*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | गोरखपुर

मुख्यमंत्री ने गोरखपुर मण्डल की कानून-व्यवस्था की समीक्षा की

Posted on 01 May 2017 by admin

थानों पर परिश्रमी, निष्ठावान तथा समर्पण भाव
से कार्य करने वाले पुलिस अफसरों को तैनात किया जाए, जो
कानून-व्यवस्था पर नियंत्रण रख सकें: मुख्यमंत्री

पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी प्रातः 9 से 11 बजे तक अपने
कार्यालय में उपस्थित रहकर जन समस्याएं सुनें और उनका
निस्तारण भी सुनिश्चित करें: योगी आदित्यनाथ

पुलिस अधिकारी अपने क्षेत्र, पुलिस चैकियों तथा थानों का नियमित निरीक्षण करें

गुण्डों, असामाजिक तत्वों एवं माफियाओं को चिन्हित कर
उनके विरुद्ध कठोर कार्यवाही करें, जिसमें जेल भेजना भी शामिल है

पुलिसकर्मी थाने पर आने वाले पीड़ित लोगों के साथ सद्व्यवहार करें: मुख्यमंत्री
cm-yogi-gorakhpur उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने आज गोरखपुर में जी0डी0ए0 के सभागार में मण्डल की कानून-व्यवस्था की समीक्षा करते हुए पुलिस महानिरीक्षक एवं पुलिस अधीक्षकों को निर्देशित किया कि थाने की बागडोर उसे दी जाए, जो परिणाम दे, चाहे वह उपनिरीक्षक हो या निरीक्षक। उन्होंने कहा कि थानों पर परिश्रमी, निष्ठावान तथा समर्पण भाव से कार्य करने वाले पुलिस अफसरों को तैनात किया जाए, जो कानून-व्यवस्था पर नियंत्रण रख सकंे।
मुख्यमंत्री ने पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों से यह भी कहा कि वे प्रातः 9 से 11 बजे तक अपने कार्यालय में बैठकर जन समस्याएं सुनकर उनका निस्तारण सुनिश्चित करें और उसके बाद अपने क्षेत्र, पुलिस चैकियों तथा थानों का नियमित निरीक्षण करें। उन्होंने कहा कि जिन थानों पर आगंतुकों के लिए बैठने की व्यवस्था नहीं है, वहां आगन्तुक कक्ष बनाने के लिए जन सहयोग तथा विधायक निधि का उपयोग कर इसका निर्माण करवाएं। थाने पर आने वाले पीड़ित लोगों के साथ सद्व्यवहार करें और उनकी समस्याओं/शिकायतों को गंभीरता से सुनें तथा उनका निराकरण करें।
बैठक में उन्होंने यह भी कहा कि गुण्डों, असामाजिक तत्वों एवं माफियाओं को चिन्हित कर उनके विरुद्ध कठोर कार्यवाही करें, जिसमें जेल भेजना भी शामिल है। सभी पुलिसकर्मी निडर होकर न्यायोचित कार्य करें और किसी के दबाव में न आएं। उन्होंने यह भी कहा कि जनपद की प्रत्येक तहसील पर एक अग्निशमन केन्द्र और मुख्यालयों पर न्यूनतम 3 अग्निशमन केन्द्र बनाने के लिए शासन को अतिशीघ्र प्रस्ताव भेजें। बैठक में एण्टी रोमियो स्कवायड पर भी चर्चा हुई, जिस पर आई0जी0 पुलिस श्री मोहित अग्रवाल ने सुझाव दिया कि लड़कियों के स्कूलों के गेटों पर सी0सी0टी0वी0 कैमरे लगाये जाएं। उन्होंने यह भी सुझाव दिया कि दीवारों पर यह सूचना कि ‘आप कैमरे की जद में हैं’ लिखी रहेगी। मुख्यमंत्री ने इस पर अपनी सहमति प्रदान की।
इस बैठक में पुलिस महा निरीक्षक गोरखपुर परिक्षेत्र श्री मोहित अग्रवाल सहित संबंधित पुलिस अधिकारी मौजूद थे।

Comments (0)

विकास परियोजनाओं में गति लाने के लिए समन्वय बनाकर कार्य करें वरिष्ठ अधिकारी: मुख्यमंत्री

Posted on 01 May 2017 by admin

मुख्यमंत्री ने स्कूलों में अध्यापकों की फोटो लगाने के निर्देश दिये

गोरखपुर में साॅलिड वेस्ट मैनेजमेंट स्कीम को तत्काल लागू किया जाए

दुधारू जानवरों से दूध लेकर उन्हें सड़कों पर आवारा घूमने के लिए छोड़
देने वाले गोपालकों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाए

