*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | उन्नाव

Congress Delivers, Others Just Make Promises : Rahul Gandhi

Posted on 15 February 2012 by admin

Shri Rahul Gandhi said on Wednesday that people should not depend on promises but should see the work done by a political party.   “We do not make promises, we deliver. The UP elections are here and for the past 22 years, your leaders have come and made promises but have not changed anything here. The Congress party has done whatever it said it would do and whatever we have done is for every Indian — not for any one caste or religion,” he said.   Addressing a public meeting in Unnao, Shri Gandhi asked the women in the audience, who had come in large numbers to  if anyone had come to listen to their woes in the past 22 years.   “I came to you and you told us that you do not get enough to eat. We are now bringing a food security bill for you, which will ensure that you get enough to eat,’ he said.   He said that the Centre had sent food grains earlier but Mulayam Singh Yadav took it away and the biggest food grain scam took place in his regime. “In 2004, you voted for us because we delivered according to your expectations. You have knowledge and you have strength and you are the ones who run this state. I have not come here to make false promises. If you want to hear false promises, please go to Mulayam Singh or Mayawati,” he said.   Shri Gandhi said that Mulayam Singh Yadav was promising free electricity but the people in Amethi showed me that they get only bills and no electricity. From where will he give free electricity?

Waving a piece of paper in his hand, Shri Gandhi said that Mulayam Singh had a magic wand which he will wave after becoming chief minister and the skies will open up. “From the skies, wires will come down into every home and you will get electricity,” he said and added that Mulayam Singh was promising the moon to the voters in elections.   Shri Gandhi further said that the Congress had given MNREGA, weavers’ package, Bundelkhand package to UP. “It is another thing that none of it reached you because the elephant gobbled it all up. We gave Rs 60,000 crore for farmers’ loan waiver , we gave reservation to Muslims and now we are giving food security bill which will give 35 kgs of food rain to every [poor family every month,” he said.   Shri Gandhi asked the people if they had seen Mulayam Singh Yadav or Mayawati in any village during the past five years. “I go to Bundelkhand but I have never seen them there. In 2007, you chased away Mulayam Singh and threw away his cycle and brought in the elephant. And now the magic elephant in Lucknow has eaten away all your money,” he said.   Referring to NDA’s India Shining slogan, Shri Gandhi said that half of the country did not understand this slogan. He said women and children are going without food, schools have no teachers. Which India is the BJP talking about?   He said that he had not come with promises but had come to change Uttar Pradesh. He said he would not move out of Uttar Pradesh unless the state started to change.   He informed the people that money for the Sharda canal had been sanctioned but added that the money would not reach the people because of the magical elephant. “I have done my work and you do yours.  Vote for the Congress and take your canal,” he said.

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

Rahul Gandhi criticizes Mulayam, Mayawati for neglecting Muslims

Posted on 29 January 2012 by admin

Shri Rahul Gandhi said on Saturday that Mulayam Singh Yadav and Mayawati had criticized the Congress decision to give 4.5 per cent sub quota to backward Muslims but both the leaders, themselves, had not done anything for Muslims.   “Mulayam Singh Yadav and Mayawati said that 4.5 per cent was less. Both have been chief ministers more than once — so what was stopping them from giving more reservation to Muslims. Now that congress has done it, they are criticizing us,’ he said.   Shri Gandhi, while addressing rallies in Unnao and Hardoi on Saturday, said that the Congress always made policies that were all-inclusive. “We want to include all sections in progress whereas these parties work for only 10 per cent of the population and exclude 90 per cent of the population which explains why UP has not made required progress in the past 22 years,” he said.
Shri Gandhi said that parties like Samajwadi Party, BJP and BSP change colors in every election.
“In 2009, SP had said that they were against the use of computers and English even though Mulayam Singh’s own son works on computers and talks in English. Now in their manifesto, the SP has decided to distribute free computers. This is election time and they will even agree to change the color of the sky if you want. The Congress does not believe in making scores of promises but we do promise that we will provide a government that works for common man,” he said.   Shri Gandhi further said that for 22 years , there had been a brake on development in UP because leaders come out during elections, give speeches, make promises and then shut their doors on the public after becoming chief minister.   He said that Mayawati and Mulayam Singh do not meet the common man to understand his problems. “They did not go to Bhatta Parsaul, they did not go Bundelkhand. They come to you only during elections and when I reach out to you, they ridicule me. But I will not stop meeting you because I learn a lot from you — something that I do not learn during meetings with top officials in Delhi. I learnt about   your problems from you and we launched MNREGA that gives you employment at your own home and the Food security bill that ensures that no one will go hungry,’ he said.   Shri Gandhi further said that SP, BSP were promising to change Uttar Pradesh but these parties had ruled UP for 22 years. You voted for the cycle and Mulayam Singh punctured your hopes, then you voted for the elephant and he ate up all your money.   Shri Gandhi said that centre had sent money to UP– money for MNREGA, NRHM, Bundelkhand package but none of it reached the people. “We sent Rs 10,000 crore for NRHM but two or three BSP ministers took it all and you do not have adequate medical care for your family,” he stated.   Addressing the women in the meeting, Shri Gandhi said that women work hard and make contribution towards the country’s progress but their voice is not heard. I will not budge from here until these women get a voice, until UP decides to progress and change.

