*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | November 7th, 2017

द्वितीय दिवस:तृतीय अंतरराष्‍ट्रीय टॉक्‍सीकोलॉजी कॉनक्‍लेव, आईटीसी-2017

Posted on 07 November 2017 by admin

अंतर्राष्ट्रीय विष विज्ञान सम्मेलन के दूसरे दिन विनियामक विषविज्ञान और कम्प्यूटेशनल विषविज्ञान पर परिचर्चा हुई।
dsc_5645सीएसआईआर-भारतीय विषविज्ञान अनुसंधान संस्थान (सीएसआईआर-आईआईटीआर) के मुख्य वैज्ञानिक डॉ॰ पूनम कक्कड ने अपने व्याख्यान, “विनियामक विष विज्ञान में मौजूदा चुनौतियों का सामना करने के लिए समेकित दृष्टिकोणों” में सुरक्षा मूल्यांकन के लिए सिलिको / इन विट्रो टेस्ट सिस्टम में हाल ही में विषाक्तता के पारंपरिक मार्करों से प्रतिमान बदलाव पर ध्यान केंद्रित किया। इन तकनीकों से कम समय के साथ साथ जन्तु प्रयोग को भी कम किया जा सकेगा। डॉ॰ शेखर चेलूर, अनुसंधान निदेशक, ऑरिगेन डिस्कवरी टेक्नोलॉजीज लिमिटेड, बेंगलुरु ने छोटे अणु ऑन्कोलॉजी ड्रग्स की खोज और विकास में शामिल प्रक्रियाओं का वर्णन करते हुए सभा को बताया कि टॉक्सिकोलजिक पैथोलॉजी प्रारंभिक उम्मीदवार दवा की पहचान में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है और नेतृत्व के माध्यम से इसके विकास का समर्थन करती है। उन्होंने कहा कि विषविज्ञान के कारणों से ऑन्कोलॉजी दवा के उम्मीदवार के विकास को रोकने का निर्णय एक जटिल और सूक्ष्म प्रक्रिया है। छोटे अणुओं के दवाओं के विकास पर एक प्रस्तुति “इंडियन सबमिशन एंड फाइलिंग फॉर बायोसिमिलर्स” ल्यूपिन लिमिटेड, पुणे के डॉ॰ विशाल पवित्राकर द्वारा की गई। उन्होंने कहा कि क्षेत्र विशिष्ट विनियामक मार्गों का मूल्यांकन, जो आईएनडी जमा करने की आवश्यकताओं का निर्धारण करता है, प्रक्रिया को कम समय में अधिक मजबूती से कर सकता है। विभिन्न क्षेत्रों के विनियामक आवश्यकताओं के बीच अंतर पर भी चर्चा हुई। श्री के एस त्यागराजन ने भारतीय कृषि के सामने आने वाली कई चुनौतियों के लिए शिक्षाविदों, उद्योग प्रतिनिधियों और नीति निर्माताओं का ध्यान आकर्षित करने की मांग की। उन्होने कहा कि अधिक प्रभावी नियमों के विवेकपूर्ण उपयोग के साथ एग्रोकेमिकल्स का प्रयोग कीट प्रबंधन प्रणाली की आवश्यकता हैं।
प्रस्तुतियों के पश्चात सभी वक्ताओं और अन्य आमंत्रित विशेषज्ञों के बीच एक पैनल में चर्चा हुई। चर्चा में मानव स्वास्थ्य की वैश्विक चुनौतियों का सामना करने में सक्षम होने के लिए एक अधिक मजबूत और सुगम नियामक वातावरण पर ज़ोर दिया गया और इसको सक्षम बनाने के लिए उद्योग और शैक्षणिक संस्थानों के बीच व्यापक सहयोग पर बल दिया गया।

Comments (0)

भाजपा महापौर, नगर पालिका अध्यक्ष, नगर पंचायत अध्यक्षों के साथ पार्षदों ने किया नामाकंन

