*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | February, 2011

बारिश की मार से परेशान हैं किसान

Posted on 27 February 2011 by admin

बेमौसम बरसात से सैंकडोंे किसान तबाह हो गये हैं। अकोला क्षेत्र में शनिवार की सुबह नगला परमाल, ोडिया, नगला जयराम समेत आधा दर्जन गांव बुरी तरह बारिश की चपेट में आ गये हैं। किसान अग्रसेन सिंह ने बताया कि यहां ओलावृçत्त से आलू और सरसों की फसल को काफी नुकसान हुआ है। बेमौसम बारिश से जनपद के अन्य इलाके ाी प्राावित हुये हैं। किसान आलू की ाुदाई करा रहे हैं, ऐसे में बारिश ने उनके सामने मुसीबत ाडी कर दी है।

बीती रात हुई बारिश के बाद किसान सोच रहे थे कि शनिवार सुबह मौसम साफ हो जायेगा लेकिन ऐसा हुआ नहीं। दो हते पूर्व हुई बारिश के चलते ाी किसान परेशान रहे थे। बारिश से आलू की ाुदाई 10-1भ् दिन लेट हो गई है। किसानों के माथे पर चिन्ता की लकीरें हैं, वे सोच रहे हैं कि साल ार की मेहनत पानी में न चली जाये।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

दो मौत ने दहलाया परिवारीजनों का दिल

Posted on 27 February 2011 by admin

दो मेधावी युवा डॉक्टरों की मौत से उन्हें जानने वाले और परिवार के लोग के बुरी तरह से हिल गये हैं। शहर की रहने वाली एक डॉक्टर युवती ने झांसी के मेडिकल कॉलेज के हॉस्टल में फांसी लगा ली तो एक डॉक्टर युवक नसिZग होम के आईसीयू में शनिवार सुबह मृत अवस्था में पडा मिला। युवती अपने कैरियर को लेकर बेहद चिन्तित थी और पीजी में नंबर कम आने से विचलित हो गई थी। युवक की मौत को लेकर चर्चा है कि इसकेे पीछे प्रेम सम्बंध हो सकते हैं। दोनों परिवारों के लोग ाारी सदमे में हैं।

शनिवार सुबह रामरघु हॉçस्पटल में फिजियोथेरेपिस्ट डॉ0 आसिफ राना पुत्र डॉ0 एनएस राना की सन्दिग्ध हालातों में मौत हो गई। शुक्रवार की रात को वह आईसीयू में ही ड्यूटी ात्म करने के बाद सो गया। सुबह जब काफी देर तक नहीं उठा तो नर्स के रौंगटे ाडे हो गये उसने देाा कि वह मृत अवस्था में पडा था। उसकी मौत के बाद अस्पताल में हडकप मच गया। सूचना पर परिजन ाी वहां पहुंच गये। शव को देाकर वे सदमे में पहुंच गये। हालांकि यह बताया जा रहा है कि पेट में दर्द से मौत हुई, जबकि अस्पतालकर्मी प्रसंगों की ाी चर्चा कर रहे हैं। इधर कमला नगर çस्थत कर्मयोगी एंक्लेव में अमिता विहार कॉलोनी डॉ0 2भ् स्वाति जैन पुत्री महेश जैन की मोत की ाबर ने हर किसी को हिला दिया। वह झांसी के महरानी लक्ष्मीबाई मेडिकल कॉलेज में थी। शुक्रवार को उसका शव छात्रावास के कमरे में दुपट्टे से लटका मिला। पिता महेश जैन का पहले ही देहान्त हो चुका है। दो ााईयों के बीच वह अकेली थी। स्वाति की मौत की ाबर सुनते ही उनके परिवार में रोष की लहर दौड गई और कुछ बिना सोचे समझे झांसी रवाना हो गये। उसके आवास पर लोग परिजनों के शव को लेकर लौटने का इन्तजार कर रहे थे। झांसी मेडिकल कॉलेज से पता चला कि स्वाति ने कडी मेहनत के बाद इसमें प्रवेश पाया था। लेकिन पीजी परीक्षा में उसके कम नंबर आने जिससे वह काफी परेशान थी। उसने अपनी मा¡ के नाम दर्द ारा पत्र ाी छोडा है जिसमें लिाा है कि कम अंक पाने की वजह से वह ऐसा कदम उठा रही है। कॉलेज प्राचार्य से पूछताछ करने पर पता चला है कि वह करियर कंशियस थी। शायद उसके घर मेें उसकी शादी की बातें चल रही थीं। शायद इस कारण उसने फांसी लगायी हो। इस मामले में कुछ लोग पे्रम पं्रसंगों का मामला बता रहे हैं।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

पुलिस ने वाहन चोर दबोचे

Posted on 27 February 2011 by admin

photo_1पुलिस ने चोरों से 14 मोटरसाइकिलें और 12 सोने की चैन जब्त की

लोगों की नज़र बचाकर मोटरसाइकिल उडाने और चैन स्नेचिंग वारदातों को अंजाम देने वाले गिरोह के युवा अपराधियों को पुलिस ने दबोच कब्जे में ले लिया है। इनके कब्जे से पुलिस को चौदह मोटरसाइकिलें और बाहर सोने की चैन बरामद हुई हैं। पकडे गये अपराधी सोने की चेन को देहात क्षेत्र çस्थत नगला प्यारे के रहने वाले राजेश टेंट के मालिक जगदीश प्रसाद को बेचते थे।

थाना हरीपर्वत पर आयोजित प्रेसवार्ता में डीआईजी असीम अरूण ने बताया कि पुलिस को सुनसान ाडे वाहनों को मौका पाकर उठाने और महिलाओं केे गले से झपट्टा मारकर चैन उडाने वाले गिरोह की कई दिनों से तलाश थी। इस समस्या का हल कर दिया गया मुाबिर की सूचना पर पुलिस ने टीम गठित की। जिसमें थानाध्यक्ष सिकन्दरा सूर्यकान्त द्विवेदी, चौकी इंचार्ज टीपी नगर मनोज शर्मा, डिवीजन चौकी प्राारी कृष्ण नन्दन तिवरी, आरक्षी नोण्ड सिंह, महेश चन्द्र, विमल कुमार, वीरेन्द्र कुमार और रमेश चन्द्र ने सिकन्दरा क्षेत्र के फैक्ट्री एरिया में दबिश देकर चार अçायुक्तों को गिरतार कर लिया। पकडे गये बदमाश जोगी उर्फ जोगेण्ड पुत्र मानसिंह, हरीबाबू पुत्र ओमप्रकाश, ब्रजेश शर्मा पुत्र हरीशंकर निवासी शिवनगर, शाहगंज क्षेत्र के रहने वाले बताये गये हैं। इनके कब्जे से पुलिस ने लूट की 14 मोटरसाइलि और 12 सोने की चैन बरामद की हैं। डीआईजी असीम अरूण ने बताया कि पकडे गये अçायुक्तों से पूछताछ कर चोरी का माल ापाने वाले लोगों का पता लगाया जा रहा है।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

