*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | May 4th, 2017

जनप्रतिनिधियों को जनता इसलिए चुनकर भेजती है कि वे उनकी समस्याओं का शीघ्र निराकरण कराकर जन-जीवन को सुगम बनायें जिससे देश, प्रदेश और पूरे समाज की प्रगति हो

Posted on 04 May 2017 by admin

  • जनप्रतिनिधियों को जनता की अपेक्षाओं का तर्कपूर्ण विश्लेषण करते हुए उन पर खरा उतरने का प्रयास करना चाहिए: लोक सभा अध्यक्ष
  • सदन के सुचारु संचालन के लिए जनप्रतिनिधियों को संसदीय परम्पराओं, नियमावलियों का ज्ञान होना चाहिए
  • जनप्रतिनिधि निष्ठा से कार्य करते हुए संसदीय परम्पराओं व  अपनी जिम्मेदारियों का भलीभांति निर्वहन करें
  • उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ एक कर्मयोद्धा हैं
  • संन्यास का अर्थ सब कुछ छोड़ना नहीं है, श्री योगी ने कर्म से संन्यास नहीं लिया है
  • लोक सभा के अपने कार्यकाल के दौरान मैंने लोक सभा अध्यक्ष से बहुत कुछ सीखा: मुख्यमंत्री
  • श्रीमती महाजन ने हमेशा नये लोक सभा सदस्यों की चिन्ता की, ताकि उन्हें संसदीय परम्पराओं, नियमों इत्यादि की जानकारी हो सके
  • लोक सभा अध्यक्ष का मार्गदर्शन उ0प्र0 विधान सभा को मिलता रहेगा: मुख्यमंत्री

