिलाधिकारी को निर्देश दिये कि वह आंगनबाड़ी निर्माण कार्यांे का नियमित निरीक्षण करें।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि जनपद मंे विकास कार्य परिलक्षित होने चाहिए। शासन की कल्याणकारी योजनाओं को आमजन से जोड़कर उन्हें समयबद्धता के साथ लाभान्वित कराना सुनिश्चित किया जाए। सभी अधिकारी आपस में समन्वय बनाकर टीम भावना से विकास कार्य करें। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारियांे की जनता के प्रति जवाबदेही बनती है। प्रशासन को संवेदनशील बनाना पडे़गा। उन्हांेने कहा कि जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक जेल का औचक निरीक्षण करंे। जनपद हमीरपुर की अलग पहचान बनाने के लिए इसे पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जाए।

इस अवसर पर परिवहन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री स्वतंत्र देव सिंह, ग्रामीण विकास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डाॅ0 महेन्द्र सिंह, श्रम एवं सेवायोजन राज्य मंत्री श्री मनोहर लाल मन्नू कोरी, जनप्रतिनिधिगण सहित मण्डल, जिला तथा पुलिस प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।

Comments (0)

मुख्यमंत्री ने शहीद के परिवार को मिलने वाली 25 लाख रु0 की अहेतुक सहायता राशि को बढ़ाकर 50 लाख रु0 करने की घोषणा की

Posted on 21 October 2017 by admin

पौष्टिक भत्ते की राशि में भी इजाफा

सत्ता में आते ही राज्य सरकार द्वारा अपराधमुक्त एवं भ्रष्टाचारमुक्त
प्रदेश बनाने के लिए गम्भीरता से कार्य शुरू किया: मुख्यमंत्री

उ0प्र0 पुलिस द्वारा अत्यन्त विषम परिस्थितियों में भी कानून-व्यवस्था सुदृढ़ रखने
तथा साम्प्रदायिक सौहार्द बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी गई

कानून-व्यवस्था को और बेहतर बनाना होगा, अभी काफी काम बाकी है

महत्वपूर्ण मेले, त्यौहारों जैसे- ईद-उल-फितर, बकरीद, मोहर्रम, दुर्गा पूजा, दशहरा, सावन झूला इत्यादि में पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित
कर सभी त्यौहार सकुशल सम्पन्न कराए गए

महिलाओं की सुरक्षा एवं सशक्तिकरण हेतु ‘एण्टी रोमियो स्क्वाॅड’
का गठन कर अनवरत अभियान चलाने की व्यवस्था की गई

पुलिस अधिकारियों को कम से कम 60 मिनट फुट पेट्रोलिंग भी
सुनिश्चित करने के निर्देश राज्य सरकार द्वारा दिए गए

