*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | October, 2010

सिटी मोन्टेसरी स्कूल का छात्र दल नेपाल रवाना

Posted on 31 October 2010 by admin

nepal-deligation1

Comments (0)

माननीया मुख्यमन्त्री जी ने निर्देश दिए कि धनतेरस एवं दीपावली से पूर्व हजरतगंज की व्यवस्था इस प्रकार से की जाए कि व्यापारियों एवं आम लोगों को कोई असुविधा न हो

Posted on 31 October 2010 by admin

लखनऊ के ऐतिहासिक, सांस्कृतिक एवं आर्थिक गतिविधियों में हजरतगंज का विशेष महत्व

हजरतगंज के अवशेष कार्याें को भी 30 नवम्बर तक पूरा किया जाए

हजरतगंज के निर्माणाधीन कार्याें को पूरा कराते समय विकलांगजनों की सुविधा के लिए सभी आवश्यक प्राविधान कराये जायें

माननीया मुख्यमन्त्री जी ने आज हजरतगंज के सौन्दयीZकरण तथा विकास कार्याें की उच्च स्तरीय समीक्षा की

उत्तर प्रदेश की माननीया मुख्यमन्त्री सुश्री मायावती जी ने निर्देश दिए हैं कि धनतेरस एवं दीपावली से पूर्व हजरतगंज की व्यवस्था इस प्रकार से की जाए कि व्यापारियों एवं आम लोगों को कोई असुविधा न हो। उन्होंने सड़कों के मरम्मत का कार्य पूर्ण कराने का निर्देश देते हुए कहा कि नाले एवं ट्रंच पर धनतेरस से पूर्व हर हालत में स्लैब डाल दिए जायें। उन्होंने कहा कि हजरतगंज में सफाई व्यवस्था को प्राथमिकता से सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने कहा कि लखनऊ के ऐतिहासिक तथा सांस्कृतिक एवं आर्थिक गतिविधियों में हजरतगंज का विशेष महत्व है। उन्होंने कहा कि यहां होने वाले निर्माण कार्य अत्यन्त गुणवत्ता एवं उच्च कोटि के होने चाहिए।

माननीया मुख्यमन्त्री जी आज अपने सरकारी आवास पर दिसम्बर, 2010 में हजरतगंज के 200 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में प्रस्तावित कार्यक्रमों एवं हजरतगंज के सौन्दयीZकरण तथा विकास कार्याें की उच्च स्तरीय गहन समीक्षा कर रही थीं। उन्होंने विस्तार से हजरतगंज के पुनरूद्धार के लिए लखनऊ विकास प्राधिकरण तथा नगर निगम द्वारा कराये जा रहे कार्याें की जानकारी प्राप्त की और अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए।

माननीया मुख्यमन्त्री जी ने इस अवसर पर विभिन्न विभागों के अधिकारियों को निर्देशित किया कि हजरतगंज के जो निर्माण कार्य अवशेष रह जायें, उन्हें दीपावली के तुरन्त बाद प्रारम्भ करके 30 नवम्बर तक प्रत्येक दशा में पूर्ण कर लिया जाए। उन्होंने हजरतगंज में निर्माणाधीन मल्टीलेवेल पािर्कंग के बेसमेन्ट तथा ग्राउन्ड फ्लोर को 15 नवम्बर तक पूर्ण करने के निर्देश देते हुए कहा कि मल्टीलेवेल पािर्कंग के जो अवशेष कार्य रह जायें, उन्हें भी 31 दिसम्बर तक पूरा करा लिया जाये। उन्होंने कहा कि इस मल्टीलेवेल पािर्कंग के बन जाने से हजरतगंज की सड़कें पूरी तरह से आम जनता के लिए उपलब्ध हो जायेंगी और आवागमन बेहतर ढंग से संचालित हो सकेगा।

माननीया मुख्यमन्त्री जी ने निर्देश दिए कि मल्टीलेवेल पािर्कंग एवं हजरतगंज के अन्य निर्माणाधीन कार्याें को पूरा कराते समय विकलांगजनों की सुविधा के लिए सभी आवश्यक प्राविधान सुनिश्चित कराये जायें, जिससे कि उन्हें आवागमन में किसी प्रकार की दिक्कत न हो सके।

गौरतलब है कि माननीया मुख्यमन्त्री जी द्वारा लखनऊ के गौरव को बहाल करने तथा शहर को सभी नागरिक सुविधाओं से सुसज्जित करने के लिए लगभग 3500 करोड़ रूपये की योजनाओं को पहले ही स्वीकृत किया जा चुका है। उन्होंने इन योजनाओं को शीध्र पूरा करने के लिए अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैं, जिसके फलस्वरूप लखनऊ में भी उच्च स्तरीय सुविधायें उपलब्ध हो रही हैं और यह नगर तेजी से देश के अग्रणी शहरों की सूची में शामिल होने की दौड़ में आ गया है।