लोकसभा की अध्यक्ष श्रीमती सुमित्रा महाजन ने कहा कि जनप्रतिनिधियों को जनता इसलिए चुनकर भेजती है कि वे उनकी समस्याओं का शीघ्र निराकरण कराकर जन-जीवन को सुगम बनायें जिससे देश, प्रदेश और पूरे समाज की प्रगति हो। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधियों को जनता की अपेक्षाओं का तर्कपूर्ण विश्लेषण करते हुए उन पर खरा उतरने का प्रयास करना चाहिए। सदन को चलाने के लिए सभी जनप्रतिनिधियों को संसदीय परम्पराओं, नियमावलियों इत्यादि का समुचित ज्ञान होना चाहिए, तभी इसे भलीभांति चलाया जा सकता है।
sumita-mahajanश्रीमती महाजन ने यह विचार आज यहां विधान सभा के तिलक हाॅल में उत्तर प्रदेश विधान सभा के नवनिर्वाचित सदस्यों के लिए आयोजित दो दिवसीय प्रबोधन कार्यक्रम के समापन सत्र को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किये। मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने भी इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त किये।
लोक सभा अध्यक्ष ने कहा कि नये विधान सभा सदस्यों के लिए यह आवश्यक है कि वे विधान सभा के नियमों को पढ़ें और नियमावली का अध्ययन करें। संसदीय परम्पराओं को समझने के लिए इन्हें पढ़ना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि नये सदस्यों के प्रशिक्षण के लिए सही बिन्दुओं का चुनाव आवश्यक है।
लोक सभा अध्यक्ष ने कहा कि जनप्रतिनिधि पूरी निष्ठा से काम करें और संसदीय परम्पराओं के साथ-साथ अपनी जिम्मेदारियों का भलीभांति निर्वहन करें। जनप्रतिनिधियों को संसदीय संस्थाओं को बेहतर ढंग से चलाने की दिशा में लगातार चिन्तन करते रहना चाहिए। उन्हें अच्छे भाषण सुनने चाहिए और अपना काफी समय पुस्तकालय में अध्ययन करने में व्यतीत करना चाहिए, ताकि उन्हें संसदीय नियमों और परम्पराओं का भलीभांति ज्ञान हो सके। प्रत्येक जनप्रतिनिधि को संसदीय संस्थाओं पर आस्था रखनी चाहिए और इन संस्थाओं का कैसे निर्माण हुआ इसकी जानकारी होनी चाहिए। जनप्रतिनिधियों को जनाकांक्षाओं को ठीक से समझने का प्रयास करना चाहिए और ऐसे कार्याें को करने से मना कर देना चाहिए, जो ठीक न हों। उन्होंने कहा कि प्रत्येक जनप्रतिनिधि को मौके पर ‘ना’ बोलना आना चाहिए।
श्रीमती महाजन ने कहा कि प्रत्येक जनप्रतिनिधि को पारदर्शिता तथा स्पष्टता से काम करना चाहिए। विधायक बनने के बाद सदन में बोलने से पहले विषय की जानकारी होनी चाहिए। इसके लिए सदन की पूर्व की कार्रवाइयों को पढ़ना चाहिए, विषय का अभ्यास करना चाहिए। लोक सभा के नवनिर्वाचित सदस्यों को संसदीय परम्पराओं, नियमों इत्यादि की जानकारी देने के लिए विषय विशेषज्ञों द्वारा प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाये जाने का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि विषय विशेषज्ञों से चर्चा करके विधान सभा में होने वाली चर्चाओं का स्तर सुधारा जा सकता है।
लोक सभा अध्यक्ष ने कहा कि विधान सभा के कामकाज को सुचारु रूप से चलाने के लिए जनप्रतिनिधियों को सोच-समझकर कार्य करने की आवश्यकता है। उन्होंने जनप्रतिनिधियों को अपने-अपने कार्य क्षेत्र चुनने की सलाह देते हुए विषय का गहन अध्ययन करने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधि अपने कार्यकलापों को जनता और कार्यकर्ताओं से शेयर करें। जनता द्वारा चुने गये विधायकों को ‘जनप्रतिनिधि’ बनने की आवश्यकता है, न कि नेता बनने की। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता ने प्रचण्ड बहुमत देकर जनप्रतिनिधियों की जिम्मेदारी बढ़ा दी है। ऐसे में जनाकांक्षाओं पर खरा उतरना एक बहुत बड़ी चुनौती होगी।
श्रीमती महाजन ने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ एक कर्मयोद्धा हैं। उन्होंने कहा कि संन्यास का अर्थ सब कुछ छोड़ना नहीं है। श्री योगी ने कर्म से संन्यास नहीं लिया है। उत्तर प्रदेश को श्री योगी के रूप में एक कर्मठ मुख्यमंत्री मिला है, जो राज्य को विकसित कर इसे अग्रणी बनाने की क्षमता रखता है। उन्होंने कहा कि 5 वर्ष का समय ज्यादा नहीं होता है। ऐसे में विपक्ष का सहयोग लेते हुए तेजी से काम करना होगा। उन्होंने विपक्ष द्वारा अपनी जिम्मेदारी भलीभांति निभाने की आवश्यकता पर बल दिया।
इससे पूर्व, मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने लोक सभा अध्यक्ष श्रीमती सुमित्रा महाजन का स्वागत करते हुए कहा कि उन्होंने लोक सभा के अपने कार्यकाल के दौरान उनसे बहुत कुछ सीखा है। लोक सभा अध्यक्ष सदन पर प्रभावी नियंत्रण रखते हुए उसका भलीभांति संचालन करती हैं। उनके नेतृत्व में लोक सभा नयी ऊचाइयों पर पहुंच गयी है और इसकी कार्रवाई में 125 प्रतिशत कार्य का रिकाॅर्ड स्थापित हो चुका है। स्पष्ट है कि उनके नेतृत्व में लोक सभा का कार्यकाल अविस्मरणीय बन चुका है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 में लोक सभा अध्यक्ष का पद संभालने के बाद से श्रीमती महाजन ने हमेशा नये लोक सभा सदस्यों की चिन्ता की, ताकि उन्हें संसदीय परम्पराओं, नियमों इत्यादि की जानकारी हो सके। लोक सभा अध्यक्ष हमेशा नये सदस्यों को सदन में बोलने का मौका देती हैं, ताकि वे जनता के प्रति अपने दायित्वों का निर्वहन कर सकें।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश विधान सभा पूरे उत्साह के साथ जनता की सेवा करने के लिए आगे बढ़ रही है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि आने वाले समय में लोक सभा अध्यक्ष का मार्गदर्शन उत्तर प्रदेश विधान सभा को मिलता रहेगा। श्रीमती महाजन का व्यावहारिक ज्ञान हम सबके लिए लाभकारी साबित होगा और उत्तर प्रदेश की जनता को उनके अनुभवों का लाभ मिलता रहेगा। उन्होंने कहा कि यह प्रयास रहेगा कि उत्तर प्रदेश विधान सभा कम से कम 90 दिन अवश्य चले। विधान सभा का सुचारु संचालन हम सबके लिए आवश्यक है।
विधान सभा अध्यक्ष श्री हृदय नारायण दीक्षित ने धन्यवाद ज्ञापन किया। इस अवसर पर संसदीय कार्य मंत्री श्री सुरेश खन्ना सहित बड़ी संख्या में नवनिर्वाचित विधायकगण मौजूद थे।

