*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | वाराणसी

नवजात शिशु, बच्चों एवं प्रसूता माताओं के मृत्यु की घटना में हर स्तर पर प्रतिबद्ध होने की आवश्यकता है, इसके लिए शून्य सहिष्णुता (Zero Tolerance) अभियान की बहुत ही सम्वेदनशील तरीके से चलाए जाने की आवश्यकता है

Posted on 26 September 2017 by admin

स्थाई सहस्त्राब्दी विकास लक्ष्य के प्रति जमीनी स्तर प्रयास संतोषजनक नही हैं जब तक माँ और बच्चों के मृत्यु के चिकित्सीय कारणों के साथ ही सामाजिक आर्थिक कारणों का विश्लेष्ण नही किया जाएगा तब तक माताओं और बच्चों की मृत्यु के प्रतिशत को कम नही किया जा सकेगा |

image2वाराणसी, मानवाधिकार जननिगरानी समिति/जनमित्र न्यास और वायस ऑफ़ पीपुल के संयुक्त तत्वाधान में आज 26 सितम्बर 2017 को कामेश हट होटल में स्वास्थ्य एवं पोषण सेवा प्रदान करने वाली सरकारी विभाग के साथ इंटरफेस का आयोजन किया गया | इस इंटरफेस में स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त निदेशक डा0 अंशु सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 बी. बी. सिंह, प्रमुख अधीक्षिका महिला चिकित्सालय डा0 शैला त्रिपाठी, सीडीपीओ सुश्री नीलम मेहता, श्रम परिवर्तन अधिकारी श्री राम अवतार, पीवीसीएचआर के संस्थापक सदस्य प0 विकास महाराज और संस्था के सीईओ डा0 लेनिन रघुवंशी उपस्थित रहे | इस इंटरफेस का उद्देश्य नवजात शिशु, बाल व् मातृ स्वास्थ्य एवं पोषण के निमित्त संचालित कार्यक्रमों एवं योजनाओं के सर्वोत्तम प्रयासों बेहतर परिणामों को साझा किए जाने के साथ शिशु, बाल एवं मातृ मृत्यु दर को नियंत्रित करने में आने वाले चुनौतियों पर व्यवहारिक पक्ष पर दृष्टिकोण विकसित करना रहा | जिससे लक्ष्य प्राप्ति की बाधाओं एवं चुनौतियों के सन्दर्भ में प्रभावी उपाय करके हितकारकों को सेवाओं से संतृप्त किया जा सकें एवं मानव विकास सूचकांकों को बेहतर बनाया जाए |

जनमित्र न्यास/मानवाधिकार जननिगरानी समिति लक्षित परियोजना क्षेत्र में पिछले आठ महीने में कुल 1936 परिवारों के बीच 298 गर्भवती महिलाओं एवं 0 से 1 वर्ष के कुल 190 बच्चे (F 99 M 91 ) हैं, 1 से 5 वर्ष की उम्र के कुल 916 बच्चे ( F420 M 496 ) कुल 1106 बच्चे बीच लगातार स्वास्थ्य एवं पोषण की निगरानी एवं उनके लिए संचालित योजनाओं से जोड़ने का प्रयास किया है | इस सिमित परिवारों के बीच जंहा इन आठ महीनों के दौरान ही 7 शिशु मृत्यु 7 बाल मृत्यु, 2 मातृ मृत्यु एवं 5 स्टील डेथ दर्ज किया गया जिनके सामाजिक अंकेक्षण में बिभाग की भारी कमियों की ओर ध्यान दिला रहे हैं | वंही दूसरी तरफ यह तथ्य प्रकाश में आया कि, बडागांव अंतर्गत अनेई ग्राम की ANM वन्दना देवी अपने लक्षित जनसंख्या पर 2 स्थानों पर 2 दिन माइक्रोप्लान पर बैठती है, विदित हो कि इससे अन्य जातियों सहित मुसहर समुदाय का टीकाकरण सुनिश्चित होने लगा है |

किन्तु फिर भी लक्षित समुदाय में जारी शिशुमृत्यु, बालमृत्यु, स्टील डेथ, मातृमृत्यु कि चुनौती जो सामने उभरकर आ रहे हैं | यथा पिछले आठ वर्षो से लागू जननी सुरक्षा योजना (JSY) एवं लगभग 4-5 वर्षो से संचालित एम्बुलेंस सेवा के बाद आज भी घरेलू प्रसव जारी है | स्वास्थ्य एवं पोषण देखभाल कार्यक्रमों के बावजूद कम वजन के शिशुओं का जन्म, निमोनिया की शिकायत पर झोलाछाप डाक्टर से ईलाज के अभाव में मृत्यु, कुपोषण जनित बीमारियों के कारण मृत्यु, बीमार होने पर ईलाज मिलने में देरी, ईलाज के लिए स्वास्थ्य केंद्र पहुंचने और स्वास्थ्य केन्द्रों में चिकित्सा शुरू होने में देरी कारणों से मृत्यु अनवरत जारी है |

नवजात शिशुओ एवं बच्चो के मृत्यु से बचाव के लिए समाधान की दिशा में प्रतिबद्ध रूप मुददे पर जानकारी की उपलब्धता, अवैज्ञानिक व् अस्वच्छ व्यवहारों में बदलाव एवं बचाव के अभ्यासों को प्रोत्साहन दिए बिना सम्भव नही है | स्थाई विकास लक्ष्य को प्राप्त करना भी तब ही सम्भव है जब तक मृत्यु के कारणों का विश्लेष्ण करते हुए उन कारणों एवं सम्भावनाओं को कम से कम ना करें | मृत्यु का निष्पक्ष आडिट करते हुए समाधान की दिशा में छोटे छोटे किन्तु बदलाव के महत्वपूर्ण प्रयास सतत करने होंगे |

