*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | Latest news

केन्द्र सरकार की भांति उत्तर प्रदेश सरकार भी ‘सबका साथ, सबका विकास’ की तर्ज पर कार्य करेगी: मुख्यमंत्री

Posted on 26 March 2017 by admin

  • विकास में प्रदेश की समस्त जनता की सहभागिता होगी
  • कानून व्यवस्था के साथ कोई भी खिलवाड़ करेगा, तो वह कठोर दण्ड का भागी होगा
  • उत्तर प्रदेश में ऐसा वातावरण बनेगा, जिसमें प्रत्येक नागरिक अपने को सुरक्षित महसूस करेगा
  • किसानों से शत-प्रतिशत गेहूं खरीद तथा गेहूं मूल्य के तत्काल  भुगतान के लिए शासन स्तर पर कार्य योजना बनाई जा रही है
  • बेरोजगार नौजवानों के पलायन को रोका जाएगा और शासन की योजनाओं को अन्तिम व्यक्ति तक पहुंचाया जाएगा
  • समाज के हर वर्ग का विकास किया जाएगा और किसी का तुष्टिकरण नहीं होगा
  • उत्तर प्रदेश में भ्रष्टाचार मुक्त शासन होगा और अराजकता का कहीं कोई स्थान नहीं होगा
  • मुख्यमंत्री ने गोरखपुर में आयोजित स्वागत एवं अभिनन्दन समारोह को सम्बोधित किया

मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि केन्द्र सरकार की भांति उत्तर प्रदेश सरकार भी ‘सबका साथ, सबका विकास’ की तर्ज पर कार्य करेगी। विकास में प्रदेश की समस्त जनता की सहभागिता होगी और यह प्रयास होगा कि समाज के जिस वर्ग के कल्याण के लिए जो भी योजना बने, उसका शत-प्रतिशत लाभ पात्र व्यक्तियों तक अवश्य पहुंचे।
dsc_4247मुख्यमंत्री आज गोरखपुर भ्रमण के दौरान महाराणा प्रताप इण्टर काॅलेज के मैदान में आयोजित स्वागत एवं अभिनन्दन समारोह को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने प्रचण्ड बहुमत के लिए उत्तर प्रदेश की जनता का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि राज्य में कानून व्यवस्था बनाए जाने के लिए कठोर कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए हैं। कानून व्यवस्था के साथ कोई भी खिलवाड़ करेगा, तो वह कठोर दण्ड का भागी होगा। उत्तर प्रदेश में ऐसा वातावरण बनाया जाएगा, जिसमें प्रत्येक नागरिक अपने को सुरक्षित महसूस करेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में अवैध बूचड़खानों पर पाबन्दी का अभियान शुरू हो गया है और इसके परिणाम दिखाई पड़ने लगे हैं।

press-11श्री योगी ने कहा कि राज्य सरकार ने निर्णय लिया है कि उत्तर प्रदेश से जो भी व्यक्ति कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर जाएगा, उसे 01 लाख रुपए का आर्थिक अनुदान दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि लोक निर्माण विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि हर हाल में प्रदेश की सड़कों को 15 जून तक गड्ढ़ा मुक्त बनाया जाए। उन्होंने यह भी कहा कि किसानों से शत-प्रतिशत गेहूं खरीद तथा गेहूं मूल्य के तत्काल भुगतान के लिए शासन स्तर पर कार्य योजना बनाई जा रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश का नौजवान रोजगार के अभाव में पलायन कर रहा था, महिलाएं असुरक्षित महसूूस कर रही थीं। अब उत्तर प्रदेश की जनता अपने-आप को उपेक्षित महसूस नहीं कर सकती। बेरोजगार नौजवानों के पलायन को रोका जाएगा। शासन की योजनाओं को अन्तिम व्यक्ति तक पहुंचाया जाएगा। उन्होंने कहा कि समाज के हर वर्ग का विकास किया जाएगा और किसी का तुष्टिकरण नहीं होगा। लोक कल्याण संकल्प पत्र के सभी वादों को शत-प्रतिशत पूरा किया जाएगा। उत्तर प्रदेश में भ्रष्टाचार मुक्त शासन होगा और अराजकता का कहीं कोई स्थान नहीं होगा। उन्होंने कानून का राज स्थापित करने में सभी से सहयोग करने की अपील की।

इसके पूर्व, मुख्यमंत्री के गोरखपुर आगमन पर वहां की जनता द्वारा उनका भव्य और ऐतिहासिक स्वागत किया गया। एयरपोर्ट से लेकर मुख्य कार्यक्रम स्थल महाराणा प्रताप इण्टर काॅलेज तक सड़क के दोनों ओर लाखों लोगों ने मुख्यमंत्री का स्वागत और अभिनन्दन किया। उन्होंने जनता को आश्वस्त किया कि परिश्रम और जनसहयोग के आधार पर वे उत्तर प्रदेश के सर्वांगीण विकास के लिए कोई कोर-कसर बाकी नहीं रखेंगे।

इस अवसर पर मंत्रिगण, जनप्रतिनिधिगण, शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारीगण सहित बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

Comments (0)

कार्यालयों में उपस्थिति दर्ज कराने के लिए बायोमेट्रिक व्यवस्था लागू की जाए: मुख्यमंत्री

Posted on 24 March 2017 by admin

  • कक्षों में सी0सी0 टीवी कैमरे भी लगाए जाएं
  • जनता की समस्याओं का त्वरित एवं गुणात्मक निस्तारण किया जाए
  • प्रधानमंत्री आवास योजना का कार्य नगर विकास विभाग से लेकर आवास विकास विभाग को देने का निर्देश
  • राजकीय अस्पतालों में चिकित्सकों की उपस्थिति सुनिश्चित करायी जाए
  • सस्ती दर पर उपलब्ध होने वाली जेनेरिक दवाओं की 3 हजार दुकानें खोलने की व्यवस्था की जाए
  • गेहूं खरीद की पारदर्शी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए
  • गेहूं खरीद लक्ष्य को 40 लाख मीट्रिक टन से बढ़ाकर लगभग 80 लाख मीट्रिक टन किया जाए
  • किसानों को सीधे लाभ पहुंचाने के लिए सभी सहकारी समितियों को पुनर्जीवित किया जाए
  • सूखा एवं बाढ़ से होने वाली जन हानि के लिए सम्बन्धित विभागों के अधिकारी सीधे जिम्मेदार होंगे
  • पंजीकृत दागी फर्मों एवं माफिया किस्म के ठेकेदारों का पंजीयन समाप्त कर अच्छी संस्थाओं एवं व्यक्तियों को मौका दिया जाए
  • अवैध खनन की शिकायतों के लिए जिलाधिकारी एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सीधे जिम्मेदार होंगे
  • अपराधियों, तस्करों, भू माफियाओं आदि पर बिना किसी भेदभाव के सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए
  • युवक और युवती आपसी सहमति से कहीं बैठे हैं या कहीं जा रहे हैं तो उन पर कार्रवाई कतई न की जाए
  • थानों एवं तहसीलों में फरियादियों के लिए बैठने एवं पानी पाने की व्यवस्था अवश्य की जाए
  • प्रदेश की सभी क्षेत्रीय भाषाओं एवं संस्कृतियों के विकास के लिए कार्य किया जाना चाहिए
  • भाषा विभाग में राजनैतिक नियुक्तियों को तत्काल प्रतिबंधित किया जाए
  • इलाहाबाद, मेरठ, आगरा, गोरखपुर तथा झांसी नगरों में भी मेट्रो चलाने के लिए तेजी से डी0पी0आर0 तैयार किया जाए
  • मुख्यमंत्री ने शास्त्री भवन स्थित सभागार में अपने विभागों से सम्बन्धित मंत्रिगणों एवं प्रमुख सचिव/सचिव के साथ समीक्षा बैठक की

