*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | August 13th, 2017

सकल्ंप देश सेवा है। हमारे यशस्वी मोदी जी पारसमणि,हंस व हीरा है।

Posted on 13 August 2017 by admin

वह न रूकता है न थकता है न अलोचनाओ से डिगता है। उद्देश्य सेवा राष्ट्र की पथ से कभी भटकता नहीं है। सत्तत निर्विधनम बढता चला जा रहा है। वह कौन है, जो जाड़ा, गर्मी, सर्दी, बरसात साल के 365 दिन अनवरत राष्ट्र प्रेम से ओत प्रोत देश ही नही दुनिया में भारत का डंका बजवा रहे है। दुनिया का महाशक्तिशाली सर्वशाक्तिशाली मुल्क उसके लिए पलक पावडे बिछा कर स्वागत करता है। अमेंरिका उसे महान नेता बताता है। इजराइल ने सच्चा दोस्त कहा है। रूस, फ्रांस, कनाडा, आस्ट्रेलिया व जमर्नी आदि उसके लिए क्रान्तकारी विकास पुरूष की संज्ञा देते है। जी हाॅ हम माॅ भारती के सच्चे सपूत हीराबेन के बेटे भारत के सफलतम् प्रधानमंत्री कर्मयोगी राष्ट्रसतं नरेन्द्र दामोदर दास मोदी की बात कर रहे है। देश ने आजादी से लेकर अब तक अनेक नेता देखे कई पार्टियां की सरकारे, प्रधानमंत्री देखे परन्तु नरेन्द भाई का कोई सानी नही है। अपने साहासिक निर्णयो के कारण दुनिया के नेता उनको अपना आदर्श मानते है। उनकी एक अपील पर लोगों ने अपनी गैस सब्सीडी छोड़ दी । बिना कोई पैसे लिए मुफ्त में 05 करोड़ से अधिक गरीबों को सब्सीडी गैस सिलेण्डर दिला दिए। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा वर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट़ªपं उनको महान राष्ट्रवादी नेता बताते है। वाह नरेन्द्र भाई आपने जो तीन वर्ष में देश को सम्मान दिलाया सफलता दिलाई उसे देश कभी भूल नही पायेगा। भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणव दादा उनको कुशल नेता व मार्गदर्शक बतातें है।
भारत के एक ओर लोकप्रिय महान प्रधानमंत्री हुए लाल बहादुर शात्र.ी जी जिन्होने देशवासियों से एक दिन उपवास रहने की अपील की थी तो उस समय अन्न का सकंट दूर हो गया था। जय जवान जय किसान का नारा उन्होने दिया था। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी जी ने इस नारे के साथ जय विज्ञान भी जोड़ दिया था। नरेन्द्र भाई की एक अपील पर देश ही नही दुनिया ने योग को अपनाया और विश्वयोग दिवस मनाया जाने लगा यानि योग को नया आयाम दिया मोदी जी ने। मोदी का यह नारा अबकी बार मोदी सरकार अमेरिका चुनाव में डोनाल्ड ट्रप ने यूं दिया अबकी बार टंªप सरकार यह नारा रोनाल्ड ट्रंप ने दिया और वह जीते भी। नरेन्द्र भाई मोदी के बारे में संत कहते है फूल की खुशबूु हवा के कारण दूर तक फैलती है परन्तु मानवीय गुणों की खुशबूु चारों ओर बिना हवा के कारण भी फैलती है। नरेन्द्र भाई के मानवीय गुणों की खुशबू आज पूरी दुनिया