विषाणु जनित बीमारी से किसी की मौत नहीं होनी चाहिए

स्वच्छता अभियान व्यापक स्तर पर चलाया जाए

मुख्यमंत्री ने गोरखपुर में विकास कार्यों सहित अन्य परियोजनाओं की समीक्षा की
cm-yogiउत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने आज गोरखपुर के जी0डी0ए0 सभागार में विकास कार्यों एव अन्य परियोजनाओं की प्रगति पर चर्चा करते हुए वरिष्ठ अधिकारियांे को निर्देशित किया कि वे आपसी समन्वय बनाकर कार्य करें ताकि विकास योजनाओं में गति आ सके। उन्होंने नगर आयुक्त को गोरखपुर में साॅलिड वेस्ट मैनेजमेंट स्कीम को तत्काल लागू करने के निर्देश दिये। उन्होंने उन गोपालकों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिये, जो दुधारू जानवरों से दूध लेकर उन्हें सड़कों पर आवारा घूमने के लिए छोड़ देते हैं। ऐसे गोपालकों को चिन्हित कर उनपर भारी जुर्माना लगाने के भी निर्देश दिये। उन्होंने मण्डलायुक्त को निर्देश दिये कि वे अधिकारियों के साथ अतिशीघ्र मधुबलिया (महराजगंज) जाकर उस स्थल का निरीक्षण करें जहां काफी संख्या में आवारा गोवंश रखे जा सकते हैं। उन्होंने इसे संचालित करने के लिए समर्पित लोगों की टीम बनाने के निर्देश दिये।
बैठक में मुख्यमंत्री ने प्रदेश में परिषदीय प्राईमरी तथा जूनियर हाईस्कूलों में गिरते शिक्षा के स्तर पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि सरकार शीघ्र ही इन सभी स्कूलों में अध्यापकों से लेकर प्रधान अध्यापकों की फोटो लगवाएगी और अधिकारियों को निर्देशित किया जायेगा कि वे अपने निरीक्षण के दौरान छात्र/छात्राओं से इस बात की जानकारी लें कि जिन अध्यापकों के फोटो स्कूल में लगे हैं वे पढ़ाने आते हैं या नहीं ? उन्होंने यह भी कहा कि संज्ञान में आया है कि कुछ सरकारी अध्यापक स्कूलों में अध्यापन कार्य नहीं करते हंै तथा अपने स्थान पर कम पैसे में किसी दूसरे व्यक्ति को पढ़ाने के लिए भेज देते हैं, ऐसे अध्यापकों के प्रति कठोर कार्यवाही की जाएगी।
मण्डलायुक्त ने गोरखपुर मण्डल के लिए मुख्यमंत्री के निर्देश पर शुरू की गयी योजनाओं को बिन्दुवार प्रस्तुत किया। उन्होंने गोरखपुर फर्टिलाइजर फैक्ट्री के बारे में बताया कि एच0यू0आर0एल0 को चिलुआताल से पानी उपलब्ध कराने की अनुमति दी जा चुकी है। एफ.सी.आई0एल0 से एच.यू.आर.एल. के पक्ष में भूमि स्थानान्तरित करने हेतु राज्य सरकार से अनापत्ति प्रमाण पत्र अभी प्राप्त होना बाकी है। इसी प्रकार लीज डीड में देय स्टाम्प ड्यूटी माफ किये जाने हेतु भी राज्य सरकार की अनुमति चाहिए।
श्री योगी ने इण्डियन बाॅटलिंग प्लाण्ट, एम्स गोरखपुर की स्थापना एवं गन्ना संस्थान को स्थानान्तरित किये जाने के कार्य की समीक्षा की। उन्होंने स्पष्ट कहा कि पिपराइच में नयी शुगर मिल पुरानी शुगर मिल के स्थान पर ही बनेगी इसलिए शेष बची जमीन पर गन्ना संस्थान अतिशीघ्र शिफ्ट किया जाए। उन्होंने गोरखपुर में रामगढ़ताल परियोजना में निर्माणाधीन बहुउपयोगी प्रेक्षागृह एवं सांस्कृतिक केन्द्र के परिसर में 250 सीट के एक अन्य आॅडिटोरियम, आर्ट गैलरी एवं मीडिया सेण्टर के निर्माण का निर्देश दिया। उन्होंने गोरखपुर हवाई अड्डे के सिविल टर्मिनल का नामकरण महा योगी गोरखनाथ एयरपोर्ट करने के साथ-साथ सिविल टर्मिनल के विस्तार पर भी चर्चा की।
मुख्यमंत्री ने रामगढ़ताल एवं उसके समीप अवस्थापना एवं सौन्दर्यीकरण के विभिन्न कार्यों की समीक्षा करते हुए इसे सितम्बर तक पूर्ण करने के निर्देश दिये। उन्होंने रामगढ़ताल में वाॅटर स्पोर्टस एक्टिविटी तथा रामगढ़ताल में सिल्ट निकालने तथा प्रदूषण नियंत्रण एवं संरक्षण हेतु कार्य को समयबद्ध तरीके से पूर्ण करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जल निगम अपनी सुस्ती छोड़कर सक्रिय भूमिका अदा करे। उन्होंने आर0के0बी0के0 से पैडलेगंज तक बनने वाली सड़क पर गंभीरता से पहल करने एवं उसकी बाधाएं दूर करने के भी निर्देश दिये। प्राणि एवं जन्तु उद्यान के निर्माण पर भी चर्चा की गयी।
श्री योगी ने गोरखपुर वाराणसी मार्ग के निर्माण कार्य की चर्चा करते हुए निर्देश दिये कि बाघा गाढ़ा से सड़क निर्माण शुरू किया जाए और काम में तेजी लाई जाए। उन्होंने कालेसर से जंगल कौड़िया नये बाईपास (एन0एच0-29ई) सेक्शन के निर्माण की समीक्षा करते हुए इसे बरसात से पूर्व पूर्ण करने के निर्देश दिये। मोहद्दीपुर-गोरखनाथ मंदिर-जंगल कौड़िया फोरलेन सी0सी0 रोड के प्रस्ताव पर निर्देश दिये कि पहले बिजली के पोल को पूरी सड़क से शिफ्ट किया जाये फिर कार्य शुरू किया जाए। नन्दानगर रेलवे क्राॅसिंग अण्डरपास के निर्माण पर बढ़ती लागत पर नाराजगी व्यक्त करते हुए उन्होंने रेलवे और लो0नि0वि0 के अभियंताओं को निर्देश दिये कि कार्य को 6 माह के अन्दर पूरा किया जाए। इसके साथ ही उन्होंने सूरजकुण्ड एवं तरंग के पास अन्य अण्डरपास बनाने के लिए सर्वे करने के निर्देश दिये।
बैठक में श्री योगी ने नवीन गल्ला मण्डी की दुर्दशा पर नाराजगी व्यक्त करते हुए मण्डी के अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे व्यापारियों से जो टैक्स वसूलते हैं उसका उपयोग मण्डी में बिजली, सड़क, नाले-नालियों की सफाई, व्यापारियों की सुविधाओं तथा जलापूर्ति पर खर्च करें। उन्होंने मण्डी में चल रही चोरी पर भी नियंत्रण रखने के निर्देश दिये।
मुख्यमंत्री ने पूर्वान्चल में विषाणु जनित बीमारियों की रोकथाम के लिए अधिकारियों को गंभीर प्रयास करने के निर्देश दिये। उन्होंने स्पष्ट कहा कि इससे किसी व्यक्ति की मौत नहीं होनी चाहिए, इसकी रोकथाम के लिए अभी से हर संभव तैयारी शुरू कर दें। जिला चिकित्सालय से लेकर प्राथमिक स्वास्थ केन्द्र, सामुदायिक स्वास्थ केन्द्रों पर इस बीमारी के उपचार के लिए प्रबंध किया जाए, ताकि मेडिकल काॅलेज पर ज्यादा दबाव न पड़े। उन्होंने इन बीमारियों से रोकथाम के लिए व्यापक स्तर पर पूरे पूर्वान्चल में सफाई अभियान चलाने के निर्देश दिये, जिसमें नालियों, नालों, पोखरों एवं तालाबों की सफाई भी शामिल है। उन्होंने बरसात के दिनों में लोगों से स्वच्छ पेयजल पीने और पानी को उबालकर ठंढा कर पीने के लिए भी जागरूक करने के निर्देश दिये।
श्री योगी ने राप्ती नदी के पूर्वी तट पर पक्का स्नान घाट बनाने का सुझाव दिया। बैठक में मौजूद प्रमुख सचिव सूचना एवं पर्यटन ने वरिष्ठ अधिकारियों को प्रारम्भिक सर्वे रिपोर्ट भेजने के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने बैठक में गोरखपुर मण्डल के विकास के लिए विभागीय योजनाओं की चर्चा की और उनपर केन्द्र से सहयोग लेने का आश्वासन दिया।
मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को याद दिलाया कि उ0प्र0 में समस्त सड़कों को गड्ढामुक्त करने के लिए 15 जून का समय निर्धारित किया गया है जिसमें लो0नि0वि0 के अलावा गन्ना विभाग, मण्डी, जिला पंचायत, नगर निगम, नगर पंचायतें, आर.ई.एस. आदि विभाग भी शामिल हैं जो अपनी सड़कों को इस तिथि तक गड्ढामुक्त कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने गन्ना मूल्य और गेहूं क्रय के मूल्यों को समय सीमा के अन्दर भुगतान कराने के निर्देश दिये।
बैठक में प्रमुख सचिव सूचना एवं पर्यटन, मण्डलायुक्त, आई0जी0 पुलिस, जिलाधिकारी, उपाध्यक्ष जीडीए, नगर आयुक्त, उप निदेशक सूचना सहित मण्डल के समस्त जिलाधिकारी एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

