*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | बुंदेलखंड

विभिन्न परियोजनाओं का स्थलीय निरीक्षण करने के लिए मुख्यमंत्री इस माह बुन्देलखण्ड का दौरा करेंगे

Posted on 03 April 2017 by admin

  • मुख्यमंत्री ने बुन्देलखण्ड क्षेत्र में पेयजल उपलब्ध कराने के लिए  तात्कालिक तौर पर 47 करोड़ रु0 की धनराशि स्वीकृत की
  • बुन्देलखण्ड की सभी सिंचाई तथा पेयजल परियोजनाओं के लिए उपलब्ध करायी गयी धनराशि का पूरा-पूरा उपयोग जनहित में समयबद्धता के साथ किया जाए: मुख्यमंत्री
  • पिछले 15 साल के दौरान बुन्देलखण्ड के समग्र विकास के लिए प्रभावी कार्यवाही नहीं हुई और इस क्षेत्र की लगातार अनदेखी की गई: मुख्यमंत्री
  • मुख्यमंत्री ने प्रदेश के पूर्वांचल सहित अन्य बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों में सम्भावित बाढ़ के दृष्टिगत कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिए

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने बुन्देलखण्ड क्षेत्र में पेयजल उपलब्ध कराने के लिए तात्कालिक तौर पर 47 करोड़ रुपए की धनराशि स्वीकृत की है। उन्होंने कहा कि आवश्यकतानुसार राज्य सरकार इस मद में अतिरिक्त धनराशि भी उपलब्ध कराएगी। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया है कि किसी भी स्थिति में बुन्देलखण्ड की जनता व उसके पशुधन को पेयजल की कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए।

श्री योगी ने यह भी कहा कि वर्तमान राज्य सरकार बुन्देलखण्ड क्षेत्र की समस्याओं एवं वहां के लोगों की जरूरतों से पूरी तरह अवगत है। पिछले 15 साल के दौरान बुन्देलखण्ड के समग्र विकास के लिए प्रभावी कार्यवाही नहीं हुई और इस क्षेत्र की लगातार अनदेखी की गई। उन्होंने बताया कि बुन्देलखण्ड में संचालित विभिन्न परियोजनाओं का स्थलीय निरीक्षण करने वे इसी माह (अप्रैल, 2017 में) वहां जाएंगे।

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को एक बार फिर आगाह किया कि बुन्देलखण्ड की सभी सिंचाई तथा पेयजल परियोजनाओं के लिए उपलब्ध करायी गयी धनराशि का पूरा-पूरा उपयोग जनहित में समयबद्धता के साथ किया जाए। इन योजनाओं को शीघ्रता के साथ पूरा किया जाए, ताकि बुन्देलखण्ड में पेयजल की समस्या से छुटकारा मिले और सिंचाई की बेहतर व्यवस्था भी सुनिश्चित की जा सके।

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को प्रदेश के पूर्वांचल सहित अन्य बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों में सम्भावित बाढ़ के दृष्टिगत कार्य योजना तैयार करने के भी निर्देश दिए हैं। उन्होंने पूरी गुणवत्ता के साथ तटबंधों की समय से मरम्मत कराने के निर्देश देते हुए सम्बन्धित अधिकारियों को आगाह किया है कि वे इस कार्य का प्रभावी अनुश्रवण करते रहें। विगत के संवेदनशील बाढ़ग्रस्त इलाकों में बाढ़ नियंत्रण पर विशेष ध्यान दिया जाए। बाढ़ की स्थिति उत्पन्न होने की दशा में उन्होंने स्थानीय स्तर पर राजस्व, सिंचाई, पुलिस, स्वास्थ्य, खाद्य एवं रसद, पशुपालन आदि विभागों के बीच बेहतर तालमेल पर बल दिया हैं।

Comments (0)

भाजपा उम्मीदवारों के नाम फाइनल के लिए 4 बजे होगा मंथन..

Posted on 10 January 2017 by admin

bjp-candidate-list-for-uttar-pradesh-election-2017

प्रदेश में विधानसभा चुनाव का बिगुल बजते ही सभी राजनीतिक दलों ने अपनी- अपनी तैयारियां तेज कर दी हैं. विधानसभा चुनावों के लिए भारतीय जनता पार्टी की चुनाव अभियान समिति की बैठक आज शाम 4 बजे प्रदेश कार्यालय में बुलाई गई है. प्रदेश मीडिया प्रभारी हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने बताया कि आगामी विधान सभा चुनाव को देखते हुए यह अहम बैठक प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य की अध्यक्षता में बुलाई गई है. इस बैठक में प्रदेश प्रभारी राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सांसद ओम प्रकाश माथुर, राष्ट्रीय सहसंगठन मंत्री शिव प्रकाश, केन्द्रीय मंत्री कलराज मिश्र, प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल तथा प्रदेश चुनाव समिति के सभी सदस्य हिस्सा लेगें. पार्टी सूत्रों का कहना है यूपी में आज होने वाली प्रदेश स्तर की चुनाव समिति की बैठक के बाद अगर प्रधानमंत्री का ग्रीन सिग्नल मिल गया तो केंद्रीय चुनाव समिति की पहली बैठक बुधवार को ही दिल्ली में बुलाई जा सकती है. जिसमें बीजेपी के उम्मीदवारों के नाम पर मुहर लग सकती है. पहली लिस्ट में इनके नाम बीजेपी के एक बड़े नेता के मुताबिक पार्टी की कोशिश होगी कि सबसे पहले उन सीटों पर उम्मीदवारों के नाम फाइनल किए जाएं, जहां किसी तरह का विवाद नहीं है. ऐसे उम्मीदवारों में वे नेता शामिल हो सकते हैं, जिन्होंने पिछली बार विधानसभा चुनाव में जीत हासिल की थी.
वही बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या ने बताया कि उनकी सारी तैयारी पूरी हो गई हैं. चुनाव अभियान समिति की बैठक में चुनाव के बिंदुओं और उम्मीदवारों के नाम पर चर्चा होगी. केशव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में भाजपा का हर कार्यकर्ता मुख्यमंत्री का चेहरा है. उन्होंने सहयोगी दलों से सीटों के तालमेल पर किसी भी तरह के विवाद से इनकार करते हुए कहा कि भाजपा के उम्मीदवारों की सूची अंतिम चरण में है.