में फैल गई है। पुरूष नहीं यह महापुरूष है, नेता नहीं यह महान नेता है। यह मानव नहीं देवता है। रात दिन अपने देश व देशवासियों के बारे में सोचता है तथा कठोर परिश्रम कर रहा है। जिस भारत में घोटाला की बाढ़ आ गई थी जैसे 15 अगस्त 1947 को देश आजाद हआ तब से अब तक देश ने क्या खोया क्या पाया इस पर एक नजर डाल तो काग्रेस राज में देश को लूटा गया एक नजर कागं्रेस शासन के घपले घोटालों पर डाले तो सन् 1987 में बोफोर्स तोप घोटाला - 960 करोड़, 1992 में शेयर-तोप घोटाला-5000 करोड़, 1994 में चीनी घोटाला 650 करोड़, 1995 में प्रेफेशल अलाॅटमेंट घोटाला 5000 करोड़, 1995 में कस्टम टैक्स घोटाला 43 करोड़, 1995 में काबरलर घोटाला 1000 करोड़, 1995 हवाला घोटाला 400 करोड़, 1995 मेघालय में वन घोटाला 300 करोड़, 1996 उर्वरक आयात घोटाला 1300 करोड़, 1996 चारा घोटाला 950 करोड़, 1996 यूरिया घोटाला 133 करोड़, 1997 भूमि घोटाला 400 करोड़, 1997 में म्यूच्यूअल फन्ड घोटाला 1200 करोड़, 1997 सुखराम टेलिकाम घोटाला 1500 करोड़, 1977 एसएनसी पावर प्रोजेक्ट घोटाला 374 करोड़,1998 उदय गोयल कृषि उपज घोटाला 210 करोड़, 1998 में टीक पौधा घोटाला 8000 करोड़, 2001 में डालमिया शेयर घोटाला 595 करोड़, 2001 केनत पाररिख प्रतिभूति घोटाला 1000 करोड़, 2002 में संजय अग्रवाल ग्रह निवेश घोटाला 600 करोड़, 2002 में कलकत्ता स्टाफ एक्सचंेज 120 करोड़, 2003 मंे स्टाम्प घोटाला 20000 करोड़ घोटाला, 2005 में आई पीओ कारिडोर घोटाला 1000 करोड़, 2005में बाढ़ आपदा घोटाला 17 करोड़, 2005 में सौरपियन पनडूब्बी घोटाला 175 करोड़, 2006 में पंजाब सिटी सेंटर घोटाला 1500 करोड़, 2008 में कालाधन घोटाला 210000 करोड़, 2008 में सत्यम घोटाला 8000 करोड़, 2008 में सैन्य राशन घोटाला 5000 करोड़, 2008 में स्टेट बैंक आॅफ सौराष्ट्र घोटाला 95 करोड़, 2008 में हसन अली हवाला घोटाला 39120 करोड़, 2008 में उडीसा खाद्यन घोटाला 4000 करोड़, 2009 में झारखण्ड में मेडिकल उपकरण घोटाला 130 करोड़, 2010 में आदर्श सोसाइटी 900 करोड़, 2010 में खाद्यान घोटाला 35000 करोड़, 2010 में बैंड स्पेक्ट्रम घोटाला 200000 करोड़, 2011 में 2जी स्पेक्ट्रम घोटाला 176000 करोड़, 2011 कामनवेल्थ घोटाला 70000 करोड़,
ये तो वे प्रमुख घोटाले है जो उजागर हुए बाकी देश का बंटाधार करने में इन लोगों ने कोई कसर नहीं छोड़ी। मोदी जी ने जिस दिन शपथ ली थी उसी दिन देश की की जनता से वायदा किया था वह देश के धन के चैकीदार है। एक नया पैसा भी किसी को लूटने नहीं दूंगा। आजतक वह अपने वादे पर कायम है और हमेशा रहेगें। उन्होने देश को आगे बढाने में कोई कोर कसर नहीं छोडी, गरीबो को मुफ्त रसोई गैस दी। 7.5 करोड लोगो को बैंक से ऋण दिलाकर स्वावलम्बी बनाया। करोडो घरों मे शौचालय बनवा दिये। सैनिको को वन रैंक वन पेंशन दी। कैंसर-बीपी शुगर जैसी मंहगी दवाईयों को 85 प्रतिशत तक सस्ता किया। स्वच्छ भारत अभियान चला रहे है। प्रतिवर्ष लाखों नवयुवक को सीधे नौकरियां दे रहे है। सतत् देश को आगे बढा रहे हैं।
