*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | लखनऊ.

राज्यपाल ने ऐशबाग ईदगाह, टीले वाली मस्जिद व इमामबाड़ा जाकर ईद की बधाई दी

Posted on 28 June 2017 by admin

aks_2288उत्तर प्रदेश के राज्यपाल, श्री राम नाईक ने ईद-उल-फितर के पावन अवसर पर ऐशबाग स्थित ईदगाह, टीले वाली मस्जिद तथा आसिफी इमामबाड़ा जाकर मुस्लिम परिवारों को ईद की दिली मुबारकबाद दी और सभी के सुखमय जीवन की कामना की। इस अवसर पर राज्यपाल के साथ प्रदेश के उप मुख्यमंत्री श्री दिनेश शर्मा सहित अन्य विशिष्टजन भी उपस्थित थे। राज्यपाल ने ईदगाह के इमाम मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली, टीले वाली मस्जिद के इमाम मौलाना फ़जले मन्नान तथा आसिफी इमामबाड़ा के इमाम मौलाना कल्बे जव्वाद और मौलाना कल्बे सादिक से विशेष रूप से मिलकर बधाई दी तथा सिंवइयों का स्वाद भी लिया।
राज्यपाल ने ईदगाह में अपने सम्बोधन में कहा कि ईद का दिन साम्प्रदायिक सौहार्द, भाईचारा और आपसी मेलजोल को मजबूत करने का दिन है। मोहम्मद साहब ने इंसानियत का पैगाम देते हुए यह सीख दी थी कि अच्छा इन्सान वही है जो पड़ोसी का भी ध्यान रखे। यह देखने की जिम्मेदारी पड़ोसी की है कि उसका पड़ोसी भी भूखा पेट न रहे। मोहम्मद साहब द्वारा दिये गये इंसानियत का पैगाम सभी धर्म एवं समुदाय के लिये आज भी प्रासंगिक है। उन्होंने कहा कि ईद के दिन यह संकल्प लें कि हम पड़ोसियों, समाज, प्रदेश, देश एवं पूरे विश्व के साथ आपसी प्यार-मोहब्बत के दिन के रूप में मनायंेंगे। उन्होंने कहा कि आज यहां से ऐसा सन्देश लेकर हम घर जाये जिससे प्रदेश की शान के साथ-साथ विश्व में हमारे देश की शान बढ़े।
प्रदेश के उप मुख्यमंत्री श्री दिनेश शर्मा ने सभी को बधाई देते हुए कहा कि लखनऊ पूरे विश्व में अमन-चैन के रूप में जाना जाता है। 22 करोड़ की जनसंख्या वाला हमारा उत्तर प्रदेश एक मिनी भारत है। देश और प्रदेश की तरक्की इस मुल्क में रहने वाले लोगों के मेल-मिलाप और आपसी भाईचारे से ही सम्भव है।
इसके बाद राज्यपाल राजभवन के अधिकारियों एवं कर्मचारियों से भी मिलें और ईद की बधाई दी।
श्री नाईक ने प्रदेश सरकार के मुस्लिम वक्फ तथा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी राज्यमंत्री श्री मोहसिन रजा तथा कांग्रेस के वरिष्ठ सदस्य एवं उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री डा0 अम्मार रिजवी के आवास जाकर ईद की बधाई दी।

Comments (0)

राज्यपाल ने छत्रपति शाहूजी महाराज को श्रद्धांजलि अर्पित की

Posted on 28 June 2017 by admin

dsc_6245उत्तर प्रदेश के राज्यपाल श्री राम नाईक ने किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के ब्राउन हाल में छत्रपति शाहूजी महाराज स्मृति मंच द्वारा आयोजित छत्रपति शाहूजी महाराज जयंती के अवसर पर उनकी प्रतिमा एवं चित्र पर पुष्प अर्पित करके अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की। राज्यपाल ने इस अवसर पर पौधा भी रोपित किया। समारोह में प्रदेश सरकार के श्रम एवं सेवायोजन मंत्री श्री स्वामी प्रसाद मौर्य, किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 एम0बी0 भट्ट, पद्मश्री प्रो0 एस0एन0 कुरील तथा छत्रपति शाहूजी महाराज स्मृति मंच के अध्यक्ष श्री रामचन्द्र पटेल सहित बड़ी संख्या में विश्वविद्यालय के प्रोफेसर, चिकित्सक तथा अन्य गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