संस्था द्वारा किए गए सोशल आडिट में यह स्पष्ट रूप से परिलक्षित हुआ कि आज भी सरकार द्वारा संचालित सेवाओं की जानकारी सेवा प्रदाता कर्मचारी नजदीक होने के बाद भी नही है | जानकारी के अभाव में परम्परागत व्यवहार अभ्यास में लाए जा रहे हैं | सेवा प्रदाता संस्थाओं के प्राथमिक सूत्र यथा – आशा कार्यकर्ती, आंगनबाड़ी कार्यकर्ती अपने काम में लापरवाही बरत रही हैं | शिकायत किए जाने पर विभागीय पक्षधरता के कारण घटना की जबावदेही हितभागियों यानि समुदाय के ऊपर ही थोपकर मामले से हाथ खड़ा कर दिया जा रहा है | अत: इन मुद्दों पर आयोजित चर्चा परिचर्चा से सकारात्मक परिणाम के उद्देश्य से स्वास्थ्य विभाग, बाल एवं पुष्टाहार विभाग से सम्बन्धित जिले के वरिष्ठ आधिकारीयों को निमंत्रित किया गया था | चर्चा में 7 शिशुमृत्यु , 7 बाल मृत्यु एवं 2 मातृमृत्यु के आडिट रिपोर्ट एवं आंगनवाडी में संसाधनो की कमी के अध्ययन रिपोर्ट सहित बच्चों में कुपोषण के कारणों का विश्लेषणात्मक रिपोर्ट साझा किया गया | चर्चा में मुख्य सूत्रधार के रूप में समिति के निदेशक लेनिन रघुवंशी ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाया | ग्रामीण अंचल पिंडरा, रमईपुर, मीराशाह, मारुकडीह, अनेई, लखापुर, आयर, पुआरीखुर्द, पुआरीकला संजोई, परमंदापुर से महिलाएं एवं स्वास्थ्य एवं पोषण अधिकारों के पैरोकार कार्यकर्ता मंगला प्रसाद, आनन्द निषाद, प्रतिमा पाण्डेय, सुभाष प्रसाद, ब्रिजेश पाण्डेय, सोमारू पटेल सहित संस्था के वरिष्ठ सदस्य शामिल रहे |

Comments (0)

वाराणसी जनपद में पिछडा वर्ग प्रतिभा सम्मान समारोह सम्पन्न हुआ

Posted on 20 September 2017 by admin

लखनऊ 19 सितम्बर 2017, प्रदेश में पं0 दीनदयाल उपाध्याय जन्मशताब्दी जन्मशताब्दी वर्ष के अन्तर्गत पिछडा वर्ग प्रतिभा सम्मान समारोह में वाराणसी जनपद मेें आयोजित कार्यक्रम में प्रदेश उपाध्यक्ष बाबू राम निषाद एवं प्रदेश मंत्री कौशलेन्द्र सिंह मुख्य रूप से उपस्थित रहे।

——————
कल 20 सितम्बर को  में पिछड़ा वर्ग प्रतिभा सम्मान समारोह

लखनऊ 19 सितम्बर 2017, भारतीय जनता पार्टी पिछ़डा वर्ग द्वारा पं0 दीनदयाल जन्मशताब्दी वर्ष पर पूरे प्रदेश में पिछडे वर्ग के प्रतिभाशाली छात्रों को सम्मानित करने आयोजित होने वाली प्रतिभा सम्मान समारोह कार्यक्रम कल 20 सितम्बर को प्रदेश के 1 जनपद में आयोजित होगा।
कार्यक्रम के इसी क्रम में कल 20 सितम्बर को कानपुर उत्तर में जिले में आयोजित पिछडा वर्ग प्रतिभा सम्मान समारोह में कैबिनेट मंत्री दारा सिंह चैहान  एवं प्रदेश मंत्री अमर पाल मौर्य बतौर वक्ता एवं मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहेगें।

Comments (0)

मुख्यमंत्री ने वाराणसी में प्रधानमंत्री जी के जन्म दिवस के अवसर पर आयोजित सफाई मित्रों के सम्मान समारोह में स्वच्छता मित्रों को सम्बोधित किया

Posted on 17 September 2017 by admin

press-01-3स्वच्छता आन्दोलन की शुरुआत प्रधानमंत्री जी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से आरम्भ हो,
तो इसका संदेश पूरी दुनिया में जाएगा: मुख्यमंत्री

स्वच्छता कार्यक्रम प्रधानमंत्री जी की
प्राथमिकता के प्रमुख कार्यक्रमों में से एक

स्वच्छता को सेवा से जोड़ने कार्य अद्भुत है

स्वच्छता मित्रों को मुख्यमंत्री ने किया सम्मानित

मुख्यमंत्री ने 50 मोटर साइकिल पुलिस जवानों के
दस्ते को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया

मुख्यमंत्री ने वाराणसी के विकास कार्यों की प्रगति की समीक्षा की

लोक निर्माण विभाग, नगर निगम एवं वी0डी0ए0 सहित एन0एच0 के अधिकारियों
को सड़कों को अभियान चलाकर गड्ढामुक्त किए जाने के निर्देश

