*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Archive | लखनऊ.

सूचना उपलब्ध न कराने के दोषी 19 जनसूचना अधिकारियों पर लगाया 4.60 लाख रुपये का अर्थदण्ड

Posted on 15 December 2017 by admin

लखनऊः 15 दिसम्बर 2017
राज्य सूचना आयुक्त श्री हाफिज उस्मान ने आरटीआई अधिनियम के तहत 19 अधिकारियों को सूचना न उपलब्ध कराने का दोषी मानते हुए 4.60 लाख रुपये का अर्थदण्ड लगाया है। आयोग ने इन अधिकारियों को कारण बताओं नोटिस जारी कर वादी को 30 दिन में सूचना उपलब्ध कराने को कहा था।
श्री उस्मान द्वारा उपलब्ध करायी गई सूचना के अनुसार इन अधिकारियों में जन सूचना अधिकारी, अपर जिलाधिकारी, सम्भल पर 10,000 रुपये तथा अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व, मुजफ्फरनगर, उपजिलाधिकारी तहसील शामली जनपद शामली, तहसीलदार तहसील बिलारी, मुरादाबाद, तहसीलदार चन्दौसी, सम्भल, उ0प्र0 आवास एवं विकास परिषद, मुरादाबाद, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, शामली, नगर नगम, मुरादाबाद, जिला पंचायत राज अधिकारी, मुरादाबाद, जिला विकास अधिकारी, शामली, विकास प्राधिकरण, सहारनपुर, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, सम्भल, जिला विद्यालय निरीक्षक, मुजफ्फरनगर, जिला समाज कल्याण अधिकारी, सहारनपुर, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, बिजनौर, सहायक विकास अधिकारी पंचायत विकास क्षेत्र कोतवाली, बिजनौर, खण्ड विकास अधिकारी विकास खण्ड मिलक, रामपुर, ग्राम पंचायत अधिकारी खमरिया, मिलक, रामपुर, ग्राम पंचायत अधिकारी पिन्डौरा जहांगीरपुर ऊन, शामली पर 25-25 हजार रुपये का अर्थदण्ड अधिरोपित किया है।
एक अन्य मामले में राज्य सूचना आयुक्त श्री हाफिज उस्मान ने पूर्णरूप से सूचना न देने वाले ग्राम पंचायत अधिकारी लिसाढ विकास खण्ड कांधला, शामली पर 5000 रुपये, अधिशासी अभियन्ता, विद्युत वितरण खण्ड खतौली, मुजफ्फरनगर पर 2,000 रुपये तथा बन्दोबस्त अधिकारी चकबन्दी, सम्भल पर 1,000 रुपये का अर्थदण्ड लगाते हुए बतौर क्षतिपूर्ति वादी को कुल 8,000 रुपये (आठ हजार रुपये) दिलाया।

Comments (0)

एमएसडीपी के तहत 40 इण्टर कालेजों, 13 आईटीआई, तीन पाॅलीटेक्निक भवनों का निर्माण पूर्ण

Posted on 15 December 2017 by admin

लखनऊः 15 दिसम्बर, 2017
भारत सरकार द्वारा संचालित मल्टीसेक्टोरल डेवलपमेंट प्लान (एमएसडीपी) के तहत उत्तर प्रदेश के अल्पसंख्यक बाहुल्य क्षेत्रों में शिक्षा की बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए इस वर्ष 40 राजकीय इण्टर कालेजों, 13 औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों (आईटीआई) तथा 03 पाॅलीटेक्निक संस्थाओं का निर्माण कार्य पूरा कराया गया है। इन संस्थाओं में आगामी शैक्षणिक सत्र से पठन-पाठन कार्य शुरु किया जाएगा। साथ ही इन क्षेत्रों में पेयजल की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए 09 पेयजल योजनाएं पूरी कराई गई हैं, जिन्हें जल निगम द्वारा संचालित किया जा रहा है।
यह जानकारी प्रमुख सचिव, अल्पसंख्यक कल्याण, श्रीमती मोनिका एस. गर्ग ने दी। उन्होंने बताया कि इन क्षेत्रों में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य की बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराने के उद्देश्य से इस वर्ष एक सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, 32 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों तथा 06 होम्योपैथिक/आयुर्वेदिक/एलोपैथिक चिकित्सालयों का निर्माण कार्य पूरा किया गया है।
श्रीमती गर्ग ने बताया कि इस वर्ष इन क्षेत्रों में 06 राजकीय आयुर्वेदिक चिकित्सालयों तथा 16 राजकीय इण्टर कालेजों के भवन निर्माण का कार्य शुरु कराया गया है। इसके अलावा पेयजल की 84 पाइप्ड परियोजनाओं की भी स्थापना की जा रही है।
प्रमुख सचिव ने बताया कि समाज के विभिन्न वर्गों में सद्भाव एवं समरसता की भावना पैदा करने के उद्देश्य से राज्य सरकार द्वारा 48 चयनित जिलों में सद्भाव मण्डप स्थापित किए जाने का निर्णय लिया गया है। इसके लिए 18 जिलों में भूमि का चयन कर सद्भाव मण्डप के निर्माण की कार्यवाही की जा रही है।

