*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | Companies

आइडिया ने 3G मनोरंजन को भारत में जनसंख्या नियंत्रण के लिए प्रयोग करने का सुझाव दिया

Posted on 27 July 2011 by admin

क्या आपके साथ ऐसा नहीं हुआ की रोमांचक वनडे क्रिकेट मैच या मजेदार टीवी धारावाहिक के बीच में बिजली चली गई और आपका मूड खराब हो गया, नतीजतन आप मनोरंजन का कोई और साधन खोजने लगे? हमारे देश में ऐसे कितने ही सामान्य परिवार हैं जिनके जीवन में मनोरंजन की कमी की वजह पति पत्नी बिना योजना के परिवार का विस्तार कर बैठते हैं और देश की आबादी में बढ़ोतरी कर देते हैं।

ब्रांड आइडिया ने इस समस्या का एक सरल व असरदार हल सुझाया है और वह है आइडिया 3ळ सेवाओं के साथ बाधारहित और नाॅन-स्टाॅप मनोरंजन। आइडिया का नई ब्रांड कैम्पेन एक बार फिर सामाजिक विषय पर आधारित है जो देश में बढ़ती जनसंख्या की चुनौती को सामने रखते हुए उसका एक सरल टेलीफोनी हल सुझाता है।

टेलीविज़न पर आइडिया के नए विज्ञापन में दिखाया जाता है कि ब्रांड ऐम्बैसडर अभिषेक बच्चन अपने एक दोस्त को समझा रहे हैं कि देश में अधिक जनसंख्या का मूल कारण लोगों के पास मनोरंजन के साधन उपलब्ध न होना है। वह बताते हैं कि आइडिया 3ळ और उसके कई ऐप्लीकेशन जैसे कि मोबाइल टीवी, गेमिंग, वीडियो काॅलिंग, सोशल नैटवर्किंग; सुपर फास्ट इंटरनैट पर नाॅन-स्टाॅप मनोरंजन प्रस्तुत करते हैं और लोगों को कनैक्ट रखने व उनका मन बहलाने में मददगार साबित होते हैं।

इस विज्ञापन में यह संदेश दिया जाता है कि ’नो आबादी, नो बरबादी’ क्योंकि लोग रहेंगे ’3ळ पे बिज़ी’। इस विज्ञापन का मूड हल्का-फुल्का और मजेदार है, किंतु फिर भी यह व्यापक स्तर पर दर्शकों से जुड़ता है; क्योंकि इसमें देश के विभिन्न भागों के लोगों को शामिल किया गया है जो एक साथ इस बात पर सहमति जताते हैं कि उनके मनोरंजन का एकमात्र साधन. टीवी. बिजली गुल होने पर बंद हो जाता है।

आइडिया सेल्युलर के चीफ मार्केटिंग आॅफिसर श्री शशि शंकर के अनुसार, ’’आइडिया के विज्ञापनों ने हमेशा बेहतरीन विचारों को दर्शाया है जिनमें समाज और हमारे जीने के तरीके को बदलने की शक्ति है। इस बार आइडिया ने 3ळ को आधार बनाया है जिसमें मनोरंजन करने की बेहद मजबूत क्षमता है और यह विचार व्यापक तौर पर लोगों को सही लगेगा, एक ऐसे मुद्दे पर जो देश के लिए चिंता का विषय है। दूसरी ओर यह विज्ञापन आइडिया के कुछ 3ळ आधारित मोबाइल ऐप्लीकेशंस को भी प्रचारित करेगा। इस कैम्पेन को प्रोमोट करने और जागरुकता फैलाने के लिए हमने संचार के सभी माध्यमों का इस्तेमाल करने की योजना बनाई है।’’

यह नया विज्ञापन आइडिया की लंबे समय से चली आ रही विज्ञापन श्रृंखला में एक नया जुड़ाव है जिसका संवाद ’वट् ऐन आइडिया, सरजी!’ बेहद मशहूर हो चुका है। इससे पहले ब्रांड आइडिया ऐसे कई विज्ञापन पेश कर चुका है जिनमें सरल टेलीफोनी सामधान के जरिए समाज के अहम मुद्दों को हल करने का संदेश दिया गया है, जैसेः ’जातिवाद’, ’सबके लिए शिक्षा’, ’लोकतंत्र’, ’वाॅक वैन यू टाॅक’, ’यूज़ मोबाइल, सेव पेपर’ और ’ब्रेक द लैंग्वेज बैरियर’।

यह नया विज्ञापन आइडिया की विज्ञापन एजेंसी लोवे द्वारा तैयार किया गया है।

आइडिया सेल्युलर लिमिटेड
आइडिया सेल्युलर भारत की तीसरी सबसे बड़ी मोबाइल आॅपरेटर कंपनी है जिसके 95 मीलियन से अधिक ग्राहक हैं। आइडिया नैटवर्क का ट्रैफिक एक बीलियन मिनट्स प्रति दिन है और इसका शुमार दुनिया के शीर्ष 10 आॅपरेटरों में होता है। आधुनिक तकनीक का प्रयोग करते हुए आइडिया उपभोक्ता स्पर्श बिंदुओं के सबसे व्यापक नैटवर्क के जरिए विश्व स्तरीय सेवाएं उपलब्ध कराती है। आइडिया नैशनल स्टाॅक ऐक्सचेंज (NSE) और बाॅम्बे स्टाॅक ऐक्सचेंज (BSE) में सूचीबद्ध है।
आइडिया सेल्युलर, सही मायनों में भारत के प्रथम बहुराष्ट्रीय निगम माने जाने वाले आदित्य बिड़ला समूह की एक कंपनी है। यह समूह दुनिया के 33 देशों में कार्यरत है और इसके लिए 42 राष्ट्रीयताओं वाले 132ए000 से अधिक कर्मचारी कार्य करते हैं। कंपनी के बारे में अधिक जानकारी के लिए देखेंः www.ideacellular.com और समूह के बारे में जानकारी के लिए देखेंः www.adityabirla.com

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

एचडीएफसी बैंक लिमिटेड-वित्तीय परिणाम (भारतीय जीएएपी), अप्रैल-जून 2011

Posted on 20 July 2011 by admin

paresh-sukhtankar1एचडीएफसी बैंक लिमिटेड के निदेशकांें के बोर्ड ने 19 जुलाई, 2011 को मुम्बई में आयोजित अपनी बैठक में बैंक के (भारतीय जीएएपी) लेखा को 30 जून, 2011 को समाप्त तिमाही के लिये अनुमोदित कर दिया है। हालांकि इन वित्तीय परिणामों को बैंक के अंकेक्षकों द्वारा अनुमोदन प्राप्त होना बाकी है।

वित्तीय परिणामः
लाभ तथा हानि का लेखाः 30 जून, 2011 को समाप्त तिमाही के लिए 30 जून, 2011 को समाप्त तिमाही के लिए बंैंक ने 7,098.0 करोड़ रूपये की कुल आमदनी अर्जित की, जबकि बीते वित्त वर्ष की समान अवधि में बैंक को 5,410.6 करोड़ रूपये की आमदनी हुई थी। इस मद में 31.2 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है। 30 जून, 2011 को समाप्त तिमाही में शुद्ध राजस्व (शुद्ध ब्याज आय में अन्य आय जोड़कर) 3,968.0 करोड़ रूपये रहा जबकि पिछले वर्ष की समान अवधि में बैंक को 3,391.6 करोड़ रूपये का शुद्ध राजस्व प्राप्त हुआ था।  30 जून 2011 को समाप्त तिमाही में शुद्ध ब्याज आय (अर्जित ब्याज में से विस्तारित ब्याज को घटाकर) में 18.6 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई और यह 2,848.0 करोड़ रूपये रहा। संपत्ति में वृद्धि के अनुपात में शुद्ध ब्याज मार्जिन 4.2 प्रतिशत रहा।