Comments (0)

जब चाटुकारिता और प्रशासनिक आरोपी हों सिरमौर तो ऐसे में कैसे भला होगा हिन्दी का !

Posted on 11 September 2015 by admin

bhopal

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में विश्व हिन्दी सम्मेलन का शुभारंभ देश विदेश के हजारों हिन्दी प्रेमी शिरकत कर रहे हैं। हिन्दी भाषी देश के लिये विश्व हिन्दी सम्मेलन की मेजबानी  और उसके प्रचारू आभामण्डल से मध्यप्रदेश का गौरव बढऩा स्वाभाविक है। इस कार्यक्रम की सफलता के लिये प्रदेश सरकार तथा इसके अधीनस्थ कार्यरत अधिकारियोंए कर्मचारियों ने रात.दिन जी तोड़ मेहनत कर कार्यक्रम की सफलता को सुनिश्चित किया। इस आयोजन को भव्यता प्रदान करने के लिये भारी मात्रा में धन राशि ब्यय की गई। स्वाभाविक है कि आपाधापी में ब्यय की जाने वाली राशियों में गड़बड़ी भी होती है। ऐसा एक नहीं कई आयोजनों में हो चुका है और सीएजी की रिपोर्ट में भी इसका खुलासा किया है। मातृभाषा हिन्दी के लिये तो देश की जनता इतनी कुर्बानी तो दे ही सकती हैए हाँ सफेद पोश आयोजकोंएओहदेदार अधिकारियों एवं भ्रष्ठ ठेकेदारों की अवश्य ऐसे सुअवसरों पर चांदी हो जाती हैए तीन दिन तक चलने वाले विश्व हिन्दी सम्मेलन का ढोल भी जमकर पीटा जायेगा। प्रदेश में इस कार्यक्रम के सुचारू संचालन की जिम्मेदारी मप्रण्संस्कृति विभाग ने संभाल रखी है। यह विभाग भी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के पास है इसके प्रमुख सचिव मनोज श्रीवास्तव है। अजात् शत्रु श्रीवास्तव  आयुक्त की कुर्सी पर विराजमान है। प्रमुख सचिव मनोज श्रीवास्तव स्वयं को महान साहित्यकार की श्रेणी में मानते हैए गाहे बगाहे स्थानीय छुट.पुट कार्यक्रमों में अपनी उपस्थिति भी दर्ज कराते रहते हैं। कुछ वरिष्ठ पत्रकारों से उनकी काफी निकटता है इसी निकटता का लाभ उठाते हुए समय.समय पर पत्रकारों से अपने नाम से आलेख लिखवाते हैं तथा अपनी महानता का बखान स्वयं तथा उनके कुछ चाटुकार करते फिरते हैं। हिन्दी के इतने बड़े ज्ञाता है कि इनके विभाग को यह भी पता नहीं है कि अमीर खुसरो सही नाम है या आमिर खुसरो मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का सिर्फ एक ही मकसद रहता है राष्ट्रीय नेताओं को साधों और अपनी कुर्सी सलामत रखो। एक तरह से उन्होंने विश्व हिन्दी सम्मेलन के बहाने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का विश्वास हासिल करने का हर संभव प्रयास किया हैए बहरहाल वे अपने मकसद में कितने सफल या असफल हुये यह तो वे या श्री मोदी ही जाने। वहीं संस्कृति संचालनालय के आयुक्त अजातशत्रु श्रीवास्तव की कार्यशैली जग जाहिर है। ये पद पर रहते हुए हिन्दी साहित्य प्रकाशन और लेखन रॉयल्टी के नाम से बड़ा खेल खेल रहे है। इनके पास संग्रहालय के अधीन प्रदेश के लेखकों द्वारा लिखित पुरातत्विक साहित्य संकलन छपवाने का जिम्मा है जिसमें इन्होंने भारी घाल.मेल कर रखा है। इसमें लेखकोंं को रायल्टी दिये जाने का भी प्रावधान है पर अजात् शत्रुजी ने ऐसा परम्परागत व्यवस्था को कायम रखते हुए कारनामा कर दिखलाया कि देखने वाले दंग रह जाये। लेखक कोईए छपे किसी के नाम से और आजीवन रॉयल्टी ले कोई। ये लेखक अधिकांशतरू सरकारी अधिकारी होते है और रायल्टी भी इन्हीं के खाते में जाती रही। छपाई का काम मध्यप्रदेश माध्यम जो कि मण्प्रण् जनसंपर्क विभाग के अधीन चिटफंड कंपनी तर्ज पर संचालित होने वाला रखैल रूपी संस्थान है। जिसके चेयरमेन स्वयं मुख्यमंत्री है। पूरा साहित्य अजात शत्रु श्रीवास्तव के आदेश पर छापता है। कुछ सौ किताब छपती है और हजारों  पुस्तकों के प्रिटिंग बिल बनाये जाते है। इस तरह साहित्यकारों और लेखकों  के नाम पर जमकर कलाधन.