*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | January 11th, 2018

दलितो की समस्याओ पर त्वरित कर्रवाई का आश्वसन दिया

Posted on 11 January 2018 by admin

अनुसूचित जाति की समस्यायें एवँ उनके उत्पीड़न तथा उसके निवारण पर विस्तार से चर्चा करने के लिये राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष मा.प्रोफेसर राम शंकर कठेरिया, मा .उपाध्यक्ष एल मुरुगन के नेतृत्व मे श्री कन्हैया लाल, निदेशक सहित उ.प्र. के मुख्य मंत्री आदित्य नाथ योगी के आवास पर बैठक हुई। मुख़्य मंत्री ने दलितो की समस्याओ पर त्वरित कर्रवाई का आश्वसन दिया।
whatsapp-image-2018-01-11-at-18

Comments (0)

सहारा लाइफ इंश्योरेन्स की आई.आर.डी.ए. के आदेश के विरूद्व सफलता

Posted on 11 January 2018 by admin

एक महत्वपूर्ण निर्णय में सिक्योरिटी एपेलेट ट्रिब्यूनल (ै।ज्) ने इंश्योरेन्स रेग्युलेटरी डेवलपमेंट अथाॅरिटी के दिनांक 28 जुलाई 2017 के उस आदेश को खारिज कर दिया जिसमें सहारा लाइफ इंश्योरेन्स के जीवन बीमा व्यवसाय को एक बाहरी बीमाकर्ता - आईसीआईसी पू्रडेन्शियल लाइफ इंश्योरेन्स कम्पनी लिमिटेड को हस्तांतरित करने को कहा गया था। सहारा की अपील को स्वीकृति देते हुए ै।ज् ने इंश्योरेन्स अथाॅरिटी के ऐसे रवैये पर गहरी चिन्ता जताई जिससे उन्होंने सहारा लाइफ इंश्योरेन्स के विरूद्व मामले में ऐसी कार्यवाही की।
इंश्योरेन्स अथाॅरिटी के इस कदम को बेहद घातक व अनियमित मानते हुए एडमिनिस्ट्रेटर की नियुक्ति व उसके सभी आगामी कदमों को मामले के तथ्यों व परिस्थितियों के चलते हानि पहुंचाने वाला माना गया। ै।ज् का मत था कि एडमिनिस्ट्रेटर की रिपोर्ट कम से कम विवादित आदेश पारित करने से पहले सहारा लाइफ इंश्योरेन्स को उपलब्ध करवाई जानी चाहिए थी।
सहारा लाइफ इंश्योरेन्स को एक बड़ी मोहलत मिली है और उसके इस पक्ष को ै।ज् ने यह निर्देश देकर सही साबित किया है कि सारा मामला वहां से पुनः देखा जाए जिस चरण पर सहारा लाइफ इंश्योरेन्स को एडमिनिस्ट्रेटर की रिपोर्ट के अनुसार प्रत्युत्तर देने को कहा गया। साथ ही सहारा लाइफ इंश्योरेन्स व उसके हितधारकों के प्राकृतिक न्याय के नियमानुसार अपना पक्ष रखने का अवसर दिया जाए। निर्देश दिया गया है कि सहारा के द्वारा एडमिनिस्ट्रेटर रिपोर्ट पर जवाब की प्राप्ति के 3 माह के अन्दर कानून के अनुसार सुनवाई पूरी की जाए - उन्हंे सुनने का अवसर प्रदान करने के पश्चात।
सहारा लाइफ इंश्योरेन्स ने उक्त अपील में यह तर्क दिया था कि इंश्योरेन्स अथाॅरिटी ने गैर कानूनी तरीके से तथा गलत नीयत से उसका व्यवसाय बिना सुनवाई का अवसर दिये एक बाहरी बीमाकर्ता - आईसीआईसी पू्रडेन्शियल लाइफ इंश्योरेन्स कम्पनी लिमिटेड को हस्तांतरित कर दिया था तथा इंश्योरेन्स अथाॅरिटी द्वारा नियुक्त एडमिनिस्ट्रेटर एक थर्ड पार्टी के हित में कार्य कर रहा था जिसने कई अन्य विकल्प होने के बावजूद व्यवसाय को हस्तांतरित कने की एकतरफा सिफारिश कर दी थी।

Comments (0)

