*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | बान्दा

आत्मदाह करने की चेतावनी दी

Posted on 03 March 2013 by admin

खानदानियों के जुल्म एवं ज्यादतियों से पीडि़त तथा बांदा जनपद के प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों की संवेदनहीनता के मद्देनजर अपनी न्यायोचित मांगो को लेकर एस0डी0एम0 बाँदा द्वारा आमरण अनशन को तुड़वाते समय दिये गये आश्वासन को निभाने में असमर्थता जाहिर करने पर सा0 समाचार पत्र ‘पैनी कलम’ (वर्तमान में प्रकाशन बंद) के प्रधान संपादक, समाज सेवी तथा आर0टी0आई0 कार्यकर्ता सद्दू अली ने यू0पी0 स्टेट के राजा अखिलेश सिंह यादव के आवास के सामने 15 मार्च 2013 को दिन में 12 बजे आत्मदाह करने की चेतावनी दी है। आत्मदाह की सूचना मुख्यमंत्री को रजिस्ट्रर्ड डाक से 26 फरवरी 2013 को भेजी जा चुकी है।
बताते चले कि पत्रकार सद्दू अली अपनी नानी स्व0 मासूमन बेगम पत्नी स्व0 हाफिज नवी वक्श के मकान में उनके जीवन काल से सपरिवार रहता चला आ रहा है। पत्रकार की नानी मासूमन बेगम ने अपने जीवनकाल में मकान के सम्बन्ध में करम इलाही, फजल इलाही पुत्रगण हाफिज नवी बक्श एवं अपनी एक मात्र पुत्री श्रीमती नूरजहां बेगम के हक में एक वसीयतनामा गवाहों के समक्ष तहरीर किया था। सद्दू अली नूरजहां बेगम के पुत्र है। दोनो परिवारों को अलग-अलग निकास दिया गया था। लेकिन अजीज इलाही, शफीक इलाही, जुबैर इलाही तथा शमीम खां निवासी मर्दननाका बांदा आदि ने ढाई माह पूर्व दबंगई दिखाते हुए सद्दू अली के मुख्य निकास में ताला ठोक दिया। पत्रकार सद्दू अली के परिवार से मारपीट, घर से बेघर वार करने व एक लाख रूपये की मांग कर, जान से मार डालने की धमकी देते हुए उन्हें उनके मर्दन नाका बाँदा स्थित घर से पत्नी बच्चों समेत खदेड़ दिया गया। वह पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों से गुहार लगाते रहे। किन्तु उनकी फरियाद किसी ने नहीं सुनी। कथित अभियुक्तों के विरूद्ध रिपोर्ट दर्ज नहीं की गयी। मजबूरन पत्रकार सद्दू अली 15 फरवरी 2013 को अशोक स्तम्भ के नीचे बांदा में नोटिस देकर आमरण अनशन पर बैठ गया। आमरण अनशन के तीसरे दिन एस0डी0एम0 बाँदा ने कथित अभियुक्तों के खिलाफ कार्यवाही का आश्वासन व दबंगो द्वारा जबरन बंद कराये गये मुख्य निवास का ताला खुलवा कर घर में रहने की न्यायोचित मांग को पूरा करने का भरोसा देकर आमरण अनंशन जूस पिलवाकर तुड़वाया। वहीं अनशन समाप्त होने के अगले दिन न्याय दिलाने में असमर्थता जाहिर कर दी। एस0डी0एम0 बाँदा की वाद खिलाफी व दबंगो से मिली भगत की आशंका के चलते मजबूरन पत्रकार सद्दू अली को आत्मदाह करने की घोषणा जैसा आत्मघाती कदम उठाने को मजबूर होना पड़ा।
पत्रकार के साथ दो बार आतताई खानदानियों द्वारा संज्ञेय अपराध किया गया। लेकिन प्रशासन ने कोई कार्यवाही नहीं की। पत्रकार सद्दू अली का कहना है कि वर्तमान सरकार की सरकारी मशीनरी पीडि़तों को न्याय दिलाने में विफल है। उन्होंने कहा कि मौजूदा मुख्यमंत्री अखिलेश सिंह यादव ने तमाम मामलों में पीडि़तों के दर्द का स्वतः संज्ञान लेते हुए प्रशासनिक अधिकारियों को न्याय की दिशा में कदम उठाने के निर्देश दिये है। जनपद स्तर के प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों को मुख्य मंत्री की संवेदन शीलता से नसीहत लेकर कार्य करना चाहिए। जिससे मुझ जैसे तमाम पीडि़तो को जनपद स्तर पर ही न्याय मिल जाये ताकि वर्तमान सरकार के प्रति जनता की आस्था मजबूत हो सके।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

