*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | February 14th, 2018

राष्ट्रपति का हवाई अड्डे पर राज्यपाल ने स्वागत किया

Posted on 14 February 2018 by admin

लखनऊ 14 फरवरी, 2018
राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद का आज लखनऊ के चैधरी चरण सिंह हवाई अड्डे पर राज्यपाल श्री राम नाईक ने स्वागत किया। इस अवसर पर मंत्री श्री सूर्य प्रताप शाही, मंत्री श्री आशुतोष टण्डन सहित वरिष्ठ प्रशासनिक एवं पुलिस के अधिकारीगण उपस्थित थे।aks_1013
राष्ट्रपति ने चन्द्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय, कानपुर में कृषि पर आयोजित एक अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन में प्रतिभाग किया तथा वी0एस0एस0डी0 कालेज, कानपुर के विधि भवन का लोकार्पण भी किया। राज्यपाल श्री राम नाईक भी राष्ट्रपति के साथ कानपुर में आयोजित कार्यक्रमों में उपस्थित थे।
कानपुर में आयोजित कार्यक्रमों के पश्चात् नई दिल्ली वापसी पर राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद को राज्यपाल श्री राम नाईक एवं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ हवाई अड्डे से विदाई भी दी।

Comments (0)

प्रवास कार्यक्रम - प्रदेश अध्यक्ष डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय

Posted on 14 February 2018 by admin

लखनऊ 14 फरवरी 2018, भारतीय जनता पार्टी प्रदेश अध्यक्ष डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय 15 फरवरी को विस्तारक प्रशिक्षण वर्ग में मार्गदर्शन करेंगे।
डा0 पाण्डेय सुबह 11.30 बजे झांसी में राॅयल गार्डन ओरछा में विस्तारक वर्ग में उद्बोधन देंगे। सायंकाल 06 बजे दतिया पहुंचेंगे। प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल भी विस्तारक वर्ग में मार्गदर्शन करेंगे।

Comments (0)

मुठभेड़ो से अपराधी और सपाई घबराए - राकेश त्रिपाठी

Posted on 14 February 2018 by admin

लखनऊ 14 फरवरी 2018, भारतीय जनता पार्टी प्रदेश प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने एनकाउण्टर में खंूखार अपराधियों के मारे जाने पर सपा नेताओं की पीड़ा को वाजिब बताया। श्री त्रिपाठी ने कहा कि सपा शासनकाल में गुण्डों अपराधियों को संरक्षण प्राप्त था। पुलिस पर गोली चलाने में भी अपराधी घबराने नहीं थे। लेकिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की कठोर इच्छाशक्ति के चलते आज परिस्थितियां बदली है। अपराधियों पर पुलिस का कठोर शिकंजा कस रहा है। ईनामी अपराधियों की गिरफ्तारी हो रही है और जो अपराधी पुलिस पर गोली चलाने का दुस्साहस कर रहे है आज पुलिस उसी भाषा में उन्हें जवाब दे रही है। जिन अपराधियों का खौफ जन-मन में था आज उन गुण्डों के मन में पुलिस का खौफ दिख रहा है। अपराधी आत्मसमर्पण कर रहे है।
श्री त्रिपाठी ने कहा कि पिछली अखिलेश सरकार में उत्तर प्रदेश में अवैध असलहों की फैक्ट्रियां कुकुरमुत्ते की तरह उग गई थी। योगी सरकार आने के बाद 156 अवैध असलहा फैक्ट्रियां बंद कर हजारों अवैध असलहा-बमों की बरामदगी हुई है। समाजवादी पार्टी के नेता अपराध और अपराधियों पर प्रभावी कार्यवाई से घबरा गए है। घबराहट छुपाने के लिए सपा नेता सदन में हल्ला बोल रहे हैं। सीबीआई के दुरूपयोग के तमाम आरोप लगाने वाले सपाई नेता मुठभेंड़ो की सीबीआई जांच की मांग कर रहे है। सपा अपने समय में पले-बढ़े उद्योग पर हो रही कार्यवाही से हताश-निराश है। सपा को अपराधियों पर हो रही कार्यवाही से पीड़ा हो रही है। भाजपा सरकार जनता की पीड़ा को दूर करने के लिए संकल्पित है।

Comments (0)