मुख्यमंत्री पुलिस स्मृति दिवस में शामिल हुए

लखनऊ: 21 अक्टूबर, 2017

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कर्तव्यपालन के दौरान अपने प्राणों को न्यौछावर करने वाले पुलिसकर्मियों को आज यहां पुलिस लाइन मंे पुलिस स्मृति दिवस के अवसर पर अपनी श्रद्धांजलि देने के उपरान्त कहा कि राज्य सरकार शहीदों के परिवारों के साथ है और उनके हित में सभी आवश्यक कदम उठा रही है। इस अवसर पर उन्होंने शहीद पुलिसकर्मियों के परिवारों को दी जाने वाली अहेतुक सहायता राशि को 20 लाख रुपए से बढ़ाकर 40 लाख रुपए करने के साथ-साथ शहीद के माता-पिता को दी जाने वाली 05 लाख रुपए की सहायता राशि को 10 लाख रुपए करने की घोषणा की। इस प्रकार शहीद के आश्रितों एवं उनके माता-पिता को कुल 50 लाख रुपए की अनुग्रह राशि प्रदान की जाएगी।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी ने पुलिस विभाग के अपर पुलिस अधीक्षक से लेकर चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों को वर्तमान में दिए जा रहे पौष्टिक आहार भत्ते की राशि को भी बढ़ाने की घोषणा की। इसके तहत अब अपर पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक को इस मद में दी जाने वाली 600 रुपए की धनराशि के स्थान पर 800 रुपए देय होगी, जबकि निरीक्षक से लिपिक संवर्ग के पुलिस कर्मियों को अब 900 रुपए के स्थान पर 1200 रुपए मिलेंगे। इसी प्रकार हेड काॅन्सटेबल/काॅन्सटेबल के लिए इस राशि को 1050 रुपए से बढ़ाकर 1500 रुपए किया गया है, जबकि चतुर्थ श्रेणी के पुलिस कर्मियों को देय पौष्टिक भत्ते की राशि को 950 रुपए से बढ़ाकर 1350 रुपए कर दिया गया है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि सत्ता में आते ही राज्य सरकार द्वारा अपराधमुक्त एवं भ्रष्टाचारमुक्त प्रदेश बनाने के लिए गम्भीरता से कार्य शुरू किया गया। कानून व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त बनाए रखने के लिए पुलिस को स्पष्ट निर्देश दिये गये हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा अपने कर्तव्यों के प्रति समर्पित पुलिस कर्मियों को सम्मानित करने और उनका मनोबल बढ़ाने के लिए स्वतंत्रता दिवस 2017 के अवसर पर 50 पुलिस कर्मियों को ‘उत्कृष्ट सेवा सम्मान चिन्ह’ तथा 200 पुलिस कर्मियों को ‘सराहनीय सेवा सम्मान चिन्ह’ से सम्मानित किया गया।
योगी जी ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा 104 पुलिस कार्मिकों को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से पुलिस महानिदेशक के ‘प्रशंसा चिन्ह’ से भी सम्मानित किया गया है। इनमें राजपत्रित व अराजपत्रित, दोनों स्तर के कार्मिक शामिल हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस विभाग की समस्त इकाइयों, अग्निशमन तथा पी0ए0सी0 के अराजपत्रित/राजपत्रित अधिकारियों की उत्कृष्ट एवं सराहनीय सेवा के लिए प्रदेश सरकार ने पुलिस महानिदेशक के ‘प्रशंसा चिन्ह’ की संख्या को 200 से बढ़ाकर 950 किये जाने का निर्णय लिया है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि साथ ही, पुलिस विभाग में मृतक आश्रित के रूप में विभिन्न पदों पर लगभग 400 अभ्यर्थियों को सेवायोजन प्रदान कर दिवंगत पुलिस कार्मिर्कों के परिवारों को सहारा देने का काम भी किया गया है। पुलिस बल की कमी को दूर करने के लिए अगले 05 वर्षों की रणनीति तैयार की गई है। इसके तहत इस वर्ष आरक्षी एवं समकक्ष तथा उपनिरीक्षक/प्लाटून कमाण्डर के 47 हजार पदों पर सीधी भर्ती की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। प्राकृतिक एवं मानव जनित आपदाओं के दौरान राहत एवं बचाव कार्यों हेतु वर्तमान प्रदेश सरकार द्वारा ‘राज्य आपदा मोचन बल’ (एस0डी0आर0एफ0) के गठन का निर्णय लेते हुए इसके लिए 535 पदों का सृजन भी किया गया है। इसके साथ ही, ‘यू0पी0 100’ परियोजना को और अधिक सुदृढ़ कर सफलतापूर्वक संचालित करने हेतु विभिन्न श्रेणी के 04 हजार 493 पदों के सृजन का फैसला लिया गया है। इन पदों को सीधी भर्ती एवं पदोन्नति के माध्यम से भरने की कार्रवाई शुरू की जा रही है।
योगी जी ने कहा कि उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा अत्यन्त विषम परिस्थितियों में भी कानून-व्यवस्था सुदृढ़ रखने तथा साम्प्रदायिक सौहार्द बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी गई है। इससे आम जनता में सुरक्षा की भावना मजबूत हुई है एवं पुलिस के प्रति विश्वास बढ़ा है, लेकिन कानून-व्यवस्था को और बेहतर बनाना होगा। उन्होंने कहा कि अभी बहुत काम करना बाकी है, क्योंकि चुनौतियां बहुत हैं। साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने वाले अराजक तत्वों को चिन्हित कर उनके विरुद्ध प्रभावी निरोधात्मक एवं वैधानिक कार्यवाही की गयी है। महत्वपूर्ण मेले, त्यौहारों जैसे- ईद-उल-फितर, बकरीद, मोहर्रम, दुर्गा पूजा, दशहरा, सावन झूला इत्यादि में पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित कर सभी त्यौहार सकुशल सम्पन्न कराए गए हैं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश सरकार महिलाओं एवं छात्राओं की सुरक्षा को लेकर विशेष रूप से सतर्क एवं प्रतिबद्ध है। इसीलिए महिलाओं की सुरक्षा एवं सशक्तिकरण हेतु ‘एण्टी रोमियो स्क्वाॅड’ का गठन कर अनवरत अभियान चलाने की व्यवस्था की गई। प्रदेश की आम जनता के बीच सुरक्षा की भावना जागृत करते हुए पुलिस की मित्र छवि बनाए जाने एवं अपराधियों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही किए जाने के उद्देश्य से, प्रतिदिन चेकिंग आदि की कार्यवाही के साथ-साथ पुलिस अधिकारियों को कम से कम 60 मिनट फुट पेट्रोलिंग भी सुनिश्चित करने के निर्देश राज्य सरकार द्वारा दिए गए हैं।
योगी जी ने कहा कि पुलिस द्वारा अपराधियों की धर-पकड़ के लिए प्रभावी कार्रवाई की गई, जिसके फलस्वरूप अब तक पूरे प्रदेश में 543 मुठभेड़ें हुयी हैं। इन मुठभेड़ों के फलस्वरूप 01 हजार 405 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया, जिनमें 01 हजार 80 पुरस्कार घोषित अपराधी भी सम्मिलित हैं। अपराधियों तथा पुलिस के बीच हुई मुठभेड़ों में 22 इनामी अपराधी मारे गए तथा 130 घायल हुए। इन मुठभेड़ों में 127 पुलिस कर्मी भी घायल हुए।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि ए0टी0एस0 द्वारा आतंकवादी संगठनों- आई0एस0आई0एस0, बब्बर खालसा, अन्सारुल बंगलादेश टीम, हिजाबुल मुजाहिद्दीन के 19 आतंकवादी और विदेशी खुफिया एजेंसी से जुड़े 03 जासूसों को गिरफ्तार किया गया तथा एक मुठभेड़ में आई0एस0आई0एस0 से जुड़े आतंकवादी को मार गिराया गया।
योगी जी ने कहा कि उत्तर प्रदेश बड़ा राज्य है। विभिन्न आतंकवादी संगठन प्रदेश की कानून-व्यवस्था को प्रभावित करने का प्रयास करते रहते हैं। ऐसे तत्वों से मुकाबला करने के लिए ए0टी0एस0 द्वारा विशेष प्रशिक्षण प्रदान कर जनपदीय स्वाट टीमों का गठन किया गया है, जिनमें जनपद वाराणसी एवं आगरा की टीमें भी शामिल हैं। प्रदेश की विस्तृत अंतर्राष्ट्रीय सीमा एवं आतंकवाद व नक्सलवाद की गम्भीर समस्याओं के दृष्टिगत प्रदेश में विशेष प्रशिक्षण एवं अत्याधुनिक संसाधनों से युक्त होकर कुख्यात अपराधियों के विरुद्ध आॅपरेशन संचालित करने हेतु आतंकवाद निरोधक दस्ता के अंतर्गत ‘विशेष पुलिस संचालन टीम’ ैचमबपंस च्वसपबम व्चमतंजपवदे ज्मंउ ;ैच्व्ज्द्ध के गठन हेतु विभिन्न श्रेणी के कुल 694 पदों की मंजूरी प्रदान की गई है। इसमें 517 पद पुलिस विभाग से समायोजन करते हुए 177 नवीन पद सृजित किए गए हैं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि तकनीक के विस्तार से साइबर अपराध भी बढ़े हैं। इसको दृष्टिगत रखते हुए राज्य सरकार द्वारा साइबर अपराधों की प्रभावी रोकथाम हेतु राजधानी लखनऊ एवं जनपद गौतमबुद्धनगर में साइबर थानों की स्थापना की गयी है। समाज व राष्ट्र विरोधी तत्वों द्वारा सोशल मीडिया का दुरुपयोग कर कानून-व्यवस्था सम्बन्धी गम्भीर समस्याएं पैदा करने का प्रयास किया जा रहा है, इससे निपटने के लिए सोशल मीडिया पर निरन्तर निगरानी करते हुए प्रभावी कार्यवाही की जा रही है।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए पुलिस महानिदेशक श्री सुलखान सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश में 01 सितम्बर, 2016 से 31 अगस्त, 2017 की अवधि में 76 पुलिस कर्मियों ने कर्तव्यपालन के दौरान शहादत दी। उन्होंने शहीदों के प्रति अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनके परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की।
कार्यक्रम के दौरान मुख्य सचिव श्री राजीव कुमार, प्रमुख सचिव गृह श्री अरविन्द कुमार सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण आदि उपस्थित थे।

Comments (0)

बच्चों को टीका निवारणीय रोगों से बचाव हेतु सघन मिशन इन्द्रधनुष अभियान के अन्तर्गत आगामी 08 अक्टूबर से टीकाकरण कराने का अभियान प्रदेश के चिन्हित 52 जनपद एवं 08 शहरी क्षेत्रों में चलेगा अभियान: मुख्य सचिव

Posted on 07 October 2017 by admin

अभियान की शुरुआत आगामी 08 अक्टूबर को गुजरात में
मा0 प्रधानमंत्री जी के कर-कमलों द्वारा होना संभावित

अभियान की सफलता हेतु मण्डलायुक्तों एवं जिलाधिकारियों को प्रत्येक स्तर पर
अभियान कार्यक्रम की गहन समीक्षा एवं अनुश्रवण सुनिश्चित करना अनिवार्य: राजीव कुमार

dsc_5215चिन्हित समस्त जनपद, तहसील, ब्लाक स्तरीय अधिकारियों को अभियान की सफलता हेतु नोडल अधिकारी नामित कर प्रतिदिन समीक्षा सुनिश्चित की जाये: मुख्य सचिव