बैठक में राज्य सलाहकार परिषद के अध्यक्ष श्री सतीश चन्द्र मिश्रा एवं सम्बन्धित विभागों के सभी वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

सिंचाई मंत्री ने ’’केन बेतवा लिंक नहर परियोजना’’ के सफल यािन्वयन के लिए त्रिपक्षीय स्वतंत्र बोर्ड की स्थापना पर बल दिया

Posted on 30 October 2010 by admin

बुन्देलखण्ड क्षेत्र के लोगों को वर्तमान में मिल रहे पानी की उपलब्धता सुनिश्चित हो और खेतों को पर्याप्त पानी मिले - नसीमुद्दीन सिद्दीकी

उत्तर प्रदेश के सिचॉई मंत्री श्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने ’’केन बेतवा लिंक नहर परियोजना’’ के समयब़द्ध एवं सफलतापूर्वक क्रियान्वयन के लिए केन्द्र सरकार एवं उत्तर प्रदेश तथा मघ्य प्रदेश के त्रिपक्षीय स्वतंत्र बोर्ड की स्थापना करने पर जोर दिया है जिससे कि दोनो प्रदेशों को अपनी बात रखने का मौका मिले। उन्होंने कहा कि यह बोर्ड इस परियोजना के नियोजन, यािन्वयन, संचालन एवं अनुश्रवण आदि के लिए उत्तरदायी हो।

श्री सिद्दीकी ने यह बात आज यहॉ राष्टीय वर्षा सिंचित क्षेत्र प्राधिकरण नई दिल्ली के चीफ एक्जीक्यूटिव  आफिसर डा0 जे0एस0सामरा तथा प्राधिकरण के सदस्य श्री के0एस0राम चन्द्रा से मुलाकात के दौरान कही। प्राधिकरण के इन अधिकारियों ने सिंचाई मंत्री से मुलाकात कर उत्तर प्रदेश एवं मध्य प्रदेश के क्षेत्र में प्रस्तावित ’’केन बेतवा लिंक नहर परियोजना’’ के महत्वपूर्ण बिन्दुओं के बारे में अवगत कराया और यह भी बताया कि गत दिवस दोनों प्रदेशों के अधिकारियों के बीच बैठक भी सम्पन्न हो चुकी है।
सिंचाई मंत्री ने कहा कि चूॅंकि ‘‘केन बेतवा लिंक नहर परियोजना’’ मूलत: बुन्देलखण्ड क्षेत्र को सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराने के सम्बन्ध में है, ऐसी स्थिति में इस योजना पर आगे विचार करने से पहले यह सुनिचित करना जरूरी है कि उत्तर प्रदो और वाेिष रूप से बुन्देलखण्ड क्षेत्र के लोगों को वर्तमान में उपलब्ध हो रहे पानी की उतनी मात्रा में उपलब्धता सुनिचित हो, किसानों के खेतों को पर्याप्त मात्रा में पानी सुनिचित हो तथा बेतवा नदी से राजघाट बॉंध को मिलने वाले पानी में कोई कमी न आने पाये। उन्होंने कहा कि इस हेतु यह आवयक होगा कि वर्तमान में केन नदी पर निर्मित बरियारपुर बियर जो करीब 103 वर्षा पुराना है और ज़र्ज़र स्थिति में है, का या तो सर्वोच्च प्राथमिकता पर सुदृढ़ीकरण किया जाए या फिर उसके डाउन स्टीम में नया बियर बनाया जाए जिससे भविष्य में पुरानी बियर के क्षतिग्रस्त होने से दोनों प्रदो में सिंचाई बाधित न हो।
श्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने यह भी कहा कि यह परियोजना ‘‘केन बेतवा लिंक नहर परियोजना’’ तक ही सीमित रहे, जिसमें बरियारपुर बियर, दौधन डैम, पावर प्लान्ट, लिंक नहर, परीक्षा वीयर के निर्माण इस परियोजना के अन्तर्गत कार्य कराये जाए एवं बरियारपुर बियर के निर्माण को शीर्ष प्राथमिकता दी जाए। बेतवा नदी में मध्य प्रदो अंा के उपयोग के किये तीन प्रस्तावित बॉधों को इस योजना से पृथक रखा जाए तथा उन्हें द्वितीय चरण के कार्यों के रूप भविष्य में विचार किया जाए। इस परियोजना के उपर्युक्त कार्यों से दोनों प्रदेााें को लाभ होगा। उन्होंने  इस बात पर  जोर दिया कि इस परियोजना में निर्मित होने वाले पावर प्लान्ट से उत्पादित होने वाली विद्युत का आधा भाग उ0प्र0 को दिया जाए।