Comments (0)

गोरखपुर की काॅरपोरेट पार्क परियोजना में सिंचाई विभाग के जीर्ण-शीर्ण निरीक्षण भवन व भूमि को प्रेक्षागृह के निर्माण हेतु संस्कृति विभाग को निःशुल्क हस्तान्तरित करने सम्बन्धी प्रस्ताव मंजूर

Posted on 26 April 2017 by admin

मंत्रिपरिषद ने गोरखपुर विकास प्राधिकरण की काॅरपोरेट पार्क परियोजना के मध्य स्थित 3.54 एकड़ क्षेत्र में सिंचाई विभाग के जीर्ण-शीर्ण निरीक्षण भवन व भूमि को प्रेक्षागृह के निर्माण हेतु संस्कृति विभाग को निःशुल्क हस्तान्तरित किए जाने सम्बन्धी प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान कर दी है। उक्त भवन व भूमि की उपयोगिता सिंचाई विभाग के लिए शून्य है। प्रेक्षागृह के निर्माण से सांस्कृतिक गतिविधियों का संचालन होगा, जिससे जनसामान्य लाभान्वित होंगे।

Comments (0)

केन्द्र सरकार की भांति उत्तर प्रदेश सरकार भी ‘सबका साथ, सबका विकास’ की तर्ज पर कार्य करेगी: मुख्यमंत्री

Posted on 26 March 2017 by admin

  • विकास में प्रदेश की समस्त जनता की सहभागिता होगी
  • कानून व्यवस्था के साथ कोई भी खिलवाड़ करेगा, तो वह कठोर दण्ड का भागी होगा
  • उत्तर प्रदेश में ऐसा वातावरण बनेगा, जिसमें प्रत्येक नागरिक अपने को सुरक्षित महसूस करेगा
  • किसानों से शत-प्रतिशत गेहूं खरीद तथा गेहूं मूल्य के तत्काल  भुगतान के लिए शासन स्तर पर कार्य योजना बनाई जा रही है
  • बेरोजगार नौजवानों के पलायन को रोका जाएगा और शासन की योजनाओं को अन्तिम व्यक्ति तक पहुंचाया जाएगा
  • समाज के हर वर्ग का विकास किया जाएगा और किसी का तुष्टिकरण नहीं होगा
  • उत्तर प्रदेश में भ्रष्टाचार मुक्त शासन होगा और अराजकता का कहीं कोई स्थान नहीं होगा
  • मुख्यमंत्री ने गोरखपुर में आयोजित स्वागत एवं अभिनन्दन समारोह को सम्बोधित किया

मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि केन्द्र सरकार की भांति उत्तर प्रदेश सरकार भी ‘सबका साथ, सबका विकास’ की तर्ज पर कार्य करेगी। विकास में प्रदेश की समस्त जनता की सहभागिता होगी और यह प्रयास होगा कि समाज के जिस वर्ग के कल्याण के लिए जो भी योजना बने, उसका शत-प्रतिशत लाभ पात्र व्यक्तियों तक अवश्य पहुंचे।
dsc_4247मुख्यमंत्री आज गोरखपुर भ्रमण के दौरान महाराणा प्रताप इण्टर काॅलेज के मैदान में आयोजित स्वागत एवं अभिनन्दन समारोह को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने प्रचण्ड बहुमत के लिए उत्तर प्रदेश की जनता का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि राज्य में कानून व्यवस्था बनाए जाने के लिए कठोर कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए हैं। कानून व्यवस्था के साथ कोई भी खिलवाड़ करेगा, तो वह कठोर दण्ड का भागी होगा। उत्तर प्रदेश में ऐसा वातावरण बनाया जाएगा, जिसमें प्रत्येक नागरिक अपने को सुरक्षित महसूस करेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में अवैध बूचड़खानों पर पाबन्दी का अभियान शुरू हो गया है और इसके परिणाम दिखाई पड़ने लगे हैं।

press-11श्री योगी ने कहा कि राज्य सरकार ने निर्णय लिया है कि उत्तर प्रदेश से जो भी व्यक्ति कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर जाएगा, उसे 01 लाख रुपए का आर्थिक अनुदान दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि लोक निर्माण विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि हर हाल में प्रदेश की सड़कों को 15 जून तक गड्ढ़ा मुक्त बनाया जाए। उन्होंने यह भी कहा कि किसानों से शत-प्रतिशत गेहूं खरीद तथा गेहूं मूल्य के तत्काल भुगतान के लिए शासन स्तर पर कार्य योजना बनाई जा रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश का नौजवान रोजगार के अभाव में पलायन कर रहा था, महिलाएं असुरक्षित महसूूस कर रही थीं। अब उत्तर प्रदेश की जनता अपने-आप को उपेक्षित महसूस नहीं कर सकती। बेरोजगार नौजवानों के पलायन को रोका जाएगा। शासन की योजनाओं को अन्तिम व्यक्ति तक पहुंचाया जाएगा। उन्होंने कहा कि समाज के हर वर्ग का विकास किया जाएगा और किसी का तुष्टिकरण नहीं होगा। लोक कल्याण संकल्प पत्र के सभी वादों को शत-प्रतिशत पूरा किया जाएगा। उत्तर प्रदेश में भ्रष्टाचार मुक्त शासन होगा और अराजकता का कहीं कोई स्थान नहीं होगा। उन्होंने कानून का राज स्थापित करने में सभी से सहयोग करने की अपील की।

इसके पूर्व, मुख्यमंत्री के गोरखपुर आगमन पर वहां की जनता द्वारा उनका भव्य और ऐतिहासिक स्वागत किया गया। एयरपोर्ट से लेकर मुख्य कार्यक्रम स्थल महाराणा प्रताप इण्टर काॅलेज तक सड़क के दोनों ओर लाखों लोगों ने मुख्यमंत्री का स्वागत और अभिनन्दन किया। उन्होंने जनता को आश्वस्त किया कि परिश्रम और जनसहयोग के आधार पर वे उत्तर प्रदेश के सर्वांगीण विकास के लिए कोई कोर-कसर बाकी नहीं रखेंगे।

इस अवसर पर मंत्रिगण, जनप्रतिनिधिगण, शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारीगण सहित बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

Comments (0)

एनआईआईटी युनिवर्सिटी द्वारा इंजीनियरिंग करने के इच्छुक छात्रों के लिए गोरखपुर में कैरियर काउंसिलिंग सेशन का आयोजन

