*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | लखनऊ.

आनलाइन पंजीकृत अभ्यर्थी रोजगार मेले हेतु अपना आवेदन वेबपोर्टल पर 24 जून तक कर सकते

Posted on 24 June 2017 by admin

सहायक निदेशक सेवायोजन क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय लखनऊ मण्डल लखनऊ ने बताया कि क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय (एल0डी0ए0 कैम्पस) लालबाग लखनऊ में प्रातः 10.30 बजे से विभाग के पोर्टल के माध्यम से आनलाइन रोजगार मेले का आयोजन किया गया है। इसमें लखनऊ जनपद के विभाग के पोर्टल sewayojan.up.nic.in पर आनलाइन पंजीकृत अभ्यर्थी रोजगार मेले हेतु अपना आवेदन इस वेबपोर्टल पर 24 जून 2017 को सायं 4 बजे तक कर सकते है।
उन्होने बताया कि पोर्टल  पर पंजीकृत अभ्यर्थियो का आवेदन पत्र स्वीकार्य किये जाने की दशा में उन्हे रोजगार मेले में भाग  लेने हेतु उनके पंजीकृत मोबाइल पर एक एम0एम0एस0 कार्यालय द्वारा भेजा जायेगा। जिन अभ्यर्थियों के मोबाइल पर कार्यालय द्वारा एम0एम0एस0 प्राप्त होगा वे उक्त दिनांक में रोजगार मेले में भाग ले सकते है। एस0एम0एस0 प्राप्त होने वाले अभ्यथियों को आपने साथ शैक्षिक योग्यताओं के मूल प्रमाण पत्र एक फोटो एवं रोजगार कार्यालय द्वारा प्राप्त एक्स-10 के साथ उपस्थित होना है। इस हेतु उन्हे काई मार्ग व्यय देय नही होगा।

Comments (0)

“ओ“ लेवल कम्प्यूटर प्रशिक्षण व संस्थाओं के चयन हेतु आवेदन पत्र 15 जुलाई तक आमंत्रित

Posted on 24 June 2017 by admin

जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी श्री आर0 डी0 यादव ने बताया कि पिछडे वर्ग के ऐसे युवक, युवती जिनके अभिभावक/माता पिता की समस्त श्रोतो से आय रू0 1,00,000=00 (एक लाख )तक है को वर्ष 2017-18 में “ओ“ लेवल कम्प्यूटर प्रशिक्षण जुलाई सत्र 2017 से प्रदान किये जाने हेतु आवेदन पत्र 15 जुलाई तक आमंत्रित किये गये है।
उन्होने  प्रशिक्षण के लिए नियम व शर्तो की जानकारी देते हुए बताया कि  कम्प्यूटर प्रशिक्षण के लिए शैक्षिक योग्यता इण्टरमीडिएट उत्तीण होना आवश्यक है, बेरोजगार हो तथा किसी शिक्षण संस्था से छात्रवृत्ति न लेता हो, अधिकतम् आयु 35 वर्ष हो, तहसील से जारी आय, जाति प्रमाण पत्र जो राजस्व विभाग की बेवसाइट पर प्रदर्शित हो, हाईस्कूल, इण्टरमीडिएट का प्रमाण पत्र व अंक पत्र, अभिभावकों की वार्षिक आय रू0 एक लाख तक हो।
उन्होने संस्थाओं के चयन के सम्बन्ध में बताया कि  इण्टरमीडिएट पास युवक युवतियों को “ओ“ लेवल कम्प्यूटर प्रशिक्षण हेतु डोयक ( NIELIT) से मान्यता प्राप्त लखनऊ की संस्थाओं से प्र्र्र्र्र्स्ताव मांगे गये है, जनपद लखनऊ में स्थित डोयेक( NIELIT)  से मान्यता प्राप्त संस्थाएं 15 जुलाई तक कार्यालय समय में प्रातः 10 बजे से सायं 5 बजे तक अपना प्रस्ताव समस्त अभ्ज्ञिलेखों जिसमे मान्यता आधारभूत ढाॅंचा व प्रशिक्षकों का विवरण अनुभव सम्मिलित हो जमा कर सकते है संस्था के पास कम से कम तीन वर्ष का ओ लेवल प्रशिक्षण का अनुभव आवश्यक है।

Comments (0)

