*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

मुख्यमंत्री ने अर्द्धकुम्भ-2019 की तैयारियों के लिए इलाहाबाद में 510 करोड़ रु0 की 34 परियोजनाओं का शिलान्यास किया

Posted on 07 September 2017 by admin

11,585 किसानों को मुख्यमंत्री द्वारा फसल ऋण मोचन प्रमाण पत्र वितरित

अर्द्धकुम्भ-2019 दिव्य, भव्य तथा यूनीक ईवेण्ट के रूप में आयोजित होगा

press-51प्रयागराज मेला प्राधिकरण का गठन किया जाएगा

2,500 करोड़ रु0 की लागत से ठोस एवं स्थायी कार्याें का निर्माण कराया जाएगा

32 करोड़ रु0 से श्रृंगवेरपुर धाम का विकास होगा

सरकार किसानों और देश की खुशहाली के संकल्प के साथ काम कर रही है

राज्य सरकार किसानों के हित के संरक्षण के लिए कृतसंकल्प है: मुख्यमंत्री

चन्द्रशेखर आज़ाद पार्क तथा भारद्वाज पार्क में प्रवेश होगा निःशुल्क

मुख्यमंत्री का जनपद इलाहाबाद भ्रमण

press-42उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज जनपद इलाहाबाद के परेड ग्राउण्ड में आयोजित एक कार्यक्रम में अर्द्धकुम्भ-2019 की तैयारियों के लिए 510 करोड़ रुपए की 34 परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इस अवसर पर उन्होंने राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी उत्तर प्रदेश फसल ऋण मोचन योजना के तहत जनपद के 11,585 लाभार्थी किसानों को प्रमाण-पत्र भी वितरित किए। इस योजना के तहत प्रथम चरण में कुल 13,156 किसानों को योजना से लाभान्वित कराते हुए प्रमाण-पत्र वितरित किया जाना है। जनपद में फसल ऋण मोचन योजना के तहत कुल 80,591 किसानों को लाभान्वित कराया जाएगा, जिसके क्रम में आज मुख्यमंत्री जी ने चयनित किसानों को प्रमाण-पत्र वितरित किए। press-61
उपस्थित जन-समुदाय को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री जी ने कहा कि वर्ष 2019 में आयोजित होने वाला अर्द्धकुम्भ ऐतिहासिक एवं यूनीक ईवेण्ट के रूप में आयोजित किया जाएगा। यह आयोजन पूरी दुनिया के लिए आकर्षण का केन्द्र होगा। अर्द्धकुम्भ-2019 को दिव्य एवं भव्यरूप से आयोजित किए जाने के लिए ही अभी से तैयारियां प्रारम्भ कर दी गयी हैं। मेले को सुव्यवस्थित एवं सुन्दर ढंग से आयोजित करने के लिए प्रयागराज मेला प्राधिकरण का गठन किया जाएगा। जिसके द्वारा मेले केेेे आयोजन हेतु ठोस एवं स्थायी कार्यांे को कराया जाएगा। उन्हांेेने कहा कि श्रृद्धालुओं की सुविधा के लिए विशेष कार्य कराए जाएंगे। मेले का आयोजन इस तरह से होगा कि यह पूरी दुनिया के लिए आकर्षण का केन्द्र होगा।
योगी जी ने कहा कि इलाहाबाद में ढाई हजार करोड़ रुपए (2500 करोड़ रुपये) की लागत से ठोस एवं स्थायी कार्य कराए जाएंगे। यह सभी कार्य अर्द्धकुम्भ-2019 को मद्देनज़र रखते हुए कराए जाएंगे। इलाहाबाद को लखनऊ तथा अन्य शहरों से वायुमार्ग से जोड़ा जाएगा और यह कार्य प्रत्येक दशा में अर्द्धकुम्भ मेले के आयोजन के पहले ही पूर्ण करा लिया जाएगा।press-31
मुख्यमंत्री जी ने अपने सम्बोधन में यह भी कहा कि प्रयागराज तीर्थ स्थल के साथ ही साथ श्रृंगवेरपुर ऐतिहासिक स्थल का भी विकास किया जाएगा। श्रृंगवेरपुर धाम के लिए 32 करोड़ रुपए स्वीकृत किया गया है, जिसका उपयोग करते हुए धाम को आधुनिक पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा। इससे समतामूलक समाज का संदेश जन-जन तक पहंुुचेगा।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि चन्द्रशेखर आज़ाद पार्क तथा भारद्वाज पार्क में प्रवेश के लिए जनता को पैसा नहीं देना पड़ेगा। उन्हांेने कहा कि पार्क के रख-रखाव एवं सौन्दर्यीकरण का खर्च राज्य सरकार वहन करेगी। आयोजित होने वाले अर्द्धकुम्भ मेले की भव्यता एवं दिव्यता तथा उसकी ऐतिहासिकता के प्रति लोगों में जागरूकता पैदा करने के उद्देश्य से उन्होंने कहा कि आज से इलाहाबाद सहित उत्तर प्रदेश में कोई भी कार्य शुरू होगा, तो उसमें अर्द्धकुम्भ मेले का ‘लोगो’ अवश्य अंकित रहेगा।