Comments (0)

समता और न्याय पर आधारित समाज के निर्माण में लगें छात्र- राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद

Posted on 15 December 2017 by admin

सुरेन्द्र अग्निहोत्री, लखनऊ, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा है कि युवाओं को नौकरी के बजाय खुद अपने कारोबार पर ज़ोर देना चाहिए। लखनऊ में बाबा साहब भीमराव अंबेडकर केंद्रीय विश्व विद्यालय के सातवें दीक्षांत समारोह में राष्ट्रपति ने कहा कि नौकरी में सीमा तय कर दी जाती है जबकि निजी कारोबार में व्यक्ति प्रतिभा के अनुरूप कितना भी विकास कर सकता है। वाट्सएप के संस्थापक ब्रायन एक्टन का उदाहरण देते हुए श्री कोविंद ने कहा कि उन्हें जिस फेसबुक ने नौकरी नहीं दी उसी ने ऊंची कीमत पर उनका वाट्सएप खरीदा।1-1
राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर विश्व विद्यालय ने सामाजिक सरोकारों से जुड़े कई कदम उठाए हैं। उन्होने विश्व विद्यालय के पूर्व छात्रों का एक सेल बनाने का भी आग्रह किया, इस सेल के जरिये विश्व विद्यालय के छात्र पूर्व छात्रों का अनुभव साझा कर सकेंगे और उनका समर्थन हासिल कर सकेंगे।राष्ट्रपति ने छात्रों से समता और न्याय पर आधारित समाज के निर्माण में योगदान का आहवाहन किया। उन्होने कहा कि जब देश विकसित होगा, सबका विकास होगा। लखनऊ की तहजीब की प्रशंसा करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि इसमे सभी को आदर देने की भावना निहित है। 23
उन्होने कहा कि लखनऊ से बाबा साहब अंबेडकर का खास रिश्ता रहा है। उन्हें दीक्षा देने वाले भदंत प्रज्ञानन्द जी यहीं के थे। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की कार्यशैली की प्रशंसा करते हुए श्री कोविंद ने कहा कि लखनऊ ने उन्हे अपना प्रतिनिधि चुना। सरदार वल्लभ भाई पटेल का भी आज उनकी पुण्य तिथि पर श्री कोविंद ने स्मरण किया।
श्री कोविंद ने कहा कि इस विश्व विद्यालय के साथ उनका बड़ा पुराना संबंध है। जब वे राज्य सभा के सदस्य थे इस विश्व विद्यालय की प्रबंध समिति में भी सदस्य हुआ करते थे। श्री कोविंद ने कहा कि आज विशाल वृक्ष के रूप में परिणित इस विश्व विद्यालय को देखकर उन्हें अपार हर्ष हो रहा है। उन्होने कहा कि आज बेटियां तरक्की की राह पर आगे हैं। उन्होने कहा की बाबा साहब समानता की बात करते थे लेकिन बेटियां हर क्षेत्र में बढ़चढ़ कर योगदान कर रही हैं। 7
प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि आज के कड़ी स्पर्धा के युग में युवा को मेहनत करने की आवश्यकता है। चरेवेति- चरेवेति का मंत्र देते हुए श्री राम नाईक ने छात्रों से कहा कि वे असफलता पर निराश न हों बल्कि अपना परीक्षण करें और आगे बढ़ें। उन्होने कहा कि किसी भी छात्र के जीवन में दीक्षांत समारोह का विशेष महत्व होता है। यह वह पड़ाव है जहां किताब की पढ़ाई समाप्त हो जाती है और जीवन की लड़ाई शुरू होती है। राज्यपाल ने उल्लेखनीय कामयाबी के लिए छात्राओं का विशेष रूप से अभिनंदन किया।
इससे पूर्व कुलपति प्रोफेसर सोबती ने अतिथियों का स्वागत करते हुए विश्व विद्यालय द्वारा किए गए विशेष कार्यों का ब्योरा दिया। कार्यक्रम में राष्ट्रपति की पत्नी और देश की प्रथम महिला नागरिक श्रीमती सविता कोविंद, प्रदेश के कैबिनेट मंत्री आशुतोष टंडन, न्यायाधीश प्रमोद कोहली और विश्व विद्यालय अनुदान आयोग के अध्यक्ष डॉ वीएस चौहान खास तौर पर मौजूद रहे।
दीक्षांत समारोह में 566 छात्राओं सहित कुल 1079 विद्यार्थियों को उपाधि दी गई। तथा 122 छात्राओं और 70 छात्रों को पदक दिए गए।

