*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | सहारनपुर

व्यभिचार के अभियोग का वांछित अभियुक्त गिरफ्तार , भेजा गया जेल

Posted on 03 April 2014 by admin

थाना कूरेभार के हरिकेष पुत्र राम किषोर निवासी सैदखानपुर थाना कूरेभार सुलतानपुर ,अपने ही गांव की लड़की को  बहला फुसला कर भगा ले गया व उसके साथ बलात्कार किया। लड़की के पिता द्वारा थाना कूरेभार मे दिनांक 31.03.2014 को हरिकेष के विरूद्ध बहला फुसलाकर बलात्कार करने का अभियेाग पंजीकृत कराया गया था। आज दिनंाक 02.04.2014 को थानाध्यक्ष दीनानाथ मिश्रा मय हमराही कां0 के क्षेत्र गस्त व तलाष वांछित अभियुक्त के क्षेत्र मे थे कि सूचना मिली की उपरोक्त अभियोग का वांछित अभियुक्त कही जाने की फिराक मे रेलवे क्रासिंग के पास है इस सूचना पर थानाध्यक्ष मय हमराह कूूूरेभार से धनपतगंज रोड़ पर बढे कि एक बालक सामने से आता दिखाई दिया व पुलिस वालो को देखकर भागने लगा। शक होने पर घेर कर पकड़ लिया गया। पूछने पर अपना नाम हरिकेष पुत्र राम किषेार उम्र 17 वर्ष बताया। अभियुक्त को गिरफ्तार कर न्यायालय भेजा गया।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

केन्द्र व राज्य सरकार सार्वजनिक राशन वितरण प्रणाली में पूर्णतया असफल?

Posted on 02 April 2014 by admin

स्थानीय स्तर पर सार्वजनिक राशन वितरण प्रणाली के बाबत जो शिकायतें जिलाधिकारी के साथ-साथ तहसील दिवस में नियमित रूप से प्रस्तुत की जाती रही हैं, उस बाबत स्थानीय पंजाब होटल मंे प्रदेश के सचिव खाद्य वितरण प्रणाली श्री अब्दुल नासिर कमाल से जब हमारे प्रतिनिधि ने प्रश्न किया तो उन्होने कहा कि मुझे पहली बार यह शिकायत आपके द्वारा मिल रही है। यदि आपको वास्तव में शिकायत है और आपके पास इस सम्बन्ध में माकूल प्रमाण हैं तो आप मुझे अवगत करायें मैं  बिना किसी दबाव और दखल के सम्बन्धित के विरूद्व सख्त कार्यवाही करने को प्रतिबद्व हूं। यहां यह बात सबसे अहम है कि गत सात वर्षों से लगातार केन्द्र सरकार ने राज्यों पर जो सार्वजनिक राशन वितरण प्रणाली के अन्तर्गत गरीब व्यक्तियों को कम से कम दर पर राशन उपलब्ध कराने की जो जिम्मेदारी सौंप रखी है, राज्य सरकारें मुख्य रूप से उत्तर प्रदेश सरकार उस वितरण प्रणाली में पूर्णतया असफल साबित हो रही है। सरकार चाहे भाजपा की हो, कांग्रेस की हो, बसपा की हो या फिर वर्तमान समाजवादी पार्टी की सरकार हो, हर सत्तापक्ष के साथ अनाज के माफियाओं का गहरा सम्बन्ध है। जितनी भी सरकारी स्तर से पूरे राज्य में राशन की दुकानें अलाट की गयी हैं, उन सभी में सरकार की ओर से महीने में दो बार ग्राहकों/राशन कार्ड धारकों को देने के लिये जो सामग्री डिपों में आती है, वह गोदामों से डिपो तक पहंुचते-पहंुचते मात्र 60 प्रतिशत ही रह जाती है, 40 प्रतिशत खाद्यान सामग्री गोदाम से उठने के बाद माफियाओं के कब्जे में चली जाती है। अनाज माफिया 4 रूप्या किलो और 7 रूपया किलों वाला चावल और अनाज 14 रूपये के हिसाब से चक्की वालों तथा बडे व्यापारियों को हाथों हाथ बेच देते हैं। स्थानीय स्तर पर इस गोरख धन्धे को जिलाधिकारी से लेकर सभी प्रशासनिक अधिकारी और सत्ता पक्ष के नेता भली भांति जानते हैं। सबको यह भी मालूम है कि इस गोरख धन्धे का मुखिया स्थानीय स्तर पर जिला पूर्ति अधिकारी होता है। यदि आप किसी डिपो होल्डर की शिकायतें लेकर जिला पूर्ति अधिकारी के पास जाते हैं तो वह सीधे मुंह बात करने को ही तैयार नही होते हैं। यदि आप जिला पूर्ति अधिकारी को अपने प्रभाव में ले लेते हैं, या उन के व्यक्तित्व पर आपका दबाव पड जाता है, तो वें सत्ता पक्ष के नेताओं को लाकर आपकी ज़बान खामोश करा देते हैं। कुल मिलाकर स्थानीय स्तर पर खाद्यान सामग्री को डिपो से उठाकर बाजार में स्वतंत्र रूप से गैर कानूनी ढंग से बेचने वाले खाद्यान्न माफियाओं का दबदबा है। आम आदमी की शिकायत सुनने के लिये कोई भी तैयार नही है। इससे भी बडी बात तो यह है कि हर डिपो होल्डर के पास 30 प्रतिशत जाली राशन कार्ड बने हुए हैं जिनका राशन वें स्वयं हज़म कर लेता है। सरकार कितनी भी सख्ती क्यों न करे मगर जबतक सत्ता पक्ष के नेता और खाद्यान्न माफियाओं की इसी प्रकार सांठ गांठ रहेगी, तबतक केन्द्र से चलकर प्रदेश तथा प्रदेश से चलकर गांव-गांव पहंुचने वाली सरकारी खाद्यान्न वितरण प्रणाली ईमानदारी के साथ संचालित नही हो पायेगी?
राशन की कालाबाज़ारी अब आम बात हो चली है और इस घोटालेबाजी से कोई भी अछूता नही है जिसका कारण प्रत्येक नागरिक का राशन कार्ड होना और उसके साथ राशन के नाम पर छल किया जाना अब प्रत्येक माह का मामला है। इस विषय में आम आदमी बेहद परेशान नज़र आता है। सवाल यह नही है कि ऐसा क्यों हो रहा है तथा कब से हो रहा है। सवाल यह है कि इस परेशानी और हकतलफी पर रोक कौन और कब लगा पायेगा।
तहसील सदर सहारनपुर के गांव पटनी निवासी अब्दुल राजि़क ने बताया कि हमारे यहां कर्मवीर और विकास नामक दो व्यक्ति राशन डिपो का संचालन करते हैं जो तीन महीने में एक बार राशन का पूर्ण वितरण करते हैं, उनका स्पष्ट कहना है कि हम तो अधिकारियों तक हिस्सा पहंुचाते हैं, हमारा कोई कुछ नही बिगाड़ सकता। स्थानीय पक्का बाग निवासी तमसील ने बताया कि कभी भी राशन डिपो पर राशन पूरा नही मिलता और जितना चाहे उतना माल डिपो होल्डर स्वयं रखकर ब्लैक में बेचता है, और विरोध करने पर दबंगई पर उतारू हो जाता है। उधर सदर तहसील के ही गांव लखनौती कलां एवं हीराहेडी निवासी समरेज आलम ने भी यही बताया कि पहली बात तो यह कि हमारे गांव हीराहेडी से लखनौती कलां लगभग 5 किलोमीटर दूर पडता है जहां डिपो होल्डर सुभाष समय पर वितरण की सूचना भी नही देता है तथा अधिकतर माल को ब्लैक करता है।
समाजसेवी एवं पत्रकार नफीसुर्रहमान का कहना है कि उपरोक्त प्रकरणों में जब भी मैं स्वयं शिकायतें लेकर जिला पूर्ति कार्यालय पंहुचा तो जिला पूर्ति अधिकारी ने मेरी शिकायतों को अनदेखा करते हुए स्पष्ट रूप से बताया कि हमारे डिपो होल्डर जिस तरह का कार्य अन्जाम दे रहे हैं, वह सन्तोषजनक है। उनका कहना था कि हम पर भी लखनऊ वालो का दबाव रहता है, इसलिये हम स्थानीय स्तर पर डिपो होल्डरों पर सख्ती नही कर सकते। हमारे स्टाफ और निरीक्षकों को ऊपर पैसा भेजना पडता है तथा बहुत से खर्चे भी हम पर शासन की ओर से लगे हुए हैं।
इस विषय में जब जिलाधिकारी श्रीमति संध्या तिवारी से बात की गयी तो उन्होने कहा कि अच्छा हुआ आपने मेरे संज्ञान में मामला डाल दिया है, अब मैं सख्ती से इस विषय में पूछताछ करूंगी और किसी भी प्रकार से इस प्रकार के मामलों पर रोक लगाई जायेगी तथा ऐसा करने वालों के विरूद्व सख्त कानूनी कार्यवाही अमल में लाई जायेगी
इस विषय में जब विशेष सचिव अब्दुल नासिर कलाम साहब से हमारे प्रतिनिधि नफीसुर्रहमान से स्थानीय होटल पंजाब में भेंट हुई तो सहारनपुर में बढती जा रही सरकारी खाद्य वितरण प्रणाली में धांधलियों के बाबत वरिष्ठ आईएएस अधिकारी श्री ए.एन. कमाल ने कहा कि मैं अपने स्तर से लखनऊ जाकर इसकी जांच कराऊंगा। आपने यह भी कहा कि आप स्थानीय खाद्य वितरण प्रणाली/सस्ते गल्ले की दुकानों/स्थानीय पूर्ति कार्यालय से सम्बन्धित सभी शिकायतों की फाईल अतिशीघ्र मुझे भिजवाएं ताकि मैं अमुक जि़म्मेदार के विरूद्व कार्यवाही कर सकंू। उल्लेखनीय है कि वरिष्ठ आईएएस अधिकारी ए.एन. कलाम ने जिस हंसमुख वातावरण में पत्रकारों से शिकायत की बाबत वार्तालाप किया और जिस प्रकार कार्यवाही का आश्वासन दिया, उसकी सर्वत्र सराहना की जा रही है।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

