*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | February 12th, 2018

गीता सम्पूर्ण मानव जाति के लिये दिव्य संदेश है - राज्यपाल

Posted on 12 February 2018 by admin

उत्तर प्रदेश के राज्यपाल श्री राम नाईक ने आज महाराजा अग्रसेन धर्म जागरण समिति द्वारा श्री खाटू श्याम मंदिर में आयोजित गीता ज्ञान यज्ञ का उद्घाटन किया। कार्यक्रम में आचार्य महामण्डलेश्वर स्वामी अभयानन्द सरस्वती जी महाराज, महाराजा अग्रसेन जागरण समिति के अध्यक्ष श्री शिव कुमार अग्रवाल, संयोजक श्री आर0डी0 अग्रवाल सहित बड़ी संख्या में श्रद्धालुजन उपस्थित थे। राज्यपाल ने इस अवसर पर स्वामी अभयानन्द सरस्वती के प्रवचनों के संकलन ‘नारद भक्ति सूत्र’ का विमोचन भी किया।
dsc_7603राज्यपाल ने अपने विचार व्यक्त करते हुये कहा कि वे गीता के मर्मज्ञ नहीं हैं इसलिये स्वयं को गीता पर बोलने का अधिकृत नहीं मानते। गीता का ज्ञान असीम है, व एक ऐसी रचना है जिसे साक्षात् बह्म की वाणी कहा गया है। गीता सम्पूर्ण मानव जाति के लिये दिव्य संदेश है, क्योंकि इसमें भारतीय दर्शन और तत्व-चिन्तन की आत्मा प्रतिबिम्बित होती है। उन्होंने कहा कि गीता एक अलौकिक गं्रथ है।
श्री नाईक ने कहा कि गीता कर्मयोग का ज्ञान देती है। गीता केवल विद्धानों के लिये नहीं बल्कि आम इंसानों के लिये भी है। भगवद्गीता ऐसा ग्रंथ है जो हमें साधन और साध्य में सामंजस्य स्थापित कर जीवन के सर्वोच्च उद्देश्य को प्राप्त करने का ज्ञान देता है। उन्होंने कहा कि गीता में सागर के ऐसे मोती छिपे है जो जीतना गहरा जायेगा उतना ही ज्ञान की प्राप्ति होगी।dsc_7656
राज्यपाल ने लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक द्वारा रंगून में रचित ‘गीता रहस्य’ की पृष्ठभूमि बताते हुये कहा कि अंग्रेजों ने उनको भारतीय असंतोष का जनक बताते हुये मण्डाला की जेल में निरूद्ध कर दिया था। राज्यपाल ने गीता के दूसरे अध्याय के चैथे श्लोक को उद्धृत करते हुये कहा कि अपकीर्ति से मृत्य बेहतर है। उन्होंने ‘चरैवेति! चरैवेति!!’ श्लोक को उद्धृत करते हुये उसका मर्म समझाया कि निरंतर चलते रहने से ही सफलता प्राप्त होती है।
इस अवसर पर श्री मनोज अग्रवाल ने स्वागत उद्बोधन दिया तथा आचार्य महामण्डलेश्वर स्वामी अभयानन्द सरस्वती जी महाराज ने राज्यपाल को अंग वस्त्र, स्मृति चिन्ह व पुस्तक देकर उनका सत्कार किया। राज्यपाल ने खाटू श्याम मंदिर के दर्शन भी किये।

Comments (0)

गोरखपुर व फूलपुर उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशियों की घोषणा शिवरात्रि बाद - डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय

Posted on 12 February 2018 by admin

भाजपा की चुनावी तैयारी पूरी, जनता का आशीर्वाद भाजपा के साथ

लखनऊ 12 फरवरी 2018, भारतीय जनता पार्टी प्रदेश पदाधिकारियों की पहली बैठक प्रदेश पार्टी मुख्यालय पर सम्पन्न हुई। प्रदेश अध्यक्ष डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय व प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल ने नवनियुक्त प्रदेश पदाधिकारियों को शुभकामनाएं दी तथा आगामी योजनाओं एवं कार्यक्रमों की कार्ययोजना रखते हुए सभी को जुटने के निर्देश दिए।
बैठक के पश्चात प्रदेश अध्यक्ष डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि मोदी जी एवं अमित शाह जी की नीतियों का मूलमंत्र है कि समाज हित में आराम की गंुजाइश नहीं है। इसी को आत्मसात करते हुए नई टीम को दिन-रात अहर्निश परिश्रम का मूलमंत्र दिया गया। संगठनात्मक स्किल एवं तजुर्बे बाले लोगों को नई टीम में जगह दी गई है और आगे भी कार्यकर्ताओं का सदुपयोग किया जाएगा।
डा0 पाण्डेय ने कहा कि बैठक में सहकारिता चुनाव की उपलब्धियों पर प्रसन्नता व्यक्त की गई। आगामी दिनों में फूलपुर और गोरखपुर के उपचुनाव के लिए संगठनात्मक अभियानों की समीक्षा की गई। गत दिनों चला जनसहयोग केन्द्र फिर से प्रारम्भ किया जाएगा। प्रत्येक सोमवार व मंगलवार को कार्यकर्ता केन्द्रित जन सहयोग केन्द्र प्रारम्भ होगा। संगठनात्क प्रक्रिया में नीचे से आई हुई प्रदेश स्तरीय समस्याओं का समाधान होगा। 19 मार्च को योगी सरकार के एक वर्ष पूर्ण होने पर प्रदेश सरकार की अनेक जनकल्याणकारी योजनाओं व उपलब्धियों को बूथ स्तर तक ले जाएंेगे और जनता से संवाद कायम करेंगे।
डा0 पाण्डेय ने कहा कि लोककल्याणकारी राज्य के लिए सरकार बनती है। मा0 मोदी जी के नेतृत्व में चल रही लोककल्याणकारी सरकार की नीतियां एवं योजनाएं एवं उपलब्धियां जनता तक पहुंचाएंगे। उन्होंने कहा कि शिवरात्रि के ठीक बाद फूलपुर व गोरखपुर उपचुनाव के लिए भाजपा प्रत्याशियों की घोषणा कर दी जायेगी। हमारी चुनाव की पूरी तैयारी है, जनता का आशीर्वाद हमारे साथ है, हम शानदार तरीके से दोनों सीटें जीतेंगे।

Comments (0)