इण्डिया इन्टरनेशनल मेगो टेªड फेयर हेतु आवेदन पत्र 27 तक आमंत्रित

Posted on 24 June 2017 by admin

उपायुक्त उद्योग श्री सर्वेश्वर शुक्ला ने बताया कि 04 अगस्त 2017 से 15 अगस्त 2017 तक उत्तर प्रदेश एक्सपोर्ट काउन्सिन एवं इण्डिया एक्सोपेशनस मार्ट लि0 एय0 मार्केटिंग एसोसिएशन एवं बंगाल चैम्बर आफ कार्मस एण्ड इण्डस्ट्रीज देहली के तत्वाधान में 400.000 स्कवायर फिट में हैण्डलूम एण्ड हैण्डीक्राफ्ट, एम0एस0एन0ई0 प्रोडेक्ट्स, इन्टीरियरस, फूड हेल्थ एण्ड ब्यूटी इजूकेशन, लाइफ स्टाइल, इलेक्ट्रानिकस, इलेक्ट्रिकल एण्ड एपलाइन्सेज, चिलरेन रिलेटेड, प्रोडेक्टस, फाइनेन्श, खिलौना,स्पेर्टस गुडस आदि का इण्डिया इन्टरनेशनल मेगो टेªड फेयर का आयोजन ग्रेटर नोयडा में किया जा रहा है।इस प्रदर्शनी में देशी व विदेशी उत्पादक सहभागिता हेतु आमंत्रित किये जा रहे है। मेगा मार्ट में स्टाल का किराया ( 3MX3M) का किराया रू01,26,500=00 निर्धारित किया गया है।
उन्होने कहा कि जनपद के उत्पादक/निर्यातक इस कार्यक्रम में प्रतिभाग हेतु आमंत्रित है उक्त मेगा मार्ट में सहभगिता  हेतु इच्छुक उद्यमी/निर्यातक अपनी इकाई का विवरण अंकित करते हुए 1,26,500=00 का डिमांड ड्राफ्ट/ चेक उत्तर प्रदेश एक्सपोर्ट प्रमोशन काउन्सिल के पक्ष में तैयार कराकर कार्यालय जिला उद्योग एवं उद्यम प्रोत्साहन केन्द्र 8 कैण्ट रोड कैसरबाग लखनऊ से किसी भी कार्य दिवस में 27 जून 2017 तक आवेदन पत्र प्राप्त कर सकते है। अधिक जानकारी के लिए उ0प्र0निर्यात प्रोत्साहन ब्यूरो के फोन नम्बर 0522-2202893 या ई मेल- upepblko@gmail.com, upepc2016@gmail.com पर प्राप्त किया जा सकता है।

Comments (0)

राज्यपाल ने डा0 श्यामा प्रसाद मुखर्जी को श्रद्धांजलि अर्पित की

Posted on 24 June 2017 by admin

dsc_5633उत्तर प्रदेश के राज्यपाल श्री राम नाईक ने आज डाॅ0 श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस के अवसर पर डाॅ0 श्यामा प्रसाद मुखर्जी चिकित्सालय (सिविल अस्पताल) प्रागंण स्थित उनकी प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर प्रदेश की मंत्री श्रीमती रीता बहुगुणा जोशी, मंत्री श्री बृजेश पाठक, मंत्री श्री आशुतोष टण्डन, राज्यमंत्री श्रीमती स्वाती सिंह, विधायक श्री पंकज सिंह सहित अन्य अनेक गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।
राज्यपाल ने श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि डा0 श्यामा प्रसाद मुखर्जी का जीवन प्रेरणामयी था। उनमें अद्रभुत विद्वता थी तथा उनकी भाषा शैली की विशेषता थी कि बड़ी सहजता से वे अपनी बात दूसरों तक पहुँचा सकते थे। महज 33 वर्ष की आयु में वे कोलकाता विश्वविद्यालय के कुलपति बने थे, जो अपने आप में एक उदाहरण है। वे हिन्दू महासभा के अध्यक्ष थे। देश के प्रथम प्रधानमंत्री पं0 जवाहर लाल नेहरू के मंत्रिमण्डल में कांग्रेस के बाहर से डाॅ0 श्यामा प्रसाद मुखर्जी व डाॅ0 बी0आर0 अम्बेडकर को सदस्य बनाया गया। उन्होंने कहा कि डाॅ0 मुखर्जी ने मंत्रिपरिषद में रहते हुए उन्होंने अविस्मरणीय कार्य किये।dsc_5646
श्री नाईक ने कहा कि उद्योग मंत्री के रूप में डाॅ0 मुखर्जी ने देश में औद्योगिक विकास की नींव डाली। वे देश के औद्योगिकीकरण के जनक थे। कश्मीर को लेकर वैचारिक मतभेद होने के कारण उन्होंने मंत्रिमण्डल से त्याग पत्र दे दिया तथा भारतीय जनसंघ की स्थापना की। लोकसभा में जनसंघ के मात्र तीन सदस्य होने के बावजूद भी विपक्ष के लोगों ने एकजुट होकर डाॅ0 श्यामा प्रसाद मुखर्जी को नेता विपक्ष के रूप में मान्यता दी। विपक्ष में रहते हुए वे संसदीय परम्पराओं का सम्मान करते थे तथा प्रतिरोध भी बड़ी शालीनता से करते थे। उन्होंने कहा कि देश की स्वतंत्रता और संविधान की रक्षा के लिए डाॅ0 मुखर्जी ने अपने जीवन का बलिदान दिया।

Comments (0)

