*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | April 15th, 2017

भारतीय संविधान के शिल्पी, भारत माता के महान सपूत बाबा साहब डाॅ0 भीमराव अम्बेडकर को आज पूरा देश याद कर रहा है: मुख्यमंत्री

Posted on 15 April 2017 by admin

  • भारतीय संविधान के निर्माण में डाॅ0 अम्बेडकर के योगदान के लिए सम्पूर्ण देश उनके प्रति कृतज्ञ
  • प्रदेश सरकार गरीबों, वंचितों, दलितों के उत्थान, देश की मुख्यधारा से उन्हें जोड़ने व सम्मान दिलाने के लिए कृत संकल्प
  • मुख्यमंत्री ने डाॅ0 भीमराव अम्बेडकर की जयंती पर उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर भावभीनी श्रद्धांजलि दी

press-9मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने बाबा साहब डाॅ0 भीमराव अम्बेडकर की 126वीं जयंती के अवसर पर आज यहां हजरतगंज चैराहे पर स्थित उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। इस मौके पर अपने विचार व्यक्त करते हुए श्री योगी ने कहा कि भारतीय संविधान के शिल्पी, भारत माता के महान सपूत बाबा साहब डाॅ0 भीमराव अम्बेडकर को आज पूरा देश याद कर रहा है।

श्री योगी ने कहा कि भारतीय संविधान के निर्माण में डाॅ0 अम्बेडकर के योगदान के लिए सम्पूर्ण देश उनके प्रति कृतज्ञ है। उन्होंने देश में गरीबों, वंचितों, दलितों तथा समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति को समाज और राष्ट्र की मुख्य धारा से जोड़ने और सामाजिक, राजनैतिक और आर्थिक विषमता को समाप्त करने के लिए बड़ी भूमिका निभायी है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार गरीबों, वंचितों, दलितों के उत्थान, देश की मुख्यधारा से उन्हें जोड़ने व सम्मान दिलाने के लिए कृत संकल्प है। देश के लिए बाबा साहब की सेवाओं को याद करते हुए उन्होंने कहा कि डाॅ0 अम्बेडकर के बताए रास्ते पर चलकर उत्तर प्रदेश को भी देश के अग्रणी राज्यों में शामिल किया जाएगा।

Comments (0)

जनतंत्र की नींव अर्थात् देश का संविधान बाबा साहब डाॅ0 भीमराव अम्बेडकर की देन: राज्यपाल

Posted on 15 April 2017 by admin

  • संविधान केवल पूजा के लिए नहीं है, बल्कि इसे व्यवहार में भी लाया जाना आवश्यक
  • राज्य सरकार हर तरह के भेदभाव रोकने तथा सभी की सुरक्षा एवं समृद्धि के लिए कृत संकल्प: मुख्यमंत्री
  • डाॅ0 अम्बेडकर के दलितों को मुख्य धारा से जोड़ने के सपने को पूरा करने के लिए प्रदेश सरकार कटिबद्ध
  • किसी भी व्यक्ति को कानून से खिलवाड़ करने की इजाजत नहीं दी जाएगी
  • भीम ऐप दलित, गरीब, वंचित और कमजोर लोगों को सशक्त बनाने का माध्यम
  • गांव, गरीब, दलित, किसान को समर्पित होकर काम करने वाली सरकार की वास्तव में लोक कल्याणकारी सरकार
  • राज्य सरकार, केन्द्र सरकार का अनुकरण करते हुए विकास एवं लोक कल्याणकारी कार्यों को आगे बढ़ा रही है
  • अगले तीन वर्ष में प्रदेश के सभी जनपदों को खुले में शौच से मुक्त किया जाएगा
  • दलित छात्रों के पढ़ने के लिए राज्य सरकार प्राथमिक, उच्च, तकनीकी तथा चिकित्सा शिक्षा में स्काॅलरशिप देगी
  • महापुरुषों के नाम पर होने वाली छुट्टियों के स्थान पर ऐसे दिवसों पर विद्यार्थियों को सम्बन्धित महापुरुषों के बारे में जानकारी देने की व्यवस्था की जाएगी
  • राज्यपाल और मुख्यमंत्री डाॅ0 अम्बेडकर जयंती पर डाॅ0 अम्बेडकर महासभा में आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए

उत्तर प्रदेश के राज्यपाल श्री राम नाईक ने कहा कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा जनतंत्र है। इस जनतंत्र की नींव अर्थात् देश का संविधान बाबा साहब डाॅ0 भीमराव अम्बेडकर की देन है। भारतीयों के लिए बाबा साहब का चरित्र दीप स्तम्भ की तरह काम करता है। बाबा साहब ने भारतीयों के मन में यह आत्मविश्वास जगाया कि किसी भी हालत में संघर्ष और ज्ञानार्जन के बल पर आगे बढ़ा जा सकता है। उन्होंने कहा कि संविधान केवल पूजा के लिए नहीं है, बल्कि इसे व्यवहार में भी लाया जाना आवश्यक है।
राज्यपाल आज यहां बाबा साहब डाॅ0 भीमराव अम्बेडकर महासभा में डाॅ0 अम्बेडकर की 126वीं जयंती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। इस मौके पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने बाबा साहब डाॅ0 भीमराव अम्बेडकर की सेवाओं के प्रति श्रद्धा एवं सम्मान व्यक्त करते हुए कहा कि राज्य सरकार छुआछूत, अश्पृश्यता के नाम पर हर तरह के भेदभाव रोकने तथा सभी की सुरक्षा एवं समृद्धि के लिए कृत संकल्प है। डाॅ0 अम्बेडकर के दलितों को मुख्य धारा से जोड़ने के सपने को पूरा करने के लिए प्रदेश सरकार कटिबद्ध है।press-121
श्री योगी ने कहा कि देश की कीमत पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। जाति, मत, मजहब के नाम पर राजनीति करने वालों के लिए डाॅ0 अम्बेडकर का संदेश साफ है। उन्होंने कहा कि किसी भी व्यक्ति को कानून से खिलवाड़ करने की इजाजत नहीं दी जाएगी। चाहे वह जितनी भी रसूख वाला क्यों न हो।
मुख्यमंत्री ने कहा कि खुशी की बात है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा डाॅ0 अम्बेडकर की स्मृति में भीम ऐप शुरू किया गया है। यह ऐप देश के दलित, गरीब, वंचित और कमजोर लोगों को सशक्त बनाने का एक माध्यम साबित होगा। प्रधानमंत्री का कहना है कि गांव, गरीब, दलित, किसान को समर्पित होकर काम करने वाली सरकार की वास्तव में लोक कल्याणकारी सरकार है। इसीलिए जनधन योजना के माध्यम से लाभ पहुंचाने के लिए गरीब, कमजोर और दलित जनता के बैंकों में जीरो बैलेंस पर करोड़ों की संख्या में खाते खुलवाए गए, जिससे बैंक अकाउण्ट न होने के कारण उन्हें अपमानित न होना पड़े।
इसी प्रकार स्टार्टअप योजना के तहत प्रत्येक बैंक की ब्रांच को कम से कम एक दलित को उद्यमिता के लिए प्रोत्साहित करने के लिए कहा गया है। इससे हजारों की संख्या में दलित नौजवानों को आगे बढ़ने का मौका मिला है। प्रधानमंत्री की योजना है कि वर्ष 2022 तक प्रत्येक दलित के पास सिर ढकने के लिए अपना आवास हो।
श्री योगी ने कहा कि राज्य सरकार, केन्द्र सरकार का अनुकरण करते हुए विकास एवं लोक कल्याणकारी कार्यों को आगे बढ़ा रही है। प्रदेश सरकार गरीब को आवास देने के लिए कार्य योजना पर कार्य कर रही है। ऐसे गरीब और दलित, जिनके पास भूमि नहीं है, उन्हें भूमि देने की व्यवस्था की जाएगी। दलित छात्रों के पढ़ने के लिए राज्य सरकार प्राथमिक, उच्च, तकनीकी तथा चिकित्सा शिक्षा में स्काॅलरशिप देगी। प्रदेश सरकार 30 जनपदों का चयन करके 31 दिसम्बर, 2017 तक उन्हें खुले में शौच मुक्त (ओ0डी0एफ0) करने का काम करेगी। अगले तीन वर्ष में प्रदेश के सभी जनपदों को खुले में शौच से मुक्त किया जाएगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार प्राथमिक स्कूलों, जिनमें बड़ी संख्या में गांव के गरीब, मजदूर, किसान के बच्चे शिक्षा पाते हैं, की व्यवस्था को सुधारने के लिए कृत संकल्प है। इन स्कूलों की यूनीफाॅर्म को बदल दिया गया है, जिसे पहनकर छात्र टेªनी होमगार्ड प्रतीत होते थे। ऐसी व्यवस्था की गई है कि प्राथमिक स्कूलों के बच्चों को दो यूनिफाॅर्म, जूते, बैग, काॅपी-किताब जुलाई के पहले हफ्ते में मिल जाए, जिससे उनकी पढ़ाई प्रभावित न हो।