फैजाबाद, अम्बेडकर नगर, सुल्तानपुर तथा उन्नाव जनपदों का आकिस्मक निरीक्षण

Posted on 27 February 2011 by admin

उत्तर प्रदेश की माननीया मुख्यमन्त्री सुश्री मायावती जी ने आज फैजाबाद, अम्बेडकर नगर, सुल्तानपुर तथा उन्नाव जनपदों का आकिस्मक निरीक्षण करके इन जिलों में विकास कार्याें तथा कानून व्यवस्था की स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने राज्य सरकार की प्राथमिकता वाली सभी जनकल्याणकारी योजनाओं के बारे में लाभार्थियों से बातचीत कर इनकी सच्चाई जानी और लापरवाही व कमियां पाये जाने पर इसमें तत्काल सुधार लाने के निर्देश दिये।

माननीया मुख्यमन्त्री जी ने फैजाबाद, अम्बेडकर नगर, सुल्तानपुर तथा उन्नाव जनपद मुख्यालयों में आयोजित समीक्षा बैठकों में सभी अधिकारियों के साथ विकास योजनाओं और कानून-व्यवस्था तथा डा0 अम्बेडकर ग्रामों में कराये जा रहे विभिन्न विकास कार्यक्रमों की प्रगति की गहन समीक्षा की। इसके अलावा उन्होंने सरकार द्वारा आम जनता खासतौर से गरीबों के लिए संचालित की जा रही विभिन्न महत्वपूर्ण योजनाओं की भी विस्तार से समीक्षा के उपरान्त सम्बन्धित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंन कहा कि इन निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने हाल में लागू की गई जनहित गारण्टी कानून के बारेे में जानकारी प्राप्त की।

माननीया मुख्यमन्त्री जी ने कानून व्यवस्था व अपराध नियन्त्रण की स्थिति की समीक्षा के दौरान कहा कि उनकी सरकार ने गरीब, शोषित और दबे-कुचले लोगों को न्याय दिलाने के लिए अधिकारियों को कानून के दायरे में काम करने की पूरी आजादी दे रखी है। उन्होंने कहा कि अधिकारी किसी भी दशा में जन समस्याओं एवं जनकल्याण से जुड़ी योजनाओं के प्रति लापरवाही न बरतें अन्यथा सम्बन्धित अधिकारी की जवाबदेही तय करते हुए उसके विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जायेगी।

माननीया मुख्यमन्त्री जी ने फैजाबाद जनपद की तहसील मिल्कीपुर के विकास खण्ड अमानीगंज स्थित डा0 अम्बेडकर ग्राम चकवारा पहुंचकर विकास कार्याें का स्थलीय निरीक्षण किया। उन्होंने गांव में सी0सी0 रोड के साथ नाली को पूरा बनाने तथा गांव के तालाब को तत्काल साफ कराने के निर्देश दिये। उन्होंने सी0सी0 रोड के समीप गढ्ढों को भरायें जाने के भी निर्देश दिये।

माननीया मुख्यमन्त्री जी ने ग्राम के प्राथमिक विद्यालय के निरीक्षण के दौरान बच्चों से पढ़ाई-लिखाई, मध्यान्ह भोजन तथा अध्यापकों की उपस्थिति के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की। इस अवसर पर उन्होंने तहसील मिल्कीपुर एवं थाना रौनाही के अभिलेखों का निरीक्षण भी किया। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि दबे-कुचले लोगों, दलित एवं महिलाओं के उत्पीड़न को रोकने के लिये प्रभावी कदम उठायें तथा प्रत्येक दशा में कानून व्यवस्था बनायें रखें।

माननीया मुख्यमन्त्री जी ने तहसील सदर का निरीक्षण किया और तहसील की स्थिति पर सन्तोष व्यक्त किया। उन्होंने तहसील अभिलेखागार मे अभिलेखों के रख-रखाव की पड़ताल की और तहसील दिवस पंजिका का भी अवलोकन किया। उन्होंने तहसीलदार श्री इन्दु प्रकाश द्वारा पट्टा आवंटन के क्षेत्र में विशेष कर बहुत अच्छा कार्य किये जाने पर इनकी प्रशंसा की।

माननीया मुख्यमन्त्री जी ने जिला चिकित्सालय के निरीक्षण के दौरान अस्पताल में व्याप्त गन्दगी पर अपनी नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने पाया कि अस्पताल की स्थिति बेहद असन्तोषजनक है। यहां तक की माननीया मुख्यमन्त्री जी के भ्रमण के समय गलियारे में सफाई की जा रही थी। उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा0 आर0पी0 पाण्डे को लापरवाही और कर्तव्यहीनता के लिए निलंबित करने के निर्देश दिये। उन्होंने जिलाधिकारी को पर्याप्त साफ-सफाई सुनिश्चित न कराने के लिए चेतावनी निर्गत किये जाने के निर्देश भी दिये। उन्होंने जिलाधिकारी को दो माह का समय देते हुए यह निर्देश दिये कि वे प्रत्येक सप्ताह अस्पताल का निरीक्षण कर अपनी आख्या शासन को उपलब्ध करायें। उन्होंने कहा कि प्रमुख सचिव चिकित्सा जिला अस्पताल का मुआयना कर स्थिति से अवगत करायें। उन्होंने शहर के तालाब की सफाई कराने के भी निर्देश दिये हैं।

माननीया मुख्यमन्त्री जी ने कोतवाली का निरीक्षण भी किया। मलिन बस्ती बाल्दा के मुआयने के दौरान उन्होंने मण्डलायुक्त तथा जिलाधिकारी को निर्देशित किया कि वे समस्त 26 मलिन बस्तियों का भ्रमण कर समस्याओं का निराकरण सुनिश्चित करके दो माह में शासन को आख्या प्रेषित करें। इस अवसर पर उन्होंने बाबा साहेब डा0 भीमराव अम्बेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण भी किया।

तत्पश्चात् माननीया मुख्यमन्त्री जी ने रामघाट पहुंचकर मान्यवर श्री कांशीराम जी शहरी गरीब आवास योजना का निरीक्षण किया। उन्होंने आवंटियों से वार्ता करके कॉलोनी में उपलब्ध मूलभूत सुविधाओं की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि यहां दो माह में पानी की टंकी की व्यवस्था का निर्माण कराकर पानी की  समस्या का समाधान करें। उन्होंने आवास योजना के बाहर तथा परिसर में पार्क की व्यवस्था करने, सी0सी0 रोड की गुणवत्ता में सुधार करने तथा कच्ची भूमि मेंं इन्टर लॉकिंग टाइल्स लगाने के भी निर्देश दिये हैं। उन्होंने नीम आदि पौधों को रोपित कर सघन वृक्षारोपण कराये जाने के भी निर्देश दिये हैैं।

माननीया मुख्यमन्त्री जी ने इसके पश्चात जनपद अम्बेडकर नगर मेें विकास खण्ड रामनगर के डॉ0 अम्बेडकर ग्राम रोशनपुर में जनकल्याणकारी एवं विकास कार्यक्रमों की स्थिति को परखा। उन्होंने गांव के तालाब के अधूरे कार्यों को तत्काल पूर्ण करने के लिए जिलाधिकारी को निर्देशित किया। उन्होंने ग्राम के प्राथमिक विद्यालय का निरीक्षण करते हुए बच्चों से पढ़ाई एवं मिड-डे-मील की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने इस अवसर पर आलापुर तहसील के अभिलेखों का भी अवलोकन किया और पाया कि तहसील रजिस्टर व्यवस्थित नहीं है। उन्होंने रजिस्टर की प्रविष्टियों को तत्काल ठीक करने के निर्देश दिये।