अन्य आय (गैर ब्याज आय) जो कि 30 जून, 2011 को समाप्त तिमाही में 1,120.0 करोड़ रूपये रहा। आलोच्य तिमाही में अन्य आय के मद में सबसे ज्यादा योगदान फीस और कमीशन का रहा जो पिछले साल की समान तिमाही से 15.9 फीसदी बढ़कर 922.7 करोड़ रूपये रहा जबकि बीते वर्ष की पहली तिमाही में यह 796.3 करोड़ रूपये था। अन्य आय के अन्य दो प्रमुख तत्व रहे विदेशी मुद्रा विनिमय/डेरिवेटिव रेवेन्यूज, जो कि 230.1 करोड़ रूपये (30 जून 2010 को समाप्त तिमाही की तुलना में 33.9 फीसदी अधिक; उक्त तिमाही में इस मद में 171.8 करोड़ रूपये की आय हुई थी)। निवेशों के पुनर्मूल्यांकन/बिक्री से लाभ/(हानि) में गिरावट दर्ज की गई और यह 41.3 करोड़ रूपये रही जबकि बीते वर्ष की समान अवधि में इस मद में 21.5 करोड़ रूपये की आय हुई थी। 30 जून 2011 को समाप्त तिमाही में परिचालन खर्च में 17.8 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई और यह 1,934.6 करोड़ रूपये रहा। आमदनी की तुलना में खर्च का अनुपात 48.3 प्रतिशत रहा, जबकि जून 2010 के अंत में यह 48.7 प्रतिशत था। संपत्ति की गुणवत्ता में वृद्धि, प्रावधानों एवं आपातकालीन परिस्थितियों के लिये किया गया प्रावधान पिछले वर्ष 30 जून 2010 के 555.0 करोड़ रूपये से घटकर 30 जून 2011 को 443.7 करोड़ रूपये रहा। 30 जून 2011 को समाप्त तिमाही में एचडीएफसी बैंक को हुये कर पश्चात लाभ में 30 जून 2010 को समाप्त तिमाही की तुलना में 33.2 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है और यह 1,589.7 करोड़ रूपये रहा। कर के मद में 504.7 करोड़ रुपये का प्रावधान करने के बाद बैंक को 1,085.0 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ है। 30 जून 2010 को समाप्त तिमाही की तुलना में इसमें 33.7 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है।

30 जून 2011 को बैलेंस शीटः
बैंक के बैंलेंस शीट के आकार में 22.6 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई और 30 जून 2011 को यह 285,942 करोड़ रूपये रहा। बैंक द्वारा प्रदत्त सकल अग्रिम 176,964 करोड़ रूपये के स्तर पर पहुंच गया-वर्ष-दर-वर्ष के आधार पर इसमें 29.1 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है। 30 जून 2010 को लंबित अग्रिम को एक ही बार में एडजस्ट किया गया और तिमाही-दर-तिमाही के आधार पर 31 मार्च 2011 की तुलना में इसमें 9.7 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है। जून 2010 की तुलना में खुदरा ऋण में 28.6 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है और यह 83,863 करोड़ रूपये रहा। कुल जमा राशियां भी 28,118 करोड़ रूपये से बढ़कर 211,151 करोड़ रूपये पहुंच गई हैं। आलोच्य तिमाही में बैंक ने अपर टायर 2 बाॅण्ड जारी कर 3,650 करोड़ रूपये की टायर 2 पूंजी जुटाई है। बचत खाता जमा 64,785 करोड़ रूपये रहा तथा चालू खाता जमा 38,811 करोड़ रूपये रहा। 30 जून 2011 को सीएएसए मिक्स 49.1 प्रतिशत रहा।

पूंजी पर्याप्तता
30 जून 2011 को बैंक का सीएआर (बेसल 2 की गणना के आधार पर) 16.9 फीसदी रहा। वैधानिक रूप से इसे कम से कम 9 प्रतिशत होना चाहिये। टायर-1सीएआर 30 जून 2011 को 11.4 फीसदी रहा।

नेटवर्क:
30 जून 2011 को समाप्त तिमाही में बैंक ने 125 नये शाखा कार्यालयों की स्थापना की। इस प्रकार बैंक के नेटवर्क में 1,111 शहरों में शाखा कार्यालयों की संख्या बढ़कर 2,111 तथा 5,998 एटीएम हो गये हैं। 30 जून 2010 को 780 शहरों में 1725 शाखा कार्यालय तथा 4,393 एटीएम थे।

संपत्ति की गुणवत्ता:
30 जून 2011 को बैंक की संपत्ति की गुणवत्तीय स्थिति काफी सुदृढ़ थी। सकल गैर निष्पादित संपत्तियों का स्तर 1.04 प्रतिशत था। शुद्ध अग्रिम के आधार पर गैर निष्पादित संपत्तियां 0.18 प्रतिशत थीं। (30 जून 2010 को सकल एनपीए 1.21 प्रतिशत तथा शुद्ध एनपीए 0.28 प्रतिशत था)। बैंक का ऋण घाटा प्रावधान का तरीका वैधानिक मानदंडों की तुलना में काफी उच्च है। 30 जून 2011 को एनपीए प्रोविजन कवरेज रेशियो (कर्ज माफी, तकनीकी एवं अन्य कारणों से) 83 प्रतिशत रहा। 30 जून 2011 को बैंक की सकल पुनगर्ठित संपत्ति बैंक द्वारा प्रदत्त सकल अग्रिम का 0.4 प्रतिशत था। स्टैंडर्ड एसेट्स के आधार पर बैंक द्वारा प्रदत्त सकल अग्रिम का 0.2 प्रतिशत था।

बैंक के इक्विटी शेयरों का विभाजन:
बैंक द्वारा 6 जुलाई 2011 को आयोजित आम सभा में शेयर धारकों ने शेयरों को विभाजित करने की अनुमति प्रदान कर दी। पहले बैंक के प्रत्येक शेयर का मूल्य प्रति शेयर 10 रूपये था। अब इसे पांच टुकड़ों में विभाजित कर दिया गया है और प्रत्येक शेयर का मूल्य अब 2 रूपये हो गया है। इसकी रिकाॅर्ड तिथि 16 जुलाई 2011 थी।

इस प्रकाशन सामग्री में जितनी सूचनाएं दी गई हैं एवं जिन सूचनाओं से भविष्य के अनुमान का आभास होता है, जोखिमपूर्ण एवं अनिश्चित है। वास्तविक परिणाम संभावित परिणाम से भिन्न हो सकता है। जोखिम एवं अनिश्चितताओं पर नियंत्रण नहीं होने के कारण भविष्य की योजनाओं पर भी असर पड़ सकता है। भविष्य के अनुत्पादक ऋण, विकास प्रक्रिया एवं व्यवसायिक विस्तार, तकनीक में परिवर्तन, बैंकिंग सेवाओं की मांग, निवेश से होने वाली आय आदि अनुमानों पर आधारित हैं।

इसके अतिरिक्त और भी कई ऐसे कारक हो सकते हैं जो बैंक के क्रियाकलापों को प्रभावित कर सकते हैं और उसके कार्य परिणामों पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकते हैं। इनमें भारत की राजनीतिक और आर्थिक स्थिति का प्रभाव पड़ सकता है एवं दूसरे देशों में होने वाली गतिविधियां भी इसे प्रभावित कर सकती हैं। भारत सरकार की मौद्रिक एवं ब्याज नीति, मुद्रास्फीति, ब्याज दरों में होने वाले उतार-चढ़ाव, भारत एवं विश्व स्तर पर वित्तीय बाजारों का क्रियाकलाप, भारत एवं दूसरे देशों में हुये कानूनी बदलाव जिसमें कर संबंधी नीतियां, बैंकिंग नियम आदि, का प्रभाव भी पड़ सकता है।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