Comments (0)

भाजपा जिला कार्यसमिति प्रवास कार्यक्रम

Posted on 04 May 2017 by admin

भारतीय जनता पार्टी पं0 दीनदयाल उपाध्याय जन्मशती वर्ष में 25 जनसेवा कार्यो को लेकर बूथ स्तर पर पहुंचेगी। जिला कार्यसमिति में कार्यक्रमों को प्रभारी ढंग से बूथ, सेक्टर व जिला स्तर पर क्रियान्वयन की रूपरेखा का रोडमैप प्रस्तुत होगा। प्रत्येक जिले में गरीब कल्याण कार्यक्रम योजनाओं के संदेश को लेकर प्रदेश से पदाधिकारी जिलोेें में प्रवास पर जाएंगे।
जिला कार्यसमिति बैठकों में 5 मई को प्रदेश के पदाधिकारी और नेतागण जिलों में प्रवास करेंगे। प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल जी लखनऊ महानगर, प्रदेश महामंत्री विजय बहादुर पाठक एवं रामचन्द्र मिश्रा जौनपुर, प्रदेश महामंत्री सलिल विश्नोई फर्रूखाबाद, क्षेत्रीय संगठन मंत्री कानपुर ओम प्रकाश जी झांसी महानगर, क्षेत्रीय संगठन अवध मंत्री ब्रज बहादुर जी रायबरेली, क्षेत्रीय संगठन मंत्री काशी रत्नाकर जी प्रतापगढ़, क्षेत्रीय संगठन मंत्री गोरखपुर शिव कुमार पाठक गोरखपुर जिला, प्रदेश उपाध्यक्ष व सांसद शिव प्रताप शुक्ला, चिरंजीव चैरसिया, के0एन0 सिंह देवरिया, क्षेत्रीय अध्यक्ष गोरखपुर उपेन्द्र शुक्ला बलिया, विधायक नीलमा कटियार कन्नौज, महेश चन्द्र श्रीवास्तव, सुधीर मिश्रा भदोही, प्रदेश मंत्री अमर पाल मौर्य एवं कृष्ण बिहारी राय इलाहाबाद जिला, प्रदेश मंत्री शंकर गिरी एवं अशोक चैरसिया मिर्जापुर, क्षेत्रीय अध्यक्ष कानपुर मानवेन्द्र सिंह इटावा में 05 मई को जिला कार्यसमिति बैठकों में प्रवास पर रहेंगे।

Comments (0)

राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री ने लोकसभा अध्यक्ष का स्वागत किया