सिंचाई मंत्री ने इस बात पर भी बल दिया कि मध्य प्रदो द्वारा बेतवा बेसिन में प्रस्तावित नई संरचनाओं में प्रस्तावित कार्यो में समुचित निर्धारण तथा प्रथम चरण योजना में प्रदो द्वारा प्रस्तुत अभिमत के बिन्दुओं के निराकरण एवं परियोजना में सम्मिलित हो जाने के उपरान्त ही परियोजना को प्रदो द्वारा स्वीकृति दिया जाना राज्य हित में होगा क्योंकि उत्तर प्रदो द्वारा बेतवा जल त्याग कर अपनी बेतवा नहर प्रणाली में केन नदी का का जल लिंक नहर के माध्यम से प्राप्त किया जायेगा, यह आवयक है कि प्रथम चरण में ऐसे कार्य प्राथमिकता पर हों जो केन जल को उत्तर प्रदो को निर्धारित स्थल पर उपलब्ध करायें। प्रथम चरण के अन्य कार्यो की प्राथमिकता उनके उपरान्त हो। द्वितीय चरण के अन्तर्गत अपर बेतवा बेसिन में मध्य प्रदो की संरचनाओं का निर्माण होने पर इसका प्रभाव उत्तर प्रदो की नहर प्रणालियों पर होगा। अत: प्रथम चरण के सफल यािन्वयन के उपरान्त ही द्वितीय चरण के यािन्वयन की सहमति दिया जाना राज्यहित में होगा अन्यथा बेतवा जल द्वितीय चरण की योजनाओं में उपयोग किया जाने लगेगा तथा उत्तर प्रदो को केन नदी से जल उपलब्ध नहीं होगा।

श्री सामरा ने सिंचाई मंत्री को आवस्त किया कि केन बेतवा लिंक नहर परियोजना में इन बिन्दुओं पर विचार-विर्मा करके समय से निर्णय लिया जायेगा। बैठक में प्रमुख सचिव, नियोजन श्री मनजीत सिंह, प्रमुख सचिव, सिंचाई श्री कािन सिंह अटोरिया, प्रमुख अभियन्ता, सिंचाई श्री देवेन्द्र मोहन, प्रमुख अभियन्ता, परिकल्प एवं नियोजन श्री सुरो तिवारी एवं मुख्य अभियन्ता, बेतवा/बेतवा परियोजना श्री सेवालाल भी उपस्थित थे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

नवम्बर को सभी मण्डलों/जनपदों के पुलिस तथा प्रशासनिक अधिकारियों के साथ वीडियों कोंन्सिंग के माध्यम से कानून व्यवस्था की गहन समीक्षा की जाए

Posted on 30 October 2010 by admin

मुख्यमंत्री ने आज कानून व्यवस्था, विशेष रूप से सम्पन्न पंचायत चुनाव की गहन समीक्षा की

उत्तर प्रदो की मुख्यमंत्री सुश्री मायावती ने अपराधियों एवं अराजकतत्वों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने हाल में ही घटित घटनाओं को गम्भीरता से लेते हुए पुलिस को इन घटनाओं का शीघ्र खुलासा करने और इसके लिए जिम्मेदार अपराधियों को कानून के मुताबिक सख्त सजा दिलाने के निर्देश दिए। उन्होंने प्रदेश का माहौल खराब करने वालों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही करने का निर्देश देेते हुए कहा कि किसी भी स्तर पर ढिलाई बर्दाश्त नहीं की जायेगी। उन्होंने हाल ही में सम्पन्न पंचायत चुनाव में पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि सन्‌ 2005 में सम्पन्न पंचायत चुनाव की अपेक्षा यह पंचायत चुनाव कानून व्यवस्था की दृष्टि से बेहतर रहा।