Posted on 07 November 2017 by admin

लखनऊ 06 नवम्बर 2017, भारतीय जनता पार्टी के महापौर प्रत्याशियों ने किया नामांकन। आगरा, गोरखपुर कानपुर, मेरठ और अयोध्या नगर निगमों में के साथ नगर पालिकाओं, नगर पंचायतों के नामांकन के प्रथम चरण में भाजपा ने झौंकी ताकत। महापौर, नगर पालिका अध्यक्ष तथा नगर पंचायत अध्यक्षों के साथ पार्षदो में भी किया। नामांकन।
भारतीय जनता पार्टी प्रदेश अध्यक्ष डाॅ0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने प्रत्याशियों, पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं को शुभकामना देते हुए संदेश दिया कि बूथ स्तर तक एक-एक घर तक मोदी जी एवं योगी जी की जनकल्याण कारी नीतियां लेकर पहुॅचे। भाजपा का नगरीय विकास के साथ ही चुनाव में जाना है।
भाजपा से मेरठ नगर निगम महापौर प्रत्याशी प्रदेश उपाध्यक्ष श्री मती कांता कर्दम के साथ नामांकन जुलूस में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डाॅ0 लक्ष्मीकान्त बाजपेयी, प्रदेश उपाध्यक्ष अश्वनी त्यागी, प्रदेश महामंत्री विजय बहादुर पाठक, प्रदेश मंत्री अमर पाल मौर्य, उपकोषाध्यक्ष ब्रजेन्द्र अग्रवाल, प्रभारी मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह, सांसद राजेन्द्र अग्रवाल, विधायक ब्रजेश सिंह, सोमेन्द्र तोमर, विधायक सत्य प्रकाश अग्रवाल एवं महानगर अध्यक्ष करूणेश नंदन गर्ग सहित हजारों की सख्या में जनमानस भाजपा पताकाएं थामें नामांकन के लिए पहुॅचा।
गोरखपुर नगर निगम में भाजपा प्रत्याशी के रूप में सीताराम जायसवाल के साथ प्रदेश मंत्री कामेश्वर सिंह, क्षेत्रीय उपाध्यक्ष उपेन्द्र शुक्ला, एमएलसी देवेन्द्र प्रताप सिंह, विधायक विपिन सिंह, राधा मोहनदास अग्रवाल, संत प्रसाद, महेन्द्र पाल सिंह, पूर्व राष्ट्रीय मंत्री विनोद पाण्डेय, पूर्व मेयर डाॅ0 सत्या पाण्डेय, अंजू चैधरी चिरंजीव चैरसिया आदि जनसैलाब के साथ नामांकन के लिए बढे।
कानपुर नगर निगम महापौर प्रत्याशी श्रीमती प्रमिला पाण्डेय के साथ प्रदेश उपाध्यक्ष प्रकाश शर्मा, प्रदेश महामंत्री सलिल विश्नोई, प्रदेश मंत्री सुरेश अवस्थी, क्षेत्रीय अध्यक्ष मानवेन्द्र सिंह, कैबिनेट मंत्री सत्यदेव पचैरी, सतीश महाना, विधायक महेश त्रिवेदी, जगतवीर सिंह द्रौण, महानगर एवं जिला अध्यक्ष सुरेन्द्र मैथानी, अनीता गुप्ता के सहित हजारों कार्यकर्ताओं का कारवां नामांकन जुलूस में बढ़ चला।
अयोध्या नगर निगम महापौर प्रत्याशी ऋषिकेश उपाध्याय के साथ उपमुख्यमंत्री डाॅ0 दिनेश शर्मा, हरद्वार दूबे, जिला प्रभारी सुधीर सिंह सिद्धू, सांसद लल्लू सिंह, विधायक वेद प्रकाश गुप्ता, रामचन्द्र यादव, इंद्र प्रताप तिवारी, शोभा सिंह चैहान, गोरखनाथ, जिलाध्यक्ष अवधेश पाण्डेय सहित हजारों कार्यकर्ताओं का कारवां नामांकन जुलूस में बढ चला।
भाजपा से आगरा महापौर प्रत्याशी नवीन जैन, ठोल नगाडों .के साथ राजामण्डी से नामाकंन के लिए आगे बढे। अनुसूचित जाति राष्ट्रीय आयोग के अध्यक्ष सांसद रामशंकर कठेरिया, मंत्री एसपी सिंह बघेल, प्रभारी रविकांन्त गर्ग, विधायक योगेन्द्र उपाध्याय, जगन प्रसाद गर्ग, जीएस धर्मेश, राम प्रताप सिंह चैहान, प्रभारी पुरूषोत्तमखण्डेलवाल, महानगर अध्यक्ष विजय शिवहरे, जिलाध्यक्ष श्याम भदौरिया सहित हजारों की संख्या में कार्यकर्ता साथ रहे।