सोनी ने वित्त वर्श 2011 में वायो की बिक्री दोगुनी करने की योजना बनायी

Posted on 19 July 2011 by admin

वित्त वर्श 2011 में 5 लाख यूनिटें बेचने का लक्ष्य, पिछले वर्श की तुलना में  2.5 लाख की बढ़ोतरी
ऽ    वायो  ैएब्ए म् - ल् सीरीज़ करेगी अलग-अलग किस्म की लाइफस्टाइल जरूरतें पूरी
ऽ    वित्त वर्श 2011 में वितरण आउटलेट्स को बढ़ाकर 1500 और वायो फ्लैगषिप स्टोर्स की संख्या 50 तक करने की योजना
ऽ    करीना कपूर के साथ ’मोर कलर। मोर स्टाइल‘ अभियान पर 50 करोड़ रु के निवेष की योजना

image0231सोनी इंडिया ने आज यहां भारत में वायो की बिक्री दोगुनी करने की अपनी रणनीति का खुलासा करते हुए वित्त वर्श 2011 में 5 लाख लैपटाॅप यूनिटों की बिक्री करने का लक्ष्य रखा। 100 फीसदी विकास दर्ज कराने वाली वायो भारत में पहले से ही सबसे तेजी से बढ़ने वाली लैपटाॅप ब्रांड है (आईडीसी रिपोर्ट 2010 के अनुसार) और अब इस ब्रांड के तहत् नए उत्पादों का लाॅन्च यह सुनिष्चित करेगा कि यह भारतीय ग्राहकों के और नज़दीक पहुंचे। वायो ैए ब्ए म् और ल् सीरीज़ ग्राहकों की अलग-अलग जीवनषैली के हिसाब से बनायी गई है, यानी हरेक के लिए लैपटाॅप बाजार में उपलब्ध होगा, चाहे वह बिज़नेस एग्ज़ीक्युटिव हो, स्टाइल के प्रति सतर्क युवा हो या फिर छात्र अथवा पीसी का नया प्रयोक्ता ग्राहक ही क्यों न हो।

श्री तादातो किमूरा, जनरल मैनेजर, मार्केटिंग, सोनी इंडिया ने कहा, ’’वायो सोनी इंडिया के राजस्व में 20 फीसदी का योगदान करती है, लिहाजा यह हमारे कारोबार का अहम हिस्सा है। इस साल हमारा मकसद यह सुनिष्चित करना है कि वायो हमारे हर ग्राहक की जीवनषैली की जरूरतों पर खरी हो। हमारे पास 62 माॅडलों की उत्पाद लाइन है और 1500 दुकानों का मजबूत वितरण नेटवर्क भी है। हमने वित्त वर्श 2011 में 5 लाख लैपटाॅप यूनिटों के लक्ष्य तक पहुंचने के लिए मार्केटिंग पर 50 करोड़ रुपये का निवेष किया है।‘‘ नए अभियान के बारे मंें चर्चा करते हुए उन्होंने कहा, ’’मोर कलर, मोर स्टाइल‘ अभियान नई जीवन षैली का बयान करता है और इस अभियान के लिए सुश्री करीना कपूर के चेहरे के साथ हम अपने ग्राहकों को यह बात ठीक से समझा पााएंगे।‘‘

सोनी वायो लाइन-अप की बहुत व्यापक रेंज लिए हुए है और कंपनी का मकसद व्यवसाय से लेकर काॅलेज जाने वालों तक की जीवनषैली की जरूरतों को पूरा करना हैं वायो की कीमतें, ख्ूाबियां और आकर्शक रंग उत्पाद को बहुत खूबसूरत बनाते हैं। हर सीरीज का विवरण इस प्रकार हैः

ऽ    वायो एस: वायो एस प्रीमियम डिजाइन के साथ बहुत संतुलित मोबाइल पीसी है। यह स्लिम और फुल फ्लैट बाॅडी के साथ कहीं भी ले जाया जा सकता है। इसकी लम्बी बैटरी लाइफ है और बिजनैस और आउटडोर मीटिंगों के लिए यह एकदम उपयुक्त है। यह पांच आकर्शका रंगों में 47,990 रु से लेकर 1,29,900 रु तक की रेंज में उपलब्ध है।

ऽ    वायो सीः यह ऊंचे दर्जे के फैषन से प्रेरित है। यह रोषनी वाले मैटेरियल से बना है जिससे आकर्शक रंगों के साथ इसमें और भी मोहक विजुअल पैदा होता है। देखने में यह एकदम अलग ही है। फुल एचडी स्क्रीन के साथ इसमें उच्च प्रदर्षन वाली ग्राफिक सुविधा है जिससे गेम्स और मूवी देखने का आनंद बढ़ जाता है और एकदम अलग ही अनुभव मिलता हैं यह छह रंगों में 54,990 रु से लेकर 69,990 रु की रेंज में उपलब्ध है।

ऽ    वायो ईः वायो ई रोजाना की जरूरतों के अनुकूल है और ईमेल, वेब ब्राउजिंग, संगीत सुनने या फोटो प्रबंधन के लिए अच्छा है। प्रोसेसरों और रंगों के चयन के साथ यह विभिन्न स्टाइलों में फिट है। ट्रस पैटर्न की खूबी के साथ यह छात्रों और युवा पेषेवरों की आवष्यकताओं पर केंद्रित है। यह चार रंगों में उपलब्ध है और इसकी कीमत 27,990 रु से षुरू होती है।

ऽ    वायो वाईः इस सीरीज की ख्ूाबी यह है कि यह हर किसी की जरूरतों पर खरा है और यह षुरूआती उपभोक्ताओं के लिए बेहद उपयुक्त है। यह चार रंगों में 24,990 रु की रेंज  में षुरू होता है लिहाजा बेहद किफायती है।

कुल 62 माॅडलों को 16 आकर्शक रंगों में उपलब्ध कराया गया है जिससे यह सुनिष्चित किया जा सके कि अलग अलग ग्राहक वर्गों के लिए अपने स्टाइल के अनुरूप पर्सनलाइज़्ड नोटबुक उपलबध हो।

देषभर में आम जनता तक इन उत्पादों को पहुंचाने के मकसद से सोनी ने अपनी आक्रामक विस्तार योजना भी तैयार की है। कंपनी ने अपने वितरण नेटवर्क में आउटलेट्स की संख्या को 2011 में 700 की वृद्धि कर इसे 1500 तक पहुंचाने की योजना बनायी है जबकि पिछले साल यह आंकड़ा 800 रहा था। कंपनी वित्त वर्श 2011 में 30 एक्सक्लुसिव वायो फ्लैगषिप स्टोर्स खोलेगी और इस तरह वायो चैनलों की संख्या बढ़कर 50 तक पहुंच जाएगी।

सोनी अपनी वायो ब्रांड के लिए ’मोर कलर्स ण्मोर स्टाइल‘ अभियान भी षुरू करेगी जिसमें कंपनी की लोकप्रिय ब्रांड एम्बैसडर करीना कपूर भी दिखायी देगी। इस नए अभियान से रोमांचित करीना कपूर ने कहा, ’’मैं एक बार फिर सोनी वायो से उनके नए प्रचार अभियान ’ मोर कलर्स ण्मोर स्टाइल ‘ से जुड़ते हुए खुषी महसूस कर रही हूं। वायो एकदम अलग है, जोरदार और अल्ट्रा स्टाइलिष है और यह षानदार लाइफस्टाइल स्टेटमेंट की तरह है, यही संदेष ब्रांड के नए अभियान से दिया जा रहा है। इस अभियान की खूबी इसका अनूठापन है, यही वजह है कि वायो हर स्टाइल और हर मूड के हिसाब से उपयुक्त है।‘‘

इस ब्रांड अभियान को प्रिंट तथा टेलीविजन विज्ञापनों, वेब, पीआर, सिनेमा तथा षाॅप-फ्रंट समेत एबव-द-लाइन और बिलो-द-लाइन गतिविधियों का समर्थन भी दिया जाएगा और इन पर कंपनी ने 50 करोड़ रु के निवेष की योजना भी बनायी है।