सफेद धन का खेल वर्षो से चल रहा है।  इनके विभाग द्वारा इस संबंध में यह जानकारी मांगने पर कि प्रकाशन छपे और कहां कितने बटेएउपलब्ध प्रकाशनों की सूची आदि आदि ण्ण्ण्यह इनके विभाग के पास उपलब्ध नहीं है। इसके पुख्ता प्रमाण स्वराज्य न्यूज के पास मौजूद है। तीसरी पारी की शुरूआत में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पहली कैविनेट बैठक में भष्टाचार मुक्त प्रशासन देने के लिए जीरोटारलेस की घोषणा की थी और प्रदेश की जनता को उनसे कुछ ऐसी उम्मीद भी थी। समय बीतने के साथ ही मुख्यमंत्री स्वयं अपने वायदे को भूल गये है और उनके इर्द.गिर्द पूरी भ्रष्टाचारियों की जमात जुट गई है कुछ के खिलाफ तो उच्च न्यायालय तक ने भी सख्त टिप्पणियां की है और उनके खिलाफ आपराधिक कृत्य को दृष्टिगत रखते हुए प्राथमिकी दर्ज करके कार्यवाही की अनुसंसा भी की हैए पररन्तु ये सबके सब मुख्यमंत्री जी के नाक के बाल बने हुए है और प्रदेश की जनता की छाती पर मंूग दलते नजर आ रहे हैं। हर जगह मुख्यमंत्री को गुमराह कर स्वयं के स्वार्थ सिद्धि में जुटे रहते हैं। संस्कृति महकमे के मठाधीशों को यह भी याद नहीं रहा कि हिन्दी को राष्ट्र भाषा का दर्जा दिलाने के अहम किरदार रहे गोविंद वल्लभ पंत जो कि उत्तर प्रदेश के निवासी थे तथा आजादी प्राप्त होने के बाद उत्तर प्रदेश जैसे राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री भी बने थेए हिन्दी को राष्ट्रभाषा घोषित कराने के लिये लंबा संघर्ष किया थाए राष्ट्रीय राजनीति में आने के बाद उन्हें पंण् जवाहर लाल नेहरू के मंत्रिमंडल में गृहमंत्री बनाया गया थाए उनके संघर्ष के कारण हिन्दी को राष्ट्र भाषा का दर्जा हासिल हुआ। ऐसे महान पुरूष का 10 सितम्बर जन्मदिन है प्रदेश के सस्कृति विभाग के पुरोधाओं ने यह भी उचित नहीं समझा कि कार्यक्रम के दौरान कहीं एक जगह भी उनके नाम का उल्लेख तक कर दें।  पूरे शहर में मोदी ही मोदी की तस्वीर छाई रहीं वह भी हिन्दी के नाम पर हिन्दी की सेवा में प्रण.प्राण से जुटे पुरोधा को इतने बड़े शहर में एक फोटो या बैनर तक मुहैया नहीं हो सका। दूसरी ओर मण्प्रण् के कई ऐसे साहित्यकार भी है जो पद्श्री अलंकरण से संम्मानित हो चुके है परन्तु उन्हें इस भव्य आयोजन से उन्हें दूर रखा गया है । क्या यह हिन्दी प्रेमी
और साहित्यकारों का सुनियोजित अपमानित करने की चेष्टा तो नही है। इन सरकारी चाटुकारों की वजह से हिन्दी भाषाए भारतीय चिकित्सा पद्धति तथा रामराज्य की कल्पना करना बेमानी है। ये चाटुकार खाते तो हिन्दी की है पर इनकी औलादें विदेशों में अंग्रेजियत की गुलाम बनी हुई है। जितने भी आज हिन्दी के नाम पर हिन्दी.हिन्दी खेल रहे हैं इनमें से कितनों की औलादें हिन्दी माध्यम या सरकारी स्कूलों में पढ़ी है। क्या इसका जबाव है किसी के पास। ये तो येन.केन प्रक ारेण से जनता के खून.पसीनों की कमाई को ठिकाने लगाने में पारंगत हैं और राजनेताओं को गुमराह करने में महारत हासिल किये हुए हैं। जिसकी वजह से ये ऊँचे ओहदों की कुर्सियों को हथियाये हुए हैंए राजनेताओं को उंगलियों पर नचा अपना उल्लू सीधा कर रहे हैं। ऐसा में भला ऐसे अधिकारियों के नेतृत्व में हिन्दी का कितना विकास होगाए यह सोच का विषय है।

Comments (0)

महिला पत्रकार पति पर फर्जी एफ आई आर के विरोध में पत्रकार संघठन एक मुख्यमंत्री नाम ज्ञापन