Comments (0)

बी.एस.पी. द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति-दिनांक 06.11.2017

Posted on 07 November 2017 by admin

(1) उत्तर प्रदेश बीजेपी सरकार बसों व सरकारी इमारतों आदि का रंग बदलने के कामों को ही राजधर्म मानकर व्यर्थ में समय व संसाधन दोनों बर्बाद कर रही है जबकि अस्पतालों में इलाज के अभाव में हजारों लोग रोज़ अपनी जान गवाँ रहे हैं।
(2) साथ ही रायबरेली के बिजली घर में हुआ भयानक विस्फोट और उसमें हुई व्यापक जान-माल की हानि बीजेपी सरकारों की घोर आपराधिक लापरवाही का परिणाम।
(3) बीजेपी की श्री नरेन्द्र मोदी व योगी सरकार की जनविरोधी नीतियों व ग़लत कार्यप्रणाली के कारण इन्सानों के जान की कीमत कुछ नहीं रहकर जानवरों से भी सस्ती कर दी गयी है जो देशहित के विरुद्ध बड़ी चिन्ता की बात है: बी.एस.पी. की राष्ट्रीय अध्यक्ष, पूर्व सांसद व पूर्व मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश सुश्री मायावती जी

नई दिल्ली, 06 नवम्बर 2017: बी.एस.पी. की राष्ट्रीय अध्यक्ष, पूर्व सांसद व पूर्व मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश सुश्री मायावती जी ने बीजेपी सरकार द्वारा बसों व सरकारी ईमारतों आदि का रंग बदलने के कामों को ही राजधर्म मानकर व्यर्थ में समय व संसाधन बर्बाद करने की तीखी आलोचना करते हुये कहा कि जबकि प्रदेश सरकार जनहित व जनकल्याण के मामले में घोर लापरवाह बनी हुयी है तथा अस्पतालों में इलाज के अभाव में हजारों लोग रोज अपनी जान गवाँ रहे हैं और लाखों घर उजड़ रहे है।
इसके साथ ही रायबरेली जिले के ऊँचाहार स्थित एन.टी.पी.सी. के बिजली घर में अभी हाल ही में हुये भयानक विस्फोट और उसमें हुई व्यापक जान-माल की हानि को बीजेपी सरकारों की घोर आपराधिक लापरवाही का परिणाम बताते हुये उन्होंने कहा कि बीजेपी की श्री नरेन्द्र मोदी व श्री योगी सरकार की जनविरोधी नीतियों व ग़लत कार्यप्रणाली के कारण इन्सानों की जानों की कीमत कुछ नहीं रहकर जानवरों से भी सस्ती होकर रह गयी है जो देशहित के विरुद्ध सर्वसमाज के लिये बड़ी ही चिन्ता की बात है।