चिन्हित जनपदों एवं नगरीय क्षेत्रों में आगामी दिसम्बर, 2018 तक 90 प्रतिशत से अधिक
बच्चों को पूर्ण प्रतिरक्षित कराया जाना सुनिश्चित कराया जाये: राजीव कुमार

लखनऊ: 06 अक्टूबर, 2017

उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव श्री राजीव कुमार ने निर्देश दिये हैं कि बच्चों को टीका निवारणीय रोगों से बचाव हेतु सघन मिशन इन्द्रधनुष अभियान के अन्तर्गत आगामी 08 अक्टूबर से टीकाकरण कराने का अभियान प्रदेश के चिन्हित 52 जनपद एवं 08 शहरी क्षेत्रों में अभियान चलाया जाये। उन्होंने कहा कि चिन्हित जनपदों एवं नगरीय क्षेत्रों में आगामी दिसम्बर, 2018 तक 90 प्रतिशत से अधिक बच्चों को पूर्ण प्रतिरक्षित कराया जाना सुनिश्चित कराया जाये। सघन मिशन इन्द्रधनुष का शुभारम्भ आगामी 08 अक्टूबर को मा0 प्रधानमंत्री के कर-कमलों द्वारा वाड़नगर, गुजरात में कराया जाना प्रस्तावित है।
मुख्य सचिव ने आज योजना भवन में वीडियो कान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से सघन मिशन इन्द्रधनुष अभियान को सफल बनाने हेतु मण्डलायुक्तों, जिलाधिकारियों एवं मुख्य विकास अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दे रहे थे। उन्होंने कहा कि अभियान की सफलता हेतु मण्डलायुक्तों एवं जिलाधिकारियों को प्रत्येक स्तर पर अभियान कार्यक्रम की गहन समीक्षा एवं अनुश्रवण सुनिश्चित कराना होगा। उन्होंने कहा कि अभियान की सफलता हेतु आई0सी0डी0एस0, पंचायतीराज, बेसिक शिक्षा, स्वच्छ भारत मिशन (शहरी एवं ग्रामीण), डूडा, नगर निगम, नगर पालिका, एन0सी0सी0, एन0वाई0के0, स्वास्थ्य सहयोगी संस्थाओं इत्यादि का अभियान सम्बन्धी सहयोगात्मक गतिविधियों हेतु आवश्यक निर्देश यथाशीघ्र निर्गत करना सुनिश्चित करायें।
श्री राजीव कुमार ने यह भी निर्देश दिये कि चिन्हित समस्त जनपद, तहसील, ब्लाक स्तरीय अधिकारियों को अभियान की सफलता हेतु नोडल अधिकारी नामित कर प्रतिदिन समीक्षा सुनिश्चित की जाये। उन्होंने कहा कि अभियान की सफलता हेतु मीडिया कार्यशाला, रैली, प्रचार-प्रसार सामग्री का वितरण एवं प्रदर्शनी इत्यादि गतिविधियां सुनिश्चित कराकर लोगों में जागरूकता पैदा कर टीकाकरण अभियान को सफल बनाया जाये। उन्होंने कहा कि सघन मिशन इन्द्रधनुष अभियान के अन्तर्गत यथासंभव प्रयास कर शत-प्रतिशत बच्चों का टीकाकरण सुनिश्चित कराया जाये।
सघन मिशन इन्द्रधनुष हेतु 52 जनपद-अलीगढ़, अम्बेडकर नगर, औरैया, आजमगढ़, बहराइच, बलिया, बलरामपुर, बांदा, बाराबंकी, बस्ती, बिजनौर, बदायूं, बुलन्दशहर, चित्रकूट, देवरिया, एटा, फर्रुखाबाद, फतेहपुर, फिरोजाबाद, गाजीपुर, गोण्डा, गोरखपुर, हापुड़, हरदोई, जौनपुर, कन्नौज, कासगंज, कौशाम्बी, कुशीनगर, लखीमपुर खीरी, ललितपुर, महाराजगंज, मैनपुरी, मथुरा, मऊ, मिर्जापुर, मुरादाबाद, मुजफ्फरनगर, प्रतापगढ़, रायबरेली, रामपुर, सहारनपुर, संभल, संत कबीर नगर, संत रविदास नगर, शाहजहांपुर, श्रावस्ती, सिद्धार्थ नगर, सीतापुर, सोनभद्र, सुल्तानपुर, उन्नाव तथा 08 शहरी क्षेत्रों-आगरा, इलाहाबाद, बरेली, गाज़ियाबाद, कानपुर नगर, लखनऊ, मेरठ, वाराणसी को चिन्हित किया गया है।
वीडियो कान्फ्रेन्सिंग में भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के अपर सचिव श्री मनोज झलानी, प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री प्रशांत त्रिवेदी एवं मिशन निदेशक श्री पंकज कुमार सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।

Comments (0)

शिक्षा समाज के सकारात्मक विकास के लिए आवश्यक: मुख्यमंत्री

Posted on 03 October 2017 by admin

कोई भी समाज अपनी प्रतिभाओं को प्रोत्साहित कर
आने वाली पीढ़ी के लिए भविष्य का खाका तैयार कर सकता है

सभी सम्मानित छात्र समाज की प्रतिभा हैं

रचनात्मक गतिविधियां समाज की प्रगति के लिए आवश्यक: मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने ‘अमर उजाला’ समाचार पत्र द्वारा
सम्मानित किए जाने वाले मेधावी छात्र-छात्राओं से भेंट की