मुख्यमंत्री आज अपने सरकारी आवास पर कानून व्यवस्था, विशेष रूप से सम्पन्न पंचायत चुनाव की गहन समीक्षा कर रहीं थीं। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश आबादी के लिहाज से देश का सबसे बड़ा राज्य है। इतने विशाल जनसंख्या वाले राज्य में केन्द्र सरकार की मदद के बिना पंचायत चुनाव सम्पन्न कराना बहुत बड़ी उपलब्धी है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2005 में सम्पन्न पंचायत चुनाव के सापेक्ष इस पंचायत चुनाव में मतदाताओं की संख्या 15 प्रतिशत अधिक थी। विगत पंचायत चुनाव की अपेक्षा इस पंचायत चुनाव में मतदेय स्थलों की संख्या भी लगभग 25 हजार अधिक थी। उन्होंने कहा कि पंचायत चुनाव 2005 में ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायत एवं जिला पंचायत के चुनाव अलग-अलग कराये गये थे, जबकि इस बार यह सभी चुनाव एक साथ कराये गये। फलस्वरूप प्रत्याशियों की संख्या में पिछले चुनाव की अपेक्षा अभूतपूर्व वृद्धि हुई। उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि इसके बावजूद विगत पंचायत चुनाव 2005 की अपेक्षा पंचायत चुनाव 2010 अपेक्षाकृत शांतिपूर्ण रहा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पंचायत चुनाव 2005 में केन्द्र सरकार द्वारा 30 कम्पनी अर्द्धसैनिक बल राज्य को उपलब्ध कराये गये थे, जबकि इस बार 50 कम्पनी अर्द्धसैनिक बल उपलब्ध कराने के अनुरोध के बावजूद केन्द्र द्वारा एक भी कम्पनी अर्द्धसैनिक बल उपलब्ध नहीं कराये गये। उन्होंने कहा कि इसके बावजूद प्रदेश की पुलिस ने कानून व्यवस्था को बनाये रखने में काफी हद तक सफलता पायी। उन्होंने कहा कि इन पंचायत चुनावों में घटित प्रत्येक घटनाओं को संज्ञान में लेते हुए राज्य में कुल 238 अभियोग पंजीकृत किए गए एवं तत्परतापूर्वक कार्यवाही करते हुए 469 अभियुक्तों को गिरतार किया गया। उन्होंने कहा कि पिछले पंचायत चुनाव में प्रदेश के 52 जनपद चुनावी हिंसा से प्रभावित थे, जबकि इस चुनाव में पुलिस की सख्ती के कारण मात्र 44 जनपदों में छुट-पुट चुनावी हिंसा हुई। उन्होंने कहा कि पिछले चुनाव में मतदान वाले दिनों में चुनावी हिंसा के कारण 10 व्यक्ति मारे गये थे, जबकि इस बार प्रदेश की पुलिस ने पहले से सतर्कता बरती, जिसके कारण मतदान वाले दिनों में मात्र 09 व्यक्तियों की दुर्भाग्यपूर्ण हत्या हुई। इसी प्रकार पिछले चुनाव में चुनावी हिंसा में 171 लोग घायल हुए थे, जबकि इस बार 59 व्यक्ति घायल हुए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हाल ही में प्रदेश में कुछ दुर्भाग्यपूर्ण आपराधिक घटनायें हुई हैं। उन्होंने कहा कि राज्य की पुलिस, अयोध्या प्रकरण, प्रदेश में आयी भीषण बाढ़ तथा पंचायत चुनाव में व्यस्त थी, जिसका फायदा अपराधियों ने उठाया। उन्होंने कड़े निर्देश देते हुए कहा कि इन घटनाओं की व्यापक छानबीन की जाए और उनका तत्काल खुलासा किया जाए। उन्होंने कहा कि इन घटनाओं के लिए जिम्मेदार अपराधियों को कठोर से कठोर सजा दिलायी जाए। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कानून द्वारा कानून का राज कायम करना उनकी सर्वोच्च प्राथमिकताओं में शामिल है। उन्होंने कहा कि माफियाओं, डकैतों तथा असामाजिक तत्वों के विरूद्ध लगातार अभियान चलते रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि अब पंचायत चुनाव सम्पन्न हो चुके हैं। परिणाम भी घोषित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस को चुनाव के बाद होने वाली आपराधिक घटनाओं और व्यक्तिगत रंजिश के मामलों की गम्भीरता से लेते हुए और अधिक चौकसी बरतने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि सावधानी के तौर पर ऐसे सम्भावित लोगों को पाबंद किया जाए और आपसी झगड़ों को टालने के गम्भीर प्रयास किये जाए।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश में अन्यायमुक्त, अपराधमुक्त, भयमुक्त एवं भ्रष्टाचारमुक्त तथा विकासयुक्त वातावरण तैयार करने तथा अधिकारियों को राजनैतिक या किसी भी तरह के बाहरी दबाव से मुक्त रहकर कानून के दायरे में काम करने के निर्देश दिए। उन्होंने प्रमुख सचिव, गृह, पुलिस महानिदेशक तथा अपर पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था को 01 नवम्बर, 2010 को प्रदेश के सभी मण्डलों/जनपदों के पुलिस तथा प्रशासनिक अधिकारियों के साथ वीडियों कोंन्सिंग के माध्यम से कानून व्यवस्था की गहन समीक्षा करने और आगे आने वाले त्यौहारों एवं पंचायत चुनाव के बाद होने वाले अपराधों को सख्ती से रोकने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा लापरवाही बरतने के कारण ही अधिनस्थ अधिकारी लापरवाह हो जाते हैं। इससे अपराधियों, विशेष रूप से संगठित गिरोह वाले अपराधियों को कानून व्यवस्था से खिलवाड़ करने का मौका मिलता है। उन्होंने आगाह किया कि वरिष्ठ अधिकारी इस बात का सदैव ध्यान रखें कि उनकी सरकार कानून व्यवस्था के मुद्दे को लेकर ही सत्ता में आयी है। इसलिए इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी।

इस बैठक में प्रमुख सचिव, गृह कुंवर फतेह बहादुर, पुलिस महानिदेशक करमवीर सिंह तथा अपर पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था बृज लाल सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