श्री योगी ने कहा कि महापुरुषों के नाम पर अत्यधिक छुट्टियां होने से स्कूलों में पढ़ाई के दिन काफी कम हो गए हैं। व्यवस्था है कि स्कूल 220 दिन खुलें। अत्यधिक छुट्टियों के कारण ऐसा सम्भव नहीं हो पाता है। इसलिए राज्य सरकार महापुरुषों के नाम पर होने वाली छुट्टियों के स्थान पर ऐसे दिवसों पर स्कूलों में सम्बन्धित महापुरुषों के बारे में विद्यार्थियों को घण्टे-दो घण्टे विशेष तौर से जानकारी देने की व्यवस्था कर रही है, जिससे विद्यार्थी महापुरुष के बारे में जानकर उनसे प्रेरणा प्राप्त करें। महापुरुष के व्यक्तित्व एवं कृतित्व के बारे में जानकारी पाकर छात्र-छात्राओं के मन में इन महापुरुषों के प्रति सम्मान बढ़ेगा और भविष्य में वे भी समाज और राष्ट्र को अपनी अमूल्य सेवाएं दे सकेंगे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि अम्बेडकर महासभा को अपने हितों के प्रति आवाज बुलन्द करते हुए देखकर कहा जा सकता है कि दलितों, वंचितों, गरीबों और समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति को आगे बढ़ाने का डाॅ0 अम्बेडकर का प्रयास सार्थक साबित हुआ है। उद्यमिता, पत्रकारिता, चिकित्सा जैसे क्षेत्रों में विशिष्ट उपलब्धियां हासिल करने वाले महानुभावों का अम्बेडकर महासभा द्वारा सम्मानित किए जाने से बाबा साहब का सपना साकार हुआ है।
कार्यक्रम को बाबा साहब डाॅ0 भीमराव अम्बेडकर महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री लालजी प्रसाद निर्मल तथा प्रदेश अध्यक्ष श्री रामनरेश चैधरी ने भी सम्बोधित किया। अपने सम्बोधन में उन्होंने डाॅ0 अम्बेडकर महासभा का संक्षिप्त परिचय देने के अलावा मुख्यमंत्री के समक्ष दलितों के उत्थान के लिए संस्था की ओर से कुछ मांगे भी रखी। कार्यक्रम के दौरान राज्यपाल व मुख्यमंत्री ने विभिन्न क्षेत्रों में विशिष्ट उपलब्धियां हासिल करने वाले 06 महानुभावों डाॅ0 वीरेन्द्र कुमार, डाॅ0 जिलेदार रावत, श्री राजेन्द्र के0 गौतम, प्रो0 सुरेश कुमार, श्री राजकुमार सिंह तथा श्री मनोज कुमार सेन को सम्मानित भी किया।
कार्यक्रम से पूर्व, राज्यपाल व मुख्यमंत्री ने डाॅ0 अम्बेडकर महासभा परिसर में स्थापित तथागत बुद्ध की प्रतिमा पर माल्यार्पण तथा डाॅ0 अम्बेडकर के अस्थि कलश पर पुष्पांजलि भी अर्पित की। इस मौके पर श्री राम नरेश चैधरी ने राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री को पुस्तक तथा श्री आर0के0 सिंह ने स्मृति चिन्ह भेंट किया।
इस अवसर पर केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री श्रीमती अनुप्रिया पटेल, श्रम एवं सेवायोजन मंत्री श्री स्वामी प्रसाद मौर्य, पर्यटन मंत्री श्रीमती रीता बहुगुणा जोशी सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण एवं गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।