press-42लखनऊ: 03 अक्टूबर, 2017

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा है कि शिक्षा समाज के सकारात्मक विकास के लिए आवश्यक है। उन्होंने जीवन में सफलता के लिए संघर्ष को एक मात्र उपाय बताते हुए कहा कि जीवन से पलायन करना कायरता है। उन्होंने कहा कि कोई भी समाज अपनी प्रतिभाओं को प्रोत्साहित कर आने वाली पीढ़ी के बेहतर भविष्य का खाका तैयार कर सकता है। उन्होंने मेधावी विद्यार्थियों को आश्वस्त किया कि वर्तमान राज्य सरकार प्रदेश में शिक्षा का एक बेहतर माहौल बनाने के लिए सक्रिय प्रयास कर रही है।
मुख्यमंत्री जी ने यह विचार आज यहां अपने सरकारी आवास पर ‘अमर उजाला’ समाचार पत्र द्वारा सम्मानित किए जाने वाले मेधावी छात्र-छात्राओं से भेंट के अवसर पर व्यक्त किए। ज्ञातव्य है कि माध्यमिक शिक्षा परिषद, उत्तर प्रदेश की वर्ष 2017 की हाईस्कूल एवं इण्टरमीडिएट परीक्षाओं में प्रदेश स्तर पर प्रथम 10 स्थान व जिला स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले मेधावी छात्र-छात्राओं को सम्मानित किया जाएगा।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि सभी सम्मानित छात्र समाज की प्रतिभा हैं। आप सभी ने यह मुकाम कठिन पुरुषार्थ के कारण प्राप्त किया है। आपको सम्मानित करने से समाज व राष्ट्र का कल्याण होगा। उन्होंने कहा कि मीडिया समाज में अच्छा बदलाव ला सकता है। यह कार्यक्रम उसी का एक उदाहरण है। समाज की प्रतिभा को आगे बढ़ाने में इस तरह के मंच किसी भी विद्यार्थी के जीवन के लिए मील का पत्थर साबित हो सकते हैं। press-5
योगी जी ने कहा कि रचनात्मक गतिविधियां समाज की प्रगति के लिए आवश्यक है। उन्होंने कहा कि ईश्वर द्वारा प्रदत्त हर चीज में कोई न कोई गुण है। आवश्यकता है एक योजक की, जो उसे समाजोपयोगी बना दे। उन्होंने कहा कि मीडिया शासन की लोक कल्याणकारी योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने का एक सशक्त माध्यम है।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए उप मुख्यमंत्री डाॅ0 दिनेश शर्मा ने कहा कि पुरस्कार हमें लक्ष्य प्राप्ति की ओर आगे बढ़ने की प्रेरणा देता है। उन्होंने छात्रों को सलाह देते हुए कहा कि सकारात्मक एवं अच्छी सोच के साथ परिश्रम करने पर सफलता की मंजिल तक पहुंचने से कोई रोक नहीं सकता है।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी के सूचना सलाहकार श्री मृत्युंजय कुमार, अपर मुख्य सचिव माध्यमिक एवं उच्च शिक्षा श्री संजय अग्रवाल, प्रमुख सचिव सूचना श्री अवनीश कुमार अवस्थी, अमर उजाला के कार्यकारी सम्पादक डाॅ0 इन्दुशेखर पंचोली, छात्र-छात्राओं सहित अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।

Comments (0)

उत्तर प्रदेश को स्वच्छता ही सेवा अभियान के अंतर्गत विगत 15 सितम्बर से 02 अक्टूबर, 2017 तक 3,52,950 शौचालयों का निर्माण कराने पर देश में मिला प्रथम स्थान, राजस्थान दूसरे एवं कर्नाटक राज्य को मिला तृतीय स्थान

Posted on 03 October 2017 by admin

प्रदेश का प्रथम नगर पंचायत सहनपुर जनपद बिजनौर भारत सरकार द्वारा विगत
04 सितम्बर को ओ0डी0एफ0 घोषित, प्रदेश के 12 नगर पंचायत एवं नगर निकायों को ओ0डी0एफ0 घोषित करने हेतु भारत सरकार से प्रदेश सरकार ने किया अनुरोध

आगामी मई, 2019 तक प्रदेश के समस्त 653 स्थानीय निकायों को
ओ0डी0एफ0 घोषित कराने हेतु कार्यों में लाई जाये तेजी: मुख्य सचिव

कार्यों में तेजी लाने हेतु आगामी दो दिनों के अंदर सम्बंधित जनपदों के जिलाधिकारियों एवं विभागीय अधिकारियों को वीडिया काॅन्फ्रेन्सिंग से मुख्य सचिव द्वारा दिये जायेंगे निर्देश

प्रदेश के नगर निकायों में व्यक्तिगत शौचालयों के निर्माण हेतु दी जाने वाली
धनराशि को रू0 8,000 से बढ़ाकर रू0 20,000 किये जाने के आदेश निर्गत

लखनऊ: 03 अक्टूम्बर, 2017

उत्तर प्रदेश में स्वच्छता ही सेवा अभियान के अंतर्गत विगत 15 सितम्बर से 02 अक्टूबर, 2017 तक 3,52,950 शौचालयों का निर्माण कराकर देश में प्रथम स्थान प्राप्त किया गया है। देश के 34 राज्यों में 18,24,549 निर्मित शौचालयों में से उत्तर प्रदेश के 3,52,950 शौचालयों का निर्माण कराने में प्रथम स्थान, राजस्थान को 2,54,953 शौचालयों का निर्माण कराने में द्वितीय स्थान तथा कर्नाटक राज्य में 2,41,708 शौचालयों का निर्माण कराने में तृतीय स्थान प्राप्त हुआ है।

उत्तर प्रदेश का प्रथम नगर पंचायत सहनपुर जनपद बिजनौर भारत सरकार द्वारा विगत 04 सितम्बर को ओ0डी0एफ0 घोषित कर दिया गया है। प्रदेश के 12 नगर पंचायत एवं नगर निकायों को ओ0डी0एफ0 घोषित करने हेतु भारत सरकार से अनुरोध किया गया है। घोषित होने वाले जनपद बिजनौर के नगर पंचायत एवं नगर निकाय- बिजनौर, नजीबाबाद, स्योहारा, धामपुर, कीरथपुर, जलालाबाद, नगीना, जनपद आगरा के स्वामी बाग, जनपद अमरोहा के अमरोहा स्थानीय निकाय, जनपद शामली के जलालाबाद व थाना भवन को ओ0डी0एफ0 घोषित करने हेतु थर्ड पार्टी निरीक्षण कराने हेतु भारत सरकार से अनुरोध किया गया है। आगामी मई, 2019 तक प्रदेश के समस्त 653 स्थानीय निकायों को ओ0डी0एफ0 घोषित कराने हेतु आवश्यक कार्यवाहियां प्राथमिकता से सुनिश्चित करानी होगी।
मुख्य सचिव आज शास्त्री भवन स्थित कार्यालय कक्ष के सभागार में स्वच्छ भारत एवं सफाई अभियान के अंतर्गत पंचायत विभाग एवं नगर विभाग द्वारा कराये जा रहे कार्यों की समीक्षा कर आवश्यक निर्देश दे रहे थे। उन्होंन कहा कि कार्यों में तेजी लाने हेतु सम्बंधित 25 जनपदों के जिलाधिकारियों एवं सम्बंधित अधिकारियों को वीडियो काॅन्फ्रेन्सिंग के माध्यम से आगामी दो दिनों के अंदर आवश्यक निर्देश देने हेतु कार्यक्रम आयोजित कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि व्यक्तिगत शौचालय निर्माण में गति लाने हेतु पात्र व्यक्तियों को दी जाने वाली धनराशि का भुगतान नियमानुसार पारदर्शिता के साथ कराकर शौचालय निर्माण कार्यों की फोटोग्राफी भी कराई जाये।
अपर मुख्य सचिव पंचायती राज श्री चंचल तिवारी ने बताया कि प्रदेश के कुल 98,604 ग्रामों में से कुल 12,542 ग्रामों को ओ0डी0एफ0 घोषित किया जा चुका है। अवशेष ग्रामों को यथाशीघ्र घोषित कराने हेतु आवश्यक कार्यवाहियां प्राथमिकता से सुनिश्चित कराई जा रहीं हैं। वर्तमान वित्तीय वर्ष 2017-18 में प्रदेश में व्यक्तिगत शौचालय निर्माण के लक्ष्य 78,86,237 के सापेक्ष 13,49,153 शौचालयों का निर्माण कराया जा चुका है। जो गत वित्तीय वर्ष 2016-17 में वर्तमान समय में निर्मित 6,52,654 व्यक्तिगत शौचालयों के निर्माण में दो गुना से अधिक है।
प्रमुख सचिव नगर विकास श्री मनोज कुमार सिंह ने बताया कि प्रदेश के नगर निकायों में व्यक्तिगत शौचालयों के निर्माण हेतु दी जाने वाली धनराशि को रू0 8,000 से बढ़ाकर रू0 20,000 किये जाने के आदेश निर्गत कर दिये गये हैं। बढ़ी हुई धनराशि रू0 12,000 स्थानीय निकाय अपने फण्ड से लाभान्वित होने वाले व्यक्ति को देगी। पूर्व में दी जाने वाली धनराशि रू0 8,000 में से रू0 4,000 भारत सरकार तथा रू0 4,000 राज्य सरकार द्वारा वहन किया जा रहा था।
बैठक में अपर मुख्य सचिव पंचायती राज विभाग श्री चंचल कुमार तिवारी, मिशन निदेशक श्री विजय किरन आनंद सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।