मुख्यमंत्री से गैलेन्ट इस्पात के प्रबन्ध निदेशक ने भंेट की

Posted on 11 January 2018 by admin

गीडा, गोरखपुर में स्थापित अपनी इकाई के 500 करोड़ रुपये की लागत से विस्तारीकरण और बैकवर्ड इन्टीग्रेशन के लिए निर्णय की जानकारी दी

लखनऊ: 11 जनवरी, 2018press
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी से आज यहां शास्त्री भवन में गैलेन्ट इस्पात के प्रबन्ध निदेशक श्री चन्द्र प्रकाश अग्रवाल ने भेंट कर गीडा, गोरखपुर में स्थापित अपनी इकाई के 500 करोड़ रुपये की लागत से विस्तारीकरण और बैकवर्ड इन्टीग्रेशन के लिए निर्णय की जानकारी दी।
भेंट के दौरान मुख्यमंत्री जी ने कहा कि उद्यमों की स्थापना के लिए राज्य सरकार द्वारा निवेशकों को विभिन्न सुविधाएं दी जा रही हैं। प्रदेश सरकार ने कानून-व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त बनाते हुए अवस्थापना सुविधाओं को भी सुदृढ़ किया है। औद्योगिक निवेश एवं रोजगार प्रोत्साहन नीति सहित सेक्टरवार नीतियां लागू की गई हैं, जिनमें उद्यमों की स्थापना के लिए आकर्षक प्राविधान हैं।

Comments (0)

राज्यपाल ने गोरखपुर महोत्सव को मोबाइल से सम्बोधित किया

Posted on 11 January 2018 by admin

खराब मौसम के कारण राज्यपाल गोरखपुर नहीं पहुंच सके थे
—–
गोरखपुर में पर्यटन की अपार संभावनाएं विद्यमान हैं - श्री नाईक
—–

लखनऊः 11 जनवरी, 2018
उत्तर प्रदेश के राज्यपाल श्री राम नाईक ने आज अमौसी हवाई अड्डे से गोरखपुर महोत्सव को मोबाईल के माध्यम से सम्बोधित करते हुए कहा कि यह प्रसन्नता का विषय है कि राज्य सरकार द्वारा इस वर्ष पहली बार गोरखपुर महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। गोरखपुर शहर अपने आप में विशिष्ट और अद्भुत है। उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल में गोरखपुर एक प्रमुख स्थल के रूप में तेजी से विकसित हो रहा है। आने वाले समय में गोरखपुर न केवल उत्तर प्रदेश बल्कि पूरे भारत में एक प्रमुख पर्यटन केन्द्र के रूप अपनी विशिष्ट पहचान बनायेगा। उन्होंने कहा कि गोरखपुर में पर्यटन की अपार संभावनाएं विद्यमान हैं। राज्यपाल ने कहा कि इस प्रकार के महोत्सव जहाँ जनमानस को अपनी धरोहर सहेजने के लिए प्रेरित करते हैं वही वर्तमान प्रगति को भी देखने का अवसर प्रदान करते हैं। उल्लेखनीय है कि खराब मौसम के कारण राज्यपाल गोरखपुर महोत्सव के उद्घाटन समारोह में सम्मिलित नहीं हो पाये थे, उन्होंने अमौसी हवाई अड्डे से मोबाईल के माध्यम से महोत्सव को सम्बोधित किया था।
राज्यपाल ने कहा कि स्वाधीनता संघर्ष में गोरखपुर की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। गोरखपुर की धरती ने साहित्य के क्षेत्र में अमूल्य योगदान देने वाले प्रेमचन्द और फिराक गोरखपुरी जैसे साहित्यकार दिये हैं। इस नगरी को भगवान बुद्ध, कबीरदास, गुरू गोरक्षनाथ और गीता प्रेस के संस्थापक हनुमान प्रसाद पौद्वार का कर्मक्षेत्र होने का सौभाग्य प्राप्त है। पूर्वांचल का यह पूरा क्षेत्र अपने विशिष्ट रहन-सहन, साहित्य-कला, संस्कृति आदि के लिए विख्यात है। गोरखपुर में नाथ सम्प्रदाय के संस्थापक गुरू गोरक्षनाथ का मंदिर भी स्थित है जहाँ प्रतिवर्ष आयोजित होने वाला खिचड़ी मेला सांस्कृतिक एकता को प्रदर्शित करता है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी गोरखपुर से आते हैं।
श्री नाईक ने कहा कि गोरखुपर महोत्सव में जहाँ गोरखपुर की विशिष्ट जीवनशैली को जानने का अवसर मिलेगा वहीं गोरखपुर प्रक्षेत्र के निवासियों को सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आनन्द प्राप्त होगा। उन्होंने कहा कि सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति देने वाले ऐसे कई कलाकार हैं जिनका मुंबई से रिश्ता है। उन्होंने सांस्कृतिक एकता की दृष्टि से गोरखपुर महोत्सव में श्री शंकर महादेवन, भोजपुरी नाइट प्रस्तुत करने वाले श्री रविशंकर, गायक श्री शान, सुश्री भूमि त्रिवेदी एवं श्री जिमी मोसेस का विशेष रूप से उल्लेख किया। ऐसे कलाकारों का प्रदर्शन महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश के बीच सांस्कृतिक आदान-प्रदान का अवसर है। उन्होंने कहा कि देश में प्रचलित लोक कलायें एवं परम्पराओं से पारस्परिक प्रेम और भाईचारे को बढ़ावा मिलता है। राज्यपाल ने ‘चरैवेति! चरैवेति!!’ को जीवन का सिद्धांत बताते हुये गोरखपुर महोत्सव के उद्घाटन की घोषणा की।