भूखे बच्चों की तसल्ली के लिये . माँ ने पानी पकाया देर तक ! गुनगुनाता जा रहा था इक फकीर. कि धूप रहती न साया देर तक।

Posted on 02 April 2014 by admin

मुल्क में अगर किसी ने उर्दू को जि़न्दा रखा हुआ है तो वो मुशयरे और मुशायरों के मुन्तज़मीन का ही हौंसला है। हमने हर मुशायरे मंे हर तरह के टाॅपिक पर और हर तरह के मौके पर मुल्क के और गै़र मुमालिक के शौरा हज़रात को कलाम पेश करते हुए सुना है। फख्ऱ इस बात पर है कि मुल्क में होने वाले मुशायरों को मुसलमानों से ज़्यादा ग़ैर मुस्लिम अवाम और अफसरान सुनते समझते और उनसे लुत्फ अन्दोज़ होते हैं। सीनीयर जर्नलिस्ट रविश अहमद ने अपने सर्वे में पूरे उत्तर प्रदेश और उत्तराखण्ड में जो कुछ देखा और उर्दू की बाबत जो कुछ पाया, उससे साफ ज़ाहिर है कि मुल्क में उर्दू के लिये जो कुछ किया जा रहा है वो सिर्फ दिल बहलावा है। खुशी इस बात की है कि गुफ्तग़ू के दौरान उत्तराखण्ड के गवर्नर डाॅ. अज़ीज़ कुरैशी ने सबसे पहले उर्दू को तहज़ीब और क़ौमी एकता की ज़बान करार देते हुए कहा कि आज मुल्क को आज़ाद कराने में उर्दू ने और उर्दू पढने वालों ने जो शहादतें पेश की हैं, उनकी कहीं मिसाल नही है। जहां महात्मा गांधी, पण्डित नेहरू उर्दू से वाकि़फ थे, वहीं मौलाना महमूद हसन और मौलाना हुसैन अहमद मदनी भी उर्दू में ही तमाम काम काज किया करते थे। हिन्दू और मुसलमानों को जोड़ने वाली इस ज़बान ने रेशमी रूमाल तहरीक के ज़रिये अंग्रेज़ों को मुल्क छोड़ने को मजबूर कर दिया। सीनीयर जर्नलिस्ट रविश अहमद को डाॅ. अज़ीज़ कुरैशी ने दो टूक जवाब दिया कि आज अगर मुल्क में हिन्दू मुस्लिम इत्तहाद को कायम रखना है तो उर्दू को प्रयोग में लाना होगा। गवर्नर मौसूफ ने कहा कि हिन्दी राष्ट्रभाषा है, हम उसका सम्मान करते हैं, मगर उर्दू मुल्क को आज़ाद करने वाली ज़बान है, उसका भी सम्मान ज़रूरी है। इसी बाबत मशहूर शायर जनाब नवाज़ देवबन्दी से जब उर्दू के बाबत खुलकर बातचीत की गयी तो उन्होने कहा कि मैं उर्दू का सिपाही हँू और उर्दू को उसकी वही पुरानी ऊंचाईयों पर लाने में अपनी खिदमात देना चाहता हँू कि जो पाक़ीज़ा और मुहब्बत वाली उर्दू ज़बान की असल जगह है। एक इन्टरव्यू में अपनी सहारनपुर आमद पर हमारे खुसूसी नुमाइन्दे नफीसुर्रहमान से एक खास गुफ्तगू करते हुए देवबन्द में पैदा हुए और शायरी की बदौलत अपनी जाय पैदाइश का नाम पूरी दुनिया में रौशन करने वाले मौजूदा उर्दू एकेडमी उत्तर प्रदेश के चेयरमैन जनाब नवाज़ देवबन्दी ने मन्दरजाबाला ख्यालात का इज़हार करते हुए कहा कि ये ओहदा मैने जनाब वज़ीरे आला यूपी अखिलेश यादव के हुक्म पर क़बूल किया है। जनाब नवाज़ देवबन्दी ने कहा कि मैने वज़ीरे आला को साफ तौर से बता दिया है कि मैं सियासी आदमी नही हँू, और किसी भी सियासी सरगर्मी से मेरा कोई सरोकार नही रहेगी। नामानिगारे खुसूसी नफीसुर्रहमान के एक सवाल के जवाब में उत्तर प्रदेश उर्दू एकेडमी के चेयरमैन नवाज़ देवबन्दी ने वाज़े किया कि मुस्तक़बिल में उनका प्रोग्राम एकेडमी के ज़रिये अवाम को उर्दू से हिन्दी और हिन्दी से उर्दू ज़बान सिखाना होगा। उन्होने ये भी कहा कि उर्दू और हिन्दी दोनों सगी बहने हैं। उर्दू इसी मुल्क में पैदा हुई और इसी मुल्क में जवान हुई है। आज पूरी दुनिया में हमारी फिल्म इन्डस्ट्री बाॅलीवुड का नाम रौशन कराने वाली हमारी उर्दू ज़बान ही है। जनाब नवाज़ देवबन्दी ने कहा कि ये सच है कि मुल्क से उर्दू को मिटाने की साजि़शें 1947 से आज तक होती आ रही हैं मगर मेरे करमफरमां और सूबे के वज़ीरे आला जनाब अखिलेश यादव ने उर्दू की खि़दमत के लिये मुझे उर्दू एकेडमी का चेयरमैन बनाकर जो इज़्ज़त और एजाज़ बख़्शा है, मैं उसका दिल से शुक्रगुज़ार हँू और बाफज़ले खुदा सूबाई वज़ीरे आला की हस्बे मन्शा उर्दू के फरोग़ और उर्दू की तशहीर के लिये वो काम अन्जाम दूंगा कि जिनकी आज मुल्क को सख़्त ज़रूरत है। सीनियर जर्नलिस्ट रविश अहमद के एक सवाल के जवाब में जनाब नवाज़ देवबन्दी ने बेबाक लहज़े में फरमाया कि उर्दू को मिटाने वाले खुद ही मिटते जा रहे हैं। मक़बूल शायर नवाज़ देवबन्दी ने रविश अहमद को मुखि़्लसाना अन्दाज़ मंे और मुस्कुराते हुए ये भी कहा कि हमें तो खुदा ने पैदा ही उर्दू की खि़दमत के लिये किया है। सीनीयर जर्नलिस्ट रविश अहमद के साथ गुफ्तगू करते हुए नवाज़ देवबन्दी ने अपने अशआर का इज़हार करते हुए उर्दू को गंगा जमना का संगम करार दिया और ये भी कहा कि उर्दू ही हमारी गंगा जमनी तहज़ीब और हमारी एकता को मज़बूत करने वाली कडी है। जो स्कूल अपने बच्चों को उर्दू की तालीम फराहम कराना चाहते हैं वो स्कूल उर्दू उस्ताद के लिये सीधे उनके साथ राब्ता कायम कर सकते हैं। उर्दू टीचर का खर्च उर्दू तालीम के लिये उर्दू एकेडमी ही बर्दाश्त करेगी।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