Comments (0)

उपविजेता मिस इंडिया खादी इशिता शर्मा फैशन शो में करेंगी खादी का प्रचार

Posted on 15 December 2017 by admin

लखनऊ 15 दिसंबर, 2017: आगामी 30 दिसम्बर को मिस इंडिया खादी, उत्तर प्रदेश खादी बोर्ड द्वारा लगायी जाने वाली खादी परिधानों की प्रदर्शनी में मिस इंडिया खादी अखिल भारतीय खादी फैशन शो आयोजित किया जाएगा।

लखनऊ में होने वाले इस फैशन शो में बतौर मुख्य अतिथि भारत के राष्ट्रपति, महामहिम रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के भी शामिल होने की संभावना है।
ishita-sharma_shoot
इस फैशन शों में एमिटी विश्वविद्यालय लखनऊ परिसर के एमिटी इंस्टीट्यूट आॅफ आॅर्किटैक्चर एण्ड प्लानिंग की छात्रा इशिता शर्मा जो कि, मिस इंडिया खादी प्रतियोगिता, उत्तर प्रदेश खादी बोर्ड की उपविजेता हैं, भी शामिल होंगी। इशिता खादी परिधानों को युवावर्ग के बीच लोकप्रिय बनाने के अभियान से जुड़ी हुई हंै।

लोगों के बीच खादी को लोकप्रिय बनाने और खादी को आधुनिक जीवन शैली के अनुरूप ढ़ालने की दिशा में एक प्रयास के फलस्वरू राजधानी लखनऊ से प्रारम्भ हुई मिस इंडिया खादी अखिल भारतीय खादी प्रतियोगिता आज देश के लिए खादी का गौरव बन चुकी है।

एमिटी की छात्रा इशिता बताती हैं कि, इस प्रतियोगिता के फाइनल राउंड तक पहुचना उनके लिए सपने सरीखा है। इस प्रतियोगिता मे शामिल होकर न केवल उन्हें एक राष्ट्रीय मंच मिला है बल्कि स्वदेशी खादी के लोकप्रिय बनाने की मुहिम से जुड़ने और देश-समाज के लिए कुछ करने का मौका भी है।

इशिता का कहना है कि, खादी भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में अंग्रेजों से भारत को मुक्त कराने का बड़ा हथियार था पर दुख की बात है कि आज हम खादी को भूलते जा रहे हैं। खादी को लोकप्रिय बनाने के लिए इसे आधुनिक रंग में ढ़ालकर खास तौर पर युवा वर्ग को इससे जोड़ना होगा। इसक लिए जनजागरूकता बढ़ाने की भी आवश्यकता है।

इशिता अपने जीवन में योग का नियमित अभ्यास करती हैं और मिट्टी के माॅडल बनाना भी उनकी दिनचर्या में शामिल है। उनका कहना है कि, वो इन माडलों को बेचकर जुटने वाले धन को सामाजिक कार्याें में लगाएंगी।

Comments (0)