Comments (0)

राज्यपाल और मुख्यमंत्री गांधी जयन्ती पर आयोजित चार समारोह में पहली बार एक साथ हुए सम्मिलित

Posted on 02 October 2017 by admin

गांधी जी के बताये रास्ते पर चलकर ही स्वच्छ भारत मिशन को मिलेगी सफलता- राज्यपाल
———-
खादी एवं ग्रामोद्योग को बढ़ावा देकर बेरोजगारी की समस्या को दूर किया जायेगा- मुख्यमंत्री
—————
लखनऊः 02 अक्टूबर, 2017

dsc_7047उत्तर प्रदेश के राज्यपाल श्री राम नाईक एवं प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज पहली बार गांधी जी की 148वीं जयन्ती पर लखनऊ के विभिन्न चार स्थानों पर आयोजित कार्यक्रमों में एक साथ शामिल हुए। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सर्वप्रथम सुबह राज्यपाल को साथ लेकर हजरतगंज स्थित गांधी जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि अर्पित की। इसके बाद मुख्यमंत्री राज्यपाल के साथ हजरतगंज स्थित गांधी आश्रम, तिलक हाल में गांधी जी की जयन्ती पर आयोजित कार्यक्रम एवं एनेक्सी स्थित लाल बहादुर शास्त्री जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण एव पुष्पांजलि अर्पित की।dsc_7498
राज्यपाल श्री राम नाईक ने गांधी आश्रम में आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि यहां पर आकर गांधी आश्रम के उत्पादों को देखकर एवं गांधी जी के विचारों से साल भर काम करने की लिये ऊर्जा मिलती है। उन्होंने कहा कि गांधी जी के विचारों को अपनाकर गांवों से शहरों की ओर हो रहे पलायन को छोटे-छोटे लघु उद्योगों को लगाकर एवं शिक्षा की उचित व्यवस्था करके रोका जा सकता है। तिलक हाल में आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए राज्यपाल ने कहा कि 1857 में प्रारम्भ हुए स्वतंत्रता आन्दोलन का अन्तिम नेतृत्व महात्मा गांधी जी ने किया। उन्होंने कहा कि स्वच्छ भारत बनाना गांधी जी का सपना था। इसलिए उनके सपने को पूरा करने के लिये प्रधानमंत्री द्वारा ‘स्वच्छ भारत अभियान’ की शुरूआत की गई। उन्होंने कहा कि सबके उत्थान की शपथ लेकर हमें उनके सपनों को पूरा करना चाहिए।dsc_7189
श्री राम नाईक आज लाल बहादुर शास्त्री जी को याद करते हुए कहा कि जिस प्रकार से गांधी जी का आजादी की लड़ाई में अविस्मरणीय योगदान है उसी प्रकार से आजादी के बाद देश पर हुए हमले से देश को बचाने के लिये शास्त्री जी का योगदान है। शास्त्री जी के नेतृत्व में सेना ने अद्म्य साहस का परिचय देकर देश की रक्षा करने में सफलता हासिल की। शास्त्री जी के नेतृत्व में देश को नई दिशा दी। उन्होंने कहा कि शास्त्री जी की सादगी, दृढ़ इच्छा शक्ति एवं सरल स्वभाव से सभी को प्रेरणा लेनी चाहिए।
श्री राम नाईक आज राजभवन के गांधी सभागार में आयोजित गांधी जयन्ती के अवसर पर महात्मा गांधी एवं लाल बहादुर शास्त्री के चित्र पर माल्यार्पण पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि 1947 से देश को स्वराज्य से सुराज बनाने के लिये प्रयास किया जा रहा है। इसमें हम सभी लोगों को बढ़-चढ़कर योगदान करने पर विचार करना चाहिए। हम सभी लोगों को अच्छा कार्य करने एवं देश और प्रदेश को स्वच्छ बनाने के लिये गांधी जयन्ती के अवसर पर दृढ़ संकल्प लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी एवं लाल बहादुर शास्त्री ने अलग-अलग समय पर देश का नेतृत्व किया। गांधी जी ने देश को आजादी दिलाई तथा शास्त्री जी ने देश की आजादी की रक्षा करके अपने नेतृत्व को सच साबित किया। राज्यपाल ने राजभवन के कर्मियों से कहा कि अगले वर्ष गांधी जयन्ती समारोह में परिवार सहित शामिल हों। भातखण्डे संगीत सम विश्वविद्यालय के कलाकारों ने गांधी जी के प्रिय भजन प्रस्तुत किये।dsc_6942
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सत्य एवं अहिंसा के मार्ग पर चलकर स्वदेशी तरीके से देश को आजादी दिलाकर महात्मा गांधी रहस्यमयी बन गये। उन्होंने कहा कि एक साधारण कद, काठी का होते हुए भी उन्होंने दुनिया पर हुकूमत करने वाली सरकार को हिला दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वच्छ भारत गांधी जी का सपना था। उन्होंने कहा कि उनके सपने को पूरा करने के लिए प्रधानमंत्री ने स्वच्छ भारत बनाने का संकल्प लिया था जो आज एक अभियान बन चुका है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने प्रधानमंत्री के संकल्प स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत आज तक 6 जिलों को ओ0डी0एफ0 मुक्त कर दिया है। भारत सरकार ने भी इसे अपने सर्वे में सत्य पाया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान केन्द्र सरकार गांधी जी के सपने को साकार करने के लिए खादी उत्पादों को बढ़ाने के लिए जन-आन्दोलन चला रही है। प्रधानमंत्री की प्रेरणा से वाराणसी के गांवों में घर-घर सूत कातने का काम किया जा रहा है, जिससे बेरोजगारी दूर हो रही है तथा लोगों को आत्मनिर्भर बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सभी लोगों को अराजकता एवं गन्दगी को हटाने के लिए कार्य करना चाहिए। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि स्वदेशी एवं स्वावलम्बन के लिए सरकार हर प्रकार से खादी एवं ग्रामोद्योग को बढ़ावा एवं सहयोग देगी।
राज्यपाल श्री राम नाईक और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गांधी आश्रम हजरतगंज में चरखा भी चलाया।

Comments (0)

मुख्यमंत्री योगी अदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष डाॅ0 महेन्द्र पाण्डेय ने स्वच्छता मैराथन रवाना किया