भाजपा सरकार को किसानों की कोई चिंता नहीं है

Posted on 24 June 2017 by admin

समाजवादी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चैधरी ने कहा है कि भाजपा सरकार ने अपने कार्यकाल के 100 दिन पूरे होने पर उत्तर प्रदेश की जनता के समक्ष अपना रिपोर्ट कार्ड पेश करने का इरादा जताया है। उसके रिपोर्ट कार्ड का इंतजार है पर इन सौ दिनों में जनता ने जो कुछ सहा है उसका अपना रिपोर्ट कार्ड जरूर तैयार कर लिया है। भाजपा सरकार ने अब तक कौन उल्लेखनीय कार्य किए है, जनता बखूबी जानती हैै।
किसानों, नौजवानों, व्यापारियों, महिलाओं और गरीबों का 100 दिनों में खूब उत्पीड़न हुआ है। गरीब की रोजी रोटी पर आफत है। व्यापारी लुटे पिटे हैं। महिलाओं से रोज दुष्कर्म हो रहे हैं। छात्रों, नौजवानों ने अपनी शिकायतें लेकर शांतिपूर्ण प्रदर्शन किया तो उन्हें जेल भिजवा दिया गया।
सच तो यह है कि उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार को किसानों की कोई चिंता नहीं है। अखिलेश सरकार ने 18 घण्टा गांवों में बिजली दी थी अब सिंचाई के अभाव में किसान की खरीफ की फसल सूखे की भेंट चढ़ गई है। जीएसटी लागू होने के बाद उर्वरक, कीटनाशक मंहगे हो जाएगें। प्रदेश में कर्ज से परेशान कई किसान आत्महत्या करने पर अमादा हैं। किसानों ने योग दिवस से विरत रह कर जता दिया कि वे भाजपा के दिखावटी कार्यों से प्रसन्न नहीं हैं।
वैसे तो देश भर में भाजपा सरकारों की किसान विरोधी नीतियों के चलते किसान बदहाली में जी रहे हैं। केंद्र सरकार के तीन साल के कार्यकाल में ही लगभग चालीस हजार किसान आत्महत्या कर चुके हैं। भाजपा की गलत आर्थिक नीतियों ने किसानों को बुरी दशा में पहुंचा दिया है। वे सरकारी आपदा के शिकार हो रहे हैं। क्या यही 100 दिनी रिपोर्ट कार्ड भाजपा सरकार का है?
अच्छा होता कि राग द्वेष के कारण भाजपा सरकार श्री अखिलेश यादव के समय लागू योजनाओं के नाम बदलने की कवायद करने के बजाय उनको आगे बढ़ाने का काम करती। जनता अब देखेगी कि भाजपा सरकार रिपोर्ट कार्ड में अपने कौन से काम गिनाएगी? अपनी अकर्मण्यता को छुपाने के लिए जनता को गुमराह करने की कलाओं में माहिर भाजपा की उल्टी गिनती शुरू हो गयी है अब 24 घण्टा भी नहीं बचा है।

Comments (0)

वोट प्रतिशत 42 से 60 प्रतिशत पार्टी पक्ष में लाना लक्ष्य- केशव

Posted on 23 June 2017 by admin

-मोदी जी का अद्भुद् नेतृत्व है और केन्द्र सरकार की उपलब्धियों का भण्डार हैं हम इसे जन-जन तक  ले जायेगें
जन्म शताब्दी वर्ष में प्रमुख पदाधिकारी को अभियान में जिम्मेदारी दी