Posted on 25 April 2015 by admin

छात्रों को इंजीनियरिंग के विविध विषयों में मौजूद संभावनाओं से परिचित कराने के निजी काउंसिलिंग सेशन
ज्ञान आधारित अर्थव्यवस्था के उभरते क्षेत्रों में उच्चतर शिक्षा और शिक्षण में नवीनतम लाने के ध्येय से स्थापित अलाभकारी एनआईआईटी युनिवर्सिटी (एनयू) द्वारा 28 अप्रैल 2015 को प्रातः 10 बजे से एनआईआईटी सेन्टर, 6-बी, प्रथम तल, एसएएस हाउस, सप्रू मार्ग, हजरतगंज, लखनऊ में इंजीनियरिंग के इच्छुक छात्रों के लिए करियर काउंसिलिंग सेशन का आयोजन किया जाएगा, जिससे इंजीनियरिंग सेक्टर में अपनी पहचान बनाने के इच्छुक छात्रों को बहुत फायदा होगा।
यह करियर काउंसिलिंग सेशन, एनआईआईटी युनिवर्सिटी की सीनियर फैकल्टी द्वारा आयोजित किया जाएगा। इस सेशन से छात्रों को इंजीनियरिंग में करियर सफल बनाने के लिए ज़रूरी विविध कौशल समझने में मदद मिलेगी, और इंजीनियरिंग कोर्स पूरा करने के बाद इस सेक्टर में मिलने वाली विविध नौकरियों के बारे में भी जानकारी होगी। जिन छात्रों ने हाल ही में बारहवीं कक्षा की परीक्षा दी हैं वे इस सेशन में आ सकते हैं।
एनआईआईटी युनिवर्सिटी द्वारा कम्प्यूटर साइंस इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रानिक्स एंड कम्युनिकेशन, इंजीनियरिंग एंड बायोटेक्नोलाॅजी में बी.टेक प्रोग्राम (4वर्ष) और बीटेक-एमटेक इंटिग्रेटेड ड्युअल डिग्री प्रोग्राम (5वर्ष) चलाए जाते हैं। युनिवर्सिटी द्वारा एक अत्याधुनिक पाठ्यक्रम के जरिए भविष्य की तकनीकों का ज्ञान कराया जाता है जिसके लिए उद्योग जगत से संबंधित, तकनीक पर आधारित, शोध प्रेरित और अखंड शिक्षा देने के बुनियादी सिद्धान्तों का पालन किया जाता है। युनिवर्सिटी के छात्रों को भारत व विदेशों की प्रतिष्ठित कंपनियों में इंटर्नशिप करने के मौके मिलते हैं। बीटेक के छात्रों को पास आउट होने से पहले 6 महीने का कार्य अनुभव हासिल करने का भी अवसर मिलता है।
एनआईआईटी युनिवर्सिटी जियोग्राफिक इन्फाॅर्मेशन सिस्टम (जीआईएस) और एजुकेशन टेक्नोलाॅजी (ईटी) में 2 साल का एम.टेक प्रोग्राम भी चलाती है। एम.टेक -जीआईएस प्रोग्राम 2 साल का आवासीय कार्यक्रम है, जिसमें नौकरी पाने के मौके भी दिलाए जाते हैं। एम.टेक ईटी प्रोग्राम ऐसे शिक्षा विशेषज्ञों और शिक्षा के क्षेत्र के प्रोफेशनल लोगों के लिए है जो ज्ञान की दुनिया में अपनी विशेष पहचान बनाना चाहते हंै।
एनआईआईटी युनिवर्सिटी 2 साल का फुलटाइम एमबीए प्रोग्राम भी चलाती है, जो डिजिटल मार्केटिंग, बिजनेस एनालिटिक्स, ईकाॅमर्स, मैनेजमेंट आॅफ टेक्नोलाॅजी और बैंकिंग विषयों पर आधारित है।
एनयू में एमबीए प्रोग्र्राम छात्रों को आज के व्यावसायिक परिवेश में विविध पहलुओं की जानकारी हासिल करने और जुडने के मौके देता और प्रोत्साहित करता है।
एनआईआईटी युनिवर्सिटी ने हाल ही में युनिवर्सिटी आॅफ मिसौरी, कंसास सिटी, यूएसए के अकादमिक समझौता भी किया है, जिससे छात्र एनआईआईटी युनिवर्सिटी से अपना बीटेक और कम्प्यूटर साइंस में एम.एस 5 वर्षों में पूरा कर सकते हैं। एनयू, राजस्थान सरकार के 2010 के अधिसूचना सं 5 द्वारा अधिसूचित है और यूजीसी अधिनियम की धारा 2 (एफ) के अधीन है।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

मुख्यमंत्री ने प्रदेश के पिछड़े क्षेत्रों के विकास के लिए वैज्ञानिकों को आगे बढ़कर कार्य करने का आह्वान किया

Posted on 03 March 2013 by admin

  • गोरखपुर विश्वविद्यालय में महिलाओं के छात्रावास हेतु 2 करोड़, वाई-फाई हेतु 2.5 करोड़, विधि संकाय हेतु 50 लाख, पुस्तकालय तथा कैन्टीन व अन्य सुविधाओं हेतु क्रमशः एक-एक करोड़ रुपए सहित एक स्पोटर््स स्टेडियम बनाने की घोषणा
  • कुश्ती ग्रामीण संस्कृति व गरीबों से जुड़ा हुआ खेल