उद्योगों के लिए बनी नई नीति के आधार पर लोगों को रोजगार से जोड़ा जाएगा: मुख्यमंत्री

Posted on 16 October 2012 by admin

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा है कि उद्योगों के लिए बनी नई नीति के आधार पर लोगों को रोजगार से जोड़ा जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार विद्युत उत्पादन बढ़ाने की दिशा में तेजी से कार्य कर रही है। शिक्षा व स्वास्थ्य के क्षेत्र में नई योजनाओं को शुरु किया गया है, जिसका लाभ लोगों को मिल रहा है। उन्होंने कहा कि बजट का पैसा गरीबों के हित में लगाने हम पक्षधर हैं।
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव चित्रकूट के रामायण मेला परिसर में कन्या विद्या धन एवं बेरोजगारी भत्ता वितरण तथा ‘चलो चित्रकूट साइकिल यात्रा’ के आगमन अवसर पर उपस्थित जनसमूह को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर 660 लाभार्थियों को कन्या विद्या धन एवं 340 लाभार्थियों को बेरोजगारी भत्ते का वितरण किया गया।
मुख्यमंत्री ने चित्रकूट के महत्व का वर्णन करते हुए कहा कि रामायण मेला की शुरुआत यहां से डाॅ0 राम मनोहर लोहिया द्वारा की गई। उन्होंने मानिकपुर को तहसील का दर्जा देने, राजापुर, भरतपुर से सीतापुर, देवांगना घाटी, बेड़ी पुलिया से रामघाट, कर्वी-राजापुर मार्ग पर ओवरब्रिज निर्माण, रामघाट व परिक्रमा मार्ग तथा गोस्वामी तुलसीदास जी की जन्म स्थली राजापुर का सौन्दर्यीकरण किये जाने की घोषणा की। इसके साथ ही, उन्होंने जनपद में एक राजकीय महाविद्यालय, कनपोटा ग्राम के पास पयस्विनी नदी पर पुल का निर्माण, चित्रकूट व बांदा जनपद में 25 नए नलकूपों का निर्माण, कालिंजर, बांदा, महोबा सड़क का चैड़ीकरण किए जाने से सम्बन्धित विभिन्न योजनाओं की भी घोषणा की। उन्होंने कहा कि चित्रकूट में यदि और नलकूपों की आवश्यकता होगी, तो व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी। रामायण मेले को राष्ट्रीय रामायण मेला घोषित करते हुए उन्होंने आश्वस्त किया कि जनपद में 24 घण्टे विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी।
श्री यादव ने कहा कि कन्या विद्या धन व बेरोजगारी भत्ता वितरण का कार्यक्रम पूरे प्रदेश में लगातार चलता रहेगा। उन्होंने कहा कि चुनाव घोषणा पत्र में किये गए वायदों को निरन्तर पूरा किया जा रहा है। उन्होंने अफसोस जताते हुए कहा कि उद्योगों के प्रति अभी तक कोई नीति नहीं रही। पिछली सरकार ने इस दिशा में कोई कार्य भी नहीं किया, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। उन्होंने कहा कि कन्या विद्या धन योजना के संचालित होने से लड़कियां पढ़ेंगी, इससे दो परिवार लाभान्वित होंगे। उन्होंने कहा कि मैं यहां पर चिन्तन शिविर में आया था और तब संकल्प लिया गया था कि समाजवाद के रास्ते से चलकर इस प्रदेश की सरकार बनाएंगे और नौजवानों के सक्रिय योगदान से सरकार बहुमत से बनी।
प्रदेश में पर्यटन और उद्योग को बढ़ावा देने के सन्दर्भ में मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी नीतियों से प्रभावित होकर उद्योगपति प्रदेश में उद्योग स्थापित करने के लिए आगे आ रहे हैं, जबकि पिछली सरकार में ये लोग डरते थे। उन्होंने कहा कि चित्रकूट में भी होटल इण्डस्ट्री को बढ़ावा दिया जाना चाहिए। इस अवसर पर श्री यादव ने ‘चलो चित्रकूट साइकिल यात्रा’ के आगमन का स्वागत किया, जिसमें सुदूर क्षेत्रों से आए लोग शामिल थे।
इसके बाद मुख्यमंत्री ने जगतगुरू राम भद्राचार्य विकलांग विश्वविद्यालय में सेन्ट्रल लाइब्रेरी का शिलान्यास किया तथा विश्वविद्यालय के विकलांग छात्र गौकर्ण पाटिल को 11 हजार रुपए का नकद पुरस्कार दिया। उन्होंने विश्वविद्यालय की गतिविधियों की सराहना करते हुए आरोग्य धाम में आयोजित कार्यक्रम में शिरकत की।
पूर्व में मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने हवाई पट्टी व वी0आई0पी0 लाउन्ज का उद्घाटन भी किया।
इस अवसर पर श्रम एवं सेवायोजन मंत्री डाॅ0 वकार अहमद शाह, श्रम राज्य मंत्री श्री शाहिद मंजूर, राज्य योजना आयोग के उपाध्यक्ष श्री नवीन चन्द्र बाजपेयी, सांसद, विधायक, ललित सूरी ग्रुप की सी0एम0डी0 श्रीमती ज्योत्सना सूरी सहित गणमान्य नागरिक एवं वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