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने राजकीय विभागों में काम चलाऊ व्यवस्था को तत्काल बंद करने के साथ ही पारदर्शी एवं भ्रष्टाचार मुक्त कार्य प्रणाली अपनाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कार्यालयों के रख-रखाव को तत्काल सुधारने पर बल देते हुए कहा कि सरकारी कार्यालयों में पहुंचने पर लोगों को सुखद अनुभूति होने के साथ ही जनता को राहत मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि अधिकारी/कर्मचारी निर्धारित समय पर कार्यालयों में उपस्थित रहें। पत्रावलियों का रख-रखाव ठीक ढंग से किया जाए। फाइलों की इन्डेक्सिंग करते हुए उसमें पटलवार फाइल प्राप्त होने तथा निस्तारित होने की तिथि निर्धारित की जाए। सभी विभागों के सिटीजन चार्टर तैयार करके उन्हें लागू किए जाएं।

मुख्यमंत्री आज यहां शास्त्री भवन स्थित सभागार में अपने विभागों से सम्बन्धित मंत्रिगणों एवं प्रमुख सचिव/सचिव के साथ समीक्षा बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कार्यालयों में उपस्थिति दर्ज कराने के लिए बायोमेट्रिक व्यवस्था लागू करने के निर्देश देते हुए कहा कि कक्षों में सी0सी0 टीवी कैमरे भी लगाए जाएं, जिससे हाजिरी लगाकर अनुपस्थित होने की प्रवृत्ति पर अंकुश लगाया जा सके। उन्होंने सचिवालय में प्रवेश के लिए अनावश्यक एवं गैर जरूरी निर्गत किए गए प्रवेश पत्र को तत्काल निरस्त करने का निर्देश देते हुए कहा कि सचिवालय की सुरक्षा व्यवस्था संसद की तरह सुनिश्चित की जाए, ताकि दलाल एवं गलत कार्य कराने वाले यहां प्रवेश न पा सकें। जनता की समस्याओं के त्वरित एवं गुणात्मक निस्तारण का निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि सभी विभागों की कार्य पद्धति में सुधार दिखना चाहिए।

श्री योगी ने प्रधानमंत्री आवास योजना की चर्चा करते हुए कहा कि इस मामले में अभी तक असहयोगात्मक रुख अख्तियार करते हुए जनता को इसके लाभ से वंचित रखा गया है। इस सम्बन्ध में तत्काल सुधार की आवश्यकता पर बल देते हुए उन्होंने निर्देशित किया कि इस कार्य को नगर विकास विभाग से लेकर आवास विकास विभाग को दिया जाए, जिससे इस योजना का लाभ प्रदेश की जनता को दिलाया जा सके। इसी प्रकार कांशीराम आवास योजना के अधूरे आवासों को पूरा करने एवं पारदर्शी ढंग से प्राथमिकता के आधार पर आवासहीनों में आवंटित करने के लिए कार्य योजना तैयार करने के निर्देश भी दिए गए।

केन्द्र सरकार द्वारा सस्ती दर पर उपलब्ध कराई जाने वाली जेनेरिक दवाओं से सम्बन्धित योजना की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी तक इस योजना के तहत प्रदेश में मात्र 150 दुकानें ही खुली हैं। इससे केन्द्र सरकार की इस योजना का लाभ राज्य की जनता को नहीं मिल पा रहा है। उन्होंने सम्बन्धित विभाग को निर्देशित किया कि इस योजना के तहत कम से कम 03 हजार दुकानें खुलवाने के लिए तत्काल कार्रवाई शुरू की जाए। उन्होंने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की खराब स्थिति का जिक्र करते हुए कहा कि सरकारी अस्पतालों में चिकित्सकों की उपस्थिति संतोषप्रद नहीं है। उन्होंने कहा कि यह स्थिति बहुत खराब है और एक प्रकार से यह कृत्य मानवता के खिलाफ अपराध भी है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार इस सड़ी-गली व्यवस्था को सुधारने के लिए कृतसंकल्प है। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि इस मामले में शीघ्र कार्रवाई करते हुए राजकीय अस्पतालों में चिकित्सकों की उपस्थिति सुनिश्चित करायी जाए।

मुख्यमंत्री ने किसानों से सम्बन्धित योजनाओं की समीक्षा करते हुए कहा कि हर हालत में किसानों को राहत पहुंचायी जानी चाहिए। उन्होंने आगाह किया कि किसानों से सम्बन्धित योजनाओं में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने गेहूं क्रय केन्द्रों के लिए की गई तैयारियों के बारे में जानकारी प्राप्त करते हुए निर्देशित किया कि गेहूं खरीद की पारदर्शी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। धनराशि सीधे किसानों के बैंक खातों में प्रेषित की जाए। गलत व्यक्तियों द्वारा योजना का लाभ उठाने से रोकने के लिए आधार जैसी व्यवस्था को जरूरी किया जाए। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ की गेहूं क्रय नीति के अध्ययन के लिए एक टीम भेजी जाए। साथ ही, वहां के अनुभवों को लागू करने के लिए टीम की संस्तुति पर तत्काल कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि मुख्यालय पर बैठकर गेहूं क्रय नीति को प्रभावी ढंग से लागू नहीं किया जा सकता। इसलिए अधिकारियों को सीधे क्रय केन्द्रों पर जाकर फीडबैक लेना चाहिए। इसके साथ ही, विभाग द्वारा मात्र 40 लाख मीट्रिक टन गेहूं खरीद को नाकाफी बताते हुए उन्होंने कहा कि अधिकतम किसानों को राहत पहुंचाने के लिए लगभग 80 लाख मीट्रिक टन गेहूं खरीद की व्यवस्था सुनिश्चित की जानी चाहिए। उन्होंने गेहूं खरीद की मात्रा एवं बैंक खाते में भेजी गयी धनराशि से सम्बन्धित संदेश किसानों के मोबाइल पर भेजने की व्यवस्था करने के भी निर्देश दिए।

श्री योगी ने प्रदेश की सहकारी समितियों की वर्तमान स्थिति के प्रति असंतोष व्यक्त करते हुए कहा कि प्रदेश में सहकारी समितियों की भूमिका को लगभग नगण्य कर दिया गया है। इससे किसानों को समय से खाद, बीज एवं अन्य सुविधाएं नहीं मिल पा रही हैं। सहकारी समितियों की खराब स्थिति का लाभ बिचैलिये उठा रहे हैं। उन्होंने विभाग के प्रमुख सचिव को निर्देशित किया कि इस मामले में तत्काल कदम उठाते हुए सभी सहकारी समितियों को पुनर्जीवित किया जाए, जिससे किसानों को सीधे लाभ पहुंचाया जा सके। इसी प्रकार 16 बंद कोआॅपरेटिव बैंक के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त करते हुए उन्होंने कहा कि राजनैतिक हस्तक्षेप की वजह से इन बैंक शाखाओं की हालत खराब हुई, जिसके फलस्वरूप रिजर्व बैंक द्वारा इनके लाइसेंस जब्त किए गए, जिसमें जनता की काफी धनराशि फंसी है। उन्होंने प्रमुख सचिव सहकारिता को इस मामले में प्राथमिकता के आधार पर कार्य करने का निर्देश दिया है।

बाढ़ एवं सूखा राहत के लिए समय से पूर्व तैयारी करने का निर्देश देते हुए श्री योगी ने स्पष्ट किया कि सूखा एवं बाढ़ से होने वाली जन हानि के लिए सम्बन्धित विभागों के अधिकारी सीधे जिम्मेदार होंगे। उन्होंने कहा कि पारदर्शी एवं स्पष्ट व्यवस्था निर्धारित करते हुए 15 जून तक बाढ़ की तैयारियों को प्रत्येक दशा में पूरा कर लिया जाए, जिसमें बिचैलियों को कतई जगह नहीं दी जानी चाहिए। इसी प्रकार सूखा राहत विशेष रूप से बुन्देलखण्ड क्षेत्र के लिए तैयारी मुकम्मल की जाए। उन्होंने कहा कि बाढ़ राहत की तैयारी के लिए अपराधी प्रवृत्ति के पंजीकृत ठेकेदारों के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए उनका पंजीयन निरस्त कराना सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि विगत में विभाग के कई अधिकारियों को अपराधी प्रवृत्ति के ठेकेदारों की वजह से अपने प्राण गंवाने पड़े। यह स्थिति वर्तमान सरकार कतई बर्दाश्त नहीं करेगी।

मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव के माध्यम से सभी विभागों को निर्देशित किया है कि सरकारी कार्यों के निस्तारण के लिए उनके विभागों में पंजीकृत दागी फर्मों एवं माफिया किस्म के ठेकेदारों का पंजीयन समाप्त करके इसके स्थान पर पारदर्शी एवं गुणवत्तापरक कार्य करने वाली संस्थाओं को मौका दिया जाए। उन्होंने कहा कि इस कार्य में किसी भी प्रकार के राजनैतिक दबाव को नजरंदाज करते हुए प्राथमिकी दर्ज कराकर उनके विरुद्ध भी कार्रवाई की जाए।

अवैध खनन की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगना चाहिए। उन्होंने कहा कि अभी भी कई जनपदों से अवैध खनन की शिकायतें प्राप्त हो रही हैं। यह स्थिति ठीक नहीं है। उन्होंने प्रमुख सचिव खनन एवं गृह को निर्देशित किया कि जहां से भी शिकायतें प्राप्त हों, वहां सख्त कार्रवाई की जाए। उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि जिन जनपदों से अवैध खनन की शिकायतें प्राप्त हों, वहां के जिलाधिकारी एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को सीधे जिम्मेदार ठहराया जाए। इसी प्रकार अवैध स्लाॅटर हाउसों के सम्बन्ध में स्पष्ट एवं भेदभाव रहित कार्रवाई करने का निर्देश देते हुए कहा कि अपराधियों, तस्करों, भू माफियाओं आदि पर बिना किसी भेदभाव के सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए। एण्टी रोमियो स्क्वाॅयड के लिए स्पष्ट गाइड लाइन तैयार करने का निर्देश प्रमुख सचिव गृह को देते हुए उन्होंने कहा कि यदि कोई युवक और युवती आपसी सहमति से कहीं बैठे हैं या कहीं जा रहे हैं, तो उन पर कार्रवाई कतई न की जाए। इसी प्रकार एसिड अटैक के मामले में कठोर कार्रवाई की जाए। इसके साथ ही, प्रतिदिन सभी जनपदों के जिलाधिकारियों एवं पुलिस अधीक्षक से इन सभी मामलों को सम्मिलित करते हुए कानून व्यवस्था की जानकारी प्राप्त की जाए। थानों के बाहर अनिस्तारित वाहनों के कबाड़ पर चिंता व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि इन वाहनों को तत्काल निस्तारित किया जाए और यदि कतिपय कारणों से निस्तारित नहीं हो पा रहे हैं तो उन्हें दूसरे स्थानों पर रखा जाए। इसी प्रकार वाहन चोरों के सक्रिय गिरोहों पर भी कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि थानों एवं तहसीलों में फरियादियों के लिए बैठने एवं पानी पाने की व्यवस्था अवश्य की जाए। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही राज्य सरकार 100 दिनों के लिए अपना लक्ष्य निर्धारित करते हुए जनता से मिलने और उनकी समस्याओं के निस्तारण की व्यवस्थाएं भी सुनिश्चित करेगी।

press भाषा विभाग की कार्यप्रणाली की जानकारी प्राप्त करते हुए श्री योगी ने निर्देशित किया कि प्रदेश की सभी क्षेत्रीय भाषाओं एवं संस्कृतियों के विकास के लिए कार्य किया जाना चाहिए, तभी समग्र रूप से उत्तर प्रदेश की छवि, देश एवं दुनिया में लोगों के सामने आ पाएगी। उन्होंने भाषा विभाग में राजनैतिक नियुक्तियों को तत्काल प्रतिबंधित करने का निर्देश देते हुए कहा कि क्षेत्रीय भाषाओं के विकास के लिए रणनीति तैयार की जाए। इसके साथ ही, उन्होंने उत्तराखण्ड एवं उत्तर प्रदेश के बीच सम्पत्तियों एवं कार्मिकों के बंटवारे से सम्बन्धित प्रकरणों पर तत्काल कार्रवाई करने एवं सचिवालय की स्थिति सुधारने के निर्देश दिए।

लखनऊ मेट्रो की जानकारी प्राप्त करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि वाराणसी एवं कानपुर मेट्रो के सम्बन्ध में कार्रवाई तेजी से आगे बढ़ायी जाए। इसके साथ ही, उन्होंने कहा कि इलाहाबाद, मेरठ, आगरा, गोरखपुर तथा झांसी नगरों में भी मेट्रो चलाने के लिए तेजी से डी0पी0आर0 तैयार कराकर आगे की कार्रवाई शुरू की जाए। उन्होंने स्पष्ट किया कि वर्तमान राज्य सरकार एक वर्ष के भीतर इन सभी नगरों में मेट्रो का कार्य शुरू कराने के लिए कृतसंकल्पित है।

इस मौके पर राज्य सरकार में मंत्री श्रीमती स्वाती सिंह, डाॅ0 नीलकंठ तिवारी, श्री सुरेश पासी, श्री गिरीश चन्द्र यादव, श्री अतुल गर्ग, श्री जय प्रताप निषाद तथा श्रीमती अर्चना पाण्डे सहित मुख्य सचिव श्री राहुल भटनागर एवं मुख्यमंत्री के विभागों से सम्बन्धित प्रमुख सचिव एवं सचिव उपस्थित थे।

Comments (0)

थाने पर फरियाद लेकर आने वाले शिकायतकर्ताओं को पूरा सम्मान दिया जाना चाहिए: मुख्यमंत्री

Posted on 24 March 2017 by admin

  • प्रत्येक पीड़ित व्यक्ति की एफ0आई0आर0 दर्ज कर वैधानिक कार्रवाई सुनिश्चित की जाए
  • राज्य की कानून व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त बनाया जाएगा
  • महिला पुलिस कार्मिकों के लिए पर्याप्त आवास की व्यवस्था की जाए
  • महिला पुलिस कर्मियों तथा महिला शिकायतकर्ताओं के लिए प्रत्येक थानों में पृथक प्रसाधन की व्यवस्था की जाए
  • राज्य सरकार महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करने के लिए कृतसंकल्प
  • मुख्यमंत्री ने हजरतगंज कोतवाली, लखनऊ का आकस्मिक निरीक्षण किया

press-2त्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री आदित्यनाथ योगी ने आज जनपद लखनऊ की हजरतगंज कोतवाली का आकस्मिक निरीक्षण किया। उन्होंने पुलिस कार्मिकों को अपने व्यवहार में परिवर्तन लाने का निर्देश देते हुए कहा कि थाने पर फरियाद लेकर आने वाले शिकायतकर्ताओं को पूरा सम्मान दिया जाना चाहिए।

आवश्यकतानुसार शिकायतकर्ताओं को कागज एवं कलम भी उपलब्ध कराया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक पीड़ित व्यक्ति की तत्काल एफ0आई0आर0 दर्ज कर थाना प्रभारी द्वारा वैधानिक कार्रवाई सुनिश्चित की जाए। लेकिन यदि जांच के दौरान पता चले कि एफ0आई0आर0 विद्वेष की भावना से गलत दर्ज करायी गयी है तो शिकायतकर्ता के खिलाफ कार्रवाई भी की जाए।

press-1श्री योगी ने कहा कि प्रदेश के चहंुमुखी विकास एवं इसकेे प्रति लोगांे की धारणा में सुधार के लिए राज्य की कानून व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त बनाया जाएगा। इसके लिए पुलिस विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को पूरी गम्भीरता एवं संवेदनशीलता से काम करना होगा। उन्होंने कहा कि जहां राज्य सरकार को पुलिस कार्मिकों से गम्भीरता पूर्वक अपने दायित्वों के निर्वहन की अपेक्षा है, वहीं इनके लिए जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराने का प्रयास भी किया जाएगा।