भ्रष्टाचार पर बेरहम प्रहार कर उसको रोकर समृद्ध भारत, सुदृढ भारत स्वावलम्बी भारत बन रहे हैं। उनका कोई विकल्प नहीं हैं
विष्णु भगवान की आरती की वह लाईन नरेन्द भाई पर आज सही लगती है। तन-मन धन सब तेरा, तेरा तुझ को अपर्ण, क्या लागे मोरा। सार्वजानिक जीवन में लोग गुण-दोष तो ढूढते ही रहेगें लेकिन सूरज पर थूकने वालो पर थूक पलट कर गिरता है। गुजरात के मुख्यमंत्री रहते हुए उन पर विरोधियों ने तरह-तरह के आरोप लगाए लेकिन उन्होने मुंह की खायी। अब देश के प्रधानमंत्री पर जो झूठे आरोप लगा रहे है भविष्य में मुंह की ही खायेगें। एक शेर उस समय जब यूपीए सरकार थी तब किसी ने लिखा था कि देश के हालात जो गिनने लगेगें तो पत्थर भी आंसू बहाने लगगे अगर खो गई कही इन्सानियत तो ढूढने में जमाने लगेगंे वे पारसमणि है। लोहा भी जिसका स्पर्श पाकर सोना बन जाता है उसे पारस कहते है। मणि का सहज गुण है वह अपना प्रकाश 24 घंटे देती है। सांप का ससंर्ग पाकर भी मणि उसके विष को ग्रहण नही करती बल्कि अपने सहजगुण प्रकाश को नही छोड़ती। इसी भांति वह अजेय योद्धा भारत में 70 सालों से हो रहे भ्रष्टाचार से बिना विचलित हुए अपने ईमानदारी के महानगुण से देश को महका रहे है। सोने के टुकडे-टुकडे हो जाने पर भी वह अपना मूल्य कम नही होने देता। हीरा तो हीरा है। हंस व बगुुला दोनो सफेद रंग होता है एक रंग के होने के बावजूद दोनो के गुणांे में भारी अन्तर हैं। हंस का गुण हैं वह मोती चुगता हैं दुध से जल को निकाल कर अपने नीरक्षीर विवेक का परिचय देता है। जबकि बगुले का आहार झील के कीडे़ होते है। यशस्वी प्रधानमंत्री जी हंस की भांति है जबकि उनके विरोधी बगुलो की भांति है। मोदी जी का पूरा जीवन आदर्श जीवन हैं। संघ की ये विचार पंक्तियां जैसे उनके लिए ही लिखी गई है। तेरा वैभव अमर रहे मां, हम दिन चार रहे न हरे
हम जियेगंे और और मरेगें ए वतन तेरे लिए। उनकी छाप भारत के नौजवानों में स्पष्ट रूप से दिखती है। बाबा राम देव उनको राष्ट्रसंत की उपाधि दिये है। संत समाज जिसकी प्रशंसा करता है वही सच्चे अर्थों में मानव कहलाता है। मोदी जी के कुशल नेतृत्व व सुदृढहाथों में भारत को देख यहां के नौजवान, व्यापारी, महिलायें, गरीब-अमीर सभी खुश है तथा उनकी राष्ट्रभगती राष्ट्रप्रेम, राष्ट्र अराधाना से प्रेरणा प्राप्त कर रहे है। नरेन्द्र भाई की स्वस्थ लम्बी आयु के लिए ईश्वर से प्रार्थना कर रहे है।
(नरेन्द्र सिंह राणा)
प्रदेश प्रवक्ता भाजपा