बुन्देलखण्ड राज्य के पुनर्गठन हेतु विधानसभा में संकल्प प्रस्तुत किया था जो आज तक लम्बित है

Posted on 16 November 2011 by admin

उ0प्र0 कंाग्रेस कमेटी के मीडिया चेयरमैन एवं बांदा के सदर विधायक विवेक कुमार सिंह ने जारी एक बयान में कहा कि मुख्यमंत्री सुश्री मायावती ने आज उ0प्र0 को 4 भागों में बांटों का जो एलान किया है। कांग्रेस पार्टी के तीन विधायक विवेक कुमार सिंह, विनोद कुमार चतुर्वेदी एवं तत्कालीन विधायक प्रदीप जैन आदित्य ने वर्ष 2007 में जब 15वीं विधानसभा का गठन हुआ था, तभी प्रथक बुन्देलखण्ड राज्य के पुनर्गठन हेतु विधानसभा में संकल्प प्रस्तुत किया था जो आज तक लम्बित है।
श्री सिंह ने कहा कि श्री प्रदीप जैन आदित्य के सांसद निर्वाचित हो जाने के बाद श्री विनोद चतुर्वेदी एवं विवेक कुमार सिंह के नाम से आज तक विधानसभा में संकल्प लंबित है और हर विधानसभा के सत्र में वह आता है किन्तु आज तक सुश्री मायावती ने विधानसभा में चर्चा नहीं कराया है और पूरे साढ़े चार वर्षों में यह भाषणों में राग अलापा करती हैं और प्रधानमंत्री जी को पत्र लिखती रहती हैं और इस मामले को हवा देती रहती हैं। किन्तु उन्होने कभी भी संवैधानिक व्यवस्था का सम्मान नहीं किया। यही काम जो 21नवम्बर से शुरू हेाने वाले विधानसभा सत्र के दौरान करने जा रही हैं, यदि पहले ही इस पर चर्चा या मतदान करा लिया गया होता तो अब तक बुंदेलखण्ड राज्य बन गया होता।
सुश्री मायावती जी अब यह जान चुकी हैं कि उ0प्र0 में उन्हें करारा हार का सामना आने वाले चुनाव में करना पड़ेगा तो जनता को जनता को गुमराह करने के लिए झूठ का सहारा ले रही हैं। उन्होने कहा कि सुश्री मायावती जी को जवाब देना चाहिए कि उन्होने वर्ष 2007 में प्रस्तुत किये गये संकल्प पर चर्चा या मतदान अभी तक क्यों नहीं कराया।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