विश्वकर्मा समाज ने भाजपा नेतृत्व का जताया आभार

Posted on 14 February 2018 by admin

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश द्वारा विश्वकर्मा समाज के तीन लोगों को प्रदेश कार्यसमिति में सदस्य बनाये जाने पर समाजजनों ने भाजपा नेतृत्व के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया है। विश्वकर्मा पांचाल ब्राह्मण सभा के अध्यक्ष अखिलेश मोहन की अध्यक्षता में विराट विश्वकर्मा मन्दिर पर सम्पन्न हुई बैठक में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्रनाथ पाण्डेय व संगठन मन्त्री सुनील बंसल को धन्यवाद दिया गया।
ज्ञात हो कि भारतीय जनता पार्टी, उत्तर प्रदेश इकाई ने आजमगढ़ निवासी डा0 कृष्णमुरारी विश्वकर्मा (पूर्वमन्त्री), मुजफ्फरनगर निवासी जगदीश पांचाल व गाजियाबाद निवासी डा0 परमेन्द्र विश्वकर्मा को प्रदेश कार्यसमिति में सदस्य बनाया है। बैठक में उपस्थित समाजजनों ने नामित सदस्यगणों को बधाई देने के साथ ही भाजपा नेतृत्व को धन्यवाद दिया है।
इस मौके पर संजय विश्वकर्मा, अरूण विश्वकर्मा, हरिश्चन्द्र विश्वकर्मा, वीरेन्द्र विश्वकर्मा, मनोज शर्मा, कमलेश विश्वकर्मा, अरविन्द विश्वकर्मा, दिनेश शर्मा, लाल बहादुर विश्वकर्मा, शंकर दयाल विश्वकर्मा, गणेश प्रसाद विश्वकर्मा, कृष्ण गोपाल विश्वकर्मा सहित काफी संख्या में लोग उपस्थित रहे।

Comments (0)

शहीदो को श्रद्धांजलि के साथ मनाई गई महाशिवरात्रि

Posted on 14 February 2018 by admin

img_20180214_092323_4–151 लीटर गोमती जल से हुआ महादेव का जलाभिषेक। 20180214_024315

–पुष्पांजलि के साथ हुआ शहीद स्मृति दिवस का आयोजन।

–सांध्यकालीन महाआरती के साथ समाप्त हुआ 4 दिवसीय “मनकामेश्वर महाशिवरात्रि पर्व।

आदि गंगा गोमती के 151 लीटर से किया गया महादेव का जलाभिषेक ।

हर हर महादेव, बम बम भोले के जय गोष, लाखों भक्तजनों के भीड़, सेवादारों की सेवा, आदिदेव भस्म महाआरती व अमर शहीद भगत सिंह, राजगुरु व सुख देव को स्मरण कर डालीगंज स्थित त्रेताकालीन महादेव धाम मनकामेश्वर मठ-मंदिर मे मनाई गई महाशिवरात्रि। 11 फ़रवरी से शुरू हुए मनकामेश्वर पर्व का समापन बुधवार को मंदिर प्रांगण मे सांध्यकालीन महाआरती के साथ हुआ। पूरे मंदिर परिसर को सुंदर बिजली की झालरों से सजाया गया व 51 किलो फूलो के साथ मंदिर परिसर की सुंदरता अपने चरम पर थी। 151 लीटर आदि गंगा के जल से 14 फरवरी को शिवरात्रि को महाभिषेक किया गया। 11 फ़रवरी को दिन दोपहर 12 बजे से बच्चों के लिए “हम शिव के शिव हमारे” विषय पर होगी महाशिवरात्रि मनकामेश्वर चित्रकला प्रतियोगिता आयोजित की गई । यही नहीं महिलाओं के लिए खासतौर से पार्थिव शिवलिंग तैयार करने की दिलचस्प प्रतिस्पर्धा में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया। चूंकि इस बार 13 की रात से ही चतुदर्शी लगी थी, इसलिए 13 फरवरी की रात दो बजे से ही मंदिर के कपाट खोल दिये गए । इस अवसर पर खासतौर से मां चंद्रिका देवी मंदिर के पास से लाए गए आदि गंगा मां गोमती का जल वितरित किया गया । 151 लीटर गोमती जल से भोलेनाथ का महा अभिषेक किया गया, तत्पश्च्यात भस्म आरती व मुख्यआरती के बाद मंदिर के कपाट श्रद्धालुओं दर्शन हेतु खोल दिए गए।

