*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | July 18th, 2017

कुछ जनजातीय इलाकों में ऐसी दुर्लभ औषधियाँ मौजूद हैं जो भविष्य में तमाम रोगों से निजात में काम आ सकती हैं

Posted on 18 July 2017 by admin

audience-in-the-programme‘‘उत्तर पूर्व के कुछ जनजातीय इलाकों में ऐसी दुर्लभ औषधियाँ मौजूद हैं जो भविष्य में तमाम रोगों से निजात में काम आ सकती हैं। इन पर शोध किये जाने की आवश्यकता है।’’ यह जानकारी आज डाॅ0 एस के बारिक, निदेशक, नेशनल बाॅटेनिकल रिसर्च इंस्टीच्यूट ने प्राचीन भारत में विज्ञान विषय औषधीय पौधों के महत्त्व को रेखांकित करते हुए राज्य स्तरीय गोष्ठी में बोलते हुए दी। पूर्वोत्तर के कुछ जनजातीय इलाकों में ऐसी दुर्लभ औषधियाँ मौजूद हैं जो भविष्य में तमाम रोगों से निजात में काम आ सकती हैं। इन पर शोध किये जाने की आवश्यकता है।
ब्रेकथ्रू साइंस सोसाइटी, लखनऊ व आंचलिक विज्ञान नगरी, लखनऊ के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित ‘‘प्राचीन भारत में विज्ञान’’ विषय पर बोलते हुए पद्मश्री डाॅ0 नित्यानन्द ने वैज्ञानिक दृष्टिकोण और मानव जीवन में विज्ञान की महत्ता पर व्यापक रूप से प्रकाश डाला।
बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय के पूर्व प्रोफेसर डाॅ0 राणा प्रताप सिंह ने पुरातन भारत के पर्यावरण प्रबंधन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि आज पर्यावरण के संरक्षण एवं संवर्धन हेतु हमें प्राचीन पद्धतियों से सीखने की आवश्यकता है।
सेण्टर फाॅर पाॅलिशी रिसर्च के वैज्ञानिक डाॅ0 विवेक के मौर्य ने पुरातन विज्ञान प्रौद्योगिकी द्वारा सिल्क रोड द्वारा वैश्विक व्यापार के महत्त्व पर प्रकाश डाला। एन.बी.आर.आई. के पूर्व वैज्ञानिक डाॅक्टर ए.के.एस. रावत ने पश्चिम हिमालय के औषधीय पौधों के प्राचीन एवं आधुनिक उपयोगों पर अपनी बात रखी। उन्होंने बताया कि अभी भी तमाम किस्म की औषधियों का मूल्यांकन एवं मानव जीवन में उनकी उपयोगिकता पर शोध करने की जरूरत है। भारतीय भूगर्भ सर्वेक्षण के पूर्व वैज्ञानिक डाॅ0 बी.एस.रावत ने कहा कि पुरातन दौर के भूगर्भीय प्रमाणों के आधार पर आधुनिक विज्ञान में क्रांतिकारी शोध किये जा सकते हैं।20170716_103706
कार्यक्रम के मुख्य वक्ता भटनागर पुरस्कार से सम्मानित विशिष्ट वैज्ञानिक डाॅ0 सौमित्रो बनर्जी, भारतीय विज्ञान शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान (प्प्ैम्त्) कोलकाता के प्रोफेसर और ब्रेकथ्रू साइंस सोसाइटी के अखिल भारतीय महासचिव ने वैदिक और उत्तर वैदिक (सैध्दान्तिक) युग, ईसा पूर्व छठीं शताब्दी से लेकर ग्यारहवीं शताब्दी (लगभग सत्रह सौ साल) के दौरान विज्ञान और गणित- शून्य की खोज, चरक एवं सुश्रुत के हाथों आर्युवेद एवं शल्य चिकित्सा, पाणिनी के हाथों संस्कृत व्याकरण, आर्यभट, ब्रह्मगुप्त और भास्कराचार्य द्वारा बीजगणित, त्रिकोणमित और खगोलविज्ञान- के क्षेत्र में असाधारण प्रगति की चर्चा की। डाॅ0 बनर्जी ने भौतिकीय गणित के साथ भाषा विज्ञान में पुरातन भारत के गणितज्ञों व भौतिक शास्त्रियों के अवदान की चर्चा करते हुए ग्यारहवीं शताब्दी के बाद भारतीय विज्ञान में गिरावट की भी व्यापक चर्चा की।
ब्रेकथ्रू साइंस सोसाइटी के राज्य अध्यक्ष डाॅ0 पी.के.श्रीवास्तव, आंचलिक विज्ञान नगरी, लखनऊ के संयोजक डाॅ0 राज मेहरोत्रा, बायोटेक पार्क के पूर्व सी.ई.ओ. डाॅ0 पी.के.सेठ, आई.आई.टी.आर. के वरिष्ठ वैज्ञानिक डाॅ0 वी.पी.शर्मा, लखनऊ विश्वविद्यालय के प्रोफेसर डाॅ0 सरजित सेनसर्मा, जियोलाॅजी विभाग व डाॅ0 मधु त्रिपाठी, जूलाॅजी विभाग आदि जैसे तमाम गणमान्य उपस्थित रहे।
कार्यक्रम की शुरुआत व समापन प्रख्यात संगीत शिक्षक श्री असीम सरकार के द्वारा गाये गीतों के जरिये हुई। कार्यक्रम का संचालन बीरबल साहनी पुरातत्व विज्ञान संस्थान के पूर्व वैज्ञानिक डाॅ0 सी.एम. नौटियाल ने व अंत में धन्यवाद ज्ञापन संगठन के राज्य सचिव इं0 जय प्रकाश मौर्य ने किया।