U.P. government not opposed to CBI inquiry of Banda incident

Posted on 12 September 2011 by admin

The Uttar Pradesh government has welcomed Hon’ble Supreme Court’s order in the case crime no. 6/2011 (Banda incident) through which CBI inquiry has been ordered.
Giving this information here, the state government spokesman said that the senior advocate, during hearing of this case at the Hon’ble Supreme Court today, brought to its notice that the matter under question had been investigated impartially by CB-CID and the charge-sheet had been submitted.
According to the spokesman, the Hon’ble Supreme Court observed that the matter was sensitive in nature. Therefore, it wanted the same to be investigated by an independent agency. On it, the state government counsel informed the court that the state government had no objection if the matter was referred to CBI for investigation. The matter was being investigated in a free and impartial manner.
The spokesman said that the Hon’ble Supreme Court appreciated the stand of the state government. Thereafter, the matter was referred to CBI for investigation.

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

शिक्षक विधायक ने भ्रमण कर शिक्षकों की समस्यायें सुनी

Posted on 11 September 2010 by admin

बान्दा, झांसी-इलाहाबाद खण्ड के शिक्षक विधायक सुरेश कुमार त्रिपाठी ने जनपद के आधा दर्जन से अधिक विद्यालयों का भ्रमण कर शिक्षकों की समस्यायें सुनी। इस दौरान शिक्षकों ने प्रमुख रूप से बान्दा में जेडी कार्यालय खोलने की मांग उठायी।

शिक्षक विधायक ने राजकीय इंटर कालेज मटौंध एवं बान्दा के आर्य कन्या इंटर कालेज, राजकीय बालिका इंटर कालेज, डीएवी इंटर कालेज, ओमर बालिका इंटर कालेज, आदर्श बजरंग इंटर कालेज का भ्रमण कर शिक्षकों से समस्यायें जानी। जीजीआईसी की शिक्षिकाओं ने वेतन सम्बंधी मांग रखी। डीएवी के शिक्षकों ने वर्ष 2005 के बाद नियुक्ति में जीपीएफ व पेंशन की मांग उठायी। आदर्श बजरंग इंटर कालेज के शिक्षकों ने बान्दा में संयुक्त शिक्षा निदेशक कार्यालय खोलने सहित शिक्षकों के 40 फीसदी अवशेष की मांग रखी। माध्यमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष व बजरंग इंटर कालेज के प्रधानाचार्य मेजर मिथलेश कुमार पाण्डेय ने बताया कि जेडी कार्यालय खुलने से झांसी की भागदौड़ समाप्त हो जायेगी। बताया कि 40 फीसदी अवशेष की मांग पर शिक्षक विधायक ने आश्वासन दिया कि शासन से बजट उपलब्ध करा दिया गया है। इसी महीने तक भुगतान हो जायेगा। इसी तरह अन्य समस्याओं को भी दूर किये जाने का उन्होंने भरोसा दिलाया। इस दौरान राजकिशोर चौबे, रामप्रताप सिंह, सत्येन्द्र कुमार, धर्मेद्र सिंह, बाला राम, जय कृष्ण आदि शिक्षक उपस्थित रहे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