Comments (0)

देश को विकसित होना है तो आर्थिक असमानता के साथ-साथ आर्थिक कदाचार को रोकना होगा: मुख्यमंत्री

Posted on 15 April 2017 by admin

  • भ्रष्टाचार के प्रति वर्तमान राज्य सरकार जीरो टाॅलरेन्स की नीति अपनाएगी
  • विकास एवं कल्याणकारी योजनाओं को समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाना है तो भ्रष्टाचार को समाप्त करना ही होगा
  • सभी विभागों में ई-टेण्डरिंग की व्यवस्था लागू की जाएगी: मुख्यमंत्री
  • एक भारत श्रेष्ठ भारत की परिकल्पना को साकार करने के लिए केन्द्र सरकार काम कर रही है
  • राज्य सरकार डिजिटल लेन-देन को बढ़ावा देने के लिए गम्भीरता से काम करेगी
  • मुख्यमंत्री ने प्रदेश के 60 हजार जनसेवा केन्द्रों को भीम ऐप से जोड़ने शुरुआत भी की
  • मुख्यमंत्री ने 100वें डिजिधन मेला को सम्बोधित किया

01-2उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अगर देश को विकसित होना है तो आर्थिक असमानता के साथ-साथ आर्थिक कदाचार को भी रोकना होगा। यह तभी सम्भव है जब डिजिटल लेन-देन को बढ़ावा दिया जाए, जिससे एक-एक पाई का हिसाब रखा जा सके। आर्थिक असमानता को दूर करने तथा भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए ही प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 500 एवं 1000 रुपए के नोट को बन्द करने का फैसला लिया। इसके साथ ही, आमजन मानस को कैशलेस अर्थव्यवस्था से जोड़ने के लिए कई प्रकार के पुरस्कारों एवं प्रोत्साहनों की घोषणा की।
मुख्यमंत्री आज यहां इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित 100वां डिजिधन मेला को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर विभिन्न वित्तीय एवं वाणिज्यिक संस्थाओं द्वारा डिजिटल लेन-देन को बढ़ावा देने के लिए एक प्रदर्शनी भी लगायी गई थी, जिसका अवलोकन मुख्यमंत्री ने किया। इसके साथ ही, उन्होंने प्रदेश के
60 हजार जनसेवा केन्द्रों को भीम ऐप से जोड़ने की शुरुआत भी की। डिजिटल लेन-देन को बढ़ावा देने के लिए उन्होंने कई कम्पनियों एवं व्यापारिक प्रतिष्ठानों के पदाधिकारियों, अग्रणी किसानों तथा जनसेवा केन्द्रों के प्रभारियों को सम्मानित किया। इनके अलावा, बैंकर्स एवं राजकीय विभागों के अधिकारी भी सम्मानित किए गए। सम्मान प्राप्त करने वालों में पश्मिांचल विद्युत वितरण निगम के प्रबन्ध निदेशक श्री अभिषेक प्रकाश, परिवहन आयुक्त श्री के0 रविन्द्र नायक, वाणिज्य कर आयुक्त श्री मुकेश कुमार मेश्राम, निदेशक मण्डी परिषद श्री आशीष कुमार गोयल तथा जिलाधिकारी गाजियाबाद सुश्री निधि केसरवानी भी शामिल थीं।
इस अवसर पर श्री योगी ने भ्रष्टाचार को लेकर वर्तमान राज्य सरकार के मंतव्य का उल्लेख करते हुए कहा कि भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टाॅलरेन्स की नीति अपनायी जाएगी। उनकी सरकार भ्रष्टाचारियों को जेल में डालने और सम्पत्ति जब्त करने की कार्रवाई तक से भी नहीं हिचकेगी। अगर सरकार की विकास परियोजनाओं और कल्याणकारी योजनाओं को समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाना है तो भ्रष्टाचार को समाप्त करना ही होगा। उन्होंने कहा कि मात्र कुछ दिनों में ही यह अनुभव किया गया है कि प्रदेश में अधिकांश ठेकेदार परियोजनाओं अधिक लागत दिखाकर राज्य सरकार को भारी वित्तीय क्षति पहुंचा रहे हैं। परियोजनाएं समय पर पूरी न होने के कारण उनकी लागत बढ़ रही है। इसके साथ ही, बड़े ठेकेदार परियोजनाओं को छोटे-छोटे ठेकेदारों में वितरित कर जनता की गाढ़ी कमाई का दुरुपयोग कर रहे हैं। इसीलिए वर्तमान राज्य सरकार ने निर्णय लिया है कि सभी विभागों में ई-टेण्डरिंग की व्यवस्था लागू की जाएगी। भ्रष्टाचार रहित तथा समय से पूरा कराने के लिए परियोजनाओं की कड़ाई से समीक्षा की जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार भ्रष्टाचार और कालेधन पर अंकुश लगाने के लिए कैशलेस लेन-देन को बढ़ावा देगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि अक्सर देश की जनता चुनाव के समय भ्रष्टाचार के सम्बन्ध में बड़े-बड़े दावों को सुनती आ रही थी और जैसे ही चुनाव समाप्त हो जाता था भ्रष्टाचार पर चर्चा भी खत्म हो जाती थी। केन्द्र की वर्तमान सरकार ने भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए पूरी गम्भीरता से काम शुरू किया। केन्द्र सरकार यह भी सुनिश्चित कर रही है कि अब आगे भ्रष्टाचार पर अंकुश लगे। देश का पैसा विदेशों में जमा कर देश की अर्थव्यवस्था को कमजोर न किया जा सके, इसीलिए प्रधानमंत्री द्वारा नोटबन्दी की गई। उन्होंने आश्चर्य व्यक्त किया कि तमाम राजनीतिक दलों एवं संस्थाओं द्वारा केन्द्र सरकार के इस निर्णय के विरुद्ध भ्रम फैलाने का प्रयास किया। इसके बावजूद यहां की आम जनता ने प्रधानमंत्री के इस निर्णय का पूरे उत्साह के साथ समर्थन किया और उनके साथ चट्टान की तरह खड़ी रही।