अन्तर्राष्ट्रीय सांस्कृतिक ओलिम्पयाड `सेलेस्टा-2010´ सी.एम.एस. में 17 नवम्बर से

Posted on 30 October 2010 by admin

सिटी मोन्टेसरी स्कूल, अलीगंज कैम्पस द्वारा पांच दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय सांस्कृतिक ओलिम्पयाड `सेलेस्टा-2010´ का आयोजन आगामी 17 से 21 नवम्बर तक सी.एम.एस. कानपुर रोड ऑडिटोरियम में किया जा रहा है। इस अन्तर्राष्ट्रीय ओलिम्पयाड में प्रतिभाग हेतु श्रीलंका, बांग्लादेश, नेपाल, मॉरीशस, पाकिस्तान एवं भारत के विभिन्न प्रान्तों से लगभग 500 से अधिक छात्र लखनऊ पधार रहे हैं। यह जानकारी आज यहां आयोजित एक प्रेस कान्फ्रेन्स में `सेलेस्टा-2010´ की संयोजिका व सी.एम.एस. अलीगंज की वरिष्ठ प्रधानाचार्या श्रीमती गौरी खन्ना ने दी। पत्रकारों से बातचीत करते हुए श्रीमती खन्ना ने कहा कि इस सांस्कृतिक ओलिम्पयाड का उद्देश्य संगीत व कला के माध्यम से भावी एवं युवा पीढ़ी की बहुमुखी प्रतिभा के विकास के साथ ही उनके मानवीय एवं आध्याित्मक दृष्टिकोण को विकसित करना है ताकि उच्च चारित्रिक गुणों से सुसज्जित भावी पीढी मानवता के उज्जवल पक्षों का संधान कर सके।

celesta-press-conf-1प्रेस कान्फ्रेन्स में बोलते हुए `सेलेस्टा-2010´ की संयोजिका श्रीमती खन्ना ने कहा कि `सेलेस्टा´ जीवन के सौन्दर्य का उत्सव है और इस अन्तर्राष्ट्रीय ओलिम्पयाड में देश-विदेश के छात्र धरती और संस्कृति की विभिन्नताओं में एकता का प्रदर्शन करते हैं। श्रीमती खन्ना ने कहा कि सेलेस्टा बाल एवं युवा प्रतिभाओं को स्वस्थ गायन, नृत्य  व कला का एक अन्तर्राष्ट्रीय मंच प्रदान करता है तथापि यह ओलिम्पयाड भावी संगीतज्ञों व कलाकारों को विभिन्न प्रतियोगिताओं के माध्यम से अपनी प्रतिभाओं को विकसित करने का एक सुअवसर भी प्रदान करेगा।

सेलेस्टा-2010 की प्रतियोगिताओं की जानकारी देते हुए श्रीमती खन्ना ने बताया कि इस ओलिम्पयाड में विश्व के 6 देशों से पधारे रहे छात्र कोरल सिंगिंग, ड्रामैटिक्स, आर्ट एण्ड पेिन्टंग, ट्रेडीशनल डांस, कोलाज, कोरियोग्राफी एवं आर्केस्ट्रा आदि प्रतियोगिताओं में अपने हुनर का प्रदर्शन तो करेंगें ही, साथ ही साथ अपने-अपने देशों की समृद्धि सांस्कृतिक विरासत एवं कला का अभूतपूर्व नजारा पेश करेंगे। उन्होंने कहा कि सुमधुर एवं आध्याित्मक संगीत मन को सुन्दर, शान्त एवं सरस बनाता है। तथापि आत्मा की शक्तियों को बढ़ाता है। यह बालकों की ज्ञान वृद्धि में भी सहायक होता है एवं तथापि जीवन के कठिन क्षणों में मनुष्य को शक्ति प्रदान करता है। इसी कारण संगीत व कला को आत्मा के भोजन की संज्ञा दी गई है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि यह ओलिम्पयाड देश-विदेश के छात्रों में भक्ति, सरसता, करुणा एवं शान्ति की भावना संचारित करने का सशक्त माध्यम साबित होगा और यही भावनाए विश्व एकता व विश्व शान्ति की दिशा में मील का पत्थर साबित होंगी।

सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गांधी ने इस अवसर पर कहा कि आज विश्व में तरह-तरह के हथियार बनाने की होड़ ने पूरे संसार की सुख और शान्ति छीन ली है। ऐसे विषम समय में बच्चों में संगीत के माध्यम से ईश्वरीय प्रेम, विश्व एकता और विश्व शान्ति के बीज बोने की परम आवश्यकता है। सी.एम.एस. अलीगंज कैम्पस का यह अनूठा प्रयास है जब एक ही मंच पर विभिन्न देशों की संस्कृतियों की झलक देखने को मिलगी और अनेकता में एकता का अनूठा दृश्य उपस्थित होगा। यही वह भावना है जो सारी दुनिया को एक सूत्र में जोड़ने में सहायक होगी। श्री गांधी ने कहा कि इस अन्तर्राष्ट्रीय सांस्कृतिक ओलिम्पयाड के माध्यम से सी.एम.एस. अलीगंज कैम्पस बच्चों को एकता, सहिष्णुता, प्रेम और शान्ति की शिक्षा देने का प्रयास कर रहा है। यह लखनऊ के लिए ही नहीं अपितु पूरे देश के लिए गर्व की बात है, इसके लिए मैं सी.एम.एस. अलीगंज की प्रधानाचार्या व इस सम्मेलन की संयाजिका श्रीमती गौरी खन्ना को हादिZक बधाई देता हूं।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

