*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

Categorized | आजमगढ़

मुख्य सचिव का आजमगढ़ मण्डल के विकास कार्यों का औचक निरीक्षण एवं समीक्षा

Posted on 28 April 2015 by admin

उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव श्री आलोक रंजन ने अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि आम नागरिकों की समस्याओं का समाधान प्राथमिकता से सुनिश्चित कराया जाये। उन्होंने कहा कि शासन द्वारा संचालित योजनाओं एवं कार्यक्रमों के क्रियान्वयन में उदासीनता बरतने वाले, भ्रष्टाचार में लिप्त एवं जनहित के विपरीत कार्य करने वाले अधिकारियों/कर्मचारियों को चिन्हित कर उन्हें दण्डित किया जाय। उन्होंने कहा कि योजनाओं के तहत लाभार्थियों का चयन पारदर्शिता के साथ कराया जाय। उन्होंने अपहरण, बलात्कार की घटनाओं पर प्रभावी अंकुश लगाने तथा विवेचना में तेजी लाने, गैंगेस्टर, गुण्डा एक्ट, संपत्तियों की कुर्की आदि पर सख्ती बरतने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि अवैध शराब बनाने वालों के विरुद्ध संयुक्त अभियान चलाने तथा विद्युत चोरी पर दर्ज एफ0आई0आर0 पर आवश्यक कार्यवाही सख्ती से सुनिश्चित करायी जाय। उन्होंने कहा कि वरिष्ठ पुलिस अधिकारी पुलिस स्टेशनों का नियमित निरीक्षण कर लम्बित विवेचनाओं का पारदर्शिता के साथ आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि प्रत्येक थाने में दो-दो सी0सी0टी0वी0 लगाये जाने के निर्देश दिये गये हैं और लगभग 1500 गाडि़यां पुलिस स्टेशनों को उपलब्ध कराने हेतु व्यवस्था सुनिश्चित करायी गयी है। उन्होंने कहा कि यह प्रत्येक दशा में सुनिश्चित कराना होगा कि अपराधी को किसी भी स्तर पर छोड़ा न जाय और उसके विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्यवाही नियमानुसार सुनिश्चित की जाय तथा गुण्डा नियंत्रण अधिनियम के प्रावधानों के अधीन भी कार्यवाही की जाय। उन्होंने कहा कि ग्राम स्तर पर लम्बित भूमि विवादों का निस्तारण सुनिश्चित कराने हेतु पुलिस एवं राजस्व विभाग के अधिकारी संयुक्त रूप से गांवों में जाकर ऐसे प्रकरणों का निस्तारण प्राथमिकता से सुनिश्चित करायें।
मुख्य सचिव आज आजमगढ़ में आजमगढ़ मण्डल के विकास कार्यों एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने समीक्षा करने के पूर्व विकास खण्ड अहिरौला के अन्तर्गत ग्राम समदी में लगभग 1110.09 लाख रुपये की लागत से निर्माणाधीन राजकीय महिला महाविद्यालय का औचक निरीक्षण करते हुये निर्देश दिये कि निर्माण कार्यों को गुणवत्तापूर्वक यथाशीघ्र पूर्ण कराया जाये, ताकि विद्यालय में आगामी सत्र 2016 से पठन-पाठन प्रारम्भ हो सके। उन्होंने निर्माणाधीन महाविद्यालय के निर्माण कार्यों की गुणवत्ता का तकनीकी परीक्षण करने हेतु शासन की तकनीकी समिति को भी निर्देश दिये। उन्होंने निर्माणाधीन आधुनिक दुग्ध प्लाण्ट लेदौरा तहसील बूढ़नपुर का औचक निरीक्षण करते हुये निर्देश दिये कि निर्माण कार्य