Posted on 04 May 2017 by admin

उत्तर प्रदेश के राज्यपाल श्री राम नाईक एवं मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने आज लोकसभा अध्यक्ष श्रीमती सुमित्रा महाजन का स्वागत राजभवन में किया। श्रीमती महाजन विधानसभा अध्यक्ष श्री हृदय नारायण दीक्षित द्वारा आयोजित प्रथम बार निर्वाचित विधायकों के प्रबोधन कार्यक्रम के समापन समारोह में आज लखनऊ प्रवास पर राजभवन में ठहरी हैं।
sumitra-mahajan ज्ञातव्य है कि विधान भवन में 17वीं विधानसभा में प्रथम बार निर्वाचित विधायकों के प्रशिक्षण के लिये 3-4 मई को दो दिवसीय प्रबोधन कार्यक्रम रखा गया था जिसका उद्घाटन राज्यपाल श्री राम नाईक द्वारा विधानसभा अध्यक्ष श्री हृृदय नारायण दीक्षित, गुजरात विधान सभा के अध्यक्ष श्री रमन लाल वोरा, मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ, संसदीय कार्य मंत्री श्री सुरेश कुमार खन्ना, नेता प्रतिपक्ष श्री राम गोविन्द चैधरी, मंत्रीगण एवं नव निर्वाचित विधायकगणों की उपस्थिति में 03 मई को किया गया था।
राज्यपाल श्री राम नाईक से श्रीमती सुमित्रा महाजन का पारिवारिक संबंध रहा है। दोनों ने लगातार पांच बार लोकसभा में सांसद के तौर पर काम किया है तथा पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेई के मंत्रिमण्डल में राज्यपाल श्री राम नाईक पेट्रोलियम मंत्री थे और श्रीमती महाजन पेट्रोलियम राज्यमंत्री थीं। श्री नाईक ने लोकसभा अध्यक्ष श्रीमती सुमित्रा महाजन को अपने साथ मध्यान्ह भोजन पर भी आमंत्रित किया।

Comments (0)

मुख्यमंत्री के निर्देशों के क्रम में सूचना राज्य मंत्री ने जनता की समस्याओं को सुना

Posted on 04 May 2017 by admin

मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशों के क्रम मंे आज मुख्यमंत्री के सरकारी आवास पर प्रदेश के सूचना राज्य मंत्री
डाॅ0 नीलकण्ठ तिवारी ने जनता की समस्याओं को सुना। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे जनता की समस्याओं के निस्तारण हेतु प्रभावी कार्रवाई करें।
सूचना मंत्री को अपनी समस्या से अवगत कराते हुए जनपद बरेली से आए दिव्यांग श्री नन्हे ने अपने लिए ई-रिक्शा व राशन कार्ड उपलब्ध कराने का अनुरोध किया। लखनऊ की सुश्री आसिया ने अपने लिए आवास तथा लखनऊ की हीं सुश्री मुन्नी देवी ने बिजली के बिल में छूट के लिए निवेदन किया। बुलन्दशहर से आए श्री हितेश ने शिक्षा शुल्क में छूट दिलवाने का आग्रह किया।
प्रदेश के दूर-दराज क्षेत्रों से आए लोगों ने अपनी विभिन्न समस्याओं से सम्बन्धित आवेदन पत्र सूचना मंत्री को स्वयं दिए। अधिकांश प्रार्थना पत्र आर्थिक सहायता, कृषि पट्टे, विद्युत आपूर्ति, आवास आवंटन, पेयजल, अवैध कब्जे, पेंशन, राजस्व, भू-अभिलेखों में अनियमितता, शादी अनुदान, नौकरी तथा निजी इलाज आदि से सम्बन्धित थे। उन्होंने फरियादियों को सभी मामलों में त्वरित एवं निष्पक्ष कार्रवाई करवाने का भरोसा दिया।

Comments (0)

मुख्यमंत्री अब वर्तमान सांसदों व विधायकों के साथ-साथ पूर्व सांसदों व विधायकों से भी मिलेंगे

Posted on 04 May 2017 by admin

शुक्रवार को अपरान्ह 04 से 05 बजे सांसदों एवं पूर्व सांसदों से तथा सोमवार व बृहस्पतिवार को अपरान्ह
04 से 05 बजे विधायकों एवं पूर्व विधायकों से मिलेंगे