करीना के साथ सोनी के वायो अभियानों ने काफी लोकप्रियता बटोरी है। नवंबर-दिसंबर 2009 तथा जुलाई-अगस्त 2010 में षुरू किए गए सोनी के क्रमषः वायो ग् ’साइज़ जीरो‘ तथा वायो म् ’गो विविड‘  अभियानों के बाद वायो की बिक्री लगभग दोगुनी हो गई।

व्यावसायिक तथ्यों का संक्षिप्त ब्योरा:

ऽ    वित्त वर्श 2010 में, सोनी ने 2.5 लाख नोटबुकों की बिक्री की और यह आंकड़ा वित्त वर्श 2011 तक 5 लाख पहुंचने का अनुमान है। भारत में वित्त वर्श 2010 में कंज्यूमर नोटबुक मार्केट 17 लाख यूनिटों का था जो वित्त वर्श 2011 तक 25 लाख तक पहुंचने का अनुमान जताया गया है।
ऽ    वायो श्रेणी में, सोनी ने वित्त वर्श 2011 में मार्केटिंग गतिविधियों पर 50 करोड़ रु के बजट का प्रावधान किया। इसमें से 25 करोड़ रु ’मोर कलर। मोर स्टाइल‘ अभियान के लिए आबंटित किया गया।
ऽ    वित्त वर्श 2010 में, सोनी ने 15 फीसदी की बाजार हिस्सेदारी हासिल की, कंपनी ने वित्त वर्श 2011 में 20 फीसदी बाजार हिस्सेदारी का लक्ष्य रखा है।
ऽ    वित्त वर्श 2011 में 200 षहरों तक 1,500 काउंटरों का चैनल नेटवर्क कायम करने की योजना, वित्त वर्श 2010 सेल्स काउंटरों की संख्या 800 थी। 2011 में वायो फ्लैगषिप स्टोर्स की संख्या बढ़ाकर 50 करने की योजना, जबकि वित्त वर्श 2010 में यह आंकड़ा 30 तक था।

व्यावसायिक तथ्यों का संक्षिप्त ब्योरा (उत्तर प्रदेष)ः

ऽ    वित्त वर्श 2010 में, सोनी ने 10,000 वायो लैपटाॅप बेचे जबकि चालू वित्त वर्श में इस आंकड़ें को 20,000 तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा।  उत्तर प्रदेष में वित्त वर्श 2010 में कंज्यूमर नोटबुक मार्केट 72,000 यूनिटों का था और वित्त वर्श 2011 तक इसके 95,000 यूनिटों तक पहुंचने का अनुमान जताया गया है।
ऽ    चैनल नेटवर्क में विस्तार कर इसमें षामिल आउटलेट्स की संख्या को वित्त वर्श 2010 में 30 के मुकाबले चालू वित्त वर्श में 60 तक पहुंचाने की योजना।
ऽ    वायो श्रेणी में, सोनी ने वित्त वर्श 2011 में वायो ब्रांड अभियान ’मोर कलर, मोर स्टाइल‘ मार्केटिंग गतिविधियों पर 2 करोड़ रु के बजट का प्रावधान किया।
ऽ    वित्त वर्श 2010 में, सोनी ने उत्तर प्रदेष में 14 फीसदी बजार हिस्सेदारी हासिल की, 2011 में कंपनी ने राज्य में 21 फीसदी हिस्सेदारी का लक्ष्य रखा है।

सोनी इंडिया प्रा लि के बारे में

सोनी इंडिया देष की जानी पहचान उपभोक्ता इलैक्ट्राॅनिक्स ब्रांड है जिसे नए दौर की टैक्नोलाॅजी, डिजिटल अवधारणाओं और षानदार सेवाओं के लिए जाना जाता है। सोनी ने देषभर के प्रुमख षहरों में 5000 डीलरों और डिस्ट्रिब्यूटरों, 270 एक्सक्लुसिव सोनी आउटलेट्स तथा 19 डायरेक्ट ब्रांच लोकेषनों के जरिए अपनी व्यापक मौजूदगी दर्ज करा ली है। सोनी इंडिया के पास मजबूत सर्विस तंत्र भी है जिसमें 20 कंपनी स्वामित्व वाले तथा 216 अधिकृत सर्विस सेंटर तथा 18 एक्सक्लुसिव डेमोन्सट्रेषन सेंटर षामिल हैं। अधिक जानकारी के लिए कृपया हमारी वेबसाइट www.sony.co.in देखें।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

अत्यधिक धनवान लोगों के लिये एचडीएफसी बैंक ने भारत का पहला अल्ट्रा प्रीमियम क्रेडिट कार्ड इनफिनिया लाॅन्च किया

Posted on 13 July 2011 by admin

एचडीएफसी l-r-pralay-mondal-country-head-retail-assets-cr-cards-hdfc-bank_-hands-over-the-1st-indian-crबैंक, देश में क्रेडिट कार्ड जारी करने वाले सबसे बड़े संगठन, ने अत्यधिक धनवान लोगों के लिये भारत का पहला अल्ट्रा प्रीमियम क्रेडिट कार्ड लाॅन्च किया है। इनफिनिया नामक इस क्रेडिट कार्ड की कोई सीमा नहीं है-सिर्फ खर्च करने के मामले में ही नहीं, बल्कि इसमें वे सभी सुविधायें सन्निहित हैं, इस वर्ग के लोग आमतौर पर जिसके आदी होते हैं। प्रारंभ में यह कार्ड चुनिन्दा 5,000 ग्राहकों को आॅफर किया जायेगा।

एचडीएफसी बैंक निजी क्षेत्र का एक अग्रणी बैंक है और इसके व्यापक ग्राहक वर्ग में देश के एक से बढ़कर एक धनाढ्य व्यक्ति भी शामिल हैं। अपने इस पहल के माध्यम से बैंक ऐसे ग्राहकों को वैसी सुविधायें प्रदान कर रहा है, जिसके वे आदी हैं।

मेरिल लिंच ग्लोबल वेल्थ मैनेजमेंट एवं कैपगेमिनी द्वारा हाल ही में जारी ‘वल्र्ड वेल्थ रिपोर्ट‘ में कहा गया है कि वर्ष 2010 में हाई नेटवर्थ वाले व्यक्तियों (एचएनआई) की संख्या 20.8 प्रतिशत बढ़कर 153,000 हो गई है। पहली बार भारत इस क्षेत्र में बारहवें स्थान पर पहुंच गया है और वैश्विक स्तर पर शीर्ष 10 से उसकी दूरी बहुत ज्यादा नहीं है। इस प्रीमियम कार्ड की पेशकश कर बैंक इस क्षेत्र में निर्विवाद रूप से अग्रणी बनना चाहता है।

इस अवसर पर टिप्पणी करते हुये एचडीएफसी बैंक के प्रबंध निदेशक श्री आदित्य पुरी ने कहा कि, ‘‘इनफिनिया धनाढ्य भारतीयों के लिये सुपर प्रीमियम पेशकश है। वर्ष 2003 में हमने अपने पहले क्रेडिट कार्ड को लाॅन्च कर जिस यात्रा की शुरूआत की थी, यह उसका अंत है। हम हमेशा से अग्रणी स्थिति में रहे हैं, चाहे वह हमारे ग्राहकों के संदर्भ में ही क्यों न हो, उन्हें सेवायें प्रदान कर हमने अपनी सक्षमता साबित की है। इनफिनिया लाॅन्च करने की प्रेरणा के पीछे का उद्देश्य यह है कि हमारे ग्राहक ऐसे कार्ड की आवश्यकता महसूस कर रहे थे। हमें पूरा विश्वास है कि यह जल्द ही धनाढ्य भारतीयों का पसंदीदा क्रेडिट कार्ड बन जायेगा।‘‘