भाजपा राज में सुशासन साकार होने की दिशा में तेजी से अग्रसर - मनीष शुक्ला

Posted on 12 February 2018 by admin

गांव, गरीब, किसान, उद्योग की स्थिति में प्रतिदिन सुधार

लखनऊ 12 फरवरी 2018, उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी सरकार आने से सुशासन का राज आया है। गांव, गरीब, किसान से लेकर उद्योगों तक की स्थिति में दिन प्रतिदिन सुधार आ रहा है। प्रदेश में कानून व्यवस्था में अप्रत्याशित सुधार आया है। निवेश के लिए सकारात्मक माहौल बना है इस माहौल को बनाए रखने के लिए प्रदेश की योगी सरकार कृत संकल्पित है। लखनऊ में हो रही इनवेस्र्ट समिट इन्हीं भागीरथ प्रयासों का परिणाम है। उक्त उद्गार भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता मनीष शुक्ल ने आज पार्टी मुख्यालय पर पत्रकारों से चर्चा करते हुए व्यक्त किये।
श्री शुक्ल ने कहा कि यह पहली बार है कि निजी क्षेत्र के उद्यमियों को आमत्रित करने के साथ साथ विभिन्न सरकारी विभागों के उपक्रमों को उत्तर प्रदेश में लगाये जाने के लिए सरकार द्वारा प्रयास किया जा रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ विभिन्न केन्द्रीय मंत्रियों से मिलकर उनके विभाग से सम्बधित निवेश के लिए उन्हें आंमत्रित किया है।
प्रदेश प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी अदित्य नाथ ने केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से कमाण्डो प्रशिक्षण केन्द्र के साथ फारेंसिक और साइबर लैब बनाए जाने की मांग की। केन्द्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान से गोरखपुर में बायोइथनाॅल की इकाई लगाए जाने के लिए 25 हजार करोड़ रूपये के निवेश पर चर्चा हुई। केन्द्रीय विज्ञान एवं प्रद्योगिकी मंत्री डाॅ. हर्षवर्धन से नेशनल इस्टीयूट आॅफ मेडिकल बायोलाॅजी की स्थापना के लिए चर्चा की साथ ही जापानी इन्सेफिलाइटिस और एक्यूट एक्वायर्ड स्ंिाड्रोंम जैसे रोगों पर शोध और नियंत्रण के लिए नेशनल इस्टीट्यूट आॅफ मेडिकल बायोलाॅजी की मांग की।
प्रदेश की सांस्कृतिक विरासत को संजोए रखने के लिए केन्द्रीय संस्कृति मंत्री डाॅ. महेश शर्मा से इलाहाबाद में डिजिटल कुम्भ म्यूजियम और शिल्प ग्राम के लिए 266 करोड़ रूपये, अयोध्या मे रामकथा सग्रालय के लिए 27 करोड़ रूपये की मांग की। लखनऊ के रेजीडेन्सी, बांदा के कलिंजर किले के लिए महोबा के मदन सागर और कीरत सागर जैसी पुरातात्विक विरासत कों संजोने के लिए साउन्ड और लाइट सो के लिए तमाम विभागीय प्रमाण पत्र को लेने पर बात हुई।
श्री शुक्ल ने बताया कि केन्द्र और प्रदेश में भाजपा सरकार होने से विकास की रफ्तार बढ गई है। हम अपने संकल्प पत्र के प्रत्येक वादा को पूरा करने के लिए कृत संकल्पित है। हमने अपनी प्रत्येक योजना में जन-भावनाओं को ध्यान में रखा है। हम आने वाले दिनों में उत्तर प्रदेश को उत्पादक और निर्माता प्रदेश की श्रेणी में लाकर खड़ा करेंगे। गाॅवों से पलायन रूकेगा और स्थानीय स्तर पर अर्थव्यवस्था को सुदृढ बनाने में मदद मिलेगी। हम 2019 के चुनाव में अपने जनहितकारी कामों को लेकर जनता के बीच जाएगंे एवं पुनः मोदी जी को प्रधानमंत्री बनायेंगे।

Comments (0)