ऊँचाहार बिजली संयन्त्र के बायलर विस्फोट में मारे गये करीब 32 लोगांे व घायल हुये सैकड़ों लोगों के परिवारों के प्रति गहरा दुःख व गहरी संवेदना व्यक्त करते हुये सुश्री मायावती जी ने एक बयान में कहा कि बीजेपी की केन्द्र व उत्तर प्रदेश सरकार जनहित व जनकल्याण के मामले में लगातर विफल साबित हो रही है तथा इनकी आपराधिक लापरवाही के कारण बड़ी-बड़ी जानलेवा दुर्घटनायें बराबर हो रही हैं जिससे जान-माल के साथ-साथ देश की सम्पत्ति व संसाधन की भी भारी क्षति हो रही है, लेकिन कुल मिलाकर बीजेपी सरकारें पूरी तरह से बेपरवाह, गैर-जिम्मेदार व असंवेदनशील बनी हुई हैं। इसी क्रम में ऊँचाहार बिजली संयन्त्र दुर्घटना को भी पूरी गम्भीरता से नहीं लेकर इसे केवल एक घटना मानने की कर्तव्य उदासीनता बरती जा रही है जबकि यह भीषण दुर्घटना देश के विकास व बिजली आपूर्ति पर एक बड़ा आघात है।
सुश्री मायावती जी ने कहा कि बीजेपी के नेता व मन्त्रीगण केवल सस्ती लोकप्रियता प्राप्त करने के साथ-साथ अपना नाम व फोटो अख़बारों में छपवाने के लिये अनेकों प्रकार के विवादित व ग़ैर-जिम्मेदाराना बयान देने रहने में ही व्यस्त नजर आते हैं और उन पर किसी का भी किसी प्रकार का कोई नियन्त्रण व अंकुश नहीं है क्योंकि ये सब अनर्गल उन लोगांे ने अपने वरिष्ठ नेताओं से ही सीखा है जो आज भी दुर्भावना व द्वेष की राजनीति करते रहने को ही देशसेवा समझते हैं जबकि इससे देश का बड़ा अहित होता चला जा रहा है एवं जनहित व जनकल्याण व्यापक स्तर पर प्रतिदिन प्रभावित हो रहा है।
इतना ही नहीं बल्कि अपराध-नियन्त्रण व क़ानून-व्यवस्था के मामले में भी बीजेपी सरकारों की कोताही व लापरवाही से आमजनता का जन-जीवन लगातार बद-से-बदतर होता जा रहा है, परन्तु ख़ासकर उत्तर प्रदेश सरकार गोरक्षा को ही जनहित व जनसेवा समझकर अपने कर्तव्यों से विमुख हो गयी लगती है। बीजेपी सरकार की जनहित के मामलों में ऐसी घोर आपराधिक लापरवाही की जितनी भी निन्दा की जाये वह कम है।

जारीकर्ता:
बी.एस.पी. केन्द्रीय कार्यालय
4, गुरूद्वारा रकाबगंज रोड
नई दिल्ली - 110001

Comments (0)

प्रदेश की गड्ढायुक्त सड़कों को माह नवम्बर, 2017 के अन्त तक गड्ढामुक्त किये गये सड़कों का प्रमाण पत्र सम्बन्धित अभियन्ताओं से लेकर आगामी साप्ताहिक बैठक में प्रस्तुत करना अनिवार्य: मुख्य सचिव

Posted on 07 November 2017 by admin

गड्ढामुक्त सड़कों की रेण्डम चेकिंग मुख्यालय से वरिष्ठ अधिकारियों को
भेजकर कराकर यथाशीघ्र आख्या प्राप्त की जाये: राजीव कुमार

माह नवम्बर के प्रत्येक सप्ताह के सोमवार को गड्ढायुक्त
सड़कों के कार्यों की प्रगति की नियमित होगी समीक्षा: मुख्य सचिव