Comments (0)

जनता द्वारा नकारे गये अखिलेश के पास सिर्फ अटकलबाजी और झूठी बयानबाजी - डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय

Posted on 11 January 2018 by admin

अगली होली पर जनता पूरी तरह करंेगी विपक्ष को बदरंग

लखनऊ 11 जनवरी 2018, भारतीय जनता पार्टी ने अखिलेश यादव के बयानों को छलनी द्वारा छिद्रान्वेषण बताया। प्रदेश अध्यक्ष डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने कहा कि भ्रष्ट कानून व्यवस्था, सत्ता संरक्षित अपराध और भ्रष्टाचार की राजनीति का रंग पिछली होली पर जनता ने उतार दिया था। अगली होली चटक केशरिया होगी जो जातिवाद, तुष्टीकरण, अपराध और भ्रष्टाचार की विपक्षी राजनीति को पूरी तरह बदरंग कर देगी। डा0 पाण्डेय ने कहा कि छांछ बोले तो बोले छलनी भी बोले जिसमें हजारों छेद है।
प्रदेश अध्यक्ष डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने कहा कि सपा की बुनियाद में जातिवाद, वंशवाद और साम्प्रदायिक तुष्टिकरण है। अखिलेश सरकार में धर्म विशेष और जाति विशेष के लोगों द्वारा कानून को ताक पर रखकर चकनाचूर किया गया प्रदेश का चैनो-अमन, अब तक जनमानस के जहन में है। अखिलेश सरकार में अपराधी बेखौफ थे, अपराध करने के बावजूद भी अपराधियों की गिरेबां तक कानून के हाथ नहीं पहुंचते थे क्यों कि अपराधियों पर सपा सत्ता के हाथ का खुला संरक्षण रहता था। उत्तर प्रदेश में आज योगी सरकार का रसूख ही है कि अपराधी और भ्रष्टाचारी कितना भी ताकतबर क्यों न हो, कानून के दायरे में होता है।
डा0 पाण्डेय ने कहा कि अखिलेश जी अपने मुंह मियां मिट्ठु बनकर खुद की पीठ थपथपाने की कला में माहिर है। वह खुद को विकासवादी कह रहे है जब कि उनके राज में किए गए प्रदेश के विनाश के अवशेष अब भी मौजूद है। उनके किए गये गढ्ढो को हम भर रहे है। आज प्रदेश में विकास का पहिया तेजी से धूम रहा है। इन्वेस्टर्स समिट के बाद आने वाले निवेश से प्रदेश विकास के क्षेत्र मं पूरे देश में आदर्श स्थापति करेगा। डा0 पाण्डेय ने कहा कि सैफई के युवराज ने विधानसभा चुनाव में कांग्रेसी शहजादे से दोस्ती की थी, दोनों ने खूब दोस्ती के तराने गाए सियासी जमीन पर जनता ने दोनों की दोस्ती को नापसंद क्या किया कि अब अखिलेश जी कह रहे है कि गठबंधन तो चुनाव में होता है। अरे अखिलेश जी यह गठबंधन नहीं ठगबंधन है जो चुनाव में गलबहियां करता है और चुनाव बाद एक दूसरे के विरोधी हो जाता है।
डा0 पाण्डेय ने कहा कि लगातार चुनाव में हार से हताश अखिलेश जी सहित पूरा विपक्ष अपने कार्यकर्ताओं को ढांढस बधाने के लिए ईवीएम राग अलाप रहा है। ईवीएम राग अलापते हुए अखिलेश यादव को याद ही नहीं रहा कि वैलेट से हुए चुनाव में भी भाजपा ने सपा-बसपा और कांग्रेस को करारी शिकस्त ही है। प्रदेश अध्यक्ष डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने कहा कि 15 वर्षो से तंत्र के पेंच बहुत ढीले हो चुके थे। प्रशासनिक कील काटें दुरूस्त कर प्रशासन को अन्त्योदय के कार्य में लगाने के लिए भाजपा सरकार ने मशक्कत की है, परिस्थितियां पहले से दुरूस्त हुई है। सैफई महोत्सव के नाम पर परिवारिक आयोजन कर भौडापन करने वाले सैफई महोत्सव से गोरखपुर महोत्सव की तुलना न करे। गोरखपुर प्रदेश के सांस्कृतिक आध्यात्मिक केन्द्रों में से एक है। गोरखपुर महोत्सव से पूर्वाचंल की सांस्कृतिक विरासत राष्ट्रीय फलक पर पहुंचेगी। प्रदेश के सामाजिक, आर्थिक, सांस्कृतिक उन्नति के पथ पर भाजपा सरकार आगे बढ़ रही है।