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

मांगों को लेकर राज्य कर्मचारियों ने दिया धरना

Posted on 17 December 2011 by admin

राज्य कर्मचारी सयुंक्त परिषद के केन्द्रीय नेतृत्व द्वारा राज्य सरकार द्वारा केन्द्र से भत्तों की समानता पर फैसला लेने न लेने व 25 जनवरी 2009 का समझौता लागू न करने समेत अन्य मांगो का निराकरण न किये जाने, आश्वासनों की पूर्ति न होने जैसी मांगांे को प्रदेश सरकार द्वारा अनदेखा करने पर आन्दोलन की घोषणा  की है के क्रम में केन्द्रीय नेतृत्व द्वारा लिये गये निर्णय के अनुपालन में रा0क0स0प0जनपद शाखा उन्नाव के कार्यवाहक अध्यक्ष अरूण तिवारी व प्रान्तीय पर्यवेक्षक रमेश चन्द्र उपाध्याय की अध्यक्षता में एक दिवसीय धरना दिया गया।धरने का संचालन करते हुये परिषद के सयंुक्त मंत्री विजय नारायण तिवारी ने कहा कि कर्मचारियों की जायज मांगों का यदि जल्द से जल्द निस्तारण नहीं किया जाता है तो एस0पी0तिवारी के नेतृत्व मंें  12 जनवरी 2012 को महाधरना दिया जायेगा। धरने को सम्बोधित करते हुये प्रान्तीय पर्यवेक्षक रमेश चन्द्र उपाध्याय ने कहा कि कर्मचारी के हित में गुटबाजी छोडकर जब एक मंच पर संगठित होकर  कर्मचारी समुदाय आन्दोलन करेगा। तभी शासन व सरकार राज्य दैनिक वर्कचार्ज,  निकाय तथा अन्य संवर्गो की जायज मांगोें को मानने के लिये बाध्य होगी। अपने सम्बोधन में परिषद के कार्यवाहक अध्यक्ष अरूण तिवारी ने कहा कि राज्य सरकार में राज्य कर्मियों को वेतन तथा मंहगाई भत्ते में समानता प्रदान कर दी है। किन्तु अन्य भत्तों में समानता नहीं लागू किया है। भत्तों को लागू कराने हेतु राज्य दैनिक वर्कचार्ज निकाय तथा शिक्षक समाज के कर्मचारी गणों तथा अन्य संवर्ग के सभी कर्मियों को एकमंच आकर  लम्बी लडाई लडनी पडेगी। तभी सफलता मिलेगी। साथ ही यह भी बताया कि सरकार अपने मंत्रि गणों विधायकों तथा आईएएस अफसरों को पूर्ण सुविधा प्रदान  कर रही किन्तु कर्मचारियों की जायज मांगों को न मानकर हठधर्मिता का परिचय दे रही है। धरने की समाप्ति के उपरान्त राज्य दैनिक वर्कचार्ज, निकाय तथा अन्य संवर्गो की प्रमुख मांगों की पूर्ति हेतु प्रदेश की मुख्यमंत्री जी को ज्ञापन जिला अधिकारी महोदय के माध्यम से सौंपा गया।  आज के धरने में मुख्य रूप से लोक निर्माण विभाग स्वास्थ्य विभाग, आईटीआई, श्रमिक तथा राज्य, दैनिक वर्कचार्ज निकाय,. माध्यमिक शिक्षणेत्तर कर्मचारी संघ तथा अन्य संवर्ग के कर्मचारियों ने भाग लेते हुये रजनीश बाजपेयी, लाला राम, अनिल कुमार, शंकर अवस्थी, इन्द्र बहादुर सिंह, मोहम्मद इस्लाम, सुरेश आदि ने धरने को सम्बोधित किया।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