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि स्वच्छता कार्यक्रम एक आन्दोलन बने और इसकी शुरुआत प्रधानमंत्री जी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से आरम्भ हो, तो इसका संदेश पूरी दुनिया में जाएगा। उन्होंने कहा कि स्वच्छता प्रधानमंत्री जी की प्राथमिकता के प्रमुख कार्यक्रमों में से एक है। उन्होंने काशी को स्वच्छता कार्यक्रम के नेतृत्व किए जाने की इच्छा व्यक्त करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने शपथ ग्रहण करने के साथ ही कहा था कि उनकी सरकार देश के गांव, गरीब, मजदूर, सफाईकर्मी सहित समाज के अन्तिम व्यक्ति पंक्ति में बैठे विकास से वंचित मजलूमों की है। जब प्रधानमंत्री जी ने देश की बागडोर संभाली उससे पहले का दौर राजनैतिक नेतृत्व की अस्थिरता का रहा। देश एवं प्रदेश में जो भी विकास योजनाएं बनाई गईं, उनमें गरीबों को ध्यान में नहीं रखा जाता रहा। ये योजनाएं वोट बैंक के दृष्टिगत बनाई जाती रहीं। press-01-9
मुख्यमंत्री जी आज वाराणसी के चैकाघाट स्थित सांस्कृतिक संकुल सभागार में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के जन्म दिवस के अवसर पर आयोजित सफाई मित्रों के सम्मान समारोह में स्वच्छता मित्रों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि स्वच्छता को सेवा से जोड़ने का जो कार्य शुरू किया गया है, वह अद्भुत है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी की जन-धन योजना के तहत 30 करोड़ गरीबों का बैंक खाता खोला गया। इसके माध्यम से वे गरीब लोग जो बैंकों में जाने की भी नहीं सोचते थे, वे आज बैंकांे से लेन-देन करते हैं।
योगी जी ने ‘आम के आम और गुठलियों के भी दाम’ मुहावरे का उदाहरण देते हुए कहा कि गरीब जो बैंकों में पैसे के अभाव में अपना खाता नहीं खोल पाते थे, उनका प्रधानमंत्री जी ने निःशुल्क बैंक खाता खुलवाया। साथ ही, किसी भी गरीब की अपरिहार्य स्थिति में मृत्यु हो जाने पर उसके बैंक खाते पर दो लाख रुपए तक का बीमा तथा धनराशि न होने पर भी बैंक खाते के आधार पर 5 हजार रुपए तक की धनराशि अपने बैंक खाते से निकालने की व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि कोई भी गरीब व्यक्ति भूखा न रहने पाए, यह सुनिश्चित कराए जाने हेतु हर गरीब व्यक्ति का राशन कार्ड बनवाया जा रहा है। राशन कार्ड को आधार कार्ड से जोड़कर यह भी सुनिश्चित कराया जा रहा है कि कोई भी गरीब परिवार राशन कार्ड पाने से वंचित न रहने पाए। हर गरीब एवं पात्र व्यक्ति को सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान ने अनाज प्राप्त हो, हर गरीब व्यक्ति के पास शौचालय हो, यह अभियान चलाया जा रहा है। press-01-5
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि दिसम्बर, 2017 तक प्रधानमंत्री जी के संसदीय क्षेत्र जनपद वाराणसी को पूरी तरह खुले में शौचमुक्त करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। उन्होंने बताया कि कोई भी गरीब व्यक्ति को अपने मकान की छत मुहैया कराने के लिए प्रधानमंत्री गरीब आवास योजना (शहरी एवं ग्रामीण) संचालित की गई है। वाराणसी में जिन गरीब लोगों के पास अपनी छत नहीं है, प्रधानमंत्री जी अपने आगामी वाराणसी दौरे के दौरान उन 15 हजार गरीब पात्र परिवारों को आवासों का प्रमाण पत्र मुहैया कराएंगे। उन्होंने कहा कि सांस्कृतिक, पौराणिक एवं ऐतिहासिक दृष्टि से पूरी दुनिया में काशी की अपनी एक अलग पहचान है। लेकिन प्रधानमंत्री जी का संसदीय क्षेत्र होने के कारण यह और भी प्रमुख हो गया है। उन्होंने कहा कि काशी को पुनः स्थापित करना है।
योगी जी ने इस अवसर पर सैकड़ों स्वच्छता मित्रों को सम्मानित भी किया। इससे पूर्व, उन्होंने सफाई मित्रों के सम्मान समारोह का दीप प्रज्ज्वलित कर उद्घाटन किया। उन्होंने पुलिस जवानों के 50 मोटर साइकिल दस्ते को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया और कानून व्यवस्था को सुदृढ़ करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अपराधियों पर कानून का शिकंजा कसने में यह मोटर साइकिल दस्ता प्रभावी होगा। अपराधियों में कानून का डर अब दिखने लगा है। किन्तु अभी इसमें सुधार होने की आवश्यकता है, ताकि आम जनमानस राहत की सांस ले पाए। इससे पूर्व, मुख्यमंत्री जी ने सेण्ट्रल कोल फील्ड्स लिमिटेड के ‘लक्ष वृक्षारोपण अभियान’ के तहत पौधरोपण किया।
मुख्यमंत्री जी ने इस अवसर पर मण्डलीय आॅडीटोरियम में विकास कार्यों की प्रगति की समीक्षा भी की। उन्होंने श्री काशी विश्वनाथ ट्रस्ट द्वारा 13 करोड़ रुपए की लागत से बनवाए जा रहे अन्न क्षेत्र के निर्माण कार्य को तय समय-सीमा में चालू कराए जाने पर जोर देते हुए कहा कि इस अन्न क्षेत्र में जहां गरीबों को निःशुल्क भोजन मुहैया कराया जाएगा, वहीं आम जनमानस भी काफी कम मूल्य पर भोजन कर सकेगा। उन्होंने अन्न क्षेत्र में भी स्वच्छ एवं आधुनिक रसोई की व्यवस्था कराए जाने पर जोर दिया।
योगी जी ने लोक निर्माण विभाग, नगर निगम एवं वी0डी0ए0 सहित एन0एच0 के अधिकारियों को सड़कों को अभियान चलाकर गड्ढामुक्त किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने 21 सितम्बर तक शहर की प्रमुख सड़कों को पूरी दुरुस्त कराए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने शत-प्रतिशत एल0ई0डी0 स्ट्रीट लाइट लगाए जाने के भी निर्देश दिए। मुख्यमंत्री जी ने ऊर्जा संचयन पर कहा कि यह सुनिश्चित कराया जाए कि दिन के उजाले में कोई स्ट्रीट लाइट न जलने पाए।
एयरपोर्ट से सर्किट हाउस आते वक्त मुख्यमंत्री जी की नजर सड़क के दोनों किनारों पर पड़े कूड़े की ढ़ेर पर पड़ी। उन्होंने इसका जिक्र बैठक में करते हुए अधिकारियों को सड़क के किनारे पड़ी पाॅलीथिन एवं कूड़े की सफाई कराने के निर्देश दिए। उन्होंने वाराणसी क्षेत्र की 17 परियोजनाओं की चर्चा करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री जी द्वारा इन परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास अपने 22 व 23 सितम्बर को वाराणसी दौरे के दौरान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से अब काशी बदल रही है। उन्होंने प्रधानमंत्री गरीब आवास योजना के चयनित लाभार्थियों का पुनः सत्यापन कराए जाने हेतु जिलाधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि कोई पात्र गरीब व्यक्ति आवास से वंचित न रहने पाए।
पेयजलापूर्ति की समीक्षा के दौरान योगी जी ने युद्वस्तर पर अभियान चलाकर शत-प्रतिशत पेयजल परियोजनाओं को जनोपयोगी बनाने हेतु जल निगम एवं जलकल के अधिकारियों को हिदायत देते हुए कहा कि पेयजल परियोजनाओं में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने दूषित पेयजलापूर्ति हर हालत में रोके जाने पर जोर दिया।
मुख्यमंत्री जी ने 22 व 23 सितम्बर को प्रधानमंत्री जी के वाराणसी आगमन अवसर पर अराजीलाइन विकास खण्ड के शहंशाहपुर में लगने वाले पशु आरोग्य मेले में पशुओं को पानी, सूखा एवं हरा चारा आदि की व्यवस्था सहित पशुधन के उपचार एवं स्वास्थ्य परीक्षण आदि का समुचित इन्तजाम सुनिश्चित कराए जाने के निर्देश दिए। इस पशु आरोग्य मेले में 1000 पशुधन शामिल होंगे। मुख्यमंत्री जी द्वारा गंगातीरे नस्ल की गायें विकसित करने वालों को भी मेले में सम्मानित किया जाएगा। इस दौरान मुख्यमंत्री जी ने प्रधानमंत्री जी के वाराणसी दौरे के दौरान सुरक्षा के चाक-चैबन्द एवं मुकम्मल इन्तजाम सुनिश्चित कराए जाने के भी निर्देश दिए।
इस अवसर पर होमगाड्र्स राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री अनिल राजभर, सूचना राज्यमंत्री डाॅ0 नीलकंठ तिवारी, अन्य जनप्रतिनिधिगण, प्रमुख सचिव सूचना एवं पर्यटन श्री अवनीश कुमार अवस्थी, प्रमुख सचिव पशुधन सहित शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