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ अब प्रत्येक सप्ताह प्रदेश के समस्त वर्तमान सांसदों व विधायकों के साथ-साथ पूर्व सांसदों व विधायकों से भी भेंट करेंगे।
ज्ञातव्य है कि मुख्यमंत्री ने सप्ताह में प्रत्येक शुक्रवार को अपरान्ह 04 बजे से 05 बजे तक का समय सांसदों के लिए एवं सप्ताह में प्रत्येक सोमवार व बृहस्पतिवार को अपरान्ह 04 बजे से 05 बजे तक का समय विधायकों से भेंट हेतु निश्चित किया था। अब मुख्यमंत्री वर्तमान सांसदों व विधायकों के साथ-साथ पूर्व सांसदों व विधायकों से भी भेंट करेंगे। मुख्यमंत्री इन जनप्रतिनिधियों से निर्धारित दिवस एवं समय पर श्री लाल बहादुर शास्त्री भवन में भेंट करेंगे।

Comments (0)

भाजपा प्रदेश मुख्यालय में जनता के दरबार में जनसेवको की हाजिरी जारी

Posted on 04 May 2017 by admin

कबीना मंत्री सतीश महाना जनसमस्याओं के निराकरण में जुटे

भारतीय जनता पार्टी प्रदेश मुख्यालय पर कैबिनेट मंत्री सतीश महाना जनता की समस्याओं के निस्तारण में जुटे। संगठन और सरकार के समन्वय से जबावदेही सुनिश्चित करते हुए जनता के दरबार के में जनसेवकों की हाजिरी अनबरत जारी। 166 लोग अपनी समस्याओं को लेकर
भारतीय जनता पार्टी पं0 दीन दयाल उपाध्याय जन्मशताब्दी वर्ष के गरीब कल्याण वर्ष के रूप में मना रही है। गरीब कल्याण वर्ष में जनप्रतिनिधि जनसेवक के रूप में जनता के दरबाद में हाजिर रहे, इसी विचार के साथ भाजपा और सरकार के समन्वय से आगामी कार्यक्रम और योजनाओं के साथ जनता दरबार में है। जनता में सत्ता परिवर्तन के साथ ही व्यवस्था परिवर्तन का भी आभास हो, इसी ध्येय के साथ सरकार और संगठन जनता की सेवा में रत है।
satish-mahanaभाजपा प्रदेश मुख्यालय पर जनता के दरबार में मंत्रियों की हाजिरी के अनवरत क्रम में कबीना मंत्री सतीश महाना ने 166 लोगों की समस्याओं को सुना और उनके निराकरण के लिए जुटे। जिलाधिकारियों और पुलिस अधीक्षकों को समस्याओं के निवारण के निर्देश दिए। संबंधित मंत्रालयों को भी शिकायतें भेजी गई।

Comments (0)

‘मानवता को बढ़ावा देना हमारा सर्वश्रेष्ठ धर्म है’- श्रीमती अपर्णा यादव

Posted on 04 May 2017 by admin

लोक उन्नति समिति द्वारा राय उमानाथ बली प्रेक्षागृह में वृहस्पतिवार को महिला सशक्तिकरण पर एक संगोष्ठी तथा लोक उन्नति सम्मान- 2017 का आयोजन किया गया है। जिसमें मुख्य अतिथि के रुप में सामाजिक संस्था ‘बी-अवेयर फाउंडेशन’ की संरक्षिका, समाज सेविका श्रीमती अपर्णा यादव मौजूद रहीं। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि ने दीप प्रज्वलित करते हुए किया। इसके उपरांत दिव्यांग बच्चों द्वारा गणेश वंदना की मनोरम प्रस्तुति की गई। इस अवसर पर समिति द्वारा विभिन्न क्षेत्र में कार्य कर रही महिलाओं को प्रशस्ति पत्र तथा स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया।

