*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Categorized | Latest news, लखनऊ.

मुख्यमंत्री ने स्वतंत्रता दिवस पर विधान भवन के मुख्य द्वार पर ध्वजारोहण किया

Posted on 15 August 2017 by admin

press-41

मुख्यमंत्री ने आजादी की लड़ाई व देश की रक्षा के लिए शहीद
सभी ज्ञात-अज्ञात देशभक्तों एवं सेनानियों को श्रद्धा सुमन अर्पित किए

वर्ष 2017 से 2022 तक ‘संकल्प से सिद्धि’ तक अभियान चलाया जाएगा

उ0प्र0 श्रेष्ठ और स्वच्छ प्रदेश बनने के साथ ही,
गरीबी, भ्रष्टाचार, आतंकवाद, सम्प्रदायवाद तथा जातिवाद से मुक्त होगा

प्रदेश सरकार कानून का राज स्थापित कर प्रत्येक
नागरिक को सुरक्षा की गारन्टी देने का प्रयास कर रही है: मुख्यमंत्री

वर्तमान सरकार ने वी0आई0पी0 संस्कृति को समाप्त
कर प्रदेश के सभी क्षेत्रों में विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित की है

सरकार प्राथमिक, माध्यमिक एवं उच्च शिक्षा
में बड़े पैमाने पर सुधार के लिए काम कर रही है

ग्रेजुएशन स्तर तक की सभी बालिकाओं को निःशुल्क शिक्षा दिलाने
के लिए ‘अहिल्याबाई निःशुल्क शिक्षा योजना’ संचालित करने का निर्णय

सरकार के प्रयासों से प्रदेश में चतुर्दिक परिवर्तन का माहौल बनेगा

कोई घटना/दुर्घटना देश एवं समाज के लिए सबक हो सकती है,
लेकिन ऐसी दुर्घटनाओं/घटनाओं की पुनरावृत्ति दृढ़ता के साथ रोकी जानी चाहिए