Comments (0)

उ0प्र0 विधान सभा की सुदृढ़ सुरक्षा हेतु लोकसभा व अन्य विधान सभाओं का अध्ययन . श्री दीक्षित

Posted on 18 July 2017 by admin

उत्तर प्रदेश विधान सभा के माननीय अध्यक्षए श्री हृदय नारायण दीक्षित ने कहा है कि दिनांक 14 जुलाईए 2017 को विधान सभा के उपवेशन में सुरक्षा के संबंध में लिए गए निर्णय एवं घोषणाओं के अनुपालन में विधान सभा के स्तर पर समस्त कार्यवाही की जा चुकी है । माननीय विधायकगण एवं उनके एक प्रतिनिधि तथा विधान सभा सचिवालय के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के अतिरिक्त समस्त प्रवेश.पत्र निरस्त कर दिये गये हैं। माननीय विधायकों के एक वाहन के अतिरिक्त निर्गत किए गए समस्त वाहनों के प्रवेश.पत्रों को निरस्त कर दिया गया है। श्री दीक्षित ने प्रदेश के सभी मा0 विधायकों से सहयोग की अपील की है और कहा है कि सामान्य वाहन प्रवेश पत्र 365ए पूर्व विधायक वाहन प्रवेश पत्र 715ए अस्थायी व्यक्तिगत प्रवेश पत्र 421 को निरस्त कर दिया गया है। उन्होंने कहा है कि सदन के अंदर माननीय सदस्यों के अतिरिक्त जो भी कर्मी अथवा अन्य महानुभाव प्रवेश करेंगे उनकी तलाशी ली जायेगी और विधान सभा सचिवालय के संविदा एवं दैनिक वेतनकर्मियों का पुलिस सत्यापन कराया जायेगा ।
श्री दीक्षित ने कहा कि दिनांक 12 जुलाईए 2017 को विधान सभा मण्डप में पाए गए संदिग्ध पदार्थ के पश्चात यह आवश्यक हो गया है कि सुरक्षा की दृष्टि से सख्त कदम उठाये जायें। इस संबंध में यह निर्णय भी लिया गया है कि लोक सभा समेत अन्य प्रदेश जहां विधान सभाओं में सुरक्षा की व्यवस्थायें उत्कृष्ट हैं वहां पर जाकर उनकी व्यवस्थाओं को समझा जाये एवं उत्तर प्रदेश विधान सभा में भी उसको लागू किया जाये । श्री दीक्षित ने बताया है कि विधान सभा के बजट सत्र की समाप्ति के बाद गुजरात एवं महाराष्ट्र विधान सभाओं की सुरक्षा व्यवस्था का अध्ययन किया जाना प्रस्तावित है। इस कार्य हेतु उत्तर प्रदेश विधान सभा से माननीय अध्यक्ष के नेतृत्व में एक टीम इन दोनों विधान सभाओं में जाकर वहां के माननीय अध्यक्ष एवं अन्य सम्बन्धित अधिकारियों से बैठक करेगी तथा सुरक्षा की दृष्टि से उपयुक्त एवं उत्कृष्ट व्यवस्थाओं को उत्तर प्रदेश विधान सभा में भी लागू किये जाने पर सभी आवश्यक कदम उठायेगी ।
माननीय अध्यक्षए विधान सभा ने कहा है कि लोकतंत्र की व्यवस्था अद्यतन सबसे राजनीतिक व्यवस्था है  तथा जिस प्रकार की घटना उत्तर प्रदेश विधान सभा में घटित हुई है उससे यह परिलक्षित होता है कि कुछ अराजकतत्व लोकतंत्र की इस सर्वोच्च व्यवस्था को आघात पहुँचाना चाहते हैं । हम लोगों का यह दायित्व है कि लोकतंत्र की इस व्यवस्था को सुदृढ़ एवं परिपक्व किया जाये ।