pressउत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने प्रदेश के पिछड़े क्षेत्रों के विकास के लिए वैज्ञानिकों को आगे बढ़कर कार्य करने का आह्वान करते हुए कहा कि पूर्वांचल के इस इलाके में आयोजित इस तीन दिवसीय विज्ञान कांग्रेस से प्रदेश के सतत् एवं समावेशीय विकास में सहायता मिलेगी। उन्होंने कहा कि सम्मेलन के महत्वपूर्ण निष्कर्षों को लागू करने का प्रयास किया जाएगा, जिससे राज्य की जनता का भला हो सके।
मुख्यमंत्री ने आज दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय के दीक्षा भवन में आयोजित प्रथम उत्तर प्रदेश विज्ञान कांग्रेस 2012-13 के उद्घाटन के अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने विश्वविद्यालय में महिलाओं के छात्रावास हेतु 2 करोड़, वाई-फाई हेतु 2.5 करोड़, विधि संकाय हेतु 50 लाख, पुस्तकालय तथा कैन्टीन व अन्य सुविधाओं हेतु क्रमशः एक-एक करोड़ रुपए सहित एक स्पोटर््स स्टेडियम बनाने की घोषणा की।
श्री यादव ने कहा कि सरकार युवा प्रतिभाओं को सही अवसर प्रदान करने के लिए व्यावहारिक नीति बनाने का प्रयास कर रही है ताकि उन्हें विकास यात्रा में अपना योगदान देने का मौका मिले और उनका ज्ञान व्यर्थ न जाये। उन्होंने कहा कि प्रदेश में युवा प्रतिभाओं की कमी नही है केवल उन्हें सही दिशा दिये जाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि अभी हाल में एक मैग्जीन में 200 विश्वविद्यालयों की सूची आयी है, जिसमें प्रदेश का कोई विश्वविद्यालय सम्मिलित नहीं है। गुणवत्तापरक शिक्षा की महत्ता पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि इससे प्रदेश की तस्वीर बदल सकती है। उन्होंने कहा कि सुविधाओं एवं संसाधनों के अभाव के बावजूद यह आयोजन सराहनीय है। उन्होंने इंसेफलाइटिस को क्षेत्र की बड़ी समस्या बताते हुए वैज्ञानिकों से सहयोग की अपेक्षा करते हुए कहा कि राज्य सरकार इसकी रोकथाम के लिए प्रभावी कदम उठा रही है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि नौजवानों की खुशहाली एवं रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए राज्य सरकार निरन्तर कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि इन्हें आधुनिक पढ़ाई एवं तकनीक में दक्षता हासिल करने के लिए शीघ्र लैपटाप उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया जा रहा है, जिससे छात्रों को आगे की पढ़ाई में भी मदद मिलेगी। राज्य सरकार आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों की बालिकाओं को शिक्षित करने के लिए उनको आर्थिक मदद दे रही है।
press-1उन्होंने नौजवानों को समाज की नींव बताते हुए कहा कि आधुनिक शिक्षा का मौका उपलब्ध कराने पर इसका लाभ समाज को निश्चित रूप से मिलेगा। उन्होंने कहा कि अनुसंधान से समाज में नई सोच तथा चेतना का विकास होता है और अन्ततोगत्वा इसका लाभ देश को मिलता है। उन्होंने कहा कि देश की समृद्धि एवं खुशहाली के लिए नौजवानों की प्रतिभा निखारनी होगी और यह काम बिना पर्याप्त संसाधन उपलब्ध कराए सम्भव नहीं है।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने 8 वैज्ञानिकों डाॅ0 नित्यानंद, डाॅ0 बी0पी0 कम्बोज, डाॅ0 एस0एस0 अग्रवाल, डाॅ0 पी0के0 सेठ, डाॅ0 आर0एस0 त्रिपाठी, डाॅ0 सी0एल0 खेत्रपाल, डाॅ0 एच0एन0 वर्मा तथा डाॅ0 कमर रहमान को विज्ञान-विभूषण से सम्मानित किया। बाद में मुख्यमंत्री ने विश्वविद्यालय परिसर में लगे साइंस एक्सपो-2013 (इंटरनेट) का अवलोकन किया। इस एक्सपो में स्वास्थ, चिकित्सा, ग्रामीण विकास, वैज्ञानिक शोध तथा बच्चों द्वारा बनाये गये विभिन्न माॅडलों को प्रदर्शित किया गया था। इस मौके पर विश्वविद्यालय के कुलपति श्री पी0सी0 त्रिवेदी भी उपस्थित थे।
सैयद मोदी रेलवे स्टेडियम में अखिल भारतीय राष्ट्रीय कुश्ती एवं महान भारत केसरी प्रतियोगिता के एक अन्य कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि कुश्ती ग्रामीण संस्कृति व गरीबों से जुड़ा हुआ खेल है। इसको बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार सदैव तत्पर है। इस मौके पर उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने यश भारती सम्मान की राशि 5 लाख रुपए से बढ़ाकर 11 लाख रुपए कर दिया है। उन्होंने कहा कि इस सम्मान से कुश्ती के अलावा अन्य क्षेत्रों के प्रतिभाशाली लोगों को पुरस्कृत किया जाता है, जिससे कि कुश्ती सहित अन्य विधाओं का विकास हो सके।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जनता से जो भी वायदे किये गए थे, प्रदेश सरकार उनको तेजी से पूरा करने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि बजट में गरीबों, किसानों और समाज के हर वर्ग के हितों को ध्यान में रखा गया है। किसानों को उनकी उपज का समुचित मूल्य दिलाने का प्रयास किया जा रहा है। सीमित संसाधनों के बावजूद प्रदेश के बेरोजगारों को स्थायी रोजगार की व्यवस्था होने तक बेरोजगारी भत्ता का वितरण किया जा रहा है। कन्या विद्या धन सहित अन्य योजनाएं समाज के कल्याण के लिए चलाई जा रही हैं।
इस दौरान उन्होंने सेना के पहलवान श्री युगवीर एवं उत्तर प्रदेश के श्री किशन कुमार के बीच महान भारत केसरी प्रतियोगिता का शुभारम्भ किया तथा 51 किलोग्राम में स्वर्ण पदक प्राप्त श्री रामदुलारे यू0पी0, श्री अनवार अहमद दिल्ली को रजत एवं श्री नवीन कुमार उ0प्र0 व श्री रिन्कू पंजाब को कांस्य पदक प्रदान कर पुरस्कृत किया। इसके पूर्व आयोजकों ने मुख्यमंत्री को गदा व स्मृति चिन्ह् भेंटकर सम्मानित किया।
उपरोक्त दोनों कार्यक्रमों की अध्यक्षता विधान सभा अध्यक्ष श्री माता प्रसाद पाण्डेय ने किया। इन अवसरों पर प्रदेश सरकार के मंत्री श्री शंखलाल माझी, श्री रामकरन आर्य, श्री ब्रह्माशंकर तिवारी, विधायक श्रीमती राजमति, पूर्व विधायक डाॅ0 पी0के0 राय, पूर्व मंत्री श्री जयप्रकाश यादव, सांसद श्री बृजभूषण सिंह आदि जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