प्रदेश में चिन्हित 121034.64 किलोमीटर गड्ढायुक्त सड़कों में से
80383.87 किलोमीटर सड़कें हुई गड्ढामुक्त

dsc_6173_r2_c1लखनऊ: 06 नवम्बर, 2017

उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव श्री राजीव कुमार ने निर्देश दिये हैं कि प्रदेश की गड्ढायुक्त सड़कों को माह नवम्बर, 2017 के अन्त तक गड्ढामुक्त किये गये सड़कों का प्रमाण पत्र सम्बन्धित अभियन्ताओं से लेकर आगामी साप्ताहिक बैठक में प्रस्तुत करना होगा। उन्होंने कहा कि गड्ढामुक्त सड़कों की रेण्डम चेकिंग मुख्यालय से वरिष्ठ अधिकारियों को भेजकर कराकर यथाशीघ्र आख्या प्राप्त की जाये। उन्होंने कहा कि माह नवम्बर, 2017 के बाद चिन्हित गड्ढायुक्त सड़कें गड्ढामुक्त न मिलने पर सम्बन्धित अभियन्ताओं की जिम्मेदारी नियत कर नियमानुसार कार्यवाही सुनिश्चित करायी जाये। उन्होंने कहा कि विशेष मरम्मत योग्य सड़कों की मरम्मत का कार्य भी आगामी मार्च, 2018 तक निर्धारित मानक एवं गुणवत्ता के साथ पूर्ण कराना होगा।
मुख्य सचिव आज शास्त्री भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष के सभागार में गड्ढामुक्त सड़कों की प्रगति की जानकारी लेते हुये सड़कों के गड्ढामुक्त कार्यक्रम के अन्तर्गत कार्य समाप्ति के उपरान्त सम्बन्धित अधिशासी अभियन्ताओं से गड्ढामुक्त प्रमाण पत्र प्राप्त किये जाने हेतु विभागीय वरिष्ठ अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दे रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रत्येक सोमवार को गड्ढामुक्त सड़कों के कार्यों की प्रगति की समीक्षा मुख्य सचिव कार्यालय में नियमित रूप से माह नवम्बर में ली जायेगी। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि टेक्नोलाॅजी का प्रयोग कर स्थलीय स्थिति की फोटो आदि प्राप्त कर विभागीय वेबसाइट पर डाली जाये। उन्होंने कहा कि सैम्पल के आधार पर गड्ढामुक्त सड़कों के कार्यों का दो से तीन प्रतिशत मुख्यालय से वरिष्ठ अधिकारी भेजकर स्थलीय निरीक्षण कराया जाये। उन्होंने कहा कि सड़कों गड्ढामुक्त होने के सम्बन्ध में प्रगति की जानकारी आम नागरिकों को सड़कों पर बोर्ड के माध्यम से उपलब्ध करायी जाये।
बैठक में बताया गया कि प्रदेश की विभिन्न विभागों द्वारा निर्मित लगभग 352077.82 किलोमीटर निर्मित सड़कों में से 121034.64 चिन्हिकृत गड्ढायुक्त सड़कों में से अभियान चलाकर 80383.87 किलोमीटर सड़कें गड्ढामुक्त करायी जा चुकी हैंै। नियमित रूप से
19,340.90 किलोमीटर सड़कों के गड्ढामुक्त का कार्य भी कराये जाने के फलस्वरूप वर्तमान में 42,699.70 किलोमीटर अवशेष सड़कों पर कार्य होना अवशेष है।
लोक निर्माण विभाग द्वारा बताया गया कि गड्ढायुक्त चिन्हित 85,160.64 किलोमीटर में से 72,065.66 किलोमीटर सड़कें अभियान के दौरान गड्ढामुक्त करायी जा चुकी हैं। अभियान के दौरान राष्ट्रीय राजमार्ग द्वारा चिन्हित 189 किलोमीटर सड़कों में से मात्र 90 किलोमीटर, भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा चिन्हित 60 किलोमीटर गड्ढायुक्त सड़कों में से कोई भी कार्य अभी तक नहीं कराया गया है। इसी प्रकार पंचायतीराज विभाग, मण्डी परिषद, गन्ना विभाग, सिंचाई विभाग, ग्रामीण अभियंत्रण विभाग, नगर निकाय एवं नगर निगम द्वारा कुल निर्मित सड़कों में से चिन्हिकृत गड्ढायुक्त सड़कों में से गड्ढामुक्त सड़कों का कार्य प्राथमिकता से कराकर निर्धारित लक्ष्य को वर्तमान माह नवम्बर के अंत तक पूर्ण कराया जाये।
बैठक में अपर मुख्य सचिव लोक निर्माण श्री सदाकांत, प्रमुख सचिव सिंचाई श्री सुरेश चन्द्रा, अपर मुख्य सचिव ग्रामीण अभियंत्रण सेवा श्री मो0 इफ्तखारुद्दीन, प्रमुख सचिव चीनी उद्योग श्री संजय भूसरेड्डी सहित सम्बन्धित विभागों के वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।