दीनदयाल जी की नीतियों पर केन्द्रित है अब भारत की अर्थनीति: डा. सतीश

Posted on 12 February 2018 by admin

लखनऊ 12 फरवरी 2018, देश में सत्तर साल के बाद सरकार की आर्थिक नीतियां आम आदमी के लिए खुशियों की सौगात लेकर आयी है। केन्द्र की भाजपा सरकार और देश के उन्नीस राज्यों में चल रही भाजपा की सरकारों की आर्थिक योजनाएं समाज के अंतिम व्यक्ति से आरंभ हो रही हैं। किसान युवा महिला और समाज के अंतिम पायदान पर खड़े लोगों के आधार पर देश की वित्तीय नीतियां तय हो रही है। पं. दीनदयाल जी ने अपने चिन्तन में आम मानव से जुड़ी जिन चिंताओं और समाधानों को समझाने का प्रयास आज से दशकों पहले किया था, आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रदेश की आदित्य कर रही हैं। भारत और भारतीयता के संवाहक एवं संचारक के रूप दीन दयाल उपाध्याय के विचार किसी आदर्शलोक का दर्शन होने की बजाय व्यवहारिकता के धरातल पर बेहद मजबूती से टिकते नजर आते हैं। यह उदगार भाजपा प्रदेश मुख्यालय में पं. दीनदयाल उपाध्याय की 50वीं पुण्यतिथि पर आयोजित व्याख्यांन माला में इटवा के विधायक एवं अर्थशास्त्र के प्रोफेसर डा सतीश चंद्र द्विवेदी ने व्य्क्त किया।
डा. द्विवेदी ने कहा कि पंडित दीन दयाल उपाध्याय द्वारा एकात्म मानववाद का विकल्प उस कालखंड में दिया गया जब देश में समाजवाद, साम्यवाद जैसी आयातित विचारधाराओं का बोलबाला था। भारत में भारतीयता को पुनर्जीवित करने वाली विचारधारा की बजाय समाजवाद एवं साम्यवाद जैसी आयातित विचारधाराओं का बोलबाला होना भारतीयता के लिए अनुकूल नहीं था। पंडित जी ने भारत की समस्या को भारत के सन्दर्भों में समझकर उसका भारतीयता के अनुकूल समाधान देने की दिशा में एक युगानुकुल प्रयास किया। पंडित जी मानते थे कि राष्ट्र के निर्माण और उसकी मजबूती में उसकी विरासत के मूल्यों का बड़ा योगदान होता है। देश के आम जन जीवन की बेहतरी, आम जन-जीवन की सुरक्षा, आम जनता को न्याय आदि के संबंध में एक समग्र चिन्तन अगर किसी एक विचारधारा में मिलता है तो वो एकात्म मानववाद का विराट दर्शन है। पंडित जी द्वारा प्रदिपादित इस विचार दर्शन में ‘एकात्म’ का आशय अविभाज्य अथवा एकीकृत अवधारणा से है। वहीं मानववाद से आशय यह है कि सबकुछ मानव मात्र के कल्याण हेतु संचालित हो।
उन्होंने कहा कि समय की जरूरत थी कि, पंडित दीन दयाल जी द्वारा देश के राजनीतिक, सामाजिक एवं आर्थिक विकास की दिशा में दिए गये विचार दर्शन को सरकार की नीतियों में प्रमुखता से शामिल किया जाय। जब पंडित जी स्व की बात कर रहे थे तो उनका स्पष्ट दृष्टिकोण राष्ट्र की बहुमुखी आत्मनिर्भरता को स्थापित करना था। तत्कालीन दौर बेशक तकनीक के दौर वाले आधुनिक भारत से बेहद अलग था, मगर उनके स्व की अवधारणा का अगर मूल्यांकन करें तो उनकी दृष्टि में एक सक्षम भारत का भावी था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में काम कर रही भारत सरकार उसीदृष्टि को अपनी नीतियों में प्रमुखता से लागू कर रही है। आत्मनिर्भरता से अन्त्योदय की राह निकालने की दृष्टि के साथ काम कर रही भाजपा-नीत केंद्र सरकार की तमाम योजनाओं में अंतिम कतार के व्यक्ति को आत्मनिर्भर बनाने का संकल्प और प्रतिबद्धता साफ दिखती है।
अगर हम केंद्र सरकार के एक कार्यक्रम मेक इन इण्डिया को ही उदाहरण के तौर पर लें तो यह कार्यक्रम वैश्वीकरण के इस दौर में भारत को निर्माण एवं रोजगार के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में मील का पत्थर साबित होने वाला कार्यक्रम है। सरकार उज्व् आतला योजना हर गरीब आदमी के घर को विकास की राह पर लाने वाली योजना है। हर गांव में बिजली देने की बात करना सरकार द्वारा पंडित जी के विचारों को जाग्रत करना ही माना जा रहा है। वर्तमान में जब केंद्र में उसी दल की सरकार है जिसकी नींव की पहली ईंट रखने में दीन दयाल उपाध्याय जी का महती योगदान था तो उनके विचारों का सरकार की नीतियों में व्यापक प्रभाव पड़ना स्वाभाविक है। स्टार्ट-अप, स्टैंड-अप जैसी योजनाओं के माध्यम से सरकार ने अंतिम व्यक्ति को सबल, सक्षम और स्वालम्बी बनाने की दिशा में कार्य को आगे बढ़ाया है।
व्याअख्यान माला के विशिष्ट अतिथि डा अभय मणि त्रिपाठी ने कहा कि, पंडित जी का स्पष्ट मानना था कि जो व्यक्ति आर्थिक रूप से स्वतंत्र नहीं होता है वह राजनीतिक रूप से भी स्वतंत्र नहीं होता है। आज सरकार आम जन को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर और स्वालम्बी बनाने की दिशा में जिन प्रयासों पर सतत काम कर रही है, वो वाकई इन्हीं विचारों से ओत-प्रोत नजर आते हैं। चूँकि भारत की अर्थव्यवस्था के मूल में कृषि है लिहाजा पंडित दीन दयाल उपाध्याय कृषि सुधारों पर खास जोर देने की बात करते थे। वे कृषि में भारतीय कृषि के अनुरूप आधुनिकता का प्रवेश भी चाहते थे। वर्तमान केंद्र सरकार द्वारा कृषि सुधारों की दिशा में सॉयल हेल्थ कार्ड जैसी योजना को लाना यह प्रमाणित करता है कि सरकार कृषि सुधार को आधुनिक तकनीक के माध्यम से करने की दिशा में लगातार नवाचार कर रही है। पंडित जी ने सनातन भारतीय अर्थ चिंतन को एक युगानुकूल नाम दिया और उसे सहजता एवं सरलता के साथ लोगों को समझाने का प्रयास किया।
व्याख्यानमाला की अध्यक्षता करते हुए पार्टी के प्रवक्ता डा चंद्र भूषण पांडेय ने कहा कि पुनर्जागरण के बाद भारत में तीन स्वदेशी राजनीतिक चिंतन का जो विकास हुआ है उसका आधार कही न कही भारत की पुरातन परम्परा को अवशेष हैं। इन तीनों में संस्कृति और धर्म का व्यापक स्थान है। उन तीन राजनीतिक आर्थिक चिंतन में गांधी, लोहिया और दीनदयाल का नाम आता है। इन तीनों चिंतन में भौतिक समृद्धि के साथ ही साथ आध्यात्मिक उन्नयन का भी समावेश है। यह तीनों चिंतन व्यक्ति को पूर्ण रूप से विकसित करने का चिंतन है। मैं तीनों ही चिंतन को समान मानता हूं लेकिन दीनदयाल जी का कालखंड बाद तक रहा और उनको अपने चिंतन को विकसित करने का थोड़ा समय भी ज्यादा मिला इसलिए इसे अन्य दो की अपेक्षा दीनदयाल जी को आधुनिक कहा जा सकता है।
भाजपा के मुखपत्र कमल ज्योति द्वारा आयोजित तीन दिन के इस व्याख्यान माला का संचालन कमल ज्योति के प्रबंध संपादक राजकुमार ने किया। व्याख्यान माला में धर्मेन्द्र त्रिपाठी, शैलेन्द्र पांडेय, एडवोकेट परमिंदर सिंह, समीर तिवारी, इन्द्जीत आर्य,राजेश पांडेय, संजय गौड, श्रीकृष्ण दीक्षित, अर्पित पांडेय आशुतोष मिश्रा आदि मौजूद रहे।