Comments (0)

महेन्द्र नाथ के प्रथम आगमन पर बम बम बोला काशी

Posted on 07 September 2017 by admin

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डाॅ0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय आज बनारस के दौरे पर थे। अध्यक्ष पद संभालने के बाद यह उनका पहला प्रवास है। इस अवसर पर उन्होने कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि वरिष्ठों के सम्मान व नौजवानों के योगदान से पार्टी को और नई उंचाईयों पर ले जाना है। भाजपा के कार्यकर्ता समाज के प्रति अपने कर्तव्यों का निर्वाह करते है। श्री पाण्डेय ने कहा जिस प्रकार देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी देश के गौरव को बढ़ाने के लिए दिन रात जुटे हुए हैं। उसी प्रकार हम सभी को राष्ट्र के निर्माण में भरपूर योगदान देना चाहिए। kashi-photo-_dr-mn-panday_4
प्रदेश अध्यक्ष श्री पाण्डेय ने मा0 प्रधानमंत्री तथा राष्ट्रीय अध्यक्ष के प्रति हृदय से आभार व्यक्ति किया। की मुझ जैसे कार्यकर्ता पर उ0प्र0 जैसे बड़े प्रदेश की जिम्मेदारी सौंपी है। उन्होंने कहा कि पार्टी के अनेक कार्यकर्ताओं ने प्राण पर्ण से पार्टी संगठन को विस्तार देने के लिए कार्य किया है। आज उसका प्रतिफल है कि भाजपा दुनिया की सबसे बडी पार्टी है। और प्रदेश में पंचड बहुमत से सरकार बनाने के साथ-साथ देश के 70 प्रतिशत हिस्से पर भारतीय जनता पार्टी की सरकार है।
प्रदेश अध्यक्ष श्री पाण्डेय ने कहा कि भाजपा जिन्दा दिल कार्यकर्ताओं की पार्टी है जो अपनी कत्र्तव्य निष्ठा के प्रति सचेष्ठ होकर सरकार बनने के बाद भी निरंतर समाज में काम कर रही है। आज हमारे आपके ऊपर जो जिम्मेदारी है वह लोक कल्याण के कार्यो को जन-जन तक पहुंचाने की है। संविधान मर्यादा देता है और सरकार लोक कल्याणकारी राजकीय स्थापना के लिए बनती है।
भारतीय जनता पार्टी के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर महेंद्र नाथ पांडे आज अपनी कर्मभूमि वाराणसी मे प्रदेश की कमान सम्भालने के बाद पहली बार पहुंचे इस अवसर पर भाजपा के हजारों कार्यकर्ताओं ने डॉक्टर पांडे का माल्यार्पण कर गगनभेदी नारों के साथ भव्य स्वागत किया। आज जैसे ही बाबतपुर एयरपोर्ट पर डॉक्टर पांडे पहुंचे तो kashi-photo-_dr-mn-panday_3माला पहनाने वाले कार्यकर्ताओं मै होड मच गई कार्यकर्ताओं के उत्साह का यह आलम रहा कि कि डॉक्टर पांडे को एयरपोर्ट परिसर से निकलने मै डेढ़ घंटे से भी ज्यादा का समय लग गया लेकिन माल्यार्पण करनेवाले कार्यकर्ता की लाइन कम होने का नाम नहीं ले रही थी।कार्यकर्ताओं के जोश से गदगद प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर पांडे अभिभूत हो गएै
इस अवसर पर भाजपा काशी क्षेत्र के अध्यक्ष लक्ष्मण आचार्य,राज्य मंत्री नीलकंठ तिवारी, मिर्जापुर विधायक रत्नाकर मिश्रा, केदारनाथ सिंह, सुशील सिंह, सुरेंद्र नारायण सिंह, साधना सिंह, डॉक्टर राकेश त्रिवेदी, शंकर गिरी, महेश चंद्र श्रीवास्तव, कौशलेंद्र सिंह, अशोक चैरसिया, नागेंद्र रघुवंशी, धर्मेन्द्र सिंह, आशीष बघेल, विधयासागर राय, राजकिशोर सिंह, हंसराज विश्वकर्मा, प्रदीप अग्रहरी, नवीन कपूर, काशी नाथ अकेला, निर्मिला सिंह पटेल, डॉक्टर वीणा पांडे, अशोक तिवारी, चंद्रशेखर उपाध्याय, संजय कपूर, प्रभात सिंह, करूणेश शर्मा, अशोक मिश्रा, जगदीश तिवारी, उमेश दत्त पाठक, पवन चैबे, अमित पांडे,एंव क्षेत्रीय मीडिया प्रभारी संजय भारद्वाज, विधायक अवधेश सिह, चंद्रिका मंडी मे विधायक कैलाश सोनकर, जे.के इंटरनेशनल पर अशोक मिश्रा, रमेश मिश्रा, आर. टी. ओ आफिस पर गौतम सिंह, अशोक सिंह, संजय मौटल्स पर राजेंद्र सिंह, आजाद गौतम, सातो महुआ हनुमान मंदिर पर जयनाथ मिश्रा, विनोद पांडे, गजेंद्र सिंह, अशोक सेठ, रामदेव वर्मा, लक्ष्मी हास्पिटल पर डाक्टर अशोक राय, सराँयकाजी मै रिंकू तिवारी, मुकेश सिंह, हरहुआ हनुमान मंदिर पर अवधेश पांडे, कौशलेंद्र सिंह, कोईराजपुर मै कैलाश अकेला, जयप्रकाश पांडे, वनवासी कल्याण आश्रम पर जयनाथ मिश्रा, दिनेश मौर्या, तरना पर रमेश सिंह, सुनील सिंह, मीना तिवारी, पंकज त्रिपाठी, चन्द्रशेखर सिंह, उमेश दत्त पाठक, अखण्ड सिंह, रामप्रकाश दुबे, ज्ञानेन्द्र सिंह, भोला उपाध्याय, इन्द्रजीत सिंह, अमृत सिंह, जय प्रकाश पाण्डेय, रन विजय सिंह एवं बृजेश पांडे ने स्वागत किया।