यूपी में बिजली की बढ़ी दरों के खिलाफ ‘आप’’ करेगी प्रदेश व्यापी संघर्ष – संजय सिंह

Posted on 15 December 2017 by admin

लखनऊ,आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता, उत्तर प्रदेश प्रभारी संजय सिंह एवं राष्ट्रीय प्रवक्ता आशुतोष ने निकाय चुनाव परिणाम के बाद शुक्रवार को राजधानी में अवध प्रान्त के 21 जनपदों के पदाधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की और इसके उपरांत जिले की टीम एवं जीते हुए सभी प्रत्याशियों को मोमेंटो, मफलर और प्रमाणपत्र देकर सम्मानित किया |

img_20171215_124018-1 इस दौरान प्रेसवार्ता करते हुए संजय सिंह ने कहा आम आदमी पार्टी पहली बार उत्तर प्रदेश में निकाय चुनाव के मैदान में उतरी और पहले चुनाव में ही पार्टी ने अपनी मजबूत उपस्थित दर्ज की इसके लिए प्रदेश की जनता को बधाई दी | जीते हुए सभी पार्षद और चेयरमैन अपने वार्डों और नगरपालिकाओं में इमानदारी से काम करते हुए दिल्ली के काम के जरिये उतर प्रदेश की जनता के विश्वास को जीतने का प्रयास करेंगे |
img-20171215-wa0097-1
संजय सिंह ने योगी सरकार द्वारा यूपी में बिजली की बढ़ी दरों के खिलाफ संघर्ष का एलान करते हुए कहा कि प्रदेश भर में 20 दिसम्बर से इसके लिए हस्ताक्षर अभियान, मशाल जुलूस जैसे कार्यक्रमों के माध्यम से अनवरत आन्दोलन चलाया जायेगा और इसके बाद शक्ति भवन पर मजबूत प्रदर्शन किया जायेगा | उन्होंने कहा कि योगी सरकार ने ग्रामीण इलाके में 150% महंगी बिजली करने से किसानों और आम आदमी की कमर तोड़ दी है और दूसरी तरफ उद्योगपतियों के लिए बिजली के दाम न बढ़ाना योगी की आम आदमी के खिलाफ मानसिकता को दर्शाती है | दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने शिक्षा, स्वास्थ्य, पानी और बिजली पर अनुकरणीय काम किया है और पिछले तीन सालों में बिजली के दाम नहीं बढ़ने दिए | देश में सबसे सस्ती बिजली दिल्ली की केजरीवाल सरकार दिल्ली की जनता को उपलब्ध करा रही है | यदि सरकार सही नियत से काम करे तो सरकार के खजाने में पैसे की नहीं है | योगी सरकार को दिल्ली की केजरीवाल सरकार से काम करना सीखना चाहिए |

उन्होंने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर हमला बोलते हुए कहा कि ध्वस्त कानून व्यवस्था के जिम्मेदार केवल भाजपा के गुंडे है जो थानों में घुसकर गली गलौज करते है , सरेआम पुलिस वालों की पिटाई कर रहे हैं | भाजपा के नेता नफरत की बुनियाद पर उत्तर प्रदेश को बनाना चाहते हैं | प्रदेश के निकाय चुनाव में भाजपा की बुरी तरह से हार हुई है, 12 हजार वार्डों में से 10 हजार वार्डों में भाजपा हारी है |

उन्होंने योगी सरकार ने किसानो के एक लाख के कर्ज माफ़ी पर किसानों को दो रुपया, चार रुपया की चेक देकर उनके साथ धोखा किया है | सरकार से किसानों को एक लाख रुपया का कर्ज माफ़ करवाने के लिए पार्टी किसानों को लामबंद कर प्रदेश व्यापी अभियान चलाया जायेगा |