Posted on 02 October 2017 by admin

हजारों लोंगो ने लिया मैराथन में भाग
photo_1-उपमुख्यमंत्री डाॅ0 दिनेश शर्मा, मंत्री आशुतोष टण्डन, महामंत्री पंकज सिंह स्वच्छता ही सेवा कार्यक्रम के अवसर पर विशिष्ट अतिथि
लखनऊ 02 अक्टूबर 2017, भारतीय जनता पार्टी संगठन द्वारा स्वच्छता ही सेवा पखवारा के समापन के अवसर पर पूरे प्रदेश में स्वच्छता के लिए वर्ष में 100 घण्टे श्रमदान (प्रत्येक सप्ताह में दो घंटे) तथा अपने अतरिक्त 100 लोगों को स्वच्छता से ही सेवा संकल्प दिला कर स्वयं न गंदगी करना न ही दूसरों को गंदगी करने देना‘‘ के संकल्प तथा स्वच्छता मैराथन कार्यक्रम के साथ पूरे प्रदेश के सभी जनपदों में आज स्वच्छता के 15 दिवसीय अभियान का आज समापन हुआ।photo_3
लखनऊ में स्वच्छता ही सेवा मैराथन को प्रदेश के मुख्यमंत्री मा0 योगी आदित्यनाथ जी तथा प्रदेश अध्यक्ष डाॅ0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय जी द्वारा किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में उद्बोधन करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी तथा पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री जी के जन्मदिन पर नमन करते हुए कहा कि भारत के लोकप्रिय प्रधानमंत्री मा0 नरेन्द्र मोदी जी द्वारा स्वच्छता 3 वर्ष पूर्व लिया गया। स्वच्छता का संकल्प अब आन्दोलन बन गया है और 2022 में जब भारत की आजादी को 75 वर्ष पूरा हो चुका होगा तथा महात्मा गांधी जी की हम 150वीं जयन्ती मना रहे होंगे तब इस प्रधानमंत्री मोदी जी के स्वच्छता भारत व श्रेष्ठ भारत को साकार कर चुकें होगें। उन्होंने कहा कि यह व्यापक जन सहभागिता से ही सम्भव है तथा हम सभी को स्वच्छता के प्रति कर्तव्य के प्रति संकल्प बद्ध हो।photo_21
लखनऊ महानगर इकाई के संयोकत्व में सम्पन्न हुए कार्यक्रम में उपमुख्यमंत्री डाॅ0 दिनेश शर्मा प्रदेश के मंत्री आशुतोष टण्डन, प्रदेश महामंत्री अमित सिंह (पंकज सिंह), महंत दिव्या गिरी, विधायक नीरज बोरा विशिष्ठि अतिथि के रूप में उपस्थित थे। कार्यक्रम गांधी प्रतिमा तथा सरदार बल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा को माल्र्यापण के पश्चात् स्वच्छता की शपथ मुख्यमंत्री जी द्वारा दिलाई गई। स्वच्छता मैराथन में हजारों की संख्या में कार्यकर्ता व युवा उपस्थित थे।
प्रदेश अध्यक्ष डाॅ0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने स्वच्छता मैराथन के अवसर पर अपने उद्बोधन में कहा कि स्वच्छता भारत के लिए प्रधानमंत्री मोदी जी द्वारा लिए गए संकल्प को 3 वर्ष आज पूरे हुए हैं। पार्टी द्वारा पिछले 15 दिनों से स्वच्छता ही सेवा के प्रमुख नेताओं के नेतृत्व में स्वच्छता को साकार करने कार्य कर ही हैं आज स्वच्छता पखवारे के अवसर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रति आभार व्यक्त करते हुए उन्होने कहा कि स्वच्छता के प्रति प्रधानमंत्री जी की मुहिम अब आन्दोलन का रूप ले चुका है। जिस आजादी के लिए 1942 में लिया गया संकल्प 1947 में सिद्धि आजादी हासिल कर पूर्ण हुआ ठीक उसी तरह आजादी की 75वीं वर्ष गांठ तथा गांधी जी की 150वीं जयन्ती पर स्वच्छ भारत का संकल्प सिद्धि प्राप्त करेगा व स्वच्छ भारत श्रेष्ठ भारत साकार होगा।
कार्यक्रम संचालन लखनऊ महानगर अध्यक्ष मुकेश शर्मा जी ने किया। इस अवसर पर क्षेत्रीय संगठन मंत्री ब्रज बहादुर जी, पूर्व प्रदेश मंत्री वीरेन्द्र तिवरी, प्रदेश मीडिया प्रभारी हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव, प्रदेश प्रवक्ता मनीष शुक्ला, क्षेत्रीय महामंत्री दिनेश तिवारी, महानगर महामंत्री अंजनी श्रीवास्तव, पुष्कर शुक्ला, प्रदेश सहमुख्यालय प्रभारी चैधरी लक्ष्मण सिंह, अतुल अवस्थी, त्रिलोक सिंह अधिकारी, राम औतार कन्नौजिया, महानगर उपाध्यक्ष आनन्द द्विवेदी, अशोक तिवारी, अंजनी सिंह, सुषमा खरगवाल साकेन्द्र शर्मा, खुर्शीद आलम, अमित तिवारी सहित अनेक कार्यकर्ता व गणमान्य प्रमुख लोग उपस्थित रहे।

Comments (0)

मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशों के अनुपालन में प्रदेश में धान खरीद में किसानों को दी जा रही सुविधाओं की जानकारी किसानों को उनके मोबाइल नम्बर पर एस0एम0एस0 द्वारा दिये जाने की व्यवस्था तत्काल सुनिश्चित की जाये: मुख्य सचिव

Posted on 27 September 2017 by admin

जनपदों के निरीक्षण हेतु नामित वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों को
निरीक्षण के दौरान धान क्रय की समीक्षा कर निर्धारित
चेक लिस्ट के अनुसार निरीक्षण करना भी अनिवार्य होगा: राजीव कुमार

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 09 मण्डलों के 31 जनपदों में आगामी 25 अक्टूबर से धान खरीद
प्रारम्भ होकर 31 जनवरी, 2018 तक किसानों से निरन्तर की जायेगी धान की खरीद: मुख्य सचिव
पूर्वी उत्तर प्रदेश के 09 मण्डलों के 41 जनपदों में धान खरीद 01 नवम्बर से प्रारम्भ होकर
28 फरवरी, 2018 तक कराने हेतु धान क्रय केन्द्र खोलने की व्यवस्था सुनिश्चित हो: राजीव कुमार
धान खरीद हेतु निर्धारित 50 लाख मीट्रिक टन के सापेक्ष 03 हजार धान क्रय केन्द्र विभिन्न क्रय एजेन्सियों द्वारा विभिन्न जनपदों में स्थापित: निवेदिता शुक्ला वर्मा, प्रमुख सचिव, खाद्य
लखनऊ: 27 सितम्बर, 2017