Comments (0)

मुख्यमंत्री ने जनपद वाराणसी के गोइठहां सीवरेज ट्रीटमेण्ट प्लाण्ट का निरीक्षण किया

Posted on 28 August 2017 by admin

गोइठहां सीवरेज ट्रीटमेण्ट प्लाण्ट का निर्माण कार्य
दिसम्बर तक पूरा कराएं: मुख्यमंत्री

एस0टी0पी0 का निर्माण हो जाने के बाद वाराणसी शहर
में सीवरेज की समस्या का समाधान हो जाएगा

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज जनपद वाराणसी के गोइठहां स्थित 120 एम0एल0डी0 के निर्माणाधीन सीवरेज ट्रीटमेण्ट प्लाण्ट का निरीक्षण किया। मौके पर 64 फीसदी कार्य पूर्ण होने की जानकारी पर उन्होंने अभियान चलाकर 31 दिसम्बर, 2017 तक प्रत्येक दशा में सीवरेज ट्रीटमेण्ट प्लाण्ट का कार्य पूर्ण कराए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि एस0टी0पी0 का निर्माण हो जाने के बाद वाराणसी शहर में सीवरेज की समस्या का समाधान हो जाएगा।
चिकित्सालय निरीक्षण के दौरान प्रदेश के विधि, न्याय, सूचना, खेल एवं युवा कल्याण राज्यमंत्री डाॅ0 नीलकंठ तिवारी सहित जनप्रतिनिधिगण तथा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

Comments (0)

मुख्यमंत्री ने जनपद वाराणसी के कैण्ट थाने का औचक निरीक्षण किया

Posted on 28 August 2017 by admin

थानों में आने वाले छोटे से छोटे मामलों का
त्वरित संज्ञान लेकर प्रभावी कार्यवाही किए जाने के निर्देश

press-151उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज अपने दो दिवसीय जनपद वाराणसी दौरे के दूसरे दिन कैण्ट थाना का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने अपराध पर प्रभावी नियंत्रण किए जाने पर जोर देते हुए पुलिस अधिकारियों को निर्देशित किया कि थानों पर समाधान दिवस के मौके पर भूमि विवाद के आने वाले मामलों में आवश्यकतानुसार हर हालत में 3 दिन के अन्दर पैमाइश की कार्यवाही की जाए। उन्होंने कहा कि लगभग बड़ी घटनाओं में भूमि विवाद प्रमुख होते हैं। यदि भूमि विवाद के प्रकरणों का त्वरित गति से निस्तारण कराया जाए, तो सम्भावित बड़ी घटनाओं पर प्रभावी रोक लगाई जा सकेगी। उन्होंने थानों में आने वाले छोटे से छोटे मामलों का त्वरित संज्ञान लेकर प्रभावी कार्यवाही किए जाने के निर्देश दिए, ताकि सम्भावित बड़ी घटनाओं पर रोक लग सके। press-141
विभिन्न मामलों में थाना परिसर में बेतरतीब तरीके से रखे बन्द वाहनों पर नजर पड़ते ही मुख्यमंत्री जी ने अधिकारियों की टीम बनाकर वाहनों का निस्तारण किए जाने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान उन्होंने त्योहार रजिस्टर, आगन्तुक रजिस्टर सहित कम्प्यूटराइज्ड एफ0आई0आर0 आदि का अवलोकन किया।
इस अवसर पर प्रदेश के विधि, न्याय, सूचना, खेल एवं युवा कल्याण राज्य मंत्री डाॅ0 नीलकंठ तिवारी, अन्य जनप्रतिनिधिगण, प्रमुख सचिव सूचना एवं पर्यटन श्री अवनीश कुमार अवस्थी सहित शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Comments (0)