बुन्देलखण्ड के साहित्यकारों का सम्मान

Posted on 31 August 2010 by admin

बुन्देलखण्ड के सुप्रसिद्ध साहित्यकार चिन्दका प्रसाद सक्सेना कीर्ति का 80वॉ जन्म दिन साहित्यकार सम्मान समारोह के रूप में धूम धाम से मनाया गया जिसमें समाज के विभिन्न वर्गो के लोगों ने स्वतन्त्रता संग्राम सेनानियों गणमान्य नागरिकों राजनैतिक हस्तियों एवं साहित्यकारों ने उनके दीघZ जीवन की कामना की। इस अवसर पर 6 साहित्यकारों वशZ 2010 की इण्टर मीडिएट परीक्षा में 85 प्रतिशत हासिल करने वाली कु0 चंचल कलवानी को सम्मानित किया गया। समारोह इलाहाबाद के पूर्व आई जी श्रीराम त्रिपाठी ने कहा कि बुन्देलखण्ड के पिछड़ेपन के कारण यहां साहित्यक सांस्कृति धरोहर का उतना प्रचार पसार नही हो पाया जितना होना चाहिये था। इसी कारण बुन्देलखण्ड की विशेशताओं पर देश वासियों का ध्यान आकर्शित नही हो पा रहा है। मै यहां उपपुलिस महानिरीक्षक के रूप मेे रहा लेकिन मैने इस प्रकार का स्तरीय समारोह पहली बार देखा है। जिसमें इतने साहित्यकार उपस्थित हुए है। केती जी अपने जन्म दिन के साथ-साथ इसलिए बधाई के पात्र है कि उन्होंने इतने साहित्यकारों से एक साथ मिलने का अवसर दिया। सामारोह के अध्यक्ष बी0डी0 नकवी अपर जनपद न्यायाधीश ने कहा कविता मनुश्य की प्राकृतिक भाशा है। इसके माध्यम से दिलकी आवाज निकलती है। कार्यक्रम में स्वतन्त्रता संग्राम सेनानी साहित्यकार रामभजन निगम पूर्व सांसद राम रतन शर्मा पूर्व विधायक देवकुमार यादव पूर्व न्यायाधीश अवधेश नारायण द्विवेदी डा0 चिन्द्रका प्रसाद दीक्षित अशोक त्रिपाठी आदि ने भी विचार व्यक्त किये। समारोह का संचालन सुधीर खरे कमल ने किया।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

अब अब बुन्देलखण्ड में मोबाइल अन्धविश्वास

Posted on 15 August 2010 by admin

बुन्देलखण्ड के मध्यप्रदेश क्षेत्र में फैली मोबाइल अन्धविश्वास की तरह-तरह की खबरे अब उत्तर प्रदेश क्षेत्र के बुन्देलखण्ड में भी फैल गई है जिसके कारण लोग अब अनजान मोबाइल काल को रिसवी नही कर रहे है। रात में तो अधिकतर लोग अपना मोबाइल बन्द करके रखते है दिन में भी लोग परिचित के मोबाइल काल ही उठा रहे है।

बुन्देलखण्ड में मोबाइल अन्धविश्वास का इस समय इतना भय है कि लोग मेाबाइल से मूठ मारना तक कहते है। मध्यप्रदेश बुन्देलखण्ड के टीकमगढ़, सागर, सिहारे, छिरारी, छतरपुर में फैली मोबाइल अफवा है चित्रकूट होती हुई उत्तर प्रदेश के चित्रकूट, बान्दा, महोबा, उरई, जालौन, मऊरानीपुर, झांसी सहित पूरे बुन्देलखण्ड में फैल गई है।