दलित युवती हुई दुष्कर्म का शिकार

Posted on 17 December 2011 by admin

समाचार लिखे जाने तक नहीं दर्ज हुयी रिपोर्ट
बांगरमऊ(उन्नाव),16 दिसम्बर। शौच क्रिया हेतु खेत पर गयी दलित युवती को गांव के ही एक युवक ने बन्धक बनाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। युवती के भाई को आता देख दुष्कर्मी फरार हो गया। घटना की रिपोर्ट लिखाने गयी युवती को पुलिस समझा कर मामले को टालने की जुगत में लगी हुयी है। कोतवाली क्षेत्र के ग्राम कुशराजपुर के मजरा बाजी पुरवा निवासी बुधई रैदास (परिवर्तित नाम)की 17 वर्षीया पुत्री मीनू  अपनी छोटी बहन 5 रीनू को शौच क्रिया हेतु गांव के बाहर ले गयी थी। रीनू को खेत में बैठाने के बाद वह खेत की मेढ पर खडी हो गयी। तभी गांव का ही विनोद पाल पुत्र भगवान दीन वहां आ धमका और मीनू के गले में पडी शाल को कस दिया तथा उसको शाल के सहारे घसीटते हुये पडोस में यूके लिप्टस की बगिया में ले गया। बगिया में पटक कर  उसके साथ दुष्कर्म करने लगा। इधर छोटी बहन रीनू जब निवृत्त हुयी तो उसने बडी बहन को नदारद पाया। वह दौडकर अपने घर गयी और मीनू के गायब होने की घटना अपने भाई भरोसे से बतायी। भरोसे दौडता हुआ खेत पर गया। भरोसे को आता देख विनोद भाग  खडा हुआ। विनोद को भागते देख उसे श्ंाका हुयी वह बगिया में गया बगिया में मीनू के कपडें अस्त व्यस्त थे भाई को देख वह फूटफूट कर रोने लगी और आप बीती बतायी। भरोसे अपनी बहन को लेकर घर चला आया और विनोद के घर जाकर विनोद को पूछा सिर्फ पूछने पर ही विनोद के परिजन उत्तेजित हो गये और उसे गाली गलौच करने लगे।भरोसे वहां से चला गया। आज प्रातः वह अपनी पीडित बहन को थाने लेकर आया और दुष्कर्मी के विरूद्ध घटना की रिपोर्ट लिखने की मांग की किन्तु थाना पुलिस ने उसे लोक लाज क वास्तादेकर समझाने का प्रयास किया लेकिन पीडिता का भाई रिपोर्ट दर्ज कराने पर अडा रहा। समाचार लिखे जाने तक घटना की रिपोर्ट दर्ज नहीे हो सकी थी। वहीं ग्रामीणों में चर्चा है कि विनोद और मीनू के बीच काफी अर्से से प्रेम प्रसंग चल रहा था। कल मीनू के भाई ने देख लिया तो बवाल खड़ा कर दिया।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

अब मिलेगा गरीबों को ज्यादा राषन

Posted on 24 November 2011 by admin

जनपद वासियों को नये साल में एक खुषखबरी है कि उन्हें सार्वजनिक वितरण प्रणाली के जिरए ज्यादा राषन मुहइया कराया जायेगा। जनपद में नये सर्वे का कार्य इन दिनों जोरों पर है। चार वर्श पूर्व केन्द्र सरकार द्वारा प्रदेष के कुछ जिलों का हाउसहोल्ड सर्वे कराया गया था उस सर्वे में उन्नाव सहित 21 जिलों के गरीबी रेखा के नीचे एवं गरीबी रेखा के आस-पास जीनेवालों की संख्या अधिक पायी गयी थी इसी के तहत केन्द्र सरकार इन जिलों को अतिरिक्त खाद्यान्न आवंटन की योजना बनाई थी। यह खाद्यान्न बांटे जाने के लिऐ जिले में तीन माह से सवे्र चल रहा है। जिले में लगभग 55000 गरीब परिवारों को चिन्हित भी कर लिया गया है। चिन्हन आगामी 15 दिसम्बर तक पूरे होने की उम्मीद है। इसी के क्रम में अपर जिलाधिकारी प्रमोदषंकर षुक्ल ने गत दिवस जिला आपूर्ति अधिकारी एस0पी0लवानी एवं सभी सोलह ब्लाकों के बी0डी0ओ0 के साथ एक मीटिंग की जिसमें अपर जिलाधिकारी ने जल्द से जल्द सर्वे का कार्य पूरा करने के आदेष अपने मातहतों को दिये। दूरभाश पर अपने जवाब में जिलापूर्ति अधिकारी ने बताया कि आगामी गुरूवार को लखनऊ में परिवारों के चिन्हाकन की रिपोर्ट देनी है इसलिए सभी विकास खण्डों से ग्रामसभावार पात्रों की सूची माँगी गयी है। उन्होनें यह भी बताया कि सभी 21 जिलों में गरीब परिवारेां के अनुपात में उक्त खाद्यान्न का वितरण कर दिया जायेगा।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