राज्यपाल ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि समाज में बराबरी और समता लाने की भूमिका में कई महानुभावों ने काम किया है। ऐसे महानुभावों में जिन्होंने समता की नींव डाली, उनमें छत्रपति शाहूजी महाराज का एक बड़ा नाम है। राज्यपाल ने शाहूजी महाराज को अपनी आदराजंलि देते हुए अपने बारे में बताया कि जिस रियासत के छत्रपति शाहूजी राजा थे उसी रियासत के वे रहने वाले हैं। शाहूजी महाराज का सरकार चलाने वाला जो तंत्र था वह सीधा छत्रपति शिवाजी महाराज से जुड़ा हुआ था। उन्होंने कहा कि छत्रपति शिवाजी महाराज से लेकर छत्रपति शाहूजी महाराज तक ने जिस तरह से शासन चलाने का कार्य किया वह सराहनीय है।
श्री नाईक ने कहा कि शाहूजी महाराज ने अपने राज्य में कमजोर और वंचितों को मुख्यधारा से जोड़ने के लिये 50 प्रतिशत का आरक्षण लागू किया था।  उन्होंने शोषित समाज के लिए शिक्षा की व्यवस्था के साथ-साथ लड़कियों के लिए निःशुल्क शिक्षा की भी व्यवस्था की। शाहूजी ने पुणे की तरह कोल्हापुर को शिक्षा नगरी के तौर पर विकसित किया। राज्यपाल ने कहा कि छत्रपति शाहूजी महाराज के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि यही होगी कि शिक्षा का ज्यादा से ज्यादा प्रसार हो।
राज्यपाल ने कहा कि कोल्हापुर का विशेष स्थान है। छत्रपति शाहूजी महाराज ने 28 वर्ष की आयु में आरक्षण का निर्णय लिया तथा कोल्हापुर में महिला शिक्षा के लिए विशेष प्रावधान किये। दूरदर्शी होने के कारण छत्रपति शाहूजी ने शिक्षा, महिला उत्थान तथा शिक्षा के प्रकाश को घर-घर पहुँचाने के लिए अद्भुत कार्य किया। शिक्षा के कारण ही कोल्हापुर कृषि के क्षेत्र में भी आगे है। गन्ने के लिये कोल्हापुर विख्यात है। शाहूजी महाराज भविष्यदृष्टा थे और सबको साथ लेकर काम करना उनकी विशेषता थी। उन्होंने कहा कि देश को आगे ले जाने के लिये हमें जाति, धर्म और समुदाय से ऊपर उठकर सोचना होगा।
शाहूजी महाराज की जयन्ती को लेकर भ्रम की स्थिति को स्पष्ट करते हुए राज्यपाल ने कहा कि उत्तर प्रदेश में छत्रपति शाहूजी महाराज का जन्म दिवस 26 जुलाई को मनाया जाता था जबकि महाराष्ट्र में 26 जून को मनाया जाता है। इस संबंध में महाराष्ट्र सरकार को उन्होंने एक पत्र भेजकर प्रमाणिक तिथि बताने का अनुरोध किया था। जिस पर महाराष्ट्र सरकार ने ऐतिहासिक रूप से प्रमाणिक तिथि 26 जून को ही छत्रपति शाहूजी महाराज का जन्म दिवस होने की पुष्टि की। उन्होंने इस बात पर संतोष व्यक्त किया कि अब जयन्ती समारोह सही तिथि पर आयोजित किया जा रहा है।
प्रदेश के श्रम एवं सेवायोजन मंत्री श्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि शाहूजी महाराज ने समतामूलक समाज का जो सपना संजोया था, हम सब मिलकर उनके इस चिन्तन को आगे बढ़ाये यहीं उनके प्रति सबसे बड़ा सम्मान है। महाराष्ट्र और गुजरात संतों की भूमि हैं। डा0 अम्बेडकर शाहूजी की ही देन हैं, जिन्होंने शक्तिशाली और लोकतंत्र के लिये मजबूत संविधान की रचना की। उन्होंने कहा कि छत्रपति शाहूजी महाराज दूरदर्शी व्यक्ति थे और आरक्षण के जनक थे। वे चाहते थे कि गरीबों का विकास में हिस्सा हो और राज्य की गति में उनका भी योगदान हो।
राज्यपाल ने इस अवसर पर अपने-अपने क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान देने के लिए अनेक लोगों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित भी किया।

Comments (0)

राज्यपाल से मुख्यमंत्री मिले

Posted on 28 June 2017 by admin

‘100 दिन विश्वास के’ पुस्तिका की पहली प्रति भेंट की

aks_2720उत्तर प्रदेश के राज्यपाल श्री राम नाईक से आज राजभवन में प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने मुलाकात की और ‘100 दिन विश्वास के’ पुस्तिका की पहली प्रति उन्हें भेंट की। राज्यपाल ने मुख्यमंत्री को सरकार के सौ दिन पूरे हानेे पर बधाई दी तथा पुस्तिका की सराहना की। राज्यपाल को पुस्तिका भेंट करने के बाद मुख्यमंत्री ने औपचारिक रूप से लोकभवन में पुस्तिका का लोकार्पण किया तथा प्रेस वार्ता को भी सम्बोधित किया।
राज्यपाल ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा स्वयं की जिम्मेदारी महसूस करते हुए जवाबदेही के रूप में सरकार के सौ दिन के कार्यवृत्त के प्रकाशन की नई परम्परा स्वागत योग्य एवं अभिनन्दनीय है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि सरकार के सौ दिन का कार्यवृत्त ‘सबका साथ सबका विकास’ ध्येय की दृष्टि से एक महत्वपूर्ण कदम है।
श्री नाईक ने भेंट के दौरान मुख्यमंत्री से कहा कि जनता के प्रति जवाबदेही की दृष्टि से कार्यवृत्त का जारी होना सराहनीय है। प्रदेश सरकार द्वारा जनहित में लिये गये निर्णय जनता तक पहुंचने चाहिये। लोकतंत्र में आम जनता का हित सर्वोपरि होता है। सरकार का प्रयास होना चाहिए कि अन्तिम पंक्ति में खड़े व्यक्ति को भी सरकारी योजनाओं का लाभ मिले, जिससे प्रदेश का विकास सुनिश्चित हो। उन्होंने कहा कि जनता को सरकारी योजनाओं का व्यवहारिक रूप से लाभ मिले यह सुनिश्चित करना सरकारी मशीनरी का दायित्व है।