मुख्यमंत्री ने पं0 दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय के निरीक्षण के दौरान तीमारदार के बच्चों का स्कूल में दाखिला कराने के निर्देश दिए

Posted on 28 August 2017 by admin

बच्चों को निःशुल्क ड्रेस, जूता और पठन-पाठन
की सामग्री उपलब्ध कराए जाने के भी निर्देश

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय के निरीक्षण के दौरान तीमारदार के साथ अस्पताल आए उसके दो बच्चों 8 वर्षीय पुत्री प्रिया एवं 6 वर्षीय पुत्र शिवा को देखा, तो उनके कदम रुक गए। उन्होंने बच्चों से पूछा कि क्या आप लोग स्कूल जाते हैं ? इस पर उसके पिता ने बताया कि गरीबी और आर्थिक अभाव के कारण बच्चे स्कूल नहीं जा पा रहे हैं।
मुख्यमंत्री जी ने इस बात को सुनकर मौके पर मौजूद जिलाधिकारी को बच्चों का स्कूल में दाखिला कराए जाने के निर्देश दिए। साथ ही, उन्होंने विधायक श्री रवींद्र जायसवाल को बच्चों को निःशुल्क ड्रेस, जूता और पठन-पाठन की सामग्री उपलब्ध कराए जाने के भी निर्देश दिए।
निरीक्षण के दौरान उत्तर प्रदेश के विधि, न्याय, सूचना, खेल एवं युवा कल्याण राज्य मंत्री डाॅ0 नीलकंठ तिवारी, जनप्रतिनिधिगण तथा शासन तथा जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

Comments (0)

मुख्यमंत्री ने वाराणसी के पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय का औचक निरीक्षण किया

Posted on 28 August 2017 by admin

press-131चिकित्सा व्यवस्था में किसी भी स्तर पर
लापरवाही कतई नहीं होनी चाहिए: मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने दवाओं की किसी भी स्तर पर कमी न होने देने की सख्त हिदायत दी

press-10उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने अपने दो दिवसीय जनपद वाराणसी दौरे के दूसरे एवं अन्तिम दिन रविवार को पण्डित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने अस्पताल में भर्ती मरीजों से उनका कुशलक्षेम पूछे जाने के दौरान मौके पर मौजूद मुख्य चिकित्सा अधिकारी एवं चिकित्सा अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए कि चिकित्सा व्यवस्था में किसी भी स्तर पर लापरवाही कतई नहीं होनी चाहिए।press-113
मुख्यमंत्री जी ने अस्पताल में कुल 365 दवाओं के सापेक्ष मात्र 100 से अधिक दवाओं की उपलब्धता होने की जानकारी होने पर उन्होंने अन्य आवश्यक दवाओं का शीघ्र व्यवस्था सुनिश्चित करने के साथ-साथ दवाओं की किसी भी स्तर पर कमी न होने देने की सख्त हिदायत दी। उन्होंने अस्पताल के निशुल्क पैथाॅलॉजी सहित डिजिटल एक्स-रे आदि की भी जानकारी की। उन्होंने वार्डों में भर्ती मरीजों का हालचाल जानने के दौरान चिकित्सकों को नियमित रूप से मरीजों की देखभाल करने के निर्देश दिए। अस्पताल के निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री जी ने चिकित्सकों एवं सर्जनों के उपलब्धता की भी जानकारी की।press-121
मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा बताया गया कि प्रतिदिन 10 से अधिक सर्जरी की जाती है, इस पर मुख्यमंत्री ने संतोष जताया। इस दौरान उन्होंने वार्डों में मरीजों के पास जाकर उनकी समस्याओं एवं अस्पताल द्वारा उपलब्ध कराई जा रही स्वास्थ्य सुविधाओं की भी जानकारी ली।

Comments (0)

मुख्यमंत्री ने जनपद वाराणसी के बड़ालालपुर में निर्माणाधीन प्रायोजित व्यापार सुविधा केन्द्र एवं हस्तकला संग्रहालय का निरीक्षण किया

Posted on 28 August 2017 by admin

व्यापार सुविधा केन्द्र एवं हस्तकला संग्रहालय बुनकरों की आर्थिक स्थिति में सुधार की दिशा में मील का पत्थर साबित होगा: मुख्यमंत्री

305 करोड़ रु0 की लागत से होगा व्यापार
सुविधा केन्द्र एवं हस्तकला संग्रहालय का निर्माणpress-52

