*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | January 7th, 2018

मजहबी और जातीय राजनीतिक विद्वेष की राजनीति से ही जमींदोज हुई बसपा- डाॅ0 मनोज मिश्र

Posted on 07 January 2018 by admin

लखनऊ 07 जनवरी 2018, भारतीय जनता पार्टी ने बसपा सुप्रीमों के जातीय व मजहबी बयान को वैमनस्यता फैलाने वाला बतलाया। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता डाॅ0 मनोज मिश्र ने कहा कि बसपा सुप्रीमों दलितों की रहुनुमाई का नाटक करके दलितों के वोट की सौदागर बन गई, लेकिन मजहबी और जातीय विद्वेष की कलुषित राजनीति ने बसपा को जमीदोज कर दिया।
डाॅ0 मनोज मिश्र ने कहा कि बसपा सुप्रीमों 2012, 2014,2017 और निकाय चुनाव के परिणामों से कुछ भी सीखने को तैयार नहीं है। देश की जनता अब जातीय और मजहबी बैमनस्यता से इतर विकास की राजनीति की समर्थक है। बहिन जी ने शायद काठ की हांडी एक ही बार चढ़ने की कहावत नहीं सुनी, अगर सुनी होती तो वैमनस्यता पूर्ण विघटनकारी घृणित राजनीति से तौबा कर लेती। प्रत्येक राजनीतिक दल की नैतिक जिम्मेदारी है कि जहां भी वर्ग संघर्ष हो उसे शांत करने का प्रयास करे, न की संघर्ष को और बढ़ाएं।
श्री मिश्र ने कहा कि महाराष्ट्र में हुई हिंसा दुःखद है जो नहीं होनी चाहिए थी। महाराष्ट्र सरकार ने उस पर जल्द ही नियं़त्रण किया। बहिन जी को राष्ट्रवादी सोच के साथ राजनीति करना चाहिए जिसमें देश के अगडों, पिछड़ों दलितों, शोषितों, वंचितों के कल्याण का भाव निहित हो। बसपा सुप्रीमों ने अगर जातिगत विद्वेष की राजनीति का परित्याग न किया तो कल को लोग कहेंगे कि एक राजनीतिक दल बसपा भी था।

Comments (0)

अखिलेश यादव भाजपा सरकार को नसीहत न करें, अपनी सरकार के कारनामों को याद करें - डाॅ0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय

Posted on 07 January 2018 by admin

लखनऊ 07 जनवरी 2018, भारतीय जनता पार्टी प्रदेश अध्यक्ष डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने अम्बेडकर नगर में आयोजित ग्रामर्षि महोत्सव में ग्राम और ग्राम्य देवताओं को नमन करते हुए सांसद हरिओम पाण्डेय के पिता ग्रामर्षि की उपाधि से विभूषित पं0 रामकुमार पाण्डेय ग्रामर्षि सम्मान समारोह में सहभागिता की। डाॅ0 पाण्डेय ने कहा कि अखिलेश राज की जातिवादी, तुष्टिकरण, गुण्डई, माफियाराज और भ्रष्टाचार में आकंठ डूबे तंत्र की यादें अब तक जनता के जहन में है। अखिलेश यादव भाजपा सरकार को नसीहत न करें बल्कि अपनी सरकार के कारनामों को याद करें।photo_1
डाॅ0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने ग्रामोदय आश्रम स्नातकोत्तर महाविद्यालय वीर सिंहपुर अम्बेडकरनगर में ग्रामर्षि पं0 राम कुमार पाण्डेय की पुण्य स्मृति में आयोजित कार्यक्रम में श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए कहा कि पाण्डेय जी संकल्प के धनी थे इण्टर कालेज के अध्यापक होते हुए भी इस पिछडे क्षेत्र को शिक्षा से ज्योतिर्मय किया, जिससे सरस्वती का प्रकाश इस क्षेत्र में आया। पिता के मार्ग पर आगे बढते हुए पुत्र सांसद हरिओम पाण्डेय भी उनके बताए मार्ग पर बढ रहे है।
डाॅ0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने जनता को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में योगी सरकार ने संबेदनात्मक सोच के साथ बच्चों को स्वेटर देना शुरू किया है। बाल एवं पुष्टाहार घोटाला करने वाले लोंगो द्वारा बच्चों के भोजन और स्वेटर की चिंता ढकोसला है। मेरे प्रदेश का किसान स्वाभिमानी है उसे अगर विरोध करना होगा तो छाती ठोककर करेगा। विपक्ष की काली करतूतों ने अंधेरी कालीरात में सड़कों पर सडे आलू फेंके है, यह ओछी राजनीति है। भाजपा सरकार ने कोल्ड स्टोरेज की संख्या बढाई है। समर्थन मूल्य भी बढाने के मुख्यमंत्री जी ने संकेत दिये है।
डाॅ0 पाण्डेय ने कहा कि अखिलेश यादव के मुंह से जाति-धर्म की राजनीति के तंज अटपटे लगते है। सपा मुखिया जातिवादी और वंशवादी राजनीति की उपज है। छात्रवृति, कब्रिस्तानों की बाउण्ड्री, लड़कियों के विवाह के लिए अनुदान तक में तुष्टिकरण की नीति अपनाई गई। अखिलेश जी कह रहे है कि भाजपा दोबारा नोटबंदी करके देख ले, एक बार नोटबंदी से सपा 47 पर पहुॅची है दोबारा नोटबंदी से 7 पर पहुॅचेगी।
डाॅ0 पाण्डेय ने कहा कि अखिलेश सरकार में युवाओं को छला गया, सरकारी नौकरियों के नाम पर भ्रष्टाचार से बेरोजगारों के साथ विश्वासघात किया। अखिलेश सरकार के समय की सभी भर्तियां आज न्यायालय की दहलीज पर न्याय का इंतजार कर रही है। भाजपा सरकार में किसी भी माई के लाल में रिश्वत लेने की हिम्मत नहीं है। जल्द ही सात लाख से ज्यादा सरकारी नौकरियों से युवाओं को रोजगार मिलेगा। वह भी पूर्ण रूपेण भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद से रहित। इसके साथ ही प्रदेश में होने वाले निवेश से 15 लाख युवााओं को रोजगार मिलेगा एवं प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, स्टार्टअप, स्टेण्डअप एवं कौशल विकास के माध्यम से लाखों युवाओं को रोजगार मिल रहा है।
डा0 पाण्डेय ने कहा कि गोरखपुर महोत्सव पूर्वाचल की लोककला, संस्कृति, संगीत, शिल्प के साथ भारतीय ज्ञान, मीमांसा, आध्यात्म, कला की प्रतिकृति होगा। जो भारतीय मूल्यों का राष्ट्रीय प्रदर्शन होगा, जबकि सैफई महोत्सव एक पारिवारिक आयोजन और फूहड़ता के नाम पर सरकारी धन की बर्बादी मात्र थी। अखिलेश जी द्वारा की गई दोनो की तुलना आनंद और मजा के अंतर जैसी है।
डाॅ0 पाण्डेय ने कहा कि अखिलेश यादव ने आज ही सपा को राष्ट्रीय पार्टी बनाने का संकल्प लिया है। अभी कुछ दिन पहले इसी सोच के साथ वह गुजरात गए थे। आगे भी अन्य राज्यों के चुनाव में पर्यटन पर जा सकते है।
डाॅ0 पाण्डेय ने कहा कि केन्द्र में मोदी सरकार और प्रदेश में योगी सरकार किसान, नौजवान, महिला, बुजुर्ग की चिकित्सा, सुरक्ष, शिक्षा एवं रोजगार के लिए कार्य कर रही है। भाजपा सरकारों के काम का मूल्याकंन जनता कर रही है और इसीलिए कदम दर कदम नई मंजिल पर पहुंच रही है। भाजपा को विपक्ष के सर्टीफिकेट अवश्यकता नहीं है।
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डाॅ0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय का बाराबंकी-फैजाबाद सीमा पर सफेदाबाद में जिलाध्यक्ष अवधेश श्रीवास्तव, विधायक शरद अवस्थी एव उपेन्द्र रावत के नेतृत्व में जोरदार स्वागत किया गया। भिटरिया में विधायक सतीश वर्मा, फैजाबाद अयोध्या बाईपास पर मेयर ऋषिकेष उपाध्याय, विधायक इन्द्र प्रताप तिवारी तथा मायाबाजार में अम्बेडकर नगर जिलाध्यक्ष शिव नायक वर्मा के नेतृत्व में सैंकडों कार्यकर्ताओं ने फूल मालाओं से जोरदार स्वागत किया।