उ0प्र0 राज्य कर्मचारी महासंघ की हड़ताल अनवरत जारी

Posted on 21 November 2011 by admin

जनपद में दिनंाक 16.11.2011 से अनिष्चित कालीन हड़ताल की घोशणा से यह अनवरत जारी है जबकि अन्य घटलों द्वारा झूठे आष्वासन पर हड़ताल समापन की घोशणा की गयी है जिससे कर्मचारियों को भ्रम की बात कर्मचारियों में हो गयी है। यह जानकारी महासंघ के जिलाध्यक्ष उमेषच्रन्द्र साईबाबा ने दी उन्होनें पूर्व घोशित कार्यक्रम के तहत जिला मुख्यालय पर लगभग एक सैकड़ा कर्मचारियों के साथ विकासभवन एवं कलेक्टेªट पर धरना दिया और अपने साथी कर्मचारियों से चल रही अड़ताल में षामिल होने के लिए सभी कार्यालय के कर्मचारियों को काम बन्द करके एक साथ षामिल होने के लिए कहा हड़ताल अनवरत प्रान्तीय निर्देषन में जारी रहेगी, जबतक 22 सूत्री एजेंडे के क्रम में सकारात्मक परिणाम सरकार द्वारा घोशित कर षासनादेष जारी नहीं कया जाता। जिलाध्यक्ष ने अपने साथियों से यह भी कहा कि सभी लोग पूर्ण रूपसे गठन के प्रति समर्पितभाव से काम करें। राज्य कर्मचारी संघ में अी0आर0डी0 संघ, सफाई कर्मचारी संघ, चतुर्थ श्रेणी संघ, वाहन चालक संघ, आषा बहू संघ, बालविकास/आंगनबाड़ी संघ, नलकूपसंघ, मिनिस्ट्रियल एसोषियषन संघ, ग्रा0पं0वि0अ0संघ, सीचपाल संघ, मुंषी संघ, जिलेदार संघ, सहकारिता, पषुपालन, कृशि, भूमिसुधार, वन विभाग, उद्यान, समाज कल्याण, सांख्यिकी,कृशिरक्षा, ग्रामीण अभियंत्रण सेवा, लघु सिंचाई, पी0डब्लू0डी0 एवं षिक्षणेत्तर, व्यवसायिक षिक्षक, कम्प्यूटर आपरेटर, रोजगार सेवक, कोआर्डिनेटर, तकनीकी सहायक, षिक्षा मित्र, किसान मित्र, डी0आर0डी0ए0, विकास एवं दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी संघ आदि विभाग के कर्मचारीगण षामिल है।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