press-photo_भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष श्री केशव प्रसाद मौर्य की प्रेसवर्ता के मुख्य बिन्दु
    जनसम्पर्क अभियान के अन्तर्गत 15948 अल्पकालिक विस्तारकों द्वारा 13178 सेक्टरों में 119818 बूथों पर बैठक एवं सम्पर्क अभियान 10 मई से 25 मई के बीच सम्पन्न, जिसमें कुल 1081774 नए सदस्य बने।
    केन्द्र सरकार के तीन वर्ष पूरे होने पर साल 27 मोदी फेस्ट 60 सबका साथ सबका विकास एवं 567 निकायों मे कार्यक्रम सम्पन्न हुए जिसमें 837550 लोग शामिल हुए।
    विश्व योग दिवस पर पार्टी द्वारा सभी मण्डलों पर योग के कार्यक्रम सम्पन्न हुए।
    25 से 30 जून जन कल्याण सम्मेलन मण्डल स्तर पर सम्मपन्न होंगें।
    15 से 25 जुलाई में सभी बूथों, इकाइयों पर वृक्षारोपण कार्यक्रम होगें।
    26 से 31 जुलाई - जिला संगोष्ठी।
    01 अगस्त से 07 अगस्त क्षेत्रीय संगोष्ठी एवं मण्डल स्तर पर रक्त परीक्षण का कार्यक्रम।
    08 अगस्त से 13 अगस्त सेवा सहयोगी संगम।
    09 अगस्त रक्तदान कार्यक्रम।
    20 अगस्त सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता।
    किसान मोर्चा, युवा मोर्चा, महिला वर्ग मोर्चा, अनुसूचित वर्ग मोर्चा द्वारा 15 अगस्त से 15 सितम्बर के बीच विभिन्न कार्यक्रम किये जाएगें।
    पंण्डित दीन दयाल उपाध्याय शताब्दी वर्ष कार्य योजना बैठक में 42 प्रतिशत वोट प्रतिशत को बढाकर 60 प्रतिशत प्राप्त करने हेतु जिलाध्यक्षों तथा समूचे संगठन को कार्य करने हेतु लक्ष्य दिया गया है।
    2019 में लोकसभा में 73 सीटों पर प्राप्त हुई सफलता को 80 सीटों तक ले जाना लक्ष्य है।
    हमारे पास मोदी जी का अद्भुद् नेतृत्व है और केन्द्र सरकार की उपलब्धियों का भण्डार हैं हम इसे जन-जन तक  ले जायेगें।
    पं0 दीनदयाल उपाध्याय जनशताब्दी वर्ष को सरकार व संगठन दोनों ही गरीब कल्याण वर्ष के रूप मना रही है। हम अन्त्योदय को साकार करने के लिए कार्य कर रहे है।
    तीन साल बेमिसाल कार्यक्रमों में के आयोजन में कुल लगभग 852550 लोग सहभागी हुए जिनमें मोदी फेस्ट के 27 कार्यक्रम प्रदेश में सम्पन्न हुए। 2 लाख 22 हजार एक सौ लोगों ने भाग लिया।
    सबका साथ सबका विकास के 60 कार्यक्रम सम्पन्न हुए। 1 लाख 12 हजार लोंगो ने भाग लिया।
    स्थानीय निकाय स्तर पर 567 सभाएं हुई जिसमें 5 लाख 18 हजार 4 सौ 50 लोगों ले भाग लिया।
    योग दिवस कार्यक्रम के अन्तर्गत प्रदेश के 91 जिलों तथा 1362 मण्डलों में कार्यक्रम सम्पन्न हुए जिसमें 10 लाख लोग सहभागी बनें।
भारतीय जनता पार्टी ने पं0 दीनदयाल उपाध्याय जन्म शताब्दी वर्ष में प्रमुख पदाधिकारी को अभियान में जिम्मेदारी दी है।
जनसम्पर्क अभियान, किसान मोर्चा एवं जनकल्याण सम्मेलन-प्रदेश महामंत्री विजय बहादुर पाठक, वृक्षारोपण-प्रदेश महामंत्री अशोक कटारिया, जिला संगोष्ठी एवं पिछड़ा मोर्चा-प्रदेश मंत्री अमरपाल मौर्य, क्षेत्रीय संगोष्ठी-प्रदेश उपाध्यक्ष जेपीएस राठौर, सेवा सहयोगी संगम एवं युवा मोर्चा-प्रदेश उपाध्यक्ष अश्विनी त्यागी, रक्त परीक्षण-संजय यादव, रक्तदान एवं महिला मोर्चा-नीलिमा कटियार, सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता-प्रदेश मंत्री सुभाष यदुवंश, अनुसूचित मोर्चा-प्रदेश उपाध्यक्ष रामनरेश रावत को प्रमुख जिम्मेदारी दी गई।

Comments (0)

पुरुषार्थ का कोई विकल्प नहीं हो सकता: मुख्यमंत्री

Posted on 23 June 2017 by admin

press-62मेधावी विद्यार्थियों की सफलता में उनके परिवार तथा शिक्षकों का महत्वपूर्ण योगदान है
राज्य सरकार 01 से 15 जुलाई तक ‘खूब पढ़ो, आगे बढ़ो’ अभियान चलाने का निर्णय लिया
जीवन पलायन नहीं अपितु संघर्ष, परिश्रम एवं पुरुषार्थ का नाम है
बालिकाओं को समान ही अवसर दिया जाए तो वे सभी क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य कर सकती हैं
राज्य सरकार माध्यमिक शिक्षा बोर्ड में बदलाव कर एन०सी०ई०आर०टी० पैटर्न पर शिक्षा उपलब्ध कराने के प्रति गम्भीरता से काम कर रही है
प्रदेश में 166 पं० दीन दयाल उपाध्याय माॅडर्न स्कूल खोले जाएंगे
शैक्षिक सत्र 2017-18 में रानी लक्ष्मीबाई कोष से 500 मेधावी छात्र-छात्राओं को हाॅस्टल व शिक्षा शुल्क आदि सुविधाएं राज्य सरकार देगी
मुख्यमंत्री ने उ०प्र० माध्यमिक शिक्षा परिषद सहित तीनों बोर्डाें के 147 मेधावी छात्र-छात्राओं को रानी लक्ष्मीबाई पुरस्कार से सम्मानित किया
सभी विद्यार्थियों को एक-एक लाख रु० का चेक, एक-एक टैबलेट एवं प्रशस्ति-पत्र दिया गया
मेधावी विद्यार्थियों के माता-पिता के साथ-साथ तीनों बोर्डाें के प्रथम 7 स्थान प्राप्त करने वाले संस्था के प्रधानाचार्य को भी सम्मानित किया गया
मुख्यमंत्री ने मेधावी छात्र-छात्राओं के सम्मान समारोह को सम्बोधित किया