लौह पुरूश पटेल का जन्म दिवस राश्ट्रीय अखण्डता दिवस के रूप में मनाया जायेगा

Posted on 30 October 2010 by admin

जिलाधिकारी अमृत अभिजात ने बताया है कि दिनांक 31 अक्टूबर 2010 को लौह पुरूश बल्लभ  भाई पटेल का जन्म दिवस “राश्ट्रीय अखण्डता दिवस“ के रूप में मनाया जायेगा।

इस सम्बन्ध में प्रदेश के राश्ट्रीय एकीकरण अनुभाग से जारी शासनादेश के क्रम में सभी सरकारी कार्यालयों एवं संस्थाऔं के लिए आदेश जारी किये गये है कि इस अवसर पर राश्ट्रीय एवं देशभक्ति के गीतों के गायन सहित रैलियों का आयोजन किया जाये।इस अवसर पर लौह पुरूश सरदार बल्लभ भाई पटेल के जीवन से सम्बन्धित कार्य कलापों के सम्बन्ध में परिचर्चा की जायेगी और राश्ट्रीय अखण्डता पर बल देने से सम्बन्धित विचार गोश्ठी व सेमीनार आयोजित किये जायेगे।

उन्होंने जिला विद्यालय निरीक्षक तथा वेसिक िशक्षा अधिकारी को निर्देश दिये है कि जनपद के स्कूल/कालेजों में आयोजन हेतु निर्देिशत करें और इस सम्बन्ध में अनुपालन आख्या 15 नबम्वर तक उपलब्ध करा दें।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

31 अक्टूबर को “राश्ट्रीय संकल्प दिवस“ के रूप में मनांए

Posted on 30 October 2010 by admin

विगत वशोZ की भान्ति इस वशZ भी 31 अक्टूबर को राश्ट्रीय संकल्प दिवस के रूप में मनाया जायेगा। राश्ट्रीय एकीकरण अनुभाग द्वारा पत्र भेजकर अवगत कराया गया है कि भारत सरकार द्वारा इस वशZ भी स्व0 श्रीमती इिन्दरा गॉधी की पुन्य तिथि 31 अक्टूबर को राश्ट्रीय संकल्प दिवस के रूप में मनाये जाने का निर्णय लिया गया है । इस अवसर पर रैलियों के आयोजन किये जाते है जिनमें राश्ट्रीय भावना और भक्ति के गीत तथा भाशण आदि के आयोजन होते है।

अपर जिलाधिकारी (प्रो0) कै0 आलोक शेखर तिवारी ने जिला विद्यालय निरीक्षक, जिला विद्यालय निरीक्षिका, तथा जिला बेसिक िशक्षा अधिकारी आदि को पत्र भेज कर शासनादेश के निर्देश के अनुसार जनपद के स्कूल कालेजो में कार्यक्रमों के आयोजन कराने और आयोजित कार्यक्रमों के सम्बन्ध में सूचना 04 नबम्बर तक उनके कार्यालय में भिजवाने के निर्देश दिये है ताकि तद्नुसार सूचना शासन को भेजी जा सके।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

जीते प्रत्यािशयों के चेहरे खिले

Posted on 30 October 2010 by admin

विकास खण्ड बल्दीराय में जहॉ उम्मीद्वारों की जीत की घोशणा होती रही और अबीर- गुलाल के साथ जीत का जश्न मनाते रहे वहीें हारे उम्मीद्वारों के चेहरे उतरे नज़र आ रहे थे। जीते हुए प्रत्यािशयों के समर्थकों में उत्साह नज़र आ रहा था।  अब तक जीते प्रत्यािशयों में ग्राम भवानी िशवपुर से सन्तोश कुमार , दौनों से सुधा सिंह, गौरा बरामउ से इन्द्र पाल, निशासिन से राम कृश्ण, काकरकोला से मीना, सदुल्लापुर से बृजलाल नटौली से राम कुमार, सोनबरसा से रिजवान, सैनी से मालती, बघौना से राकेश, वरसॉवा से कमला देवी, रामपुर बवुवान से राम पती, हुमनापुर से रामकुमार, कापा से हरि प्रसाद, विरधौरा से राम शंकर, मउ से समशाद, इसैाली से सिया राजी, पिपरी से योगेन्द्र सिंह, बड़ा डाड़ कुवॉसी से पचम यादव, डेहरियावॉ से इन्द्र कुमार, महुली से निर्मला। इसी तरह कुड़वार व्लाक से ग्राम सभाराजापुर से राजेश, गंजेहड़ी से हशीब, सोहगौली से रामबहादुर, भ्ॉडरा से अभय सिंह, प्रतापपुर से संजय दुवे, भगवानपुर से कुमुद शर्मा, मिठनेपुर से मोती, नरोत्तमपुर से गायत्री देवी, मवैया से हजरूद्दीन, बेला पिश्चम से सुभाश सिंह, डोमनपुर से मालती, पिपरी से इन्तजार, विनायकपुर से सन्तोश, कोटा से िशवाकान्त यादव, बहलोलपुर से छेदीवर्मा, नौगवातीर से वेद प्रकाश, खादर बसन्तपुर से राजकुमार यादव कुड़वार से मिश्री लाल यादव, देवलपुर से लखपती यादव , हरखपुर से राम स्वारथ, सरकौड़ा से कौिशल्या देपी, जगदीशपुर से रामसिंह, घ्ॉरवासे मेराज अहमद, रवनिया  पूरब से िशवकुमारी सिंह, खोखीपुर से सत्य देव गौतम, रवनिया से भानु यादव, बहमदपुर से किरपाली यादव, कोटिया से महमूद, गणेशगंज से िशवपूजन विजयी रहे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (1)