aparna-yadavसंगोष्ठी में अपने विचार व्यक्त करते हुए श्रीमती अपर्णा यादव ने कहा कि महिलाएं हर क्षेत्र में अपनी भागीदारी बढ़-चढ़कर निभा रही हैं जो उनके सशक्त होने का प्रमाण है। उन्होंने लोक उन्नति समिति द्वारा महिलाओं तथा दिव्यांग बच्चों के लिए किए जा रहे हैं कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि इस कार्यक्रम के माध्यम से एक सबसे बड़ी सीख हमे मिलती है कि ‘मानवता को बढ़ावा देना हमारा सर्वश्रेष्ठ धर्म है’। श्रीमती यादव ने दिव्यांग बच्चों द्वारा प्रस्तुत सांस्कृतिक कार्यक्रम की भी प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि इस तरह के बच्चों की संख्या हमारे देश में बहुत ज्यादा है, इसलिए ऐसे बच्चों को चिन्हित कर इनको एक नई दिशा और जीवन की नई राह दिखाना हमारा कर्तव्य है। उन्होंने सम्मानित महिलाओं से भी अपील करते हुए कहा कि अगर आप ऐसे दिव्यांग बच्चों की बेहतरी के लिए काम करेंगे तो आपका सम्मान और अधिक बढ़ जाएगा। उन्होंने अपनी तरफ से भी हर संभव मदद करने की बात भी कही।

इस अवसर पर महंत दिव्या गिरी, समिति के अध्यक्ष श्री अशोक चौहान एवं श्रीमती मिनिषा माहेश्वरी, दिल्ली प्रेस समूह के सचिव श्री शैलेंद्र सिंह, महिला आयोग की पूर्व सदस्य श्रीमती सविता सिंह, श्रीमती सत्या सिंह, श्रीमती ममता सिंह, श्रीमती श्रद्धा बाजपेई समेत समाज सेवा से सरोकार रखने वाली तमाम महिलाएं उपस्थित रहीं।

Comments (0)

आपराधिक मामलों में विवेचना कार्य को और अधिक प्रभावी, विश्वसनीय एवं त्रुटिहीन बनाये जाने के मुख्य सचिव ने दिये निर्देश

Posted on 04 May 2017 by admin

प्रदेश के मुख्य सचिव श्री राहुल भटनागर ने आपराधिक मामलों में पुलिस की विवेचना के कार्य को और अधिक प्रभावी, विश्वसनीय एवं त्रुटि रहित  बनाने के प्रयास करने के निर्देश दिये है। शासन द्वारा इस संबंध में जारी निर्देशो के अनुपालन की नियमित रूप से समीक्षा करने का दायित्व अपर पुलिस महानिदेशक (अपराध) को सौंपा गया है।