Comments (0)

बी.एस.पी. द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति-दिनांक 12.02.2018

Posted on 12 February 2018 by admin

(1) इलाहाबाद में की गई एक होनहार दलित एल.एल.बी. के छात्र की निर्मम हत्या यह गहरे दुःख व चिन्ता का विषय। पीड़ित परिवार के लोगांे से मिलने हेतु उत्तर प्रदेश बी.एस.पी. स्टेट यूनिट के अध्यक्ष व पूर्व मंत्री श्री रामअचल राजभर को इलाहाबाद भेजा।
(2) सदियों से शोषित-पीड़ित दलित समाज जिसमें आज़ादी के लगभग 70 वर्षों के बाद भी उच्च शिक्षा नाम मात्र की ही है एक होनहार एल.एल.बी. छात्र की हत्या पूरे समाज के लिये ही बड़े दुःख व चिन्ता की बात है। इससे पूरा समाज आहत हुआ है।
(3) बीजेपी की संकीर्ण, जातिवादी व नफरत की राजनीति के कारण उत्तर प्रदेश ही नहीं बल्कि पूरे देश का माहौल काफी ज़्यादा दूषित व हिंसक है। सर्वसमाज के ख़ासकर लिखे-पढ़े युवक रोजगार आदि नहीं मिल पाने के कारण कुण्ठा का शिकार हैं: बी.एस.पी. की राष्ट्रीय अध्यक्ष, उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री व पूर्व सांसद सुश्री मायावती जी।