मृतक के परिवार को सपा ने दिया दो लाख

Posted on 30 October 2010 by admin

•     प््रातिपक्ष नेता िशव पाल व अखिलेश सहित दर्जनो सपाई पहुंचे मझुवारा
•    म्ृातक की पत्नी को दिया दो लाख

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में जिले के चर्चित लेखपाल हत्या काण्ड के मद्देनज़र आज समाजवादी पार्टी विधान सभा के प्रतिपक्ष के नेता अहमद हसन, विधान मण्डल के प्रति पक्ष के नेता िशव पाल सिंह यादव, सांसद अखिलेश सिंह यादव, पूर्व एम एल सी शैलेन्द्र सिंह, जिला अध्यक्ष रधुवीर यादव, सदर विधायक अनूप सण्डा, प्रदेश अध्यक्ष ओम प्रकाश सिंह सहित दर्जनों की संख्या में मृतक राम कुमार की पत्नी कमला देवी से मिलने उसके गॉव मंझवारा पहुंचे । विधान मण्डल के प्रतिपक्ष नेता ने दो लाख का चेक सहायतार्थ प्रदान किया और कहा कि शासन से मृतक लेखपाल की पत्नी कमला देवी को 20 लाख दिलवाने की मॉग करेगें।
imga0048
मझवारा गॉव से लौटने के बाद लोक सभा के पूर्व प्रत्याशी एवं पूर्व विधायक अशोक पाण्डेय के निवास स्थान पर पे्रस वार्ता में कहा कि उक्त काण्ड लोकतन्त्र के लिए काला धब्बा है। बाहुबलियों के द्वारा निर्विरोध चुनाव जिताने की जबरजस्ती का परिणाम रामकुमार की हत्या के रूप में हुई। श्री सिंह ने कहा कि हत्या करने वाले मुख्य अभियुक्त पकड.े नहीं गये है।उनको तुरन्त गिरफ्तार कर जेल भेजा जाना  चाहिए। इस सरकार में कोई भी सुरक्षित नही है। लखनउ में सी0 एम 0ओ 0की हत्या , इसी तरह कक्षा 8 में प़ढ़ रही छात्रा के साथ रेप कर उसकी हत्या कर देना, आम बात हो गई है। सूबें की मुखिया को समय ही नही है कि वह बाहर जाकर देखेर्षोर्षो उन्हें तो केवल एक चीज से मतलब नोट गिनना है। जब नोट गिनने से फुरसत मिलेगी तो वह देखेंगी कि बाहर क्या हो रहा हैर्षोर्षो वह तो सुरक्षा के घेरे में हैं , उनको और लोगो की सुरक्षा से क्या मतलब र्षोर्षोएक प्रश्न के उत्तर में कहा कि मेरी पार्टी में अपराधियों को कोई जगह नही है। जिसको हमने निकाला उसी को मायावती ने अपनी पार्टी में रख लिया। हमारी पार्टी में हत्या करने वाले हत्यारों की कोई जगह नहीं है। इस सरकार में लड़कियों का रेप करने वाले, इन्जीनियर की हत्या करने वाले, डॉ0 की हत्या करने वाले, व्यवसायियों की हत्या करने वाले सरे आम घूम रहे हैं। जहॉ पर चुनाव नहीं हो पाये हैं वहॉ के चुनाव के लिए लखनउ पहुंचने पर विधान मण्डल की बैठक बुलाकर  चुनाव आयोग से चुनाव करने की बात करेगें। सांसद अखिलेश सिंह यादव ने कहा कि मायावती ने अपराधियों की लिस्ट निकालने की बात कही थी ,परन्तु आज तक वह लिस्ट नहीं निकली।सूखा आया, बाढ़ आई, लेकिन कोई कहीं भी सहायता करने कोई नही आया, इससे इस सरकार को  कोई मतलब नहीं है। अपराधियों का गा्रफ काफी बढ़ गया है। अत: इस सरकार को उखाड़ फेकने का समय आ गया है।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

लेखपाल की हत्या मे प्रयुक्त लाल सफारी के मालिक की गिरफ्‌तारी नही पुलिस हाथ डालने से क्याेें रही कतरा?