Comments (0)

राज्यपाल ने विद्या भारती के छात्रों को सम्मानित किया

Posted on 13 August 2017 by admin

छात्रों की सफलता के पीछे शिक्षकों की तपस्या होती है -श्री नाईक

माधव सभागार निराला नगर में आज पं0 दीनदयाल उपाध्याय जन्मशती वर्ष के उपलक्ष्य में विद्या भारती पूर्वी उत्तर प्रदेश क्षेत्र द्वारा ‘प्रतिभा सम्मान समारोह 2017’ का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि के रूप में उत्तर प्रदेश के राज्यपाल श्री राम नाईक ने विद्या भारती के विद्यालयों के ज्ञान-विज्ञान, खेल जगत व अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कृत तथा हाईस्कूल एवं इण्टरमीडिएट परीक्षा 2017 में श्रेष्ठता सूची में स्थान पाने वाले 63 छात्र-छात्राओं को प्रशस्ति पत्र एवं प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया। राज्यपाल ने समारोह में भारतीय प्रशासनिक सेवा में इस वर्ष चयनित सरस्वती शिशु एवं विद्या मंदिरों के पूर्व छात्र श्री मनोज कुमार राठौर, श्री शशांक त्रिपाठी, श्री आशुतोष द्विवेदी, श्री श्रेयांश मोहन तथा श्री विवेक आनन्द शर्मा को भी सम्मानित किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री यतीन्द्र शर्मा राष्ट्रीय सहसंगठन मंत्री विद्या भारती ने की तथा पद्मश्री बह्मदेव शर्मा विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित थे।
राज्यपाल ने शिक्षा के क्षेत्र में विद्या भारती के प्रयास की सराहना करते हुए कहा कि प्रतिभा के लिए सम्मान पाने वाले छात्र-छात्राएं, उनके परिवार के साथ-साथ शिक्षक भी अभिनन्दनीय हैं। छात्रों की सफलता के पीछे शिक्षकों की तपस्या होती है तभी विद्यालय की पहचान बनती है। आज के दौर में शिक्षा व्यवसाय बन गई है। ऐसे समय में विद्या भारती ने एक उदात्त उदाहरण प्रस्तुत करके बताया है कि गुणवत्तायुक्त और सस्ती शिक्षा सुदूर क्षेत्रों में कैसे उपलब्ध हो सकती है। समाज के लोग खुली आंखों से काम करें तो जागरूकता उत्पन्न की जा सकती है। उन्होंने कहा कि उत्कृष्टता सूची में विद्या भारती द्वारा संचालित शिक्षण संस्थानों के छात्रों को देखकर लगता है कि विद्या भारतीय अच्छे छात्रों के निर्माण करने वाली फैक्ट्री (कारखाना) जैसा काम कर रही है।
श्री नाईक ने छात्रों को सम्बोधित करते हुए कहा कि छात्रों का धर्म शिक्षा ग्रहण करना है। यहाँ धर्म का अर्थ कर्तव्य से होता है। यदि सच्ची लगन से विद्यार्थी अपने धर्म का पालन करें तो उसे जहाँ एक ओर सम्मान मिलता है वहीं अन्य विद्यार्थियों को भी प्रेरणा मिलती है। केवल किताबी कीड़ा न होकर क्रीड़ा एवं स्वास्थ्य के क्षेत्र में भी विद्यार्थी अपना योगदान दें। छात्र अपना लक्ष्य निर्धारित करके उसे प्राप्त होने तक मेहनत करें। पूर्व राष्ट्रपति डाॅ0 कलाम को उद्धृत करते हुए उन्होंने कहा कि सफलता प्राप्त करने के लिए खुली आंखों से बड़े सपने देखें और सपनों के पूरा होने तक चैन से न बैठें।
राज्यपाल ने कहा कि वसुधैव कुटुम्बकम के आधार पर काम करें तथा पं0 दीनदयाल के आदर्श चिन्तन एवं विचारों को लेकर देश को आगे बढ़ाने का प्रयास करें। उन्होंने व्यक्तित्व विकास के चार मंत्र बताते हुए कहा कि सदैव प्रसन्नचित रह कर मुस्कराते रहंे, दूसरों के अच्छे गुणों की प्रशंसा करें और अच्छे गुणों को आत्मसात करने की कोशिश करें, दूसरों को छोटा न दिखाये तथा हर काम को और बेहतर ढंग से करने का प्रयास करें। उन्होंने व्यक्तित्व विकास के साथ-साथ ‘चरैवेति! चरैवेति!!’ के आधार पर सफलता प्राप्त करने के लिए गुण बताएं।
विशिष्ट अतिथि पद्मश्री बह्मदेव शर्मा ने बताया कि विद्या भारती का लक्ष्य गौरवशाली भारत का निर्माण है। विद्या भारती से जुड़े शिक्षा संस्थान अच्छा कार्य कर रहे हैं। संस्था के माध्यम से अभाव ग्रस्त बच्चे भी अच्छी शिक्षा प्राप्त कर कीर्तिमान स्थापित कर रहे हैं। गत वर्ष विद्या भारती के छात्र सरफराज हुसैन नाम के छात्र ने 10वीं की परीक्षा में प्रथम स्थान प्राप्त किया था। विद्या भारती धर्म और जाति के आधार पर फर्क नहीं करती। उन्होंने कहा कि छात्र राष्ट्र की सेवा के लिए प्रतिभा का प्रयोग करके समर्थ भारत बनाने में सहयोग करें।