लोक सेवा आयोग परिक्षा सम्पन्न कराने के लिये बैठक

Posted on 31 March 2014 by admin

अपर जिलाधिकारी प्रशासन दिनेश चन्द्र की अध्यक्षता में कलेेक्ट्रेट सभाकक्ष में लोक सेवा आयोग द्वारा सम्मिलित अवर अधीनस्थ सेवा(प्रारम्भिक)परीक्षा 2013 तथा अवर अधीनस्थ सेवा विकलांग जनहेतु बैक लाॅग /विशेष चयन) प्रारम्भिक परीक्षा 2013 की दिनांक 06-04-2014 को  सम्पन्न कराने हेतु बैठक हुई।
अपर जिलाधिकारी(वि0एवं0रा0) सैययद निजामुद्वीन को परिक्षा सम्पन्न कराने के लिये नोडल अधिकारी बनाया गया है। नोडल अधिकारी सैययद निजामुद्वीन ने सभी केन्द्र व्यवस्थापको को सम्बोधित करते हुए कहा कि आप लोगो को बोर्ड की परीक्षाएं 4 तारीख को समाप्त होगी तथा 6 तारीख को यह परीक्षा है। आपको तैयारी करने के लिये विशेष व्यवस्थाएं नही करनी होगी। उन्होने कहा कि सैक्टर मजिस्ट्रेट सीलबन्द प्रश्नपत्र आपके केन्द्र पर पहुंचायेगे। परीक्षा प्रातः  9-30 बजे से 11-30 बजे तक एक ही पाली में होगी। उन्होने कहा कि 19 परीक्षा केन्द्र बनाये गये है। सभी केन्द्र प्रभारी अपने-अपने केन्द्रो पर प्राथामिक व्यवस्था कर लें। उन्होने कहा कि अभ्यार्थियो के माबाईल रखवाने की व्यवस्था कर लें। अभ्यार्थी को परेशान न किया जाये। परीक्षा निर्धारित प्रक्रियानुसार सकुशल, निर्विघ्न, निष्पक्ष एवं सुचितापूर्ण सम्पन्न कराना हम सभी का उत्तरदायित्व है जिसके लिये प्रत्येक स्तर पर सतर्कता सजगता के समयानुपालन की आवश्यकता होती है। जिला विद्यालय निरीक्षक श्यामा कुमार ने कहा कि आप सब निपूर्ण है पहले भी कई परीक्षाएं सकुशल सम्पन्न करा चुके है अनुभवी है इसलिये परीक्षा सम्पन्न कराने में कोई परेशानी नही रहेगी। संजय राय ने कहा कि परीक्षा केन्द्रो पर पर्याप्त पुलिस बल रहेगा तथा सम्बन्धित थानो की जीप निरन्तर भ्रमण करती रहेगी। परीक्षा सम्पन्न कराने के लिये जिलाधिकारी संध्या तिवारी ने जोनल मजिस्ट्रेट व सैक्टर मजिस्ट्रेटो की नियुक्ति की है। एस0ए0एम0 इण्टर कालिज देहरादून रोड, राजकीय इण्टर कालिज नेहरु मार्किट श्री हिन्दू कन्या विद्यालय इण्टर कालिज बाबा लाल दास रोड के लिये भानुपताप यादव उप जिला मजिस्ट्रेट को सैक्टर मजिस्ट्रेट तथा गुरुनानक इण्टर कालिज अम्बाला रोड सहारनपुर, गुरुनानक कन्या इण्टर कालिज गांधी पार्क सहारनपुर, जे0बी0एस0 हिन्दू कन्या इण्टर कालिज रायवाला चैक के लिये रामप्रकाश उप जिला मजिस्ट्रेट रामपुर मनिहारान को सैक्टर मजिस्ट्रेट तथा कुंज बिहारी अग्रवाल नगर मजिस्ट्रेट को जोनल मजिस्ट्रेट बनाया गया है। एस0डी0इण्टर कालिज चकरौता रोड सहारनपुर, बी0डी0बाजोरिया इण्टर कालिज चकरौता रोड सहारनपुर, आर्य कन्या इण्टर कालिज मटिया महल के लिये हीरा लाल सिंह उप जिला मजिस्ट्रेट नकुड को सेक्टर मजिस्ट्रेट, जे0वी0जैन इटर कालिज मातागढ पुराना बस अडडा कलसिया रोड सहारनपुर, एच0ए0वी0इण्टर कालिज कलसिया रोड सहारनपुर तथा स्टार पेपर मिल सरस्वती विद्या मन्दिर इण्टर कालिज सहारनपुर बाबा लाल दास रोड के लिये हवलदार यादव उप जिलाधिकारी बेहट को सैक्टर मजिस्ट्रेट तथा बी0एच0एस0 इण्टर कालिज मिशन कम्पाउण्ड सहारनपुर, के0सी0सी0पी0आर्य कन्या इण्टर कालिज गिल कालोनी के लिये राजेश कुमार सिंह उप जिला मजिस्ट्रेट देवबन्द को सैक्टर मजिस्ट्रेट  तथा वेद प्रकाश उपाध्यक्ष सहारनपुर विकास प्राधिकरण सहारनपुर को जोनल मजिस्ट्रेट बनाया गया है। महाऋषि दयानन्द इण्टर कालिज नवीन नगर सहारनपुर, महाऋषि दयानन्द एग्लों वैदिक इण्टर कालिज गौरव बिहारपुर सहारनपुर के लिये अमरजीत सिंह जिला पचंायत राज अधिकारी सहारनपुर को सैक्टर मजिस्ट्रेट मजिस्ट्रेट, इस्लामिया इण्टर कालिज ईदगाह रोड सहारनपुर, अमर शहीद मैमोरियल इण्टर कालिज मानकमऊ गंगोह रोड, अमर शहीद मैमोरियल कन्या इण्टर कालिज मानकमऊ के लिये चन्दन कुमार वर्मा सहा0 चीनी आयुक्त सहारनपुर को सैक्टर मजिस्ट्रेट तथा डा0आर0सी0पाठक उप गन्ना आयुक्त सहारनपुर को जोनल मजिस्ट्रेट बनाया गया है। बैठक में गन्ना उपायुक्त आर0सी0पाठक, एस0डी0एम0 भानुप्रताप यादव, हवलदार यादव, राजेश कुमार सिंह, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी विनय कुमार, डी0पी0आर0ओ0 अमरजीत सिंह व सभी इण्टर कालिजो के प्रधानाचार्य उपस्थित थे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