Posted on 08 August 2015 by admin

img-20150807-wa0027-1

जालौन उरई। दैनिक समाचार पत्र लखनऊ की झाँसी संवाददाता व श्रमजीवी पत्रकार यूनियन की सदस्या श्रीमती रजनी वर्मा के पति व परिवार सदस्यों पर झाँसी नवाबाद पुलिस दुवारा फर्जी एफ आई आर कर जेल भेज दिया था. सन 2006 में संजय वर्मा छोटे भाई अजय वर्मा की हत्या सरदार सिंह गुर्जर एवं उसके साथियेां ने की थी जिसका मुकदमा कोतवाली में अपराध संख्या 1463/2006 धारा 302, 147, 148, 149, 307 आई0पी0सी0 के अन्तर्गत दर्ज किया गया था। उपरोक्त प्रकरण में न्यायालय द्वारा उपरोक्त अभियुक्त सरदार सिंह गुर्जर व उसके साथियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गयी। इस प्रकरण शासकीय अपील माननीय उच्च न्यायालय में लम्बित है सजा के उपरान्त सरदार सिंह गुर्जर पुलिस अभिरक्षा से भाग गया था जिस पर माननीय उच्च न्यायालय ने अपर पुलिस महानिरीक्षक कानून एवं व्यवस्था व अपर पुलिस अधिकारियों को अभियुक्त सरदार सिंह गुर्जर को गिरफ्तार किये जाने हेतु सख्त आदेश पारित किये थे। बार-बार उच्च न्यायालय के आदेशों के बावजूद भी यू0पी0 पुलिस सरदार सिंह को गिरफ्तार नहीं कर सकी तो माननीय उच्च न्यायालय इलाहाबाद ने सख्त आदेश पारित किया एवं पुलिस अधिकारियों को माननीय उच्च न्यायालय के समक्ष उपस्थित होकर गिरफ्तारी हेतु समय मांगना पड़ा इस दरम्यान उ0प्र0 शासन ने ढाई लाख रूपये का इनाम एवं म0प्र0 शासन ने भी पचास हजार रूपये का इनाम सरदार सिंह गुर्जर के ऊपर घोषित किया।माननीय उच्च न्यायालय के कड़े रूख के चलते प्रशासन संजय वर्मा के विरूद्ध हो गया एवं संजय वर्मा द्वारा माननीय उच्च न्यायालय में की कार्यवाही के चलते पुलिस प्रशासन को काफी शर्मिन्दगी उठानी पड़ी जिसका बदला लेने की नियत से पुलिस प्रशासन ने जानबूझ कर संजय वर्मा व उसके परिवार को अपराध संख्या 0482/15 पर धारा 302, 120बी, 467, 468, 471, 419, 420 आई0पी0सी0 थाना नवाबाद झांसी के प्रकरण में झूठा फसाकर गिरफ्तार कर लिया । इतना ही नहीअब पुलिस संजय वर्मा पर गैंगिस्टर लगाने की तयारी कर रही है।
ऐसे में बुंदेलखंड के हर जिले में व्यापारियों ,अधिवक्ताओ ,समाजसेवी दुवारा विरोध जारी है। महिला पत्रकार के पति फर्जी एफ आई आर के विरोध में श्रमजीवी पत्रकार यूनियन की जालौन इकाई ने जिला अध्यक्ष श्रीकांत शर्मा के नेतृत्व जिला अधिकारी राम गणेश मुख्यमंत्री (उ0प्र0) संवोधित ज्ञापन दिया। ज्ञापन में पत्रकारों ने उपरोक्त प्रकरण में मृतिका महिला प्रियंका के परिवारीजनों पर दबाव बनाकर एवं जमीन व रूपयों पैसों के लालच में षंडयन्त्र करके संजय वर्मा को सबक सिखाने कि नियत से उनको और उनके परिवार को झूठे आरोप लगाते हुए फर्जी मुकदमा कायम कर फसा दिया । उपरोक्त प्रकरण में निष्पक्ष सी0बी0 सी0आई0डी0 द्वारा जांच कराये जाने की मांग की।

Comments Off

वरिष्ठ पत्रकार राजेन्द्र, सुरेन्द्र अग्निहोत्री की पूज्य की माता जी श्रीमती सुशीला देवी पत्नी स्व. श्री बालकिशन अग्निहोत्री का 92 वर्ष की आयु मे आकस्मिक निधन हो गया है।

Posted on 16 August 2014 by admin

वरिष्ठ पत्रकार राजेन्द्र, सुरेन्द्र अग्निहोत्री की पूज्य की माता जी श्रीमती सुशीला देवी पत्नी स्व. श्री बालकिशन अग्निहोत्री का 92 वर्ष की आयु मे आकस्मिक निधन हो गया है। नगर मेशोक की लहर दौड गयी। श्रीमती सुशीला देवी का अन्तिम संस्कार इलाइट चैराहा स्थित शमशान घाट पर वैदिक रीति के साथ उनके बडे पुत्र राजेन्द्र अग्निहोत्री द्वारा मुखाग्नि देकर किया गया। अंतिम शव यात्रा में नगर के वरिष्ठ नेता, अधिवक्ता, सामाजिक कार्यकर्ता तथा पत्रकार लेखक आदि बड़ी संख्या में मौजूद थे। विभिन्न  सामाजिक तथा सांस्कृतिक संगठनों एवं शिक्षण संस्थानोंके अलावा प्रदेश के मुख्यमुत्री एवं विभिन्न दलोंके प्रादेशिक अध्यक्ष ने भी शोक व्यक्त किया।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

लोकसभा के चुनाव में उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड में वोटों की महाभारत में सबकी नजर बुंदेली भूमि पर है।