Comments (0)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी 17 जुलाई, 2017 को लखनऊ में विधान भवन के तिलक हाल में राष्ट्रपति पद के निर्वाचन हेतु मतदान करते हुए।

Posted on 18 July 2017 by admin

press-21

Comments (0)

उत्तर प्रदेश में किसान न्याय आन्दोलन चलाकर स्वामी नाथन आयोग की सिफारिशों को लागू कराया जायेगा – आम आदमी पार्टी

Posted on 18 July 2017 by admin

सपा का गुंडाराज खत्म करने आये भाजपाई उनसे बड़े गुंडे बन रहे हैं- संजय सिंह
प्रदेश की बदहाल शिक्षा, चिकित्सा, और बढ़ते हुए अपराधों के खिलाफ होगा आन्दोलन- संजय सिंह

उत्तर प्रदेश में संगठन की स्थिति जानने के लिए आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं उत्तर प्रदेश प्रभारी संजय सिंह ने रविवार को राजधानी के गाँधी भवन में प्रदेश के सभी पदाधिकारियो के साथ बैठक कर संगठन की समीक्षा की | 45 दिन पूर्व संजय सिंह द्वारा प्रदेश के सभी जिला संयोजकों को मोहल्ला स्तर तक संगठन विस्तार करने के निर्देश दिए गए थे | समय सीमा समाप्ति के बाद रविवार को लिखित में सभी जिला संयोजको से रिपोर्ट ली गई |

संजय सिंह ने उत्तर प्रदेश के किसानों को समस्याओं से निजात दिलाने एवं उनके लिए सरकार से हर स्तर पर संघर्ष करने के लिए किसान न्याय आन्दोलन चलाने की घोषणा की है | इसमें किसानों की कर्जमाफी और स्वामी नाथन आयोग द्वारा किसानों की फसल लागत में 50 फीसद मुनाफा जोड़कर दाम तय किये जाने और आयोग की सिफारिशों को लागू करने की मांग शामिल है | उन्होंने प्रदेश भर में किसान आन्दोलन चलाने के लिए पूर्वी उत्तर प्रदेश और पश्चिमी उत्तर प्रदेश की दो कमेटिया बनाई है | ये कमेटी किसान आन्दोलन को गति देंगी | 19 अगस्त को पूर्वी उत्तर प्रदेश में एवं 27 अगस्त को पश्चिमी उत्तर प्रदेश में किसान सम्मलेन किया जाएगा |

संजय सिंह ने कहा कि प्रदेश की बदहाल शिक्षा, चिकित्सा, सुरक्षा और बढ़ते हुए अपराध जैसे मुद्दों पर आगामी कुछ दिनों में पार्टी हर जिले में संघर्ष तेज करेगी |  भाजपा सरकार ने प्रदेश के गड्डा भरने में ही 22 करोंड का घोटाला कर लिया है | प्रदेश में भाजपा वालों की गुंडागर्दी चरमसीमा पर है, पुलिस की हिम्मत नहीं कि उनके खिलाफ कार्यवाही कर दें | सपा का गुंडाराज खत्म करने आये भाजपाई उनसे बड़े गुंडे बन रहे है | राजधानी स्थित विधानसभा सुरक्षित नहीं है तो पूरे प्रदेश में सुरक्षा के प्रबंध कैसे होंगे |  योगी जी मिलने से पहले दलितों को साबुन, शैम्पू दिया जाता है | यूपी विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा ने लोक कल्याण संकल्प पत्र में छात्रों को लैपटाप देने का वायदा किया था लेकिन हाल में पेश किये गए बजट में योगी सरकार ने शिक्षा के मद में कटौती कर छात्रों के साथ विश्वासघात किया है | उत्तर प्रदेश जैसे बड़े राज्य में शिक्षा के मद में मात्र 272 करोड़ का बजट देकर प्रदेश की जनता के साथ सरकार मजाक कर रही है | एसा लगता है भाजपा सरकार अपने नेताओं के चल रहे प्राइवेट स्कूलों को बढावा दे रही है | लोक सेवा आयोग की भर्ती रोक रखी है | इन सब मुद्दों पर पार्टी आन्दोलन करेगी |

संजय सिंह ने केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि जनता से ज्यादा टैक्स वसूलने पर सरकार जश्न मना रही है जबकि GST के खिलाफ सूरत एवं देश भर में लाखों व्यापारी सडक पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं  | केंद्र सरकार आतंकी हमले पर केवल कड़े शव्दों में निंदा करती है कार्यवाही नहीं करती है, सरकार को आतंकवाद से सख्ती से निपटना चाहिए |