श्री योगी ने कहा कि जब हमारे देश में नोटबन्दी की गई थी उसी समय एक विदेशी सरकार ने भी अपने यहां इसी तरह का कदम उठाया, लेकिन वहां की सरकार को अपने निर्णय वापस लेना पड़ा। जबकि प्रधानमंत्री श्री मोदी जनता के हितों को दृष्टिगत रखते हुए नोटबन्दी के निर्णय पर दृढ़संकल्पित रहे, जिसका परिणाम अब दिखाई पड़ने लगा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के इस निर्णय के पीछे डाॅ0 भीमराव अम्बेडकर के आर्थिक दर्शन की प्रेरणा रही है। हम सभी जानते हैं कि बाबा साहब ने कहा था कि भ्रष्टाचार पर अंकुश के लिए बड़ी मूल्य वाली मुद्राओं को बार-बार बदलते रहना चाहिए। पहली बार केन्द्र की किसी सरकार ने निजी लाभ-हानि से ऊपर उठकर देश के हित में फैसला लिया और लोगों ने भी कष्ट सहकर भी भारत सरकार को भरपूर सहयोग प्रदान किया। डिजिटल लेन-देन को बढ़ावा देने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा कई प्रकार के प्रोत्साहन दिए जा रहे है। आज भी प्रधानमंत्री ने 14 अक्टूबर, 2017 तक कई प्रोत्साहन देने की घोषणा की है। प्रदेश सरकार भी डिजिटल पेमेण्ट को बढ़ावा देने के लिए गम्भीरता से काम करेगी। राज्य के कुछ नगरों में आई0टी0 पार्क स्थापित करने का काम किया जाएगा। उन्होंने कहा कि एक भारत श्रेष्ठ भारत की परिकल्पना को साकार करने के लिए केन्द्र सरकार जो काम कर रही है। उससे भारत की अर्थव्यवस्था मजबूत बन रही है।
मुख्यमंत्री ने प्रदेश सरकार की दृढ़इच्छा शक्ति की चर्चा करते हुए कहा कि वर्तमान राज्य सरकार द्वारा बिजली व्यवस्था को सुधारने के लिए किए जा रहे प्रयासों पर कुछ लोगों द्वारा प्रश्न चिन्ह् लगाया जा रहा है। लेकिन ऐसे लोगों को यह जान लेना चाहिए की वर्तमान राज्य सरकार केवल कुछ चुनिंदा जनपदों के बजाए प्रदेश के सभी 75 जनपदों को कल से 24 घण्टे बिजली आपूर्ति के लिए संकल्पित है। इसके साथ ही, तहसील मुख्यालयों को 20 घण्टे और ग्रामीण इलाकों को 18 घण्टे बिजली आपूर्ति की जाएगी। नवम्बर, 2018 तक प्रदेश के सभी गांव एवं घरों को 24 घण्टे बिजली आपूर्ति हेतु राज्य सरकार व्यवस्था को ठीक कर रही है। भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाकर प्रदेश के हर घर को रौशन किया जाएगा। इसी प्रकार पूर्व की भांति अब किसानों के नलकूपों एवं गांवों के खराब ट्रांसफार्मरों को महीनों न बदलने की प्रवृत्ति वाले कर्मचारियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। विद्युत विभाग के कार्मिकों को स्पष्ट तौर पर निर्देशित किया गया है कि ग्रामीण क्षेत्रों में 48 घण्टे तथा शहरी क्षेत्रों में 24 घण्टे में खराब ट्रांसफार्मर को न बदलने के लिए कार्मिक परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहे।
श्री योगी ने कहा कि यदि राजनीतिक पूर्वाग्रह से हटकर केन्द्र की वर्तमान सरकार से पूर्व और अब देश की स्थिति का आकलन किया जाए तो स्पष्ट हो जाएगा कि प्रधानमंत्री ने देश के नागरिकों का आत्म-विश्वास बढ़ाया है। खराब हालात तक पहुंच चुके राजनीतिक प्रतिनिधियों के प्रति लोगों की सोच को परिवर्तित कर पुनः सकारात्मक बनाने का काम किया। इसी प्रकार उत्तर प्रदेश की सरकार प्रदेश की जनता को भ्रष्टाचार रहित प्रशासन देने के लिए कटिबद्ध है।
मुख्यमंत्री ने डिजिधन मेला में स्टाॅल लगाने वाले 05 अच्छी संस्थाओं को सम्मानित किया। इसमें एअरटेल, ई-सुविधा, खाद एवं रसद विभाग, राज्य कृषि उत्पादन मण्डी परिषद तथा स्टेट बैंक आॅफ इण्डिया शामिल हैं।
इस मौके पर, उप मुख्यमंत्री डाॅ0 दिनेश शर्मा ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार के फैसलों का परिणाम जनता के सामने आना शुरू हो गया है। उन्होंने प्रधानमंत्री के राष्ट्रीय कार्यक्रम के सजीव प्रसारण को प्रेरक बताते हुए कहा कि डिजिटल लेन-देन ही भविष्य में अर्थव्यवस्था की घुरी बनने जा रहा है। इसमें भीम ऐप तथा भीम आधार सेवा की महत्वपूर्ण भूमिका होगी।
इससे पूर्व, मुख्यमंत्री सहित सभी मंत्रीगण, अधिकारी, संस्थाओं के पदाधिकारी, छात्र-छात्राओं ने प्रधानमंत्री का सजीव प्रसारण सुना।