Posted on 14 April 2014 by admin

लोकसभा के चुनाव में उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड में वोटों की महाभारत में सबकी नजर बुंदेली भूमि पर है। बुंदेलखंड कांग्रेसके राष्ट्रीय अध्यक्ष रनबीर सिंह यादव नेे कहा है कि चित्रकूट के घाट पर न तो संतों की भीड है और न चंदन घिसने के लिए तुलसीदास जी हैं. हां, बुंदेलखंड की व्यथा सुनने के लिए झांसी से भाजपा प्रत्याशी उमा भारती ने बुंदेलखंड राज्य 3 वर्ष मेंघोषित कराने का बादा किया है भारतीय जनता पार्टी नेेझासी रैली में बुंदेलखंड राज्य का सर्मथन किया था बुंदेलखंड राज्य का सपना पूरा करने का बादा करने के कारण बुंदेलखंड कांग्रेस पार्टी नेझांसी में प्रत्याशी नही ्रउतारा है।झांसी में भाजपा प्रत्याशी उमा भारती को बुंदेलखंड कांग्रेस का सर्मथन देने का ऐलान किया है।
बुंदेलखंड कांग्रेसके राष्ट्रीय अध्यक्ष रनबीर सिंह यादव नेे बुंदेलखंड के कार्यकर्ताओं को बुलाकर 2014 के लक्ष्य के लिए जुट जाने को कहा है।केन्द्र में बुंदेलखंड कांग्रेस छोटे राज्य की बकालत करने बालो की सरकार चाहती है। बुन्देलखण्डियों के हक के खातिर वादे तो सभी ने किए लेकिन आज तक हालात नही बदले बुन्देलखण्ड की रत्नगर्भा धरती अपने गोद में अनेक अनमोल खनिज सम्पदा समेटे हुए है। इस बेस कीमती खनिज सम्पदा पर नजरे गड़ाये बैठे उद्योगपतियों ने अपने उद्योग व मशीनों का पेट भरने खनिज सम्पदा का दोहन किया है। मालिक व उद्योगपति खनिज सम्पदा का दोहन कर मालामाल तो हो रहे है। परन्तु खनिज सम्पदा को धरती की गोद से बाहर निकालने वाले मेहनत कस मजदूरों की स्थिति बद से बदत्तर होती जा रही है। मजदूरों को कीड़े मकोड़े समझने वाले तथा कथित माफिया खदान मालिक मजदूरों की जान की परवाह न करते हुए उनकी जान जोखिम में डाल रहे है।
बुंदेलखंड अपनी वन संपदा, खनिज संपदा और शूरवीरता के कारण पूरी दुनिया में जाना जाता है. पानी की कमी, गरीबी और भुखमरी यहां की मुख्य समस्याएं हैं.श्रीयादव नेेकहा बुंदेलखंड राज्य के बिना समाधान नहीें हो सकता है।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

मतदाता जागरूकता अभियानः मतदाताओं को अधिक से अधिक मतदान करने को करें प्रेरितः बृजेश सिंह

Posted on 07 April 2014 by admin

Û खण्ड शिक्षा अधिकारी ने दिलाई शपथ, बूथों पर नारे लिखवाने के निर्देश
Û जिलानिर्वाचन अधिकारी ने दिये मतदाताओं को जागरूक करने के निर्देश
जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी चैत्रा वी के निर्देशन में अब जनपद के विकास खण्डों में भी मतदाता जागरूकता अभियान गति पकडता नजर आ रहा है। जिलाधिकारी के सख्त तेवर दिखने के बाद अभियान ने अब रफ्तार पकड ली है। अभियान को गति प्रदान करने के लिए एक ओर जहां जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी विनोद कुमार मिश्र प्रयासरत हैं वहीं बीआरसी मडावरा में खण्ड शिक्षा अधिकारी बृजेश सिंह ने मतदाता शपथ दिलायी। इसके साथ ही उन्होंने संकुल प्रभारियों को बूथों पर मतदाता जागरूकता संबंधी नारे लिखवाने के निर्देश दिये हैं।
उल्लेखनीय है कि लोक सभा चुनाव मतदान की तिथि 30 अप्रैल घोषित होने के बाद चुनावी तैयारियां करने में प्रशासन गंभीरता के साथ जुट गया है। जिले के 846 बूथों पर कुल 7 लाख 98 हजार 81 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेगें। इस बार लगभग 50 हजार नये मतदाता बनाये गये हैं, इन्हें भी मताधिकार का प्रयोग करने का मौका मिलेगा। पिछले चुनायों की तर्ज पर इस बार भी चुनाव आयोग ने  अधिक से अधिक मतदान के लिए मतदाताओं को मतदान के लिए जागरूक करने के लिए निर्देश दिये हैं। जिला निर्वाचन अधिकारी चित्रा वी के निर्देशन में पोंलिग बूथों पर मतदाता जागरूकता संबंधी नारे लिखवाने के साथ ही मतदाता जागरूकता रैलियां निकालकर मतदाताओं को अधिक से अधिक मतदान करने को प्रेरित करने के निर्देश जिला बेशिक शिक्षा अधिकारी को दिये हैं। खण्ड शिक्षा अधिकारी मडावरा बृजेश सिंह द्वारा बी.आर.सी. मडावरा में आयोजित सतत एवं व्यापक मूल्यांकन प्रशिक्षण का निरीक्षण किया। जिलानिर्वाचन अधिकारी के निर्देश के अनुपालन में उन्होंने सभी प्रतिभागियों का मताधिकार का प्रयोग एवं संदेश को जन-जन तक पहुंचाने की शपथ लेकर पुनीत लोकतांत्रिक प्रक्रिया को सृदृढ़ बनाने का संकल्प दिलाया। इस दौरान खण्ड शिक्षा अधिकारी बृजेश सिंह, शिक्षक यासीन खां, रमेशचंद्र रजक, कैलाशचंद्र जोशी, वेदराम प्रजापति, मानसिंह अनुदेशक स्वास्थ्य एवं शारीरिक शिक्षा, संकुल प्रभारी मडावरा किरन देवी जैन सहित शिक्षक एवं शिक्षामित्र उपस्थित रहे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