press-34उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा है कि पुरुषार्थ का कोई विकल्प नहीं हो सकता। उन्होंने जीवन में सफलता के लिए संघर्ष को एक मात्र उपाय बताते हुए कहा कि जीवन से पलायन करना कायरता है। उन्होंने कहा कि कोई भी समाज अपनी प्रतिभाओं को प्रोत्साहित कर आने वाली पीढ़ी के लिए भविष्य का खाका तैयार कर सकती है। उन्होंने मेधावी विद्यार्थियों को आश्वस्त किया कि वर्तमान राज्य सरकार नौजवानों की प्रगति के लिए बेहतर वातावरण बनाने का काम करेगी।
मुख्यमंत्री जी आज यहां लोक भवन में प्रदेश के मेधावी छात्र-छात्राओं के सम्मान समारोह में बोल रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की हाईस्कूल एवं इण्टरमीडिएट की परीक्षा में प्रथम 10 स्थान पाने वाले 117, आई०सी०एस०ई० संस्था द्वारा संचालित कक्षा 10 व 12 के शीर्ष स्थान प्राप्त करने वाले 19 तथा सी०बी०एस०ई० बोर्ड के कक्षा 12 के 11 मेधावी विद्यार्थियों अर्थात् कुल 147 मेधावी छात्र-छात्राओं को रानी लक्ष्मीबाई पुरस्कार से सम्मानित किया। सभी मेधावी छात्र-छात्राओं को एक-एक लाख रुपये का चेक, एक-एक टैबलेट एवं प्रशस्ति-पत्र दिया गया। इस अवसर पर मेधावी छात्र-छात्राओं के माता-पिता एवं प्रत्येक बोर्ड के प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले 7 छात्र-छात्राओं की संस्थाओं के प्रधानाचार्य/प्रधानाचार्या को भी सम्मानित किया गया।7
इस अवसर पर योगी जी ने कहा कि सत्ता में आने के बाद इस सरकार द्वारा माध्यमिक शिक्षा परिषद की बोर्ड परीक्षाओं में नकल को रोकने के लिए अभियान चलाया गया था। लेकिन बिहार माध्यमिक शिक्षा परिषद के परिणामों को देखते हुए यह आशंका व्यक्त की जा रही थी कि यहां के भी परिणाम बिहार की तर्ज पर होंगे। परन्तु उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की बोर्ड परीक्षाओं के परिणाम आने के बाद यह स्पष्ट हुआ कि प्रदेश के विद्यार्थियों ने मेहनत के साथ पढ़ाई की है। इसीलिए राज्य सरकार ने प्रदेश के प्रतिभावान छात्र-छात्राओं को प्रोत्साहित करने के लिए सम्मान समारोह आयोजित करने का निर्णय लिया। उन्होंने छात्रों को सलाह देते हुए कहा कि सकारात्मक एवं अच्छी सोच के साथ परिश्रम करने पर सफलता की मंजिल तक पहुंचने से कोई रोक नहीं सकता है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि मेधावी विद्यार्थियों की सफलता में उनके साथ-साथ उनका परिवार तथा शिक्षकों ने भी एकनिष्ठ होकर प्रयास किया है। शिक्षा जगत में अच्छे एवं कर्मठ अध्यापकों की कमी नहीं है। लेकिन उन्हें कार्य करने का बेहतर वातावरण उपलब्ध कराना होगा। समाज में एक स्वस्थ प्रतिस्पर्धा का वातावरण तैयार करना होगा। राज्य सरकार अच्छे अध्यापकों एवं प्रतिभाशाली छात्रों को हर सम्भव सहायता एवं माहौल देने का हर सम्भव प्रयास करेगी।
योगी जी ने कहा कि राज्य सरकार ने 01 से 15 जुलाई, 2017 तक ‘खूब पढ़ो, आगे बढ़ो’ अभियान चलाने का निर्णय लिया है, जिससे प्रदेश का कोई भी बालक-बालिका स्कूल जाने से वंचित न होने पाए। कक्षा 8 तक के प्रत्येक विद्यार्थी को राज्य सरकार यूनीफाॅर्म, जूता-मोजा, बैग एवं पुस्तकें उपलब्ध कराने का काम करेगी। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश पूरे देश को नेतृत्व देने की क्षमता रखता है। अगर भारत को बुलन्दियों पर पहुंचाना है तो इसका रास्ता उत्तर प्रदेश से ही होकर जाएगा।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि शिक्षा को संस्कारों से जोड़े बिना विकास सम्भव नहीं है। शिक्षा ऐसी होनी चाहिए जो व्यक्ति को स्वावलम्बी बनाने के साथ-साथ उसके सर्वांगीण विकास में भी मदद करे। इन तमाम उद्देश्यों को प्राप्त करने के लिए वर्तमान राज्य सरकार गम्भीरता से काम कर रही है। इसी कड़ी में राज्य सरकार ने प्रदेश के मेधावी छात्र-छात्राओं को सम्मानित करने का काम किया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के नौजवानों को जब भी मौका मिला है उन्होंने पूरी दुनिया में अपनी प्रतिभा का परचम लहराया है। ‘अयोग्यो पुरुषोनास्ति योजकः तत्र दुर्लभः’ सूत्र वाक्य का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि समाज में कोई अयोग्य नहीं हो सकता और यदि अयोग्य है तो इसका तात्पर्य वहां कोई मार्ग दर्शक नहीं हैं। उन्होंने कहा कि योजक के रूप में शिक्षकों एवं अभिभावकों की भूमिका महत्वपूर्ण हो जाती है। यदि बच्चों की कमी बचपन में ही पहचान कर उनको सही मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित किया जाए तो सफलता निश्चित रूप से मिलेगी।8