यथाशीघ्र पूर्ण कराकर प्लाण्ट को प्रारम्भ कराया जाय। उन्होंने गेहूं क्रय केन्द्र बांसगांव, मंदुरी का औचक निरीक्षण करते हुये निर्देश दिये कि किसानों को अपना उत्पाद विक्रय करने में किसी प्रकार की असुविधा नहीं होनी चाहिये। उन्होंने कहा कि शासन द्वारा दिये गये निर्देशों के अनुपालन में किसानों से उतराई एवं छनाई का पैसा कतई नहीं लिया जायेगा। उन्होंने कहा कि जिसका व्यापक प्रचार-प्रसार सुनिश्चित कराने हेतु गेहूं क्रय केन्द्रों पर बड़े-बड़े अक्षरों पर पेण्ट कराकर किसानों की जानकारी हेतु लिखवा दिया जाये, ताकि किसानों का शोषण न हो सके। उन्होंने निर्माणाधीन भॅवरनाथ से तहबरपुर मार्ग का तथा निर्माणाधीन हरिऔध कला केन्द्र का भी निरीक्षण कर निर्माण कार्यों को निर्धारित मानक एवं गुणवत्ता के साथ कराये जाने के निर्देश दिये हैं।
श्री रंजन ने कहा कि मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा की गयी घोषणाओं का क्रियान्वयन प्राथमिकता से सुनिश्चित कराया जाय। उन्होंने कहा कि लगभग 70 करोड़ रुपये की लागत से आजमगढ़ में बनने वाली अपूर्ण 10 ऐसी बड़ी परियोजनाओं को पूर्ण कराकर आगामी जून माह में लोकार्पण कराने की व्यवस्था सुनिश्चित करायी जाय। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार अन्य परियोजनाओं को भी समयबद्ध निर्धारित अवधि में पूर्ण कराने हेतु माइलस्टोन के साथ कार्य गुणवत्ता के साथ कराने होंगे। उन्होंने कहा कि शासकीय धन का दुरुपयोग करने वाले किसी भी अधिकारी को बख्शा नहीं जायेगा। उन्होंने कहा कि यह भी सुनिश्चित करना होगा कि किसी भी स्तर पर यदि कहीं भी ग्रामवासियों को परेशान करने अथवा भ्रष्टाचार की शिकायतें प्राप्त होने पर सम्बन्धित जिलाधिकारियों द्वारा ऐसे कर्मियों के विरुद्ध अनुशासनिक कार्यवाही सुनिश्चित की जाय।
मुख्य सचिव ने बताया कि शासकीय कार्यों में लापरवाही बरतने पर 03 अधिकारियों को निलम्बित, 17 को प्रतिकूल प्रविष्टि, 08 को स्थानान्तरण तथा 05 के विरुद्ध विभागीय कार्यवाही करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने बताया कि धान क्रय में रुचि न लेने पर श्री धीरेन्द्र कुमार यादव जिला प्रबंधक पी0सी0एफ0 आजमगढ़ को प्रतिकूल प्रविष्टि, जनेश्वर मिश्र के कार्य तथा अन्य निर्माण कार्यों में शिथिलता बरतने तथा शासकीय कार्यों में अपेक्षित रुचि न लिये जाने पर उपनिदेशक मण्डी निर्माण श्री स्वामीनाथ को निलम्बित, हथकरघा विपणन केन्द्र मुबारकपुर के निर्माण कार्यों में शिथिलता बरतने पर श्री डी0एस0यादव परियोजना प्रबंधक, निर्माण एवं प्रकल्प शाखा जलनिगम को प्रतिकूल प्रविष्टि, स्वास्थ्य विभाग के निर्माण कार्यों में रुचि न लेने तथा लापरवाही व शिथिलता बरतने पर श्री संजय सिंह, तत्कालीन परियोजना प्रबंधक उ0प्र0 राजकीय निर्माण निगम वाराणसी इकाई को विशेष प्रतिकूल प्रविष्टि, ग्राम निधि धनराशि के उपयोग के पर्यवेक्षण में शिथिलता बरतने पर श्री आर0एन0 चैधरी तत्कालीन जिला