उन्होंने हाल में ही हुए गुजरात चुनाव पर प्रतिक्रिया करते हुए कहा कि गुजरात में भाजपा के 22 सालों के कुशासन से जनता में आक्रोश है | भाजपा के केन्द्रीय मंत्रियों को बेलन लेकर भगाया गया, सूरत में भी भयंकर विरोध झेलना पड़ा यदि इसके बाबजूद वहां से भाजपा जीतती है तो निश्चित रूप से EVM से खेल हुआ है | उन्होंने बताया कि गुजरात सरकार की गुजरात स्टेट पेट्रोलियम कार्पोरेशन की एक संस्था है जिसने जिओ ग्लोबल कंपनी को गैस का ठेका दिया था और इस कंपनी ने 20 हजार करोड़ का घोटाला कर दिया | इसी कंपनी के मालिक की एक और कंपनी जो माइक्रोचिप बनाने का काम करती है जिसे EVM में चिप लगाने का भी काम मिला था साथ ही उन्होंने बताया कि वर्तमान मुख्य चुनाव आयुक्त ए के ज्योति पूर्व में गुजरात स्टेट पेट्रोलियम कार्पोरेशन की एक संस्था के चेयरमैन भी थे और गुजरात सरकार में मुख्य सचिव के पद पर भी रहे हैं | मुख्य चुनाव आयुक्त के भाजपा से कनेक्शन का खुलासा होना चाहिए |

आज की समीक्षा बैठक में प्रमुख रूप से अवध जोन संयोजिका ब्रज कुमारी, प्रदेश प्रवक्ता वैभव माहेश्वरी, सभाजीत सिंह सहित अवध प्रान्त के जिला संयोजक उपस्थित थे |

Comments (0)

बिजली की बढ़ी दरों का पुरजोर विरोध किया

Posted on 15 December 2017 by admin

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा है कि समाजवादी पार्टी ने बिजली की बढ़ी दरों का प्रारम्भ से ही विरोध किया है क्योंकि इससे ग्रामीण अर्थव्यवस्था बुरी तरह प्रभावित होगी। अभी विधानमण्डल के दोनों सदनों विधानसभा और विधान परिषद में समाजवादी पार्टी के विधायकों ने भी बिजली की बढ़ी दरों का पुरजोर विरोध किया है। समाजवादी पार्टी के विधायकों को दोनों सदन के वेल में जाने को मजबूर होना पड़ा। यह भाजपा सरकार की मनमानी का ही नतीजा है कि सदनों की गरिमा एवं सम्मान का भाजपा को ख्याल नही रहता है। सरकार की यह संवैधानिक जिम्मेदारी है कि उसे लोकतंत्र में जनता की आवाज को अनसुना नहीं करना चाहिए। जन समस्याओं की आवाज सदन के माध्यम से सरकार तक पहुंचाना विपक्ष की जिम्मेदारी है।
खेद है कि भाजपा सरकार अपनी हठधर्मी पर तुली हुई है। उसने बिजली की बढ़ी दरें वापस लेनेे की मांग पर चुप्पी साध रखी है। भाजपा सरकार को विपक्ष की आवाज सुनाई नहीं दे रही है। जबसे भाजपा सरकार बनी है विद्युत व्यवस्था चरमरा गई है। बिजली कटौती से लोग परेशान हैं।
भाजपा सरकार ने बिजली की दरों में अचानक भारी वृद्धि कर साबित कर दिया है कि उसका गांव, गरीब और किसान से कोई वास्ता नहीं है। अनमीटर्ड ग्रामीण उपभोक्ताओं की दरों में 67 से 150 फीसदी और किसानों की दरों में 50 से फीसद की वृद्धि से किसान बुरी तरह आहत हैं। एक तो किसान को वैसे ही फसल का लागत मूल्य भी नहीं मिल पा रहा है दूसरे उस पर बिजली की बढ़ी दरें भी थोप दी गई है।
समाजवादी सरकार के समय विद्युत उत्पादन का बुनियादी ढांचा विकसित कर 8500 मेगावाट से 16500 मेटावाट उत्पादन की व्यवस्था की गई थी। ग्रामीण क्षेत्रों में 14 से 16 घंटे तथा शहरी क्षेत्रों में 22 से 24 घंटे तक विद्युत आपूर्ति भी तब होती थी। भाजपा सरकार ने ये सभी व्यवस्थाएं समाप्त कर दी है। अब अपनी कमियां छुपाने के लिए भाजपा ने किसानों ओर ग्रामीणों को दण्ड़ित करने का काम षुरू कर दिया है। बिजली की बढ़ी दरों की वापसी होने तक इसका समाजवादी पार्टी विरोध करती रहेगी। एक तो भाजपा सरकार ने एक यूनिट भी बिजली का उत्पादन किया नहीं दूसरे भाजपा सरकार किस नैतिक अधिकार से दरों में वृद्धि कर सकती है? यह गरीबों और किसानों के साथ घोर अन्याय है। समाजवादी पार्टी की मांग है कि विद्युत दरों की वृद्धि पूरी की पूरी वापिस की जाये।