Comments (0)

अन्त्योदय को साकार करने के लिए जनकल्याण सम्मेलन - विजय बहादुर पाठक

Posted on 28 June 2017 by admin

पं0 दीन दयाल उपाध्याय जन्मशती वर्ष के अन्तर्गत भारतीय जनता पार्टी द्वारा आयोजित किये जा रहे जन कल्याण सम्मेलनों में आज भी बड़ी संख्या में केन्द्र सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित व्यक्तियों एवं परिवारों नें बडी संख्या में संमलित होकर योगी सरकार की जनहितकारी योजनाओं को सराहा, वहीं प्रदेश की योगी सरकार के 100 दिन अल्पकार्यकाल में आमजन के हितों के लिए कार्यो की भी प्रशंसा की प्रदेश महामंत्री विजय बहादुर पाठक ने बताया कि मंण्डल स्तर पर हो रहे जनकल्याण सम्मेलनों में सरकार की योजनाओं से लाभान्वित लोग सम्मिलित हो ही रहे हैं साथ ही समाज के विभिन्न वर्ग और तबके में इन योजनाओं के प्रति जागरूकता भी आ रही है।
श्री पाठक ने कहा कि सम्मेलनों के माध्यम से समाज के वंचित, उपेक्षित व गरीब वर्ग के लोगों के बीच केन्द्र की मोदी सरकार व प्रदेश की योगी सरकार जनकल्याण के लिए चलाई जा रही योजनाओं को लेकर जागरूकता बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है। ताकि समाज के सभी वर्गो को इन योजनाओं का लाभ मिल सके। उन्होंने कहा पंडित दीनदयाल उपाध्याय के विचारों के अनुरूप केन्द्र व राज्य की सरकार जो भी जनकल्याणकारी योजनाएं बना रही है उनका लक्ष्य अन्त्योदय है।
पार्टी कल 28 जून को प्रदेश के विभिन्न संगठनात्मक जिलों के 274 मण्डलों में  जनकल्याण सम्मेलनों का आयोजन करेगी। इनमें मुख्य रूप से वक्ताओं के रूप में प्रदेश सरकार के नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना -शाहजहांपुर, केन्द्र सरकार में मंत्री संतोष गंगवार-बरेली, प्रदेश उपाध्यक्ष शिव प्रताप शुक्ला-सिद्धार्थनगर, प्रदेश महामंत्री विजय बहादुर पाठक-जालौन, प्रदेश महामंत्री सलिल विश्नोई-झांसी, प्रदेश महामंत्री विद्यासागर सोनकर-सुलतानपुर, प्रदेश महामंत्री अशोक कटारिया-रामपुर, सांसद कमलेश पासवान-देवरिया, प्रदेश मंत्री गोबिन्द नारायण शुक्ल-अमेठी, प्रदेश प्रवक्ता डाॅ0 चन्द्रमोहन-अमरोहा, सांसद राजेश पाण्डेय-कुशीनगर, सांसद रविन्द्र कुशवाहा-देवरिया व क्षेत्रीय संगठन मंत्री शिव कुमार पाठक-गोरखपुर सहित कई अन्य प्रमुख पार्टी पदाधिकारी, सांसद/विधायक सम्मिलित होगें।

Comments (0)

मुख्यमंत्री के निर्देश पर क्षत्रिग्रस्त ट्रान्सफार्मर बदलने का आज से प्रारम्भ हुआ है महा अभियान

Posted on 27 June 2017 by admin

48 घण्टे के अन्दर पूरे प्रदेश में बदले जायेंगे क्षतिग्रस्त ट्रान्सफार्मर
ऊर्जा मंत्री स्वयं लखनऊ से कर रहे हैं अभियान की मानिटरिंग
प्रबन्ध निदेशक एवं निदेशक डिस्काम विभिन्न जनपदों में अभियान की मानिटरिंग के लिए भेजे गये।