Posted on 30 October 2010 by admin

लेखपाल रामकुमार की हत्या मेंं प्रयोग की गयी सफारी नगर में पेाे से चिकित्सक एवं व्यवसायी  डा0 के0 सी0 त्रिपाठी की है यह निचित हो गया।फैजाबाद जिले के वरिठ पुलिस अधीक्षक आर0 के0 राठौर का कहना है कि गुरूवार की ााम को मुखविर की सूचना पर घेरावन्दी कर को चौरे बजार क्षेत्र मे पकड लिया गया सफारी सवार सन्दीप उर्फ हैण्डिल सिंह निवासी मांयग व रमो जासवाल उर्फ घण्टी को गिरफतार कर लिया गया। पूछताछ के दौरान पता चला कि सुल्तानपुर जिले के गोलाघाट गोमतीनगर आस्था हास्पिटल के संचालक डा0 केसी त्रिपाठी की है। सूत्र बताते है कि अभियुक्तो की गाडी मरम्मत के लिये चिकित्सक के फैजाबाद स्थित अनन्या मोटर ााेरूम मे दे दी थी, मरम्मत मे एक सप्ताह लगने की बात कही गयी। जिसपर घण्टी सिंह ने उस सफारी गाडी के बदले डा0 की लाल रगं की सफारी लेकर ने नेमप्लेट हटा दिया। जनमानस मे यह बात गले नही उतर रही है कि 14 अक्टूबर से श्री त्रिपाठी की गाडी जब अभियुक्तो ने लेली थी तो उसकी सूचना पुलिस को क्यो नही दी? प्राप्त समाचारो के अनुसार डा0केसी त्रिपाठी अपना उपर लगे  आरोप को नकारते हुए कहते है कि हमने गाडी नही दी बल्कि ााेरूम के प्रवन्ध ने दिया है। प्रन यह उठता है कि क्या डा0केसी त्रिपाठी भयवस 10 दिन तक चुप रहे, या इस ाडयन्त्र मे ाामिल रहे। यह जनता में एक चर्चा का वािय बना हुआ है। अभी तक पुलिस ने डा0 केसी त्रिपाठी से पूछताछ के लिये सम्पर्क नही किया है, परन्तु पुलिस अपने श्रोतो के माध्यम से यह पता लगाने में जुटी है कि डा0केसी त्रिपाठी का हाथ उक्त प्रकरण मे कहॉ तक है? पूरे पुख्ता के साथ पुलिस उन पर धावा बोलने का मन बना चुकी है। डीजीपी बृजलाल का यह कहना है कि लेखपाल हत्या काण्ड में पकडे गये अभियुक्तो ने बसपा विधायक चन्द्र भद्र सिंह, सोनू व या भद्र सिहमोनू का  नाम नही लिया है। किस आधार पर उनकी गिरफ्‌तारी की जाय। ग्राम मझंवारा में प्रधान पद पर विजयी हुई मृतक की पत्नी कमला देबी ने अपने पति की हत्या में बसपा विधायक चन्द्र भद्र सिंह व धनपतगंज ब्लाक प्रमुख या भद्र सिंह के नाम एफआईआर लिखवाई है। मृतक की विधवा प्रधान कमला देबी के यहां ााेक सम्बेदना में आये सपा नेताओ को फैजाबाद सुल्तानपुर के एसओजी की भी सन्दिग्धता की जानकारी दी गयी, स्थानीय नेताओ व गांव वालो ने बताया कि दोनो जिलो के एसओजी प्रभारी बहुत समय से यहा तैनात रहे है जिनका अभियुक्तो से खासा सम्बन्ध है। अब तक हत्या मे प्रयुक्त लाल सफारी की बरामदगी मे इनकी भूमिका सन्दिग्ध है। गावं वालो ने सपा नेताओ से कहा कि इन अधिकारियो के रहते हुए निपक्ष विवेचना की उम्मीद नही है। सपा प्रतिनिध मण्डल  ने आवासन दिया कि दोनो प्रभारियो के काल डिटेल निकलवाकर पुंलिस के उच्चाधिकारियो से मिलकर निपक्ष जांच की माग करेगें। जिले मेें यह आम चर्चा हो रही है कि सफारी के मालिक का पता पुलिस को चल गया है तो उनकी गिरफ्‌तारी क्यो नही की गयी। लोग बताते है कि डा0केसी त्रिपाठी उची पहुंच वाले है जिसके कारण पुलिस उनपर हाथ डालने मे कतरा रही है।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)


Advertise Here

Advertise Here

 

October 2010
M T W T F S S
« Sep   Nov »
 123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031
-->




 Type in