प्रदेश के विभाजन का शिगूफा शुद्ध रूप से चुनावी स्टंट है

Posted on 15 November 2011 by admin

जनस्वाभिमान यात्रा के नायक राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कलराज मिश्र ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा उत्तरashoha_me_kalraj_ji_3, हडबड़ी में लिया गया फैसला है। मुख्यमंत्री विभाजन की बात कर जनता को गुमराह करने की साजिश कर रही है। अपनी जिम्मेदारियों से बचने का रास्ता ढूढ रही हैं।
श्री मिश्र आज द्वितीय चरण की जन स्वाभिमान यात्रा के सातवें दिन असोहा सहित अन्य स्थानों की जनसभाओं में बोलते हुए कहा कि उ0प्र0 की बदहाल स्थिति के लिए मुख्यमंत्री पूर्णरूप जिम्मेदार है। बसपा का ब्राहमण सम्मेलन महज दिखावा है। ईमानदार ब्राहमण प्रशासनिक अधिकारियों का उत्पीड़न किया जा रहा है। सर्वणों को फर्जी एससी-एसटी एक्ट के मुकदमों में फंसाकर जा रहा है। चुनाव से डरी सहमी बसपा सरकार में जनता का सामना करने का नैतिक साहस नहीं रह गया है। लोक-लुभावन घोषणाएं एवं जातीय सम्मेलन करके अपने पक्ष में वातावरण बनाना में लगी है। जनता यह जानना चाहती है कि साढे़ चार वर्षों तक सत्ता में रहते हुए उसने इन वर्गो के हितों में कौन से कल्याणकारी कदम उठाये ।
उन्होंने कहा कि नेहरू की कर्मभूमि से राहुल का यह कहना है कि उ0प्र0 के लोग बाहर न जाये। उनका यह कहना देश के प्रान्त और भाषा के आधार पर विभाजन की मानसिकता का द्योतक है। जब उ0प्र0 के लोगों पर हमले हो रहे थे और महाराष्ट्र की कांग्रेस सरकार उसको रोकने मेें नाकाम थी। तब राहुल गांधी कहां थे और उनको गुस्सा क्यों नहीं आया ? कांग्रेस, बसपा नूरा-कुश्ती का खेल छोड़कर तथ्यात्मक स्थिति का सामना करे। केन्द्र और प्रदेश में बैठी इनकी सरकारें जनसमस्याओं के लिए जवाबदेह हैं। बयानबाजी के बजाय अपनी जवाबदेही सुनिश्चित करें और यह बतायें कि 20 करोड़ की आबादी वाले प्रदेश में लगभग 12 करोड़ लोग गरीबी की रेखा के नीचे कैसे पहुंच गये।
श्री मिश्र ने कहा कि सपा-बसपा-कांग्रेस का प्रेम समझ से परे है कि एक-दूसरे से लड़ते है और समर्थन भी करते हैंै। कल सपा कार्यकर्ताओं को कांग्रेसियों ने जमकर पीटा फिर भी सपा का कांग्रेस को समर्थन जारी है। बसपा को राहुल के उ0प्र0 के दौरे से नाराजगी है फिर भी केन्द्र में समर्थन जारी है। इनमें इतना नैतिक साहस नही है कि समर्थन वापस ले सकंे। क्या राहुल गांधी उ0प्र0 के लोगों को बसपा के कुशासन से निजात दिलाने के लिए बिना शर्त दिया समर्थन वापस लेंगे अथवा बसपा, कांग्रेस को केन्द्र में दिये गये समर्थन की चिट्ठी वापस लेगी?
ashoha_me_kalraj_ji_1उन्होंने कहा कि चाल-चरित्र के मामले में कांग्रेस और बसपा में कोई फर्क नहीं है। जहां दोनों दलों में लोकतंत्र नहीं है वहीं दोनों के मंत्री भ्रष्टाचार और बलात्कार के मामले में हटाये जा रहे हैं। उ0प्र0 के मंत्री आय से अधिक सम्पत्ति के मामले मेें मुख्यमंत्री का अनुशरण करने की होड़ में लगे हुए हैं और आय से अधिक मामले में लोकायुक्त की जांच के दायरे में आ रहे हैं। यह दर्शाता है कि पिछले साढे़ चार वर्षों में अगर विकास हुआ है तो केवल बसपा के मंत्रियों और नेताओं का। साढ़े चार वर्ष के बसपा के शासन में किसान बदहाल है, किसानों को डीएपी नही मिल रही है। वृद्धावस्था, विकलांग पेंशन में सरेआम धाधंली की जा रही है। जनकल्याणकारी योजनाएं भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गई है। मनरेगा के नाम पर फर्जी जाॅब कार्ड बनाकर प्रशासनिक अधिकारी लूट मचाये हुए है। मनरेगा के मामले में केन्द्र व राज्य सरकार के अधिकारियों के संलिप्तता के संदर्भ में सीबीआई जांच की जाए। उन्होंने कहा कि महिला मुख्यमंत्री के राज्य में महिलाओं की आबरू सरेआम लूटी जा रही है कोई भी सुरक्षित नहीं है। कानून व्यवस्था जर्जर है।
उन्होंने कहा कि उन्नाव से मेरा पुराना नाता है। उन्नाववासियों का सौभाग्य है कि यहाँ पर हृदयनारायण दीक्षित जैसे कुशल राजनीतिज्ञ एवं साहित्यकार रहते है। कमजोर दलित वर्ग के लिए लगातार संघर्ष करते है। श्री मिश्र ने कहा कि अब सत्ता परिवर्तन का समय आ गया है। बसपा के कुशासन का अन्त करने के लिए जनता निकल पड़ी है। जनस्वाभिमान यात्रा में जगह-जगह पर भारी जनसैलाब का इक्ट्ठा होना सत्ता परिवर्तन का आगाज है। उन्हांेने कहा कि सपा-बसपा के कुशासन के कारण ही प्रदेश बदहाल हुआ है। उन्होंने घोषणा की जब भाजपा सत्ता में आयेगी तो उ0प्र0 अव्वल प्रदेश बनेगा। बेरोजगारों को रोजगार मिलेगा, कानून का शासन होगा।
राष्ट्रीय प्रवक्ता रामनाथ कोविद ने कहा कि मायावती के कुशासन से आम जनता में आक्रोश है। सत्ता परिवर्तन होने वाला है। बसपा के राज में दलितों का उत्पीड़न हुआ है, दलितों उत्पीड़़न के आंकड़ो में रिकार्ड तोड़ वृद्धि हुई है। मुख्यमंत्री का दलित प्रेम मात्र दिखावा है। पुलिस उत्पीड़न की घटनाओं में लगातार वृद्धि हुई है। उ0प्र0 पुलिस उत्पीड़न के लगभग 35ः मामले बढ़े हैं। पुलिस एक तरफ सिटीजन चार्टर लागू करती है दूसरी तरफ लाश लेकर भागती है। उ0प्र0 में 30ः शिकायतें पुलिस द्वारा मनावधिकार के उलंघन के खिलाफ दर्ज हुए हैं।
प्रदेश प्रवक्ता हृदयनारायण दीक्षित ने कहा कि प्रदेश में गुड़ाराज है। प्रशासनिक अधिकारी भ्रष्टाचार में लिप्त है। कलराज जी के नेतृत्व में चल रही जनस्वाभिमान यात्रा ने अलख जगायी है। उन्होंने जनता से आवाहन किया कि बसपा के कुशासन को उखाड़ फेकने के लिए भाजपा को जिताएं।
कार्यक्रम में प्रदेश उपाध्यक्ष शिवप्रताप शुक्ल स्वतंत्र देव सिंह, अनुसूचित मोर्चा के राष्ट्रीय महामंत्री दिवाकर सेठ, क्षेत्रीय अध्यक्ष सुभाष त्रिपाठी, प्रदेश प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक, प्रदेश मंत्री अनुपमा जायसवाल, पूर्णिमा वर्मा, जिलाध्यक्ष विपिन गुप्ता, गिरिजा श्ंाकर गुप्ता, दिनेश दुबे, अतुल दीक्षित, दिलीप श्रीवास्तव, संजय शुक्ल, अमरनाथ लोधी सरोज सिंह, गंगा प्रसाद वर्मा, आदि लोग उपस्थिति थे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