मा0 मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर आज से पूरे प्रदेश में खराब ट्रान्सफार्मर बदलने का महा अभियान शुरू हो गया है। मुख्यमंत्री ने 48 घण्टे के भीतर यू0पी0 के ग्रामीण इलाके के समस्त खराब ट्रान्सफार्मर बदलने के दिये थे निर्देश।  26 एवं 27 जून तक चलने वाले इस दो दिवसीय अभियान में प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्री श्रीकान्त शर्मा ने स्वयं कमान संभाल रखी  है। ऊर्जा मंत्री एवं प्रमुख सचिव ऊर्जा श्री आलोक कुमार लखनऊ से इस अभियान की कर रहे हैं मानिटरिंग।
यह जानकारी देते  हुये पावर कारपोरेशन के प्रबन्ध निदेशक श्री विशाल चैहान ने बताया है कि अभियान की गहन मानीटरिंग हेतु सभी डिस्काम के प्रबन्ध निदेशकों एवं निदेशकों को जिम्मेदारी सौंपी गयी है। ये अधिकारी जिलों में कैम्प कर कर रहे हैं मानीटरिंग।
श्री विशाल चैहान स्वयं गोरखपुर एवं बस्ती की मानीटरिंग कर रहे हैं। इसी तरह निदेशक (वितरण) के0एम0 मित्तल इलाहाबाद में कैम्प कर रहे हैं। प्रबन्ध निदेशक, पूर्वाचंल श्री अतुल निगम बनारस, निदेशक (तकनीकी) एस0सी0 भारती मिर्जापुर, निदेशक अनिल कोहली आजमगढ़ तथा पूर्वांचल के निदेशक कार्मिक मोहित शर्मा चन्दौली में कैम्प कर रहे हैं।
इसी तरह आगरा डिस्काम के प्रबन्ध निदेशक एस0के0 वर्मा अगरा में स्वयं कमान संभाले हुये हैं। कानपुर में निदेशक तकनीकी डी0के0 सिंह मानीटरिंग कर रहे हैं। मध्यांचल के प्रबन्ध निदेशक अरविन्द राजवेदी लखनऊ में अभियान की कर रहे हैं मानीटरिंग। मध्यांचल के निदेशक, तकनीकी अजीत सिंह, फैजाबाद, गोण्डा में मुख्य अभियन्ता सन्दीप सिंह तथा बरेली में मुख्य अभियन्ता राजकुमार अग्रवाल अभियान की कर रहे हैं मानिटरिंग।
इसी प्रकार प्रदेश भर के सभी मण्डल मुख्यालयों पर प्रबन्ध निदेशकों एवं निदेशकों की ड्यूटी लगायी गयी है।

Comments (0)

उत्तर प्रदेश पर्यटन की दृष्टि से अत्यन्त समृद्ध राज्य है: मुख्यमंत्री

Posted on 26 June 2017 by admin

पर्यटन को उद्योग के रूप में विकसित कर बड़े पैमाने पर लोगों को रोजगार मुहैया कराया जा सकता है
भारत को विश्व पर्यटन मानचित्र में प्रमुखता के साथ स्थापित करने में उत्तर प्रदेश की प्रमुख भूमिका होगी
वर्ष 2019 में प्रयाग अर्द्धकुम्भ से पहले हुगली से प्रयाग तक पानी के जहाज से आवागमन की सुविधा उपलब्ध कराने का प्रयास
उड़ान योजना के तहत जेवर में स्थापित किए जा रहे हवाई अड्डे से पर्यटकों को सुविधा होगी और पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा
मुख्यमंत्री ने पर्यटन विकास पर आयोजित सेमिनार को सम्बोधित किया
मुख्यमंत्री ने पर्यटन पर केन्द्रित सेमिनार अन्य शहरों में भी आयोजित करने के निर्देश दिए