नई दिल्ली, 12 फरवरी 2018: इलाहाबाद में दलित लाॅ छात्र की निर्मम हत्या पर गहरा दुःख व्यक्त व संवेदना व्यक्त करते हुये बी.एस.पी. की राष्ट्रीय अध्यक्ष, उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री व पूर्व सांसद सुश्री मायावती जी ने कहा कि ऐसे सदियों से शोषित-पीड़ित दलित समाज, जिसमें आज़ादी के लगभग 70 वर्षों के बाद भी उच्च शिक्षा नाम मात्र की ही है, के एक होनहार एल.एल.बी. छात्र की हत्या पूरे समाज के लिये ही बड़े दुःख व चिन्ता की बात है। इस घटना से पूरा समाज आहत हुआ है।
वास्तव में इलाहाबाद में दलित छात्र की इस प्रकार की नृशंस हत्या उत्तर प्रदेश बीजेपी शासन में कोई यह अकेली नई घटना नहीं है बल्कि ऐसी दर्दनाक घटनायें लगातार ही घटित हो रही हैं और उसके लिये कोई और नहीं बल्कि बीजेपी की संकीर्ण, जातिवादी व नफरत की राजनीति पूरी तरह से दोषी है जिस कारण ही उत्तर प्रदेश में ही नहीं बल्कि पूरे देश में ही माहौल काफी ज़्यादा दूषित व हिंसक है। सर्वसमाज के ख़ासकर लिखे-पढ़े युवक रोजगार आदि नहीं मिल पाने के कारण कुण्ठा का शिकार हैं और जिस कारण विभिन्न प्रकार के अपराध हर स्तर पर लगातार बढ़ रहे हैं तथा समाज का तानाबाना भी बिखऱ रहा है।
सुश्री मायावती जी ने कहा कि दिलीप सरोज नामक जिस छात्र की हत्या अकारण ही खुलेआम कर दी गयी है उस परिवार की भरपाई किसी रूप में भी नहीं हो सकती है, फिर भी परिवार को सान्तवना की सख़्त जरूरत है जिसके लिये उन्होंने बी.एस.पी. उत्तर प्रदेश यूनिट के अध्यक्ष व पूर्व मंत्री श्री रामअचल राजभर को स्थानीय बी.एस.पी. पार्टी यूनिट के लोगों के साथ जाकर परिवार से मिलने का निर्देश दिया है ताकि उनकी यथासम्भव मदद की जा सके। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार को भी दोषियों को सख़्त सज़ा देने के साथ-साथ पीड़ित परिवार की भी जरूर मदद करनी चाहिये।

Comments (0)

मिस्टर आगरा में मॉडल्स ने लगाया फैशन का तड़का

Posted on 12 February 2018 by admin

आगरा : आरोही संस्था के मिस्टर आगरा 2018 के सीजन-6 के ऑडिशन C-9 रेस्टोरेंट के ऑडिटोरियम में आयोजित हुए। ऑडिशन का शुभारंभ सेल्स टैक्स एडिशनल कमिशनर पुनीत अग्निहोत्री, जॉन पॉल व व्यवसायी मनोज अग्रवाल ने सरस्वती माँ के समक्ष दीप प्रज्वलन कर ऑडिशन कर शुरुवात की। ऑडिशन में निर्णायक मण्डल में अभिनेता अमित सिंह, आईआईएफटी के निर्देशक विनीत बवनिया, मोनिका अग्रवाल, रुपिंदर कौर शामिल रही|

img_20180211_140928संस्था निर्देशक अमित तिवारी ने बताया की मिस्टर आगरा सीजन-6,के लिए 6 प्रतिभागियों का चयन किया गया। ऑडिशन में लगभग 40 से 50 प्रतिभागियों ने भाग लिया। इस आयोजन के स्पेशल सीक्वेंस के लिए फबीबी, बिग बाजार का समर स्प्रिंग कलैक्शन को दर्शाया जाएगा। जिसमे 2 मेल मॉडल्स के राउंड होंगे, 2 फीमेल्स मॉडल्स के राउंड होंगे और किड्स के भी 2 राउंड होंगे।

मिस्टर आगरा कॉन्टेस्ट का ग्रैंड फिनाले 15 फरवरी को अशोक कॉसमॉस मॉल में आयोजित किया जाएगा| जिसमे बतौर मुख्यातिथि मिस रशिया एना जूलिया शामिल होंगी। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से शैलेन्द्र सिंह, डॉ ललितेश यादव, लखन सिंह कुशवाह, शेर सिंह, धनंजय सिंह, विक्रम जैन आदि मौजूद रहे।