योगी जी ने विद्यार्थियों को सलाह देते हुए कहा कि जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए कभी शाॅर्टकट का सहारा नहीं लेना चाहिए। पुरुषार्थ से ही भाग्य बदला जा सकता है। जीवन में निराशा पैदा करने वाली भावनाओं को दूर कर आशाभाव से आगे बढ़ने के लिए कठोर परिश्रम करना चाहिए। जीवन पलायन नहीं अपितु संघर्ष, परिश्रम एवं पुरुषार्थ का नाम है। उन्होंने इस बात पर खुशी जाहिर की कि जिन 147 मेधावी छात्र-छात्राओं को सम्मानित किया जा रहा है, उनमें 99 बालिकाएं हैं। उन्होंने कहा कि बालिकाएं सभी क्षेत्रों में अच्छा कार्य कर रही हैं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि बालिकाओं को लेकर समाज के कतिपय लोगों में जो गलत धारणा बन गयी है उसे बदलना होगा। विभिन्न बोर्ड के परिणामों को प्रदेश के लिए सुखद बताते हुए उन्होंने कहा कि कई राज्यों में बालकों की अपेक्षा बालिकाओं की संख्या घट रही है। इसीलिए प्रधानमंत्री जी को ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ का अभियान चलाना पड़ा। उन्होंने भू्रण हत्या एवं बालिकाओं को विद्यालय न भेजने वालों के कृत्य को निन्दनीय बताते हुए इस धारणा में परिवर्तन की सख्त जरूरत पर बल दिया। उन्होंने इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त किया कि प्रदेश में बालिकाएं सभी क्षेत्रों में आगे बढ़ रही हैं। स्पर्धा में अपने को सक्षम बनाते हुए अच्छा स्थान प्राप्त कर रही हैं। इससे स्पष्ट है कि अगर बालिकाओं को बालकों के समान ही अवसर दिया जाए तो वे सभी क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य कर सकती हैं।
ज्ञातव्य है कि मुख्यमंत्री जी ने अपने सम्बोधन मंे माध्यमिक शिक्षा परिषद की हाईस्कूल परीक्षा में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली सुश्री तेजस्वी देवी, इण्टरमीडिएट परीक्षा की टाॅपर सुश्री प्रियांशी तिवारी, आई0एस0सी0 (कक्षा-12) की टाॅपर सुश्री आयुषी श्रीवास्तव तथा सी०बी०एस०ई० की कक्षा 12वीं की आॅल इण्डिया टाॅपर सुश्री रक्षा गोपाल का विशेष रूप से उल्लेख किया।
उप मुख्यमंत्री डाॅ० दिनेश शर्मा ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि वर्तमान राज्य सरकार शिक्षा में सुधार के लिए लगातार चिन्तन-मनन कर रही है। राज्य सरकार ‘खूब पढ़ो, आगे बढ़ो’ के अभियान को एक जुलाई, 2017 से शुरू करने जा रही है। इससे शत-प्रतिशत साक्षरता दर प्राप्त की जा सकेगी। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालयों में शैक्षिक कैलेण्डर में 220 दिन पढ़ाई के लिए होंगे तथा 20 दिन माॅनिटरिंग के लिए होंगे। राज्य सरकार कोचिंग सिस्टम को भी कम करने का प्रयास कर रही है। आने वाले समय में माध्यमिक शिक्षा बोर्ड में बदलाव कर एन०सी०ई०आर०टी० पैटर्न पर शिक्षा उपलब्ध कराने के प्रति गम्भीरता से काम कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 166 पं० दीन दयाल उपाध्याय माॅडर्न स्कूल भी खोले जाएंगे।
महिला कल्याण मंत्री श्रीमती रीता बहुगुणा जोशी ने मेधावी छात्र-छात्रओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज का दिन इन मेधावियों के लिए विशेष महत्व का है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार पढ़ाई की बेहतरी के लिए कार्य कर रही है और पढ़ाई का वातावरण तैयार कर रही है, जिससे बच्चों में पढ़ाई के प्रति लगन बढ़ी है। उन्होंने कहा कि अगले शैक्षिक सत्र 2017-18 में रानी लक्ष्मीबाई कोष के माध्यम से 500 मेधावी छात्र-छात्राओं को हाॅस्टल व शिक्षा शुल्क सहित अन्य सुविधाएं राज्य सरकार देगी।
इस अवसर पर माध्यमिक शिक्षा राज्य मंत्री श्री संदीप सिंह, अपर मुख्य सचिव माध्यमिक एवं उच्च शिक्षा श्री संजय अग्रवाल, प्रमुख सचिव सूचना श्री अवनीश कुमार अवस्थी, प्रमुख सचिव महिला कल्याण सुश्री रेणुका कुमार, शिक्षणगण सहित अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।