इस मौके पर श्री योगी ने कोतवाली के स्वागत कक्ष में उपस्थित लोगों से बातचीत कर उनकी कठिनाइयों को जाना एवं उनके निदान के लिए आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने प्राथमिकी दर्ज करने की व्यवस्था एवं साइबर क्राइम सेल का भी अवलोकन किया। श्री योगी ने महिला पुलिस कार्मिकों से बातचीत कर उनकी समस्याओं को जाना। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि महिला पुलिस कार्मिकों के लिए पर्याप्त आवास की व्यवस्था की जाए। इसके साथ ही, महिला पुलिस कर्मियों तथा महिला शिकायतकर्ताओं के लिए प्रत्येक थानों में पृथक प्रसाधन की व्यवस्था की जाए।

श्री योगी ने थानों में आने वाले लोगों के लिए बैठने एवं पीने के पानी की व्यवस्था करने के निर्देश भी दिए। साथ ही, कोतवाली/थानों एवं चैकियों में पर्याप्त सफाई के साथ-साथ अभिलेखों के उचित रख-रखाव की व्यवस्था भी करने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि पुलिस विभाग को इस प्रकार का माहौल तैयार करना चाहिए कि पुलिस दफ्तरों में लोग भय रहित होकर अपनी बात कह सकंे। उन्होंने कहा कि समय-समय पर पुलिस विभाग के वरिष्ठ अधिकारी पुलिस कार्मिकों की बैरकों का निरीक्षण कर वहां उपलब्ध करायी जा रही सुविधाओं एवं साफ-सफाई का अवलोकन करें।

श्री योगी ने प्रदेश में कानून का राज स्थापित करने के लिए हर जरूरी कदम उठाने का निर्देश देते हुए कहा कि वर्तमान जरूरतों को देखते हुए साइबर क्राइम रोकने के लिए पर्याप्त व्यवस्था की जाए। उन्होंने क्राइम ब्रांच तथा एस0पी0 पश्चिमी के कार्यालय, लाॅक रूम सहित परिसर में स्थापित विभिन्न अनुभागों का भी निरीक्षण किया। बाद में मीडिया के प्रश्नों का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि निरीक्षण एक शुरुआत है, जिसके फलस्वरूप पुलिस विभाग में निश्चित रूप से बदलाव दिखेगा। उन्होंने बताया कि हजरतगंज कोतवाली होने के साथ-साथ इसके परिसर में पुलिस अधीक्षक, पुलिस उपाधीक्षक, महिला थाना तथा साइबर क्राइम सेल भी स्थापित है। इसलिए इसके निरीक्षण का निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार प्रदेश के सभी नागरिकों और विशेष रूप से महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करने के लिए कृतसंकल्प है।

इस मौके पर पुलिस महानिदेशक श्री एस0 जावीद अहमद, आई0जी0 जोन श्री सतीश गणेश, डी0आई0जी0 श्री प्रवीण कुमार, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुश्री मंजिल सैनी सहित अन्य वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मौजूद थे।

Comments (0)

यूपी के नाथ,योगी आदित्यनाथ

Posted on 18 March 2017 by admin


Comments (0)

नेता जी ने अपनी पोती से कहा - जिद्दी है तुम्हारा बाप, बेटी ने कहा अखिलेश यादव से , जानिए अखिलेश ने क्या कहा

Posted on 10 January 2017 by admin

images

प्रदेश में इन दिनों समाजवादी पार्टी की पारिवारिक लड़ाई चरम पर है ये जगजाहिर है । इस बीच अगल बगल में जुड़े घर में रह रहे इस परिवार में ऐसा लग रहा है मानो खेमेबंदी हो गई हो। लेकिन इस परिवार की दो बच्चियां इस सियासी जंग से बेपरवाह होकर दोनों खेमों में रौनक लाती रहती हैं और शांति और सुलह बहाली की उम्मीदें जगाती रहती हैं। सियासी संवादों से हटकर पारिवार के बीच ऐसे संवाद का बीड़ा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की बेटी 15 वर्षीय अदिति और 10 वर्षीय टीना ने उठाया है।

एक टीवी चैनल की खबर के मुताबिक सियासी खींचतान के बीच कुछ दिनों पहले सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने अपनी 10 वर्षीय पोती टीना को चिढ़ाते हुए कहा कि तुम्हारा बाप बहुत जिद्दी है। यह सुनते ही थोड़ी ही देर में टीना ने जाकर अपने पिता मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को हु-ब-हू संवाद सुना दिया। इसके जवाब में अखिलेश यादव ने मुस्कुराते हुए कहा, हां, वो तो है। अखिलेश और डिंपल यादव की बेटियां सियासी खींचतान की परवाह किए बिना अक्सर अपने दादा मुलायम सिंह से मिलने पहुंच जाती है।

Comments (0)