शिक्षा, स्वास्थ्य, सुरक्षा जैसे बुनियादी मुद्दे न बन जाए इसलिय भाजपा जाति -धर्म, मंदिर-मस्जिद के नाम पर नफरत फैलाकर लोगों को आपस में लड़ाती रहेगी | उन्होंने कहा कि 130 करोड़ भारतीयों के उत्त्थान से ही हिन्दुस्तान का विकास होगा चाहे वो हिन्दू, मुसलमान, सिख,इसाई,दलित, अगड़ा, पिछड़ा कोई भी हो |

केंद्र की नरेन्द्र मोदी सरकार बूचडखानों और गौ हत्या को लेकर सख्त नियमों की वकालत समय-समय पर करती रहती है पर सच्चाई इससे कोसों दूर है पिछले तीन सालों में केंद्र सरकार ने इन बूचडखानों को 68 करोड़ रूपये अनुदान दिए हैं | भाजपा वाले गाय कटवाने के लिए अनुदान भी देते है और गौरक्षा का ड्रामा भी करते हैं |

बैठक में उत्तर प्रदेश सहप्रभारी शकील मलिक, अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रदेश प्रभारी डॉ रहमानी, सह प्रभारी डॉ हासमी जी, प्रदेश सचिव सुधीर भारद्वाज, अवध प्रांत संयोजक अविनाश त्रिपाठी, पूर्वांचल प्रान्त संयोजक संजीव सिंह, रूहेलखंड प्रांत संयोजक अरविन्द अग्रवाल, पश्चिम प्रान्त संयोजक सोमेन्द्र ढाका , बुंदेलखंड प्रांत के संयोजक मुरारी लाल जैन, प्रदेश प्रवक्ता सभाजीत सिंह, महिला प्रकोष्ठ से नीलम सिंह, छवि यादव, ब्रज कुमारी, प्रान्त सचिव राजेश सिंह, सतेन्द्र तिवारी सहित जिले के सभी संयोजक एवं पदाधिकारी शामिल हुए |

Comments (0)

कैबिनेट मंत्री श्रीकांत शर्मा ने भाजपा मुख्यालय पर जन समस्याओं का किया निस्तारण

Posted on 18 July 2017 by admin

18 जुलाई को राज्यमंत्री रणवेन्द्र प्रताप सिंह जन सहयोग केन्द्र पर रहेंगे उपस्थित
भारतीय जनता पार्टी प्रदेश मुख्यालय पर जन समस्याओं के निस्तारण के लिए कैबिनेट मंत्री श्रीकांत शर्मा उपस्थित रहे।
पत्रकारों के सवालों का जबाब देते हुए कैबिनेट मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा कि योगी आदित्यनाथ जी की सरकार अपेक्षाओं की सरकार है, जनता को बहुत अपेक्षाएं हैं। थाना दिवस, तहसील दिवस के साथ-साथ सभी मंत्री यहां तक कि मुख्यमंत्री भी जनता दरबार लगाकर जनसमस्याओं का निस्तारण करते है।
urlश्री शर्मा ने बताया कि योगी जी के नेतृत्व में हमारी सरकार चाहती है कि प्रदेश की आम जनता दर-दर की ठोंकरे न खाये, तहसील व जिले की समस्याएं लखनऊ तक न पहुंचे। राष्ट्रपति चुनाव पर पूछे गये एक सवाल के जबाब देते हुए श्री शर्मा ने बताया कि उ0प्र0 की जनता पार्टी अध्यक्ष अमित शाह जी, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के निर्णय से पूरा प्रदेश प्रशन्नता की अनुभूति कर रहा है। लोग उत्साहित है कि गरीब परिवार से आने वाले रामनाथ कोबिंद जी को पार्टी द्वारा राष्ट्रपति का उम्मीदवार बनाया है। श्री रामनाथ कोबिंद जी का प्रचण्ड बहुमत से राष्ट्रपति बनना तय है।
ऊर्जा विभाग से संबन्धित सवालों का जबाब देते हुए ऊर्जा मंत्री ने बताया कि हम आॅनलाइन बिलिंग की व्यवस्था ला रहे है, उपभोक्ता फ्रेंन्डली हमारा विभाग बन रहा है। अखबारों के माध्यम से शटडाउन की सूचना भी जनता को एक दिन पहले देने का प्रयास चल रहा है। उ0प्र0 के हर घर में बिजली पहुंचे ऐसी मंसा हमारे प्रधानमंत्री जी, राष्ट्रीय अध्यक्ष जी एवं मुख्यमंत्री जी की है। प्रत्येक गरीब के घर में बिजली उपलब्ध कराना हमारी सरकार की प्राथमिकता है। बिजली चोरी करने वाले चोरी छोड़ दें, कानून के दायरे में अपना कनेक्शन कराये और बकाये बिल का भुगतान करें। मा0 मंत्री जी के साथ प्रदेश उपाध्यक्ष जसवन्त सैनी एवं प्रदेश मंत्री कौशलेन्द्र सिंह जनसमस्याओं के निराकरण में जुटे रहे।
भाजपा प्रदेश मुख्यालय पर दिनांक 18 जुलाई को सुबह 11 बजे से दोपहर 01 बजे राज्यमंत्री रणवेन्द्र प्रताप सिंह जनता की समस्याओं के निराकरण के लिए उपस्थित रहेंगे। साथ ही प्रदेश उपाध्यक्ष जसवन्त सैनी एवं प्रदेश मंत्री कौशलेन्द्र सिंह एवं कार्यालय सहायक आनंद पाण्डेय भी उपस्थित रहेंगे।

