*खाकी वर्दी वालो के कारनामे-जनता की जुवानी * सफेद कुर्ते वाले नेताओ के कारनामे-जनता की जुवानी "upnewslive.com" पर, आप के पास है कोई जानकारी तो आप भी बन सकते है सिटी रिपोर्टर हमें मेल करे info@upnewslive.com पर या 09415508695 फ़ोन करे , मीडिया ग्रुप पेश करते है <UPNEWS>मोबाईल sms न्यूज़ एलर्ट के लिए अगर आप भी कहते है अपने और प्रदेश की खबरे अपने मोबाईल पर तो अपना <नाम-, पता-, अपना जॉब,- शहर का नाम, - टाइप कर 09415508695 पर sms, प्रदेश का पहला हिन्दी न्यूज़ पोर्टल जिसमे अपने प्रदेश की खबरें सरकार की योजनाएँ,प्रगति,मंत्रियो के काम की प्रगति www.upnewslive.com पर

फिल्म ’’बात बन गई’’ की पहली झलक

Posted on 19 July 2013 by admin

edited-back-1जेपिको इन्फोटेंमेंट व ए एस आर मीडिया की फीचर फिल्म ’’बात बन गई’’ 30 अगस्त 2013 को प्रदर्शन के लिए तैयार है। इस फिल्म के प्रस्तुतकर्ता हैं विभु अग्रवाल तथा जेपिको इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, निर्माता सैय्यद आसिफ जाह और निर्देशक शुजा अली की यह फिल्म ’’बात बन गई’’ शेक्सपियर की थ्योरी की एक ही चेहरे के सात इंसान होते है, पर आधारित एक हास्य पारिवारिक फिल्म है।
फिल्म ’’बात बन गयी’’ हमशक्लों की कहानी है, जिनके बजह से कई तरह की ग़लतफहमी कहानी में पैदा होती है। इस फिल्म का नायक ’कबीर’ (अली फज़ल) एक लेखक हैं जो हसीन व जवान ’रचना’ (अनीसा) से दीवानावार मोहब्बत करता है, रचना के बडे भाई ’लक्ष्मी निवास’ (गुलशन ग्रोवर) और उनकी पत्नी ’सुलोचना’ (अमृता रायचंद) रचना के लिए एक पढे लिखे प्रोफेसर जैसे वर की तलाश में है। कबीर, लक्ष्मी निवास को अपने गुणों से प्रभावित करता है, पर कहानी में दिलचस्प मोड तब आता है जब कबीर का हमशक्ल रसिया बिहारी जो कि एक माफिया पाशा के लिए काम करता है, रचना के घर संयोग से आ जाता है, लोग उसे ही कबीर समझ बैठते हैं, वो भी रचना का दीवाना बन जाता है। दूसरी तरफ लक्ष्मी निवास का भी एक हमशक्ल आ धमकता है। इस फिल्म की भूमिकाओं को लेकर दोहरी भूमिका वाली फिल्म भी नहीं कही जा सकती, क्योंकि फिल्म का नायक भारत में है, उसी शक्ल का दूसरा इंसान बैंकाक में है। इसी तरह फिल्म के अन्य पात्रों की शक्ल वाले अन्य इंसान कहीं न कहीं मौजूद है जो भाग्यवश भारत के मुंबई जैसे शहर में आ जाते हैं और घटनायें, दुर्घटनायें होती हैं। सभी पात्र किसी न किसी रूप में पारिवारिक माहौल से जुडे हैं जो घटनाओं और व्यवहारों के कारण हास्य पैदा करते हैं।
फिल्म का नायक अली फजल एक उपन्यासकार है, उसी तरह का दूसरा इंसान रसिया बिहारी है, इसी तरह गुलशन ग्रोवर प्रोफेसर है, जबकि उसकी शक्लवाला दूसरा इंसान एक गे है, इन पात्रों को लेकर एक नई कहानी की कल्पना निर्माता सैय्यद आरिफ जाह की है। पटकथा संवाद शुजा अली और अक्षय सिंह की है, संगीत हरप्रीत सिंह की है तो गाने लिखे हैं ए एम तारिफ ने, छायाकार दीपक पाण्डे, नृत्य रेंजू वर्गिस, संपादन मदन सागर, कला महेश कुडालकर की है। edited-gulshan-grover-amrita-raichand
फिल्म ’बात बन गई’ के मुख्य कलाकार हैं अली फजल (फिल्म ’3 इडियट्स’ व ’फुकरे’ फेम), अनीसा, गुलशन ग्रोबर, अक्षय सिंह, अमृता रायचंद, रज्जाक खान। फिल्म में अनेक कलाकार होने पर भी हर पात्र पूरा मनोरंजन करने में सफल रहेगी। निर्माता सैय्यद आसिफ जाह पिछले कई सालों से फिल्म और पत्रकारिता क्षेत्र से जुडे हुए है। सुप्रसिद्ध निर्माता निर्देशक सुल्तान अहमद के सहायक रह चुके निर्माता आसिफ जाह लगभग एक हजार घंटों की अलग अलग धारावाहिकों का निर्माण, विज्ञापन, कार्पोरेट फिल्मों का निर्माण कर चुके हैं, कुछ समय तक पत्रकारिता से भी जुडे रहे हैं और जुडे हुए हैं।
निर्देशक शुजा अली लगभग बीस वर्षों से धारावाहिकों और आकाशवाणी के कार्यक्रमों से जुडे हुए है, लगभग अðारह राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय भाषओं में काम कर चुके वाले शुजा अली ने कई धारावाहिकों का निर्देशन किया है, इसके साथ ही वह अमरीकन टीवी और अफगान टीवी से भी जुडे रहे हैं।
उनकी फिल्म ’बात बन गई……।’ एक नई और अनोखी प्रस्तुति होगी जो नए कलाकारों के साथ भी दर्शकों का पूरा मनोरंजन करेगी…….।

edited-director-shuja-ali-with-lead-actress-anisa-along-with-gulshan-grover-amrita-raichand

edited-akshay-singh-ali-fazal

edited-actor-akshay-singh-and-ali-fazal-during-a-car-sequence

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com

Leave a Reply

You must be logged in to post a comment.

Advertise Here

Advertise Here

 

November 2017
M T W T F S S
« Oct    
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930  
-->









 Type in