Comments (0)

जो भी मुख्यमंत्री नोएडा का दौरा करता है, वह दूसरी बार सीएम की कुर्सी नहीं बचा पाता है

Posted on 07 January 2018 by admin

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कुछ दिनों पहले कथित अंधविश्वास तोड़ते हुए नोएडाजाने वाले सीएम योगी आदित्यनाथपर चुटकी ली है। उन्होंने कहा कि इसका असर अब जल्द ही दिखेगा।यूपी की राजधानी लखनऊ में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में तंज कसते हुए अखिलेश ने कहा, ‘कभी-कभी भगवान भी अच्छा काम करते हैं। हमें नोएडा मेट्रो के उद्घाटन में नहीं बुलाया गया। हालांकि, सीएम साहब नोएडा गए तो लेकिन हमने तस्वीर में देखा कि ना वो बटन दबा सके ना मेट्रो को हरी झंडी दिखा पाए। हम तो यही कहेंगे कि नोएडा जाने पर यही होता है और अभी नोएडा का असर दिखना बाकी है।’07-01-b
बता दें कि अब तक यह माना जाता रहा है कि जो भी मुख्यमंत्री नोएडा का दौरा करता है, वह दूसरी बार सीएम की कुर्सी नहीं बचा पाता है। यही वजह रही कि कि पिछले कुछ सालों से यूपी के मुख्यमंत्री नोएडा दौरे से बचते रहे हैं। हालांकि मेट्रो के उद्घाटन के दौरान योगी आदित्यनाथ इस मिथक को तोड़ते दिखे और पीएम नरेंद्र मोदी ने भी इसकी सार्वजनिक रूप से प्रशंसा की थी।पत्रकारों से बातचीत के दौरान अखिलेश ने कहा कि प्रदेश में ठंड के मौसम में स्वेटर बंट जाने चाहिए थे, लेकिन अब तक ऐसा हो ना सका। जो सरकार स्वेटर नहीं दे पा रही हो उससे और क्या उम्मीद की जा सकती है।सरकार ने वादा किया था कि आलू के लिये सही कीमत दी जाएगी लेकिन पिछली आलू की फसल के लिए कोल्ड स्टोरेज का इंतजाम नहीं हुआ और फसल खराब हो गई। इसके बाद जब नई फसल आई उसकी कीमत नहीं दी जा सकी। धान, आलू और गन्ना सभी प्रकार के किसानों का नुकसान हुआ लेकिन फसल बीमा के नाम पर किसी नुकसान की भरपाई नहीं की गई। इन सब से परेशान तमाम किसानों ने इस साल सबसे ज्यादा आत्महत्या की लेकिन सरकार ने इसके लिए कुछ नहीं किया।
अखिलेश ने कहा, ‘मैं सरकार से पूछना चाहता हूं कि यूपी में फोरलेन सड़कों पर कितना पैसा खर्च किया गया? सरकार कह रही है कि हम ऐसी सड़क बनाएंगे जो तीन पीढ़ियों तक ना टूटे लेकिन जो सड़क समाजवादी सरकार में बन रही थी उन पर वर्तमान सरकार ने कितना पैसा खर्च किया। सरकार ने मेडिकल कॉलेज बनाने के दावे किए लेकिन जो इलाज फ्री हो रहे थे, उन्हें भी बंद कर दिया गया।’