Comments (0)

‘पहले किसान, फिर कोई दूजा काम’ मूलमंत्र है भाजपा सरकार का - डा0 चन्द्रमोहन

Posted on 15 December 2017 by admin

लखनऊ 15 दिसम्बर 2017, भारतीय जनता पार्टी ने कहा कि प्रदेश में सत्ता संभालने के बाद से ही मुख्यमंत्री माननीय श्री योगी आदित्यनाथ की यह सोच रही है कि किसानों की खुशहाली के बगैर राज्य में खुशहाली नहीं लाई जा सकती है। अपनी इसी सोच को मूर्तरूप देने के लिए मुख्यमंत्री सत्ता संभालने के पहले दिन से किसानों के कल्याण की दिशा में लगातार कदम बढ़ा रहे हैं।
प्रदेश पार्टी मुख्यालय पर पत्रकारों से चर्चा करते हुए प्रदेश प्रवक्ता डा0 चन्द्रमोहन ने कहा कि मुख्यमंत्री जी की यही चिंता आइएएस वीक के पहले दिन अधिकारियों को संबोधित करते वक्त भी झलकी। मुख्यमंत्री जी ने अधिकारियों से दो टूक शब्दों में कह दिया कि किसान भाजपा सरकार के केंद्रबिंदु में है और अगर किसान परेशान हुए तो अधिकारी ही जिम्मेदार माने जाएंगे। इतना ही नहीं प्रदेश की भाजपा सरकार ने किसानों के हित को देखते हुए ही प्रदेश में ‘मुख्यमंत्री किसान एवं सर्वहित बीमा योजना’ लागू करने जा रही है। इसमें गरीब किसानों को ढाई लाख रुपए तक का इलाज मुफ्त में कराने की सुविधा होगी।
प्रदेश प्रवक्ता डा0 चन्द्रमोहन ने कहा कि इस फैसले से प्रदेश के लाखों किसान लाभान्वित होंगे। किसानों के हित को ध्यान में रखते हुए ही मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी 23 दिसंबर को किसान दिवस के मौके पर बागपत में रमाला चीनी मिल के विस्तारीकरण के साथ कोजन प्लांट का शिलान्यास करेंगे। बागपत की चीनी मिल की पेराई क्षमता में दोगुना की बढ़ोतरी होने से आसपास के जिलों के हजारों किसानों को लाभ पहुंचेगा। पिछली विपक्षी सरकारों ने एक ओर जहां किसानों के हितों पर कुठाराघात करने का कार्य किया था वहीं प्रदेश की संवेदनशील भाजपा सरकार लगातार इन अन्नदाताओं के हितों की रक्षा करने का संकल्प लेकर काम कर रही है।

Comments (0)