भ्रष्टाचार को समाप्त करना जरूरी - एहसानउलहक मलिक

Posted on 31 March 2014 by admin

पिछले 7 सालों से पूरे उत्तर प्रदेश मे पिछडा समाज महासभा हर क्षेत्र मे सुधार, विकास और शैक्षिक सुधार के अलावा जनकल्याण की स्कीमों को लेकर अपनी सरगरमी का मुजाहरा कर रही है। हम अपने समाचार पत्र में पिछडा समाज महासभा की  जानिब से बार-बार अवामी मुफाद मे किये जाने वाले कामों और प्रोग्रामों की खबरे प्रभावशाली ढंग से लगातार छापते आ रहे है। पिछड़ा समाज महासभा ने  अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष एहसानउलहक मलिक की जेरे कियादत जो काम सूबे मे अंजाम दिये है वह सभी के सामने है अल्पसंख्यको को आरक्षण देने का मुद्दा हो या फिर फसादात में अल्सपंख्यको के साथ की जाने वाली बेइंसाफी हो या सच्चर कमेटी की रिपोर्ट को लागू करने की मांग हो इन सब बातों को लेकर पिछड़ा समाज लगातार सरकारो पर दबाव बनाकर इंसाफ की मांग कर रहा है जो एक ऐतिहासिक कदम है। पिछले दिनों   पिछड़ा समाज महासभा की एक विशेष बैठक में एहसानुलहक मलिक ने बैठक को सम्बोधित करते हुए राष्ट्रीय उपाध्यक्ष देवेन्द्र सिंह एडवोकेट ने कहा कि हर पार्टियाँ भ्रष्टाचार को समाप्त करने के लिए बडे़-बडे़ दावे करती है, लेकिन वह अपने गिरेबान मे झाँक कर नही देखती, उनके पार्टी में कितने सांसद विधायक दागी व अपराधी है, उन्होंने यह भी कहा जब तक अपराधी दागी बालात्कारी जनप्रतिनिधि रहंेगे। तब तक भ्रष्टाचार दूर नही हो सकता। बैठक को सम्बोधित करते हुए राष्ट्रीय महासचिव शिवनारायण कुशवाहा ने कहा मुख्यमंत्री अखलेश यादव ने यौन शोषण के मामले में व्यापक सुधार व सख्त कानून बनाये जाने की बात तो करते है, लेकिन अपने उन मंत्रियों को क्यों नही हटातेे जिन पर बालात्कार व यौन शोषण के मुकद्में चल रहे है। उन्होंने सभी दांगी मंत्रियों को तत्काल हटाये जाने की माँग की। जैसा कि मुख्य मंत्री स्वच्छ प्रशासन का दावा करते है। बैठक को सम्बोधित करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष एहसानुलहक मलिक ने कहा कि संासद व विधान सभा में किसी भी अपराधिक पृष्ठभूमि के सदस्यों के लिए जगह नही होना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा  नौकरशाह अपराधियों व पुलिस का पूरी तरह राजनीतिकरण हो चुका है, और पूरा तंत्र अपने राजनीतिक बाॅस के लिए काम करता है, इस नापाक गठजोड़ को जनता व ईमानदार जनप्रतिनिधियों को मिलकर तोड़ना होगा तभी देश में सुधार होगा। राष्ट्रीय अध्यक्ष एहसानउलहक मलिक ने कहा कि जनता को आजादी के बाद से आज तक मूर्ख बनाया जा रहा है। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष देवेन्द्र सिंह एडवोकेट ने कहा कि कभी जाति के नाम पर, कभी धर्म के नाम पर, कभी ऊॅंच नीच के नाम पर और कभी अमीर-गरीब के नाम पर ये राजनैतिक गठ जोड़ वाले शक्तिशाली लोग जनता को लगातार गुमराह करने मे लगे है। अपने भ्रष्टाचारों  को और कुकृत्यों को छिपाने के लिए लगातार जनता को भिन्न-भिन्न उद्देश्य हीन मुद्दों मे उलझा कर यह भ्रष्ट तन्त्र अपने आपको और शक्तिशाली करने पर लगा है। जितनी भी परेशानियाॅ, कठिनाइयाॅं और उत्पीड़न बर्दाश्त करना पड रहा है वह सब मध्यम वर्ग ही बर्दाश्त कर रहा है। आज जरूरत इस बात की है कि हम पिछडा समाज के दबे कुचले लोग संगठित होकर अपनी आवाज को न्याय के लिए उठाये।
बैठक को सम्बोधित करते हुए राष्ट्रीय सचिव कृपाशंकर सविता ने कहा कि जिन सांसदो विधायकों की अपराधिक पृष्ठभूमि है, उनके मामले को फास्ट ट्रैक अदालतों में मुकद्में चलाये जायें, और हर हाल में 3 माह में निर्णय लिया जाना चाहिए। उन्हांेने यह भी कहा जनप्रतिनिधि अपने प्रभाव के बल पर मुकद्मों का निर्णय लम्बे समय तक नही होने देतें।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