Comments (0)

शिकायतांे के निस्तारण हेतु कन्ट्रोलरूम स्थापित-जिलाधिकारी

Posted on 07 November 2017 by admin

कन्ट्रोलरूम का दूरभाष नं0-0522-2611119, 2615195, 2628424-
ई मेल-dmjsklko@gmail.com-
लखनऊ-06 नवम्बर, 2017, जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी (नगरीय निकाय निर्वाचन-2017) श्री कौशलराज शर्मा ने बताया कि राज्य निर्वाचन आयोग उ0प्र0 के निर्देशानुसार आगामी नगरीय निकाय सामान्य निर्वाचन- 2017 हेतु जनपद लखनऊ में निर्वाचन प्रक्रिया प्रारम्भ हो गयगी है 26 नवम्बर 2017 को मतदान तथा 01 दिसम्बर 2017 को मतगणना प्रस्तावित है नगरीय निकाय सामान्य निर्वाचन-2017 में प्राप्त शिकायतों को समयबद्ध तरीके से निस्तारण किये जाने हेतु कलेक्टेªेट स्थित द्वितीय तल कक्ष संख्या-53 में कन्ट्रोलरूम स्थापित किया गया है। जो चैबीस घण्टे कार्यरत रहेगा। उन्होने बताया कि कन्ट्रोल रूम का दूरभाष नम्बर-0522-2611119, व522-2615195, 2628424 तथा ई मेल- dmjsklko@gmail.com है।
जिलाधिकारी ने बताया कि प्रथम पाली प्रातः 8 बजे से सायं 4 बजे तक उप निदेशक बचत को प्रभारी अधिकारी तथा श्री मो0अख्तर सिद्दीकी वरि0 सहायक मो0-7571864760, श्री क्षितिज श्रीवास्तव कनि0सहायक व श्री हृदय नारायण अरोडा अनुसेवक को नियुक्त किया गया है। द्वितीय पाली सांय 4 बजे से रात्रि 12 बजे तक अधिशासी अभियन्ता प्रान्तीय खण्ड लो0नि0पि0 को प्रभारी अधिकारी तथा श्री ऋृषिकान्त कनि0सहायक मो09335873052, श्री मो0खालिद वरिष्ठ सहायक मो0 8052249161 व रामकेश अनुसेवक को नियुक्त किया गया है तथा तृतीय पाली रात्रि 12 बजे से प्रातः 8 बजे तक श्री मनाजिर हुसैन वरि0प्रशा0अधिकारी कलेक्टेªेट को प्रभारी अधिकारी व श्री कुलदीप जायसवाल वरि0सहायक, श्री शैलेश साहू वरि0सहायक मो0-7706043088तथा श्री अकबर अली अनुसेवक की तैनाती की गयी है।
जिलाधिकारी ने निर्देश दिये है कि सम्बन्धित अधिकारी/ कर्मचारी निर्धारित समय से कन्ट्रोल रूम में उपस्थित होकर सौंपे गये कार्यो/दायित्वों का निर्वाहन करेंगे इसके अतिरिक्त आकस्मिक सेवाओं हेतु श्री भानु प्रताप सिंह, चकबन्दी कर्ता तहसील सदर, श्री अनिल कुमार लेखपाल चकबन्दी बक्शी का तालाब व अनूप पाण्डेय एवं श्री विनय अनुसेवक को नियुक्त किया गया है।

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

November 2017
M T W T F S S
« Oct    
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930  
-->









 Type in