Comments (0)

राज्यपाल को विष्णुकांत शास्त्री का भाषण संग्रह भेंट किया

Posted on 13 August 2017 by admin

पुस्तक को देखकर शास्त्री जी की स्मृतियाँ जीवंत हो उठी - श्री नाईक

उत्तर प्रदेश के राज्यपाल श्री राम नाईक से आज श्री आर0के0 ओझा ने भेंट की तथा पूर्व राज्यपाल स्व0 विष्णुकांत शास्त्री के भाषणों का संग्रह ‘विचार-प्रवाह’ की प्रति भेंट की। श्री आर0के0 ओझा अवकाश प्राप्त प्रशासनिक अधिकारी हैं जो राजभवन लखनऊ में राज्यपाल श्री विष्णुकांत शास्त्री के विशेष सचिव भी रह चुके हैं। भाषण संग्रह का सम्पादन डाॅ0 प्रेमशंकर त्रिपाठी द्वारा किया गया है तथा भाव उद्गार के रूप मे श्री ओझा ने अपने विचार साझा किए हैं। आचार्य विष्णुकांत शास्त्री के 38 भाषणों के संग्रह ‘विचार प्रवाह’ की भूमिका डाॅ0 शिव ओम अम्बर द्वारा लिखी गयी है। स्व0 विष्णुकांत शास्त्री 24 नवम्बर 2000 से 02 जुलाई 2004 तक उत्तर प्रदेश के राज्यपाल रहे हैं।
राज्यपाल श्री राम नाईक ने आचार्य विष्णुकांत शास्त्री के भाषण संग्रह की प्रशंसा करते हुए कहा कि पुस्तक का आवरण देखकर ही उनकी स्मृतियाँ जीवंत हो उठी हैं। राज्यपाल ने कहा कि शास्त्री जी के साथ उनका करीब का संबंध रहा है। पार्टी और संगठन में उनके साथ काम करने का अवसर मिला है। स्व0 शास्त्री विद्वता, सादगी एवं स्नेह की प्रतिमूर्ति थे जिन्हें गीता पर अधिकार था। उनके भाषण अत्यन्त ज्ञानवर्द्धन एवं आकर्षित करने वाले थे तथा उनकी स्मरण शक्ति भी अद्भुत थी। स्व0 शास्त्री को हिन्दी सहित उर्दू के अनेक अच्छे साहित्यकारों एवं कवियों की कृतियाँ एक तरह से कंठस्थ थी। उन्होंने कहा विष्णुकांत शास्त्री जी की कमी आज भी महसूस होती है।

Comments (0)

मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री के साथ बी0आर0डी0 मेडिकल काॅलेज, गोरखपुर का निरीक्षण किया

Posted on 13 August 2017 by admin

मुख्यमंत्री ने चिकित्सकों को मरीजों के बेहतर इलाज के निर्देश दिए

किसी भी मरीज की मृत्यु उपचार के अभाव में नहीं होनी चाहिए: मुख्यमंत्री

गोरखपुर ही नहीं, प्रदेश में कहीं भी लापरवाही के कारण जनहानि होगी, तो सरकार सम्बन्धित के विरुद्ध कठोर कार्यवाही करेगी: मुख्यमंत्री

01कोई भी चिकित्सक प्राइवेट पै्रक्टिस करते पाया गया,
तो उसके विरुद्ध सख्त कार्रवाई होगी: योगी आदित्यनाथ

प्रधानमंत्री द्वारा इस पूरे प्रकरण की जानकारी
लेने हेतु चिकित्सकों की उच्चस्तरीय टीम भेजी गयी

भारत सरकार हर तरह की चिकित्सकीय सुविधा देने के
लिए कटिबद्ध: केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री