Comments (0)

मुख्यमंत्री के घोषणा के अनुसार प्रदेश के 30 जनपदों को वर्तमान वर्ष के 31 दिसम्बर तक तथा शेष 44 जनपदों को आगामी वर्ष 02 अक्टूबर तक खुले में शौचमुक्त कराने हेतु कराये जा रहे कार्यों में तेजी से चलेगा अभियान: मुख्य सचिव

Posted on 18 July 2017 by admin

प्रत्येक जनपद में जनपद स्तर पर शौचालय निर्माण हेतु राजमिस्त्रियों को
प्रशिक्षण देने हेतु 50 मास्टर ट्रेनर कराये जा रहे तैयार: राजीव कुमार

शौचालय निर्माण हेतु प्रत्येक विकास खण्ड में लगभग 250 से 300 राजमिस्त्रियों
का चिन्हांकन एवं प्रशिक्षण का कार्य कराया जाये: मुख्य सचिव

dsc_4249इस प्रकार कुल 1.50 लाख राजमिस्त्रियों को
प्रशिक्षित किये जाने का लक्ष्य निर्धारित: राजीव कुमार

प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी की घोषणा के अनुसार प्रदेश के 30 जनपदों को 31 दिसम्बर, 2017 तक तथा शेष 44 जनपदों को 02 अक्टूबर, 2018 तक खुले में शौच मुक्त बनाने हेतु सितम्बर, 2017 तक 33 हजार स्वच्छाग्रहियों का चयन, प्रशिक्षण/क्षमतावृद्वि हेतु तैनाती सुनिश्चित करा दी जाये। उन्होंने कहा कि राजमिस्त्रियों का चिन्हांकन एवं प्रशिक्षण निर्धारित अवधि में सुनिश्चित कराते हुये मैनपावर की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाये। उन्होंने व्यापक आई.ई.सी. गतिवधियों का क्रियान्वयन सुनिश्चित कराते हुये सत्यापन की व्यवस्था एवं अन्य सम्बन्धित विभागों के साथ समन्वय भी सुनिश्चित कराया जाये।
प्रदेश में स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) योजना के क्रियान्वयन हेतु मुख्य सचिव श्री राजीव कुमार की अध्यक्षता में गठित “शीर्ष समिति“ (।चमग ब्वउउपजजमम) की बैठक में श्री चंचल कुमार तिवारी, अपर मुख्य सचिव, पंचायतीराज, श्री अनूप चन्द्र पाण्डेय, अपर मुख्य सचिव, वित्त,  श्री अवनीश कुमार अवस्थी, प्रमुख सचिव, सूचना, श्री प्रशान्त कुमार त्रिवेदी, प्रमुख सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, श्री एम.पी. अग्रवाल, सचिव, वित्त, श्री संतोष कुमार यादव, सचिव, महिला कल्याण, के साथ-साथ मिशन निदेशक, स्वच्छ भारत मिशन(ग्रामीण) तथा यूनीसेफ, विश्व बैंक एवं वाॅटरएड के प्रतिनिधि उपस्थित थे।
स्वच्छाग्रहियों का चयन, प्रशिक्षण/क्षमतावृृद्धि एवं तैनातीः प्रदेश में योजना के दु्रत क्रियान्वयन हेतु बनायी गयी रणनीति के अनुसार प्रत्येक 03 ग्राम पर 01 सी.एल.टी.एस. विधा से प्रशिक्षित 33000 स्वच्छाग्रहियों की माह सितम्बर, 2017 तक तैनाती की जानी है, जिसके सापेक्ष अबतक लगभग 21000 स्वच्छाग्रहियों का चयन करते हुए उनको सी.एल.टी.एस. विधा पर प्रशिक्षण करने हेतु राज्य स्तर पर स्टेट रिसोर्स ग्रुप (एस.आर.जी.) का गठन किया गया है, जिसके माध्यम से आगामी 2 माह में प्रशिक्षण कार्य पूर्ण कर ग्रामांे का स्वामित्व प्रदान कर ग्राम को खुले में शौच मुक्त बनाये जाने हेतु कार्य प्रारम्भ कर दिया गया है। इसके अतिरिक्त ग्राम स्तर पर निगरानी समिति, जिसमें महिलाऐं, बच्चें, बुजुर्ग एवं नौजवानों को शामिल गांव के लोंगो को सुबह एवं साय को खुले में शौच मुक्त बनाने हेतु निगरानी का कार्य निरन्तर किया जा रहा है।
राजमिस्त्रियों का चिन्हांकन, प्रशिक्षण एवं तैनातीः राज्य स्तर से गुणवत्तापूर्ण शौचालय निर्माण हेतु प्रदेेश के समस्त जनपदों केे 05-05 मास्टर ट्रेनर प्रशिक्षित किये गये हैं, जिनके माध्यम से जनपदों मे राजमिस्त्रियों के प्रशिक्षण कराने के निर्देेश दिये गये है। इसके साथ मिशन द्वारा प्रदेश के समस्त जनपदों मे सहयोगी संस्थाओं यथा-यूनीसेफ, वल्र्ड बैंक, वाटर एड, डब्लू.एस.एस.सी.सी द्वारा 28 जनपदों में शौचालय निर्माण तकनीकी पर कार्यशाला की गयी है। प्रत्येक जनपद मे कम से कम 100 से 500 प्रशिक्षित राजमिस्त्रिी कार्यरत हैं, जिनके माध्यम से  गांवो में शौचालय निर्माण कार्य किया जा रहा है।