मनरेगा के तहत ललितपुर जिले में ग्रामीणों को सबसे अधिक मिला लाभ-जिलाधिकारी

Posted on 28 December 2013 by admin

ललितपुर जनपद के मेहरौनी तहसील सिथत श्री शांति निकेतन इण्टर कालेज प्रांगण में 25 दिसम्बर 2013 से शुरू हुए जनसूचना अभियान के तीसरे एवं अंतिम दिन महात्मा गाँधी नरेगा, इनिदरा आवास, पंचायती राज, सार्वजनिक वितरण प्रणाली, पेंशन, आधार, अल्पसंख्यक कल्याण, समाज के पिछड़े, अनु0 जाति, अनु0 जनजाति, विकलांग आदि के लिये कार्यक्रमों, राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम तथा सम्बनिधत विषयों पर चर्चा की गयी।
कार्यक्रम में अंतिम दिन मुख्य अतिथि जिलाधिकारी श्री ओ0पी0 वर्मा ने अपने उदबोधन में कहा कि महात्मा गाधी नरेगा योजना से गाव मे ंविकास को गति मिली है और मजदूरों का पलायन रूका है। इस योजना से जहा खाली समय में लोगो को रोजगार का अवसर मिला है वहीं लोग अपने खेतों में काम करके आर्थिक सम्पन्नता की ओर बढ़ रहे हैं जिस कारण गावों में आर्थिक खुशहाली बढ़ी है जिससे लोगो की शिक्षा, स्वास्थ्य जैसी बुनियादी सुविधाओं में निरन्तर सुधार हो रहा है। उन्होने कहा कि ललितपुर जिले में इस योजना के तहत सबसे अधिक लाभ ग्रामीणों को मिला है। जिलाधिकारी महोदय ने जनसूचना अभियान की सराहना करते हुए कहा कि इस कार्यक्रम के द्वारा लोगों मेहरौनी की जनाता को बड़ी ही महत्वपूर्ण जानकारियाँ मिल रही हैं।
पंचायती राज विभाग से आर्इ श्रीमती तबस्सुम ने लोगों से अपील की कि वे अपने घरों में शौचालयों का निर्माण जरूर करायें। उन्होंने बताया कि निर्मल भारत स्वच्छता अभियान के तहत सरकार शौचालय निर्माण के लिए नौ हजार एक सौ रूपये की राशि देती है। इसके अतिरिक्त नौ सौ रूपये की राशि लाभार्थी को देनी होती है।
भारतीयरिजर्व बैंक, कानपुर के वरिष्ठ अधिकारी नरेन्द्र कुमार संखवार ने लोगों को बताया कि किसी भी फाइनेन्स कम्पनी में निवेश करने से पूर्व उसकी अच्छी तरह से जाच-पड़ताल कर लेनी चहिए। उन्होने बताया कि रिजर्व बैंक किसी भी फाइनेन्स कम्पनी में जमा की राशि की गारन्टी नहीं लेता है। इसके अलावा बैंक के ही एक अन्य अधिकारी चन्द्र प्रकाश सिंह ने असली-नकली नोटों की पहचान बतायी। उन्होने बताया कि  किसानों के लिए किसान क्रेडिट कार्ड, फसली ऋण, टै्रक्टर लोन, एवं Ñषि यन्त्रों और शिक्षा पर  ऋण देने के लिए सभी बैंकों को निर्देश दिये गये है। उनहोने कहा कि बैंकों की निगरानी रखने एवं ग्राहकों की शिकायतों के निस्तारण के लिए बैंकिंग लोकपाल का गठन किया गया है जिसका कार्यालय कानपुर में है। उन्होंने कहा कि बैंकिग लोकपाल की सुविधाए पूरी तरह से नि:शुल्क हैं। इसके लिए आप सीधे ही रिजर्व बैंक आफ इणिडया से सम्पर्क कर सकते है।
सामाजिक संस्था बेबी फ्रेंडली हेल्थ कम्युनिटी इनिशिएटिव के संचालक राम सेवक सेन ने बताया कि भारत में लगभग चौदह लाख से अधिक बच्चे एक वर्ष के अन्तराल में ही दम तोड़ देते हैं और इनमें से दस लाख बच्चों की जन्म के पहले महीने में ही मृत्यु हो जाती है। उन्होनें बताया कि बच्चे को जन्म लेने के एक घण्टे अन्दर स्तन पान कराने से शिशु मृत्यु दर को 22 प्रतिशत तक कम किया जा सकता है।
अल्पसंख्यकों के कल्याण के लिए चलार्इ जा रही योजनाओं पर बोलते हुए क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी बांदा श्री आरिफ रिज़वी ने कहा कि केन्द्र सरकार ने अल्पसंख्यकों के सर्वांगीण विकास के लिए विभिन्न योजनाए चलायी हैं जिसमें शिक्षा, रोजगार, आवास मुख्य हैं। अल्पसंख्यक छात्रों को कम्प्यूटर शिक्षा, किताबे और ट्रेनिंग के साथ सभी छात्रवृतित योजनाओं में विशेष रियायत के तौर पर लड़कियों को तीस प्रतिशत वजीफे का आरक्षण प्राप्त है। अल्पसंख्यक दस्तकारों के कल्याण के लिए भारत सरकार ने स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना चलायी है, इसके साथ ही उदर्ू के शिक्षकों के लिए केन्द्रीय सहायता, तकनीकी प्रशिक्षण के जरिए कौशल विकास व राज्य और केन्द्रीय सेवाओं में अल्पसंख्यकों की भर्ती जैसी जानकारियाँ श्री रिज़वी ने लोगों के बीच बाटी।
कार्यक्रम के नोडल अधिकारी श्री ए0पी0 सोनी ने खाध सुरक्षा विधेयक पर कहा कि भारत सरकार के इस अभूतपूर्व प्रयास से देश की जनता को बेहद मामूली दरों पर अनाज उपलब्ध होना प्रारम्भ हो गया है। देश के कर्इ हिस्सों में जनता को इसका लाभ प्राप्त करते हुए देखा जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस विधेयक से देश के ग्रामीण इलाकों सहित शहरी क्षेत्रों में लोगों को सस्ते दामों पर अनाज उपलब्ध होगा। श्री सोनी ने कहा कि मुख्यत: इस योजना का उददेश्य गरीब व कमजोर वर्गों में कुपोषण को कम करना है, दूध पिलाने वाली माताओं, गर्भवती महिलाओं और छह साल के छोटे बच्चों को इसका विशेष रूप से लाभ होगा। इसके साथ ही श्री सोनी ने कहा कि भारत सरकार का यह एक ऐतिहासिक कदम है उन्होने कहा कि इस योजना से अन्न की बर्बादी तो रूकेगी ही साथ ही साथ गरीब व्यकित को कम मूल्य पर भोजन का अधिकार मिला है।
समापन अवसर पर जनसूचना अभियान को सफल बनाने के लिए सहयोग देने वाले केन्द्रीय व राज्य सरकारों के विभागों तथा स्वयं सेवी संगठनों को जिलाधिकारी श्री ओ0पी0 वर्मा ने प्रमाणपत्र देकर सम्मानित किया।कार्यक्रम समापन से पूर्व जिलाधिकारी ललितपुर को कार्यक्रम के नोडल अधिकारी श्री ए0पी0 सोनी ने शाल व प्रतीक चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया।
जनसूचना अभियान के तीसरे व अंतिम दिन दिन गीत एवं नाटय विभाग द्वारा मान्यता प्राप्त रविन्द्र जादूगर, कंचन मधुर कला संगम लखीमपुर आर शाकुन्तलम लोक कला संस्थान, झांसी के कलाकारों ने सूचनाप्रद और मनोरंजक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी। इन इकार्इयों द्वारा प्रतिदिन रात में फिल्मों का प्रदर्शन भी किया गया।
क्षेत्रीय प्रचार निदेशालय की बांदा और झांसी इकार्इयों द्वारा संयुक्त रूप से प्रश्नोत्तरी प्र्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया जिसमें आज दिनभर विभिन्न विषयों पर हुर्इ चर्चाओं व  केन्द्र सरकार की योजनाओं से सम्बनिधत प्रश्न पूछे गये। प्रश्नो का सही उत्तर देने वाले प्रतिभागियों को पुरस्Ñत किया गया।क्षेत्रीय प्रचार निदेशालय की दोनो इकार्इयों द्वारा मुख्य कार्यक्रमों से ठीक पहले मेहरौनी के आस-पास के कर्इ ग्रामीण क्षेत्रों में सघन प्रचार अभियान भी चलाया गया था। इनमें पचौरा, खिरिया लटकनजू, समोगर, छपरठ आदि कर्इ गावों में सांस्Ñति दलों के साथ विशेष कार्यक्रम भी किये गये। क्षेत्रीय प्रचार निदेशालय झांसी और बांदा के अधिकारियों श्री आरिफ रिज़वी और श्री संजय प्रताप सिंह द्वारा विभिन्न सत्रों में सरकार की लोक कल्याणकारी योजनाओं की विस्तृत जानकारी दी गयी। कार्यक्रम में भाग लेने वाले कर्इ ग्रमा प्रधानों ने अपनी प्रतिकि्रया व्यक्त करते हुए कहा कि पूर्व प्रचार के कारण उनके गावों के लोग बड़ी संख्या में स्वयं ही इन कार्यक्रमों में भाग लेने आ रहे है।