मुख्यमंत्री ने गोरखपुर में आयोजित प्रेस-वार्ता को सम्बोधित किया

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री जगत प्रकाश नड्डा के साथ बी0आर0डी0 मेडिकल काॅलेज, गोरखपुर का निरीक्षण किया।
निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री जी ने बी0आर0डी0 मेडिकल काॅलेज के जे0ई0/ए0ई0एस0 वाॅर्ड का आकस्मिक निरीक्षण किया। उन्होंने चिकित्सा कक्ष, आई0सी0यू0, नवजात शिशु सघन कक्ष में बेड-टू-बेड जाकर मरीजों का हाल जाना तथा आॅक्सीजन, दवा की उपलब्धता, चिकित्सकीय व्यवस्था, साफ-सफाई आदि को देखा। चिकित्सकों को मरीजों के बेहतर इलाज के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि किसी भी मरीज की मृत्यु उपचार के अभाव में नहीं होनी चाहिए।press-14
मुख्यमंत्री जी ने बी0आर0डी0 मेडिकल काॅलेज परिसर में आयोजित प्रेस-वार्ता में बताया कि इस प्रकरण की जांच मुख्य सचिव की अध्यक्षता में गठित उच्चस्तरीय कमेटी द्वारा की जाएगी, जिसमें मौत के कारणों की विस्तृत जानकारी मिलेगी। उन्होंने कहा कि गोरखपुर ही नहीं, प्रदेश में कहीं भी लापरवाही के कारण जनहानि होगी, तो सरकार सम्बन्धित के विरुद्ध कठोर कार्यवाही करेगी। उन्होंने यह भी कहा कि चिकित्सा सुविधा के अभाव में जन हानि नहीं होनी चाहिए। यदि कोई भी चिकित्सक प्राइवेट पै्रक्टिस करते हुए पाया गया, तो उसके विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी।
योगी जी ने बताया कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी इस घटना से काफी दुःखी व चिन्तित हैं। उन्होंने आश्वस्त किया है कि भारत सरकार प्रदेश सरकार को स्वास्थ्य, विकास आदि में सहयोग के लिए निरन्तर तत्पर है। इसके अतिरिक्त, प्रधानमंत्री द्वारा इस पूरे प्रकरण की जानकारी लेने हेतु चिकित्सकों की उच्चस्तरीय टीम भेजी गयी है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी के निर्देश पर कल केन्द्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री श्रीमती अनुप्रिया पटेल आयी थीं और आज केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री जे0पी0 नड्डा आए हैं। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि घटना की जानकारी होने के पश्चात कल प्रदेश के चिकित्सा मंत्री एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री को मेडिकल काॅलेज भेजकर रिपोर्ट प्राप्त की गयी थी।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि जनपद में जे0ई0 के विरुद्ध एक अभियान के तहत टीकाकरण कराया गया था, यह अभियान जे0ई0 प्रभावित 35 जनपदों में चलाया गया था। उन्होंने यह भी बताया कि सभी सी0एच0सी0 पर ई0टी0सी0 की व्यवस्था की गयी है, ताकि मरीज का तात्कालिक इलाज किया जा सके। उन्होंने कहा कि ‘102’ एवं ‘108’ एम्बुलेंस सेवा को बेहतर बनाए रखने एवं उसकी निगरानी रखने हेतु नोडल अधिकारी नामित करने के निर्देश दिए जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि 950 बेड का बी0आर0डी0 मेडिकल काॅलेज इस क्षेत्र की पाँच करोड़ आबादी को स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए अत्यन्त महत्वपूर्ण है।
केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री जगत प्रकाश नड्डा ने कहा कि भारत सरकार हर तरह की चिकित्सकीय सुविधा देने के लिए कटिबद्ध है। उन्होंने कहा कि गोरखपुर में लगभग 85 करोड़ रुपए की लागत से पूर्णरूपेण राष्ट्रीय विषाणु संस्थान (वाइरोलाॅजी सेण्टर) बनाया जाएगा, जो जे0ई0/ए0ई0एस0 के कारकों पर रिसर्च करेगा। इस सेण्टर की स्थापना से जनता को काफी लाभ होगा। उन्होंने कहा कि भारत सरकार हर सम्भव सहयोग को तैयार है।
इसके पश्चात, मुख्यमंत्री जी ने बी0आर0डी0 मेडिकल काॅलेज के विभिन्न वाॅर्डों का निरीक्षण किया और मरीजों के परिजनों व चिकित्सकों से बात करके फीडबैक लिया।
इस अवसर पर जनप्रतिनिधिगण, शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी एवं चिकित्सक मौजूद थे।

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

August 2017
M T W T F S S
« Jul   Sep »
 123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
28293031  
-->









 Type in