भस्म आरती के जय गोष से गूंजा उठा मठ-मंदिर।

img_20180214_042547मंदिर प्रमुख महंत दिया गिरि महाराज ने मंदिर परिसर मे मुख्य महाआरती की। आचार्य शिव राम अवस्थी के आचार्यत्व व 11 पंडितो के सानिध्य में सभी महादेव रुद्राभिषेक पश्च्यात सभी सेवादार ने एक ही वेश भूषा में मंत्रों उच्चार के साथ व ढोल, डमरू, ताशे, नागफनी की धुन में माँ गोमती की आरती और पूजा अर्चना की। महाआरती से पहले रात्रि 2 बजे विहंगम भस्म आरती का आयोजन हुआ। मुख्य महाआरती में जगदीश गुप्त “अग्रहरि”, अमित गुप्ता, गजेंद्र प्रताप सिंह, मन्नी युवेंद्र, यश अग्रवाल, अंकुर पांडेय, मोहित कश्यप, राजकुमार, मुकेश, विजय मिश्रा, अमन शुक्ला, कार्तिक तोमर, चरित्र,दीपू ठाकुर, कमल जायसवाल, नीतू, नीरज, पूनम, शुभतिवारी, सोनू शर्मा, तरुण, आदित्य मिश्र, मुकेश, संजीत, संजय सोनकर, हिमांशु गुप्ता ,कृष्णा सिंह की अहम भूमिका रही।

रघुवीर शरण श्रीवास्तव “रघु”, संगीता श्रीवास्तव व केवल कुमार के भजनों से मंत्र मुग्द हुए श्रद्धालु।

प्रख्यत भजन गायक रघुवीर शरण श्रीवास्तव “रघु” के भजन के साथ प्रातः कालीन भजनांजलि आरम्भ हुई, निरंतर 8 घंटे भजन गा रघुवीर ने सबको आस्चर्यचकित कर दिया, शिव तांडव श्रोत, शिव चालीसा, शिव शंकर स्तुति व अन्य भजन सुनकर दर्शक भाव विभोर हो गए, साथ ही साथ झंकार संस्था की भजन गायिका संगीता श्रीवास्तव ने भजनो की प्रसत्तुति की। गायक संगीतकार यश भारती सम्मानित केवल कुमार जी ने शिव जी के भजनो की प्रस्तुति की। अमिताभ श्रीवास्तव ने माँ के भजन गाये।कीबोर्ड पर विजय सैनी जी ढोलक पर राजेश तिवारी और डीप पेड पर सोनी त्रिपाठी ने संगत दी।

पुष्पांजलि के साथ हुआ शहीद स्मृति दिवस का आयोजन।

20180214_031357मठ-मंदिर परिसर मे भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु की याद मे शहीदों स्मृति दिवस का आयोजन किया गया। महंत देव्यागिरि ने भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु के चित्र पर माल्यार्पण व पुष्पांजलि अर्पित की इस अवसर पर किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के विसि प्रोफेसर एम.एल. भट्ट व ट्रामा सेण्टर के प्रमुख डॉक्टर संदीप तिवारी मौजूद रहे । देव्यागिरि ने कहा आज के परिवेश मे हमे भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु व समस्त देश भक्तो के जीवन के मूल्यों को अपने अंदर संगृहीत करना बहुत जरुरी है। 14 फरवरी का महत्व बताते हुए उन्होंने कहा की अगर ऐतिहासिक तथ्यों की बात करें तो भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को लाहौर षढ़यंत्र मामले में ट्रिब्यूनल कोर्ट ने 7 अक्टूबर 1930 को 300 पेज के जजमेंट पर आधारित तीनों को फांसी की सजा सुनायी थी। तीन शहीदों के अलावा उनके 12 साथ‍ियों को उम्रकैद की सजा दी गई थी। उसके बाद 24 मार्च 1931 को फांसी दी जानी थी, लेकिन विशेष आदेश के अंतर्गत उन्हें 23 मार्च 1931 को शाम 7:30 बजे फांसी दे दी गई लेकिन 14 फ़रवरी वो दिन है जब पूरा देश एक चमत्कार की आस लगा कर बैठा था की उनके क्रांतिकारियों को अंग्रेज़ हुक्मरान शायद बरी कर दे किन्तु प्रिविसी काउंसिल द्वारा अपील खारिज किये जाने के बाद कांग्रेस के तत्कालीन अध्यक्ष मदन मोहन मालवीय ने 14 फरवरी 1931 को लॉर्ड इरविन के समक्ष दया याचिका दाख‍िल की थी, जिसे बाद में खारिज कर दिया गया और सम्पूर्ण देश शोक की लहर मे डूब गया।

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

February 2018
M T W T F S S
« Jan    
 1234
567891011
12131415161718
19202122232425
262728  
-->









 Type in