इसके बाद माननीया मुख्यमन्त्री जी अम्बेडकर नगर जिला मुख्यालय पहंुची। उन्होंने हवाई अड्डे पर जलप्लावन की समस्या का समाधान करने के निर्देश दिये। उन्होंने संयुक्त जिला चिकित्सालय का भी निरीक्षण किया। उन्होंने पाया कि अस्पताल में बेहद गन्दगी व्याप्त है। इस असन्तोषजनक स्थिति के लिए माननीया मुख्यमन्त्री जी ने मुख्य चिकित्सा अधीक्षक का उत्तरदायित्व निर्धारित करते हुए उन्हें कार्य में उदासीनता बरतने एवं कर्तव्यहीनता के लिए निलंबित करने के निर्देश दिये। उन्होंने अस्पताल के निर्माण कार्य की अत्यन्त खराब गुणवत्ता पर अपनी नाराजगी व्यक्त करते हुए उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम को तत्काल सुधार हेतु कार्यवाही करने तथा कोटा स्टोन के स्थान पर टाइल्स लगाने के निर्देश दिये।

माननीया मुख्यमन्त्री जी ने अकबरपुर तहसील का निरीक्षण किया। उन्होंने उपजिलाधिकारी श्री आनन्द स्वरूप के असन्तोषजनक कार्य पर इनका स्थानान्तरण करने के निर्देश दिये। इसके अलावा तहसीलदार द्वारा कार्यों में रूचि न लेने के लिए उन्होंने तहसीलदार का भी स्थानान्तरण किये जाने के निर्देश दिये। जनपद मुख्यालय स्थित कोतवाली अकबरपुर का निरीक्षण करते हुए माननीया मुख्यमन्त्री जी ने एस0सी0/एस0टी0 रजिस्टर में दर्ज मामलों में प्रभावी कानूनी कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने थाने की कार्यशैली पर सन्तोष व्यक्त किया। मुआयने के दौरान उन्होंने पाया कि थाने के एक हिस्से का निर्माण कार्य बेहद निम्न स्तर का है, जिसके लिए उन्होंने कार्यदायी संस्था पैक्सफेड का रजिस्ट्रेशन निरस्त किये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने मलिन बस्ती उसरहवां का निरीक्षण किया। उन्होंने जिलाधिकारी को निर्देशित किया कि वे समस्त मलिन बस्तियों का भ्रमण कर समस्याओं का निराकरण करें।

माननीया मुख्यमन्त्री जी ने याकूबपुर कटरिया स्थित मान्यवर श्री कांशीराम जी शहरी गरीब आवास योजना का भी स्थलीय निरीक्षण किया। उन्होेंने आवासीय योजना के निर्माण कार्य पर असन्तोष व्यक्त करते हुए जिलाधिकारी को कच्ची भूमि में इन्टर लॉकिंग टाइल्स लगाने, योजना के मध्य पार्क का निर्माण कराने और सी0सी0 रोड को ठीक कराने के निर्देश दिये।

माननीया मुख्यमन्त्री जी ने इसके बाद जनपद सुल्तानपुर में विकास खण्ड करौन्दीकलॉ के डा0 अम्बेडकर ग्राम देऊपारा का भ्रमण कर वहां कराये गये विकास कार्यों का स्थलीय निरीक्षण किया। उन्होंने गांव में नाली का निर्माण कराने के निर्देश दिये। उन्होेंने गांव के प्राथमिक विद्यालय का भी निरीक्षण किया।

तदोपरान्त माननीया मुख्यमन्त्री जी ने जिला मुख्यालय पहंुचकर मलिन बस्ती करौन्दिया का निरीक्षण किया। उन्होंने जिलाधिकारी को समस्त तीन बस्तियों का भ्रमण कर वहां की समस्याओं का प्राथमिकता पर निस्तारण करने के निर्देश दिये। उन्होंने जिला चिकित्सालय का भी निरीक्षण किया और विभिन्न वाडोZं में जाकर मरीजों से उनका हालचाल पूछा तथा अस्पताल द्वारा उपलब्ध करायी जा रहीं विभिन्न चिकित्सा सुविधाओं के बारे में सीधी जानकारी प्राप्त की।

माननीया मुख्यमन्त्री जी ने तहसील सदर का भी निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने तहसील अभिलेखागार में अभिलेखों के रख-रखाव की स्थिति को देखा और पट्टा आवंटन रजिस्टर सहित विभिन्न पंजिकाओं का अवलोकन किया। उन्होंने जिलाधिकारी को निर्देशित किया कि वे दो गांवों के पट्टा आवंटन की स्थिति का निरीक्षण कर अपनी आख्या शासन को उपलब्ध करायें। उन्होंने नगर कोतवाली का भी निरीक्षण किया गया। मान्यवर श्री कांशीराम जी शहरी गरीब आवास योजना के मुआयने के दौरान उन्होंने कच्ची भूमि पर टाइल्स लगाने और कालोनी में वृक्षारोपण, खासतौर पर नीम के पौधे रोपित करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि योजना में सामने पार्क का निर्माण भी कराया जाये।

माननीया मुख्यमन्त्री जी ने इसके बाद जनपद उन्नाव के असोहा विकास खण्ड के डॉ0 अम्बेडकर ग्राम रायपुर का गहन निरीक्षण किया। उन्होेंने सी0सी0 रोड, नाली, इिन्दरा आवास, स्वच्छ शौचालयों, पानी का आउट फाल, सामुदायिक भवन, आदर्श तालाब तथा प्राथमिक विद्यालय आदि का निरीक्षण किया। उन्होंने गांव में कराये गये विकास कार्यों पर सन्तोष व्यक्त किया।

तत्पश्चात् माननीया मुख्यमन्त्री जी जनपद मुख्यालय पहंुची। उन्होंने शहर में व्याप्त गन्दगी पर असन्तोष व्यक्त करते हुए तत्काल सफाई व्यवस्था सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये। उन्होंने जिलाधिकारी को निर्देशित किया कि कूड़ा डालने हेतु डिम्पंंग ग्राउन्ड के लिए स्थान चििन्हत करें। उन्होंने उपरिगामी सेतु की टूटी िग्रल को ठीक कराने तथा सेतु पर लगे विज्ञापन पटो को हटाने के निर्देश भी दिये हैं।

माननीया मुख्यमन्त्री जी ने मान्यवर श्री कांशीराम जी शहरी गरीब आवास योजना में बने आवासों को देखा। उन्होंने पानी की टंकी, सड़के व सफाई व्यवस्था का निरीक्षण किया। उन्होंने मण्डलायुक्त को आवासीय योजना की सी0सी0 रोड को ठीक कराने तथा इण्टर लॉकिंग टाइल्स लगाने के निर्देश दिये। उन्होंने अकरमपुर मलिन बस्ती का भी निरीक्षण किया। इस अवसर पर उन्होंने जिलाधिकारी को निर्देशित किया कि वे समस्त मलिन बस्तियों का भ्रमण कर समस्याओं का समाधान करायें तथा इस सम्बंध में अपनी अनुपालन आख्या दो माह में शासन को उपलब्ध करायें। उन्होंने थाना कोतवाली तथा तहसील सदर का निरीक्षण किया।

माननीया मुख्यमन्त्री जी ने जिला चिकित्सालय में इमरजेन्सी वार्ड तथा जनरल वार्ड का भी निरीक्षण किया और मरीजों से दवाइयों, जांच तथा अन्य चिकित्सा सुविधाअों के बारे में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को दवाइयों की पर्याप्त उपलब्धता तथा अस्पताल की सफाई व्यवस्था के मुकम्मल इन्तजाम सुनिश्चित रखे जाने के निर्देश दिये।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