मुख्य सचिव नें विवेचना कार्यो में उच्चस्तरीय गुणवत्ता सुनिश्चित करने हेतु उच्च न्यायालय द्वारा पारित किये गये आदेश 17 फरवरी, 2017 की प्रति पुलिस महानिदेशक को भेजते हुए उनका अक्षरशः कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये है। साथ ही शासन द्वारा यह भी कहा गया है कि पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी इस संबंध में हुई कार्यवाही की प्रभावी समीक्षा प्रणाली विकसित करें ताकि नियमों व निर्देशों का सख्ती से सुनिश्चित किया जा सके। विवेचनाधिकारी द्वारा यदि निर्देशो के अनुपालन में किसी प्रकार की ढ़िलाई या जानबूझ कर शिथिलता पायी जायेगी तो उनके विरूद्ध सख्त कार्यवाही होगी।
शासन द्वारा जारी निर्देशो मे कहा गया है कि सभी विवेचनाधिकारी हर संभव प्रयास करेगें कि सूचना देने वाले व्यक्ति पीड़ित पक्ष, घायल या दूसरे महत्वपूर्ण गवाहों के बयान शीघ्र अतिशीघ्र दर्ज किये जायें और यदि ऐसा न हो सके तो अभियोग पंजीकृत होने के 24 घण्टे के भीतर अवश्य दर्ज किये जायें। प्रत्येक साक्षी के बयान देर से रिकार्ड किये जाने पर बयान के साथ अलग से स्पष्टीकरण प्रस्तुत किये जाने के लिए भी कहा गया है। जांच अधिकारी द्वारा घटनास्थल पर उपलब्ध हर सबूत को भी जल्द से जल्द और 24 घण्टे के भीतर यदि एकत्र नहीं किया जाता है तो इस सम्बन्ध में भी वह अपना स्पष्टीकरण देंगे। साइट से एकत्र की गई सभी प्रासंगिक सामग्री और सबूत विधि विज्ञान प्रयोगशाला को विशेषज्ञ सलाह के लिये भेजा जायेगा।
शासन द्वारा जारी निर्देशो में कहा गया है कि सूचनाकर्ता, पीड़ित अथवा गवाह के बयानों के पंजीकरण में विलम्ब को भी कम किया जायेगा। धारा 161 सीआरपीसी के तहत दर्ज कराये गये बयानों से मुकरने वाले अथवा पक्षद्रोही होने से बचने के लिये विवेचनाधिकारी द्वारा उनकी विश्वसनीयता को भी सुनिश्चित किया जायेगा। विवेचनाधिकारी एवं राज्य सरकार द्वारा बिना किसी विलम्ब के सूचनाकर्ता और सभी गवाहों से कहा जायेगा कि वह अपने साक्ष्य ईमेल, स्पीड पोस्ट, रजिस्टर्ड डाक पर शपथ पत्र के माध्यम से दे सकते है जो नोटरी द्वारा प्रमाणित होंगे। इनके सम्बन्ध में विवेचनाधिकारी द्वारा आवश्यकता पड़ने पर आगे पूछताछ भी की जा सकती है।
निर्देशों मे यह भी कहा गया है कि धारा 161 के तहत दर्ज किये गये बयान की काॅपी विवेचनाधिकारी द्वारा प्रथम सूचना रिपोर्ट देने वाले के साथ ही साथ गवाहों को दी जायेगी इस सूचना के साथ यदि उनके अपने दिये हुये बयान के साथ कोई आपत्ति या संशय है उसे तत्काल शीघ्रताशीघ्र विवेचनाधिकारी के संज्ञान मे लाया जायेगा। इस कार्य को एक सप्ताह के भीतर प्राथमिकता से करते हुए अपनी बात के पुष्ठि के लिये जरूरी प्रमाण सहित जानकारी दी जायेगी, जिसका उल्लेख विवेचनाधिकारी द्वारा जांच डायरी मे किया जायेगा।  जहां जरूरी हो वहां मोबाइल या लैण्डलाइन फोन पर की गयी कालों का विवरण भी एकत्र किया जायेगा, घटनास्थल के आस पास सीसीटीवी कैमरों की रिकार्डिंग भी ली जायेगी तथा आस पास संदिग्ध व्यक्तियों की फोन नम्बर या मोबाइल नम्बरो की सूची भी तैयार की जायेगी। यह कार्य बिना किसी विलम्ब या गैर वाजिव देर के किया जायेगा।
निर्देशों मे कहा गया है कि सभी मामलों मे विवेचनाधिकारी द्वारा सीआरपीसी के प्रविधानों तथा विवेचना कार्य संबंधी पुलिस एक्ट एवं रेगुलेशन मे दिये गये निर्देशों का सख्ती से पालन किया जायेगा।

Comments (0)

उत्तर प्रदेश बी.एस.पी. संगठन में ज़रूरी परिवर्तन के बाद दूसरे राज्यांे की समीक्षा बैठक के क्रम में हरियाणा, पंजाब व चण्डीगढ़ में पार्टी गतिविधियों की समीक्षा बैठक, जिसमें विरोधी पार्टियों की सरकार की ख़ासकर ग़रीब, किसान, दलित, पिछड़ा व मुस्लिम वर्ग-विरोधी नीतियों के लिये संघर्ष जारी रखने का संकल्प

Posted on 04 May 2017 by admin

केन्द्र व बीजेपी शासित राज्यों द्वारा ’भगवा तुष्टीकरण’ की नीति पर चलकर इससे जुड़े आपराधिक तत्वों को हर स्तर पर व हर प्रकार का गलत संरक्षण दिया जा रहा है, जिससे देश में एक प्रकार से अव्यवस्था जैसा माहौल: बी.एस.पी. की राष्ट्रीय अध्यक्ष, सांसद (राज्यसभा) व पूर्व मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश सुश्री मायावती जी।