प्रत्येक जनपद में जनपद स्तर पर शौचालय निर्माण हेतु राजमिस्त्रियों को प्रशिक्षण देने हेतु 50 मास्टर ट्रेनर को तैयार किया जा रहा तथा शौचालय निर्माण हेतु प्रत्येक विकास खण्ड में लगभग 250 से 300 राजमिस्त्रियों का चिन्हांकन एवं प्रशिक्षण का कार्य भी किया जा रहा है। इस प्रकार कुल 1.50 लाख राजमिस्त्रियों को प्रशिक्षित किये जाने का लक्ष्य है।  निर्माण सामग्री की उपलब्धता सम्भावित मांग के अनुसार आंकलन कर सप्लाई चैन व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है, ताकि ईट, बालू, रूरल पैन एवं दरवाजे आदि की पर्याप्त आपूर्ति बनी रहे, इसके लिए ग्राम पंचायतवार मैपिंग आपूर्तिकर्ताओं/दुकानदारों के साथ टाई-अप किया जा रहा है।
प्रचार-प्रसार एवं क्षमतावृद्धि की गतिविधियां- राज्य स्तर पर जनपद की आई.ई.सी. प्लान तैयार करने हेतु राज्य स्तरीय कार्यशालाओ का आयोजन किया गया है। प्रत्येक जनपद मे खुले मे शौच मुक्त करने की गतिविधियां बढ़ाने हेतु समस्त जनपदों का आई.ई.सी. प्लान एवं कैलेण्डर तैयार किया गया है एवं उसका नियमित अनुश्रवण किया जा रहा है।  इसमें अन्र्तवैक्तिक सम्प्रेषण व सामुदायिक स्थायी व्यवहार परिवर्तन हेतु घर-घर सम्पर्क गतिविधियों पर विशेष जोर देते हुए प्रभावी गतिविधियां यथा- सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग में इम्पैन्ल्ड संस्थाओं के माध्यम से मोबाइल वैन, नुक्कड़-नाटक, मोबाइल मैसेजिंग, वीडियो फिल्म प्रदर्शन, स्वच्छता रैली तथा पैदल मार्च इत्यादि का कार्य प्रारम्भ कर दिया गया है।
जन-शक्ति की व्यवस्था- जनपदों को खुले मे शौच मुक्त हेतु की जाने वाली गतिविधियों एवं अधिक मात्रा मे शौचालय निर्माण होने पर भारत सरकार की वेबसाइट पर लाभार्थीवार एम.आई.एस. एवं फोटो अपलोडिंग, अनुश्रवण आदि की गतिविधियों के दृष्टिगत प्रत्येक स्तर पर अनुमन्य समस्त पदों के सापेक्ष तैनाती सुनिश्चित की जा रही है।  प्रत्येक जनपद में आवश्यकता एवं प्रशासनिक मद की उपलब्धता के अनुसार जनपद स्तर पर प्राविधानित मैनपावर के सापेक्ष अवशेष पदों पर भी तैनाती किया जाना है।
खुले में शौच मुक्ति (ओ.डी.एफ.) का सत्यापन एवं सत्यापन एवं ळमव.जंहहपदह- योजनान्तर्गत पारदर्शिता सुनिश्चित करने हेतु भारत सरकार के आई.एम.आई.एस. प्रणाली में निर्मित शौचालय की शतप्रतिशत फोटो अपलोडिंग (ळमव.जंहहपदहए आक्षांश एवं देशान्तर सहित) निरन्तर अनुश्रवण की व्यवस्था बनायी गयी। ग्रामों में निर्मित हो रहे प्रत्येक शौचालय के लिए निर्धारित यूनिक कोडिंग व्यवस्था के अन्तर्गत इंगित कर फोटों अपलोडिंग के दौरान प्रदर्शित करना आवश्यक है। ग्राम/ग्राम पंचायत को खुले में शौच मुक्त बनाने हेतु संबंधित ग्राम/ग्राम पंचायत द्वारा प्रस्ताव पारित कर निर्धारित समयान्तर्गत स्वघोषणा के पश्चात त्रिस्तरीय सत्यापन व्यवस्था लागू किया गया है, जिसके तहत विकास खण्ड, जनपद एंव मण्डल स्तर पर स्वतंत्र रूप से शतप्रतिशत शौचालयों का सत्यापन एवं ओ.डी.एफ. की वस्तुस्थिति का मूल्यांकन किया जा रहा है।
अन्य विभागों के साथ समन्वय-कार्यक्रम के प्रभावी क्रियान्वयन एवं प्रदेश को खुले मंे शौच से मुक्त करने हेतु स्वास्थ्य विभाग, आई.सी.डी.एस. शिक्षा विभाग आदि की महत्वपूर्ण भूमिका है, जिसके लिए निरन्तर प्रयास किये जा रहे हैं।