press-011मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि उत्तर प्रदेश पर्यटन की दृष्टि से अत्यन्त समृद्ध राज्य है, परन्तु अभी तक इसकी पूर्ण क्षमता का दोहन नहीं हो पाया है। उन्होंने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार उत्तर प्रदेश को पर्यटन के क्षेत्र में देश में प्रथम स्थान दिलाने के लिए कार्य कर रही है और भविष्य में यह राज्य यह मुकाम हासिल कर लेगा। आधारभूत सुविधओं और अर्थव्यवस्था के विकास से पर्यटन की गतिविधियां बहुत तेजी से बढ़ रही हैं, जो पर्यटन के विस्तार में महत्वपूर्ण योगदान दे सकती हैं। पर्यटन को उद्योग के रूप में विकसित करने पर बड़े पैमाने पर लोगों को रोजगार मुहैया कराया जा सकता है। राज्य सरकार इस दिशा में कार्य कर रही है।
मुख्यमंत्री जी ने यह विचार आज यहां होटल रेनेसां में पर्यटन विकास पर आयोजित सेमिनार को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि प्राचीनकाल से ही भारतवर्ष में तीर्थाटन पर्यटन का अभिन्न अंग रहा है। अयोध्या, काशी, मथुरा, विंध्याचल, चित्रकूट, नैमिषारण्य इत्यादि धार्मिक स्थलों पर लोग तीर्थाटन के लिए निरन्तर आते-जाते रहते हैं। इसी प्रकार शारदीय और ग्रीष्म नवरात्रि के दौरान लोग बड़ी सख्या में विंध्याचल पहुंचते हैं। चित्रकूट का अपना एक अलग स्थान है। उन्होंने कहा कि चित्रकूट का इतिहास लगभग आठ हजार वर्ष पुराना है। धर्म में आस्था रखने वाले तमाम लोग चित्रकूट की यात्रा करते हैं। स्पष्ट है कि धार्मिक पर्यटन इस क्षेत्र की एक महत्वपूर्ण गतिविधि है, जिसे और प्रोत्साहन दिए जाने की आवश्यकता है। राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के प्रमुख धार्मिक स्थलों को 24 घण्टे बिजली आपूर्ति की पहल सत्ता में आते ही कर दी गई थी, ताकि तीर्थाटन के लिए आने वाले पर्यटकों को कोई असुविधा न हो। साथ ही, इन स्थलों पर साफ-सफाई सुनिश्चित करने तथा जनसुविधाएं विकसित करने के भी निर्देश दिए गये हैं।
योगी जी ने कहा कि भारतीय संस्कृति विश्व की प्राचीनतम संस्कृति है। ऐसे में, भारत को विश्व पर्यटन मानचित्र में प्रमुखता के साथ स्थापित करना होगा, जिसमें उत्तर प्रदेश की प्रमुख भूमिका होगी। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में प्राकृतिक, ऐतिहासिक, धार्मिक तथा सांस्कृतिक महत्व के अनेक आकर्षक पर्यटन स्थल हैं, जहां पर पर्यटकों का आना-जाना लगातार बना रहता है। प्रदेश में अनेक वन्य जीव अभ्यारण्य मौजूद हैं, जहां बड़ी संख्या में पर्यटक आते हैं। उन्हांेने कहा कि पर्यटकों की सुविधा के लिए इनका और अधिक विकास किया जाना चाहिए। इसी प्रकार ऐतिहासिक स्थलों पर जनसुविधाओं इत्यादि के विकास पर भी कार्य किया जाना चाहिए।press-02
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने पर्यटन के विकास के लिए कई योजनाएं प्रस्तावित की हैं। नई योजनाओं में केन्द्रीय योजना के अन्तर्गत प्रासाद स्कीम तथा स्वदेश दर्शन स्कीम के अलावा अन्य चालू योजनाएं शामिल हैं। उन्होंने कहा कि लोक कल्याण संकल्प पत्र के अनुरूप अयोध्या, गोरखपुर, इलाहाबाद, नैमिषारण्य, वाराणसी आदि स्थलों के लिए वृहद योजना तैयार की जा रही है। पर्यटक स्थलों पर विभिन्न जन सुविधाओं का विकास कराया जा रहा है, ताकि पर्यटकों को कोई असुविधा न हो।
योगी जी ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा विभिन्न सांस्कृतिक पर्यटन सर्किटों जैसे राम सर्किट, कृष्ण सर्किट, बुद्ध सर्किट आदि का विकास करके इनकी अवस्थापना सुविधाएं और बेहतर की जाएंगी। इसके अलावा पर्यटकों की सुविधा के लिए मथुरा, वृंदावन, अयोध्या, प्रयाग, विंध्याचल, नैमिषारण्य, चित्रकूट, कुशीनगर और वाराणसी आदि में पर्यटन सुविधाओं का विकास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में बड़ी संख्या में मौजूद बौद्ध धर्म स्थलों का विकास किया जाएगा, ताकि बौद्ध अनुयायियों के अलावा अन्य पर्यटक भी इन स्थलों की ओर आकर्षित हो सकें।
योगी जी ने कहा कि उड़ान योजना के तहत जेवर में स्थापित किए जा रहे हवाई अड्डे से पर्यटकों को बहुत सुविधा होगी और पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। इसके अलावा कुशीनगर हवाई अड्डे को भी अपग्रेड किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पर्यटकों की सुविधा के लिए प्रदेश के प्रमुख शहरों को हवाई सेवाओं से जोड़ने की दिशा में भी कार्य चल रहा है। इसके अलावा हेलीकाॅप्टर सेवा शुरू करने के भी प्रयास हो रहे हैं। केन्द्र सरकार तथा राज्य सरकार द्वारा यह प्रयास किया जा रहा है कि वर्ष 2019 में प्रयाग में होने वाले अर्द्धकुम्भ से पहले हुगली से प्रयाग तक पानी के जहाज से आवागमन की सुविधा उपलब्ध कराई जाए। उन्होंने कहा कि प्रयाग मंे एक अच्छे होटल की आवश्यकता महसूस की गई है। राज्य सरकार यह कोशिश करेगी कि यह अर्द्धकुम्भ से पहले निर्मित हो जाए।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि पर्यटन विभाग को राज्य में पर्यटन के विकास के लिए और योजनाएं बनाने के लिए कहा। उन्हांेने पर्यटन पर केन्द्रित ऐसे ही सेमिनार अन्य शहरों में भी आयोजित करने के भी निर्देश दिए।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए पर्यटन मंत्री श्रीमती रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि भारत की संस्कृति विश्व की सबसे प्राचीनतम है। प्रदेश में पर्यटन की बड़ी सम्पदा और सम्भावनाएं मौजूद हैं, जिनके माध्यम से प्रदेश का आर्थिक विकास किया जा सकता है। विगत सरकारों ने पर्यटन के विकास के लिए कोई कार्य नहीं किया। वर्तमान सरकार प्रदेश का पर्यटन के क्षेत्र में शीर्ष पर स्थापित करने के लिए कटिबद्ध है। पर्यटन विकास के लिए सरकार और निजी क्षेत्र की भागीदारी आवश्यक है। उन्होंने राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए अच्छे टूर पैकेजों की आवश्यकता पर बल दिया। प्रयाग में आयोजित होने वाले अर्द्धकुम्भ 2019 को अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर कैसे स्थान दिलाया जाए इस पर काम करना होगा। उन्होंने कहा कि भविष्य में बुन्देलखण्ड पर्यटन का उभरता हुआ क्षेत्र बनेगा। उन्होंने आशा व्यक्त की कि पर्यटन के विस्तार और विकास से 10 लाख रोजगार निर्मित होंगे।
इससे पूर्व प्रमुख सचिव पर्यटन श्री अवनीश अवस्थी ने सेमिनार को सम्बोधित करते हुए पर्यटन विभाग द्वारा इसके विकास और विस्तार के लिए किए जा रहे कार्यों के विषय में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि आज का यह सेमिनार राज्य सरकार के 100 दिन पूरे होने के उपलक्ष्य में आयोजित किया गया है। पर्यटन के क्षेत्र मंे उत्तर प्रदेश देश में इस समय दूसरे स्थान पर है। इसके अलावा विदेशी पर्यटकों द्वारा उत्तर प्रदेश आने के सम्बन्ध में उत्तर प्रदेश देश में तीसरे स्थान पर है। रामायण सर्किट, बद्धिस्ट सर्किट, नैमिषारण्य, वन्य जीव स्थल इत्यादि पर्यटकों के प्रिय गन्तव्य हैं। राज्य का पर्यटन विभाग प्रदेश में पर्यटन के विकास और विस्तार के लिए कार्य कर रहा है और नई योजनाओं पर भी काम चल रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य में पर्यटन के विकास में सरकार के अलावा पर्यटन से जुड़ी निजी संस्थाओं जैसे, टूर आॅपरेटर्स इत्यादि की महत्वपूर्ण भूमिका होगी। कार्यक्रम को पर्यटन निगम के प्रबन्ध निदेशक ने भी सम्बोधित किया।
इससे पूर्व सेमिनार का शुभारम्भ मुख्यमंत्री ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने ‘वन स्टाॅप ट्रैवेल साॅल्यूशन पोर्टल’ का भी शुभारम्भ किया। पर्यटकों के लिए यह पोर्टल आठ भाषाआंे में उपलब्ध होगा।
कार्यक्रम के दौरान शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी, बड़ी संख्या में पर्यटन से जुड़े निजी क्षेत्र के लोग तथा गणमान्य नागरिक मौजूद थे।