आम आदमी अब केवल भारतीय जनता पार्टी से ही उम्मीद लगाये है

Posted on 27 February 2011 by admin

उत्तर प्रदेश की राजनैतिक, सामाजिक तथा आर्थिक स्थिति आज ज्वालामुखी की तरह विस्फोटक हो गई है। प्रदेश की बहुजन समाज पार्टी की गलत व तानाशाही नीतियों, भ्रश्टाचार, आतंकवाद, राजनैतिक अराजकता, छिन्न-भिन्न कानून व्यवस्था, अपराधियों को संरक्षण आदि के कारण प्रदेश की जनता विद्रोह के कगार पर खड़ी है। पूरा प्रदेश भयग्रस्त व आन्तकित है। प्र्रदेश की मुख्यमन्त्री अपने कृत्यों के कारण स्वयं भी डरी हुई है। सत्तारूढ़ बहुजन समाज पार्टी में अपराधियों का बोलवाला है। सरे-आम लूट-खसोट हो रही है। जिस मुख्यमन्त्री ने सरकार बनने पर दूसरों को जेल भेजने का वादा किया था वह आज स्वयं ही जेल जाने की पात्र बन गई है उनकी आमदनी से अधिक सम्पत्ति गले की फॉस बन गई है।

आम आदमी परेशान व निराश है। वह आक्रोिशत व उत्तेजित है। वह अब केवल भारतीय जनता पार्टी से ही उम्मीद लगाये है। भारतीय जनता पार्टी में ही वह प्रदेश का उज्ज्वल भविश्य देख रहा है। दूसरे राजनीतिक दल समाजवादी पार्टी तथा कॉग्रेस भी एक दूसरे के सहयोगी के रूप में कार्य कर रहे है। उनका मायावती सरकार का विरोध करना केवल ढोंग व स्वांग है। केन्द्र की कॉग्रेस सरकार को बसपा व सपा मदद कर रही है। उसके एवज़ में केन्द्र की सरकार द्वारा सपा व बसपा मुखिया के विरूद्ध आय से अधिक सम्पत्ति के मुकदमे में की जा रही ढ़िलाई है। ताज कारीडोर मामल में ब्ण्ठण्प् ने भ्रश्टाचार में मायावती को दोशी पाया था। महामहिम राज्यपाल से थ्ण्प्ण्त् दर्ज कराने की अनुमति भी नही मिली। यदि मिली होती तो मायावती जेल में होती।

प्रदेश में बसपा सरकार द्वारा लगातार किये जा रहे असंवैधानिक कार्यों में केन्द्र सरकार का सहयोग व मौन भी इसका प्रमाण है।

बसपा सरकार प्रदेश में लोकतंन्त्र की हत्या करने पर उतारू है। जिस प्रकार हाल में जिला पंचायतों पर धनबल, बाहुबल तथा शासनबल के द्वारा कब्जा किया गया, उसे जनता अभी भूली नही है। जिस प्रकार चुनाव में उम्मीदवारों के पर्चे गलत तौर पर खारिज कराये गए, वोटो की गिनती में हेरा-फेरी की गई, यह सब जग जाहिर है ।

अब उसी प्रकार स्थानीय निकायों पर भी कब्जा करने की कोिशश की जा रही है। अपनी कमजोरी छिपाने के लिए पहले राजनीतिक दलों द्वारा चुनाव लड़ने पर रोक लगाने के लिए कानून बनाया गया।

अब नगर निगमों, नगर पालिका परिशदों तथा नगर पंचायतो पर धनबल, बाहुबल तथा प्रशासनिक अधिकारियों के सहयोग से कब्जा करने के लिए नामित सदस्यों की संख्या बढ़ाने और उन्हें संविधान के विरूद्ध मतदान करने का अधिकार देने तथा नगर प्रमुख व अध्यक्षों का चुनाव सीधे जनता से न कराकर केवल सभासदों/सदस्यों द्वारा कराने का अधिनियम पारित करा लिया गया। इससे आम मतदाता अपने महापौर तथा अध्यक्ष को नही चुन सकेगी।

यह लोकतान्त्रिक अधिकारो की हत्या है। प्रदेश भारतीय जनता पार्टी इन प्रजातान्त्रिक अधिकारों की बहाली के लिए न्यायालय और उसके बाहर संघशZ करेगी।

प्रदेश की मुख्यमन्त्री एक निरंकुश तानाशाह की तरह व्यवहार कर रही है। वह सत्ता प्राप्त कर मदांध हैं। जनता से उनका कोई सम्बन्ध नही है। उनसे बात करने की कोिशश करने वालों पर लाठी चार्ज होता है या गिरफ्तारी होती है। उन्होने अपनी जवाबदेही के सभी रास्ते बन्द कर दिए है। पिछले 4 वषोZं में विधान सभा कुल मिलाकर केवल 77 दिन चली, वह भी पूरे समय तक नहीं। उनके जमाने में विधान मण्डल महत्वहीन हो गया है।

बसपा सरकार में प्रदेश में कानून व्यवस्था समाप्त हो गई है। बलात्कार, हत्या, लूट तथा तेजाब फेंकने की घटनाओं की बाढ़ सी आ गई है। सत्तापक्ष के विधायक इस दुष्कर्म में सक्रिय हैं। 2010 में हत्या व डकैती की सैकड़ों घटनाओं के अतिरिक्त अब तक दहेज हत्या 2052, बलात्कार 1290, शीलभंग 2660, अपहरण 4903, छेड़खानी 2077 तथा उत्पीड़न की 7468 घटनाएं दर्ज हैं। परन्तु उल्लेखनीय है कि बड़ी मात्रा में लोकलाज के भय से आतंक के कारण इस प्रकार की घटना प्रकाश में नही आतीं हैं। यह भयावह स्थिति एक महिला मुख्यमन्त्री के शासन में है। बलात्कार, तेजाब फेंकने, अंग-भंग करने, घरों में आग लगाने आदि अपराधों को रोकने और अपराधियों में भय पैदा करने के लिए कोई प्रभावी प्रयास नही हो रहा है। फास्टट्रैक अदालतों  का गठन फांसी या अन्य और गम्भीर दण्ड का प्रावधान करने की आवश्यकता है। पर सरकार मौन हैै। उल्लेखनीय है कि क्राइम ब्यूरों की रिपोर्ट अनुसार प्रदेश में वर्ष में 100 महिलाएं, जिसमें 40 प्रतिशत 18 वर्ष से कम आयु की होती हैं तेजाब का शिकार होती हैंं। दिनांक 12 फरवरी 2011 को माननीय सर्वोच्च न्यायालय ने रोहतक जिले के 2 बलात्कारियों को जो गैंगरेप के लिए 12-12 वर्ष की कारागार की सजा पाये थे को डेढ़-डेढ़ लाख के मुआवजे पर मुक्त करने का निर्णय भी सैद्धान्तिक रूप से चिन्ता जनक है। इससे अपराधों में वृद्धि होगी।