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज जनपद वाराणसी के बड़ालालपुर में निर्माणाधीन प्रायोजित व्यापार सुविधा केन्द्र एवं हस्तकला संग्रहालय का निरीक्षण किया। इस दौरान अधिकारियों को काशी के मुख्य उत्पाद सिल्क की वस्तुओं को बढ़ावा दिए जाने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने काशी में इस व्यापार सुविधा केन्द्र एवं हस्तकला संग्रहालय के निर्माण की परिकल्पना इसी उद्देश्य से की थी, ताकि स्थानीय बुनकर आधुनिक तकनीकी का इस्तेमाल कर अपने सिल्क उत्पादों को आज के परिवेश के अनुरूप उत्पादित करें, जिससे बुनकरों को उनके उत्पाद का सही मूल्य प्राप्त हो सके और उनके जीवन स्तर में सुधार हो। उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से यह व्यापार सुविधा केन्द्र एवं हस्तकला संग्रहालय बुनकरों की आर्थिक स्थिति में सुधार की दिशा में मील का पत्थर साबित होगा।press-61
मुख्यमंत्री जी ने वाराणसी के हस्तशिल्पियों के लिए इस केन्द्र को वरदान बताते हुए कहा कि इससे वाराणसी ही नहीं आस-पास क्षेत्र के बुनकर अपने उत्पादों का प्रदर्शन कर सकेंगे तथा उन्हें अपने उत्पादों का सही मूल्य मिलेगा। मुख्यमंत्री जी ने केन्द्र के पूरे परिसर में लगभग 1 घण्टे तक भ्रमण कर इसके अन्तर्गत स्थापित म्यूजियम, क्राफ्ट बाजार एवं प्रवेश प्लाजा के अलावा मुख्य द्वार का निरीक्षण किया। वाराणसी में केन्द्रीय वस्त्र मंत्रालय द्वारा 305 करोड़ रुपए की लागत से 43,445 वर्ग मीटर में व्यापार सुविधा केन्द्र एवं हस्तकला संग्रहालय का निर्माण कराया जा रहा है।
निरीक्षण के दौरान प्रदेश के विधि, न्याय, सूचना, खेल एवं युवा कल्याण राज्यमंत्री डाॅ0 नीलकंठ तिवारी ने निर्माणाधीन व्यापार सुविधा केन्द्र एवं हस्तकला संग्रहालय के सम्बन्ध में मुख्यमंत्री को विस्तार से अवगत कराते हुए बताया कि व्यापार सुविधा केन्द्र एवं हस्तकला संग्रहालय का निर्माण कार्य 27 नवम्बर, 2015 से शुरू किया गया है। इसे सितम्बर, 2017 तक पूरा कराया जाना है। निर्माण कार्य पूरा हो चुका है और फिनिशिंग कार्य भी अन्तिम चरण में है। इस प्रायोजित व्यापार सुविधा केन्द्र एवं हस्तकला संग्रहालय का निर्माण कार्य प्रत्येक दशा में निर्धारित समय सीमा में पूरा करा लिया जाएगा।press-71
डाॅ0 तिवारी ने बताया कि बनारसी सिल्क एवं हथकरघा पूरे विश्व में प्रसिद्व है। इसमें लगभग 20000 हथकरघा के माध्यम से 60,000 हथकरघा बुनकरों की जीविका वाराणसी में जुड़ी हुई है। वाराणसी के हथकरघा एवं सिल्क उत्पाद को विकसित करने एवं बढ़ावा देने के लिए भारत सरकार द्वारा व्यापार सुविधा केन्द्र एवं हस्तकला संग्रहालय वाराणसी में उत्कृष्ट केन्द्र के रूप में निर्मित कराया जा रहा है। जो सम-सामयिक रूप से संस्थाओं द्वारा देश में स्थापित बेन्चमार्क एवं व्यवसायिक केन्द्रों के साथ तुलनीय है। उन्होंने बताया कि इस प्रोजेक्ट द्वारा हथकरघा क्षेत्र को बढ़ावा एवं सम्बल प्रदान करने के उद्देश्य से भारत सरकार द्वारा क्राफ्ट बाजार केन्द्र स्थापित है।
डाॅ0 तिवारी ने बताया कि इसका प्रमुख उद्देश्य है कि प्राचीन नगरी वाराणसी के समृद्ध क्राफ्ट संस्कृति में वृद्वि करना, हथकरघा एवं हस्तशिल्प ब्राण्ड के प्रदर्शन हेतु उचित वातावरण एवं प्लेटफार्म उपलब्ध कराना, व्यापार सुविधा केन्द्र में विदेशी क्रयकर्ताओं को व्यापार हेतु विविध एवं वृहद प्लेटफार्म उपलब्ध कराना तथा घरेलू एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर पर्यटन का विकास किया जाना है।press-9
देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा 22 दिसम्बर, 2016 को अपने वाराणसी दौरे के दौरान इस व्यापार सुविधा केन्द्र के अन्तर्गत स्थापित म्यूजियम, क्राफ्ट बाजार एवं प्रवेश प्लाजा का विधिवत् उद्घाटन किया जा चुका है। व्यापार सुविधा केन्द्र के अन्तर्गत बेसमेण्ट, ग्राउण्ड फ्लोर सहित तीन अतिरिक्त फ्लोर निर्मित किए गए हैं। दो स्तरीय बेसमेण्ट में लगभग 400 चार पहिया वाहन खड़ी करने की सुविधा है। भूतल पर कार्यालय के अतिरिक्त 11 मार्ट, कन्वेंशन सेण्टर, फूड कोर्ट, 14 दुकानें, पूछताछ केन्द्र, प्रवेश प्लाजा, आकर्षक एवं आधुनिक सुविधायुक्त गैलरी एवं लगभग 2000 लोगों की क्षमता का एम्फी थियेटर भी बनाया गया है।
प्रथम तल पर 13 मार्ट, 2 एटीएम, गैलरी, 2 रेस्तरा, 14 दुकानें, लाउंज, सिल्क गैलरी, कापेंट गैलरी तथा इतिहास एवं संगीत गैलरी मुख्य आकर्षण का केन्द्र है। द्वितीय तल पर व्यापार केन्द्र, बैठक कक्ष, व्यापार व सूचना का राष्ट्रीय केन्द्र, 4 दुकानें, 15 डाॅरमेट्री, कार्यालय, पुस्तकालय, रिकाॅर्ड रूम, चलचित्र हाॅल आदि की भी व्यवस्था सुनिश्चित किया गया है। जबकि तृतीय तल पर 13 कार्यालय एवं व्यापार केन्द्र के अतिरिक्त 15 अतिथि गृह काॅमन हाॅल, पैण्ट्री एवं कार्यालय बनाए गए हैं।press-45
निरीक्षण के दौरान विधायकगण श्री सौरभ श्रीवास्तव, श्री रवीन्द्र जायसवाल, सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, प्रमुख सचिव सूचना एवं पर्यटन श्री अवनीश कुमार अवस्थी तथा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Comments (0)