Comments (0)

अन्तराष्ट्रीय जगत में यूपी को पहचान दिलाएगी इन्वेस्टर्स समिट - डाॅ0 चन्द्रमोहन

Posted on 11 January 2018 by admin

लखनऊ 11 जनवरी 2018, प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने के बाद से यूपी की छवि राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर तेजी से बदली है। पिछली विपक्षी सरकारों में एक अराजक प्रदेश के रूप में जाना जाने वाला उत्तर प्रदेश अब माननीय श्री योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में चल रही प्रदेश सरकार में एक असीम संभावनाओं वाला सबल प्रदेश के रूप में पहचान बना रहा है। यूपी के प्रति लोगों की धारणा तेजी से बदल रही है।
प्रदेश प्रवक्ता डाॅ0 चन्द्रमोहन प्रदेश मुख्यालय पर पत्रकारों चर्चा करते हुए कहा कि पिछली 2 जनवरी को लखनऊ के लोकभवन में निवेश प्रोत्साहन बोर्ड बैठक में मौजूद उद्यमियों में से किसी ने भी कानून व्यवस्था को लेकर माननीय मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के सामने कोई प्रश्न नहीं उठाया। यह जाहिर करता है कि प्रदेश की छवि किस तरह से बदल रही है। इसी बदली छवि का ही परिणाम है कि फरवरी में होने वाली इन्वेस्टर्स समिट में निवेश के लिए देश और विदेश के उद्योगपति बेहद उत्साहित है।
प्रदेश प्रवक्ता डाॅ0 चन्द्रमोहन ने बताया कि प्रदेश सरकार को हर क्षेत्र में निवेश के प्रस्ताव बड़ी संख्या में मिलना शुरू हो गए हैं। यह समिट प्रदेश के विकास के लिए एक मील का पत्थर साबित होगी। इसके जरिए प्रदेश सरकार न केवल एक लाख करोड़ के निवेश के लक्ष्य को पीछे छोड़ देगी बल्कि समिट यूपी में लाखों नौकरियों की राह भी खोलेगी। इन्वेंस्टर्स समिट और यूपी में निवेश को लेकर राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर की बड़ी कंपनियों ने जिस तरह से उत्साह दिखाया है उससे हमारे प्रदेश का सम्मान बढ़ा है।
प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि सपा बसपा की पिछली सरकारों ने निवेश के नाम पर केवल जनता को धोखा ही दिया। इन सरकारों में हुए कथित निवेश सम्मेलन केवल पार्टी के कार्यकर्ता सम्मेलन ही बनकर रह गए थे। यही वजह है कि विपक्षी सरकारों में हुए एम0ओ0यू0 में से कोई भी हकीकत में नहीं उतर सका था। मुख्यमंत्री माननीय श्री योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में चल रही प्रदेश सरकार के प्रति आम लोगों के साथ उद्योगपतियों में भी भरोसा जगा है। फरवरी में होने वाली इन्वेस्टर्स समिट देश के साथ विदेशों में भी यूपी को एक सक्षम और सबल प्रदेश के रूप में पहचान दिलाएगी।

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

January 2018
M T W T F S S
« Dec    
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293031  
-->









 Type in