Comments (0)

यश भारती पर चुनिन्दा पृष्ठ नहीं देगा संस्कृति विभाग

Posted on 18 July 2017 by admin

संस्कृति विभाग यश भारती पेंशन हेतु बनायी गयी नियामावली से संबंधित पत्रावली के कुछ चुनिन्दा पृष्ठ किसी कीमत पर नहीं देगा.

आरटीआई एक्टिविस्ट डॉ नूतन ठाकुर द्वारा इस संबंध में सूचना मांगे जाने पर संस्कृति विभाग ने सम्बंधित पत्रावली की नोटशीट के अन्य पृष्ठ तो दे दिए लेकिन नोटशीट के पृष्ठ संख्या 11-15, 20-25, 30-34, 39-44, 49-53 तथा 58-73 यह कह कर मना कर दिए गए कि इन्हें नियमानुसार उपलब्ध कराया जाना संभव नहीं है.

नूतन द्वारा प्रथम अपील किये जाने पर प्रथम अपीलीय अधिकारी ने 11 जुलाई 2017 को आरटीआई एक्ट की धारा 8(झ) में मना कर दिया.

अब नूतन ने इस संबंध में राज्य सूचना आयोग में अपील की है जहाँ उन्होंने कहा है कि इस मामले में मंत्रिपरिषद का अंतिम निर्णय हो गया है, अतः धारा 8(झ) प्रभावी नहीं है. साथ ही उन्होंने इस प्रकार कुछ पृष्ठों को सार्वजनिक नहीं किये जाने पर प्रश्नचिन्ह भी लगाया है.

Dr Nutan Thakur

Comments (0)

पार्टी के विधायकों ने भी राष्ट्रीय अध्यक्ष जी से भेंट की

Posted on 18 July 2017 by admin

17-07-aसमाजवादी पार्टी के मुख्यालय पर राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव से सैकड़ों कार्यकर्Ÿााओं एवं समाजवादी छात्रसभा के नेताओं ने मुलाकात किया। पार्टी कार्यालय में मेला जैसा माहौल था। प्रदेश के विभिन्न जनपदों से आये हुये लोगों एवं राष्ट्रपति चुनाव में अपना वोट डालने आये समाजवादी पार्टी के विधायकों ने भी राष्ट्रीय अध्यक्ष जी से भेंट की।