बी.एस.पी. की राष्ट्रीय अध्यक्ष, सांसद (राज्यसभा) व पूर्व मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश सुश्री मायावती जी ने उत्तर प्रदेश में पार्टी संगठन में जरूरी परिवर्तन करके यहाँ शीघ्र ही होने वाले शहरी निकाय के चुनाव मंे पूरी तैयारी के साथ लड़ने का कार्यक्रम आदि तय करने के बाद दूसरे प्रदेशों में पार्टी संगठन के कार्यकलापों की समीक्षा करने के क्रम में आज यहाँ हरियाणा, पंजाब व चण्डीगढ़ में पार्टी की स्थिति तथा वहाँ सर्वसमाज में जनाधार को बढ़ाने के कार्यों की समीक्षा की।
इस बैठक में इन राज्यों में बी.एस.पी. के वरिष्ठ व जिम्मेवार पदाधिकारियों के साथ पार्टी के केन्द्रीय प्रभारियों ने भी भाग लिया। उन लोगांे ने अपने-अपने राज्यों में पार्टी की गतिविधियों व जमीनी स्तर पर पार्टी की सक्रियता के बारे में अपनी रिपोर्ट पार्टी प्रमुख को पेश की तथा बताया कि बी.एस.पी. के तत्वावधान में ई.वी.एम. के माध्यम से उत्तर प्रदेश व उत्तराखण्ड राज्योें मंे हुई चुनावी धांधली के खिलाफ गत दिनांक 11 अप्रैल सन् 2017 को राज्य के मुख्यालय पर सफल धरना-प्रदर्शन आयोजित किया गया। उन्होंने बताया कि भाजपा द्वारा वोटिंग मशीन में गड़बड़ी करके चुनाव जीतने की आशंका आमजनता में काफी प्रबल होती जा रही है, जिसका समुचित समाधान देश के लोकतन्त्र के हित में आवश्यक है और अगले चुनाव से पहले इस सम्बंध में मूलभूत सुधार आवश्यक है।
हरियाणा, पंजाब व चण्डीगढ़ के राजनीतिक हालात का जायजा़ लेने के बाद बैठक को सम्बोधित करते हुये सुश्री मायावती जी ने कहा कि केन्द्र व बीजेपी शासित राज्यों द्वारा ’भगवा तुष्टीकरण’ की नीति पर चलकर इससे जुड़े आपराधिक तत्वों को हर स्तर पर व हर प्रकार का गलत संरक्षण दिया जा रहा है, जिससे देश में एक प्रकार से अव्यवस्था जैसा माहौल हो गया है।

इसके अलावा, जब भी बीजेपी व मोदी सरकार जनहित, जनकल्याण व देशहित के मामलों में फेल होती हुई नजर आती है तो प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी व बीजेपी का शीर्ष नेतृत्व आमजनता का ध्यान उस विफलता की तरफ से बाँटने के लिये भगवान के दर्शन व मन्दिरांे के चक्कर काटने शुरू कर देते हैं अर्थात धर्म का राजनीतिक इस्तेमाल करके पार्टी व सरकार की विफलताओं पर से लोगों का ध्यान बाँटने के लिये लगातार किया जा रहा है जैसाकि बीजेपी के नेताओं द्वारा धर्म का चुनावी लाभ के लिये इस्तेमाल पहले लगातार किया जाता रहा है।
उन्होंने कहा कि पंजाब राज्य को हालाँकि बीजेपी व अकाली दल की गठबंधन सरकार से मुक्ति मिल गई है, परन्तु हरियाणा में बीजेपी का कट्टरवाद व संकीर्ण राष्ट्रवाद प्रदेश को लगातार पीछे ढकेलता जा रहा है। संवैधानिक पदों पर बैठे लोगों व मंत्रियों आदि की भाषा व व्यवहार संविधान की मंशा व कानून से मेल नहीं खाता है, जिससे अनेकों गलत कराणों से हरियाणा की बीजेपी सरकार सुखर््िायों में रहती है। वहाँ के दलितों के प्रति भी राज्य सरकार का रवैया न्यायपूर्ण व सहानुभूति का नहीं होने कारण उन वर्गों का शोषण व अन्याय पहले की तरह ही लगातार जारी है।

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

May 2017
M T W T F S S
« Apr    
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293031  
-->






 Type in