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज 71वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर यहां विधान भवन के मुख्य द्वार पर ध्वजारोहण करने के बाद उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि कोई घटना/दुर्घटना देश एवं समाज के लिए सबक हो सकती है, लेकिन ऐसी दुर्घटनाओं/घटनाओं की पुनरावृत्ति दृढ़ता के साथ रोकी जानी चाहिए। यह देश अनेकों बार संकटों से घिरा, लेकिन देशवासियों की प्रतिबद्धता से पुनः जीवन्त होकर आगे बढ़ा। उन्होंने सन् 1857 के प्रथम स्वतंत्रता आन्दोलन का उल्लेख करते हुए कहा कि इस पहले संयुक्त प्रयास से यह साबित हुआ कि एक प्रतिबद्ध समाज ब्रिटिश साम्राज्य जैसे सशक्त दुश्मन को भी नतमस्तक कर सकता है। उन्होंने कहा कि जीवन हताशा या निराशा का नहीं, बल्कि जीवन्तता का नाम है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा नये भारत के निर्माण के लिए दिए गए सूत्र में विकास के नित नए आयाम जुड़ रहे हैं। जिसके फलस्वरूप भारत दुनिया की सबसे बड़ी उभरती हुई अर्थव्यवस्था के रूप में आगे बढ़ रहा है। प्रधानमंत्री जी ने 09 अगस्त, 2017 को एक महत्वपूर्ण संकल्प लिया है। इसके तहत वर्ष 2017 से वर्ष 2022 तक ‘संकल्प से सिद्धि’ तक अभियान चलाया जाएगा। प्रधानमंत्री जी की मंशा के अनुरूप वर्तमान प्रदेश सरकार ने भी जनता के सहयोग से वर्ष 2022 तक एक नए प्रदेश के निर्माण का गम्भीरता से प्रयास करने का संकल्प लिया है।press-17
उत्तर प्रदेश भी नए भारत की तरह श्रेष्ठ और स्वच्छ प्रदेश बनने के साथ ही गरीबी, भ्रष्टाचार, आतंकवाद, सम्प्रदायवाद तथा जातिवाद से मुक्त होगा। उन्होंने जनता का आह्वान किया कि नए भारत व उत्तर प्रदेश के निर्माण के संकल्प की सिद्धि के लिए मन, वचन और कर्म से जुट जाएं, क्योंकि देश की प्रगति का रास्ता उत्तर प्रदेश से होकर जाएगा। वर्तमान राज्य सरकार ने प्रदेश में परिवर्तन, विकास और गरीबों के सशक्तिकरण के लिए एक नए युग की शुरुआत कर दी है। उन्होंने बल देकर कहा कि भ्रष्टाचार के विरुद्ध जीरो टाॅलरेंस की नीति अपनायी जाएगी।
योगी जी ने कहा कि अपनी जड़ों से कटने वाला देश एवं समाज त्रिशंकु की तरह लटक जाता है। ऐसा समाज संसार में सम्मान पाने का हकदार नहीं होता। इसीलिए वर्तमान राज्य सरकार प्रदेश को अपनी वर्तमान जड़ों से जोड़ने का काम कर रही है। इस सरकार ने प्रदेश के धार्मिक स्थलों व आस्था केन्द्रों के विकास का कार्य आरम्भ किया है। अयोध्या में रामलीला मंचन की पुनः शुरुआत के अलावा मथुरा में कृष्ण संग्रहालय की स्थापना का भी फैसला लिया है। अयोध्या में रामायण सर्किट, वाराणसी के सारनाथ सहित कुशीनगर, कपिलवस्तु व श्रावस्ती में बौद्ध सर्किट एवं मथुरा में कृष्ण सर्किट के तहत विकास कार्य करने की व्यवस्था की गई है। सभी बड़े धर्मिक स्थलों को चार लेन की सड़कों से जोड़ने के साथ-साथ नैमिषारण्य, विन्ध्याचल एवं ऐसे सभी पवित्र स्थलों के विकास का संकल्प लिया गया है, जो देश एवं जनता की आस्था के केन्द्र हैं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि स्वतंत्रता के 70 वर्ष बीत जाने के बाद भी प्रदेश की 22 करोड़ जनता को बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध नहीं हो पायी हैं। वर्तमान राज्य सरकार ने पूरी प्रतिबद्धता एवं तन्मयता से प्रदेश के असहाय एवं गरीब लोगों तथा नौजवानों के कल्याण के लिए काम शुरू कर दिया है, जिससे गांव, गरीब एवं किसान व महिलाओं की आर्थिक स्थिति में सुधार हो, उन्हें अच्छी बुनियादी सुविधाएं एवं सेवाएं मिल सकें। आर्थिक कठिनाइयों के बावजूद राज्य सरकार ने लघु एवं सीमान्त किसानों के 31 मार्च, 2016 तक के 01 लाख रुपए तक के फसली ऋण को माफ करने का ऐतिहासिक फैसला लिया।