सरकार की ईमानदारी, नैतिकता, चरित्र की पोल

Posted on 07 February 2013 by admin

राष्ट्रीय लोकदल के प्रदेष अध्यक्ष मुन्ना सिंह चैहान ने मुख्यमंत्री द्वारा लिये गये निर्णय की निन्दा करते हुये कहा कि पषुओं की तस्करी करने वाले गोरखपुर के के0सी0 पाण्डेय के खिलाफ कानून की कार्यवाही को रोकते हुये गोण्डा के ईमानदार, निष्ठावान, कर्तव्यनिष्ठ पुलिस अधीक्षक नवनीत सिंह राणा को हटाकर सरकार ने लोकतंत्र का गला घोंट दिया। इस घटना ने सरकार की ईमानदारी, नैतिकता, चरित्र की पोल खोल दी। मुख्यमंत्री को प्रदेष में कानून व्यवस्था को चुस्त दुरस्त करने के लिए पषुओं की तस्करी कर रहे के0सी0 पाण्डेय की लालबत्ती छीनकर उनके ऊपर कानूनी कार्यवाही करते न कि ईमानदार पुलिस अधीक्षक पर कानून की धज्जियां उड़ाते हुये गाज गिराते।
श्री चैहान ने आगे बताया कि गोण्डा के पुलिस अधीक्षक ने गोरखपुर के सपा के पदाधिकारी के0सी0 पाण्डेय के खिलाफ पषुओं की तस्करी करने पर सख्त कार्यवाही करने की शासन से सिफारिष भी की थी तथा उन्हें आरोपित करते हुये उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही के आदेष भी दिये थे। मुख्यमंत्री ने के0सी0 पाण्डेय के बचाव में कहा था कि पषुओं की तस्करी का आरोप बसपा सरकार के दौरान के0सी0 पाण्डेय पर लगा था जबकि के0सी0 पाण्डेय को दिसम्बर 2012 में पषुओं की तस्करी में आरोपित किया गया था। पुलिस अधीक्षक ने उनके ऊपर कार्यवाही करते हुये गिरफ्तारी का आदेष दिया था जिसका खामियाजा श्री राणा को उठाना पड़ा फलस्वरूप सरकार ने तत्काल प्रभाव से गोण्डा के पुलिस अधीक्षक पद से हटा दिया। इससे सरकार की नीति, नियत, और चरित्र का पता चलता है।
राष्ट्रीय लोकदल के प्रदेष प्रवक्ता प्रो0 के0के0 त्रिपाठी ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि जनता के प्रति ईमानदार, निष्ठावान, कर्तव्यनिष्ठ अधिकारियों के ऊपर गाज गिराने से पहले सरकार अपने  गिरेबान को भी देखें। सरकार जनता के बीच दिन-प्रतिदिन इकबाल खोती जा रही है। सरकार को जनता के बीच अपने इकबाल को कायम करने के लिए ईमानदार, निष्ठावान व कर्तव्यनिष्ठ अधिकारियों को उनके कार्यों के लिए पुरस्कृत किया जाना चाहिए न कि उनके खिलाफ कार्यवाही करें। राष्ट्रीय लोकदल का मानना है कि आगामी लोकसभा चुनाव में सरकार द्वारा किये गये जनविरोधी कार्याें का हिसाब किताब जनता एकमुस्त चुकता करेगी।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

भारी मात्रा में चरस बरामद करने में सफलता प्राप्त

Posted on 02 February 2013 by admin

एस0टी0एफ0 उत्तर प्रदेश को मादक पदार्थो की तस्करी करने वाले अन्तर्राष्ट्रीय गिरोह के 02 सदस्यों को जनपद गोरखपुर में गिरफ्तार कर उनके कब्जे से भारी मात्रा में चरस बरामद करने में सफलता प्राप्त हुई।
गिरफ्तार अभियुक्तों का विवरणः
1.    सोमदत्त लोहार पुत्र मनोरथ लोहार निवासी डबरा थाना कृष्णानगर जनपद कपिलवस्तु (नेपाल)।
2.    मंहगी लाल यादव पुत्र मूसे यादव निवासी बन्नी थाना सुदौली जनपद बस्ती।

गिरफ्तार अभियुक्तों से बरामदगीः
1.    21.2 किलोग्राम चरस
2.    रू0 45,000/- नकद
3.    02 अदद मोबाइल फोन