द्वितीय चरण की जनस्वाभिमान यात्रा के नायक श्री कलराज मिश्र की उन्नाव में हुई प्रेसवार्ता के मुख्य अंश

Posted on 15 November 2011 by admin

navabganj_me_kalraj_mishra_2ऽ    नेहरू की कर्मभूमि से राहुल का यह कहना है कि उ0प्र0 के लोग बाहर न जाये। यह देश के प्रान्त और भाषा के आधार पर विभाजन की मानसिकता का द्योतक है। जब उ0प्र0 के लोगों पर हमले हो रहे थे और महाराष्ट्र की कांग्रेस सरकार उसको रोकने मेें नाकाम थी। तब राहुल गांधी कहां थे और उनको गुस्सा क्यों नहीं आया ?
ऽ    केन्द्र की सरकार भ्रष्टाचार के आरोपों में, बसपा सरकार भ्रष्टाचार के आरोपों में, सपा पर भी आरोप रहे। सपा, बसपा के प्रमुखों पर आय से अधिक सम्पत्ति की जांच जारी है। केवल भाजपा ही भ्रष्टाचार के विरूद्ध लड़ाई लड़ रही है। भाजपा ने भ्रष्टाचार को मुद्दा पिछले लोकसभा चुनाव में ही बनाया था।
ऽ    कांग्रेस, बसपा नूरा-कुश्ती का खेल छोड़कर तथ्यात्मक स्थिति का सामना करे। केन्द्र और प्रदेश में बैठी इनकी सरकारें जनसमस्याओं के लिए जवाबदेह हैं। बयानबाजी के बजाय अपनी जवाबदेही सुनिश्चित करें और यह बतायें कि 20 करोड़ की आबादी वाले प्रदेश में लगभग 12 करोड़ लोग गरीबी की रेखा के नीचे कैसे पहुंच गये।
ऽ    बसपा, कांग्रेस दोनो रणनीति के तहत एक दूसरे को ताकत दे रहे हैं। कांग्रेस चाहती है कि जिस तरह से केन्द्र की सरकार को बसपा ने समर्थन दिया है उसी तरह वह उ0प्र0 में बसपा का भी समर्थन करे।
ऽ    एक छोटे से कालखण्ड को छोड़कर केन्द्र और प्रदेश की सत्ता में कांगे्रस परोक्ष अथवा अपरोक्षरूप से बनी हुई है। उ0प्र0 की बदहाल स्थिति के लिए जिम्मेदारी भी उसकी ही बनती है। कांग्रेस यह बताये कि उ0प्र0 के बेरोजगार नौजवानों के रोजगार के लिए विगत सात वर्षों में केन्द्र सरकार ने कौन सा नया उद्योग लगाया और कौन सा नया पैकेज दिया। मूलभूत सुविधाओं के विकास के लिए कौन से कदम उठाये।
ऽ    विकास की दौड़ में लगातार पिछड़ रहे उ0प्र0 की तस्वीर अत्यन्त ही भयावह है। उ0प्र0 पांच प्रमुख गरीब प्रान्तों में से एक है। जी0डी0पी0 के मामले 27 राज्यों में 26वां स्थान है। देश के सर्वश्रेष्ठ अस्पातालों में से एक भी उ0प्र0 का नहीं है तथा किसी भी सर्वश्रेष्ठ निजी बैंक का मुख्यालय उ0प्र0 में नहीं है।GDP Per Capita Per Year  के मामले में उन्तीस राज्यों में 28वां स्थान है।
ऽ    चाल-चरित्र के मामले में कांग्रेस और बसपा में कोई फर्क नहीं है। जहां दोनों दलों में लोकतंत्र नहीं है वहीं दोनों के मंत्री भ्रष्टाचार और बलात्कार के मामले में हटाये जा रहे हैं। उ0प्र0 के मंत्री आय से अधिक सम्पत्ति के मामले मेें मुख्यमंत्री का अनुशरण करने की होड़ में लगे हुए हैं और आय से अधिक मामले में लोकायुक्त की जांच के दायरे में आ रहे हैं। यह दर्शाता है कि पिछले साढे़ चार वर्षों में अगर विकास हुआ है तो केवल बसपा के मंत्रियों और नेताओं का।
ऽ    चुनाव से डरी सहमी बसपा सरकार में जनता का सामना करने का नैतिक साहस नहीं रह गया है। सरकार ने नगर निकाय चुनाव जानबूझ कर टालने की साजिस की इसलिए लोक-लुभावन घोषणाएं एवं जातीय सम्मेलन करके अपने पक्ष में वातावरण बनाना चाहती हैं। जबकि साढे़ चार वर्षों तक सत्ता में रहते हुए उसने इनके हित में कौन से कल्याणकारी कदम उठाये जनता यह जानना चाहती है।
ऽ    पुलिस उत्पीड़न की घटनाओं में लगातार वृद्धि हुई है। उ0प्र0 पुलिस उत्पीड़न के लगभग 35ः मामले बढ़े हैं। पुलिस एक तरफ सिटीजन चार्टर लागू करती है दूसरी तरफ लाश लेकर भागती है। उ0प्र0 में 30ः शिकायतें पुलिस द्वारा मनावधिकार के उलंघन के खिलाफ दर्ज हुए हैं।
ऽ    सपा, बसपा कांग्रेस का यह प्रेम समझ से परे है कि एक-दूसरे से लड़ते है और समर्थन भी करते हैंै। कल सपा कार्यकर्ताओं को कांग्रेसियों ने जमकर पीटा फिर भी सपा का कांग्रेस को समर्थन जारी है। बसपा को राहुल के उ0प्र0 के दौरे से नाराजगी है फिर भी केन्द्र में समर्थन जारी है। इनमें इतना नैतिक साहस नही है कि समर्थन वापस ले सकंे। क्या राहुल गांधी उ0प्र0 के लोगों को बसपा के कुशासन से निजात दिलाने के लिए बिना शर्त दिया समर्थन वापस लेंगे अथवा बसपा, कांग्रेस को केन्द्र में दिये गये समर्थन की चिट्ठी वापस लेगी?
ऽ    भारतीय जनता पार्टी ही अकेली पार्टी है जो जनता की लड़ाई सड़क से लेकर सदन तक लड़ रही है और जनता के समर्थन से बदलाव करके ही दम लेगी।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