Comments (0)

श्रम कल्याण की विभिन्न योजनाओं के अन्तर्गत 9518 श्रमिक लाभान्वित

Posted on 23 June 2017 by admin

सूचना अधिकार अधिनियम-2005 के तहत शामली निवासी श्री मोहसिन ने दिनांक 30.05.2016 को अपर श्रम अधिकारी, शामली को आवेदन-पत्र देकर जानकारी चाही थी कि विगत वर्ष श्रम आयुक्त उ0प्र0 भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड उ0प्र0 द्वारा कितने श्रमिक लाभार्थियों को योजना का लाभ दिया गया है। उन्हें किस योजना के तहत लाभ दिया गया है, किस आधार पर श्रमिक लाभार्थी का चयन किया गया है, चयन प्रक्रिया एवं चयनित लाभार्थियों की प्रमाणित छायाप्रति उपलब्ध कराये। मगर विभाग द्वारा वादी को कोई जानकारी नहीं दी गयी। सूचनाएं प्राप्त न होने पर वादी ने राज्य सूचना आयोग में अपील दाखिल कर वांछित जानकारी चाही है।
इस प्रकरण में राज्य सूचना आयुक्त श्री हाफिज उस्मान ने अपर श्रम अधिकारी, शामली को सूचना का अधिकार अधिनियम-2005 की धारा 20 (1) के तहत नोटिस जारी कर आदेशित किया कि वादी के प्रार्थना-पत्र की सभी सूचनाएं वादी को अगले 30 दिन के अन्दर उपलब्ध कराते हुए, आयोग को अवगत कराये, अन्यथा जनसूचना अधिकारी स्पष्टीकरण देंगे कि वादी को सूचना क्यों नहीं दी गयी है, क्यों न उनके विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही की जाये।
अपर श्रम अधिकारी, शामली से सहायक श्रमायुक्त श्री धनश्याम सिंह, उपस्थित हुए। उन्होंने आयोग को प्रकरण के सम्बन्ध में अवगत कराया कि विगत वर्ष श्रम आयुक्त उ0प्र0 एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड की योजना के अन्तर्गत जनपद शामली में कुल 9518 पात्र श्रमिक लाभार्थी को मेला लगाकर योजना का लाभ दिया गया है, जिस पर कुल रू0 3,25,00,000 (रू0 तीन करोड़, पच्चीस लाख) व्यय हुए हैं, इस आशय की जानकारी प्रतिवादी ने आयोग को दी है।

Comments (0)

वित्त विभाग के सभी विभागों की निर्माणाधीन परियोजनाओं के क्रियान्वयन में टाइम/काॅस्ट ओवर रन को नियंत्रित करने के निर्देश दिए

Posted on 23 June 2017 by admin

परियोजना का कार्य प्रारम्भ/पूर्ण होने संबंधी आवश्यक क्लीयेरेन्स प्राप्त करना आवश्यक

उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रदेश में निर्माणाधीन परियोजनाओं के क्रियान्वयन में टाइम/काॅस्ट ओवर रन को नियंत्रित करने की व्यवस्था की है। अब परियोजना का कार्य प्रारम्भ करने से पहले सभी आवश्यक क्लीयेरेन्स पर्यावरण तथा वन विभागों/संस्थाओं से प्राप्त करना अनिवार्य होगा। इसके साथ ही धन की उपलब्धता भी सुनिश्चित करना जरूरी होगा।
वित्त विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार निर्माणाधीन परियोजनाओं की मूल लागत/पूर्ण होने की अवधि में विभिन्न कारणों से वृद्धि होने के परिणाम स्वरूप यहां सरकार के संसाधनों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है वहीं जनमानस को परियोजना का लाभ ससमय नहीं मिल जाता है।
वित्त विभाग द्वारा समस्त अपर मुख्य सचिवों, प्रमुख सचिवों तथा सचिवों से अपेक्षा की गई है कि परियोजना की डी0पी0आर0 का गठन अद्यतन उपलब्ध सेड्यूल्ड आॅफ डेट के आधार पर किया जाए। इसके साथ ही परियोजना हेतु भूमि की लागत को डी0पी0आर0 में शामिल किया जाए। यदि उपलब्ध भूमि निःशुल्क है तो उसका उल्लेख भी डी0पी0आर0 में किया जाना आवश्यक होगा। परियोजना की अवधि 01 वर्ष से अधिक होने पर प्रतिवर्ष मुद्रास्फीति का संज्ञान लेकर ही डी0पी0आर0 तैयार की जाए।
परियोजना की डी0पी0आर0 में (जीरो डेट) परियोजना प्रारम्भ होने तथा परियोजना के पूर्ण होने की तिथि आदि का भी उल्लेख करना आवश्यक होगा। परियोजना की डी0पी0आर0 अनुमोदित होने एवं तकनीकी स्वीकृति जारी होने के बाद ही परियोजना की वित्ततीय स्वीकृति दी जायेगी। विभागों द्वारा कार्यदायी संस्था के माध्यम से निर्माण कार्य कराये जाने की दशा में परियोजना की डी0पी0आर0 में वर्णित प्राविधानों के साथ एम0ओ0यू0 किया जायेगा। कार्यदायी संस्था द्वारा निर्धारित शर्तों के तहत कार्य पूर्ण न करने की दशा में पेनाल्टी का प्रावधान भी एम0ओ0यू0 में उल्लिखित करना आवश्यक होगा।
वित्त विभाग के अनुसार परियोजना के डिजाइन एवं विशिष्टताओं में सामान्यतः कोई परिवर्तन नहीं होगा। अपरिहार्य परिस्थितियों में यदि परिवर्तन आवश्यक हो जाता है तो वित्त विभाग से अनुमोदन प्राप्त करना होगा। प्रत्येक विभाग द्वारा अपने विभाग के अन्तर्गत संचालित समस्त परियोजनाओं का पूर्ण विवरण जैसे-परियोजना का नाम, लागत, कार्य प्रारम्भ/पूर्ण होने की तिथि, भौतिक प्रगति, परियोजना पर अद्यतन व्यय, आज का विवरण विभागीय वेबसाइट पर प्रदर्शित करना अनिवार्य कर दिया गया है। इसके साथ ही प्रत्येक माह की 15 तारीख तक अपडेट करना आवश्यक कर दिया गया है।