विगत कई दिनों से एस0टी0एफ0 को सूचना प्राप्त हो रही थी कि भारत-नेपाल सीमा पर मादक पदार्थो की तस्करी में कई गिरोह लिप्त है, जिनकी समय-समय पर गिरफ्तारी भी की जाती रही है। इसी क्रम में श्री एस0 आनन्द, अपर पुलिस अधीक्षक व श्री विनय कुमार सिंह, पुलिस उपाधीक्षक, फील्ड इकाई, गोरखपुर की टीम द्वारा अभिसूचना संकलन किया जा रहा था। अभिसूचना संकलन के दौरान ज्ञात हुआ कि मंहगी लाल द्वारा नेपाल से चरस लाकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश, हरियाणा व दिल्ली में बेचा जा रहा है। आज दिनांक 01-02-2013 को मुखबिर के माध्यम से जानकारी प्राप्त हुई कि एक नेपाली व्यक्ति व मंहगी लाल जनपद गोरखपुर के थाना कैन्ट क्षेत्रान्तर्गत रोडवेज तिराहे पर भारी मात्रा में चरस लेकर आयेंगे, जिसे लेकर वे पश्चिमी उत्तर प्रदेश जायेंगे। इस सूचना पर एस0टी0एफ0 टीम द्वारा गाड़ाबन्दी की गयी व लगभग 08 बजे प्रातः दो व्यक्ति रोडवेज तिराहे पर आकर रुके जिन्हें मुखबिर द्वारा मंहगी लाल व उसके साथी के रूप में पहचाना गया। इस पर एस0टी0एफ0 टीम द्वारा उन्हें आवश्यक बल प्रयोग कर गिरफ्तार कर लिया गया जिनसे उपरोक्त बरामदगी हुई।
पूछताछ पर सोमदत्त द्वारा बताया गया कि वह चरस की तस्करी के धन्धे में विगत 3-4 वर्षो से लिप्त है व नेपाल में सत्यराय, जय नारायन, जयवीर व दीनानाथ चैधरी उर्फ बाबा से चरस लेता है और मंहगी लाल को देता है। मंहगी लाल स्वयं भी इन लोगों के सम्पर्क है और सीधे उन्हीें लोंगे से भी कई बार चरस मंगवाकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश, दिल्ली व हरियाणा में भी बेच चुका है।
मंहगी लाल द्वारा भी पूछताछ में उपरोक्त तथ्यों की पुष्टि की गयी और बरामद रूपये चरस की बिक्री का होना बताया।
अभियुक्तगण से गहन पूछताछ की जा रही है तथा सम्पर्कों के संबंध में छानबीन की जा रही है।
इस गिरफ्तारी व बरामदगी के संबंध में थाना कैन्ट गोरखपुर में मु0अ0सं0 83, 84/2013 धारा 8/18/22/27 छक्च्ै एक्ट के अन्तर्गत अभियोग पंजीकृत कराया गया है।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

फर्जी मुकदमें में फंसाया जा रहा है

Posted on 28 December 2012 by admin

भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष हरीश द्विवेदी ने कहा है कि गोरखपुुर सदर सांसद योगी आदित्यनाथ को समाजवादी पार्टी के इशारे पर राजनैतिक कुचक्रवश पिपराईच थानाध्यक्ष द्वारा फर्जी मुकदमें में फंसाया जा रहा है। लखनऊ में आज भाजयुमों प्रदेश अध्यक्ष हरीश द्विवेदी के नेतृत्व में पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं का एक प्रतिनिधि मण्डल अपर पुलिस महानिदेशक से मिला और गोरखपुर जिले के पिपराईच थानाध्यक्ष संजय राय को अविलंब हटाने और विद्वेष वश फर्जी एफआईआर लिखने का आरोप तय करते हुए उन पर विभागीय कार्यवाही करने की मांग किया।
श्री द्विवेदी ने अपर पुलिस महानिदेशक को दिये ज्ञापन में कहा है कि गत 27 दिसम्बर को गोरखपुर जिले के पिपराईच थानान्र्तगत कम्हारिया गांव में एक कार्यकर्ता पर गलत पुलिस कार्यवाही का विरोध करने पर थानाध्यक्ष संजय राय ने मनगढंत तरीके से सदर सांसद योगी आदित्यनाथ पर फर्जी मुकदमा दर्ज किया जो अवैधानिक और निंदनीय है।
उन्होंने ज्ञापन में सदर सांसद पर से तत्काल मुकदमा समाप्त करने, आरोपी थानाध्यक्ष संजय राय को हटाने व उनपर अधिकारों के दुरूपयोग करने हेतु कठोर विभागीय कार्यवाही करने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि यदि तत्काल उचित कार्यवाही नही की गई तो भाजयुमों कार्यकर्ता आंदोलन करने को बाध्य होंगे।
प्रतिनिधि मण्डल मे प्रमुख रूप से प्रदेश अध्यक्ष हरीश द्विवेदी, प्रदेश उपाध्यक्ष शिवभूषण सिंह, भाजपा खेलकूद प्रकोष्ठ के प्रदेश सहसंयोजक निखिलेश सिंह, प्रदीप पाण्डेय, प्रदेश सहमीडिया प्रभारी आनन्द शाही, प्रदेश कार्यालय प्रभारी अशोक द्विवेदी, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य विद्या भूषण द्विवेदी, सचिदानंद राय, सुशील चैरसिया, नीरज मौर्या, राजेश यादव मौजूद थे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

लोहिया ग्रामों में सी.सी. रोड का निर्माण अब ग्रामीण अभियंत्रण विभाग द्वारा किया जायेगा

Posted on 08 November 2012 by admin

डा0 राम मनोहर लोहिया समग्र ग्राम विकास योजना के तहत चयनित ग्रामों में सी.सी.रोड के निर्माण हेतु अब मेरठ, सहारनपुर, चित्रकूटधाम व गोरखपुर मण्डल के लिए कार्यदायी संस्था लोक निर्माण विभाग को बनाया गया है।
इस संबंध में मुख्य सचिव श्री जावेद उस्मानी की ओर से प्रदेश के समस्त जिलाधिकारियों/मण्डलायुक्तों को भेजे गये पत्र में कहा गया है कि प्रदेश के अन्य मण्डलों के लोहिया ग्रामों में सी.सी. रोड का निर्माण अब ग्रामीण अभियंत्रण विभाग द्वारा किया जायेगा।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

May 2017
M T W T F S S
« Apr    
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293031  
-->






 Type in