शिक्षा क्षेत्र आज पूरी तरह से शिक्षा माफियाओं के कब्जे में चला गया है। उच्च, तकनीकी एवं चिकित्सा शिक्षा संस्थान बिना किसी मानक एवं योग्य शिक्षकों के धनबल के आधार पर कुकुमुत्ते की तरह प्रदेश में छा गये हैंं। सस्ती शिक्षा स्वप्न हो गई है। फीस और बाद में डिग्री देने के नाम पर भारी धनादोहन होता है। इन संस्थाओं से उत्तीर्ण छात्र-छात्राओं का भविष्य भी संकट में रहता है। उत्तर प्रदेश सरकार इस अत्याधिक महत्वपूर्ण क्षेत्र को उद्योग बना चुकी है तथा इस सरकार के रहते हुए शिक्षा क्षेत्र में सुधार की कोई गुंजाइश नही है। विद्यालयों में शिक्षकों का भारी अभाव है। शिक्षा चयन आयोग शीघ्र तथा निष्पक्ष चयन करने में असफल हो गये हैं। उनके अध्यक्ष तथा सदस्य गम्भीर मतभेदों के शिकार हैं। सदस्यों की कम संख्या होने के कारण भी चयन में देरी हो रही है। चयन में भ्रष्टाचार आम चर्चा का विषय हो गया है। प्रदेश में शिक्षकों, सरकारी कर्मचारियों की स्थिति चिन्तनीय है। अनेक वषोंZ से तदर्थ तथा अस्थाई रूप से कार्य कर रहे शिक्षकों व कर्मचारियों को विनियमित नही किया जा रहा है। भारतीय जनता पार्टी की मांग है कि सरकारी कर्मचारियों एवं शिक्षक जिन्होने 10 वर्ष की सेवा पूरी कर ली हो को अहZता सम्बन्धी नियमों में छूट देकर नियमित किया जाय। शिक्षामित्रों का भी नियमितीकरण एवं सेवा शर्तों में परिवर्तन होना चाहिए। माध्यमिक एवं उच्च शिक्षा चयन आयोगों का पुर्नगठन करते हुए सदस्यों की संख्या बढ़ाई जाय तथा इन्हे राजनीति से मुक्त किया जाय।

वित्तविहीन इण्टर तक के विद्यालयों से प्रतिवर्ष हजारों रूपये प्रवेश शुल्क के लिए लिये जाते हैं। इसको तत्काल रोकना होगा। राष्ट्र की ऊर्जा और कार्यक्षमता छात्रों और युवाओं में होती है। शिक्षा की गुणवत्ता के लिए शिक्षण संस्थाओं के क्रियाकलापों में छात्रों की सहभागिता होनी आवश्यक है। हमारा मत है कि लिंगदोह कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर छात्र संघों के चुनाव कराये जाएं इस रिपोर्ट की स्वीकृति माननीय उच्च न्यायालय द्वारा भी हो चुकी है।

प्रदेश का बुन्देलखण्ड क्षेत्र सूखे से बदहाल है। इस स्थिति पर कांग्रेस की केन्द्रीय सत्ता और उ0प्र0 शासन यदा-कदा घड़ियाली आंसू बहाते हैं। पूर्वांचल इंसेफ्लाइटिस जैसी बीमारी से त्रस्त है। किसान कर्ज के बोझ से दबे हैं। गरीबी की मार से पुत्र-पुत्रियों की शिक्षा, भोजन व शादी विवाह न कर पाने के कारण आत्महत्या कर रहे हैं। गांधी की विरासत की तथाकथित उत्तराधिकारी कांग्रेस पार्टी के सहयोग से चल रही प्रदेश की बसपा सरकार में शासन का यह नया नमूना है।

उत्तर प्रदेश शासन सिर्फ अपने चहेते उद्योगपतियों के लिए किसानों की भूमि जबरन कम मुआवजा देकर अधिग्रहीत कर रही है। किसानों की उपजाऊ कृषि भूमि को औद्योगिक विकास के नाम पर अधिग्रहीत कर बड़े-बड़े उद्योगपतियों व कोलोनाइजर्स को दिया जा रहा है। इसके पीछे अवैध धन प्राप्त करना ही एकमात्र उद्देश्य है। नोयडा में जमीन के धन्धे में सत्तारूढ़ दल से जुड़े लोगों के द्वारा प्रतिदिन करोड़ों रूपयों का अवैध लाभ लिया जा रहा है। एक विशेष व्यक्ति जिसे एक क्षेत्र में एकाधिकार देने में सैकड़ों करोड़ों का अवैध लेन-देन हुआ है, को अति कम मूल्य पर बहुत बड़ा भूखण्ड देने के प्रस्ताव  के पीछे भी आर्थिक भ्रष्टाचार हैै। यमुना एक्सप्रेस वे, औद्यौगिक विकास प्राधिकरण के लिए किए गये जमीन अधिग्रहण के विरोध में 35 दिनों से चल रहे गौतमबुद्धनगर के  भट्टाग्राम के किसानों पर पीएसी द्वारा की गई गोलीबारी निन्दनीय है। भविष्य में 30 हजार करोड़ की 1047 किमी लम्बी ग्रेटर नोयडा से बलिया तथा 8 लेन, 3 एक्सप्रेस लिंक रोड तथा 8 नगरीय एवं उद्योग के लिए जमीन के लिए अधिग्रहण पर बड़ा संघर्ष होगा।

भाजपा सदैव किसानों के साथ खड़ी है। और भविष्य में भी किसानों के हितों के लिए तत्पर है। उत्तर प्रदेश में बसपा शासन में औद्योगिक विकास ठप्प है। उद्योग-धंधे प्रदेश में भ्रष्टाचार, कानून व्यवस्था, अपराधिक स्थिति, विद्युत की कमी से पलायन कर रहे हैं। मजदूर एवं अन्य कर्मी भुखमरी के कगार पर हैं। बेरोजगारी बढ़ रही है तथा कार्मिक क्षेत्र से प्रतिभाओं का पलायन हो रहा है। बसपा के 4 साल के कार्यकाल में सिर्फ एम0 ओ0 यू0 पर औद्योगिक घरानों के हस्ताक्षर के सिवा आगे प्रगति शून्य है।इससे प्रदेश सरकार को स्टाम्प शुल्क के रूप में भारी हानि हो रही है। उ0प्र0 के अविकसित होने का कारण मायावती की नीति एवं पैसे की भूख है। व्यापारियों का उत्पीड़न और धन वसूली आये दिन होती रहती है। पुलिस माफिया, गुण्डों और अपराधियों की संरक्षक हो गई है। बड़े से बड़ा अपराध और उसकी भयावहता से आज उ0प्र0 पुलिस पूरी तरह से संवेदनहीन है। किसानों, युवाओं, बेरोजगारों, महिलाओं, अपंगों और यहां तक कि वकीलों, शिक्षकों, अंधों पर भी गोली-लाठी चलाने में नही हिचकती है। यह बसपा सरकार की क्रूरता और लोकतन्त्र में तानाशाही की मिसाल है। देश में एक ओर कांग्रेस के नेतृत्व की यू0पी0ए0 सरकार में भ्रष्टाचार, आतंकवाद, अलगाववाद, घोटाला, कालाधन पनप रहा है। वहीं उत्तर प्रदेश में बसपा सरकार भी इसमें लिप्त है। प्रदेश में भ्रष्टाचार अनेक तरह से बढ़ रहा है। सरकारी कामकाज कराने, नियुक्तियों, व्यावसायिक लाइसेंसो, खाद आदि के विक्रय, विद्यालयों की मान्यताओं आदि कार्य बिना पैसे के नही हो रहे है। काला बाजारी और अवैध वसूली का बोलबाला है। विद्युत चोरी धड़ल्ले से हो रही है।