Comments (0)

भारत सरकार से स्वीकृत परियोजनाओं पर शीघ्र कार्य प्रारम्भ होगा

Posted on 23 June 2017 by admin

सभी कार्य गुणवत्ता, पारदर्शिता एवं समयबद्धता से होंगे -केशव प्रसाद मौर्य

उप मुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये है कि भारत सरकार से स्वीकृत परियोजनाओं की कार्य योजना बनाकर समय से पूरा करना सुनिश्चित किया जाय। उन्होंने कहा कि परियोजनाओं को पूर्ण करने हेतु समयबद्धता एवं गुणवत्ता का पूर्ण ध्यान रखा जाय इसमें किसी प्रकार की शिथिलता नहीं बरती जानी चाहिए।
उन्होंने बताया कि 6260 किमी. लम्बे 63 मार्गों  को नेशनल हाई-वे में परिवर्तित करने की सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय की सहमति प्राप्त हो गयी है तथा केन्द्रीय मार्ग निधि के तहत उत्तर प्रदेश को 10,000 करोड़ रुपये की स्वीकृति भी मिल गयी है। श्री मौर्य ने कहा कि बुन्देलखण्ड के विकास हेतु झांसी से जालौन-उरई होते हुए आगरा लखनऊ एक्सप्रेस-वे तक 06 लेन राष्ट्रीय राज मार्ग की सहमति भारत सरकार से मिल गयी है इस 320 किमी0 लम्बे मार्ग पर 10,000 करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे। इसके साथ ही 380 किमी. लम्बे झांसी, चित्रकूट, इलाहाबाद राष्ट्रीय राजमार्ग को चार लेन में परिवर्तित करने की सहमति भी भारत सरकार ने दी है।
उप मुख्यमंत्री ने कहा कि गोवर्धन विकास हेतु नये राष्ट्रीय राजमार्ग के निर्माण पर सहमति मिल गयी है अब राष्ट्रीय राज मार्ग 2 व राष्ट्रीय राज मार्ग 11 के मध्य राष्ट्रीय राज मार्ग का निर्माण तथा गोवर्धन मार्ग का निर्माण चार लेन का होगा। 99 किमी. लम्बे इस प्रस्तावित मार्ग पर 4645 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है। इसी प्रकार गोरखपुर में दो राष्ट्रीय मार्गों को जोड़कर 1500 करोड़ रुपये की लागत से 30 किमी. लम्बे वाईपास का निर्माण किया जायेगा।
श्री मौर्य ने बताया कि इलाहाबाद में 4500 करोड़ की लागत से 76 किमी लम्बे इनर रिंग रोड के निर्माण की स्वीकृति भी भारत सरकार से मिल गयी है जिस पर शीघ्र कार्य योजना तैयार कर काम शुरू कर दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि इलाहाबाद में गंगा नदी पर 2460 करोड़ की लागत से 04 किमी0 लम्बे 06 लेन सेतु के निर्माण हेतु भारत सरकार से सहमति प्राप्त हो गयी है इस पुल का निर्माण शीघ्र किया जायेगा। श्री मौर्य ने बताया कि कानपुर व मेरठ, बरेली एवं मुरादाबाद में रुपये 10,900 करोड़ की लागत से वाईपास/रिंगरोड बनाये जाने हेतु भूतल परिवहन मंत्रालय भारत सरकार की स्वीकृति प्राप्त हो गई है। श्री मौर्य ने कहा कि भारत सरकार से स्वीकृत सभी परियोजनाओं पर शीघ्र कार्य प्रारम्भ होगा तथा कार्य की गुणवत्ता तथा सयमबद्धता पर विशेष ध्यान दिया जायेगा।

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

June 2017
M T W T F S S
« May    
 1234
567891011
12131415161718
19202122232425
2627282930  
-->







 Type in