Comments (0)

मुख्यमंत्री ने जनता की समस्याएं सुनीं

Posted on 15 April 2017 by admin

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने रोज की तरह आज भी अपने सरकारी आवास पर प्रदेश के विभिन्न जनपदों से बड़ी संख्या मंे आए लोगों की समस्याएं सुनीं। उन्होंने अधिकारियों कोे प्रार्थना पत्रों पर शीघ्रता से कार्रवाई करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अधिकारी जनता की समस्याओं के निस्तारण में रुचि लेकर काम करें।
press-14इस मौके पर जनपद बाराबंकी से आए प्रतिनिधि मण्डल ने अवैध खनन की समस्या से मुख्यमंत्री को अवगत कराया। गोण्डा के श्री राज कुमार मिश्र ने पुत्री की दहेज हत्या के मामले में इन्साफ दिलाने की मांग मुख्यमंत्री से की। इसी प्रकार गाजियाबाद के श्री सचिन त्यागी ने अपने शहीद पिता के स्थान पर पुलिस में नौकरी दिलाये जाने का आग्रह किया। जनपद जौनपुर के श्री विनीत मिश्रा ने शिक्षा ऋण दिलाने के लिए प्रार्थना पत्र दिया। मुख्यमंत्री ने सभी लोगों की दिक्कतों को सहानुभूतिपूर्वक सुना और अधिकारियों को मामलों में त्वरित कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

Comments (0)

आग से सुरक्षा में अग्निशमन सेवा की बड़ी भूमिका: मुख्यमंत्री

Posted on 15 April 2017 by admin

स्थानीय स्तर पर अग्निशमन सेवाओं की और मजबूत करने की जरूरत
अग्नि सेवा शहीद स्मृति दिवस पर मुख्यमंत्री को पिन फ्लैग लगाया गया

press-15उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ को अग्नि सेवा शहीद स्मृति दिवस के अवसर पर आज उनके सरकारी आवास पर महानिदेशक अग्निशमन सेवा श्री प्रवीण सिंह ने पिन फ्लैग लगाया।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि आग से प्रदेशवासियों की सुरक्षा में अग्निशमन सेवा की बड़ी भूमिका है। इसलिए अग्निशमन सेवा को और अधिक मजबूत बनाए जाने के साथ ही, अग्नि दुर्घटनाओं के प्रति लोगों को जागरूक किए जाने की आवश्यकता है, जिससे आग लगने की दुर्घटनाएं कम से कम हों।
श्री योगी ने कहा कि आग लगने की अधिकतर घटनाएं माह मार्च से जून के दौरान होती हैं। इसी समय रबी की फसल भी खलिहान में होती हैं। ऐसे में आग लगने पर किसानांे को बहुत नुकसान होता है। फसल किसान की चार महीने की कड़ी मेहनत होती है। जिस व्यक्ति की चार महीने की फसल आग में तबाह हो जाए उसके दुःख का अंदाजा नहीं लगाया जा सकता। उन्होंने स्थानीय स्तर पर बेहतर अग्निशमन सेवाओं की जरूरत पर बल देते हुए उन्हें मजबूत करने के निर्देश भी अधिकारियों को दिए।
इस अवसर पर प्रमुख सचिव गृह श्री देवाशीष पण्डा, पुलिस महानिदेशक श्री जावीद अहमद, निदेशक अग्निशमन सेवा श्री पी0के0 राव सहित अग्निशमन सेवा के अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
ज्ञातव्य है कि 14 अप्रैल, 1944 को मुम्बई बन्दरगाह पर एस0एस0 फोर्ट स्टीकिन नामक मालवाहक जहाज में लगी आग को बुझाते समय शहीद हुए अग्निशमन कर्मियों की स्मृति में, दिवंगत अग्निशमन कर्मियों को श्रद्धांजलि देने के लिए ‘अग्निशमन सेवा शहीद स्मृति दिवस’ मनाया जाता है। साथ ही, 14 अप्रैल से 20 अप्रैल के मध्य सम्पूर्ण भारत में ‘अग्नि सुरक्षा सप्ताह’ मनाया जाता है। इस वर्ष भारत सरकार द्वारा ‘अग्नि सुरक्षा सप्ताह’ का संकल्प ‘फायरमैन-जीवन और सम्पत्ति को बचाने में आपका साथी’ निर्धारित किया गया है। अग्नि सुरक्षा सप्ताह का उद्देश्य नागरिकों को अग्निकाण्डों की रोकथाम एवं उससे होने वाली क्षति के बचाव के प्रति जागरूक करना तथा प्रशिक्षित करना है।

Comments (0)