नर्सिंग होम्स् द्वारा आम लोगों से खिलवाड़

Posted on 31 March 2014 by admin

जनपद सहारनपुर में गत दस वर्षोंसे नर्सिंग होम्स की बाढ सी आ गयी है। फाईव स्टार होटल की तरह बने तथा चलने वाले इन नर्सिंग होम्स में आम आदमी अपने मरीज की जान बचाने के लिये इलाज के लिये आता है। यह नर्सिंग होम्स तथा इनके संचालक हर आने वाले रोगी के साथ दया का व्यवहार न करके मात्र पैसे बनाने का व्यवहार आम तौर पर करते हैं। जैसे कि सक्षम हाॅस्पिटल दिल्ली रोड, हैल्थ केयर क्लीनिक दिल्ली रोड, तारावती हाॅस्पिटल बाजोरिया रोड, दहूजा क्लीनिक, डाॅ नौसरान क्लीनिक, बच्चों के डाॅक्टर डी.के. गुप्ता द्वारा संचालित लोकप्रिय हाॅस्पिटल तथा इसी प्रकार अन्य दर्जनों नर्सिंग होम्स इन दिनों मरीजों का खून चूसने में व्यस्त हैं। वायरल बुखार के नाम पर, हृदय रोग, श्वास रोग तथा लीवर एवं किडनी के रोगियों के साथ जल्लाद जैसा व्यवहार इन क्लीनिकों पर किया जाता है। मरीज के आने के बाद उसके सभी टैस्ट कराये जाते हैं। एक्सरे, सीटी स्कैन आदि भी कराया जाता है (वास्तव में 75 प्रतिशत रोगियों को इन टेस्टों की आवश्यकता भी नही होती है)। यदि कोई रोगी यह कहता है कि साहब मेरे पास ब्लड रिपोर्ट, एक्सरे एवं अल्ट्रासाउण्ड रिपोर्ट कुछ दिनों पहले की है तो उसको गम्भीर रोग का भय दिखाकर पुनः जांच हेतु मजबूर किया जाता है। आम बीमारी का इलाज इन क्लीनिकस् पर एक हजार रूपये प्रतिदिन के हिसाब से किया जाता है। एक सप्ताह अपने क्लीनिक में रखने के बाद इन दर्जनों नर्सिंग होम्स के संचालक रोगी को बाहर के हाॅस्पिटल में जिसकों यें संचालक हायर सेंटर का नाम देते हैं, वहां रेफर कर दिया जाता है। हायर सेंटर जाने के बाद मालूम होता है कि रोगी को जो दवाएं दी जा रही हैं वें उस रोग से सम्बन्धित ही नही हैं। मजेदार बात यह है कि एक क्लीनिक पर शूगर की रिपोर्ट 180 दर्शायी जा रही है तो एक घण्टे बाद दूसरे क्लीनिक पर यही रिपोर्ट 122 की आ रही है खून में प्लेट्स कम होने का 60 फीसद परिणाम इन हायर सेंटर पर जाकर झूठा प्रमाणित हो जाता है। हायर सेंटर के वरिष्ठ चिकित्सकों का कहना है कि रोगी को वायरल बुखार है तथा इसे दवाई बहुत तेज दी गयी जिस कारण यह रोगी सामान्य नही हो पाया। इसी प्रकार किडनी एवं लीवर से प्रभावित मरीजों के दर्जनों केस हैं कि जिन्हे हायर सेंटर जाने के बाद वापस हल्की दवाई लिखकर उनके घर भेज दिया गया। इसी तरह के दर्जनों केस हर दिन अखबारों में प्रकाशित होते रहते हैं परन्तु स्वास्थय विभाग, जिला प्रशासन तथा आयकर विभाग इन नर्सिंग होम्स की कारकर्दगी से आंखे मूंदे हुए है। खुलेआम रोगी को गम्भीर रोग का डर दिखाकर लूटा जा रहा है। प्रतिदिन एक हजार रूपया प्रति कमरा तथा डाॅक्टर की दिन में तीन बार विजिट के 900 रूपया वसूला जा रहा है उसके बावजूद भी जिला प्रशासन खामोश बैठा हुआ है। ऐसा महसूस होता है कि नर्सिंग होम्स के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने की आयकर विभाग, स्वास्थय विभाग तथा जिला प्रशासन में तनिक भी हिम्मत नही है। आम जनता सरकारी अस्पतालों से तथा सरकारी अस्पतालों के इलाज से तंग आ चुकी है इसलिये मजबूर होकर इन नर्सिंग होम्स में अच्छे इलाज की आस लिये जाती है परन्तु इन नर्सिंग होम्स में जो कुछ होता है वह सबके सामने है। आम जनता भीतर ही भीतर अपने जीवन को बचाने के लिये खून के घूंट पीने को मजबूर है।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