पंचायतराज अधिकारी के विरुद्ध विभागीय कार्यवाही, योजनाओं के क्रियान्वयन एवं शासकीय कार्यों में रुचि न लेने पर श्री माधव चन्द्र भट्टाचार्या खण्ड विकास अधिकारी पवई एवं श्री विक्रमादित्य पाण्डेय खण्ड विकास अधिकारी मेंहनगर के विरुद्ध प्रतिकूल प्रविष्टि, सरकारी कार्यों एवं कब्रिस्तानों के चहारदिवारी के कार्यों में रुचि न लेने पर श्री लालमन जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी को प्रतिकूल प्रविष्टि, श्री रामसिंह जिला आबकारी अधिकारी को कार्यों में रुचि न लेने पर विशेष प्रतिकूल प्रविष्टि एवं चेतावनी, चकबंदी प्रक्रिया के कार्यों में अपेक्षित रुचि न लेने पर श्री श्रीनिवास चकबंदी अधिकारी के विरुद्ध विभागीय कार्यवाही तथा श्री आर0डी0सिंह अधिशासी अभियंता विद्युत को अपने दायित्वों के प्रति उदासीनता बरतने पर प्रतिकूल प्रविष्टि एवं स्थानान्तरण किये जाने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने बताया कि इसी प्रकार जनपद मऊ के श्री अवधेश सिंह सहायक विकास अधिकारी (पंचायत) रतनपुरा एवं श्री अशोक कुमार सहायक विकास अधिकारी (पंचायत) मुहम्मदाबाद को राज्य वित्त/13वें वित्त आयोग की धनराशि का दुरुपयोग करने के आरोप पर निलम्बन, लोहिया समग्र ग्रामों में असंतोषजनक प्रगति, पर्यवेक्षणीय शिथिलता बरतने पर अधिशासी अभियंता ग्रामीण अभियंत्रण सेवा श्री इकरामुल हक खान को चेतावनी, बुनकर क्रेडिट कार्ड की असंतोषजनक प्रगति पर श्री प्रदीप कुमार सहायक निदेशक हथकरघा तथा मिनी कामधेनु डेयरी योजना की असंतोषजनक प्रगति पर मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डाॅ0 यू0पी0सिंह, विद्यालयों की मान्यता में कथित अनियमितता बरतने पर जिला विद्यालय निरीक्षक श्री ब्रजेश कुमार, अवैध भवन निर्माण को बढ़ावा देने तथा धन वसूली, प्रवर्तन कार्य में लापरवाही बरतने पर अवर अभियंता विनियमित क्षेत्र मऊनाथ भंजन श्री बैद्यनाथ एवं श्री डी0 प्रसाद अवर अभियंता विनियमित क्षेत्र कोपागंज को, जनेश्वर मिश्र ग्रामों में घटिया निर्माण कराये जाने पर उपनिदेशक मण्डी (निर्माण), कार्यों में रुचि न लेने एवं शिथिल पर्यवेक्षण के लिए लोक निर्माण विभागीय के प्रान्तीय खण्ड के सहायक अभियंता श्री अंजनी मिश्रा एवं श्री ए0के0सिंह को भी प्रतिकूल प्रविष्टि तथा सफाई कर्मियों के कार्यों का शिथिल पर्यवेक्षण एवं अनियमित भुगतान में संलिप्तता बरतने पर श्री दिनेश कुमार जिला पंचायतराज अधिकारी मऊ को प्रतिकूल प्रविष्टि एवं स्थानान्तरण करने के निर्देश दिये गये हैं।