प्रलय मोण्डाल, कंट्री प्रमुख, रीटेल एसेट्स एवं क्रेडिट कार्ड्स ने इस अवसर पर कहा कि, ‘‘हम इस देश के प्रत्येक प्रसिद्ध व्यक्ति के पर्स में इनफिनिया देखना चाहते हैं। हमारे इस आत्म विश्वास का सबसे बड़ा कारण यह है कि वर्तमान समय में हमारे क्रेडिट कार्ड धारकों की संख्या सबसे अधिक है। इनफिनिया के माध्यम से हम जीवन शैली के अनुभवों को नये सिरे से परिभाषित करने के लिये प्रतिबद्ध हैं।‘‘

इनफिनिया वीसा एवं मास्टरकार्ड, दोनों ही प्लेटफाॅर्म पर उपलब्ध होगा। 31 मार्च 2011 को बैंक के क्रेडिट कार्ड धारकों की संख्या 50.5 लाख थी।

एचडीएफसी बैंक लिमिटेड के विषय मेंः
वर्ष 1995 में हाउसिंग डेव्हलपमेंट फाइनेंस काॅर्पोरेशन (एचडीएफसी), भारत की अग्रणी हाउसिंग फाइनेंस कंपनी द्वारा प्रवर्तित एचडीएफसी बैंक देश के अग्रणी बैंकों में से एक है। यह व्यापक पैमाने पर अपने विŸाीय उत्पादों की श्रृंखला अपने 21 मिलियन से अधिक ग्राहकों को अपने मल्टीपल डिस्ट्रीब्यूशन चैनल द्वारा देश भर में अपनी सेवाएं मुहैया कराता हैं। बैंक की शाखाएं देश भर में फैली हुई हैं। इसके अलावा बैंक एटीएम, फोन बैंकिंग और मोबाइल बैंकिंग के जरिये, भी ग्राहकों को सेवा प्रदान करता है। बहुत कम समय में ही यह बैंक अपने व्यावसायिक क्रियाकलापों के तीनों ही क्षेत्रों-रिटेल बैंकिंग, होलसेल बैंकिंग और ट्रेजरी परिचालन के क्षेत्र में अपनी स्थिति मजबूत बना चुका है।

बैंक की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि वह तकनीकी का उपयोग करता है और इसके माध्यम से वह अपने ग्राहकों को विश्व स्तर की सेवाएं प्रदान करता है। पिछले 16 वर्षों में बैंक अपनी बाजार हिस्सेदारी बढ़ाने में पूरी तरह सफल रहा है और बैंक की लाभप्रदता और संपŸिा की गुणवŸाा में भी काफी वृद्धि हुई है।

31मार्च 2011 को भारत के 996 शहरों में फैले बैंक के नेटवर्क में 1,986 शाखाएं और 5,471 एटीएम्स थे।

31 मार्च 2011 को समाप्त तिमाही में बैंक को 67.24 बिलियन रूपये (6724.3 करोड़ रूपये) की आय हुई, जबकि 31 मार्च 2010 को समाप्त तिमाही में बैंक को 50.04 बिलियन रूपये (5003.9 करोड़ रूपये) की आय हुई थी। आलोच्य तिमाही में बैंक को 40.95 बिलियन रूपये (4095.2 करोड़ रूपये) का शुद्ध राजस्व प्राप्त हुआ, जो कि पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में 24 प्रतिशत अधिक था। 31 मार्च 2010 को समाप्त तिमाही में इस मद में बैंक को 33.02 बिलियन रूपये (3302.1 करोड़ रूपये)की आय हुई थी।  31 मार्च 2011 को समाप्त तिमाही में बैंक को 11.15 बिलियन रूपये (1114.7 करोड़ रूपये) का शुद्ध लाभ हुआ, जो कि पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में 33.2 प्रतिशत अधिक है।

31 मार्च 2011 को बैलेंस शीट का आकार 24.7 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 2773.53 बिलियन रूपये (277,353 करोड़ रूपये) के स्तर पर पहुंच गया। इसी प्रकार 31 मार्च 2010 की तुलना में बैंक की जमा राशियों में 24.6 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई और यह 2085.86 बिलियन रूपये (208,586 करोड़ रूपये) के स्तर पर पहुंच गयी।

31 मार्च 2011 को समाप्त वर्ष में बैंक को 242.63 बिलियन रूपये (24263.4 करोड़ रूपये) की आय हुई थी।
भारतीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर के अग्रणी पब्लिकेशन, बैंक के क्रियाकलापों एवं इसकी गुणवŸाा की सराहना करते हैं।
विस्तृत जानकारी के लिए लाॅग आॅन करें http://www.hdfcbank.com

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

सोनाक्षी सिन्हा फेम हेयर रिमूवल क्रीम का नया चेहरा

Posted on 13 July 2011 by admin

sonakshi-femडाबर, भारत की अग्रणी ब्यूटी केयर कंपनी, ने बाॅलीवुड के दिल की धड़कन सोनाक्षी सिन्हा को फेम हेयर रिमूवल क्रीम के नये ब्रांड एम्बेस्डर के रूप में साइन किया है। सोनाक्षी सिन्हा के साथ फेम हेयर रिमूवल क्रीम का विपणन अभियान अभी जल्द ही षुरू होने वाला है।

ब्रांड के साथ अपने संबंध के बारे में बोलते हुए सोनाक्षी सिन्हा ने कहा कि, ‘‘कुछ समय पहले तक, मुझे हेयर रिमूवल क्रीम को इस्तेमाल करने में डर लगता था क्योंकि इसके प्रयोग से मेरी त्वचा लाल हो जाती थी और उसमें दाने व निषान पड़ जाते थे। तब मेरे त्वचा विषेषज्ञों ने मुझे बताया कि साधारण हेयर रिमूवर त्वचा के प्राकृतिक पीएच बैलेन्स को बिगाड़ कर त्वचा को खराब कर देतें हैं। इसलिए मैंने फेम ड्यूअल केयर हेयर रिमूवल क्रीम का प्रयोग किया। इसका खास तरह से निर्मित ‘एक्स्ट्रा केयर’ त्चचा पोषण पीएच रिस्टोरिंग लोषन, जिसमें जुजोबा तेल, एलोविरा और कैलेमाइन है, जिससे त्चचा का पीएच सामान्य हो जाता है और त्चचा का चमकदार, मुलायम और पोषण सुनिष्चित हो जाता है। अब मुझे अपनी त्वचा से प्यार हो गया है और मुझे इस ब्रांड पर विष्वास है, इसलिए मै फेम ड्यूअल केयर हेयर रिमूवल क्रीम की ब्रांड एम्बेस्डर बनी।’’

डाॅबर इंडिया लिमिटेड (बाॅडी केयर) की मार्केटिंग हेड मिस गुंजन पांडे ने कहा, ‘‘फेम ड्यूअल केयर हेयर रिमूवल क्रीम अब तक कई दषकों से लाखो भारतीय महिलाओं का भरोसेमंद विकल्प रहा है। यह पहला ब्रांड है जिसने हेयर रिमूविंग क्रीम के प्रयोग से त्चचा के खराब होने के मुख्य कारण को समझा और यह नये पीएच रीस्टोरिंग लोषन के साथ आया जो त्चचा के पीएच को बनाए रखने में मदद करता है। फेम ब्रांड में युवा, समकालीन, आकांक्षापूर्ण, विष्वास और विषेषज्ञता के गुण विधमान है। ब्रांड के इन गुणों का समावेष सिने तारिका सोनाक्षी सिन्हा में है जो कि इस ब्रांड का प्रतीक है। सोनाक्षी ब्रांड के विस्तृत अपील, ताजगी और सफलता की भावना को प्रकट करती हैं।’’

डाॅबर के बारे में
डाॅबर इंडिया लिमिटेड भारत की प्रमुख एफएमसीजी कंपनियों में से एक है। निर्माण की गुणवत्ता और 125 से ज्यादा वर्षों के अनुभव पर डाॅबर आज भारत का सबसे विष्वसनीय नाम और आयुर्वेदिक व प्राकृतिक स्वास्थ्य देखभाल के क्षेत्र में दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी है।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