मुख्यमंत्री ने लखनऊ मेट्रो रेल के ट्रायल रन का शुभारम्भ किया

Posted on 29 December 2016 by admin

press-1

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने आज यहां लखनऊ मेट्रो रेल के ट्रायल रन का शुभारम्भ किया। परियोजना के फेज़-1 ‘ए’ (नाॅर्थ-साउथ काॅरिडोर) के अंतर्गत ट्रांसपोर्ट नगर स्थित मेट्रो ट्रेन डिपो का लोकार्पण भी उन्होंने किया। ट्रांसपोर्टनगर से चारबाग तक निर्मित प्राथमिक सेक्शन में मेट्रो टेªन का ट्रायल रन होगा। मुख्यमंत्री ने मेट्रो टेªन का अनावरण किया एवं सांसद श्रीमती डिम्पल यादव ने मेट्रो आॅपरेटर्स को चाभी सौंपी। बाद में अवध हाॅस्पिटल चैराहा, सिंगार नगर मेट्रो स्टेशन के पास आयोजित कार्यक्रम में 12 विभूतियों को यश भारती सम्मान से सम्मानित भी किया।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि लखनऊ मेट्रो रेल परियोजना देश की सबसे कम समय में पूरी होने वाली मेट्रो परियोजना है। इसके लिए उन्होंने मुख्य सलाहकार डाॅ0 ई0 श्रीधरन तथा प्रबन्ध निदेशक श्री कुमार केशव सहित इस कार्य में लगे सभी कार्मिकों की सराहना करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश देश का पहला ऐसा राज्य है, जिसके गाजियाबाद, नोएडा सहित कई बड़े नगरों में मेट्रो रेल परियोजना पर काम चल रहा है। उन्होंने कहा कि कानपुर मेट्रो रेल परियोजना का कार्य शुरू होने जा रहा है। दोबारा सरकार बनने पर वाराणसी मेट्रो रेल परियोजना का भी काम शुरू होगा।
श्री यादव ने कहा कि नगरों और मुख्य रूप से लखनऊ की आबादी तेजी से बढ़ रही है, जिससे आए दिन टैªफिक जाम की समस्या उत्पन्न हो जाती है। यहां तक कि कई बार गम्भीर रोगियों से युक्त एम्बुलेंस भी फंस जाती हैं। इसको ध्यान में रखते हुए लखनऊ जैसे बड़े नगर में विश्वसनीय सार्वजनिक यातायात व्यवस्था का होना जरूरी है। उन्होंने कहा कि जब यह परियोजना पूरी हो जाएगी तो लखनऊ वासियों को काफी राहत मिलेगी।
राज्य सरकार की उपलब्धियों की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ने जनता से किए गए सभी वायदों को पूरा किया है। जहां तक लखनऊ मेट्रो रेल परियोजना की बात है, इसके लिए पहले से वायदा नहीं किया गया था। लेकिन वक्त की जरूरत को देखते हुए समाजवादी सरकार ने इस परियोजना को भी समय से पूरा करने का काम किया है। उन्होंने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार प्रदेश में आधारभूत सुविधाओं के विकास, बिजली व्यवस्था को दुरुस्त करने तथा स्वास्थ्य की सर्वसुलभ एवं बेहतरीन सुविधा उपलब्ध कराने जैसे कई महत्वपूर्ण काम किए हैं, जिससे प्रदेशवासियों के जीवन में खुशहाली आयी है और उनका जीवन स्तर ऊंचा उठा है।
श्री यादव ने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार विकास के मामले में राजनीति नहीं करती है। इसीलिए वर्षों से लम्बित जनपद रायबरेली के प्रस्तावित एम्स के लिए उनकी सरकार ने भूमि उपलब्ध कराने का काम किया। इसी प्रकार जनपद गोरखपुर में भी एम्स की स्थापना के लिए राज्य सरकार ने हर सम्भव मदद दी है। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि देश के सबसे लम्बे एक्सप्रेस-वे को वर्तमान राज्य सरकार ने मात्र 22 माह में पूरा कराकर प्रदेश की राजधानी लखनऊ को देश की राजधानी दिल्ली से जोड़ने का काम किया है। प्रदेश का कोई ऐसा जनपद नहीं है, जहां समाजवादी सरकार द्वारा किसी बड़ी परियोजना को अंजाम तक न पहुंचाया गया हो।
मुख्यमंत्री ने जनपद सोनभद्र से वाराणसी तथा भदोही से मिर्जापुर आदि नगरों को एक-दूसरे से जोड़ने से सम्बन्धित विभिन्न परियोजनाओं का उल्लेख करते हुए कहा कि राज्य सरकार ने जिला मुख्यालयों को 04 लेन की सड़कों से जोड़ने का काम पूरी गम्भीरता से चलाया है, जिसका लाभ प्रदेश के किसानों, नौजवानों, मजदूरों सहित समाज के सभी वर्गों को मिलेगा। प्रदेश सरकार ने संतुलन बनाकर प्रदेश के सभी क्षेत्रों एवं वर्गों के विकास के लिए काम किया है। जहां देश की सबसे लम्बी एक्सप्रेस-वे परियोजना बनायी गयी, वहीं आगरा से इटावा लायन सफारी तक साइकिल हाईवे में बनाया गया। अगर राज्य सरकार ने 55 लाख गरीब परिवारों को समाजवादी पेंशन देने का काम किया है तो 18 लाख से अधिक छात्र-छात्राओं को निःशुल्क लैपटाॅप वितरित कर उन्हें तकनीक से जोड़ने का काम किया।
इसी प्रकार ग्रामीण इलाकांें में आवासहीनों के लिए लोहिया आवास योजना तथा गांवों में सी0सी0 रोड के निर्माण के लिए जनेश्वर मिश्र ग्राम योजना सहित कई परियोजनाओं को युद्ध स्तर पर चलाया गया। इस प्रकार पिछले साढ़े चार साल में समाजवादी सरकार ने जिस पैमाने पर काम किया, इतने बड़े पैमाने पर किसी अन्य राज्य सरकार द्वारा नहीं किया गया। जनपद रामपुर की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा इस जनपद में बड़े पैमाने पर काम कराया गया। अगली बार सत्ता में आने के बाद रामपुर में भी मेट्रो रेल परियोजना संचालित करने पर विचार किया जाएगा।
इस मौके पर सांसद एवं पूर्व रक्षा मंत्री श्री मुलायम सिंह यादव ने मुख्यमंत्री एवं राज्य सरकार द्वारा कराए गए विकास कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश जैसा विकास कार्य देश में कहीं और नहीं कराया गया। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने लखनऊ मेट्रो रेल परियोजना, आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे आदि महत्वपूर्ण परियोजनाओं को कम से कम
समय में बनाकर अन्य सरकारों के लिए एक उदाहरण प्रस्तुत किया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा शिक्षा, इलाज एवं सिंचाई की मुफ्त व्यवस्था करके समाज के सभी वर्गों को राहत देने का काम किया।
श्री मुलायम सिंह ने कहा कि किसानों को सुविधा दिए बिना देश की तरक्की सम्भव नहीं है। उन्होंने आगाह किया कि कम कृषि उत्पादन का खमियाज़ा पूरे देश को भुगतना होगा। उन्होंने कहा कि समाजवादी विचारक डाॅ0 राम मनोहर लोहिया हमेशा कहा करते थे कि वादाखिलाफी करना भी भ्रष्टाचार है। उन्होंने इस बात पर खुशी जतायी कि प्रदेश की वर्तमान राज्य सरकार ने जनता से किए सभी वायदों को पूरा करने का काम किया है। नौजवानों को अधिक से अधिक रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने का आग्रह करते हुए कहा कि गरीबी को मिटाने के लिए हर हाथ को काम देना जरूरी है।
इस मौके पर नगर विकास मंत्री श्री मोहम्मद आजम खां ने मेट्रो रेल परियोजना को निर्धारित समय में पूरा होने को प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री के व्यक्तिगत प्रयासों से यह परियोजना समय से पूरी हो रही है।
कार्यक्रम को समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष श्री शिवपाल सिंह यादव, भाषा संस्थान के कार्यकारी अध्यक्ष एवं प्रख्यात कवि श्री गोपाल दास ‘नीरज’, श्री मधुकर जेटली एवं लखनऊ मेट्रो रेल परियोजना के प्रबन्ध निदेशक श्री कुमार केशव आदि ने भी सम्बोधित किया।
इस अवसर पर जिन लोगों को यश भारती सम्मान से सम्मानित किया गया, उनमें जनपद आजमगढ़ के जिलाधिकारी श्री सुहास एल0वाई0, लेफ्टिनेण्ट जनरल श्री ए0के0 सिंह, लखनऊ विश्वविद्यालय के उर्दू विभाग के अध्यक्ष श्री अब्बास रज़ा नय्यर, समाज सेवी श्री रामेश्वर नाथ मिश्र एवं श्री प्रमोद कुमार सिंह चैधरी, साहित्यकार श्री दीन मोहम्मद दीन, मशहूर चिकित्सक डाॅ0 मंसूर हसन के अलावा श्री अतुल तिवारी, सुश्री रचना गोविल, श्री मुराद खान, श्रीमती शिखा द्विवेदी एवं श्रीमती अर्चना सतीश शामिल हैं।
इस अवसर पर विधान सभा अध्यक्ष श्री माता प्रसाद पाण्डेय, मंत्रिमण्डल के सदस्यगण, सांसद श्रीमती डिम्पल यादव, हिन्दी संस्थान के कार्यकारी अध्यक्ष श्री उदय प्रताप सिंह, अन्य जनप्रतिनिधि, मुख्य सचिव श्री राहुल भटनागर, राज्य योजना आयोग के उपाध्यक्ष श्री नवीन चन्द्र वाजपेयी, मुख्यमंत्री के मुख्य सलाहकार श्री आलोक रंजन एवं बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक आदि उपस्थित थे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

सड़कों से विकास को गति मिलती है और यह प्रक्रिया सड़कों के निर्माण के साथ ही शुरू हो जाती है: मुख्यमंत्री