श्री रंजन ने बताया कि जनपद बलिया में तैनात खण्ड विकास अधिकारी सोहाॅव श्री रामजीत प्रसाद एवं अधिशासी अभियंता ग्रामीण अभियंत्रण विभाग बलिया  श्री परवेज को डाॅ0 राम मनोहर लोहिया समग्र ग्राम विकास योजना के अन्तर्गत चयनित समग्र ग्रामों में इन्दिरा आवास निर्माण में अपेक्षित ध्यान न देने के कारण इन्दिरा आवास अधूरे रह जाने के कारण प्रतिकूल प्रविष्टि देने के निर्देश दिये गये हैं। इसी प्रकार जनपद बलिया के महिला चिकित्सालय में 100 बेड के मेटर्निटी भवन निर्माण में रुचि न लेने आदि आरोपों पर परियोजना प्रबंधक राजकीय निर्माण निगम आजमगढ़ श्री एस0के0वर्मा तथा इन्दिरा आवासों के निर्माण में रुचि न लेने तथा अपने दायित्वों के प्रति उदासीनता बरतने पर डी0आर0डी0ए0 बलिया के परियोजना निदेशक श्री प्रमोद कुमार यादव को प्रतिकूल प्रविष्टि तथा बाहर क्षेत्र में घाघरा नदी से कटान को रोकने हेतु वनखण्डी आश्रम, डूडा विहरा के पिचिंग कार्य हेतु शासन द्वारा स्वीकृत धनराशि रूपये 150 लाख के सापेक्ष कार्य कराने के बजाय उच्चाधिकारियों के संज्ञान में लाये बिना रुपये 150 लाख शासन को समर्पित कर देने के कारण उनके विरुद्ध अनुशासनिक कार्यवाही किये जाने एवं स्थानान्तरित किये जाने का निर्देश दिया गया।
इसके अतिरिक्त श्री जटा शंकर राय पुलिस उपाधीक्षक बाँसडीह (बलिया), श्री बृजेन्द्र द्विवेदी पुलिस उपाधीक्षक सगड़ी (आजमगढ़), श्री डी0के0सिंह प्रभारी निरीक्षक थाना मधुवन जिला मऊ, श्री प्रदीप मिश्रा प्रभारी निरीक्षक थाना उभाँव जिला बलिया एवं श्री प्रभात यादव थानाध्यक्ष अहिरौला जिला आजमगढ़ को अपने कर्तव्यों एवं दायित्वों के प्रति उदासीनता तथा अनुशासनहीनता बरतने के कारण तत्काल अन्यत्र स्थानान्तरित करने के निर्देश दिये हैं।
श्री रंजन जनप्रतिनिधियों से भेंट कर विकास कार्यों का फीडबैक प्राप्त किया और आम नागरिकों से मिलकर उनकी समस्याओं के समाधान हेतु भी सम्बन्धित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये।
मुख्य सचिव के निर्देशों के अनुपालन में सचिव सिंचाई श्री धीरज साहू लोहिया ग्राम खैरा, आयुक्त ग्राम्य विकास श्री कामरान रिज़वी रसूलपुर, खाद्य आयुक्त श्री अजय चैहान ग्राम भूइधरपुर, सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अरविन्द नारायण मिश्र ग्राम मोहम्मदपुर, आयुक्त आजमगढ़ श्री अरविन्द सिंह ग्राम लुहसा, मुबारकपुर एवं पश्चिम पट्टी, अपर आयुक्त श्री पी0के0श्रीवास्तव जनपद मऊ के ग्राम नरौनी एवं मिर्जापुर, संयुक्त विकास आयुक्त श्री अनिल कुमार राय द्वारा जनपद बलिया के ग्राम पलियाखास तथा श्रीकान्तपुर लोहियाग्रामों के विकास कार्यों का स्थलीय निरीक्षण एवं सत्यापन किया गया।
मुख्य सचिव के साथ प्रमुख सचिव गृह श्री देवाशीष पाण्डा, अपर पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था श्री मुकुल गोयल, सचिव मुख्यमंत्री श्री शम्भू सिंह यादव, आयुक्त ग्राम्य विकास श्री कामरान रिज़वी, खाद्य आयुक्त श्री अजय चैहान  सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी औचक निरीक्षण एवं समीक्षा बैठक में उपस्थित थे।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Leave a Reply

You must be logged in to post a comment.

Advertise Here

Advertise Here

 

February 2018
M T W T F S S
« Jan    
 1234
567891011
12131415161718
19202122232425
262728  
-->









 Type in