जेन मोबाइल ने पेश किया पावरफुल फोन वो भी एक पावरफुल दाम पर

Posted on 07 July 2011 by admin

मोबाइल का उपयोग करने वाले इस बात को लेकर पेशोपेश में है कि सर्वश्रेष्ठ खूबियों और लक्षणों और तकनीक के दावों से परिपूर्ण बाजार में उपलब्ध लाखों हैण्डसेट्स में से किसका चुनाव करें। स्मार्ट, स्टाइलिश लेकिन सस्ते हैण्डसेटस की लगातार बढ़ती हुयी मांग को ध्यान में रखते हुये अग्रणी घरेलू मोबाइल कम्पनी ‘जेन मोबाइल’ ने अपने नवीनतम उत्पाद एम-72 को बाजार में पेश किया है। जेन मोबाइल के एमडी दीपेश गुप्ता ने कहा कि ‘‘हमारे भारतीय उपभोक्ताओं की रोज बदलती जरूरतों को पूरा करने और जन साधारण तक सबसे सस्ते दामों में मोबाइल के माध्यम से संचार सेवायें पहुंचाना ही हमारा ध्येय है।’’ उन्होनें कहा कि जेन एम72 आपको सस्ते दामों मं संचार के सभी समाधानों जैसे बातचीत, संदेश भेजना, पसंदीदा क्षणों को कैमरे में कैद करना और मनपसंद गाने सुनने की सुविधा प्रदान करना है।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

एसबीआई लाइफ ने फ्लेक्सी स्मार्ट बीमा नामक परिवर्तनशील बीमा योजना की पेशकश की

Posted on 04 July 2011 by admin

mr-m-n-rao-md-ceo-of-sbi-life-insurance-coनई पीढ़ी की अग्रणी बीमा कंपनी एसबीआई लाइफ ने एक लाभ-रहित परिवर्तनशील बीमा योजना फ्लेक्सी स्मार्ट बीमा जारी की है। इस उत्पाद को जोखिम की चिंता से मुक्त वैसे ग्राहकों के निवेश की सुरक्षा के नजरिए से तैयार किया गया है जो गैर-यूनिट लिंक्ड योजनाएं चाहते हैं। अंतरिम और अतिरिक्त ब्याज दर, प्रीमियम भुगतान में छूट का लचीला विकल्प, बदलती जरूरतों के अनुसार बीमाधन को कम करना या बढ़ाना तथा टाॅप-अप प्रीमियम की सुविधा इस ग्राहकोन्मुखी फ्लेक्सी स्मार्ट बीमा की कुछ विशेषताएं हैं।

बीमाधारक के द्वारा भुगतान किए गए प्रीमियम पर वित्तीय वर्ष 2011-12 में 7 प्रतिशत की दर से अंतरिम व्याज की आमदनी होगी। अंतरिम ब्याज दर की घोषण प्रत्येक वित्तीय वर्ष के आरंभ में की जाएगी। फंड पर निवेश के रिटर्न के अनुसार, प्रत्येक साल के अंत में 31 मार्च को अतिरिक्त ब्याज दर की घोषणा की जा सकती है, जिसे बीमाधारक के खाते में अंतरिम ब्याज दर के साथ जोड़ दिया जाएगा।

यह योजना न्यूनतम 1500 रूपये प्रतिमाह के आसान प्रीमियम के साथ उपलब्ध है। बीमाधारक, प्रीमियम का भुगतान सालाना, छमाही, तिमाही या मासिक विधि से कर सकते हैं।

एसबीआई लाइफ के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री एम एन राव ने कहा कि, ‘‘लचीलापन, वहन करने योग्य एवं खोजपरकता फ्लेक्सी स्मार्ट के मूल तत्व हैं। हालांकि हम अपने ‘सरल एवं आकर्षक‘ यूलिप उत्पादों की श्रृंखला तथा परंपरागत उत्पादों को सशक्त करने की दिशा में प्रयासरत रहेंगे ताकि हम अपने विभिन्न वर्ग एवं समुदायों के ग्राहकों को उनकी जोखिम क्षमता के अनुकूल सुरक्षा एवं बचत संबंधी उत्पाद उपलब्ध करा सकें।

प्रीमियम भुगतान में छूट, इस ग्राहकोन्मुखी फ्लेक्सी स्मार्ट बीमा की एक और विशेषता है। किसी अप्रत्याशित आर्थिक समस्या की हालत में, पूरी बीमा अवधि में बीमाधारक को तीन साल तक प्रीमियम भुगतान करने से छूट की सुविधा मिलेगी। फिर भी, बीमाधारक को इस छूट की अवधि में भी मृत्युदर शुल्क का भुगतान किये बिना जोखिम-सुरक्षा मिलती रहेगी।

इसके अतिरिक्त, फ्लेक्सी स्मार्ट बीमा के तहत बीमाधारक को यह सुविधा है कि सह किसी अतिरिक्त राशि को टाॅप-अप प्रीमियम के तौर पर जमा कर सकता है। फिर, सुरक्षा की बदलती जरूरतों के अनुसार, ग्राहक चाहे तो नियमित प्रीमियम को बढ़ाए बिना, बीमा राशि को घटा या बढ़ा भी सकता है। यह सुविधा पाॅलिसी के चैथे वर्ष से और उसके बाद लागू होती है।

विभिन्न ग्राहकों के विभिन्न तबके का बीमा और दीर्घकालीन निवेश की जरूरतों को पूरा करते हुए, एसबीआई लाइफ के पास ‘सिंपल और स्मार्ट‘ उत्पादों की व्यापक श्रृंखला है जिनमें आइआरडीए के दिशा निर्देशों के अनुकूल यूलिप उत्पाद, प्योर प्रोटेक्शन एवं परंपरागत योजनाएं शामिल हैं। इस श्रृंखला में उच्च आमदनी वर्ग के लिए स्मार्ट इलिट, निश्चित एनएवी वाली स्मार्ट परफाॅर्मर, बिनी डाक्टरी जांच वाली यूलिप-सरल महा आनंद,  लोचदार यूलिप-यूनिट प्लस सुपर, बच्चों के लिए-स्मार्ट स्काॅलर, पूर्व निर्धारित एनएवी वाली यूलिप-स्मार्ट वेल्थ ऐश्योर, पेंशन वाली यूलिप-स्मार्ट पेंशन और स्वतः निधि निर्धारण वाली यूलिप- स्मार्ट होराइजाॅन जैसी बीमा योजनाएं उपलब्ध हैं। नवीनतापूर्ण खूबियों से भरी, बिना डाक्टरी जांच के विशुद्ध जोखिम-सुरक्षा वाली योजना-सरल शिल्ड, उच्च आय वर्ग के लिए विशुद्ध जोखिम-सुरक्षा वाली योजना-स्मार्ट शिल्ड और बिना डाक्टरी जांच के परंापरागत बचत योजना - सरल लाइफ जैसी योजनाओं को गत वित्तीय वर्ष में जारी किया गया था।

गत वित्तीय वर्ष 2010-11 के दौरान, एसबीआई लाइफ ने 33 प्रतिशत वृद्धि के साथ 366 करोड़ रूपये का लाभ अर्जित किया और वित्तीय वर्ष 2009-10 की तुलना में 28 प्रतिशत बढ़ोतरी के साथ कुल रु.12,912 करोड़ की प्रीमियम राषि का संग्रह किया। नव व्यवसाय से 7,572 करोड़ रूपये प्रीमियम राशि का संग्रह किया गया जो गत वित्तीय वर्ष 2009-10 की अपेक्षा 7 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाती है। इसे और शानदार बनाते हुए, वित्तीय वर्ष 2009-10 के 3,063 करोड़ रूपये की तुलना में 74 प्रतिशत की भारी वृद्धि के साथ 2010-11 में नवीकरण प्रीमियम संग्रह ने 5,340 करोड़ रूपये का आंकडा दर्ज किया। 13 महीने के उद्योग मानकों के अनुसार, स्थिरता-स्तर वित्तीय वर्ष 2009-10 के 50 प्रतिशत के बिन्दु से 11 प्रतिशत बिन्दु ऊपर उठकर 2010-11 में 69 प्रतिशत पर पहुंच गया। इसी तरह, प्रबंधनाधीन संपदा (एस्सेट अंडर मैनेजमेंट) 40 प्रतिशत उछाल के साथ 31 मार्च, 1010 के 28,703 करोड़ रूपये से बढ़कर 40,163 करोड़ रूपये पर पहुंच गई।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

City Life enters in City of Nawab’s

Posted on 03 July 2011 by admin

City Life Retail Pvt. Ltd. has entered in Lucknow with the launch of its first fashion and lifestyle store in the city which is known for its manners, respects and culture. City Life store in the city offers a wide range of fashionable and quality products under one roof.