मोबाइल अन्धविश्वास की अफवाह चित्रकूट स्थित जानकी कुछ इलाज कराने आये मरीजों एवं उनके तामीरदारों के माध्यम से फैली जिसे मोबाइल मूठ नाम दिया गया है। कहा जा रहा है कि 14 नम्बर वाला एक अंजान फोन आता है जिसे रिसीव करते ही मौत हो जाती है। जानकी कुंठ चित्रकूट इलाज कराने आये तमाम तामीर दारों की माने तो उकने इलाकों में इस तरह के फोन पर बात करने पर कई लोगों की मौत हो चुकी है। हालाकि वे इसकी काई पुिश्ट नही कर सके। चित्रकूट धाम मण्डल मुख्यालय बान्दा में इस समय लोग अपने परिचित नाते रिश्तेदारों को सावधान कर रहे है कि 14 नम्बर वाली कोई मोबाइल काल आये तो उसे रिसीव न करें। महोबा नगर के श्रीनगर थाना क्षेत्र के गॉव डिगरियां में बुधवार की रात मोबाइल पर बात करते-करते एक किशोर के बेहोश होने की बात प्रकाश में आयी है जिसे मध्यप्रदेश के निकटवर्ती जिला अस्पताल छतरपुर में इलाज हेतु भर्ती कराया गया है। भुक्तभोगी की ओर से यह बात बतायी गई है कि मोबाइल उठाया तो स्कीन लाल बड़ गई जिससे किशोरी अचेत होकर गिर पड़ी। किशोरी का सरोज बताया जाता है। इसी तरह एक सिपाही जालौन जनपद के फोन करते में मोबाइल पर एक लड़की की आवाज सुनकर बेहोश होकर गिर पड़ा। बुधवार को जिन्हे एक थाने का सिपाही कोच आया था उसके साथी के मोबाइल पर एक काल आयी उसमें एक लड़की बोली और अपना नाम संगीता बताया। बातचीत शुरू हुई तो लड़की ने हनुमान चालीसा का पाठ शुरू कर नसीहत देना शुरू किया ही था कि सिपाही को चक्कर आने लगे और वह धड़ाम से जमीन पर गिर गया उसकी हालत खराब होने पर साथियों ने एक प्राइवेट चिकित्सक को दिखाया जहां डाक्टर ने स्वस्थ बताकर छुट्टी कर दी। सिपाही का नाम आर0एस0 यादव बताया गया है।

इसी प्रकार झांसी मण्डल के मऊरानीपुर क्षेत्र में अफवाह फैली है कि कुछ अनजान नम्बरों से काल आने पर जैसे ही रिसीव कर हैलो बोलते है दूसरी ओर से एक महिला द्वारा मन्त्र पड़ने की आवाज आती है यह मन्त्र सुनकर मोबाइल उपभोक्ता अचेत हो जाता है। यहां तक की उसे जान का खतरा हो जाता है। इस अफवाह का ग्रामीण क्षेत्र में काफी असर दिखायी दे रहा है इसके परिणाम स्वरूप गांव के ही नही नगर क्षेत्र के लोग भी अपने परिवार के लोगों से अनजान नम्बरों को रिसीव न करने की सलाह दे रहे है।

जालौन जनपद के उरई नगर मे तो बाकायदा पांच नम्बर प्रसिारत किये गये है जिनसे काल एवं एस0एम0एस0 भेजने की बाते आ रही है। ये खतरनाक नम्बर 7888308001, 9316048121, 9876266211, 9888854137 बताये जा रहे है जिनको अटैन्ड करने से शक सा लगता है और मृत्यु होने की सम्भावना रहती है। किन्तु इन नम्बरों से बात करने वाले किसी पीड़ित व्यक्ति से बात नही हो पायी दूरसंचार जिला प्रबन्धक लल्लन लाल का कहना यदि इस प्रकार की कोई काल या एसएसएस आते है तत्काल पुलिस को सूचित करें। ताकि जो लोग भ्रमित कर रहे है उनके खिलाफ कानूनी सिंगजा कसा जा सके। जिला दूरसंचार प्रबंधक चित्रकूट सीबी सिंह इस तरह के काल को कोरे बकवास बताते है। जनता से कहा है कि फोन रिसीव करने की किसी की मौत नही हो सकती है।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

October 2017
M T W T F S S
« Sep    
 1
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
3031  
-->









 Type in