राहुल गांधी व मायावती मिलकर उ0प्र0 में नूरा-कुश्ती का खेल-खेल रहें हैं।

Posted on 15 November 2011 by admin

भारतीय जनता पार्टी के राष्टीय उपाध्यक्ष एवं जन स्वाभिमान यात्रा के नायक कलराज मिश्र ने कहा कि राहुल गांधी व मायावती मिलकर उ0प्र0 में नूरा-कुश्ती का खेल-खेल रहें हैं। दोनों अपने सार्वजनिक कार्यक्रमों में एक-दूसरे पर टिप्पणी कर अपनी-अपनी जिम्मेंदारियों से जनता का ध्यान हटाना चाहते हैं। मायावती को अहंकारी मुख्यमंत्री की संज्ञा देते हुए कहा कि चुनाव नजदीक देख विभिन्न वर्गों के लिए लोक लुभावन बातें कही जा रही हैं।
389929_182149185206379_100503366704295_378353_456759377_nश्री मिश्र ने आज द्वितीय चरण की जनस्वाभिमान यात्रा के छठे दिन विभिन्न सभाआंे में बोलते हुए कहा कि ब्राह्मणों को लुभाने का नाटक किया जा रहा है। यह वर्ग बसपा का असली चेहरा देख चुका है। एस0सी0, एस0टी ऐक्ट के दुरूपयोग से सभी वाकिफ हैं। अभी एक ताजा प्रकरण हुआ। एक ईमानदार पुलिस अधिकारी को मुंह खोलने पर पागल करार दे दिया गया। डी0डी0 मिश्रा का सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि जिस तरह का व्यवहार उनके साथ हुआ वह निन्दनीय है। बसपा शासन में जिस तरह के व्यवहार ब्राह्मणों के साथ हुए हैं उसमें तो ब्राह्मणों को इनका बहिष्कार तक कर देना चाहिए। ्मुख्यमंत्री ने कल अपनी सभा में जिस तरह से दूसरे दलों के मुख्यमंत्रियों की घोषणा की उसपर कहा कि यह बयान दो वर्गों को आपस में लड़ाने के लिए दिया गया है।
उन्होंने कहा कि उ0प्र0 में कांग्रेस अपना जनाधार बनाने में लगी है। कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी ने बिहार में भी बड़ी सक्रियता दिखाई थी। पर जब परिणाम आये तो सभी वाकिफ हैं कि क्या हुआ। उ0प्र0 में बसपा, कांग्रेस जनसमस्याओं से ध्यान हटाने के लिए वाक युद्ध से नूरा-कुश्ती का खेल-खेल रहे हैं। आमजन की समस्याओं के लिए जवाबदेह केन्द्र और प्रदेश सरकारें जन समस्याओं के सवाल पर कटघरे में है। किसान डी0ए0पी0 के लिए मारा-मारा फिर रहा है। केन्द्र कहता है हमने खाद भेजी। प्रदेश सरकार बिचैलियों की संरक्षण की नीति के चलते खाद उपलब्ध नहीं करा पा रही है। प्रदेश भर में बुआई का सीेजन चल रहा है डी0ए0पी0 जर्बदस्त संकट है। पूरे प्रदेश की ऐसी हालत हो गई है जो बर्दाश्त के बाहर है।
374174_182149325206365_100503366704295_378355_781303635_nश्री मिश्र ने सपा, बसपा दोनों को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि मंहगाई के सवाल पर कांग्रेस के साथ यह दल भी दोषी हैं। दिल्ली में दोस्ती और उ0प्र0 मे दुश्मनी का खेल चल रहा हैे। प्रदेश की बदहाली के लिए भी तीनों दल कटघरेे में है। लोकतंत्र की निचली ईकाई ;स्थानीय निकाय द्ध का चुनाव सरकार चाहती तो हो जाता पर जनाक्रोश से डरी सहमी यह सरकार विधानसभा चुनाव से पहले किसी तरह का खतरा मोल नहीं लेना चाहती। इसलिए लगातार यह कोशिश होती रही कि राजनीतिक दलों के सिम्बल पर चुनाव न हो। सरकार का यह कृत्य लोकतंत्र विरोधी है। चुने हुए जनप्रतिनिधियों को हटाकर प्रशासक बैठाना अलोकतांत्रिक कदम है। स्थानीय निकाय का चुनाव जल्दी से जल्दी से करायें जाए।
श्री मिश्र के साथ प्रदेश उपाध्यक्ष शिवप्रताप शुक्ला, स्वतंत्र देव सिंह, पार्टी प्रवक्ता हृदयनरायण दीक्षित, विजय बहादुर पाठक, प्रदेश मंत्री निरंजन ज्योति, पूर्णिमा वर्मा, अनुपमा जायसवाल, किसान मोर्चा व महिला मोर्चा की महामंत्री क्रमशः दिनेश दुबे व कमलावती सिंह, पूर्व सांसद गंगाबख्श सिंह, जिलाध्यक्ष राजीव रंजन मिश्र आदि लोग मौजूद थेे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