अधिकारी लापरवाही से परहेज़ करें …..संध्या तिवारी आईएएस

Posted on 28 March 2014 by admin

जिलाधिकारी संध्या तिवारी ने सभी अधिकारियों को आगाह किया है कि वें काम समय से निपटायें तथा जनता की आने वाली शिकायतों का निस्तारण समय से करें और किसी भी प्रकार से लापरवाही का प्रमाण न दें। कर्मठ जिलाधिकारी संध्या तिवारी का सीधा कहना है कि जब वें जनता से मिल रही हों तो किसी भी कर्मचारी को कोई भी फाईल लेकर या कोई भी कार्य लेकर उन्हे डिस्टर्ब नही करना चाहियें। योग्य जिलाधिकारी ने कहा कि जो समय जनता से मिलने का है, उसमें वें केवल जनता से ही मिलेगीं और जनता की ही शिकायतें सुनेगीं। उल्लेखनीय है कि हमारे जनपद की नवागन्तुक जिलाधिकारी श्रीमति संध्या तिवारी ने पचास साल पुराने तरीके को बदलते हुए कर्मचारियों को सीधे तौर पर कहा है कि जब उनकी फाईलों को देखने का और उनकी फाईलों/विभागीय फाईलों को निस्तारित करने का समय निश्चित है, तो वें फाईलें उसी समय लायें। श्रीमति संध्या तिवारी ने कहा कि जब वें  जनता से मिल रही हों या जनता की शिकायतों का निस्तारण कर रही हों तब उन्हे किसी भी प्रकार से विचलित नही किया जाना चाहिये। श्रीमति तिवारी ने कहा कि चुनाव से सम्बन्धित वोटर लिस्टों का प्रसार बूथ स्तर पर हर स्तर पर तथा लेखपालों द्वारा बूथ स्टेशनों के अतिरिक्त तहसील व पंचायत घरों मंे भी किया जाना अति आवश्यक है। जिलाधिकारी का कहना है कि चुनाव आयोग के निर्देशानुसार वर्तमान प्रकाशित वोटर लिस्टों का प्रदर्शन आम जनता के लिये किया जाना अत्यन्त जरूरी है ताकि जनता अपने वोट के बारे में जानकारी सरलतापूर्वक प्राप्त कर सके। योग्य जिलाधिकारी ने कहा कि जनता अपने वोट की बाबत आॅन लाईन भी जानकारी प्राप्त कर सकती है।जिला मजिस्ट्रेट/जिला निर्वाचन अधिकारी संध्या तिवारी ने लोक सभा सामान्य निर्वाचन-2014 को विधिवत, व्यवस्थित, स्वतन्त्र, निष्पक्ष एवं शान्तिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने हेतु लोक सभा निर्वाचन से सम्बन्धित सूचनाओ के आदान प्रदान पोलिंग पार्टियो के प्रस्थान एवं मतदान केन्द्रो पर पहुंचने की सूचना लखनऊ मुख्यालय भेजने तथा मतदान के दिन की सूचना प्रत्येक दो घण्टे बाद भिजवाने की कार्यवाही सम्पन्न कराने तथा निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार व्यय अनुवीक्षण नियन्त्रण कक्ष एवं शिकायत काल सेन्टर टीम के अंर्तगत प्राप्त शिकायतो का निस्तारण जिसका टोल फ्री न0-18001803320 जो 24 घण्टे कार्य करेगा पर शिकायतो का रिकार्ड व उसके निस्तारण हेतु अविलम्ब भेजे जाने हेतु उप गन्ना आयुक्त आर0सी0पाठक, सहायक अभियन्ता विकास प्राधिकरण एस0के0एस0चैहान, अवर अभियन्ता सहारनपुर विकास प्राधिकरण सुबोध शर्मा, सहायक अर्थ संख्याधिकारी जय किशन व राकेश कुमार, सामान्य सहायक कलेक्ट्रेट विजय गर्ग, अरेन्जर वीडर कलेक्ट्रेट अखिल माथुर, नकल नवीस कलेक्ट्रेट बबीता जैन की डयूटी लगाई है।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

वक्फ सम्पत्तियों की दुर्दशा: जिसकी लाठी उसकी भैंस

Posted on 28 March 2014 by admin

वक्फ बोर्ड की सम्पत्तियों पर वक्फ तथाकथित नियुक्त प्रबन्धक/मुतवल्ली नामक पहरेदारों ने ही इस प्रकार कुण्डली मार रखी है कि अब वें सम्पत्तियां उनकी पैतृक बन चुकी हैं तथा वक्फ बोर्ड अपनी दलाल मुतवल्लियों के सहारे केवल जनपद सहारनपुर ही में अरबों रूपयों की वक्फ सम्पत्तियों से लाखों रूपया मासिक कमा रहे हैं। सर्वप्रथम जामा मस्जिद कलां पर वक्फ बोर्ड लखनऊ के एक आॅडिटर व जामा मस्जिद के एक मुलाजि़म कमेटी के मेम्बरान के साथ मिलकर गत दस वर्षों से जामा मस्जिद की सम्पत्ति को एक हाथ से निकाल कर दूसरे हाथ मे देकर करोडों रूपया कमा चुके हैं। लगभग 200 सम्पत्तियों की अकेली वारिस अरबों रूपयों की हैसियत वाली यह जामा मस्जिद आज भी पुराने फर्श और पुरानी बिल्डिंग के साथ साथ पुरानी सफों पर संतोष किये हुए है। जबकि वक्फ बोर्ड के आॅडिटर, जामा मस्जिद के स्थायी मुलाजि़म तथा जामा मस्जिद प्रबन्धक कमेटी के चन्द मेम्बरान के घर आलीशान बन चुके हैं। डेढ सौ रूपये का कुर्ता पायजामा पहनने वाले आज तीन हज़ार रूपयों की ड्रेस पहने घूम रहे हैं। जामा मस्जिद से जुडे इन ठेकेदारों के घर आलीशान बने हुए हैं। शहर के पुलिस अधिकारियों के साथ इनके घनिष्ठ सम्बन्ध हैं। जो मौजूदा सुन्नी सैन्ट्रल वक्फ बोर्ड लखनऊ ने कमेटी स्वीकार करके यहां भेजी है। उसमें भी ज़्यादातर लोग ऐसे हैं कि जिनका वर्तमान एवं भूतकाल हमेशा से संदिग्ध रहा है। साठ फीसद से ज़्यादा लोग इस कमेटी के नमाज़ और कुराने पाक की तिलावत से दूर हैं। आम चर्चा है कि प्रदेश के दबंग मंत्री आज़म खां ने अपने चेलों को मलाई चटाने के लिये जामा मस्जिद की प्रबन्ध कमेटी का प्रभार सौंपा है। आज जनपद मंे जगह-जगह इस कमेटी की निन्दा की जा रही है। इसके अतिरिक्त पुरानी ईदगाह कदीम का मुतवल्ली सुन्नी सैन्ट्रल वक्फ बोर्ड मंे कारी अब्दुर्रहमान को बनाया हुआ है तथा उसके सचिव नईम पीरज़ादा होते हैं। इना दोनों के रहते पुरानी ईदगाह को तथा उसके पुराने आसार खुर्द-बुर्द करके कब्रों को नष्ट करके इस पाक ज़मीन पर सैंकड़ों दुकानें तामीर की जा चुकी हैं। करोड़ों रूपयों के इस घपले में सुन्नी सैन्ट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन उनके स्थानीय आॅडिटर, पुरानी ईदगाह के मुतवल्ली तथा सचिव पूर्ण रूप से शामिल हैं। न्यायालय वक्फ ट्रिब्यूनल में मौहर्रम अली पप्पू बनाम अब्दुर्रहमान जो केस चल रहा था, उसको भी इन दलालों ने भारी रकम खर्च करके अपने हक में करा लिया। कुल मिलाकर वक्फ बोर्ड की शह पर इस तरह की सैंकड़ों सम्पत्तियां इस जनपद में खुलेआम खुर्द बुर्द की जा रही हैं। कोई पूछने और सुनने वाला नही है। कारी अब्दुर्रहमान तथा उनके सचिव नईम पीरज़ादा ने अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर जिस प्रकार वक्फ की इस सम्पत्ति को क़ब्ज़ाया और उस पर अवैध रूप से वक्फ बोर्ड की साजि़श से दुकानों का निर्माण कराया और फिर उन दुकानों को करोड़ों रूपया पगडी लेकर किराये पर चढाया वह अपने आप में शर्मनाक हरकत है। पूरे जनपद मंे इस कृत्य की कडी निन्दा की गयी। परन्तु उसके बावजूद भी कारी अब्दुर्रहमान तथा वक्फ बोर्ड के लोग अपने दलालों के जरिये वक्फ की सम्पत्ति को पूर्ण रूप से किरायेदारी में तब्दील करने पर बजि़द हैं। माननीय मुख्यमंत्री को भी दर्जनों शिकायतें भेजी जा चुकी हैं। स्थानीय स्तर पर जिला प्रशासन भी निष्पक्षता के साथ इन सम्पत्तियों की जांच नही कर पा रहा है। आम चर्चा यह भी है कि वक्फ सम्पत्तियों पर कब्जा करने वालों के साथ स्थानीय तथा राज्य स्तर के कई समाजवादी नेता भी शामिल हैं।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