Posted on 23 November 2016 by admin

press-2

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा कि सड़कों से विकास को गति मिलती है और यह प्रक्रिया सड़कों के निर्माण के साथ ही शुरू हो जाती है। उन्होंने भरोसा जताया कि आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे से पूरे प्रदेश को लाभ होगा। उन्होंने कहा कि एक्सप्रेस-वे के माध्यम से प्रदेश की राजधानी लखनऊ, देश की राजधानी दिल्ली से सीधे जुड़ गई है, इससे यात्रा के समय में काफी बचत होगी। एक्सप्रेस-वे को 23 माह के रिकाॅर्ड समय में तैयार करने पर उन्होंने अधिकारियों एवं निर्माण कार्य में लगी कम्पनियों के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि कम समय में निर्माण के साथ-साथ इसकी गुणवत्ता भी उच्च कोटि की है। उन्होंने एक्सप्रेस-वे पर बनाई गई हवाई पट्टी का उल्लेख करते हुए कहा कि यह जगह देश के इतिहास में हमेशा चिन्ह्ति रहेगी। इसीलिए भारतीय वायु सेना ने इसे वैकल्पिक हवाई पट्टी के रूप में भी चुना है, जिससे आपात परिस्थितियों में भारतीय वायु सेना को अपने फाइटर प्लेन उड़ाने में मदद मिलेगी।
मुख्यमंत्री आज उन्नाव जनपद के खम्बौली (बांगरमऊ) में देश के सबसे लम्बे 06 लेन आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे के लोकार्पण अवसर पर बोल रहे थे। पूर्व रक्षा मंत्री एवं सांसद श्री मुलायम सिंह यादव के जन्मदिन पर आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे को जनता को समर्पित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस परियोजना का उल्लेख घोषणा पत्र में भी था। एक्सप्रेस-वे का लोकार्पण मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव और सांसद व पूर्व रक्षा मंत्री श्री मुलायम सिंह यादव द्वारा किया गया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि शिलान्यास के समय नेताजी ने एक्सप्रेस-वे को 22 माह में बनाने की बात कही थी, जिसे प्रदेश सरकार ने पूरा कर दिखाया। समाजवादी सरकार द्वारा कम से कम समय में देश के सबसे लम्बे एक्सप्रेस-वे को बनाकर उन लोगों को करारा जवाब दिया गया है, जो परियोजनाओं को निर्धारित समय में पूरा कराने में प्रदेश की कार्य क्षमता पर प्रश्न चिन्ह लगाते थे।
श्री यादव ने कहा कि यह एक्सप्रेस-वे देश के लिए एक उदाहरण है। यह इस बात का भी जवाब है कि उत्तर प्रदेश एक पिछड़ा प्रदेश है। यह विकास में मदद करेेगा और लोगों को सुविधा मिलेगी। सड़कें विकास का आधार हैं। इस एक्सप्रेस-वे से विकास की रफ्तार बढ़ेगी। एक्सप्रेस-वे से जुड़े शहरों और गांवों की दूरियां भी कम होंगी। उन्होंने आम जनता के लिए एक्सप्रेस-वे के खुलने पर लोगों से अपने वाहनों की रफ्तार कम रखने की अपील करते हुए कहा कि अच्छी सड़क पर दुर्घटना की सम्भावना भी बढ़ जाती है, क्योंकि वाहन चालक गाड़ी की रफ्तार पर नियंत्रण नहीं रख पाते।
वर्तमान राज्य सरकार द्वारा किए गए तमाम विकास कार्यों का उल्लेख करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि समाजवादी सरकार द्वारा जिस पैमाने पर कार्य किए गए हैं, यह अन्य राज्य सरकारों के लिए एक उदाहरण है। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे से यातायात तो सुगम होगा ही, इसके साथ विकसित हो रही मण्डियों से सीधे किसानों को लाभ भी होगा। जी0टी0 रोड का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि जिस प्रकार इस सड़क के साथ-साथ उद्योग धंधों का विकास हुआ था, उसी तरह से आने वाले समय में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे प्रदेश का विकास इंजन बनेगा। इसके साथ तमाम उद्योग धंधे स्थापित होंगे, जिससे प्रदेश की अर्थव्यवस्था में सुधार के साथ-साथ रोजगार के अवसर पैदा होंगे।
श्री यादव ने कहा कि एक्सप्रेस-वे बनाने का कार्य यहीं समाप्त नहीं होने जा रहा है, बल्कि दोबारा सत्ता में आने के बाद लखनऊ से बलिया तक बनने वाले समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे को भी रिकाॅर्ड समय में बनाकर राज्य के पूर्वांचल क्षेत्र को तरक्की का अवसर प्रदान किया जाएगा। इसके लिए 40 प्रतिशत जमीन अधिग्रहीत की जा चुकी है। समाजवादी सरकार ने केवल आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे को ही रिकाॅर्ड समय में बनाने का काम नहीं किया है, बल्कि लखनऊ मेट्रो रेल परियोजना के पहले चरण का काम भी बहुत कम समय में पूरा कर लिया गया है। आगामी 01 दिसम्बर को लखनऊ मेट्रो रेल परियोजना का भी लोकार्पण किया जाएगा। राज्य सरकार द्वारा संचालित अन्य महत्वपूर्ण योजनाओं की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि करीब 18 लाख छात्र-छात्राओं को निःशुल्क लैपटाॅप वितरित किए गए। देश की सबसे बड़ी ‘समाजवादी पेंशन योजना’ के माध्यम से 55 लाख गरीब परिवारों को आर्थिक मदद देने का काम किया गया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार संतुलन बनाकर काम कर रही है। गांव और शहर दोनों का विकास हुआ है। सड़क, बिजली, पानी आदि मूलभूत सुविधाओं को उपलब्ध कराने के लिए किए गए प्रयासों की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि जनता द्वारा अवसर प्रदान करने पर भविष्य में भी इसी तरह कार्य करते हुए नया रिकाॅर्ड बनाया जाएगा। विकास के मामले में समाजवादियों का कोई मुकाबला नहीं कर सकता। उन्होंने कहा कि एक्सप्रेस-वे का निर्माण उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवेज़ इण्डिस्ट्रियल डेवलपमेण्ट अथाॅरिटी (यूपीडा) द्वारा कराया गया है। उन्होंने इस परियोजना को तेजी से पूरा कराने के लिए यूपीडा के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं प्रमुख सचिव श्री नवनीत सहगल की सराहना करते हुए इस बात पर अफसोस जताया किया कि एक सड़क दुर्घटना में घायल होने की वजह से वे परियोजना के लोकार्पण के अवसर पर उपस्थित नहीं हैं। मुख्यमंत्री ने श्री सहगल के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की।
श्री यादव ने आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे को भारतीय वायु सेना द्वारा वैकल्पिक हवाई पट्टी के रूप में चयनित करने के लिए वायु सेना के अधिकारियों को बधाई देते हुए कहा कि राज्य सरकार हर सम्भव सहयोग प्रदान करेगी। ज्ञातव्य है कि इस हवाई पट्टी पर भारतीय वायु सना के लड़ाकू विमानों को उतारने के लिए 3.3 कि0मी0 लम्बी हवाई पट्टी भी बनायी गयी है। उन्होंने 20 नवम्बर को कानपुर के पास हुए रेल हादसे के फलस्वरूप बड़ी संख्या में हताहत यात्रियों पर दुःख व्यक्त करते हुए कहा कि राज्य सरकार घायलों के इलाज के लिए पूरा सहयोग प्रदान कर रही है।
इस मौके पर सांसद एवं पूर्व रक्षा मंत्री श्री मुलायम सिंह यादव ने मुख्यमंत्री एवं राज्य सरकार के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि शुरुआत में इस परियोजना का कार्य 04 वर्ष में पूरा किया जाना था, लेकिन उनके कहने पर राज्य सरकार ने इस परियोजना को 02 साल से भी कम समय में बनाकर प्रशंसनीय कार्य किया है। उन्होंने प्रदेश के अधिकारियों की कार्य क्षमता की सराहना करते हुए कहा कि आजादी के बाद प्रदेश में सर्वाधिक सड़कों एवं पुलों का निर्माण समाजवादी सरकार के कार्यकाल में ही हुआ है। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे को देश की सबसे बेहतरीन सड़क बताते हुए उन्होंने कहा कि इस प्रकार का एक्सप्रेस-वे देश में और कहीं नहीं है।
पूर्व रक्षा मंत्री ने कहा कि जो लोग उत्तर प्रदेश को पिछड़ा राज्य बताते हैं, उन्हें यहां आकर राज्य सरकार द्वारा कराए गए कार्यों को देखना चाहिए। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश कई मामले में देश में सबसे आगे है। उन्होंने शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क, बिजली, पानी और रोजगार को समाजवादी सरकार की प्राथमिकता बताते हुए कहा कि इन क्षेत्रों में प्रदेश में जितना काम किया है, इतना और कहीं नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि इन क्षेत्रों पर फोकस करने से ही प्रदेश व देश की तरक्की सम्भव है। पढ़ाई और दवाई मुफ्त है। हृदय और कैंसर जैसी बीमारियों के भी इलाज की व्यवस्था मुफ्त है।
श्री मुलायम सिंह यादव ने उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय, सैफई (इटावा) में उपलब्ध कराई जा रही उपचार सुविधाओं का उल्लेख करते हुए कहा कि यहां आने वाले सभी मरीजों को उच्च गुणवत्ता के इलाज की सुविधा मिलती है। बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार उपलब्ध कराए गए। पुलिस विभाग में बड़े पैमाने पर भर्तियां हुईं। उन्होंने संसदीय कार्य मंत्री श्री मोहम्मद आजम खां द्वारा रामपुर में स्थापित किए गए मोहम्मद अली जौहर विश्वविद्यालय की सराहना करते हुए कहा कि यहां की गुणवत्ता अलीगढ़ विश्वविद्यालय से भी बेहतर है।
इस अवसर पर विचार व्यक्त करने वालों में संसदीय कार्य मंत्री श्री मोहम्मद आजम खां, सांसद श्री राम गोपाल यादव, श्री किरणमय नन्दा, समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष श्री शिवपाल सिंह यादव, वरिष्ठ पत्रकार श्री वेद प्रताप वैदिक, मुख्यमंत्री के मुख्य सलाहकार श्री आलोक रंजन तथा प्रमुख सचिव अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास श्री रमा रमण भी थे।
बाद में भारतीय वायु सेना के लड़ाकू विमानों द्वारा बेहतरीन हवाई करतब दिखाते हुए एक्सप्रेस-वे पर निर्मित एयर स्ट्रिप पर लड़ाकू विमान को उतारने एवं टेक आॅफ का कुशल एवं शानदार प्रदर्शन किया गया, जिसमें मेराज-2000 एवं सुखोई-30 विमान शामिल थे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने ‘मेकिंग आॅफ आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे’ काॅफी टेबल बुक का विमोचन किया। यूपीडा के अधिकारियों को प्रशस्ति पत्र प्रदान किए गए। भारतीय वायु सेना के अधिकारियों ने एयर स्ट्रिप के निर्माण के लिए प्रदेश सरकार का आभार व्यक्त करते हुए बधाई दी। उन्होंने कहा कि इस हवाई पट्टी के निर्माण से जहां देश की सुरक्षा को महत्वपूर्ण योगदान मिलेगा, वहीं आपदा के समय राहत सामग्री पहुंचाने में भी मदद मिलेगी।
गौरतलब है कि आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास 23 नवम्बर, 2014 को किया गया था। देश के सबसे लम्बे 06 लेन आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे को 23 माह में बनाकर तैयार कर दिया गया। इसमें 20,000 मजदूरों, 1500 कुशल मजदूरों, 1,000 इंजीनियरों ने 3,000 मशीनों के सहयोग से इस एक्सप्रेस-वे को इतने कम समय में तैयार किया। एडवांस टैªफिक मैनेजमेंट से लैस इस एक्सप्रेस-वे पर धुंध एवं कोहरे में टैªफिक संचालन में सहूलियत मिलेगी। परियोजना को पूरा करने के लिए 30,000 किसानों से समझौता करके 3500 हेक्टेयर भूमि मात्र 06 माह में प्राप्त की गई। 08 लेन तक बढ़ाए जाने की क्षमता वाले इस एक्सप्रेस-वे के पुल-पुलिया, अण्डरपास एवं अन्य स्ट्रक्चर 08 लेन को ध्यान में रखकर बनाए गए हैं। परियोजना को पूरा करने के लिए गंगा व यमुना नदी पर 08 लेन पुल के अलावा 04 रेलवे ओवर ब्रिज भी बनाए गए हैं। एक्सप्रेस-वे को दिल्ली-आगरा यमुना एक्सप्रेस-वे से लिंक किया गया है।
इस अवसर पर विधान सभा अध्यक्ष श्री माता प्रसाद पाण्डेय, बेसिक शिक्षा मंत्री श्री अहमद हसन, राजनैतिक पेंशन मंत्री श्री राजेन्द्र चैधरी, सांसद श्रीमती डिम्पल यादव, श्रीमती जया बच्चन, श्री धर्मेन्द्र यादव, अन्य जनप्रतिनिधिगण, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्रीमती अनीता सिंह, सचिव मुख्यमंत्री श्री पार्थ सारथी सेन शर्मा सहित अन्य अधिकारीगण, भारतीय वायु सेना के वरिष्ठ अधिकारी आदि उपस्थित थे।