Comments (0)

मुख्यमंत्री ने आज से शुरू हो रही भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा पर सभी प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई दी

Posted on 26 June 2017 by admin

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज से शुरू भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा पर सभी प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई दी है। उन्हांेने जगन्नाथपुरी में इसके भव्य आयोजन पर शुभकामनाएं देने के साथ-साथ प्रदेश के विभिन्न शहरों में इसके आयोजन के लिए भी शुभकामनाएं दी हैं।

Comments (0)

राज्य सरकार महिलाओं एवं बालिकाओं को पूरी सुरक्षा देने के साथ-साथ उनके सामाजिक और आर्थिक सशक्तीकरण के लिए कृतसंकल्प: मुख्यमंत्री

Posted on 25 June 2017 by admin

महिलाआंे को सम्मान देने वाला समाज ही प्रगति कर सकता है

महिलाआंे को सुरक्षा व भयमुक्त वातावरण उपलब्ध कराने के साथ ही उन्हें स्वावलम्बी बनाने के लिए राज्य सरकार पूरी तरह गम्भीर

समाज की एक ज्वलन्त समस्या है घटता लिंगानुपात

मुख्यमंत्री ने ‘181’ महिला हेल्पलाइन के ‘64 रेस्क्यू वाहनों के फ्लैग आॅफ’ तथा ‘मुखबिर योजना’ के शुभारम्भ कार्यक्रम को सम्बोधित किया