City Life store provides a complete wardrobe for men’s, women’s and kids with the combination of latest fashion and trends. Customers can also find home furnishing, household, Gift and Novelties, Sports Goods, Small kitchen Appliances, Decorative items etc. at an affordable price.

On this launch occasion, Mr. Surendra Agarwal, Founder and Co-Promoter of City Life Retail Pvt. Ltd. shared, “We are into this industry for the last 15 years; we know the likes and dislikes of the customers very well. We deeply understand what product they need at what price, how to treat well and make their shopping easy and comfortable, provide them with the best location, healthy atmosphere, world class ambience etc.  These are the few things which are very important in retail business and we are applying all these in our new format City Life. I am hoping for a good response from the customers of Lucknow and we hope that we could connect the taste of Lucknow with our customers.”

Continuing it, Mr. Abhishek Khemka, CEO, of the company said “For last few years, Uttar Pradesh witnessed a tremendous growth which is unbelievable.  In UP market there are lots of opportunities and we are trying to in-cash this, we started our journey from the capital of Uttar Pradesh and our next store would be in Allahabad. “

About the company: City Life Retail Pvt. Ltd. is promoted by Mr. Surendra Agarwal, the ex-director and one of the founder members of Vishal Retail Limited (Vishal Mega Mart). Company motto is to give wide variety, good quality product and pocket friendly price to its customers. Through this venture company is trying to organize the unorganized market. Company has plans to open 10 more stores by the end of this fiscal year.

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

विनकॉम ओगो के साथ बनिए ज्यायदा स्माार्ट!

Posted on 28 June 2011 by admin

o78स्माार्ट ही क्योंa, ज्या‍दा स्माीर्ट फोन लीजिए। ज्या द स्माोर्ट फोन की संपूर्ण रेंज। सिंक्रोनिका ब्रिटिश अवॉर्ड से सम्मा्नित, मोबाइल मैसेजिंग समाधान के साथ।
स्मा्र्ट फोन का जमाना गया – लीजिए विनकॉम ओगो  - ज्या‍दा स्मा्र्ट फोन और बनिए ज्याकदा स्मा्र्ट

विनकॉम ने विनकॉम ओगो  लेबल के तहत स्माएर्टर फोन की पूरी रेंज पेश की है। इनमें वह सब तो मिलेगा ही, जो किसी स्मा र्ट फोन में मिलता है। इसके अलावा भी बहुत कुछ मिलेगा।

ओ 77 कनेक्टी और ओ 78 टच अत्याइधुनिक ड्यूअल सिम फोन हैं जो अग्रणी ऑपरेटर के अनूठे प्ला न के साथ उपलब्ध् हैं। प्लाोन के तहत कई सारी मुफ्त सुविधाएं मिलती हैं। मसलन- मुफ्त इंटरनेट डाउनलोड, मुफ्त पुश ईमेल और इंस्टैंाट मैसेजिंग सर्विस, मु्फ्त टॉक टाइम और एसएमएस आदि।
ये नए विनकॉम ओगो  फोन सिंक्रोनिका ब्रिटिश सम्मा न प्राप्त  मोबाइल मैसेजिंग सेवा से लैस हैं। इसकी बदौलत विनकॉम ओगो  हैंडसेट्स अनूठे, अत्या धुनिक फीचर्स को सपोर्ट करते हैं। जैसे- रियलटाइम पुश ईमेल, इंस्टैंुट मैसेजिंग, सोशल नेटवर्किंग (फेसबुक, लिंक्ड इन, ट्विटर) और खबरों, खेल व मनोरंजन से जुड़े हजारों भारतीय व अंतरराष्ट्री य फीड्स।
ये डिवाइस न केवल जीमेल, याहू, हॉटमेल जैसी लोकप्रिय ईमेल सेवाओं के लिए पु‍श ईमेल सपोर्ट करती हैं, बल्कि माइक्रोसॉफ्ट एक्सवचेंज सर्वर्स, लोटस डोमिनो, सन जावा और खास कर सभी पीओपी3 व आईएमएपी4 अकाउंट्स को भी सपोर्ट करती हैं। ये सेवाएं सपोर्ट करने के लिए विनकॉम भारत में ही इनकी होस्टिंग करती है, ताकि विनकॉम ओगो  के ग्राहकों को इस्तेेमाल का शानदार अनुभव मिल सके।
विनकॉम ओगो -ओ77 एक स्ली्क क्व र्टी (QWERTY) हैंडसेट है, जो तीन रंगों – लाल, सफेद व स्टीॉल ग्रे – में उपलब्धक है। ओ78 दो रंगों – लाल व पीला – में उपलब्ध  टच स्क्रीिन फोन है।
दोनों डिवाइस विजेट मेनू, ऑप्टिकल ट्रैक पैड (स्मूयद नैविगेशन के लिए), 3एमपी कैमरा, बड़ा डिस्लेक   , ब्लूंटूथ, जीसेंसर, जावा,2000X6 फील्डै फोनबुक, 1000 एसएमएस, 8 जीबी तक एक्सकपैंडेबल मेमोरी, वीडियो प्लेसयर (मूवी देखने के लिए आरएमवीबी सपोर्ट के साथ), एमपी3प्ले,यर, एफएम रेडियो,   स्नै‍प्तुक, ओपेरा मिनी 5.0 आदि।

लॉन्चो के मौके पर बोलते हुए विनकॉम टेलीकॉम के सह संस्थारपक और प्रबंध निदेशक श्री अरविंद वोहरा ने कहा, ‘आज निजी व पेशागत स्तमर पर लोगों से जुड़े रहना जरूरी भी और युवाओं के लिए तो जरूरत बन गया है। सोशल नेटवर्किंग न केवल दूसरे देशों में, बल्कि भारत में सब कुछ अलग दिशा में ले गया है। ये डिवाइस खास तौर पर इन्हींे जरूरतों को ध्याजन में रख कर बनाई गई हैं। हर चीज पुश पर उपलब्धड हो, इस लिहाज से डिजाइन की गई है। इतना ही नहीं, हमने इस डिवाइस को किफायती भी बनाया है। न केवल खरीदने के लिहाज से, बल्कि एक साल तक इस्ते माल के लिहाज से भी, क्योंनकि इंटरनेट डाउनलोड, पुश मेल, इंस्टैंीट मैसेजिंग वास्ताव में मुफ्त है।’
तो फिर स्‍मार्ट फोन क्योंक! ज्या दा स्मा र्ट क्योंा नहीं!!