चुनाव ऐसा त्यौहार है जिसे सब एक साथ मनाते है- जिलाधिकारी संध्या तिवारी

Posted on 28 March 2014 by admin

मुख्य विकास अधिकारी मोनिका रानी के सौजन्य से गांधी पार्क जनमंच प्रेक्षागृह में आंगनवाडी कार्यकत्री एवं आशाओ के अधिक मतदान प्रतिशत बढाने हेतु कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें जनपद की 3300 आंगनबाडी कार्यकत्रियो एवं आशाओ ने दो पालियो में भाग लिया। जनमंच में सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी संध्या तिवारी ने कहा कि हम सभी अपने-अपने धर्मो के अनुसार त्यौहार अपनी-अपनी सामर्थय के अनुसार मनाते है लेकिन चुनाव एक ऐसा त्यौहार है जिसे सब एक साथ मनाते है। अमीर-गरीब एक साथ अपने हक के साथ मनाते है और इसको मनाने के लिये सबका बराबर का हक है। पहचान पत्र हमारी पहचान है। पहचान पत्र मतदान हेतु प्रयोग किया जाता है। विगत चुनावो में मतदान करने में सहारनपुर का प्रदेश में दूसरा स्थान था। हम सभी को मिलकर अपने जिले को प्रथम स्थान पर लाना हम सभी का कर्तव्य है।
जिला निर्वाचन अधिकारी संध्या तिवारी ने कहा कि इस मतदान मंे महिलाओ की सबसे अधिक जिम्मेदारी है। आप स्वयं अपना वोट डालकर अपने सम्बन्धितो/मौहल्लेवालो से मतदान अवश्य कराये। हमारे जनपद में 90 प्रतिशत मतदान होना चाहिये। जो आंगनवाडी व आशाये अपने-अपने क्षेत्रो में अधिक मतदान कराये। प्रत्येक विधान सभा से 10-10 का चयन कर उनको जनपद स्तर पर सम्मानित किया जायेगा और उन्हे प्रदेश व देश स्तर पर सम्मानित कराने का प्रयास किया जायेगा, साथ ही कम मतदान कराने वालो को भी चिन्हित किया जायेगा।
एस0एस0पी0डा0मनोज कुमार ने कहा कि मैं नौकरी मंे आने से पहले चिकित्सक था। मैं आशाओ के महत्व से भली-भांति परिचित हूं कि कितनी जिम्मेदारी से कार्य करती है। मै अपने परिवार के साथ-साथ लोगो को बच्चो, महिलाओ को स्वस्थ रखने में महत्वूपर्ण भूमिका होती है और आपकी पहुंच घर-घर तक होती है। इसीलिये आप मतदान का प्रतिशत बढाने में व सहारनपुर को देश प्रदेश में प्रथम स्थान पर लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है। आप जाति धर्म, सम्प्रदाय की भावना से ऊपर उठकर अच्छे प्रत्याशियो को वोट देकर मजूबत लोकतन्त्र बनाये।
मुख्य विकास अधिकारी मोनिका रानी ने कहा कि आप सब हमारे बुलावे पर आई है आपका स्वागत अभिनन्दन है। आप घर-घर जाकर मतदान करने का दिया जलाये और स्वच्छ मतदान कराये। इस अवसर पर मतदाताओ द्वारा शपथ ली गई कि‘‘हम, भारत के नागरिक, लोकतन्त्र में अपनी पूर्ण आस्था रखते हुए यह शपथ लेते है कि हम अपने देश की लोकतान्त्रिक परम्पराओ की मर्यादा को बनाएं रखेगे तथा स्वतन्त्र, निष्पक्ष एवं शान्तिपूर्ण निर्वाचन की गरिमा को अक्षुण्ण रखते हुए, निर्भीक होकर, धर्म, जाति, समुदाय, भाषा अथवा अन्य किसी प्रलोभन से प्रभावित हुए बिना सभी निर्वाचनो में अपने मताधिकार का प्रयोग करेगे’’ की शपथ दिलाई गई।
कार्यक्रम को नगर आयुक्त नीरज शुक्ला, डी0पी0आर0ओ0 अमरजीत सिंह, प्रभारी सी0डी0पी0ओ0आशा त्रिपाठी ने भी सम्बोधित किया। कार्यक्रम के उपरान्त जिला निर्वाचन अधिकारी संध्या तिवारी व एस0एस0पी0डा0 मनोज कुमार ने गांधी पार्क में राहुल गांधी की होने वाली सभा स्थल का दौरा कर जायजा लिया तथा मौके पर उपस्थित अधिकारियो को व्यवस्था हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिये।
जिला मजिस्ट्रेट/जिला निर्वाचन अधिकारी संध्या तिवारी ने निर्देश दिये कि लोक सभा सामान्य निर्वाचन-2014 को विधिवत, व्यवस्थित, स्वतन्त्र, निष्पक्ष एवं शान्तिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराये जाने हेतु राजनैतिक दलो एवं अभ्यार्थियो द्वारा आयोजित सभाओ व जलूसो आदि की वीडियोग्राफी करने हेतु इमरान मसूद इण्डियन नेशनल कांग्रेस के साथ वीडियाग्राफर विनीत कुमार शर्मा मो0 न0 9058184940, जगदीश सिंह राणा बहुजन समाज पार्टी के साथ वीडियाग्राफर नीरज सैनी मो0 न0 8273744769, राघव लखन पाल भारतीय जनता पार्टी के साथ वीडियाग्राफर प्रदीप कुमार चैधरी मो0 न0 9458509600 तथा शाजान मसूद उर्फ शादान मसूद समाजवादी पार्टी के साथ वीडियाग्राफर सतीश कुमार मो0 न0 9045401172 को लगाया गया है।
तिवारी ने निर्देश दिये कि उक्त समस्त फोटोग्राफर संबंधित सहायक रिटर्निंग आफिसर से उक्त दलो के अभ्यार्थियो की आयोजित सभाओ व जलूसो आदि की सूचना प्राप्त कर मतदान समाप्ति तक वीडियोग्राफी करना सुनिश्चित करेगे तथा तैनात वीडियाग्राफर प्रत्येक दिवस के कार्यक्रम एवं सभाओ की वीडियाग्राफी की सी0डी0 प्रत्येक दिन सायं को जिला मनोरंजन कर अधिकारी/सहायक मनोरंजन कर आयुक्त सहारनपुर के संरक्षण में वीडियो अवलोकन प्रकोष्ठ में जमा करायेगे। सहायक आयुक्त मनोरंजन कर सी0डी0 को देखेगे तथा कोई अप्रिय घटना हो तो उसके संबंध में अपर जिला मजिस्ट्रेट-प्रशासन/उप जिला निर्वाचन अधिकारी सहारनपुर को अवगत करायेगे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