अम्बेडकर जयन्ती पर मलिन बस्ती में समरसता भोज आयोजित

Posted on 15 April 2017 by admin

बाबा साहब भीम राव अम्बेडकर जी की जयंती के अवसर पर मलिन बस्ती डूडा, कालोनी हनुमन्त पुरम् इन्दिरा नगर, में आज समरसता भोज का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की संयोजिका सुनीता बंसल प्रदेश मंत्री भाजपा महिला मोर्चा थीं तथा मुख्य अतिथि बी0के0टी0 विधानसभा के विधायक अविनाश त्रिवेदी थे।
श्री अविनाश त्रिवेदी ने अम्बेडकर जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धान्जलि अर्पित किया तथा यहाँ उपस्थित लोगोें को सम्बोधत करते हुए कहा कि डा0 भीव राव अम्बेडकर भारतीय संविधान के पिता थे। जिन्होंने भारत के संविधान का ड्राफ्ट तैयार किया था। वे एक महान मानवाधिकार कार्यकर्ता थे। जिनका जन्म 14 अप्रैल 1891 को हुआ  डा0 भीव राव अम्बेडकर को बाबा साहेब के नाम से भी जाना जाता है। श्री त्रिवेदी ने कहा कि अम्बेडकर जी उनमें से एक हैं, जिन्होंने भारत के संविधान को बनाने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया था, अम्बेडकर जी एक जाने माने राजनेता व प्रख्यात विधिवेत्ता थे, इन्होंने देश में से छुआ-छूत, जातिवाद को मिटाने के लिए बहुत से आन्दोलन किये, इन्होंने अपना पूरा जीवन गरीबों को दे दिया, दलित व पिछड़ी जाति के लिए इन्होंने कड़ी मेहनत की। आजादी के बाद पंडित जवाहरलाल नहेरू के कैबिनेट में पहली बार अम्बेडकर जी को लाॅ मिनिस्टर बनाया गया था, अपने अच्छे काम व देश के लिए बहुत कुछ करने के लिए अम्बेडकर जी को 1990 में देश के सबसे बड़े सम्मान भारत रत्न से नवाजा गया।

अम्बेडकर जयंती के अवसर पर श्री त्रिवेदी जी ने वहांँ उपस्थित लोगों के अपने हाथो से तहरी वितरित किया इसके साथ ही उन्होंने पूरे क्षेत्र का दौरा कर वहांँ की समस्यायें भी सुनी और उन्हें दूर करने का आश्वासन भी दिया। इस अवसर पर ममता राजभर, राम विलास राजभर, मुमताज बेगम, कदरून्निशा, विमला वाल्मीकि, फूलमती राय, सुमन वाजपेयी, मीना वर्मा, गीता वाल्मीकि , डा0 यादव, बृजेश, दिलीप आदि सैकड़ों की संख्या में लोग उपस्थित थे।

Comments (0)

बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर की जयंती समारोह पूर्वक मनाई गई

Posted on 15 April 2017 by admin

समाजवादी पार्टी मुख्यालय, लखनऊ में आज बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर की जयंती समारोह पूर्वक मनाई गई। राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव ने डाॅ0 अम्बेडकर के चित्र पर माल्यार्पण के उपरांत अपने सम्बोधन में कहा कि बाबा साहब ने एक ऐसा नया समाज बनाने का सपना देखा था जिसमें ऊँच-नीच के लिए कोई स्थान नहीं होगा। वह मानते थे कि विषमता समाप्त किए बिना स्वस्थ समाज नहीं बन सकता है। बाबा साहब ने भारतीय संविधान में नागरिकों को सम्मान के साथ रहने-जीने का अधिकार देकर सामाजिक न्याय की भी व्यवस्था की। उनके योगदान को भुलाया नहीं जा सकता है।

akhilesh-yadav पार्टी कार्यालय में डाॅ0 अम्बेडकर जयंती अनुसूचित जाति एवं जन जाति प्रकोष्ठ के अध्यक्ष एवं विधायक श्री सुभाष पासी की अध्यक्षता में मनाई गई। भारी संख्या में आए दलित समाज के स्त्री-पुरूषों और नौजवानों द्वारा ‘डा0ॅ अम्बेडकर अमर रहे‘ के नारे लगाए जाने से परिसर देर तक गूंजता रहा।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री अखिलेश यादव ने कहा कि यह हमारे लिए गौरव की बात है कि डाॅ0 लोहिया और डाॅ0 अम्बेडकर में कई मामलों पर मतैक्य था और दोनों महान नेताओं ने राष्ट्र निर्माण का एक जैसा सपना देखा था। उन्होंने कहा कि समाज को तोड़ने और बहकाने वाली कुछ ताकतें आज सक्रिय हैं। बहकावे से सत्ता में पहुंचना लोकतंत्र के साथ मजाक है। जो ताकतें समाज को अंधेरी सुरंग में ले जाना चाहती है उनसे सावधान रहने की जरूरत है।