इस अवसर पर बीते महीने जेल गये लखनऊ विश्वविद्यालय के वे छात्र भी शामिल थे जिन्होंने विश्वविद्यालय में वित्तीय अनियमितता के खिलाफ लोकतांत्रिक तरीके से मुख्यमंत्री जी का विरोध किया था। मुलाकात के क्रम में छात्र नेताओं ने पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव के समक्ष लखनऊ विश्वविद्यालय द्वारा धरना-प्रदर्शन करने पर पच्चीस हजार जुर्माने सहित कैंपस में समूह बनाकर चलने पर रोक जैसे अलोकतांत्रिक एवं तानाशाही फैसले की चर्चा किया।
लखनऊ, विश्वविद्यालय में काला झण्डा दिखाने वाले आन्दोलनकारी एवं जेल जाने वाले छात्रों में समाजवादी छात्रसभा के प्रदेश उपाध्यक्ष श्री अनिल यादव ‘मास्टर‘, सुश्री अपूर्वा वर्मा, सुश्री पूजा शुक्ला, अशोक कुमार प्रभात, सतवंत सिंह, अंकित सिंह बाबू, विनीत कुमार कुशवाहा, महेन्द्र यादव, राजेश समाजवादी, माधुर्य सिंह मधुर, हिमांशु यादव और हर्ष वशिष्ठ ने भी श्री अखिलेश यादव से मुलाकात किया।
साथ ही हाल ही में इलाहाबाद विश्वविद्यालय में विरोध-प्रदर्शन करने के नाम पर छः छात्रों को आजीवन ब्लैकलिस्ट करने के फैसले एवं छात्रसंघ उपाध्यक्ष एवं पदाधिकारी को झूठे आरोप में विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा जारी कारण बताओं नोटिस के अगंभीर एवं हास्यास्पद विषय सामग्री को भी राष्ट्रीय अध्यक्ष जी के संज्ञान में लाया गया।
राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव ने भेंट करने वाले छात्रों एवं नौजवानों से कहा कि शिक्षा के सवाल पर समाजवादी पार्टी बड़ा आंदोलन एवं छात्रों में जागरूकता लाने का अभियान चलायेगी। हाल के दिनों में जिस तरह छात्राओं ने आंदोलन में हिस्सा लिया और जेल की यातना सहनी पड़ी वह बड़ी बात है। सुश्री अपूर्वा वर्मा और सुश्री पूजा शुक्ला के साहस की अखिलेश जी ने प्रशंसा किया।
उन्होंने कहा कि जनमत द्वारा चुनी गयी सरकार का छात्र-छात्राओं के प्रति दमनकारी रवैया लोकतांत्रिक अधिकारों पर कुठाराघात है। ए.बी.वी.पी और आर.एस.एस. का एजेंडा सांप्रदायिक है। ये ताकतें समाज की सद्भावना तोड़ते हुये देश को पीछे ले जा रही है। भाजपा सरकार को यह बात समझ लेनी चाहिये कि अन्याय के विरूद्ध  आंदोलन के वाहक युवा ही हैं। समाजवादी पार्टी युवाओं के साथ है। सपा का हमेशा से मानना रहा है कि नयी पीढ़ी आंदोलन की अगुवाई कर सकती है एवं समाज को दिशा दे सकती है। युवाओं के पास असीमित ऊर्जा है। भाजपा सरकार नौजवान-छात्र विरोधी आचरण कर रही है।
श्री अखिलेश यादव ने कहा कि युवा पीढ़ी में जोखिम उठाने का साहस है। उन्होंने जेल गये आंदोलनकारी छात्र-छात्राओं को बधाई देते हुये कहा कि हम नौजवानों के साथ है। समाजवादी पार्टी छात्रों- नौजवानों का उत्पीड़न बर्दास्त नहीं कर सकती है। भाजपा सरकार नौजवानों के साथ खिलवाड़ करना बंद करे। नयी व्यवस्था-नया समाज का दारोमदार नौजवानों पर ही है। श्री यादव ने कहा कि सरकार को अपने मुद्दे स्पष्ट करने चाहिए। विकास का जो रास्ता समाजवादियों ने दिखाया उसे आगे बढ़ाने का काम वर्तमान सरकार को करना चाहिए। जनता के हित में फैसले लेने चाहिये। पढ़ाई और रोजगार का प्रबंध करना चाहिये।
इस अवसर पर प्रमुख रूप से पूर्व मंत्रीगण श्री अहमद हसन, श्री राजेंद्र चौधरी, श्री विनोद सिंह उर्फ पण्डित सिंह और श्री एसआरएस यादव, श्री सुनील सिंह यादव ‘साजन‘, श्री अरविन्द कुमार सिंह, श्री राजपाल कश्यप (एम.एल.सी.) सहित छात्र सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री राहुल सिंह, छात्रसभा के प्रदेश अध्यक्ष श्री दिग्विजय सिंह ‘देव‘ एवं मो0 ऐबाद आदि उपस्थित थे।

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

July 2017
M T W T F S S
« Jun   Aug »
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31  
-->









 Type in