उपलब्ध ता और कीमत: विनकॉम ओ 77 और ओ 78 भारत भर में चुनिंदा स्टोगर्स पर क्रमश: 4,499 और 4,999 रुपये में उपलब्धव है।

विन टेलीकॉम लिमिटेड के बारे में
विन टेलीकॉम 2500 करोड़ रुपये के एसएआर ग्रुप का एक हिस्साम है। इसमें ल्यूामिनस पॉवर टेक्नोललॉजीज, ल्यू़मिनस टेलीइंफ्रा, ल्यूसमिनस इंजीनियरिंग और लेक्ट्रिक्से मोटर्स आदि शामिल हैं। ल्यूनमिनस कंपनी का फ्लैगशिप ब्रांड है। समूह का कारोबार 36 देशों में फैला है। भारत और चीन में इसने अपना अहम उत्पाकदन केंद्र बना रखा है।
विन टेलीकॉम भारतीय मोबाइल हैंडसेट इंडस्ट्री  में खुद को अग्रणी खिलाड़ी के रूप में स्थाफपित करने के लिए प्रतिबद्ध है। कंपनी भारत और चीन में काफी निवेश कर रही है। कंपनी चालू वित्तस वर्ष में 400 करोड़ रुपये निवेश करने का लक्ष्य  रखती है।

सिंक्रोनिका पीएलसी यूके के बारे में
सिंक्रोनिका पीएलसी अगली पीढ़ी की मोबाइल मैसेजिंग सॉल्यूयशंस विकसित करने वाली अग्रणी कंपनी है। कंपनी का फ्लैगशिप उत्पा़द मोबाइल गेटवे पुश ईमेल, सिंक्रोनाइजेशन, इंस्टैंमट मैसेजिंग और किसी भी मोबाइल पर सोशल नेटवर्किंग सेवा उपलब्धइ कराता है। सिंक्रोनिका का पेटेंट कराया हुआ ट्रांसकोडिंग इंजन ईमेल अटैचमेंट डाउनलोड तेजी से डाउनलोड करने और नेटवर्क बैंडविड्थ की खपत 90 फीसदी तक घटाने में गजब कारगर साबित हुआ है। मोबाइल ऑपरेटर और उभरते व स्था पित बाजार के तमामा डिवाइस निर्माता सिंक्रोनिका पर पूरा भरोसा करते हैं।

सिंक्रोनिका का मुख्या लय इंग्लैं ड में है। जर्मनी व फिलीपींस में इसका डेवलपमेंट सेंटर है। इसके अलावा कनाडा, अमेरिका, हांगकांग, स्पेलन और दुबई में इसकी सशक्त। मौजूदगी है। सिंक्रोनिका पीएलसी एक पब्लिक कंपनी है, जिसकी लंदन स्टॉगक एक्ससचेंज (एसवाईएनसी) की एआईएम लिस्टस और टोरंटो स्टॉिक एक्स,चेंज (एसवाईएन) के वेंचर एक्सबचेंज में ट्रेडिंग होती है। ज्या‍दा जानकारीwww.synchronica.com पर उपलब्धट है।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

नोमाक्र्स ने नीम फेस वॉश पेश किया

Posted on 25 June 2011 by admin

- संवेदनशील और मुंहासे वाली त्वचा के लिए राहतकारी क्रीम -

मौजूदा गर्मियों में चिलचिलाती धूप आपकी खूबसूरती को नुकसान नहीं पहुंचाएगी। ओजोन आयुर्वेदिक्स ने नोमाक्र्स नीम फेस वॉश को पेश किया है जो त्वचा को अत्यधिक तैलीय बनने से रोकती है और बार-बार मुंहासे निकलने की समस्या से भी निजात दिलाती है।
नियमित रूप से धूल, प्रदूषण और गर्मी की चपेट में रहने से त्वचा अत्यधिक तैलीय हो जाती है जिससे इस पर मुंहासे, दाने और सफेद एवं काले निशान पड़ जाते हैं।
नोमाक्र्स नीम फेस वाॅष जैविक तत्वों से परिपूर्ण है जो त्वचा को अत्यधिक तैलीय होने से बचाता है और त्वचा की जड़ में जमी गंदगी को दूर करता है और तेज धूप से त्वचा पर पड़ने वाले दाग धब्बों से बचाता है। यह फेस वाॅष खासकर मुंहासे वाली त्वचा को ध्यान में रख कर तैयार किया गया है।

नीम, नींबू और लौंग के गुणों से भरपूर नोमाक्र्स नीम फेस वाॅष का नियमित इस्तेमाल त्वचा को स्वच्छ, स्वस्थ एवं चमकदार बनाता है। इसका इस्तेमाल करें और कुछ ही मिनटों में अपेक्षित परिणाम सामने आ जाएगा।

कीमत- 45 रुपये
उपलब्धताः पूरे भारत में

ओजोन समूह के बारे मेंः
ओजोन समूह चार प्रमुख खंडों में कारोबार करता है। ये खंड हैं - ‘ओजोन फार्मास्युटिकल्स लिमिटेड’ एंटीबायोटिक, एंटीफंगल, न्यूट्रीषनल, एंटी-इफेक्टिव, एंजियोलिटिक्स, एनएसएआईडी और कार्डिएक एवं डायबेटिक सेगमेंटों की दवाओं पर केंद्रित है। ‘ओजोन आयुर्वेदिक्स कंज्यूमर हेल्थकेयर’ स्किनकेयर के व्यवसाय में सक्रिय है और नोमाक्र्स एवं ओजोन रेंज, चैथा डाइमेनसन मीडिया प्राइवेट लिमिटेड समूह का नया उद्यम है और यह स्वास्थ्य एवं लाइफस्टाइल पत्रिका फोर्थ डी वेलबीइंग के प्रकाषन और ओजोन मिषन से संबद्ध है जिसका मानना है कि लोग समाज का अंदरूनी हिस्सा हैं और एक कंपनी के तौर पर काॅरपोरेट सामाजिक जिम्मेदारी पहलों के जरिये उनका ध्यान रखना हमारी सामाजिक जिम्मेदारी है।

आजोन आयुर्वेदिक्स के बारे मेंः
ओजोन समूह की प्रमुख कंपनी आजोन आयुर्वेदिक्स ने वर्श 2001 में नोमाक्र्स को लाॅन्च किया। नोमाक्र्स न सिर्फ माक्र्स रिमूवल क्रीम्स की श्रेणी में षामिल है बल्कि इसे कई वर्शों से मोस्ट ट्रस्टेड टाॅप 10 स्किन केयर ब्रांड एंड मोस्ट प्रीफर्ड ब्रांड का दर्जा भी हासिल है।

एक दषक पहले मार्क रिमूवल श्रेणी में षामिल होने वाले ‘नोमाक्र्स’ ब्रांड ने प्राॅब्लम साॅल्युषन ब्रांड से डेली केयर ब्रांड तक का अपना सफर सफलतापूर्वक पूरा किया है। एज स्पेषिफिक स्किन केयर काॅनसेप्ट के ताजा लाॅन्च के साथ नोमाक्र्स ‘एज स्पेषिफिक स्किन केयर रेंज आॅफ प्रोडक्ट्स’ के साथ भारत का नंबर वन ब्रांड बन गया है।

कंपनी के घरेल आॅर्गेनिक हर्ब फार्म में प्रमुख गुणवत्ता उपायों में एक महत्वपूर्ण बैकवार्ड इंटिग्रेषन रणनीति षामिल है जो ओजोन को विषेश रूप से अनिवार्य आॅर्गेनिक तत्वों के विकास में सक्षम बनाती है और सुनिष्चित करती है कि वे गुणवत्ता को ध्यान में रखते हुए उपयुक्त हैं।

नोमाक्र्स दक्षिण पूर्व एषिया, जीसीसी देषों, अफ्रीका, लैटिन अमेरिका और यूरोप समेत दुनिया के कई देषों में उपलब्ध है। ओजोन समाज की बेहतरी के लिए लगातार काम कर रही है, क्योंकि यह इस उक्ति में विष्वास रखती है कि ‘जीवन अनमोल है’।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

September 2017
M T W T F S S
« Aug    
 123
45678910
11121314151617
18192021222324
252627282930  
-->









 Type in