आज भी साढे सत्तार्इस प्रतिशत महिलायें घरेलू हिंसा का शिकार

Posted on 21 March 2014 by admin

अल्लामा इक़बाल वैलफेयर एण्ड एजूकेशनल सोसायटी बेहट सहारनपुर द्वारा भारत सरकार के अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय द्वारा स्वीकृत नर्इ रौशनी योजना के अन्तर्गत हबीबगढ सहारनपुर में चल रहे छ: दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम लीडरशिप ट्रेनिंग फार माइनारिटी वूमेन के अवसर पर महिलाओं को अपने ऊपर सदियों से हो रहे अत्याचारों से बचाने हेतु प्रशिक्षिकाओं ने जागरूक करने हेतु प्रशिक्षार्थियों के समक्ष अपने अपने विचार व्यक्त किये। इस अवसर पर प्रशिक्षिका श्रीमति नसरीन ने कहा कि बडे खेद का विषय है कि इस आधुनिक भारत में आज भी साढे सत्तार्इस प्रतिशत महिलायें घरेलू हिंसा का शिकार हैं। श्रीमति नसरीन ने कहा कि आज भी दहेज प्रथा, बाल विवाह, यौन शोषण, सूनी गोद, कन्या भ्रूण हत्या तथा विधवा शोषण आदि जैसी कुप्रथाएं हमारे समाज को जकडे हुए हैं। श्रीमति नसरीन ने कहा कि आज भी समाज में विधवाओं को उचित सम्मान प्राप्त नही है, उसे पति की यादों के सहारे जीवन गुजारने पर मजबूर किया जाता है। परिवार के लोग सर्वप्रथम तो विधवा को अपने साथ रखना ही नही चाहते यदि वें साथ रहती भी हैं तो उसे घर के शुभ कार्यों से दूर रखा जाता है तथा उसे इस बात के लिये सख्त निर्देश दिये जाते हैं कि वें किसी शुभ काम में हाथ न डाले, किसी से हंसकर बात न करें तथा दूसरे विवाह के विषय में कदापि न सोचें। श्रीमति नसरीन ने कहा कि विधवाओं पर उक्त प्रतिबन्ध अमानवीय है जब भारत सरकार ने सभी महिलाओं को बराबर का सम्मान और बराबर के अधिकार दिये हैं, तब आज के युग में इस प्रकार की कुप्रथा के क्या मायने हैं। श्रीमति नसरीन ने कहा कि हमारी महिलाओं को अपने अधिकारों के प्रति जागरूक होना पडेगा तथा संविधान द्वारा दिये गये अधिकारों को पहचान कर हमारी महिलाओं को इन समस्याओं से ऊपर उठना होगा तथा इन कुप्रथाओं को दूर करने एवं कराने हेतु कानून का भी सहारा लेना पडेगा। श्रीमति नसरीन ने प्रशिक्षण प्राप्त करने वाली सैंकडों महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति तथा संविधान मेंं प्राप्त अधिकारों के प्रति उन्हे सचेत करते हुए कहा कि हम सबको अपने भविष्य के लिये मिलजुलकर हिम्मत जुटानी पडेगी तथा इन कुप्रथाओं का समापन करना हम सबका कर्तव्य होगा। इधर गत 6 दिन से हयात कालोनी में चल रहे प्रशिक्षण शिविर को सम्बोधित करते हुए बेसिक शिक्षा विभाग की बीआरसी श्रीमति बाला देवी ने कहा कि महिलाओं को शिक्षा के प्रति जागरूक होना पडेगा। श्रीमति बाला देवी ने कहा कि अनपढ महिलाएं अपने परिवार के लिये अंधकार की मानिन्द हैं। जबकि पढी लिखी महिलाएं अपने परिवार को प्रकाश उपलब्ध कराती हैं। तथा आसपास के क्षेत्र को पढी लिखी महिलाएं अपनी योग्यता एवं गुणों से प्रकाशमय बना देती हैं। श्रीमति बाला देवी ने कहा कि अगर घर की महिला शिक्षित है तो वह अपने बच्चों को अवश्य शिक्षित करेगी तथा शिक्षा के कारण ही उसका परिवार सही मार्ग पर चलेगा और शिक्षित महिला का परिवार ही विकास की ओर कामजन रहते हुए अन्य महिलाओं को भी शिक्षित करने का अहम काम अन्जाम देगा। श्रीमति बाला देवी ने लाभार्थियों को सरकार द्वारा महिला शिक्षा हेतु चलार्इ जा रही समस्त योजनाओं की जानकारी दी तथा साक्षर भारत मिशन एवं सर्वशिक्षा अभियान के विषय में भी उन्होने सभी महिलाओं को विस्तार से बताया। इस अवसर पर प्रशिक्षिका श्रीमति उज़मा फरहत, कुमारी तबस्सुम, कु. नज़राना, कु. नेहा सैनी, श्रीमति सुशीला देवी तथा श्रीमति रेखा काशियान ने उक्त विषय पर अपने अपने विचार व्यक्त करते हुए उपसिथत महिलाओं को कुप्रथाओं की बुरे प्रभाव से अवगत कराते हुए आज के समय में महिलाओं को जागरूक किया तथा उन्हे विकास हेतु सही दिशा पर चलने का आहवान किया।
इस शानदार कार्यक्रम का संचालन श्रीमति रिहाना हुसैन द्वारा किया गया। उल्लेखनीय है कि गत छ: दिवस से जनपद के बहुत से स्थानों पर जारी इस प्रशिक्षण शिविर में प्रशिक्षिकाओं ने अभी तक हजारों महिलाओं को विकास, सुधार, तथा शिक्षा के बाबत जागरूक करने के टिप्स प्रदान किये।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

May 2017
M T W T F S S
« Apr    
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293031  
-->






 Type in