अपने सम्बोधन में मुख्यमंत्री जी ने कहा कि केन्द्र एवं राज्य सरकार वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुना करने के लिए कृतसंकल्पित हंै। इसके लिए हम सभी लोगों को मिलकर प्रयास करने की जरूरत है। सरकार किसानों की खुशहाली, देश की खुशहाली के सिद्धान्त का अनुसरण करते हुए किसानों के हित के संरक्षण एवं उनके सर्वतोमुखी विकास के लिए संकल्पबद्ध है। इसी क्रम में फसल ऋण मोचन योजना के तहत किसानों का ऋण माफ करके राज्य सरकार उनकी उन्नति के लिए प्रयासरत है। 01-6
योगी जी ने कहा कि किसान प्राकृतिक आपदा से त्रस्त हो जाते हंैं, जिनकी सहायता करके उनको अवसाद से बाहर निकालने का कार्य सरकार द्वारा किया जा रहा है। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में पीड़ितों के लिए प्रत्येक प्रकार की सहायता राज्य सरकार द्वारा उपलब्ध करायी जा रही है। किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए सरकार द्वारा रिकाॅर्ड रूप से गेहंू का क्रय किया गया तथा सरकार द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य के हिसाब से किसानों के खाते में सीधे पैसे को अन्तरित किया गया। सरकार द्वारा धान क्रय के न्यूनतम समर्थन मूल्य के अलावा प्रति कुन्तल 15 रुपए अतिरिक्त रूप से दिए जाने की व्यवस्था की गयी है।
इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि प्रधानमंत्री जी का संकल्प है कि वर्ष 2022 तक किसानों की आय को दोगुना किया जाएगा। सरकार द्वारा किसानों की कर्जमाफी का निर्णय अभूतपूर्व है, अभी उनके लिए बहुत कुछ किया जाना बाकी है। वर्ष 2018 के माघ मेले को ट्रायल के रूप में आयोजित किया जाएगा, ताकि वर्ष 2019 में आयोजित होने वाला अर्द्धकुम्भ ऐतिहासिक रूप से जाना जाए। श्रृंगवेरपुर धाम को विकसित किया जाएगा।
श्री मौर्य ने कहा कि मुख्यमंत्री जी एक-एक पल जनता की खुशहाली लाने में व्यतीत करते हैं। हम सबको भी उनका अनुसरण करते हुए जनता की समस्याओं के निस्तारण एवं उनके कल्याण हेतु कार्य कर प्रदेश को विकास के सर्वोच्च शिखर पर पहुंचाने हेतु अथक परिश्रम करने का संकल्प लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचारियों, भू-माफियाओं के विरुद्ध सरकार द्वारा कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जा रही है।
इस अवसर पर नगर विकास मंत्री श्री सुरेश खन्ना, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री श्री सिद्धार्थनाथ सिंह, पर्यटन मंत्री श्रीमती रीता बहुगुणा जोशी, कृषि मंत्री श्री सूर्य प्रताप शाही, स्टाम्प एव पंजीयन मंत्री श्री नन्द गोपाल ‘नन्दी’ ने अपने-अपने विभाग से सम्बन्धित एवं संचालित योजनाओं तथा अर्द्धकुम्भ मेले एवं किसान ऋण माफी योजना के बारे में विस्तार से जानकारी दी।
कार्यक्रम का प्रारम्भ मुख्यमंत्री जी द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। इस अवसर पर उपस्थित जन प्रतिनिधियों एवं जनता का स्वागत करते हुए मण्डलायुक्त डाॅ0 आशीष कुमार गोयल ने कहा कि इलाहाबाद में चार रेलवे उपरिगामी सेतुओं का निर्माण केवल एक वर्ष में कर लिए जाने का संकल्प मुख्यमंत्री जी के आशीर्वचन से सम्पन्न हुआ है। आजादी के बाद जितने फ्लाईओवर इलाहाबाद में अब-तक बने हैं, उससे अधिक फ्लाईओवर केवल एक वर्ष में बनने जा रहे हैं।
इस अवसर पर जनप्रतिनिधिगण, वरिष्ठ अधिकारी अधिकारीगणों के अलावा कृषकगण एवं जन समुदाय उपस्थित रहे।

Leave a Reply

You must be logged in to post a comment.

Advertise Here

Advertise Here

 

November 2017
M T W T F S S
« Oct    
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930  
-->









 Type in