इस निर्णय के फलस्वरूप प्रदेश सरकार पर 36 हजार करोड़ रुपए का व्यय भार आया, जिसे सरकार ने वित्तीय अनुशासन कायम रखते हुए बिना कोई अतिरिक्त कर लगाए, अनावश्यक खर्चों की कटौती कर पूरा करने का संकल्प लिया। राज्य सरकार के इस निर्णय का लाभ प्रदेश के 86 लाख से अधिक लघु एवं सीमान्त किसानों को प्राप्त होगा। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि इस फैसले से किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा और उनका जीवन स्तर ऊपर उठ सकेगा। इसी प्रकार किसानों को उनकी उपज का लाभकारी मूल्य दिलाने के लिए सीधे किसानों से करीब 37 लाख मीट्रिक टन गेहूं खरीदा गया।
योगी जी ने कहा कि प्रदेश सरकार कानून का राज स्थापित कर प्रत्येक नागरिक को सुरक्षा की गारन्टी देने का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि अपराधमुक्त, भयमुक्त और अन्यायमुक्त वातावरण सृजित किए बिना प्रदेश का चतुर्दिक विकास सम्भव नहीं है। इसीलिए हमने कानून-व्यवस्था पर जीरो टाॅलरेन्स की नीति अपनाते हुए सबसे पहले अपराधियों के बढ़े हौसले पर लगाम लगाने का काम किया है। कानून-व्यवस्था के मामले में प्रदेश सरकार की सोच स्पष्ट है कि दोषियों को छोड़ा नहीं जाएगा। यह सरकार महिलाओं की सुरक्षा एवं सम्मान के लिए पूरी तरह सजग है। वर्तमान राज्य सरकार पुलिसिंग को नई दिशा देते हुए प्रदेश में अमन-चैन कायम करने के लिए काम कर रही है। विगत चार माह में प्रदेश की एस0टी0एफ0, ए0टी0एस0 एवं अन्य पुलिस के जवानों ने कई सफलताएं अर्जित की हैं। अच्छा कार्य करने वाले पुलिस कार्मिकों के प्रोत्साहन के लिए उनकी पुरस्कार राशि को दोगुना करने, आउट आॅफ टर्न प्रमोशन का कार्य किया जाएगा।
उत्तर प्रदेश को सर्वाधिक युवा आबादी का प्रदेश बताते हुए मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कतिपय कारणों से इसका लाभ अभी तक प्रदेश को नहीं मिल पा रहा है। लेकिन वर्तमान राज्य सरकार, एक सुविचारित औद्योगिक निवेश एवं रोजगार प्रोत्साहन नीति लागू कर इस दिशा में गम्भीरता से काम कर रही है। उन्होंने कहा कि विगत 20 वर्षों से उनके द्वारा अनुभव किया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश और विशेष रूप से पूर्वी उत्तर प्रदेश में बड़ी संख्या में नौनिहाल, वेक्टर जनित रोगों का शिकार हो रहे हैं। इस समस्या के निदान के लिए केन्द्र सरकार द्वारा संचालित स्वच्छ भारत मिशन को पूरी प्रतिबद्धता के साथ अपनाना होगा। स्वच्छता के महत्व को स्वीकार करते हुए प्रदेश सरकार स्वच्छता मिशन को सर्वोच्च प्राथमिकता दे रही है। इसके तहत पर्याप्त धनराशि की व्यवस्था की गई है। लेकिन इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए सभी की सहभागिता आवश्यक है। तभी उत्तर प्रदेश को स्वस्थ एवं मजबूत राज्य बनाया जा सकता है।
योगी जी ने कहा कि कृषि, उद्योग सहित गुणवत्तापरक जीवन-यापन के लिए ऊर्जा की उपलब्धता अत्यन्त जरूरी है। वर्तमान राज्य सरकार ने इस दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए वी0आई0पी0 संस्कृति को समाप्त कर प्रदेश के सभी क्षेत्रों में पर्याप्त विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित की है। जनपद मुख्यालयों को 24 घण्टे, तहसील मुख्यालयों को 20 घण्टे तथा ग्रामीण क्षेत्रोें में 18 घण्टे विद्युत आपूर्ति की जा रही है। बाबा