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशों के अनुपालन में प्रदेश में धान खरीद में किसानों को दी जा रही सुविधाओं की जानकारी किसानों को उनके मोबाइल नम्बर पर एस0एम0एस0 द्वारा दी जायेगी। प्रदेश सरकार द्वारा जनपदों के निरीक्षण हेतु नामित वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों को अपने नामित सम्बन्धित जनपदों में निरीक्षण के दौरान धान क्रय की समीक्षा कर निर्धारित चेक लिस्ट के अनुसार निरीक्षण करना भी अनिवार्य होगा। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 09 मण्डलों के 31 जनपदों में आगामी 25 अक्टूबर से धान खरीद प्रारम्भ होकर 31 जनवरी, 2018 तक निरन्तर धान की खरीद किसानों से की जायेगी। इसी प्रकार पूर्वी उत्तर प्रदेश के 09 मण्डलों के 41 जनपदों में धान खरीद 01 नवम्बर से प्रारम्भ होकर 28 फरवरी, 2018 तक कराने हेतु धान क्रय केन्द्र खोलने की व्यवस्था सुनिश्चित करा ली गयी है।
उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव श्री राजीव कुमार आज अपने कार्यालय कक्ष के सभागार में किसानों से धान खरीदने एवं उनको दी जा रही सुविधाओं की समीक्षा कर विभागीय अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दे रहे थे। उन्होंने कहा कि कृषक पारदर्शी योजना के अन्तर्गत किसानों के सूचीबद्ध मोबाइल नम्बरों पर धान खरीद के सम्बन्ध में दी जा रही सुविधाओं की जानकारी किसानों को यथाशीघ्र भेजना सुनिश्चित करायी जाये। उन्होंने कहा कि किसानों की सुविधा को दृष्टिगत रखते हुये धान खरीद के सम्बन्ध में आवश्यक जानकारियों का व्यापक प्रचार-प्रसार रेडियो, दूरदर्शन एवं प्रिण्ट मीडिया के माध्यम से कराकर किसानों को योजनान्तर्गत लाभान्वित कराने के सार्थक प्रयास सुनिश्चित कराये जायें।
श्री राजीव कुमार ने निर्देश दिये कि धान की फसल को दृष्टिगत रखते हुये पश्चिमी उत्तर प्रदेश और पूर्वी उत्तर प्रदेश के चिन्हित जनपदों में धान खरीद हेतु निर्धारित समय-सारिणी के अनुसार धान क्रय केन्द्रों का संचालन सुनिश्चित कराने हेतु विभागीय अधिकारियों को निरन्तर माॅनीटरिंग सुनिश्चित करानी होगी। उन्होंने कहा कि धान क्रय केन्द्रों पर किसानों की सुविधा के लिये आवश्यकतानुसार बुनियादी सुविधायें उपलब्ध कराने के साथ-साथ उनके धान विक्रय मूल्य का आर0टी0जी0एस0 के माध्यम से धनराशि का भुगतान पारदर्शिता के साथ कराना सुनिश्चित किया जाये। किसानों से अपील की जाये कि वे सूखा हुआ धान ही क्रय केन्द्रों पर लेकर आयें। किसानों का किसी प्रकार का उत्पीड़न सहन नहीं किया जा सकता।
बैठक में प्रमुख सचिव खाद्य एवं रसद श्रीमती निवेदिता शुक्ला वर्मा ने बताया कि धान खरीद हेतु निर्धारित 50 लाख मीट्रिक टन के सापेक्ष 03 हजार धान क्रय केन्द्र विभिन्न क्रय एजेन्सियों द्वारा विभिन्न जनपदों में स्थापित किये जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 09 मण्डल-बरेली, मुरादाबाद, मेरठ, सहारनपुर, आगरा, अलीगढ़, झांसी, चित्रकूट के समस्त जनपदों एवं लखनऊ के लखीमपुर जनपद में (कुल 31 जनपद) 25 अक्टूबर से 31 जनवरी, 2018 तक तथा पूर्वी उत्तर प्रदेश के 09 मण्डल कानपुर, फैजाबाद, देवीपाटन, बस्ती, गोरखपुर, आजमगढ़, वाराणसी, मिर्जापुर, इलाहाबाद के समस्त 41 जनपदों में 01 नवम्बर, 2017 से 28 फरवरी, 2018 तक धान की खरीद किसानों से कराये जाने हेतु आवश्यक व्यवस्थायें सुनिश्चित करा दी गयी हैं। किसानों का आॅनलाइन पंजीकरण अनिवार्य है एवं प्रारम्भ हो चुका है एवं अधिक से अधिक संख्या में किसानों को आॅनलाइन पंजीकरण हेतु प्रेरित किया जा रहा है। धान की खरीद किसानों से सीधे किया जायेगा, कृृषक और क्रय एजेन्सी के बीच कोई मध्यस्थ या बिचैलिया नहीं होगा, किसान बिचैलियों से दूर रहें।
बैठक में खाद्य आयुक्त श्री आलोक कुमार ने बताया कि धान खरीद हेतु पर्याप्त संख्या में नमी मापक यंत्र, पंखा, विनोईंग फैन, छलना, इलेक्ट्राॅनिक कांटा व पाॅवर विनोबर की व्यवस्था सुनिश्चित करा ली गयी है। उन्होंने बताया कि मण्डी परिषद द्वारा इलेक्ट्राॅनिक कांटों की आवश्यकतानुसार मरम्मत हेतु मण्डी द्वारा मैकेनिक नामित करा दिये गये हैं। उन्होंने बताया कि लक्षित 50 लाख मीट्रिक टन धान से 33.50 लाख मीट्रिक टन चावल निर्मित होगा, जिसके लिये 1.60 लाख गांठ बोरों की व्यवस्था सुनिश्चित करा ली गयी है। उन्होंने बताया कि धान खरीद होने व किसानों को भुगतान होने पर वांछित जानकारी एस0एम0एस0 द्वारा भेजने की व्यवस्था सुनिश्चित करा ली गयी है। उन्होंने बताया कि धान क्रय केन्द्रों का निरीक्षण करने हेतु जिला स्तरीय अधिकारियों का रोस्टर तैयार करा लिया गया है।

Comments (0)

राज्य सरकार उ0प्र0 की सभी नदियों की स्वच्छता एवं अविरलता सुनिश्चित करने के लिए कटिबद्ध: मुख्यमंत्री

Posted on 26 September 2017 by admin

हमें नदियों को बचाने की दिशा में सकारात्मक प्रयास करने होंगे

press-7_r2_c1राज्य सरकार प्रदेश की नदियों को बचाने के लिए सक्रियता से काम कर रही है

गंगा जी तथा उसकी सहायक नदियों के साथ-साथ
अन्य नदियों को बचाने की दिशा में काम किया जा रहा है

भारतीय संस्कृति में नदियों को मां का स्थान प्राप्त है

नदियों की दशा सुधारने के लिए राज्य सरकार द्वारा उनके
किनारों पर बड़ी संख्या में वृक्षारोपण कराया जा रहा है: मुख्यमंत्री

हमारी नदियां हमारी धरोहर हैं और हमारी प्राणदायिनी भी हैं: सद्गुरु

मुख्यमंत्री ने ‘रैली फाॅर रिवर्स’ कार्यक्रम को सम्बोधित किया
लखनऊ: 26 सितम्बर, 2017