इस अवसर पर कार्यक्रम के नोडल अधिकारी श्री आनन्द प्रकाश सोनी, क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी बांदा श्री आरिफ रिज़वी, प्रशासनिक अधिकारी प0सू0का0 लखनऊ श्रीमती सत्या देवी, क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी झांसी श्री संजय प्रताप सिंहसहित कर्इ गणमान्य उपसिथत थे। मंच का संचालन श्री राजेन्द्र विश्वकर्मा ने किया।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री एम.एम.पल्लम राजू सोमवार दिनांक 23सितम्बर 2013 को ललितपुर और झांसी दौरे पर आ रहे हैं।

Posted on 21 September 2013 by admin

केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री एम.एम.पल्लम राजू सोमवार दिनांक 23सितम्बर 2013 को ललितपुर और झांसी दौरे पर आ रहे हैं। वे प्रात: 6.50 बजे ललितपुर पहुंचेंगे। उसके बाद मंत्री महोदय ललितपुर में 9.30 बजे एक केन्द्रीय विधालय की आधार शिला रखेंगे।
इसके बाद मंत्री जी दोपहर 12.45 बजे बुंदेलखंड विश्वविधालय झांसी पहुंचेंगे।
दिन में वे 2.00 बजे एक कार्यशाला में भाग लेने के बाद 03.00बजे  बुंदेलखंड क्षेत्र में चल रहीं शिक्षा संबधी योजनाओं के वारे में समीक्षा बैठक करेंगे।
इसके बाद केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री 04.30 बजे संवाददाताओं से बातचीत करेंगें। शाम 06.00बजे दिल्ली रवाना हो जायेंगे।
आपसे अनुरोध है कि उक्त कार्यक्रम के विस्तृत कवरेज हेतु अपने सम्मानित समाचार पत्रचैनल से अपना प्रतिनिधि भेजने का कष्ट करें।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