press-3

press-4

untitled-12

press-6

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

मुख्यमंत्री की उपस्थिति मंे गैलेक्सी वेन्चर्स तथा दक्षिण कोरिया के एम0पी0के0 ग्रुप के बीच एम0ओ0यू0 हस्ताक्षरित

Posted on 15 November 2016 by admin

untitled-11

एक संयुक्त उपक्रम के माध्यम से पिज्जा चेन ‘मिस्टर पिज्जा‘ ब्राण्ड के उत्पादों के लिए नोएडा में कारखाना स्थापित किया जाएगा

संयुक्त उपक्रम की स्थापना हो जाने पर राज्य के नौजवानों को रोजगार के नये अवसर मिलेंगे: मुख्यमंत्री

प्रदेश सरकार इस संयुक्त उपक्रम को हर सम्भव मदद देगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव की उपस्थिति मंे आज उनके सरकारी आवास पर गैलेक्सी वेन्चर्स तथा दक्षिण कोरिया के एम0पी0के0 ग्रुप के बीच एक एम0ओ0यू0 हस्ताक्षरित किया गया। इसके तहत एक संयुक्त उपक्रम के माध्यम से एम0पी0के0 ग्रुप द्वारा संचालित पिज्जा चेन ‘मिस्टर पिज्जा‘ ब्राण्ड के उत्पादों के लिए नोएडा में कारखाना स्थापित किया जाएगा।
मुख्यमंत्री ने इस प्रयास के लिए बधाई देते हुए कहा कि प्रदेश की समाजवादी सरकार राज्य में उद्यमों की स्थापना के लिए कटिबद्ध है। राज्य सरकार द्वारा निवेशोन्मुखी नीतियां लागू की गईं, जिनके चलते उद्यमी यहां बड़े पैमाने पर निवेश कर रहे हैं। इससे प्रदेश के नौजवानों को रोजगार के बेहतर अवसर भी मिल रहे हैं। उत्तर प्रदेश में देश की आबादी का एक बहुत बड़ा हिस्सा रहता है, इस कारण यहां बहुत बड़ा बाजार भी उपलब्ध है। तेजी से बढ़ते मध्यम वर्ग के कारण यहां उपभोक्ता वस्तुओं की मांग में लगातार वृद्धि हो रही है।
श्री यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश कृषि प्रधान अर्थव्यवस्था वाला राज्य है। समाजवादी सरकार ने ‘मुख्यमंत्री खाद्य प्रसंस्करण मिशन योजना‘ को लागू करने का फैसला लिया ताकि यहां फूड प्रोसेसिंग सेक्टर का विकास हो तथा पूंजी निवेश को भी बढ़ावा मिले। उन्होंने भरोसा जताया कि इस ज्वाइन्ट वेन्चर की स्थापना हो जाने पर राज्य के नौजवानों को रोजगार के नये अवसर मिलेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार इस संयुक्त उपक्रम को हर सम्भव मदद देगी।
एम0ओ0यू0 पर एम0पी0के0 ग्रुप के चेयरमैन श्री जुंग वू ह्यून तथा गैलेक्सी वेन्चर्स के अध्यक्ष श्री पी0के0 गुप्ता द्वारा हस्ताक्षर किए गए। कम्पनी भारत में 100 आउटलेट्स स्थापित करेगी, जिनमें 03 हजार लोगों को रोजगार मिल सकेगा।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री के मुख्य सलाहकार श्री आलोक रंजन, प्रमुख सचिव अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास श्री रमा रमण, प्रमुख सचिव उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण श्री महेश कुमार गुप्ता, विशेष सचिव अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास श्री अनिल कुमार पाठक मौजूद थे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