छोटे कारोबारियों को प्राथमिकता के साथ मिले कर्ज

Posted on 14 December 2017 by admin

केंद्र की मंशा कमजोर तबके के लोगों का विकास कर उन्हें मुख्य धारा के साथ जोड़ना है। लखनऊ में सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योगों के मंत्रालय की ओर से आयोजित राष्ट्रीय अनुसूचित जाति – अनुसूचित जनजाति हब के राज्य सम्मेलन में लघु और मध्यम उद्योगों के मंत्री सत्यदेव पचौरी ने कहा कि केंद्र सरकार सबका साथ सबका विकास मूल मंत्र को लेकर कार्य कर रही है। img-20171214-wa0049
उन्होने कहा कि जबतक देश की 21 फीसद आबादी रोजगार से वंचित रहेगी विकास की हर परिकल्पना अधूरी मानी जाएगी। उन्होने कहा कि केंद्र सरकार सार्वजनिक उद्यमों की कुल खरीद में कम से कम 4 फीसद अनुसूचित जाति/जनजाति के उद्यमियों से करती है।
श्री पचौरी ने कहा कि प्रधानमंत्री की प्राथमिकता कार्य है। बैंकों में सुधार की आवश्यकता पर बल देते हुए श्री पचौरी ने कहा कि छोटे कारोबारियों को भी प्राथमिकता के साथ कर्ज मिलना चाहिए। उन्होने कहा कि छोटे उद्योगों में रोजगार की अपार संभावनाएं निहित होती हैं। img-20171214-wa0051
प्रदेश के न्याय मंत्री बृजेश पाठक ने कहा कि प्रदेश सरकार छोटे और मझोले उद्यमियों को हर संभव मदद देने के लिए वचनबद्ध है। इससे पहले अतिथियों का स्वागत करते हुए एनएसआईसी के निदेशक (वित्त) एके मित्तल ने कहा कि इस सम्मेलन का उद्देश्य अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के उद्यमियों को प्रोत्साहित करना है।
इस एक दिवसीय सम्मेलन में बड़ी संख्या में दूर दराज से आए उद्यमियों ने हिस्सा लिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रेरणा से स्थापित राष्ट्रीय अनुसूचित जाति/जनजाति हब के जरिये जहां एक ओर युवा उद्यमियों को सरकार की विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी जाती है वहीं उन्हें उचित मार्गदर्शन भी प्राप्त होता है।

Comments (0)

निधन पर गहरा शोक

Posted on 14 December 2017 by admin

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने जनपद महाराजगंज समाजवादी पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष श्री यमुना प्रसाद यादव के निधन पर गहरा शोक जताते हुए संतप्त परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त किया है।
65 वर्षीय श्री यमुना प्रसाद यादव ग्राम रम्भौली तहसील सदर जिला महाराजगंज के निवासी थे। उनका निधन आज लखनऊ में एक प्राईवेट अस्पताल में हुआ।

Comments (0)