64 जनपदों हेतु रेस्क्यू वैन सेवा के विस्तारीकरण से
अब प्रदेश के सभी जनपद इस सेवा से आच्छादित हो गयेpress-52
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा है कि राज्य सरकार महिलाओं एवं बालिकाओं को पूरी सुरक्षा देने के साथ-साथ उनके सामाजिक और आर्थिक सशक्तीकरण के लिए कृतसंकल्प है। कोई भी समाज बिना महिलाओं के योगदान के विकास नहीं कर सकता। इसके दृष्टिगत सत्ता में आते ही प्रदेश सरकार द्वारा एण्टी रोमिया स्क्वायड जैसे कई प्रभावी कदम उठाये गये हैं। महिलाआंे को सम्मान देने वाला समाज ही प्रगति कर सकता है। महिलाआंे को सुरक्षा व भयमुक्त वातावरण उपलब्ध कराने के साथ ही उन्हें स्वावलम्बी बनाने के लिए राज्य सरकार पूरी तरह से गम्भीर है।
मुख्यमंत्री जी आज यहां अपने सरकारी आवास पर ‘181’ महिला हेल्पलाइन के ‘64 रेस्क्यू वाहनों के फ्लैग आॅफ’ तथा कन्या भ्रूण हत्या रोकने हेतु ‘मुखबिर योजना’ के शुभारम्भ कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोई भी राष्ट्र तभी समृद्ध हो सकता है, जब समाज में स्त्री और पुरुष दोनों की भागीदारी सुनिश्चित हो। राज्य सरकार द्वारा लखनऊ में स्थित केन्द्रीकृत काॅल सेण्टर के माध्यम से महिला हेल्पलाइन ‘181’ का संचालन किया जा रहा है। यह एक टोल-फ्री नम्बर है, जिस पर 24 घण्टे काॅल की सुविधा उपलब्ध रहेगी। उन्होंने कहा कि कोई भी पीड़ित महिला अथवा बालिका इससे सहायता प्राप्त कर सकती है। ‘181’ महिला हेल्पलाइन पर फोन करने वाली पीड़िता को काॅल रिसीव होते ही तत्काल आवश्यक परामर्श उपलब्ध कराया जाता है।press-9
योगी जी ने कहा कि काॅल करने वाली पीड़ित महिला के सबसे नजदीक उपलब्ध जी०पी०एस० युक्त रेस्क्यू वैन के माध्यम से ‘181’ हेल्पलाइन की टीम घटना स्थल पर पहुंचकर सहायता प्रदान करती है। इस वैन में एक प्रशिक्षित महिला परामर्शदाता के साथ-साथ एक महिला पुलिस आरक्षी भी तैनात रहती है, जो पीड़ित महिलाओं को विषम परिस्थितियों से बचाने व परामर्श देने का कार्य भी करती है। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में 11 जनपदों में ‘181’ महिला हेल्पलाइन एवं रेस्क्यू वैन का संचालन हो रहा है। आज प्रदेश के शेष 64 जनपदों हेतु रेस्क्यू वैन सेवा का विस्तारीकरण किया गया है। अब इस सेवा से प्रदेश के सभी जनपद आच्छादित हो गये।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि इस सेवा का सम्पूर्ण प्रदेश में विस्तारीकरण के दृष्टिगत लखनऊ में संचालित केन्द्रीकृत काॅल सेण्टर की क्षमता 6 सीटर से बढ़ाकर 30 सीटर कर दी गयी है, जिसकी सहायता से सम्पूर्ण प्रदेश से आने वाली टेलीफोन काॅल्स के आधार पर तत्काल सहायता उपलब्ध करायी जा सकेगी।
योगी जी ने कहा कि घटता हुआ लिंगानुपात आज समाज की एक ज्वलन्त समस्या है। इसके दृष्टिगत राज्य सरकार द्वारा ‘मुखबिर योजना’ का शुभारम्भ किया गया है। घटते लिंगानुपात को रोकने के लिए जनजागरूकता व कानून की आवश्यकता है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने बेटियों पर होने वाले भेदभाव को समाप्त करने तथा बेटियों को उनका हक दिलाने के लिए ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ योजना संचालित की है। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि लिंग परीक्षण करके बालिका भ्रूण हत्या रोकने का कार्य जन सहयोग के बिना सम्भव नहीं है। इसके लिए राज्य सरकार ने ‘मुखबिर योजना’ शुरू की है। लिंग चयन एवं लिंग चयन के पश्चात विशेष लिंग की भ्रूण हत्या के अवैध कार्य में संलिप्त व्यक्तियों, केन्द्रों, संस्थाओं की गोपनीय रूप से जांच की जाए तथा ऐसे व्यक्तियों, केन्द्रों, संस्थाओं को डिक्वाॅय आॅपरेशन के माध्यम से प्राप्त सूचना के आधार पर दण्डित किया जाएगा। इस योजना के माध्यम से भ्रूण हत्या के सम्बन्ध में जनता से गोपनीय रूप से सूचना प्राप्त की जाएगी। ऐसे व्यक्तियों और संस्थाओं के विरुद्ध कार्रवाई करके उन्हें कानून के शिकंजे में लाया जाएगा, जो तकनीक का दुरुपयोग भ्रूण का लिंग पता करके बेटियों को जन्म लेने से रोक रहे हैं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि ‘मुखबिर योजना’ में आम जनता का सहयोग प्राप्त होने से उन चिकित्सकों में भय पैदा होगा, जो बेटी के जन्म लेने से पहले ही भ्रूण हत्या करते हैं। इस योजना के कार्यान्वयन होने से घटते लिंगानुपात पर प्रभावी रोक लगेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश के कुछ जनपदों में लिंगानुपात बहुत कम है वहां पर लघु फिल्म, लघु नाटक, गोष्ठियों आदि कार्यक्रमों के माध्यम से जनजागरूकता अभियान चलाया जाए।
महिला कल्याण एवं परिवार कल्याण मंत्री श्रीमती रीता बहुगुणा जोशी ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि वर्तमान सरकार लिंगानुपात की बेहतरी के लिए कार्य कर रही है। इसके लिए राज्य सरकार द्वारा भ्रूण हत्या के सम्बन्ध में गोपनीय रूप से आम जनता से भी सूचना प्राप्त की जाएगी। इसके लिए उन्हें प्रेरित किया जाएगा। मुखबिर योजना से पी०सी०पी०एन०डी०टी० अधिनियम को और प्रभावी रूप से लागू किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि गोपनीय सूचना देने वाले को 2 लाख रुपये तक की प्रोत्साहन धनराशि दी जाएगी। साथ ही, सूचना देने वाले का नाम भी गोपनीय रखा जाएगा।
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री श्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि वर्तमान सरकार महिलाओं के सशक्तीकरण के प्रति बेहद गम्भीर है। इस अवसर पर कृषि मंत्री श्री सूर्य प्रताप शाही, स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन शुल्क मंत्री श्री नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी, सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री श्री मोहसिन रजा, अल्पसंख्यक कल्याण राज्य मंत्री श्री बलदेव ओलख, महिला कल्याण राज्य मंत्री श्रीमती स्वाती सिंह व प्रमुख सचिव महिला कल्याण सुश्री रेणुका कुमार सहित अन्य गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

Comments (0)