उत्तर प्रदेश कई आतंकवादी घटनाओं से जुड़ा पाया गया है। प्रदेश का जिला विशेष आतंकवादियों का गढ़ कहा जाता है। कई अन्य जिले में भी आतंकवादियों के ठिकाने पाये गये हैं। पर प्रदेश की मुख्यमन्त्री भी तुष्टीकरण की नीति के कारण इस विषय पर मौन हैं।

प्रदेश में बसपा सरकार का भी अपराधीकरण हो चुका है। इस सरकार के कई मन्त्री व विधायक गम्भीर अपराधों में जेल में हैं। कई अवैध धंधों में लिप्त हैं। कुछ जिलों में कुछ मन्त्रियों, विधायकों व उनके सम्बन्धियों का ठेकों पर एकाधिकार है। मुख्यमन्त्री इस पर भी मौन है।

प्रदेश में पेयजल का गहरा संकट हैं पर बसपा सरकार द्वारा इस गम्भीर समस्या के निराकरण हेतु कोई ठोस योजना नही बनाई गई। प्रदूषण चाहे नदियों का हो या ध्वनि या कारखानों का, सरकार द्वारा उपेक्षित है।

महिला मुख्यमन्त्री होने के बाद भी प्रदेश में नारी उत्पीड़न चरम पर है। मुख्यमन्त्री संवेदनहीन हो गई है। नारी सशक्तिकरण सरकार के एजेन्डे में नही है।

प्रदेश में विद्युत संकट का समाधान करने के बजाय सरकार विद्युत आपूर्ति को कुछ क्षेत्रों में ठेके पर देकर कुछ लोगों को व्यक्तिगत लाभ पहुंचा रही है। जनता अंधेरे में रहे, नलकूप चलें या न चलें, औद्योगिक विकास भले ही ठप्प हो जाय, बसपा सरका को इससे कोई मतलब नही।

प्रदेश की जनता महंगाई से पीड़ित है। पिछले 4 साल में महंगाई कम करने के लिए प्रदेश सरकार ने कोई कदम नही उठाया। प्रदेश में बसपा सरकार, इसके मन्त्रियों व विधायकों द्वारा धन उगाही के कारण भी जीवन के लिए आवश्यक वस्तुओं तथा भवन निर्माण सामिग्रयों के दाम आसमान छूने लगे हैं। सार्वजनिक वितरण व्यवस्था ध्वस्त होने के कारण गरीबों को सस्ते दर पर खाद्यान्न, मिट्टी का तेल आदि नही मिल रहा है। काला बाजारी करने वालों की चान्दी है। सरकार मौन हैै।

निराश्रित महिलाओं व विधवाओं को पेंशन नही मिलती। यदि मिलती भी है तो बिना घूस दिये नही। कल्याणकारी योजनायें जिनके लिए हैं, उन्हे लाभ नहीं मिल रहा है।

युवा शक्ति के विकास व उसकी ऊर्जा के उपयोग हेतु प्रदेश  में कोई योजना नही है। बेरोजगारी बढ़ी है। रोजगार दफ्तर बेकार हो गये हैं। प्रदेश का युवा दिशाहीन है।

उत्तर प्रदेश में नेपाल से लगी खुली सीमा पर भारी खतरा उत्पन्न हो गया है। नकली नोट, ड्रग्स, हथियार एवं आतंकियों का प्रवेश दिनों-दिन बढ़ रहा है। नेपाल में चीन की दखलदांजी का परिणाम है कि एस0एस0बी0 द्वारा च.ीनी नागरिक जिसमें एक महिला भी है, बहराइच में पकड़े गये है। परन्तु प्रदेश और केन्द्र सरकारें इस खतरे को गम्भीरता से नही ले रहे हैं।

भ्रष्टाचार एवं काला धन पर रोक लगाने की यदि इच्छा शक्ति और ईमानदारी हो तो मायावती को गुजरात और बिहार के मुख्मन्त्रियों से शिक्षा लेनी चाहिए। बिहार के मुख्यमन्त्री ने स्वयं और मन्त्रियों  के एवं परिजनों की सम्पत्ति की घोषणा की है तथा राज्य के आई ए एस अधिकारियों से भी ऐसा करने का कहा है। विशेष न्यायालय कानून लागू करके भ्रष्टाचार के मुकदमों का त्वरित निस्तारण तथा ऐसी अर्जित सम्पत्तियों को जब्त करना प्रारम्भ हो चुका है। यदि मायावती में नैतिकता और भ्रष्टाचार उन्मूलन के लिए तनिक भी इच्छा शक्ति हो तो वे तत्काल उ0प्र0 में यह कार्यवाही करें।

30 सितम्बर 2010 को इलाहाबाद उच्च न्यायालय द्वारा सर्वसम्मति से अयोध्या स्थित गर्भगृह को श्रीरामजन्मभूमि घोषित करना पौराणिक आस्था, इतिहार और तथ्य पर न्यायिक मोहर है। भाजपा एवं सभी राष्ट्रवादी शक्तियां तथा भारत और विश्व का सकल हिन्दू समाज मुदित हुआ है। भाजपा को पूर्ण विश्वास है कि हिन्दुस्तान के गौरव, वैभव, आत्मस्वाभिमान, राष्ट्रीयता एवं भारतीयता के अनुरूप अयोध्या में निकट भविष्य में भव्य मन्दिर का निर्माण होगा।

प्रदेश की जनता ने सपा सरकार का कुशासन देखा है। बदलाव के लिए निर्वाचित बसपा सरकार ने भ्रष्टाचार, कुशासन, राजनैतिक अपराधीकरण में सपा को भी मीलों पीछे छोड़ दिया है। अब प्रदेश भाजपा की ओर सुशासन के लिए देख रहा है। भारतीय जनता पार्टी इन सभी समस्याओं का समाधान है। हमारी जनहित के प्रति प्रतिबद्धता, स्वच्छ प्रशासन की क्षमता, शुचिता, संकल्प ही हमारी शक्ति है। यह प्रदेश की जनता भी जान रही है। इस विश्वास पर खरे उतरने के लिए दृढ़ता एवं प्रतिबद्धता के साथ बदलाव हेतु चुनौतियों को स्वीकार करते हुए आगे बढ़ते रहना है।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

आने वाले चुनाव मे तीसरे मोर्चेका विघटन तय है

Posted on 27 February 2011 by admin

उ0प्र0 भाजपा प्रदेश कार्यसमीति मे पारित हुई कृषि प्रस्स्ताव की चर्चा करते हुए प्रदेश प्रवक्ता श्राी सत्यदेव सिंंह ने बताया बदले हुए परिवेश मे काग्रेस की विश्वसनीयता समाप्त  हो गई है । सहयोगी दल काग्रेंस  का साथ छोड  रहे है और काग्रेंस अपने कुकर्मो से जा रही है आने वाले चुनाव मे तीसरे मोर्चेका विघटन तय है । उन्होने कार्यसमीति मे पारित कृषि प्रस्ताव के मुख्य बिन्दु पर चर्चा करते हुए बताया हमारी मांग है किसानो को कृषि उपकरणो की खरीद पर 3 प्रतिशत व्याज पर ऋण उपलव्ध कराया जाय । रसायनिक खाध पर दी जाने वाली सब्सीडी उर्वरक कम्पनी के बजाए किसानो को दी जाए। भूमि अधिग्रहण नियम बदला जाए । जमीन की खरीद मे सरकार बिचाोलिए की भूमिका न अदा करे । क्रेता सीधे किसानो से जमीन का सौदा करे । उन्होंने किसानों की दुर्दशा की चर्चा करते हुए कहा कि सरकारी आंकड़ों के अनुंसार पिछले पॉच वर्ष में गरीबी बेरोजगारी और ऋण की वजह से उत्तर प्रदेश में 3500 किसान आत्महत्या कर चुके हैं सरकार की यह संवेदनशूनयता अतिदु:खद और निन्दनीय है