किसानों की बदहाली और खुदकशी की घटनाओं का प्रशासनिक अधिकारी मजाक उड़ा रहे है

Posted on 04 December 2012 by admin

कर्ज से तवाह हो रहे बुन्देलखण्ड के किसानों की बदहाली और खुदकशी की घटनाओं का प्रशासनिक अधिकारी मजाक उड़ा रहे है।

राजस्व मंत्री अम्बिका चैधरी ने बाँदा की तिन्दवारी विधानसभा के विधायक दलजीत सिंह को जवाब दिया कि बुन्देलखण्ड के बाँदा, हमीरपुर, ललितपुर झांसी तथा चित्रकूट में कर्ज एवं गरीबी सूखा के कारण किसी किसान ने आत्महत्या नहीं की है।

प्रशासनिक अफसरों ने गायब कर दिया भरा पूरा गाँव गोरनपुरवा जहाँ किसान कामता प्रसाद ने 12 मई 2012 को कर्ज के कारण कीटनाशक दवा खाकर आत्महत्या की थी।

इंडियन जस्टिस पार्टी के प्रदेश महासचिव इसरार उल्ला सिद्दीकी ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए कहा कि प्रदेश के प्रशासनिक अधिकारी इतने असंवेदनशील हो गये है कि बुन्देलखण्ड में विगत 6 वर्षो से वर्षा न होने के कारण सूखा पड़ा हुआ है पूर्ववर्ती बसपा सरकार व केन्द्र सरकार ने सूखे को देखते हुए तमाम योजनायें संचालित की हुई है। तब भी किसान कर्ज एवं गरीबी के कारण आयेदिन आत्महत्या कर रहे है प्रशासनिक अधिकारी सरकार को खुश करने के लिए किसानों द्वारा कर्ज एवं गरीबी से परेशान होकर आत्महत्या करने की रिपोर्ट शासन को झूठी दे रहे है।

श्री सिद्दीकी ने बतलाया कि अभी 12 मई 2012 को हमीरपुर जनपद मुख्यालय से 54 किलोमीटर दूर मुस्करा कस्बे के निकट तहसील मौदहा ग्राम पंचायत गहरौली मजरा गोरनपुरवा में किसान कामता प्रसाद ने कर्ज एवं सूखे से परेशान होकर कीटनाशक पीकर आत्महत्या कर ली थी मुस्करा पुलिस ने पंचनामें में कीटनाशक की शीशी का भी जिक्र किया है कि वहीं पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी किसान कामता की मौत का कारण कीटनाशक बताया गया है। श्री सिद्दीकी ने बतलाया कि तिन्दवारी विधानसभा के विधायक श्रीदलजीत सिंह ने कर्ज से तवाह हो रहे बुन्देलखण्ड के किसानों की बदहाली खुदकशी की बढ़ती घटनाओं के लिए राजस्व मंत्री श्री अम्बिका चैधरी को पत्र लिखा शासन ने इस पत्र की बिन्दुवार जांच कराई सभी जिलों से मिली रिपोर्ट के आधार पर मा0 राजस्व मंत्री ने कहा कि सभी जिलों के जिलाधिकारियों की आख्यानुसार किसी किसान ने कर्ज एवं गरीबी से परेशान होकर आत्महत्या नहीं की।

श्री सिद्दीकी ने कहा कि जिलाधिकारी हमीरपुर ने शासन को जो रिपोर्ट दी है उसमें कहा कि जनपद हमीरपुर स्थित तहसील हमीरपुर के अन्तर्गत गोरनपुरवा नाम का कोई ग्राम नहीं है न ही किसी किसान द्वारा कर्ज और आर्थिक तंगी से परेशान होकर आत्महत्या की है जबकि हमीरपुर जनपद के कस्बा मुस्करा के निकट तहसील मौदहा के गहरौली ग्राम पंचायत मजरा गोरनपुरवा है सरकारी दस्तावेजों में है वहीं किसान कामता प्रसाद ने कर्ज से परेशान होकर आत्महत्या की थी थाना मुस्करा में मुकदमा भी पंजीकृत है।

श्री सिद्दीकी ने मा0 मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मांग करते हुए कहा कि शासन को गुमराह करने वाली रिपोर्ट देने वाले प्रशासनिक अधिकारियों को दण्डित करें बुन्देलखण्ड में कर्ज एवं गरीबी के कारण आत्महत्या करने वाले किसानों की जांच कराकर उनके परिवारो को पुर्नस्थापित करने के लिए आर्थिक सहायता दे बुन्देलखण्ड में केन्द्र सरकार, उ0प्र0 सरकार द्वारा संचालित योजनाओं की देखरेख हेतु राज्य स्तरीय समिति का गठन करें। जिससे बुन्देलखण्ड के किसानों की योजनाओं का लाभ मिल सके तथा आत्महत्या में रोक लगे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

June 2017
M T W T F S S
« May    
 1234
567891011
12131415161718
19202122232425
2627282930  
-->







 Type in