श्री अखिलेश यादव ने कहा कि डाॅ0 अम्बेडकर ने जीवनपर्यन्त उपेक्षित वंचित और दलित समाज के ऊपर हो रहे सैकड़ो वर्षांे के अत्याचार के विरूद्ध संघर्ष किया। उन्होंने सामाजिक दासता की उन बेड़ियों को तोड़ दिया था जिसमें अमानवीय और पशुवत व्यवहार होते है। उन्होंने मानवाधिकारों का सम्मान करना सिखाया। भारतीय संविधान के वे प्रमुख वास्तुकार थे।

श्री यादव ने कहा कि समाजवादी सरकार ने समता मूलक समाज की कल्पना को साकार करने के लिए कई काम किये जिनसे दलितों, पिछड़ों, अल्पसंख्यकों सहित समाज के सभी वर्गो को लाभ पहुंचा है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार के पास तो अपनी कोई योजना ही नहीं है। समाजवादी सरकार के कामों को अपना बताया जा रहा है। भाजपा सरकार सब पर अपना दावा कर रही है। केंद्र की भाजपा सरकार के पास तो अब समय ही नहीं बचा है। उसके तीन साल के कार्यकाल में कोई भी उल्लेखनीय कार्य सामने नहीं आया है। अब आगे उनसे क्या उम्मीद है?

श्री यादव ने कहा कि समाज का भला तभी होगा जब सरकारें पूरी ईमानदारी और निष्पक्षता के साथ सेवा करेगी। समता मूलक समाज की सथापना से ही व्यवस्था बाबा साहब के सपनों को पूरा किया जा सकेगा। समाजवादियों का संकल्प है कि सामाजिक अन्याय और आर्थिक गैर बराबरी के विरूद्ध संघर्ष जारी रहेगा।

डाॅ0 अम्बेडकर जयंती के कार्यक्रम में सर्वश्री माता प्रसाद पाण्डेय, राजेंद्र चौधरी, एसआरएस यादव, शैलेंद्र यादव (ललई), सुशीला सरोज, शिवकुमार बेरिया, डाॅ0 भूपेन्द्र दिवाकर, अरविन्द कुमार सिंह, जुगल किशोर बाल्मीकि, रामबृक्ष यादव, मंजू कौशल, हेमंत कुमार, डाॅ0 राजपाल कश्यप, अनूप बारी, प्रेमचंद्र गुप्ता, जयसिंह जयंत, अनिल सोनकर वारसी, श्रीराम दलित, गौरव रावत, हरिओम सोनकर आदि की कार्यक्रम में विशेष भागीदारी  रही।

Comments (0)

समाजवादी पार्टी के सदस्यता अभियान की शुरूआत

Posted on 15 April 2017 by admin

समाजवादी पार्टी के सदस्यता अभियान की शुरूआत कल से पार्टी मुख्यालय, 19, विक्रमादित्य मार्ग, लखनऊ में 12ः00 बजे समारोह पूर्वक होगी। इसमें समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव, सहित पार्टी के सभी वरिष्ठ नेता भी शिरकत करेंगे। सदस्यता अभियान 15 अप्रैल 2017 से शुरू होकर 15 जून 2017 तक चलेगा। पार्टी के सक्रिय सदस्य ही संगठन में पदाधिकारी बन सकेंगे।

मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चोधरी ने बताया है कि पार्टी संविधान में संशोधन के फलस्वरूप अब सदस्यों का कार्यकाल 3 वर्ष के स्थान पर 5 वर्ष होगा। प्रारम्भिक और सक्रिय बनाने के अभियान को मतदान केन्द्र तक पहुंचाने का प्रयास होगा। इसके लिए ग्राम सभा, न्याय पंचायत, विकास खंड एवं वार्ड स्तर पर सदस्यता शिविरों का आयोजन होगा।
समाजवादी पार्टी के सदस्य बनने हेतु आन लाइन तथा मिस काल देकर भी व्यवस्था की गई है। सदस्यता हेतु 78599-99999 नम्बर पर मिस काल दी जा सकती है। जबकि आन लाइन www.samajwadiparty.in/join का उपयोग किया जा सकता है।
पिछली बार समाजवादी पार्टी का सदस्यता अभियान 01 जुलाई 2014 से 30 सितम्बर 2014 तक चलाया जिसमें 1,44,000 (एक लाख चैवालिस हजार) सक्रिय सदस्य बने थे। इन सबकी अवधि 30 जून 2017 को समाप्त हो रही है। संविधान संषोधन के बाद अब 5 वर्ष के लिए सदस्यता अभियान 15 अप्रैल 2017 से चलेगा।

(राजेंद्र चौधरी)

मुख्य प्रवक्ता

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

April 2017
M T W T F S S
« Mar   May »
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
-->







 Type in