प्रदेश प्रवक्ता ने बताया कि एक मार्च को उ. प्र. भाजपा. के सांसदों , विधायको ं एवं नेताओं का एक प्रतिनिधिमण्डल श्री कलराज मिश्र, श्री विनय कटियार,  प्रदेश अध्यक्ष सूर्य प्रताप शाही तथा नेता विधान मण्डल दल श्री ओम प्रकाश सिंह , सांसद लाल जी टण्डन आदि प्रमुख नेताओं के नेतृत्व में स्थानीय निकाय विधेयक को निरस्त करने हेतु राष्ट्रपति से मिल कर मॉंग करेगे ।

प्रदेश अध्यक्ष श्री सूर्य प्रताप शाही ने इस अवसर पर मुजफरनगर में  11 मार्च 2011 को अतिपिछड़ों की एक विशाल रैली के आयोजन की घोषणा की जिसके संयोजक ब्रह्मपाल सिंह , चतर सिंह , एवं करन सिंह सैेनी होंगे रैेली को माननीय राजनाथ सिंह प्रदेश अध्यक्ष सूर्य प्रताप शाही  और हुकुम सिंह सम्बोधित करे

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

नगला फकीर चन्द और जिला अस्पताल का जिलाधिकारी द्वारा औचक निरीक्षण

Posted on 27 February 2011 by admin

जिलाधिकारी अजय चौहान ने आज अपरान्ह में राजकीय जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण किया और अस्पताल में सुधार हेतु किये जा रहे निमाZण कार्यो तथा सफाई व्यवस्था का निरीक्षण किया। उन्होंने सर्जिकल वार्ड, मेडिकल वार्ड, तथा िशशु वार्ड, आदि में निरीक्षण के दौरान समुचित  प्रकाश व्यवस्था हेतु सी.एफ.एल. अबिलम्व लगवाने दरवाजों पर पेंट कराने, विभिन्न वाडोZ में चौक पडे शौचालयों की सफाई तत्परता से कराने के निर्देश दिये। उन्होंने प्राइवेट वार्ड के जीणोZद्वार कार्यो का निरीक्षण करते हुए कहा कि नल लीक नही रहने चाहिए ।

उन्होंने मा. मुख्य मन्त्री जी द्वारा निरीक्षण के दौरान दिये गये निर्देशो के अनुपालन में कराये जा रहे कार्यो को निर्धारित अबधि में पूर्ण करने के निर्देश दिये। उन्होंने परिसर के कार्यो का विस्तृत मैप तथा प्रस्तावित कार्यो का विवरण और प्रगति का विवरण देने के निर्देश दिये। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी तथा मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को निरन्तर कार्यो की गुणवत्ता व समयवद्वता पर ध्यान रखने के निर्देश दिये।

जिलाधिकारी श्री चौहान ने अपर जिलाधिकार(नगर) अरूण प्रकाश , नगर आयुक्त विनय शंकर पाण्डेय सहित वरिश्ठ अधिकारियों के साथ मलिन बस्ती “नगला फकीर चन्द की विभिन्न गलियों का निरीक्षण किया और नागरिकों की समस्यांए सुनी। उन्होंने क्षेत्र में गन्दा पानी आपूर्ति किये जाने पर जल संस्थान के अभियन्ताओं को मौके पर ही तलब कर तीन दिन में कार्यवाही सुनििश्चत करने के निर्देश दिये। उन्होंने मौहल्ले के कुंए की भी सफाई व मरम्मत कराने के निर्देश दिये। उन्होंने पेयजल समस्या के निदान हेतु क्षेत्र के खराब हैण्ड पम्प ठीक कराने के निर्देश दिये।

उन्होंने कहा कि शौचालय, सीवर, सडक का पैचवर्क, सी.सी. रोड आदि कार्यो के लिए नगर निगम द्वारा सर्वे कराया गया है । उन्होंने डूडा और नगर निगम के अधिकारियों को समन्वय कर कार्य करने के निर्देश दिये। पी.ओ. डूडा ने बताया कि क्षेत्र में 1723 शौचालय बनाये गये है और 9 हजार शौचालय बनाने हेतु मांग भेजी गई है। उन्होंने फकीरचन्द, वासी का नगला और देव नगर सार्वजनिक शौचालयों का निरीक्षण कर सफाई व्यवस्था सुदृढ बनाने और देव नगर के शौचालय के जीर्ण और गिरासु भवन के स्थान पर नया शौचालय भवन बनाने के निर्देश दिये।

इस अवसर पर मुख्य नगर स्वास्थ्य अधिकारी पी. के. सिंह नगर स्वास्थ्य अधिकारी ओ.पी. शर्मा, जल निगम, जल संस्थान, डूडा आदि विभागो के अधिकारी उपस्थित थे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

कबीर पुरस्कार हेतु प्रस्ताव आमिन्त्रत

Posted on 27 February 2011 by admin

शासन द्वारा कबीर पुस्कार योजना के अन्तर्गत जनपद के पात्र व्यक्तियों के पुरूस्कार हेतु प्रस्ताव 31 मार्च 2011 तक भिजवाने के निर्देश दिये है। अपर जिलाधिकारी (नगर) अरूण प्रकाश ने बताया कि भारत सरकार द्वारा 1990 में कबीर पुरस्कार योजना शुरू की गई थी जिसके अन्तर्गत तीन श्रेणियों में कबीर पुस्कार राश्ट्रीय पुरस्कार घोशित किया गया । उन्होंने बताया कि श्रेणी-एक- के लिए दो लाख रूपये , श्रेणी-दो के लिए एक लाख रूपये तथा श्रेणी तीन के लिए पचास हजार रूपये, प्रशस्ति पत्र एवं प्रमाण पत्र प्रदान किया जाता है।

यह पुरस्कार किसी भी व्यक्ति को जीवन के खतरे की परिस्थितियों में प्रदिशZत शारीरिक/नैतिक साहस के उत्कृश्ट कार्यो के लिए प्रदान किया जायेगा। इनमें साम्प्रदायिक दंगो के दौरान दूसरे सम्प्रदाय के सदस्यो के जीवन एवं सम्पत्ति को बचाना अथवा जातीय दंगो के दौरान दूसरी जाति के सदस्यों के जीवन एवं सम्पत्ति को बचाना अथवा नृजातीय संघशोZ के दौरान दूसरे नृजातीय समूह के सदस्यों के जीवन एवं सम्पत्ति को बचाना है।

इस पुरस्कार सम्बन्ध में  अधिक जानकारी तथा नामांकन हेतु आवेदन का प्रारूप कार्यालय पुलिस उप महानिरीक्षक अथवा अपर जिलाधिकारी (नगर) के कार्यालय में न्याय सहायक-3 अनुभाग से प्राप्त कर सकते है