कैथी के किसानो ने सम्पूर्ण समाधान दिवस में प्रमुख सचिव राजस्व से मिल कर गुहार लगाई

Posted on 16 August 2017 by admin

खतौनी में अवैध आदेशों के चलते भूमिधर किसान कागजों पर बने भूमिहीन

व्यापक फर्जीवाड़े से भूमाफियाओं की चांदी

राजमार्ग 29 के चौडीकरण में मुआवजा निर्धारण की प्रक्रिया लम्बित

अवैध आदेशों को निरस्त कर मूल खतौनी तैयार करने और उसी के आधार पर मुआवजा वितरित करने की मांग की गयी.

वाराणसी की पूर्वी सीमा पर गंगा गोमती संगम पर स्थित कैथी गाँव मार्कंडेय महादेव धाम के कारण सुविख्यात है, संगम स्थल देखने में बहुत ही सुरम्य है और पर्यटन की दृष्टि से इसका महत्व बहुत बढ़ता जा रहा है. जहाँ लेकिन गोमती नदी के इस संगम का वास्तविक स्थान इससे कहीं बहुत आगे है, ऐसा गोमती द्वारा वर्ष 1978 में किये गये धारा परिवर्तन के कारण हुआ है, नदी की कटान के कारण कैथी की सैकड़ों एकड़ भूमि नदी के उस पार चली गयी और गोमती ने कैथी गाँव की आबादी की तरफ अपना रुख करते हुए गंगा में एक नये स्थान पर संगम बना लिया. तभी से आज तक यहाँ के किसान उस कटान का दंश झेल रहे हैं. गाजीपुर जिले के कुसहीं और खरौना गाँव के लोग जमीनों पर अवैध तरीके से काबिज होने कि कोशिश करने लगे आये दिन मारपीट, फौजदारी होने लगी यहाँ तक कि एक किसान की मौत भी भी हो गयी, इस प्रकार उत्पन्न वाराणसी गाजीपुर जनपद के बीच सीमा विवाद के निस्तारण के लिए ग्राम कैथी के सभी राजस्व अभिलेख सन 1979 में रिकार्ड आपरेशन के लिए सहायक अभिलेख अधिकारी बलिया को हस्तांतरित कर दिया गया. इस सम्बन्ध में एक वाद माननीय उच्च न्यायालय में आज भी लम्बित है. उक्त विवाद के कारण कैथी गाँव की चकबंदी नही हो सकी. आज किसानो की दूसरी पीढ़ी न्याय की गुहार लगाते लगाते थक चुकी है.

गोमती नदी की कटान के कारण उत्पन्न गाजीपुर वाराणसी जनपद सीमा विवाद के कारण ग्राम कैथी के राजस्व अभिलेख वर्ष 1979 में सहायक अभिलेख अभिलेख अधिकारी, बलिया को रिकार्ड आपरेशन के लिए हस्तांतरित कर दिए गये थे. उक्त खतौनी पर वहां कतिपय राजस्व कर्मचारियों द्वारा तमाम अनाधिकार एवं अवैध आदेश दर्ज कर दिए गये हैं जिससे अनेक भूस्वामी आज कागजों पर भूमिहीन हो गये हैं वहीँ भूमाफिया प्रकृति के लोग काबिज हो चुके हैं. वर्तमान में खतौनी जीर्णशीर्ण, अस्पष्ट एवं अपठनीय हो गयी है, मूल खतौनी के दर्जनों पन्ने गायब कर दिए गये हैं. जिस कारण राष्ट्रीय राजमार्ग 29 के चौडीकरण में होने वाले भूमि अधिग्रहण से प्रभावित होने वाले कैथी के किसानो की सूची का प्रकाशन संभव नही हो पा रहा है और मुआवजा लम्बित है.

कैथी के किसानो ने आज प्रमुख सचिव राजस्व श्री रजनीश दूबे से मिल कर उन्हें समस्या बताते हुए गुहार लगाई कि सहायक अभिलेख अधिकारी, बलिया के यहाँ रिकार्ड आपरेशन के लिए रखी गयी कैथी ग्राम की खतौनी (1383-85 फसली) में हुए अवैध एवं अनाधिकार आदेशों को हटाते हुए खतौनी को मूल रूप में तैयार कराने, 35 वर्षो से लम्बित कैथी गाँव की रिकार्ड आपरेशन की प्रक्रिया को तत्काल पूर्ण कराने के साथ ही तहसीलदार सदर, वाराणसी महोदय के अभिलेखागार में उपलब्ध ग्राम कैथी की वर्ष 1380-82 फसली की खतौनी में वैधानिक वरासत, बैनामे और हिस्सेदारी को दर्ज कराते हुए अधिग्रहण से प्रभावित किसानो की सूची का धारा 3 घ के तहत प्रकाशन कराने और प्राप्त आपत्तियों का निस्तारण कर भूम अधिग्रहण का मुआवजा का वितरण सुनिश्चित कराने की कृपा करें. प्रमुख सचिव ने सहृदयता पूर्वक मामले को सुनते हुए तत्काल कार्यवाही का आश्वासन दिया.

प्रतिनिधिमंडल में श्यामाचरण पाण्डेय, वल्लभाचार्य पाण्डेय, कैप्टन सुरेश प्रताप सिंह, निर्मल सिंह, अशोक कुमार यादव एवं अजीत सिंह शामिल रहे.

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

October 2017
M T W T F S S
« Sep    
 1
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
3031  
-->









 Type in