रजिस्ट्री कार्यालय में गड़बड़ी रोकने की उठी मांग

Posted on 15 November 2011 by admin

स्थानीय उप रजिस्ट्रार कार्यालय में व्याप्त भश्टाचार को लेकर कृशि हेतु भूमि का क्रय करना या मकान हेतु प्लाट का बैनामा कराना दुष्कर बना हुआ है। सरकारी रसीद के साथ उतनी ही धन राषि की अवैध वसूली किसी से छुपी नही है। सब कुछ जानकर भी आला अधिकारियों ने मौन साध रखा है। कार्यालय दलालों एवं तिकड़म बाजों की पौ बारह हो रही है। बैनामे में चपरासी से लेकर अधिकारी तक का प्रतिशत बंधा है। कांग्रेस के जिला महासचिव रमेष चन्द्र गुप्त ने जिलाधिकारी उक्त धंाधली अविलम्ब रोकने की गुहार लगाते हुये चेतावनी दी है। कि अधिकारियों द्वारा इस मुददे पर ध्यान न दिये जाने पर आन्दोलन की रूपरेखा कांग्रेस जन बना सकते है। मालूम हो कि तहसील मुख्यालय स्थित उप निबन्धक कार्यालय स्थित है जहां उप रजिस्ट्रार सहित तीन लिपिक व चपरासियों का फौज फाटा है। प्रदेष में बसपा सरकार भश्टाचार प्रषासन देने को जहां संकल्प दोहराती है। वहीं इस विभाग के कारिन्दे भ्रश्टाचार के आकण्ड में डूबकर उसकी छवि में कालिख पोतने का काम कर रहे है। आश्चर्य जनक यह भी पहलू यह है कि यहां दस से बीस वर्शो के अन्तराल से जमे बाबू अवैध वसूली के इस उपनिबन्धक कार्यालय से हटने का मोह नहीं त्याग पा रहे है। भ्रश्टाचार की यह पराकाश्ठा ही कही जायेगी कि जहां बाबू वर्ग देर रात्रि तक कार्यालय खोलकर काम निपटाते है। इस कार्यालय खुलने का समय मनमाना है। लिपिक वर्ग तकरीबन ग्यारह बजे आमद करा देता है। वहीं अधिकारी अपरान्ह आकर अपनी  दबंग षैली का अनुभव षासन को करा रहे है। जिला सचिव उपनिबन्धक कार्यालय में व्याप्त भ्रश्टाचार पर अंकुश नहीं लगा तो कांग्रेस जन इस मुद्दे पर आन्दोलन की रूपरेखा बना सकते है। सूत्रों की अगर मानें तो जनपद के मुख्यालय से लगाकर सभी सबरजिस्टारों के कार्यालय में दोहरी वसूली चलती है जिसमें डीड राइटर एवं अधिवक्ताओं का भी खुला हिस्सा रहता है ऐसा न करने पर स्टाम्प कमी एवं अन्य कमियां दिखाकर मुकदमा करने की खुली घुड़की दी जाती है।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

November 2017
M T W T F S S
« Oct    
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930  
-->









 Type in