सांस्कृरतिक राष्ट्रीवाद पर संगोष्ठीा तथा लोकतंत्र सेनानियों का सम्मान

Posted on 24 June 2017 by admin

कल पं दीनदयाल उपाध्याोय जन्मग शताब्दीक वर्ष के अवसर पर विचार पाक्षिक पत्रिका कमल ज्यो ति द्वारा आयोजित दूसरा संगोष्ठी  कार्यक्रम 24 जून को आयोजित किया जा रहा है। पत्रिका द्वारा आयोजित कार्यक्रम संगीत नाटक अकादमी के संत गाडगे जी प्रेक्षागृह में प्रातरू 10ण्30 बजे से आयोजित होगा। संगोष्ठीा का विषय दीनदयाल जी का सांस्कृततिक राष्ट्रीवाद और आज का भारत है। इस समारोह में मुख्‍य भाषण पंण् दीनदयाल जी के अनन्यक सहयोगी रहे लाल जी टंडन जी करने वाले हैं। कार्यक्रम के विशिष्टभ अतिथि प्रदेश के प्राविधिक शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन जी रहेंगे। समारोह के कार्यक्रम अध्य्क्ष एकेटीयू कुलपति प्रो विनय कुमार पाठक होंगे।
कमल ज्योरति के प्रबंध संपादक राजकुमार ने बताया किए कमल ज्योयति का यह कार्यक्रम आपातकाल के एक दिन पूर्व आयोजित हो रहा है लिहाजा इस अवसर पर आपातकाल के दौरान जेलों में बंद रहे लखनऊ के कुछ चुने हुए लोकतंत्र सेनानियों का सम्मापन किया जा रहा है। गौरतलब है किए आपातकाल के दौरान कांग्रेस की तत्कांलीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी सरकार ने जुल्मी की इंतहा कर दी थी। उनकी सरकार के खिलाफ सत्यांग्रह में शामिल निरीह लोगों पर भी सरकार ने गोलियां चलवाईं थीं।
इस दूसरे कार्यक्रम के संयोजक आलोक सिंह ने बताया कि इस कार्यक्रम में राष्ट्री य कार्यपरिषद सदस्यर रानीलक्ष्मीहबाई स्कूकल समूहके प्रबंधक जयपाल सिंहए महानगर अध्यरक्ष मुकेश शर्मा एवं जिला अध्यसक्ष भाजपा राम निवास यादव भी शामिल रहेंगे।

कार्यक्रम स्थसल
संगीत नाटक अकादमी संत गाडगे प्रेक्षगृह फन मॉल के सामने गोमती नगर लखनऊ
समय रू 10ण्30 बजे प्रातरू
दिनांक रू 24 जून 2017 शनिवार
विषय रू दीनदयाल जी का सांस्कृ0तिक राष्ट्ररवाद एवं आज का भारत
लोकतंत्र सेनानी सम्मयन समारोह

Comments (0)

अपराध मुक्त उ0प्र0 के लिए सरकार संकल्पवद्ध - भूपेन्द्र सिंह चौधरी

Posted on 24 June 2017 by admin

भाजपा प्रदेश मुख्यालय पर जनता की समस्याओं का समाधान

photo4भारतीय जनता पार्टी प्रदेश मुख्यालय में सतत जनता के दरबार में प्रदेश सरकार के मंत्रियों की हाजिरी जारी रही। पंचायती राज, लोक निर्माण विभाग राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) भूपेन्द्र सिंह चौधरी ने कहा हम जनता की भावनाओं और अपेक्षाओं के अनुरूप काम कर रहे है। स्वच्छ भारत अभियान के तहत 2 अक्टूबर 2018 तक प्रदेश के सभी जिले खुले में शौच से मुक्त होंगे। प्रदेश उपाध्यक्ष डा0 राकेश त्रिवेदी एवं प्रदेश मंत्री धर्मवीर प्रजापति भी समस्याओं के समाधान में जुटे।
श्री चौधरी ने जन सहयोग केन्द्र पर पत्रकारों द्वारा पूंछे प्रश्नों के जबाव देते हुए कहा कि स्वच्छ भारत अभियान को प्रभावी बनाने के लिए पंचायती राज विभाग पूरी जिम्मेदारी से काम कर रहा है। कानून व्यवस्था को लेकर पूछे गए सवाल पर कहा कि योगी सरकार में अपराध मुक्त उ0प्र0 के लिए संकल्पबद्ध है। आज सरकार में लोगों को सहज न्याय मिल रहा है। अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही हो रही है। तथा पीड़िता की राहत के लिए त्वारित कार्यवाही हो रही है।
राज्यमंत्री ने पत्रकारों से कहा कि व्यवस्था बिगड़ी हुई थी। धीरे-धीरे स्थितियां ठीक होगी, हम बेहतरी के लिए काम कर रहे है। जन सहयोग केन्द्र पर जनता की एक-एक समस्या का निराकरण विधिक दायरे में किया जा रहा है। हम गरीब को न्याय के लिए सीधे प्रशासनिक अधिकारियों से बात कर रहे है।
भाजपा प्रदेश मुख्यालय पर दिनांक 24 जून को सुबह 11 बजे से दोपहर 01 बजे तक राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अनुपमा जायसवाल जी जनता की समस्याओं के निराकरण के लिए उपस्थित रहेंगी। साथ ही प्रदेश उपाध्यक्ष डा0 राकेश त्रिवेदी एवं प्रदेश मंत्री धर्मवीर प्रजापति एवं कार्यालय सहायक आनंद पाण्डेय भी उपस्थित रहेंगे।

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

June 2017
M T W T F S S
« May    
 1234
567891011
12131415161718
19202122232425
2627282930  
-->







 Type in