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

पुलिस मुठभेड में झब्बू की मृत्यु की मजिस्ट्रीयल जांच

Posted on 27 February 2011 by admin

अपर नगर मजिस्ट्रेट (द्वितीय) वी.के. शर्मा ने बताया है कि 29/30 दिसम्बर 2010 को थाना एत्माउदौला क्षेत्र में हुई पुलिस मुठभेड में झब्बू उर्फ गौरव तिवारी पुत्र मुकेश तिवारी , निवासी छोटी मिस्जद नुनिहाई थाना एत्माउदौला की मृत्यु हो जाने कारण , मृत्यु की मजिस्ट्रीयल, जांच उनके द्वारा की जा रही है।इस जांच के सम्बन्ध में इच्छुक व्यक्ति अपने साक्ष्य/बयान 8 मार्च 2011 तक उनके समक्ष किसी भी कार्य दिवस में उपस्थित होकर साक्ष्य प्रस्तुत कर सकते है।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

प्रदेश की मुख्यमन्त्री कु0 मायावती ने आज मिर्जापुर जिले के दौरे पर

Posted on 25 February 2011 by admin

प्रदेश की मुख्यमन्त्री कु0 मायावती ने आज मिर्जापुर जिले के लालगंज तहसील के अन्तर्गत निबावल अम्बेडकर ग्राम, विसुन्दरपुर में कांशीराम आवास तथा नगर में सिविल अस्पताल, तहसील सदर, शुक्लहां मलिन बस्ती तथा कटरा थाना का निरीक्षण किया जिसमें उन्होंने तहसील दिवसों, थाना दिवसों में आये मामलोें का तत्परता से निस्तारण करने तथा चुनें गये अम्बेडकर गांवों के लाभार्थियों का यदि पट्टा नही मिल पाया हो तो उन्हें आवास एवं कृषि योग्य भूमि के पट्टे प्राथमिकता पर देने के निर्देश दिये।

सर्व प्रथम मुख्यमन्त्री हलिया विकास खण्ड के निबावल अम्बेडकर ग्राम पहुंची जहां उन्होंने गांव का भ्रमण कर सम्पर्क मार्ग, सीसी रोड, केसी ड्रेन का निरीक्षण किया। बाद में प्राथमिक पाठशाला का निरीक्षण किया तथा कक्षा 4 व 5 के छात्रों से पढाई की गुणवक्ता व मिड-डे-मिल मिलने के सम्बन्ध में पूछताछ किया। उन्होंने आवास एवं कृषि पट्टा आवंटन का सत्यापन किया तथा उपजिलाधिकारी बैकुण्ठराज द्विवेदी को सरकार की प्राथमिकता वाले कार्यक्रमों पर और तेजी लाने का निर्देश दिया। विद्यालय निरीक्षण के बाद मुख्यमन्त्री पुन: निबावल गांव में गई और वहां लाभार्थियों से वार्ता कर योजनाओं के गुणवक्ता की जांच की।

अम्बेडकर गांव के निरीक्षण के बाद मुख्यमन्त्री सीधे विसुन्दरपुर नगर क्षेत्र में बनाये गये मान्यवर कांशीराम आवास के निरीक्षण में पहुंची जहां उन्होंने बारिकी से कालोनी का निरीक्षण किया और लाभार्थियों से वार्ता कर जाना की उन्हें कोई परेशानी तो नही हैर्षोर्षो लोगों ने बताया कि उन्हें कोई परेशानी नही है।आवासों के गुणवक्ता के सम्बन्ध में अपर जिलाधिकारी श्रीश चन्द्र श्रीवास्तव ने अवगत कराया तो उन्होंने प्रसन्ता व्यक्त की और यहां पर बच्चों के पढ़ने की व्यवस्था कराने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी से पूछे जाने पर यह बताया की सभी खडंऩ्जों पर इन्टर लाकिंग पेवर ब्रिक्स से सड़क नगर पालिका द्वारा बनाई जायेगी व ओबर हैड़ टैक का कार्य 15 मार्च तक पूर्ण कराया जायेगा।

कांशीराम आवास के बाद मुख्यमन्त्री पुलिस लाइन पहुंची जहां से सिविल हॉिस्पटल गई जहां उन्होंने अस्पताल में इमरजेंसी कक्ष, इमरजेंसी वार्ड का निरीक्षण किया और मरीजों से पूछा कि दवाई मिल रही है पैसा तो नही मांगा जा रहा है तो मरीजों ने कहा कि नही पैसा नही मांगा जाता दवाएं भी अस्पताल से मिल रही है। मुख्यमन्त्री ने चिकित्सा अधीक्षक डा0 सी0एस0 मधुकर को और व्यवस्था सुदृढ़ करने के निर्देश दिये।

तहसील सदर मिर्जापुर के निरीक्षण में उन्होंने इस वर्ष के आवास एवं कृषि पट्टा आवंटन का काम पूर्ण होने पर प्रसन्नता जताई तथा पिछले वषोZ में जो लोग पट्टा पाने से छूटे हो उन्हें पट्टा प्राथमिकता से देने के निर्देश दिये। उन्होंने तहसील दिवस रजिस्टर का निरीक्षण कर शिकायतों का निस्तारण तत्परता से कराने के भी निर्देश दिये। रिकार्ड रूम/अभिलेखागार के रखरखाव पर सन्तोष व्यक्त किया।

शुक्लहां मलिन बस्ती के निरीक्षण में मुख्यमन्त्री ने जिलाधिकारी श्रीमती संयुक्ता समद्दार से पूछा कि यहां कितनी मलिन बस्तियां है। जिलाधिकारी के सात मलिन बस्तियां बताये जाने पर उन्होंने सभी के प्रोजेक्ट बनाकर सुधार कार्यक्रम चलाने के निर्देश दिये। तत्पश्चात् मुख्यमन्त्री ने थाना कटरा का निरीक्षण किया। उनके साथ आये प्रमुख सचिव गृह कुवर फतेह बहादुर सिंह ने थाने के अपराधों के पंजिकरण व उनके निस्तारण की स्थिति से अवगत कराया। मुख्यमन्त्री ने उप पुलिस अधीक्षक से पूछा कि अपने क्षेत्र के सभी थाने महीने में एक बार चेक कर लेते है तो उन्होंने बताया कि किसी-किसी महिने हो जाते है, किसी महिने नही हो पाते है। इस पर मुख्यमन्त्री जी ने कहा कि प्रतिमाह अपने क्षेत्र के थानों का निरीक्षण अवश्य करें। उन्होंने थाना दिवस के प्रकरणों तथा महिला उत्पीड़न के मामले प्राथमिकता पर निपटाने के निर्देश दिये। साथ ही पुलिस अधीक्षक के0सत्यनारायण को भी समय-समय पर सभी थानों का निरीक्षण करते रहने के निर्देश दिये।

मुख्यमन्त्री के अम्बेडकर गांव निबावल आगमन पर जिलाधिकारी संयुक्ता समद्दार व पुलिस अधीक्षक के0सत्यनारायण ने मुख्यमन्त्री का स्वागत किया तथा पुलिस लाइन जिला मुख्यालय आगमन पर मण्डलायुक्त श्री सजीव मित्तल ने स्वागत किया। मुख्यमन्त्री भ्रमण के समय उनके कैबिनेट सचिव श्री शशांक शेखर सिंह व प्रमुख सचिच गृह श्री फतेह बहादुर सिंह साथ में रहें तथा विभिन्न योजनाओं का निरीक्षण कराया।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

February 2011
M T W T F S S
« Jan   Mar »
 123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
28  
-->







 Type in