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा है कि राज्य सरकार उत्तर प्रदेश की सभी नदियों की स्वच्छता एवं अविरलता सुनिश्चित करने के लिए कटिबद्ध है। विकास की अवैज्ञानिक सोच की वजह से आज नदियों को बचाना एक चुनौती हो गया है। अब समय आ गया है कि हम सब नदियों को बचाने के लिए अभियान स्वरूप काम करें, ताकि हमारा भविष्य सुरक्षित हो सके। उन्होंने कहा कि संगम पर गंगा-यमुना के अलावा तीसरी नदी सरस्वती थी, जो आज विलुप्त हो चुकी है। इसी प्रकार दक्षिण भारत में कावेरी नदी विलुप्त होने की कगार पर है। उत्तर भारत की अनेक नदियां सूखने की कगार पर हैं। इसलिए अब हमें नदियों को बचाने की दिशा में सकारात्मक प्रयास करने होंगे और इसमें व्यापक जन सहभागिता सुनिश्चित करनी होगी। press-52
मुख्यमंत्री जी ने यह विचार आज यहां ईशा फाउण्डेशन द्वारा आयोजित ‘रैली फाॅर रिवर्स’ कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किए। उन्होंने राजधानी लखनऊ की गोमती नदी का जिक्र करते हुए कहा कि इस समय इसमें 36 नालों का उत्प्रवाह गिर रहा है, जिसके कारण यह अत्यन्त प्रदूषित हो चुकी है। इसी प्रकार कानपुर में गंगा जी का जल भी बहुत प्रदूषित हो चुका है। ऐसा इसलिए हुआ, क्योंकि हमने इन नदियों, जो हमारा प्रतीक हैं, को महत्व देना बंद कर दिया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश की नदियों को बचाने के लिए सक्रियता से काम कर रही है। गोमती नदी को भी बचाने के लिए काम शुरू हो चुका है।
योगी जी ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने नदियों को बचाने के उद्देश्य से ‘नमामि गंगे’ परियोजना के तहत 20,000 करोड़ रुपए की व्यवस्था की है। इसके तहत गंगा जी तथा उनकी सहायक नदियों के साथ-साथ अन्य नदियों को बचाने की दिशा में काम किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश में प्रवेश के उपरान्त विभिन्न शहरों से गुजरने के दौरान गंगा जी में गिरने वाले गंदे नालों के उत्प्रवाह को रोका जाएगा और एस0टी0पी0 निर्मित कर इस दूषित जल को ट्रीट किया जाएगा, ताकि प्रदूषित जल कहीं से भी विसर्जित होकर नदियों तक न पहुंचे।
मुख्यमंत्री जी ने प्रयाग अर्द्धकुम्भ 2019 से पहले गंगा जी की धारा अविरल और निर्मल बनाने की प्रतिबद्धता व्यक्त करते हुए कहा कि भारतीय संस्कृति में नदियों को मां का स्थान प्राप्त है। भारतीय जन-जीवन में नदियों के प्रति गहरी आस्था है। वर्ष 1985-86 में लागू किए गंगा एक्शन प्लान का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि उसमें और ‘नमामि गंगे’ परियोजना में यह फर्क है कि यह प्रोजेक्ट पूरी तरह से केन्द्र सरकार द्वारा फण्डेड है, जबकि गंगा एक्शन प्लान में राज्यों की सहमति की आवश्यकता पड़ती थी। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड, उत्तर प्रदेश तथा बिहार में अब समान विचारधारा की ही सरकारें हैं। ऐसे में, गंगा जी को स्वच्छ और निर्मल बनाते हुए उसे अविरल करने में कोई समस्या नहीं आएगी। साथ ही, इसकी सहायक नदियों की दशा सुधारने का भी काम किया जाएगा।
योगी जी ने कहा कि नदियों की दशा सुधारने के लिए राज्य सरकार द्वारा उनके किनारे बड़ी संख्या में वृक्षारोपण कराया जा रहा है। गंगा जी के किनारे 01 करोड़ पौधे रोपित किए गए हैं। शासन-प्रशासन तथा जनता ने इसमें सक्रिय योगदान दिया। विगत दिनों प्रदेश में 06 करोड़ पौधों का रोपण किया गया। राज्य सरकार ने इस बात का ध्यान रखा है कि रोपे जाने वाले पौधों में पीपल, पाकड़, आम, नीम के अलावा औषधीय पौधों को लगाया जाए। राज्य सरकार लोगों को वृक्षारोपण के लिए प्रेरित भी कर रही है। उन्होंने कहा कि इको-टूरिज्म के माध्यम से भी हम लोगों को पर्यावरण से जोड़ने का काम कर रहे हैं। उन्होंने ईशा फाउण्डेशन की ‘रैली फाॅर रिवर्स’ पहल का स्वागत करते हुए आशा व्यक्त की कि यह अभियान भारत में नदियों को बचाने में सफल होगा। उन्होंने इस अभियान के प्रति अपनी शुभकामनाएं भी व्यक्त कीं। press-81
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए ईशा फाउण्डेशन के संस्थापक सद्गुरु ने कहा कि हमें हर हाल में पृथ्वी की रक्षा करनी होगी, क्योंकि पर्यावरण असंतुलन की स्थिति अब काफी बिगड़ चुकी है। हमारी नदियां हमारी धरोहर हैं और हमारी प्राणदायिनी भी हैं। इसलिए हमें इनकी हर हाल में रक्षा करनी होगी। उन्होंने नदियों की रक्षा के लिए एक राष्ट्रीय नीति बनाने पर जोर देते हुए कहा कि नदियों की रक्षा में जनसहभागिता आवश्यक है। इसके बगैर यह कार्य सम्भव नहीं है। खुशी की बात है कि आज देश की सभी राजनैतिक पार्टियां नदियों को बचाने के प्रयासों के प्रति एकमत हैं। उन्होंने चिंता व्यक्त की कि गंगा बेसिन आज 44 प्रतिशत कम हो चुका है। यह एक चिंताजनक बात है। उन्होंने लोगों का आह्वान किया कि वे इस अभियान से जुड़कर नदियों की रक्षा में अपना योगदान दें।
इससे पूर्व कार्यक्रम को उप मुख्यमंत्री डाॅ0 दिनेश शर्मा ने भी सम्बोधित किया। गोमती नदी के प्रदूषण पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि राज्य सरकार नालों का डायवर्जन करने के साथ-साथ एस0टी0पी0 की स्थापना कर रही है, ताकि गोमती का जल स्वच्छ हो सके। उन्होंने कहा कि गोमती रिवर सिस्टम को बनाए रखने के लिए गोमती तट पर बड़ी संख्या में वृक्षारोपण किया जाएगा।
इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य सहित बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं तथा गणमान्य नागरिक मौजूद थे।
उल्लेखनीय है कि ‘रैली फाॅर रिवर्स’ विगत 03 सितम्बर को कोयम्बटूर से शुरू हुई थी और भोपाल से आज यह रैली लखनऊ पहुंची है। लखनऊ से यह रैली जयपुर के लिए प्रस्थान करेगी। इस रैली का समापन 02 अक्टूबर, 2017 को दिल्ली में होगा।

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

October 2017
M T W T F S S
« Sep    
 1
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
3031  
-->









 Type in