समाजवादी सरकार की योजनाओं को बंद कर देने के खिलाफ आवाज उठाई

Posted on 14 December 2017 by admin

उत्तर प्रदेश विधानमण्डल के शीतकालीन सत्र के पहले दिन आज समाजवादी पार्टी के विधायकों ने विधान सभा और विधान परिषद में सŸाारूढ़ दल भाजपा की जनविरोधी नीतियों का विरोध किया। दोनों सदनों में समाजवादी विधायकों ने भाजपा सरकार पर विपक्ष को उत्पीड़ित करने, अपराध की घटनाओं में अंधाधुंध वृद्धि, कानून व्यवस्था की बदतर हालत, विद्युत दरों में भारी वृद्धि के साथ किसानों, नौजवानों और गरीबों के हित की समाजवादी सरकार की योजनाओं को बंद कर देने के खिलाफ आवाज उठाई। 14-12-a
समाजवादी पार्टी के विधायकों ने भाजपा सरकार पर सŸाा का दुरूपयोग करने, चिकित्सा व्यवस्था ध्वस्त करने, सड़कों को गड्ढा मुक्त करने के नाम पर घोटाला करने का भी आरोप लगाया। समाजवादी पार्टी ने भाजपा सरकार द्वारा प्रस्तावित यूपीकोका जैसे जनविरोधी कानून को विपक्षियों और जनता को प्रताड़ित करने वाला करार देते हुए उसे तत्काल वापस लिए जाने की मांग की।
1- उत्तर प्रदेश मेें भाजपा सरकार को बने 9 महीने हो चुके है। इस अवधि में जनहित में कोई नया काम नहीं हुआ है। समाजवादी सरकार के समय की कई जनोपयोगी योजनाएं बंद हो गई हैं। नोटबंदी, जीएसटी और मंहगाई से परेशान जनता बदहाल और परेशान है। प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति बदतर है। पूरी तरह से अराजकता व्याप्त है। कोई दिन ऐसा नही जाता है जबकि महिलाओं और बच्चियों तक से दुष्कर्म की घटनाएं नही होती हांे, लूटपाट, अपहरण, डकैती और हत्या की वारदातों में बढ़़ोत्तरी है। व्यापारियों के साथ लूट और हत्या की कई घटनाआंे का खुलासा भी नही हो पाया है।
2- भाजपा सरकार से कानून व्यवस्था तो सुधर नही रही उससे अपराधियों के हौसले इतने बढ़ गए हैं कि वह पुलिस पर भी हमलावर होने में नही हिचकते हैं। पुलिस का इकबाल गिरता जा रहा है। भाजपा नेता, मंत्री, विधायक और सांसद सत्ता मद में प्रशासनिक मामलों में हस्तक्षेप के साथ अधिकारियों को प्रताड़ित करने का काम धड़ल्ले से कर रहे हैं। समाजवादी सरकार ने यूपी 100 डायल व्यवस्था लागू की जिससे अपराध नियंत्रण होता। 1090 वूमेन पावर सेवा मेें महिलाओं के साथ छेड़छाड़ की घटनाएं रूक रही थी। भाजपा सरकार ने इन व्यवस्थाओं को बर्बाद कर दिया।
3- भाजपा सरकार ने सŸाा का दुरूपयोग करते हुए प्रशासनतंत्र को पंगु बना दिया है। निर्वाचित ब्लाक प्रमुखों एवं जिला पंचायत अध्यक्षों को हटाने के लिए पुलिस बल का खुला दुरूपयोग किया गया। निकाय चुनावों में भी प्रशासनिक मशीनरी का पक्षपात दिखाई दिया।
4- भाजपा सरकार के दबाव में प्रशासन विरोधीपक्ष के कार्यकर्Ÿााओं, नेताओं का उत्पीड़न करने में लगा है। ऐसे में यूपीकोका जैसा जनविरोधी कानून लाया जा रहा है ताकि विपक्षियों और जनता को प्रताड़ित किया जा सके।
5- प्रदेश में विद्युत की व्यवस्था चरमरा गई है। समाजवादी सरकार के समय की व्यवस्थाओं को ध्वस्त किया जा रहा है। किसानों को विद्युत आपूर्ति बाधित है। अब यह सरकार ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली की दरें 67 से 150 फीसदी बढ़ाकर किसानों को तबाह कर रही हैं।
6- भाजपा सरकार में किसान सबसे ज्यादा प्रताड़ित हैं। उन्हें खाद, बीज, कीटनाशक, समय से नहीं मिल रहे हैं। मंहगाई ने उनकी कमर तोड़ दी है। धान की खरीद लक्ष्य से कोसों दूर है। गन्ना किसानों का भुगतान अभी तक नहीं हुआ है। नहरों की सिंचाई बंद है। स्वास्थ्य सेवाओं का हाल खराब है। चिकित्सा व्यवस्था ध्वस्त है। मरीजों के लिए अस्पतालों में दवाओं का अभाव है। प्राईवेट क्लीनिक मनमानी पर उतारू है। एम्बूलेंस सेवा 102, 108 ठप्प है। कैंसर अस्पताल भी ठीक से काम नहीं कर रहा है।
7- लोक निर्माण विभाग का हाल तो और भी खराब है। स्वीकृत सड़कों की धनराशि लेकर कार्य अधूरे छोड़ दिए गए हैं। सड़के गड्ढा मुक्त करने का प्रचार जोरशोर से हुआ पर इसमें घोटाला हो गया है। समाजवादी सरकार के विकासोन्मुख निर्माण कार्य रोक दिए गए हैं।
8- ग्रामीण विकास की सभी योजनाएं बंद हैं। गरीबों के आवास के नाम पर पैसों का बंदर-बांट होने लगा है। गांव और किसान की घोर उपेक्षा की जा रही है। भाजपा सरकार ने गांव, गरीब, किसान, नौजवान और अल्पसंख्यकों, महिलाओं के हितों की तमाम योजनाएं रोक दी हैं और भाजपा सरकार रागद्वेष की भावना से काम कर रही हैं।
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं समाजवादी पार्टी विधानमण्डल दल के नेता श्री अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी जनता के साथ किये जा रहे अन्याय को बर्दाश्त नहीं करेगी। भाजपा राज में जनता हर तरह से त्रस्त है। उसकी कहीं सुनवाई नहीं हो रही है। सŸाा मद में भाजपा नेता लोकतांत्रिक मर्यादाओं का तिरस्कार कर रहे हैं। समाजवादी पार्टी सदन से लेकर सड़क तक भाजपा सरकार की मनमानी के विरूद्ध लोकतांत्रिक तरीके से संघर्ष करेगी।

Comments (0)

Advertise Here

Advertise Here

 

December 2017
M T W T F S S
« Nov    
 123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031
-->









 Type in