उन्होंने कहा, ‘सीएम योगी 1090 को अपनी सरकार की योजना बता रहे हैं। सीएम कई बार गलती कर देते हैं लेकिन सही बात यह है कि हमने जिस 1090 की व्यवस्था को शुरू किया था वह अब तक की सबसे अच्छी योजना है। प्रदेश में नोएडा, बुलंदशहर और बांदा में जो घटनाएं हुईं, वह दुर्भाग्यपूर्ण है। हमने जो डायल 100 की योजना शुरू की थी अगर उसका कुशल प्रबंधन होता तो शायद ये घटनाएं ना होतीं, क्योंकि ये गाड़ियां सड़कों पर पेट्रोलिंग करते मिल जातीं।’
अखिलेश ने कहा कि बीजेपी के लोग खुद जातिवाद की राजनीति करते हैं और अपनी गलतियां छिपाने के लिए दूसरों पर जातिवादी होने का आरोप लगाते हैं। हाल में बजट भी आने वाला है, सरकार डबल इंजन की है इसलिए योगी जी से मांग है कि वह केंद्र से प्रदेश के लिए ज्यादा पैसा लेकर आएं। योगी जी एक्सप्रेस-वे पर टोल टैक्स लगा रहे हैं और हम पर आरोप लगाते थे कि यह एक्सप्रेस-वे अधूरा है। अगर एक्सप्रेस-वे अधूरा था तो इसपर टोल टैक्स कैसे लगाया जा सकता है?
सच तो यह है कि प्रदेश की सरकार इमारतों का रंग बदल रही है लेकिन मैंने हमेशा कहा कि काम करोगे तो खुशहाली आने से चेहरे का रंग खुद बदल जाएगा लेकिन सिर्फ रंग बदलने से विकास नहीं हो सकता। जब हमने सवाल किया तो सरकार के लोगों ने कहा कि हम भगवा नहीं बल्कि दीवारों को क्रीम रंग में रंगना चाहते थे, इसीलिए मैं प्रदेश वासियों से कहूंगा कि इन भगवा की क्रीम लगाने वालों से सतर्क रहें।

07-01-2018 / Photographs of the Press Conference of Shri Akhilesh Yadav (National President, Samajwadi Party and Former Chief Minister, Uttar Pradesh).

Comments (0)

केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री से श्रीमती अनुपमा जायसवाल ने सर्वशिक्षा अभियान का केन्द्रांश जारी करने का अनुरोध किया

Posted on 07 January 2018 by admin

लखनऊः 07 जनवरी, 2018
केन्द्रीय मानव संसाधन एवं विकास मंत्री, भारत सरकार श्री प्रकाश जावड़ेकर से उत्तर प्रदेश की बेसिक शिक्षा एवं बाल विकास पुष्टाहार राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्रीमती जायसवाल ने 02 जनवरी, 2018 को नई दिल्ली में मिलकर सर्वशिक्षा अभियान के तहत अवशेष केन्द्रांश की धनराशि को जारी करने का अनुरोध किया।
scan0011 श्रीमती जायसवाल ने उ0प्र0 बेसिक शिक्षा विभाग में गत 9 माह में किए गए सार्थक प्रयासों में ‘माँ समिति’ का गठन करने तथा बेसिक शिक्षा विभाग के प्राथमिक विद्यालयों को माननीय मंत्रियों/विधायकों, जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों तथा सम्भ्रांत नागरिकों से एक-एक विद्यालय गोद लेते हुए माॅडल स्कूल बनाने के लिए की गई अपील के विषय में केन्द्रीय मंत्री को अवगत कराया। उन्होंने अवगत कराया कि प्राथमिक विद्यालय में अध्ययनरत बच्चों को यूनिफार्म एवं जूता-मोजा, स्कूल बैग, समय से शत-प्रतिशत वितरित किया जा चुका है। प्राथमिक विद्यालयों में पढ़ने वाले बच्चों को मोबाइल नम्बर तथा आधार कार्ड से जोड़ने तथा अध्यापकों की उपस्थिति सुनिश्चित किए जाने के सम्बन्ध में निर्देश दिए गए है।
राज्यमंत्री श्रीमती जायसवाल ने बताया कि उ0प्र0 में बेसिक शिक्षा विभाग में किए गए सार्थक प्रयासों को भारत सरकार के मंत्री श्री जावड़ेकर जी ने सराहना की है तथा केन्द्रीय मंत्री ने 15 जनवरी 2018 को होने वाली सेन्ट्रल एडवाईजरी बोर्ड आफ एजुकेशन की 65वीं बैठक में उपस्थित होकर उ0प्र0 बेसिक शिक्षा विभाग की गुणवत्ता को सुधारने हेतु व अन्य सुझाव दिए जाने के निर्देश दिए गए है।

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

January 2018
M T W T F S S
« Dec    
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293031  
-->









 Type in