समाजवादी सरकार तकनीक के साथ चलने वाली सरकार : मुख्यमंत्री

Posted on 03 November 2016 by admin

untitled-21

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा  है कि उत्तर प्रदेश की समाजवादी सरकार तकनीक के साथ चलने वाली सरकार है। प्रदेश सरकार का हमेशा यह प्रयास रहा है कि तकनीक का ज्यादा से ज्यादा उपयोग कर जनता को बेहतर सुविधाएं और सेवाएं दी जाएं। इस दिशा में राज्य सरकार के प्रयासों का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि ‘108‘ समाजवादी स्वास्थ्य सेवा तथा ‘102‘ नेशनल एम्बुलेन्स सर्विस का भरपूर लाभ जनता को मिल रहा है। मेगा कॉल सेन्टर संचालित हो गया है, शीघ्र ही डायल ‘100‘ परियोजना भी शुरू हो जाएगी। इसके अलावा अन्य विभागों में भी तकनीक आधारित विभिन्न योजनाएं व कार्यक्रम संचालित किए जा रहे हैं।
मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास पर ‘108‘ समाजवादी स्वास्थ्य सेवा का मोबाइल एप लॉन्च करने के बाद अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। इससे पूर्व, उन्होंने ‘108‘ तथा ‘102‘ एम्बुलेन्स सेवाओं के कॉल सेन्टर के कर्मियों से बातचीत कर इन सेवाओं के सम्बन्ध में उनसे फीड बैक भी प्राप्त किया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मोबाइल एप के लॉन्च हो जाने से प्रदेशवासियों को इसका सीधा लाभ मिलेगा तथा एम्बुलेन्स सेवा के प्रति लोगों के विश्वास में और बढ़ोत्तरी होगी। मोबाइल एप के माध्यम से कॉलर अब एम्बुलेन्स सेवा पर ऑनलाइन नज़र रख सकेंगे। कॉलर को एक क्लिक में जी0पी0एस0 के जरिए न सिर्फ एम्बुलेन्स की लोकेशन मिलेगी बल्कि वे अपने स्मार्टफोन से यह भी देख सकेंगे कि एम्बुलेन्स किस रास्ते से आ रही है। इसके लिए प्रदेश सरकार ने एक एम्बुलेन्स ट्रैकर सिस्टम व वेब पोर्टल तैयार किया है।
प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्री अरुण कुमार सिन्हा ने इस मौके पर बताया कि ‘108‘ समाजवादी स्वास्थ्य सेवा के जरिए अब तक 69 लाख से अधिक लोगों को मदद पहुंचाई गई है। इसी प्रकार ‘102‘ नेशनल एम्बुलेन्स सर्विस का निःशुल्क लाभ 1.5 करोड़ से अधिक गर्भवती महिलाओं और 1 साल तक के बीमार बच्चों को उपलब्ध कराया गया जो एक रिकॉर्ड है। वर्तमान में ‘108‘ समाजवादी स्वास्थ्य सेवा के तहत 1,488 तथा ‘102‘ नेशनल एम्बुलेन्स सर्विस के अन्तर्गत 2,270 वाहन संचालित किए जा रहे हैं।
ज्ञातव्य है कि ‘108‘ समाजवादी स्वास्थ्य सेवा को और अधिक सुविधाजनक तथा पारदर्शी बनाने के लिए राज्य सरकार ने ऑनलाइन निगरानी के लिए एक वेब पोर्टल बनाया है। इसके जरिए यह देखा जा सकेगा कि उस समय कितनी एम्बुलेन्स तैयार खड़ी हैं, और कितनी एम्बुलेन्स मरीजों की सेवा में लगी हैं। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को वेबसाइट पर कॉलर तथा एम्बुलेन्स के ड्राइवर के फोन नम्बर दिखाई देंगे, जिसके माध्यम से वे कभी एम्बुलेन्स सेवा की हकीकत परख सकेंगे।
अभी तक कॉलर को यह पता नहीं चल पाता है कि उसने जो एम्बुलेन्स बुलाई है उसकी लोकेशन क्या है। कई बार कॉल सेन्टर से जो लोकेशन बताई जाती है, उससे कॉलर संतुष्ट नहीं हो पाते हैं। अब एम्बुलेन्स ट्रैकर के जरिए इस समस्या का भी समाधान हो जाएगा। कॉलर ने जिस मोबाइल नम्बर से एम्बुलेन्स बुक कराई है उस नम्बर को वेबपोर्टल के एम्बुलेन्स ट्रैकर सिस्टम में डालने पर कॉलर को जो एम्बुलेन्स आवंटित की गई उसकी लोकेशन मिल जाएगी।
मोबाइल एप में गूगल मैप भी डाला जा रहा है। स्मार्टफोन में इंस्टॉल करने पर इस एप के जरिए बगैर कॉल किए हुए भी एम्बुलेन्स बुलाई जा सकेगी। साथ ही एम्बुलेन्स किस-किस रास्ते से होकर कॉलर के पास आ रही है स्मार्टफोन पर इसका भी पता चल जाएगा। इसके लिए स्मार्टफोन में जी0पी0एस0 व लोकेशन ऑन रखनी होगी।
वेबपोर्टल का डैशबोर्ड इस तरह से डिजाइन किया हुआ है कि इसमें एम्बुलेन्स सेवा से जुड़ी प्रत्येक जानकारी तुरन्त मिल जाएगी। इसमें आज कितने लोगों ने कॉल सेन्टर पर कॉल की उसकी जानकारी के साथ ही कितनी इमरजेन्सी कॉल आई, इसका डाटा सामने ही दिख जाएगा। पूरे महीने में एम्बुलेन्स सेवा ने कितने मरीजों को अस्पताल पहुंचाया, उसमें किस-किस श्रेणी के कितने मरीज थे, इसकी जानकारी भी दी जाएगी।
राज्य सरकार ने वेबपोर्टल पर एक फीडबैक का भी ऑप्शन तैयार करवाया है। इसमें लोग एम्बुलेन्स से जुड़ी शिकायत व सुझाव दे सकेंगे। जैसे ही कोई व्यक्ति इसमें कोई शिकायत दर्ज कराएगा उसे एक टिकट नम्बर मिल जाएगा। जब तक वह शिकायत दूर नहीं होगी उस शिकायत को बन्द नहीं किया जाएगा। एम्बुलेन्स सेवा के सर्वश्रेष्ठ केस भी इसमें तस्वीरों के साथ साझा किए जाएंगे।
मोबाइल एप लॉन्चिग के अवसर पर राजनैतिक पेंशन मंत्री श्री राजेन्द्र चौधरी, प्रमुख सचिव चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण श्री अरुण कुमार सिन्हा, प्रमुख सचिव सूचना श्री नवनीत सहगल, नेशनल हेल्थ मिशन के मिशन निदेशक श्री आलोक कुमार सहित अन्य अधिकारीगण तथा सेवा प्रदाता संस्था के अधिकारी व कर्मचारी मौजूद थे।

untitled-3

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री ने लखनऊ हवाई अड्डे पर प्रधानमंत्री का स्वागत किया

Posted on 14 October 2016 by admin

dsc_4672-photo-1

उत्तर प्रदेश के राज्यपाल श्री राम नाईक एवं मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने आज यहां चैधरी चरण सिंह हवाई अड्डे पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का स्वागत किया।
इस मौके पर केन्द्रीय गृह मंत्री श्री राजनाथ सिंह, जन्तु उद्यान राज्यमंत्री श्री शिव प्रताप यादव, मुख्य सचिव श्री राहुल भटनागर, पुलिस महानिदेशक श्री जावीद अहमद सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि मौजूद थे।

dsc_4673-photo-2

dsc_4675-photo-3

dsc_4676-photo-4

सुरेन्द्र अग्निहोत्री

agnihotri1966@gmail.com

sa@upnewslive.com

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

March 2017
M T W T F S S
« Feb    
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
2728293031  
-->




 Type in