साहब डाॅ0 भीमराव अम्बेडकर के जन्म दिवस के अवसर पर राज्य सरकार ने केन्द्र सरकार के साथ 24ग7 पावर फाॅर आॅल से सम्बन्धित सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किया है, जिससे सभी को चैबीसों घण्टे बिजली मिल सके। राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के बी0पी0एल0 परिवारों को मुफ्त बिजली कनेक्शन देने के साथ ही, पं0 दीन दयाल ग्राम ज्योति योजना के अन्तर्गत 18 हजार मजरों में विद्युतीकरण का कार्य पूरा कराया गया। करीब 07 लाख परिवारों को बिजली कनेक्शन दिए गए।
मुख्यमंत्री जी ने शिक्षा को समाज की उन्नति एवं खुशहाली का आधार बताते हुए कहा कि राज्य सरकार प्राथमिक, माध्यमिक एवं उच्च शिक्षा में बड़े पैमाने पर सुधार के लिए काम कर रही है। जिससे प्रदेश के छात्र-छात्राओं को अखिल भारतीय परीक्षाओं में नुकसान न उठाना पड़े एवं प्राथमिक स्कूलों में पढ़ने वाले किसान, मजदूर, अल्पसंख्यक व गरीब के बच्चे हीन भावना के शिकार न हों। राज्य सरकार ने बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित विद्यालयों के छात्र-छात्राओं को निःशुल्क सुविधाएं उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है। इसके अन्तर्गत लगभग 01 करोड़ 92 लाख छात्र-छात्राओं को निःशुल्क यूनीफाॅर्म, पाठ्य पुस्तकें, बैग, एक जोड़ी जूता, दो जोड़ी मोजा आदि की व्यवस्था की जा रही है।
राज्य सरकार बालिका शिक्षा को प्रोत्साहित करने के लिए कृतसंकल्पित है। इसीलिए सरकार ने ग्रेजुएशन स्तर तक की सभी बालिकाओं को निःशुल्क शिक्षा दिलाने के लिए ‘अहिल्याबाई निःशुल्क शिक्षा योजना’ संचालित करने का निर्णय लिया है। इसके अलावा विद्यालयों में छात्र-शिक्षक अनुपात सुधारने के साथ-साथ कई अन्य निर्णय भी लिए गए हैं।
योगी जी ने कहा कि प्रदेश सरकार जन कल्याणकारी योजनाओं के साथ-साथ राज्य में अवस्थापना सुविधाओं का ऐसा ढांचा तैयार करने का प्रयास कर रही है, जिससे उत्तर प्रदेश को विकसित राज्यों की श्रेणी में लाया जा सके। प्रदेश के पूर्वांचल एवं बुन्देलखण्ड क्षेत्र को जोड़ने के लिए एक्सप्रेस-वे परियोजनाओं को संचालित किया जाएगा। मुख्यमंत्री जी ने भरोसा जताया कि सरकार के इन प्रयासों से प्रदेश में चतुर्दिक परिवर्तन का माहौल बनेगा। यहां की जनता रचनात्मक कार्यों में लगकर प्रदेश को विकास के रास्ते पर आगे ले जाने में सहयोगी बनेगी।
योगी जी ने 71वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर सभी प्रदेशवासियों को बधाई देते हुए कहा कि इस मौके पर वर्ष 2022 तक विकसित देश एवं प्रदेश बनाने का संकल्प लेना होगा। उन्होंने कहा कि सन् 1857 में स्वतंत्रता आन्दोलन की शुरुआत उत्तर प्रदेश की धरती से ही हुई थी। आजादी की लड़ाई और देश की सीमाओं की रक्षा के लिए शहीद हुए सभी ज्ञात-अज्ञात देशभक्तों एवं सेनानियों को श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए उन्होंने कहा कि जिन्होंने देश को गुलामी की बेड़ियों से मुक्त कराकर देश को आजादी दिलाने में अग्रणी भूमिका निभाई उनके सपनों का देश एवं प्रदेश बनाने के लिए सभी को संकल्पबद्ध होना होगा।
इस अवसर पर राज्य सरकार के अनेक मंत्रिगण, जनप्रतिनिधिगण, वरिष्ठ अधिकारी, मीडिया प्रतिनिधि सहित अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।

Leave a Reply

You must be logged in to post a comment.

Advertise Here

Advertise Here

 

November 2017
M T W T F S S
« Oct    
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930  
-->









 Type in