Comments (0)

15 फरवरी को गजल एलबम तेरी सूरत की होगी लॉचिंग

Posted on 12 February 2018 by admin

img-20180212-wa0179लखनऊ। गोमती नगर स्थित कार्यालय में सोमवार को एक प्रेसवार्ता का आयोजन हुआ। जिसमें वरिष्ठ शायर व
पुलिस अधिकारी मो. अली साहिल की गजलों की डीवीडी लांच होने के सन्दर्•ा में अवगत कराया गया।
इस अवसर पर रफत इंटरटेनमेंट पिक्चर्स के निदेशक व अ•िानेता शारिक शकील और वरिष्ठ शायर मो. अली
साहिल ने संयुक्त रूप से प्रेसवार्ता को सम्बोधित करते हुए बताया कि गुलशन कुमार सुपर कैसेट्स लि. टी सीरिज ने
उनकी 6 गजलों को चुना है, जिसका विजुअल •ाी तैयार किया गया है। इसकी लॉचिंग 15 फरवरी 2018 को संत
गाडगे प्रेक्षागृह, गोमती नगर लखनऊ में करेंगे। मो. साहिल ने बताया कि इस आयोजन में उत्तर प्रदेश के उप
मुख्यमंत्री और कई मा. कबीना मंत्रियों को •ाी आमंत्रित किया गया है। इसके अलावा टी सीरिज के सीनियर
डायरेक्टर/महाप्रबंधक श्री वेद चनाना, वरिष्ठ फिल्म निदेशक श्री मुज्जफर अली, प्रदेश के डीजीपी श्री ओपी सिंह,
आईजी श्री नवनीत सिकेरा, आईजी श्री आरके चतुर्वेदी, प्रो. शारिक रूदौलवी, आईएएस श्री डॉ. हरिओम, पूर्व डीजी श्री
एके जैन, पूर्व डीजी श्री रिजवान अहमद, रिटायर आईएएस श्री अनीस अंसारी और गणमान्य अतिथि मौजूद रहेंगे।
इस अवसर पर रफत इंटरटेनमेंट पिक्चर्स के निदेशक शारिक शकील व अ•िानेत्री अर्चना सिंह ने बताया कि इस
कार्यक्रम का शु•ाारम्•ा शाम को छह बजे से किया जाएगा, जिसमें गजलों की फिल्मों का प्रदर्शन व सांस्कृतिक
कार्यक्रमों की प्रस्तुति के साथ-साथ गजल गायन का कम •ाी होगा। इस सम्बन्ध में वरिष्ठ शायर मो. अली साहिल
ने बताया कि 6 गजलों की डीवीडी की लॉच की जाएगी, जिसमें तेरी सूरत मु­ो बताती है टाइटिल सांग को स्वयं
उन्होंने ही आवाज दी है। इसके साथ ही मु­ाको ऐसा इश्क, दिल तु­ो रोक रहा है, ऐसा नही सलाम किया और गुजर
गए इन तीन गजलों को आवाज प्रदीप अली ने दी। साथ ही काश ऐसा कमाल हो जाए को गायक कमाल खान व क्या
कहे किससे कहे को सचिन चौहान ने आवाज दी है। मो. साहिल ने बताया कि इन गजलों की शूटिंग मेें नैनीताल,
अल्मोड़ा, रानीखेत की खूबसूरत वादियों के साथ-साथ, गोवा, मुम्बई और लखनऊ की नजाकत को •ाी दिखाया गया
है। इस गजल एलबम को प्रोडूयस किया है जुनैद सिद्दकी ने, एक्जीक्यूटिव प्रोड्यूसर रफत इंटरप्राइजेज, गायन मो.
अली साहिल, संगीत सचिन चौहान, वीडियो प्रोडेक्शन जेवी विजन। इस कार्यक्रम का संयोजक रफत इंटरटेनमेंट
पिक्चर व एमजे एडवरजाइजर व इवेंट गोल्डेन फ्रेड्स और मीडिया पार्टनर मीडिया फोटो ग्राफर क्लब है।

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

February 2018
M T W T F S S
« Jan    
 1234
567891011
12131415161718
19202122232425
262728  
-->









 Type in